GLIBS
झलियामारी के दंश को भूलकर आगे की सोचें : रमशीला 

रायपुर। झलियामारी के दंश को भूलकर अब आगे की सोचें। रविवार को ये बातें राज्य की महिला एवं बाल विकास मंत्री रमशीला साहू ने कही। वे राजधानी के पं. दीनदयाल उपाध्याय आॅडिटोरियम में मीडिया से मुखातिब थीं। उन्होंने आगे कहा कि प्रदेश में कुपोषण रोकने में हमने ऐतिहासिक सफलता पाई है। यहां वे एक कार्यशाला में हिस्सा लेने आई थीं। इसमें मध्य प्रदेश, केरल, महाराष्ट्र, कर्नाटक, आंध्र प्रदेश, हिमाचल प्रदेश सहित कई राज्यों के बाल संरक्षण आयोग के सदस्य और पदाधिकारी शामिल होने के लिए पहुंचे।

कब हुआ बाल संरक्षण आयोग का गठन:

छत्तीसगढ़ में बाल संरक्षण आयोग का गठन वर्ष 2010 में किया गया है। आयोग के गठन के बाद राज्य में बच्चों की हितों की रक्षा करने आयोग ने कई महत्वपूर्ण कदम उठाए हैं। आयोग के स्थापना दिवस के अवसर पर आयोग ने बच्चों की हितों की रक्षा के लिए बाल मितान एप लांच किया है। इस एप के माध्यम से बच्चों के साथ होने वाले किसी भी प्रकार की घटना की शिकायत की जा सकती है। इसके अलावा इस एप के माध्यम से बच्चों की हितों के संबंध में सुझाव भी दिए जा सकते हैं। कार्यशाला में राष्ट्रीय बाल नीति बनाए जाने की बात को लेकर चर्चा की गई। कार्यक्रम में  सांसद रमेश बैस, बाल संरक्षण आयोग के राष्ट्रीय सद्सय यशवंत जैन, बाल आयोग की अध्यक्ष प्रभा दुबे के अलावा कई महत्वपूर्ण नेता मौजूद थे।

प्रार्थना में बच्चों को बताएंगे गुड और बैड टच :

बाल आयोग की अध्यक्ष प्रभा दुबे ने बच्चों को यौन उत्पीड़न से बचाने स्कूलों में शिक्षकों के माध्यम से गुड और बैड टच के बारे में जानकारी देने की बात कही। इसके लिए  उन्होंने आदेश जारी कर स्कूलों में प्रार्थना के समय बच्चों को इस संबंध में जानकारी देने की बात कही।

साहू समाज के सामूहिक आदर्श विवाह के कार्यक्रम प्रेरणादायक : बृजमोहन

रायपुर। छत्तीसगढ़ हरदिहा साहू समाज द्वारा यहां महादेव घाट के निकट भव्य आदर्श सामूहिक विवाह समारोह का आयोजन किया गया। समारोह में 262 जोड़ों की शादी कराई गई। कृषि मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने नवविवाहित जोड़ों को शगुन भेंट कर उन्हें सफल दाम्पत्य जीवन के लिए शुभकामनाएं दी।

अग्रवाल ने इस अवसर पर कहा कि सेवाभावी साहू समाज ने रचनात्मक और समाज के कमजोर परिवारों के हित में काम करके अन्य समाजों के सामने आदर्श स्थापित किया है। आदर्श सामूहिक विवाह की अच्छी परंपरा भी साहू समाज ने शुरू की ,जिससे प्रेरणा लेकर विभिन्न समाजों ने इसे अपनाया है। उन्होंने कहा कि ऐसे भव्य आयोजनों में जिन युवाओं की शादी होती है, उनकी आस्था स्वाभाविक रूप से अपने समाज के प्रति ज्यादा बढ़ जाती है और वह भी समाज के लिए कुछ बेहतर करने प्रेरित होते हैं।

