GLIBS
09-10-2019
सोने-चांदी की कीमतों में उछाल, सोना 39 हजार के पार, चांदी में तेजी

नई दिल्ली। सोने और चांदी के भाव में दशहरे के बाद तेजी आई है। बुधवार को दिल्ली सराफा बाजार में सोना 315 रुपये महंगा होकर 39,325 रुपए प्रति 10 ग्राम बोला गया। मजबूत मांग के चलते चांदी भी 1,010 रुपये महंगी होकर 47,330 रुपये प्रति किलोग्राम बोली गई। बता दें कि दशहरा के मौके पर मंगलवार को शेयर बाजार बंद था। एचडीएफसी सिक्योरिटीज के वरिष्ठ विश्लेषक तपन पटेल ने कहा कि अमेरिका-चीन के बीच व्यापार वार्ता और आर्थिक वृद्धि की चिंताओं के बीच अंतरराष्ट्रीय बाजार में सोने की हाजिर कीमत बढ़कर 1,507 डॉलर पर पहुंच गई। सोमवार को सोना 39,010 रुपये प्रति 10 ग्राम के भाव रहा था। सोने में यह तेजी व्यापार वार्ता में बनी चिंताओं और आर्थिक वृद्धि के आंकड़ों के कारण देखी गई। यहां यह बताना लाजिमी होगा कि यूएसए और चीनी कंपनियों को ब्लेक लिस्ट और चीनी अधिकारियों का विजा प्रतिबंधित करने की घोषणा का निवेशकों पर प्रभाव पड़ा है।

30-09-2019
शुरुआती कारोबार में सप्ताह के पहले दिन सेंसेक्स 300 अंक टूटा

मुंबई। शेयर बाजार में सोमवार को कमजोरी के साथ कारोबार की शुरुआत हुई। शुरुआती कारोबार के दौरान प्रमुख संवेदी सूचकांक सेंसेक्स पिछले सत्र के मुकाबले 300 अंक गिरा और निफ्टी की भी चाल सुस्त रही। निफ्टी तकरीबन 90 अंक फिसला। हालांकि डॉलर के मुकाबले रुपये में मजबूती दर्ज की गई। सुबह सेंसेक्स 289.75 अंकों यानी 0.75 फीसदी की गिरावट के साथ 38,532.89 पर कारोबार कर रहा था। वहीं, निफ्टी 89.45 अंकों यानी 0.78 फीसदी की गिरावट के साथ 11,422.95 पर बना हुआ था। सुबह बंबई स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) का प्रमुख संवेदी सूचकांक सेंसेक्स कमजोरी के साथ 38,873.12 पर खुला और 38,511.64 तक लुढ़का। पिछले सत्र में सेंसेक्स 38,822.57 पर बंद हुआ था। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) का प्रमुख संवेदी सूचकांक निफ्टी भी कमजोरी के साथ 11,491.15 पर खुला लेकिन 11,504.60 तक उछला। हालांकि जल्द ही बिकवाली के दबाव में निफ्टी लुढ़क कर 11,422.45 पर आ गया। पिछले सत्र में निफ्टी 11,512.40 पर खुला था। देसी मुद्रा रुपये में हालांकि मजबूती आई। डॉलर के मुकाबले रुपया 14 पैसे की मजबूती के साथ 70.42 पर खुला।

