GLIBS
05-11-2018
दोपहर में सेंसेक्स 151, निफ्टी 56 तो सीएनएक्स 5 सौ 47 अंक नीचे गिरे 

नई दिल्ली। सप्ताह के पहले दिन घरेलू शेयर बाजार हल्की कमजोरी के साथ खुले।  एशियाई बाजारों की गिरावट ने भी सुस्ती के रुझान दिए।  हालांकि, बाजार की गिरावट सीमित ही रही।  माना जा रहा है कि ईरान पर लगे प्रतिबंधों से कच्चे तेल की आपूर्ति पर काफी कम असर होगा। दोपहर 12:20 बजे सेंसेक्स 151 तो निफ्टी 56 तो सीएनएक्स 5 सौ 47 अंकों की गिरावट के साथ कारोबार कर रहे थे।

सुबह कैसा था बाजार का हाल:

सुबह 9.30 बजे, बीएसई का सेंसेक्स 91 अंक या 0.26 फीसदी की सुस्ती के साथ 34,921 पर कारोबार कर रहा था।  वहीं, निफ्टी 50 इंडेक्स 36 अंक या 0.35 फीसदी की कमजोरी के साथ 10,517 के स्तर पर रिकॉर्ड किया गया। 

विश्व बाजार का हाल:

अमेरिकी शेयर बाजारों ने कमजोरी के साथ सप्ताह का अंत किया।  डाउ जोन्स 0.43 फीसदी तक टूटा, जबकि एसएंडपी 500 इंडेक्स ने 0.63 फीसदी की गिरावट दर्ज की।  नेस्डैक कंपोजिट ने 1.04 फीसदी का गोता लगाकर सत्र का कारोबार खत्म किया। 

बीएसई सेंसेक्स पर एनटीपीसी के शेयर 3.20 फीसदी लुढ़ककर 152.85 रुपये के हो गए।  पावर ग्रिड के शेयर 2.26 फीसदी की सुस्ती के साथ 186.70 रुपये तक फिसले।  इंडसइंड बैंक, आईसीआईसीआई बैंक और हीरो मोटोकॉर्प के शेयर क्रमश: 1.84 फीसदी, 1.35 फीसदी और 1.09 फीसदी तक टूटे। 

इन शेयर्स में दिखी बिकवाली:

दूसरी तरफ, ओएनजीसी के शेयर 1.72 फीसदी की तेजी के साथ 160.05 रुपये तक पहुंच गए।  एक्सिस बैंक के शेयर 1.52 फीसदी की मजबूती के साथ 619.30 रुपये के हो गए।  भारतीय स्टेट बैक, सन फार्मा और कोल इंडिया क्रमश: 1.40 फीसदी, 1.37 फीसदी और 0.73 फीसदी तक चढ़े।

सितंबर तिमाही में एक्सिस बैंक का मुनाफा 83 फीसदी बढ़कर 790 करोड़ रुपये तक पहुंच गया है।  पिछले साल इसी तिमाही बैंक ने 432 करोड़ रुपये का नेट प्रॉफिट कमाया था।  बैंक के प्रावधान (प्रोविजन) 2,927 करोड़ रुपये रहे, जो साल दर साल की तुलना में 7 फीसदी कम है।

निफ्टी को बरतनी होगी सावधानी:

एंजेल ब्रोकिंग ने अपने नोट में कहा, "निफ्टी के लिए 10,480 का स्तर बेहद अहम है।  इसके नीचे खिसकने के बाद निफ्टी को 10,400 पर नजर बनाए रखनी होगी।  निवेशकों को शेयरों के चयन के दौरान अतिरिक्त सावधानी बरतने की जरूरत है। "

कई कंपनियों के आएंगे  तिमाही नतीजे:

आज भी कई कंपनियां अपने सितंबर तिमाही के नतीजे पेश करने वाली हैं।  इसमें सिप्ला, फोर्टिस हेल्थकेयर, गेल (इंडिया), पीएनबी हाउसिंग फाइनेंस, पावर ग्रिड, आईजीएल, आइनॉक्स विंड्स, मजेस्को, नैट्को फार्मा, शीला फोम और टाटा जूल्स के नाम शामिल हैं। 