उन्होंने कहा कि बेटियों के हाथ पीले करना पुण्य का काम है। अग्रवाल ने हरदिहा साहू समाज रायपुर के अध्यक्ष नंदे साहू की सराहना करते हुए कहा कि एक साथ 262 जोड़ों का सामूहिक विवाह कराना बड़ी उपलब्धि है। इसके लिए नवदम्पतियों के परिवार के सदस्य भी बधाई के पात्र हैं, जिन्होंने अपनी संतानों का विवाह इस आयोजन में कराया है। ऐसे परिवार भी समाज के अन्य परिवारों के लिए आदर्श उदाहरण प्रस्तुत कर रहे हैं।

इस अवसर पर महिला बाल विकास मंत्री रमशीला साहू, अखिल भारतीय तैलीय साहू समाज के कार्यकारी अध्यक्ष मोतीलाल साहू, हरदिहा साहू समाज रायपुर के अध्यक्ष एवं पूर्व विधायक नंदे साहू, समाज के उपाध्यक्ष शत्रुघन साहू, सचिव किशन साहू, कोषाध्यक्ष भुवन लाल साहू,  महिला प्रकोष्ठ की अध्यक्ष मोनिका साहू, चिंताराम साहू , विनय साहू, जनक साहू, टीकम साहू, प्रमोद साहू, अशोक साहू,  पुष्पा साहू, तिलालराम साहू, अशोक पांडे सहित अन्य स्थानीय जनप्रतिनिधि और साहू समाज के सदस्य बड़ी संख्या में उपस्थित थे।

पत्थरगड़ी कानून : प्रदेश के नेताओं ने कहा- बैठक कर की जाएगी आन्दोलनकारियों से बात

रायपुर। सरकार से नाराज एक और वर्ग ने जशपुर जिले में अपनी नराजगी जाहिर करते हुए ऐलान कर दिया है कि अब आदिवासी गांवों में खुद का शासन और कानून चलाएंगी और पत्थरगड़ी तथा संविधान लिखाई के बाद अब न्याय के लिए आदिवासी ग्रामसभा कर समस्या का निवारण करेगी।

आपकों बता दें कि इस मामले में आन्दोलन से जुड़े लोगों का दावा था कि हर गली-मोहल्लों में जितने बोर्ड बने हैं। उतनी ही समितियां होंगी। इसके साथ ही आदिवासी भाषा में अध्यक्ष को पड़हा और सचिव को दीवान कहा जाएगा जो सभी टोलों व मोहल्लों में होंगे। इनका एक प्रमुख भी होगा। इनकी प्रकिया में अगर बैठक सभा करनी होगी तो सीटी या घंटी बजाकर सूचना दि जाएगी। जिससे ग्रामीण इकठ्ठा हो जाएंगें और किसी भी मामले का न्याय करेंगे।

इस पूरे मामले को लेकर विधानसभा अध्यक्ष गौरीशंकर अग्रवाल ने कहा कि जशपुर में जिस प्रकार इस गांवों में आन्दोलन शुरू हुआ है उनसे जल्द ही मिलकर उनकी समस्या को सुलझाया जाएगा। और एक भारत श्रेष्ठ भारत बनाने के तहत उनकी शिकायतों का भी निराकरण किया जाएगा।

समाज कल्याण मंत्री रमशीला साहू का कहना है कि नाराज गांववासियों को जल्द समझाने की कोशिश की जाएगी। सरकार में प्रति अविश्वास को जल्द खत्म किया जाएगा।