23-09-2019
उछाल के साथ खुला शेयर बाजार

नई दिल्ली। सप्ताह के पहले कारोबारी दिन सोमवार को शेयर बाजार में जोरदार उछाल के साथ खुला। सेंसेक्स 909.18 अंक यानी 2.39 फीसदी की बढ़त के बाद 38,923.80 के स्तर पर खुला था। निफ्टी की बात करें, तो 276.60 अंक यानी 2.45 फीसदी की बढ़त के बाद निफ्टी 11,550.80 के स्तर पर खुला था। इसके बाद शुरुआती कारोबार में 1331 अंकों की तेजी के साथ सेंसेक्स 39,346.01 के स्तर पर कारोबार कर रहा था और निफ्टी ने 392 अंकों की बढ़त के बाद 11,666.35 का स्तर छू लिया था। शुक्रवार को वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने घरेलू मैन्यूफैक्चरिंग कंपनियों को बड़ी राहत दी। निर्मला सीतारमण ने कॉर्पोरेट टैक्स में कटौती का एलान किया, जिससे शेयर बाजार में उछाल देखने को मिला। कंपनियों के लिए नया कॉर्पोरेट टैक्स 25.17 फीसदी तय किया गया है और कैपिटल गेन पर सरचार्ज खत्म हो गया है। दिग्गज शेयरों की बात करें, तो सोमवार को ब्रिटानिया इंडस्ट्रीज, आईटीसी, इंडसइंड बैंक और एल एंड टी के शेयर हरे निशान पर खुले। सेक्टोरियल इंडेक्स पर नजर डालें, तो आईटी के अतिरिक्त सभी सेक्टर्स हरे निशान पर खुले। इनमें एफएमसीजी, इंफ्रा, ऑटो, बैंक, मेटल और एनर्जी शामिल हैं। प्री ओपन के दौरान सेंसेक्स में 450.11 अंक यानी 1.18 फीसदी की बढ़त देखी गई थी, जिसके बाद सेंसेक्स 38,464.73 के स्तर पर था। वहीं निफ्टी में 240.30 अंक यानी 2.13 फीसदी की बढ़त देखी गई थी, जिसके बाद निफ्टी 11.514.50 के स्तर पर था।

रुपया आज डॉलर के मुकाबले 10 पैसे की गिरावट के साथ 71.04 के स्तर पर खुला। वहीं, पिछले कारोबारी दिन डॉलर के मुकाबले रुपया 70.94 के स्तर पर बंद हुआ था। पिछले कारोबारी दिन शेयर बाजार हरे निशान पर खुला था। सेंसेक्स 48.14 अंक यानी 0.13 फीसदी की बढ़त के बाद 36,141.61 के स्तर पर खुला था। निफ्टी की बात करें, तो 9.80 अंक यानी 0.09 फीसदी की बढ़त के बाद निफ्टी 10,714.60 के स्तर पर खुला था। इसके बाद कॉर्पोरेट टैक्स की कटौती की घोषणा से बाजार में जोरदार उछाल आया। दोपहर करीब 2:15 बजे सेंसेक्स 2102.46 अंक यानी 5.83 फीसदी की बढ़त के बाद 38,195.93 के स्तर पर कारोबार कर रहा था। निफ्टी की बात करें, तो 627.90 अंक यानी 5.87 फीसदी की बढ़त के बाद निफ्टी 11,332.70 के स्तर पर कारोबार कर रहा था। ये शेयर बाजार में पिछले 10 साल की सबसे बड़ी इंट्रा डे तेजी थी। पिछले कारोबारी दिन शेयर बाजार जोरदार तेजी के साथ बंद हुआ था। सेंसेक्स 1,923.90 अंक यानी 5.33 फीसदी की बढ़त के बाद 38,017.37 के स्तर पर बंद हुआ था। वहीं निफ्टी 570.70 अंक यानी 5.33 फीसदी की बढ़त के बाद 11,275.50 के स्तर पर बंद हुआ था।  

20-09-2019
एलआईसी का पैसा घाटे वाली कंपनियों में लगा रही मोदी सरकार : प्रियंका गांधी