जापान के बाहर का एशिया पेसेफिक इंडेक्स 0.2 फीसदी तक नीचे खिसका।  जापान के निक्केई में 1.3 फीसदी की कमजोरी दर्ज की गई।  दक्षिण एशिया का कोस्पी 0.8 फीसदी तक टूटा।  आॅस्ट्रेलियाई बाजारों ने भी आधा फीसदी तक की गिरावट दर्ज की गई।

 

 

31-10-2018
Business : सेंसेक्स ने 551 तो निफ्टी ने  188 अंकों की छलांग लगाकर खत्म किया कारोबार 

नई दिल्ली। रिजर्व बैंक आॅफ इंडिया के गवर्नर के रिजाइन करने की अटकलों के चलते शेयर बाजार में पूरे दिन उतार चढ़ाव की स्थिति रही।  इस मामले को लेकर सरकार के स्पष्टीकरण और गवर्नर ऊर्जित पटेल के इस्तीफा नहीं दिए जाने की उम्मीद ने कारोबार के आखिरी घंटों में बाजार को सपोर्ट किया और बंबई स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) का सेंसेक्स 551 अंक उछलकर 34,442.05 पर बंद हुआ।

वहीं नैशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) का निफ्टी 188.20 अंकों की तेजी के साथ 10,386.60 पर बंद हुआ। निफ्टी में 36 शेयर हरे निशान में जबकि 14 शेयर लाल निशान में बंद हुए।

दोपहर बाद सरकार ने स्पष्ट की स्थिति:

गौरतलब है कि आरबीआई और सरकार के बीच चल रही उठापटक का असर बाजार पर पूरे दिन दिखा। हालांकि दोपहर बाद वित्त मंत्रालय की तरफ से स्पष्टीकरण जारी किए जाने के बाद स्थिति साफ होती दिखी।

वित्त मंत्रालय की तरफ से जारी बयान में कहा गया है, आरबीआई एक्ट के तहत केंद्रीय बैंक की स्वायत्ता जरूरी है और इस पर कोई दोराय नहीं है। भारत सरकार ने इसे मजबूत किया है और वह इसका सम्मान करती है।'

बयान में कहा गया है, 'सरकार और केंद्रीय बैंक दोनों ही जनता के हित और भारतीय अर्थव्यवस्था की जरूरतों के मुताबिक काम करते हैं। इसके लिए सरकार और आरबीआई के बीच समय-समय पर विचार विमर्श होते रहता है।'

मंत्रालय ने कहा, 'यही बात सभी अन्य नियामकों के लिए सही है। भारत सरकार ने कभी भी इस मुद्दे को सार्वजनिक नहीं किया है। केवल अंतिम फैसलों के बारे में ही जानकारी सार्वजनिक की जाती है। सरकार आगे भी ऐसा करती रहेगी।'

19 नवंबर को होगी आरबीआई की बैठक:

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक आरबीआई गवर्नर ऊर्जित पटेल इस्तीफा नहीं देंगे। खबरों के मुताबिक 19 नवंबर को पटेल ने आरबीआई बोर्ड की बैठक बुलाई है।

सुबह कैसा था बाजार का हाल:

आरबीआई और सरकार के बीच जारी विवाद का असर रुपये पर भी देखने को मिला है। बुधवार के कारोबार में भारतीय रुपये ने एक बार फिर से डॉलर के मुकाबले 74 का स्तर पार कर लिया। आज दिन के कारोबार में रुपया 43 पैसे टूटकर 74.11 के स्तर पर जा पहुंचा, वहीं दिन के 12 बजे रुपया डॉलर के मुकाबले 74.04 के स्तर पर कारोबार करता देखा गया। रुपये में यह कमजोरी आयातकों की ओर से अमेरिकी करेंसी (डॉलर) की बढ़ी मांग के कारण देखने को मिली। फॉरेक्स ट्रेडर्स का मानना है कि दुनिया की तमाम मुद्राओं के मुकाबले डॉलर की मजबूती और सरकार एवं आरबीआई के बीच जारी तनातनी के चलते घरेलू मुद्रा पर असर पड़ा है।