Video: संगठन ने जो जिम्मेदारी दी है उसे निभाऊंगी: सरोज पाण्डेय

रायपुर। बीजेपी राज्यसभा उम्मीदवार सरोज पांडेय ने आज नामांकन दाखिल किया। पांडेय सीढ़ियों से गिरकर घायल होने के बाद हाथ में प्लास्टर लगे होने के बावजूद नामांकन दाखिल करने पहुंची थीं। इस दौरान नामांकन दाखिल होने के बाद सरोज पांडेय ने कहा कि पार्टी का जो आदेश है मैं उसे निभा रही हूं, पार्टी का धन्यवाद जिन्होंने मुझे मौका दिया, जीत-हार की बात नहीं, यहां हर कोई संगठन को मजबूत करने के लिए काम करता है। वहीं मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा कि दिल्ली में अब हम और मजबूत हुए हैं। अब तक सरोज पांडेय राष्ट्रीय महासचिव की जिम्मेदारी संभाल रही थीं। अब राज्यसभा सांसद के रूप में सर्वोच्च सदन में छत्तीसगढ़ के मुद्दों को उठाएंगी। कांग्रेस के उम्मीदवार उतारे जाने पर डॉ. रमन सिंह ने कहा कि चुनाव जब होता है तो हर किसी को चुनाव लड़ने का शौक होता है। यह अच्छी बात है कि कांग्रेस ने उम्मीदवार उतारा है। क्रॉस वोटिंग के सवाल पर सीएम ने कहा कि 23 मार्च को चुनाव होगा तो तस्वीर सामने आ जाएगी। उन्होंने कहा कि मैं अभी से सरोज पाण्डेय को बधाई देता हूं। इस दौरान विधानसभा में मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के साथ ही मंत्री रामसेवक पैकरा, अजय चंद्राकर, बृजमोहन अग्रवा, अजय चंद्राकर , रमशीला साहू, राजेश मूणत सहित कई मंत्री व विधायक मौजूद थे। इस मौके पर भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष धरमलाल कौशिक ने कहा उन्होंने संगठन के मुखिया के नाते फार्म खरीदा था। उन्होंने भाजपा उम्मीदवार सरोज पांडे की जीत का दावा किया। वहीं राज्सयसभा उम्मीदवार सरोज पांडे ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह, मुख्यमंत्री डा.रमन सिंह और प्रदेश नेतृत्व के प्रति आभार जताया। 

GLIBS.in के सवाल पर रमशीला ने कहा धीरे-धीरे सब ठीक होगा

रायपुर। महिला बाल विकास मंत्री रमशीला साहू आज अपने विभाग की 14 वर्षों की उपलब्धियां गिनाने प्रेसवार्ता लेकर जानकारी दे रही थी। इसी वार्ता में मंत्री ने बताया कि प्रदेश में कुपोषण की दर कम हो गई है शिशु मृत्यु दर में कमी आ रही है । इसी मामले से जुड़ा एक सवाल जब glibs.in ने मंत्री से पूछा तो मंत्री ने जवाब में केवल ये कहा कि स्थिति धीरे-धीरे सुधरेगी। glibs.in ने ये सवाल पूछा कि बस्तर में बच्चों की मौत का सिलसिला जारी है हाल ही में एक बच्चे की मौत हुई जिसके शरीर में केवल 3 ग्राम खून था। ऐसे बच्चों की मौत लगातार हो रही है आप इसके लिए क्या कर रहे है। इस विषय पर मंत्री ने कहा कि धीरे- धीरे व्यवस्था में सुधार हो रहा है धीरे- धीरे सब ठीक होगा ।
 

भारतीय संस्कृति के अध्ययन में देव संस्कृति विवि का होगा महत्वपूर्ण योगदान: डॉ. रमन