नई दिल्ली। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने शुक्रवार को एक मीडिया रिपोर्ट का हवाला देते हुए दावा किया कि नरेंद्र मोदी सरकार भारतीय जीवन बीमा निगम (एलआईसी) का पैसा घाटे वाली कंपनियों में लगाकर देश के आम लोगों के भरोसे को चकनाचूर कर रही है। उन्होंने ट्वीट कर कहा, 'भारत में एलआईसी भरोसे का दूसरा नाम है। आम लोग अपनी मेहनत की कमाई भविष्य की सुरक्षा के लिए एलआईसी में लगाते हैं, लेकिन भाजपा सरकार उनके भरोसे को चकनाचूर करते हुए एलआईसी का पैसा घाटे वाली कम्पनियों में लगा रही है। ये कैसी नीति है जो केवल नुकसान नीति बन गई है?' प्रियंका ने जिस मीडिया रिपोर्ट का हवाला दिया उसके मुताबिक शेयर बाजार में बिकवाली का असर कई कंपनियों पर भी पड़ रहा है और बीते ढाई महीने में एलआईसी को शेयर बाजार में निवेश से करीब 57,000 करोड़ रुपये की चपत लग चुकी है। दरअसल, एलआईसी ने जिन कंपनियों में निवेश किया था, उन कंपनियों की बाजार पूंजी में काफी गिरावट दर्ज की गई है। वैसे यह पहली बार नहीं है जब प्रियंका ने किसी रिपोर्ट के हवाले से सरकार पर निशाना साधा है। इससे पहले भी कई मौकों पर वह सरकार को आड़े हाथ लेती रही हैं। गुरुवार को उन्होंने एक रिपोर्ट के हवाला देते हुए ट्वीट किया, 'भारतीय लोग अपना पैसा देश में रखना नहीं चाहते, व्यवसायों में निवेश नहीं करना चाहते। बाहर से निवेश आ नहीं रहा। भाजपा सरकार की ये कौन सी आर्थिक नीतियां हैं जिस पर से सबका भरोसा उठ चुका है?' गांधी ने जिस मीडिया रिपोर्ट का हवाला दिया था उसके अनुसार इस साल जुलाई के महीने में भारतीयों ने उदारीकृत प्रेषण योजना (लिबरलाइज्ड रेमिटेंस स्कीम एलआरएस) के तहत 1.69 बिलियन डॉलर रुपये विदेश भेजे हैं। यह विदेश भेजे जाने वाली अब तक की सबसे ज्यादा राशि है। आरबीआई द्वारा प्रदान की गई इस सुविधा के तहत विदेशों में पढ़ाई करने वाले भारतीयों, ईलाज, रिश्तेदारों, आप्रवासियों को पैसे भेजे जा सकते हैं।

20-09-2019
निर्मला सीतारमण ने मैन्युफैक्चरिंग कंपनियों को दी बड़ी रहत, कॉर्पोरेट टैक्स घटा

नई दिल्ली। जीएसटी काउंसिल की बैठक से पहले शुक्रवार को वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने घरेलू मैन्युफैक्चरिंग कंपनियों को बड़ी राहत दी है। निर्मला सीतारमण ने कॉर्पोरेट टैक्स में कटौती कर दी है। कंपनियों के लिए नया कॉर्पोरेट टैक्स 25.17 फीसदी तय किया गया है। इसके अलावा कंपनियों को कोई और टैक्स नहीं देना होगा। कैपिटल गेन्स पर सरचार्ज खत्म हो गया है। वित्त मंत्री के एलान के बाद शेयर बाजार में जोरदार उछाल देखने को मिला। इसके लिए वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने एक अध्यादेश लाकर घरेलू कंपनियों, नयी स्थानीय विनिर्माण कंपनियों के लिये कॉर्पोरेट कर कम करने का प्रस्ताव दिया।वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि यदि कोई घरेलू कंपनी किसी प्रोत्साहन का लाभ नहीं लेती है, तो उसके पास 22 फीसदी की दर से आयकर भुगतान करने का विकल्प होगा। जो कंपनियां 22 फीसदी की दर से आयकर भुगतान करने का विकल्प चुन रही हैं, उन्हें न्यूनतम वैकल्पिक कर का भुगतान करने की जरूरत नहीं होगी। अधिशेषों और उपकर समेत प्रभावी दर 25.17 फीसदी होगी। सीतारमण ने कहा कि एक अक्टूबर के बाद बनी नयी घरेलू विनिर्माण कंपनियां बिना किसी प्रोत्साहन के 15 फीसदी की दर से आयकर भुगतान कर सकती हैं। नयी विनिर्माण कंपनियों के लिये सभी अधिशेषों और उपकर समेत प्रभावी दर 17.01 फीसदी होगी। सुबह करीब 11 बजे बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज का प्रमुख इंडेक्स सेंसेक्स 917.01 अंक यानी 2.54 फीसदी की बढ़त के बाद 37,010.48 के स्तर पर कारोबार कर रहा था। निफ्टी की बात करें, तो 199.80 अंक यानी 1.87 फीसदी की बढ़त के बाद नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 10,904.60 के स्तर पर कारोबार कर रहा था।