एनबीएफसी शेयरों में रही तेजी नॉन बैंकिंग फाइनैंशियल कंपनियों (एनबीएफसी) के शेयरों में आई तेजी की वजह से बाजार में उछाल आई। बीएसई का फाइनैंस इंडेक्स करीब 100 से अधिक अंकों की तेजी के साथ बंद हुआ।

इन शेयर्स पर हावी रही बिकवाली:

इंडेक्स में सबसे ज्यादा तेजी धनलक्ष्मी बैंक, पीएनबी हाउसिंग, डीएचएफएल, इंडियाबुल हाउसिंग और यूको बैंक के शेयरों में रही। मंगलवार को सेंसेक्स दिन भर के उतार चढ़ाव के बाद 176 अंक टूटकर 34,000 के नीचे 33,891 पर बंद हुआ था वहीं निफ्टी 10,200 के नीचे फिसलकर 10,198.40 पर बंद हुआ था।

24-10-2018
Share Market : सेंसेक्स ने 284 तो निफ्टी ने लगाई 102 अंकों की छलांग 

नई दिल्ली। बुधवार को शेयर बाजारों में सुबह में रौनक दिखी।  कच्चे तेल की कीमतों में बड़ी गिरावट ने बाजार में जान फूंक दी।  रुपए की वापसी ने भी कारोबारी सेंटिमेंट को मजबूत किया।  इसके चलते बाजार में खरीदारी देखने को मिली। 

सऊदी अरब के आश्वासन ने किया कमाल:

सऊदी अरब ने भरोसा जताया है की ईरान पर लगने वाले प्रतिबंध के बाद वह आपूर्ति बढ़ाने के उपाय करेगा।  यह प्रतिबंध 4 नवंबर से लागू होने वाले हैं।  सऊदी के आश्वासन ने बाजार में जान फूंक दी।  इससे पहले बाजार में वैश्विक स्तर पर तेल आपूर्ति को लेकर कई सवाल मंडरा रहे थे। 

सुबह 9.30 बजे, बीएसई सेंसेक्स 284 अंक या 0.84 फीसदी की तेजी के साथ 34,131 के स्तर पर कारोबार करता नजर आया।  वहीं, निफ्टी 50 इंडेक्स भी 102 अंक या 1 फीसदी की छलांग के साथ 10,248 के स्तर पर रिकॉर्ड किया गया। 

अंतर्राष्ट्रीय बाजार का हाल:

मंगलवार को अमेरिकी शेयर बाजारों में गिरावट आई।  डावो जोन्स ने 0.50 फीसदी तक की गिरावट दर्ज की, जबकि एसएंडपी 500 इंडेक्स ने 0.55 फीसदी का गोता लगाया।  नेस्डेक कंपोजिट ने 0.42 फीसदी की कमजोरी के साथ कारोबार खत्म किया। 

इधर, घरेलू बाजार में बीएसई मिडकैप और स्मॉलैकप इंडेक्स ने भी 1 फीसदी तक की छलांग लगाई।  आईटी और टेक सेक्टर के सूचकांकों के अलावा, सभी सेक्टर्स के सूचकांक हरे निशान में कारोबार कर रहे थे।  बैंक, वित्त सेवा और आॅटो इंडेक्स में खास तेजी रही। 

इन शेयर्स में दिखी बिकवाली:

बीएसई सेंसेक्स पर टाटा मोटर्स के शेयर 1.90 फीसदी की तेजी के साथ 173.90 रुपये के स्तर तक पहुंचे।  एशियन पेंट्स के शेयर 1.89 फीसदी की बढ़त के साथ 1,160.30 रुपये के हो गए।  भारती एयरटेल, महिंद्रा एंड महिंद्रा और एचडीएफसी के शेयर क्रमश: 1.89 फीसदी, 1.79 फीसदी और 1.67 फीसदी चढ़े। 

इनके शेयर्स लुढ़के:

हालांकि, विप्रो के शेयर 2.20 फीसदी गिरकर 302.50 रुपये के हो गए।  टीसीएस के शेयर 0.77 फीसदी की सुस्ती के साथ 1,830 रुपये तक फिसले।  इसके अलावा सिर्फ सन फार्मा, कोटक महिंद्रा बैक और इंफोसिस ही लाल निशान में कारोबार करते दिखे। 

अमेरिकी बॉन्ड यील्ड घटने से डॉलर की कीमतों में कमजोरी आई।  रुपये 40 पैसे की मजबूती के साथ 73.17 के स्तर पर खुला।  अन्य एशियाई बाजारों में भी खरीदारी देखने को मिली।  शंघाई कंपोजिट और हेंगसेंग ने 1 फीसदी तक की तेजी दिखाई, जबकि निक्केई आधा फीसदी तक मजबूत हुआ। 

23-10-2018
Share Market: सेंसेक्स 287 तो निफ्टी ने 98 अंकों का लगाया गोता 
शेयर बाजार में नहीं आया कोई सुधार, कारोबारियों के हौसले पस्त
23-10-2018
Share Market : सेंसेक्स 253 तो निफ्टी ने 78 अंकों की गिरावट के साथ शुरू किया कारोबार 

नई दिल्ली। घरेलू शेयर बाजारों ने मंगलवार को गिरावट के साथ कारोबार का आगाज किया।  प्रमुख सूचकांक बड़ी गिरावट के साथ खुले।  एशियाई बाजारों में बड़ी कमजोरी का असर घरेलू बाजारों पर पड़ा।  डॉलर के मुकाबले रुपए में कमजोरी का असर भी बाजार के सेंटिमेंट पर पड़ा। 

अमेरिका में कंपनियों के वित्तीय नतीजे आने शुरू हो गए हैं।  इस पर बाजार की नजरें लगी हैं।  इसके अलावा इटली के बजट और ब्रेक्जिट के दबाव ने भी सेंटिमेंट को कमजोर किया है।  सउदी अरब का अलग-थलग पड़ जाना भी चिंता का विषय है।  सुबह 9: 30 बजे, बीएसई सेंसेक्स 253 अंक या 0. 74 फीसदी गिरकर 33,882 पर कारोबार करते नजर आया।  वहीं, निफ्टी 50 इंडेक्स भी 78 अंक या 0. 76 फीसदी लुढ़क कर 10,167 के स्तर पर रिकॉर्ड किया गया। 

सोमवार को अमेरिकी शेयर बाजारों में रुख मिला-जुला रहा।  डावो जोन्स ने आधा फीसदी का गोता लगाया, जबकि एसएंडपी 500 इंडेक्स ने 0. 43 फीसदी की गिरावट दर्ज की।  नेस्डेक कंपोजिट ने 0. 26 फीसदी की बढ़त के साथ कारोबार का अंत किया

सेक्टोरल इंडेक्स का हाल:

मिडकैप और स्मॉलकैप सूचकांकों में भी कमजोरी का आलम देखने को मिला।  सेक्टोरल इंडेक्स में बीएसई पर तेल एवं गैस, एनर्जी और एफएमसीजी सेक्टर्स की हालत सबसे खराब दिखी।  ये सूचकांक 1.80 फीसदी तक नीचे खिसक आए।  निजी बैंकों में थोड़ी बहुत खरीदारी देखने को मिली।  बीएसई सेंसेक्स पर एशियन पेंट्स के शेयर 5.11 फीसदी लुढ़क कर 1,140 रुपये तक पहुंच गए।  ओएनजीसी के शेयर 2. 75 फीसदी टूटकर 161. 80 रुपए के हो गए।  हिंदुस्तान यूनिलीवर, आईटीसी और कोटक महिंद्रा बैंक के शेयर क्रमश: 1. 64 फीसदी, 1 54 फीसदी और 1. 37 फीसदी तक टूटे। 

इन के शेयर्स रहे मुनाफे मेंं:

हालांकि, इंडसइंड बैंक के शेयर 3.26 फीसदी की बढ़त के साथ 1,489. 20 रुपए पर आ गए।  टाटा मोटर्स के शेयरों ने 1. 44 फीसदी की तेजी के साथ 173 रुपए का स्तर छुआ।  अडानी पोर्ट्स, यस बैंक और एचडीएफसी बैंक के शेयर क्रमश: 0. 99 फीसदी, 0. 43 फीसदी और 0.42 फीसदी तक चढ़े। 