रायपुर। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने आज दुर्ग जिले में कुम्हारी के पास सांकरा स्थित देव संस्कृति विश्वविद्यालय के विशाल भवन का लोकार्पण किया। इस विश्वविद्यालय की स्थापना अखिल विश्व गायत्री परिवार द्वारा की गई है। मुख्यमंत्री ने इसके लिए गायत्री परिवार के सभी सदस्यों और पदाधिकारियों को बधाई और शुभकामनाएं दी। उन्होंने कहा - छत्तीसगढ़ में भारतीय संस्कृति के अध्ययन में इस विश्वविद्यालय का महत्वपूर्ण योगदान होगा। डॉ. सिंह ने कहा - राज्य में आज से नये विश्वविद्यालय की स्थापना के साथ छत्तीसगढ़ की विकास यात्रा में एक महत्वपूर्ण अध्याय जुड़ गया है। डॉ. सिंह ने देश और समाज में भारतीय संस्कृति के अनुरूप वैचारिक क्रांति लाने और संस्कारवान पीढ़ियों के निर्माण की दिशा में गायत्री परिवार द्वारा लगातार किए जा रहे प्रयासों की तारीफ की। उन्होंने इस संगठन के संस्थापक आचार्य श्रीराम शर्मा को भी विशेष रूप से याद किया। डॉ. सिंह ने विश्वविद्यालय के संचालन में शासन-प्रशासन की ओर से हर संभव सहयोग का वायदा किया। इस मौके पर अखिल विश्व गायत्री परिवार के प्रमुख और देव संस्कृति विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ. प्रणव पण्डया ने मुख्यमंत्री को उनके 65वें जन्म की बधाई दी और तिलक लगाकर तथा मंत्रोच्चारण के साथ रक्षा सूत्र बांध कर उनके स्वस्थ, सुदीर्घ और उज्ज्वल भविष्य की कामना की। उन्होंने मुख्यमंत्री को गायत्री परिवार के प्रतीक के रूप में रूद्राक्ष की माला तथा पीत-वस्त्र भी भेंट किया। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने भी छत्तीसगढ़ की जनता की ओर से डॉ. प्रणव पण्डया का स्वागत किया। कार्यक्रम में महिला एवं बाल विकास मंत्री रमशीला साहू, रायपुर रायपुर के लोकसभा सांसद रमेश बैस, महासमुंद के लोकसभा सांसद  चंदूलाल साहू, राजनांदगांव के लोकसभा सांसद अभिषेक सिंह, राज्यसभा सदस्य डॉ. भूषण लाल जांगड़े, छत्तीसगढ़ बीज एवं कृषि विकास निगम के अध्यक्ष  श्याम बैस, विधायक अहिवारा सांवला राम डाहरे, पूर्व विधानसभा अध्यक्ष धरम लाल कौशिक, पूर्व सांसद  सरोज पाण्डेय सहित अनेक संस्थाओं के पदाधिकारी और क्षेत्र के वरिष्ठ जनप्रतिनिधि और  हजारों की संख्या में गायत्री परिवार के सदस्य भी कार्यक्रम में मौजूद थे।

नेत्रहीन बच्चों के साथ मंत्री रमशीला साहू ने किया मार्च पास्ट 

रायपुर। समाज कल्याण विभाग द्वारा छड़ी दिवस मनाया जा रहा है। इस मौके पर विभाग की मंत्री रमशीला साहू ने जय स्तंभ चौक में नेत्रहीन , श्रवण बाधित बच्चों के साथ आँखों में पट्टी बांधकर मार्च पास्ट किया।इस मार्च पास्ट में शासकीय श्रवण बाधित विद्यालय भाटागांव के २०० छात्र ने भी हिस्सा लिया। इसमें समाज कल्याण विभाग के संचालक एमएल अलंग , सभापति प्रफुल्ल विश्वकर्मा मौजूद थे। मंत्री रमशीला साहू ने बताया कि छड़ी बच्चों का सहारा है इनका मनोबल इससे मजबूत होता जिसके सहारे ये आगे बढ़ते हैं। आज हम अन्तराष्ट्रीय छड़ी दिवस मना रहे हैं। उन्होंने कहा कि समाज कल्याण विभाग हरसंभव मदद इन संस्थाओ को करता रहेगा। मार्च पास्ट के जरिए  हम इन बच्चों को समाज से जोड़ने का काम कर रहे हैं। 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804
Visitor No.