18-09-2019
बढ़त के साथ शुरू हुआ शेयर बाजार

नई दिल्ली। सप्ताह के तीसरे कारोबारी दिन यानी बुधवार शेयर बाजार बढ़त के साथ खुला। बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज का प्रमुख इंडेक्स सेंसेक्स 195.08 अंकों की बढ़त के बाद 36,676.17 के स्तर पर खुला। निफ्टी की बात करें, तो 58.80 अंकों की बढ़त के बाद नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 10,876.40 के स्तर पर था। दिग्गज शेयरों की बात करें, तो बुधवार को आईओसी, यस बैंक, हीरो मोटोकॉर्पस इंडियाबुल्स हाउसिंग और बजाज फाइनेंस के शेयर हरे निशान पर खुले। वहीं ब्रिटानिया और यूपीएल के शेयर लाल निशान के साथ खुले।  प्री ओपन के दौरान सेंसेक्स में 178.92 अंक यानी 0.49 फीसदी की बढ़त देखी गई थी, जिसके बाद सेंसेक्स 36,660.01 के स्तर पर था। वहीं निफ्टी में 65.90 अंक यानी 0.61 फीसदी की बढ़त देखी गई थी, जिसके बाद निफ्टी 10,883.50 के स्तर पर था। रुपये की शुरुआत आज 28 पैसे की बढ़त के साथ हुई। डॉलर के मुकाबले रुपया आज 71.50 के स्तर पर खुला।

वहीं, पिछले कारोबारी दिन डॉलर के मुकाबले रुपया 71.78 के स्तर पर बंद हुआ था। मंगलवार को शेयर बाजार लाल निशान पर खुला था। सेंसेक्स 112.62 अंक यानी 0.30 फीसदी की गिरावट के बाद 37,010.69 के स्तर पर खुला था। निफ्टी की बात करें, तो 32.30 अंक यानी 0.29 फीसदी की गिरावट के बाद निफ्टी 10,971.20 के स्तर पर खुला था। इसके बाद दोपहर 2:30 बजे के करीब सेंसेक्स 615.14 अंक यानी 1.66 फीसदी की गिरावट के बाद 36,508.17 के स्तर पर था। निफ्टी की बात करें, तो 178.20 अंक यानी 1.62 फीसदी की गिरावट के बाद निफ्टी 10,825.30 के स्तर पर था। पिछले कारोबारी दिन शेयर बाजार लाल निशान पर बंद हुआ था। सेंसेक्स 642.22 अंकों की गिरावट के बाद 36,481.09 के स्तर पर बंद हुआ था। वहीं निफ्टी 185.90 अंकों की गिरावट के बाद 10,817.60 के स्तर पर बंद हुआ था।

03-09-2019
Breaking: शेयर बाजार में भारी गिरावट, सेंसेक्स 770 अंक और निफ्टी 225 अंक टूटा