एशियन पेंट्स ने घोषित किए अपने नतीजे:

एशियन पेंट्स ने सोमवार को अपने नतीजों का ऐलान किया।  सितंबर तिमाही में कंपनी का नेट प्रॉफिट 14. 4 फीसदी घटकर 493 करोड़ रुपये रहा, जो पिछले साल की सितंबर तिमाही में 576 करोड़ रुपये था।  कंपनी का प्रदर्शन उम्मीद से कमजोर रहा। इस वजह से शेयर शुरुआती कारोबार में 6 फीसदी टूटे।  अंतर्राष्ट्रीय बाजारों में कच्चे तेल की कीमतें कुछ स्थिर हुई हैं, मगर डॉलर की मजबूती अब भी बाजारों पर हावी है।  डॉलर की मुकाबले रुपये ने 14 पैसे की नरमी के साथ 73। 70 के स्तर पर कारोबारी सत्र का आगाज किया।

 

 

22-10-2018
सेंसेक्स 181 तो निफ्टी ने 58 अंकों को लगाया गोता 
मुनाफा वसूली ने बिगाड़ी शेयर बाजार की चाल
22-10-2018
Share Market : सेंसेक्स 374 अंक तो निफ्टी ने 102 अंकों की मजबूती के साथ शुरू किया कारोबार 

मुंबई। सोमवार को शेयर बाजार में नए सप्ताह की शुरुआत बढ़त के साथ हुई। बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) का सूचकांक सेंसेक्स 374 अंक की तेजी से 34,689.39 जबकि नैशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) का सूचकांक निफ्टी 102.3 अंक मजबूत होकर 10,405.85 पर खुला। सुबह 9.30 बजे सेंसेक्स पर 19 शेयरों में खरीदारी हो रही थी जबकि 12 शेयरों में बिकवाली का माहौल था। वहीं, निफ्टी पर 32 शेयरों के भाव चढ़ चुके थे जबकि अन्य 18 शेयर टूट

इन शेयर्स पर हावी रही बिकवाली:

इस दौरान सेंसेक्स पर मजबूत होनेवाले शेयरों में अडानी पोर्ट्स 2.44%, एचडीएफसी बैंक 1.44%, एसबीआई 1.30%, एचडीएफसी 1.14%, आईटीसी 1.14%, सन फार्मा 1.08%, आईसीआईसीआई बैंक 0.97%, हीरो मोटोकॉर्प 0.95% आदि शामिल रहे। वहीं, निफ्टी पर इंडियाबुल्स हाउसिंग फाइनैंस के शेयर 6.03%, अडानी पोर्ट्स 2.51%, आइशर मोटर्स 1.96%, बजाज फाइनैंस 1.81%, एचडीएफसी बैंक 1.39%, एचडीएफसी 1.24%, एचसीएल टेक 1.05%, एसबीआई 1.01%, गेल 0.94% और आईटीसी 0.86% तक चढ़ गए।

इनमें दिखी गिरावट:

सेंसेक्स पर जिन शेयरों में सबसे बड़ी गिरावट आई, उनमें यस बैंक 1.88%, ओएनजीसी 1.40%, भारती एयरटेल 1.03%, टीसीएस 0.76%, टाटा मोटर्स लि. डीवीआर 0.57%, इन्फोसिस 0.56% और हिंदुस्तान लीवर लि. 0.51% तक टूट गए। वहीं, निफ्टी पर टेक महिंद्रा के शेयर 3%, आईओसी 2.52%, हिंदुस्तान पेट्रोलियम 2.27%, यस बैंक 2.07%, बीपीसीएल 1.85%, जेएसडब्ल्यू स्टील 1.42%, अल्ट्राटेक सीमेंट 1.29%, भारती एयरटेल 1.20%, यूपीएल 1.18% और ओएनजीसी 1.03% तक कमजोर हो गए।