मुंबई। शेयर बाजार में मंगलवार को जबर्दस्त गिरावट दर्ज की गई। बाजार के दोनों प्रमुख सूचकांक 2 फीसदी से अधिक टूटे। मंगलवार को बंबई स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) का सेंसेक्स 769.88 अंक या 2.06 प्रतिशत गिरकर 36,562.91 के स्तर पर बंद हुआ। वहीं नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) का निफ्टी 225.35 अंक या 2.04 प्रतिशत गिरकर 10,797.90 के स्तर पर बंद हुआ। बैंकों और निर्यातकों से अमेरिकी मुद्रा की मांग बढ़ने के बीच घरेलू शेयर बाजार की खराब शुरुआत हुई। मुंबई शेयर बाजार का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स मंगलवार को शुरुआती कारोबार में 416.37 अंक यानी 1.12 प्रतिशत गिरकर 36,916.42 अंक पर आ गया था। मंगलवार को शुरुआती कारोबार में 67 पैसे गिरकर 72.09 रुपए प्रति डॉलर पर आ गया। मुद्रा कारोबारियों ने कहा कि चीन से आयातित उत्पादों पर अमेरिकी शुल्क रविवार से लागू हो गया। इसके जवाब में चीन ने भी अमेरिकी उत्पादों पर जवाबी शुल्क लगाया है। इसके चलते रुपये पर दबाव रहा। इंटरबैंक फॉरेन एक्सचेंज मार्केट में स्थानीय मुद्रा 72.00 रुपये प्रति डॉलर पर खुली और शुरुआती कारोबार में शुक्रवार की तुलना में 67 पैसे गिरकर 72.09 रुपये प्रति डॉलर पर आ गई।

30-08-2019
तेज शुरुआत के बाद शेयर बाजार में उतार-चढ़ाव शुरू

मुंबई। सप्‍ताह के आखिरी कारोबारी दिन भारतीय शेयर बाजार की तेज शुरुआत हुई। हालांकि कुछ देर बाद ही बाजार में उतार-चढ़ाव का दौर शुरू हो गया।कारोबार के शुरुआती मिनटों में सेंसेक्‍स 170 अंक मजबूत होकर 37 हजार 250 के स्‍तर पर पहुंच गया। वहीं निफ्टी की बात करें तो इसने 50 अंक से अधिक मजबूत होकर 11 हजार के मनोवैज्ञानिक स्‍तर को टच कर लिया। शुरुआती कारोबार में टाटा स्‍टील और वेदांता के शेयर में 2 फीसदी से अधिक तेजी रही। इसी तरह आईटीसी, यस बैंक, इंडसइंड बैंक, एक्‍सिस बैंक, एचडीएफसी बैंक, एसबीआईएन और आईसीआईसीआई बैंक के शेयर भी हरे निशान पर कारोबार करते देखे गए। लाल निशान पर कारोबार करने वाले शेयरों की बात करें तो टेक महिंद्रा, एचसीएल, एशियन पेंट, टीसीएस, इन्‍फोसिस और कोटक बैंक शामिल हैं। बता दें कि गुरुवार को कारोबार के अंत में सेंसेक्स 383 अंकों की कमजोरी के साथ 37,068 के स्तर पर बंद हुआ। इसी तरह निफ्टी 98 अंकों की गिरावट के साथ 11000 के स्तर के नीचे 10,948.30 पर आ गया। यह लगातार दूसरा कारोबारी दिन है जब शेयर बाजार लाल निशान पर बंद हुआ है। इन दो दिन में सेंसेक्‍स 572 अंक कमजोर हुआ है जबकि निफ्टी में 157 अंक की गिरावट दर्ज की गई है।

26-08-2019
शेयर बाजार में बूम, सेंसेक्स में जबर्दस्त उछाल, निफ्टी में भी बड़ी बढ़त