9:42 बजे तक निफ्टी आईटी, निफ्टी मीडिया, निफ्टी मेटल और निफ्टी रीयल्टी के सिवा सारे इंडिसेज हरे निशान में थे। इस दौरान सेंसेक्स 92.05 अंक यानी 0.27% मजबूत होकर 34,407.68 जबकि निफ्टी 24.70 अंक यानी 0.24% की तेजी से 10,328.25 पर ट्रेड कर रहा था।

15-10-2018
Share Market : सेंसेक्स 238 अंक तो निफ्टी 52 अंकों की उछाल के साथ खुले और फिर जल्दी ही लुढ़के 

मुंबई। सोमवार को शेयर बाजार में कारोबार के नए सत्र की शुरुआत बढ़त के साथ हुई, लेकिन कुछ मिनटों में ही दोनों प्रमुख सूचकांक सेंसेक्स और निफ्टी लाल निशान में चले गए। एशियाई बाजारों में मिला-जुला रुख रहा, हालांकि, शुक्रवार को अमेरिकी शेयर बाजार अच्छी मजबूती के साथ बंद हुए थे। कंपनियों के दूसरी तिमाही के नतीजे आने शुरू हो गए हैं। दिग्गज कंपनियों के नतीजों पर बाजार की नजर होगी। डॉलर के मुकाबले रुपए में कमजोरी दिखी। कच्चे तेल की कीमतों में उछाल है। यह घरेलू बाजार के लिए अच्छी खबर नहीं है। भारत का जोखिम सूचकांक 'इंडिया वीआईएक्स' इंडेक्स 2.52 फीसदी उछल गया.बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) के 31 शेयरों का सूचकांक सेंसेक्स 238.25 अंक यानी 0.69% की तेजी के साथ 34,972 पर खुला। वहीं, नैशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) के 50 शेयरों का सूचकांक निफ्टी 52 अंक यानी 0.49% मजबूत होकर 10,524.20 पर खुला। हालांकि, 9:24 बजे तक सेंसेक्स पर 22 शेयरों में जबकि निफ्टी पर 31 शेयरों में गिरावट आ चुकी थी। इस तरह, सेंसेक्स पर सिर्फ 9 जबकि निफ्टी पर 19 शेयरों में खरीदारी हो रही थी। 

इन शेयर्स में दिखी गिरावट:

इस दौरान सेंसेक्स पर कमजोर होनेवाले शेयरों में हिंदुस्तान लीवर लि. (2.40%), महिंद्रा ऐंड महिंद्रा (1.69%), आईसीआईसीआई बैंक (1.68%), एशियन पेंट्स (1.38%), ऐक्सिस बैंक (1.31%), इंडसइंड बैंक (1.27%), मारुति (0.99%) और भारती एयरटेल (0.89%) शामिल रहे। वहीं, निफ्टी पर टीसीएस (3.03%), एचसीएल टेक (2.65%), डॉ. रेड्डी (0.37%) और टेक महिंद्रा (0.23%) तक टूट चुके थे।

इनमें दिखी बिकवाली:

वहीं, सेंसेक्स पर जिन शेयरों में खरीदारी हो रही थी, उनमें आईटीसी (1.60%), टीसीएस (1.49%), इन्फोसिस (1.48%), विप्रो (1.39%), सन फार्मा (0.99%), रिलायंस (0.84%), टाटा मोटर्स (0.74%), ओएनजीसी (0.41%), एचडीएफसी बैंक (0.20%) और एनटीपीसी (0.03%) तक मजबूत हो गए। उधर, निफ्टी पर सबसे ज्यादा मजबूत होनेवाले शेयरों में मारुति (6.22%), बजाज फाइनैंश (5.73%), आइशर मोटर्स (5.56%), महिंद्रा ऐंड महिंद्रा (5.25%) और हिंदुस्तान पेट्रोलियम (5.12%) तक मजबूत हो गए।

11-10-2018
Share Market : सेंसेक्स ने 760 तो निफ्टी ने लगाया 225 अंकों का गोता
विदेशी शेयर बाजारों की गिरावट रही भारतीय शेयर बाजारों पर हावी
Advertise, Call Now - +91 76111 07804