मुंबई। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा किए गए कई बड़े ऐलान के बाद सोमवार को घरेलू शेयर बाजार में बड़ी बढ़त देखने को मिली। शेयर बाजार में सेंसेक्स, निफ्टी में शानदार उछाल देखा गया है और ट्रेडिंग खत्म होने के समय सेंसेक्स में लगभग 800 अंकों का जबर्दस्त उछाल देखा गया और निफ्टी में भी सवा दो फीसदी की ऊंचाई के साथ ट्रेडिंग हो रही थी। सोमवार को कारोबार बंद होते समय बीएसई का 30 शेयरों वाला इंडेक्स सेंसेक्स 792.96 अंक यानी 2.16 फीसदी की उछाल के साथ 37,494.12 पर जाकर बंद हुआ और एनएसई का 50 शेयरों वाला इंडेक्स निफ्टी 228.50 अंक यानी 2.11 फीसदी की बढ़त के साथ 11,057.85 पर जाकर बंद हुआ है। आज के कारोबार की शुरुआत शानदार बढ़त के साथ हुई थी और निफ्टी 11 हजार पर खुला था। सुबह कारोबार खुलते ही सेंसेक्स में 663 अंकों की तेजी दर्ज की गई और निफ्टी 171 अंकों की तेजी के साथ 11 हजार पर कारोबार कर रहा था। हालांकि इसके बाद कारोबार ने अपनी शुरुआती बढ़त गंवा दी और निफ्टी में सपाट कारोबार देखा गया। बंबई स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) के 30 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक सेंसेक्स सुबह नौ बजे 662.79 अंकों के उछाल के साथ 37,363.95 पर खुला। हालांकि इसके बाद शुरूआती घंटे के कारोबार के दौरान ही सेंसेक्स फिसलकर 36,619.33 पर आ गया। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) के 50 शेयरों वाला प्रमुख संवेदी सूचकांक निफ्टी भी 170.95 अंकों की तेजी के साथ 11,000.30 पर खुला लेकिन बाद में फिसलकर 10,793.80 पर आ गया। आज मेटल को छोड़कर बाकी सभी सेक्टोरियल इंडेक्स में तेजी के हरे निशान के साथ कारोबार बंद हुआ है। मेटल शेयरों में करीब 1 फीसदी की गिरावट देखी गई। निफ्टी के 50 में से 13 शेयरों में गिरावट के साथ कारोबार बंद हुआ और बाकी 37 शेयरों में तेजी के हरे निशान के साथ ट्रेडिंग खत्म हुई। 

 

22-08-2019
शेयर बाजार में हाहाकार, निवेशकों के भारी नकुसान, सेंसेक्स 587 अंक और निफ्टी 182 अंक टूटा

नई दिल्ली। शेयर बाजार में पिछले कई कारोबारी सत्र से जारी गिरावट का दौर गुरुवार को भी जारी रहा। हफ्ते के चौथे कारोबारी सत्र में बाजार के दोनों प्रमुख सूचकांकों पर भारी गिरावट दर्ज की गई। गुरुवार को मुंबई स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) का सेंसेक्स 587.44 अंक या 1.59 प्रतिशत फिसलकर 36,472.93 के स्तर पर बंद हुआ। वहीं नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) का निफ्टी 182.30 अंक या 1.67 प्रतिशत टूटकर 10,736.40 के स्तर पर बंद हुआ। बुधवार को सेंसेक्स 267.64 अंक या 0.72 प्रतिशत फिसलकर 37,060.37 के स्तर पर बंद हुआ था। वहीं निफ्टी 101.05 अंक या 0.92 प्रतिशत टूटकर 10,915.95 के स्तर पर बंद हुआ था। शेयर बाजार में भारी गिरावट के चलते निवेशकों को नुकसान हुआ है। सूत्रों के अनुसार निवेशकों के पैसे डूबे है। बता दें कि इस सप्ताह शेयर बाजार में मंदी की छाया रही और निवेशकों के चेहरों पर मायूसी का आलम रहा।

 

07-08-2019
शेयर बाजार में मायूसी, 286 अंक लुढ़का सेंसेक्स, पहुंचा पांच महीने के निचले स्तर पर

मुंबई। आरबीआई के बुधवार को जारी मौद्रिक नीति बयान में चालू वित्त वर्ष का विकास अनुमान घटाने से घरेलू शेयर बाजार दबाव में आ गये और बीएसई का 30 शेयरों वाला संवेदी सेंसेक्स 286.35 अंक लुढ़ककर पांच महीने के निचले स्तर 35,690.50 अंक पर आ गया। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 92.75 अंक की गिरावट में 10,855.50 अंक पर बंद हुआ। धातु और ऑटो समूहों में सबसे ज्यादा गिरावट देखी गई। बैंकिंग तथा ऑटो क्षेत्र की कंपनियों के साथ विविध क्षेत्रों में कारोबार करने वाली रिलायंस इंडस्ट्रीज और आईटीसी ने भी बाजार पर दबाव बनाया।
केंद्रीय बैंक ने मुख्य नीतिगत दर रेपो रेट में 0.35 प्रतिशत की कटौती की है, लेकिन साथ ही कमजोर घरेलू तथा वैश्विक माँग के मद्देनजर चालू वित्त वर्ष का विकास अनुमान सात फीसदी से घटाकर 6.9 फीसदी कर दिया है। दरों में कटौती के कारण आरबीआई के बयान के तुरंत बाद बाजार में तेजी देखी गई, लेकिन कुछ देर बाद बिकवाली शुरू हो गई। सेंसेक्स 49.42 अंक की बढ़त के साथ 37,025.27 अंक पर खुला। नीतिगत दरों की घोषणा के बाद यह 37,104.79 अंक के दिवस के उच्चतम स्तर पर पहुँच गया। बाद में शुरू हुई बिकवाली से एक समय यह 36,610.57 अंक के निचले स्तर तक भी उतरा। कारोबार की समाप्ति पर यह गत दिवस की तुलना में 286.35 अंक यानी 0.77 प्रतिशत नीचे 36,690.50 अंक पर बंद हुआ, जो 8 मार्च के बाद का निचला स्तर है।

05-08-2019
पाक शेयर बाजार में आर्टिकल 370 ने मचाया कोहराम

नई दिल्ली। गृहमंत्री अमित शाह द्वारा जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल (अनुच्छेद) 370 को खत्म करने का संकल्प राज्यसभा में पेश किए जाने के बाद ही पाकिस्तानी शेयर बाजार में कोहराम मच गया। पाकिस्तानी शेयर बाजार का बेंचमार्क इंडेक्स 100 600 अंकों से ज्यादा टूट गया। बता दें कि गृहमंत्री ने जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 हटाने की सिफारिश की है। साथ ही जम्मू-कश्मीर के पुनर्गठन का भी विधेयक पेश हुआ जिसमें लद्दाख को जम्मू-कश्मीर से अलग कर इसे केंद्र शासित प्रदेश का दर्जा दिया गया है। सोमवार को पाकिस्तानी शेयर बाजार की सपाट शुरुआत हुई थी।

केएसई100 31666.41 के स्तर पर खुला था. लेकिन केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने संसद में आर्टिकल 370 के पहले दो उपबंधों में संशोधन का प्रस्ताव पेश किया और उस पर राष्ट्रपति ने तुरंत अपनी मुहर लगा दी। इस खबर से पाकिस्तानी शेयर बाजार में खलबली मच गई और कारोबार के दौरान केएसई100 687.45 अंक टूटकर 30,978.96 के स्तर पर स्तर पर आ गया, जो दिन का निचला स्तर है। ब्लूमबर्ग की रिपोर्ट के मुताबिक, पाकिस्तान का शेयर बाजार पिछले दो साल में दुनिया का सबसे खराब प्रदर्शन करने वाला रहा है। निवेशकों के करीब 6,88,000 करोड़ पाकिस्तानी रुपये डूब गए हैं।

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804