GLIBS
16-09-2020
छोटे-छोटे मामलों पर ट्वीट करने वाले भाजपा नेता आदिवासी की हत्या के मामले में मौन हैं : कांग्रेस  

रायपुर। प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता सुशील आनंद शुक्ला ने कहा है कि, भारतीय जनता पार्टी का आदिवासी विरोधी चेहरा एक बार फिर खुल कर सामने आया है। शुक्ला ने सवाल किया है कि मध्यप्रदेश पुलिस की ओर से कवर्धा के निर्दोष आदिवासी की हत्या पर राज्य के भाजपा नेता क्यों चुप है? कवर्धा में दो आदिवासियों पर मध्यप्रदेश पुलिस ने गोलियां चलाई, जिसमें एक कि मृत्यु हो गई, दूसरा बाल बाल बच गया। इन दोनों ही आदिवासियों को नक्सली होने का झूठा आरोप मढ़ने की कोशिश भी मध्यप्रदेश पुलिस ने की । छत्तीसगढ़ के वन मंत्री मो.अकबर ने इस मामले में दोषियों पर कड़ी कार्यवाही करने के लिए मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री को दो पत्र भी लिखा। इसके बाद भी मध्यप्रदेश सरकार ने दोषी पुलिस वालों के खिलाफ कोई कार्यवाही नहीं की। इस मामले में मप्र मानव अधिकार आयोग के भी संज्ञान लिए जाने की खबरें आ रही हैं।

इसके बावजूद मध्यप्रदेश की भाजपा सरकार की ओर से कोई  कार्यवाही नहीं करना इस बात का प्रमाण है कि, भाजपा सरकार दोषियों को बचाना चाह रही है। प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता ने छत्तीसगढ़ भाजपा से पूछा है कि, इस मामले में उसका क्या रुख है? राज्य के आदिवासियों को भाजपा शासन वाली पड़ोसी राज्य की पुलिस जबरिया गोलियों से मार डालती है, छत्तीसगढ़ भाजपा के वरिष्ठ नेता संदेहास्पद चुप्पी क्यों साधे हुए हैं? छोटे-छोटे मसलो में ट्वीट करने वाले रमन सिंह ,धर्मलाल कौशिक ,बृजमोहन अग्रवाल और अजय चंद्राकर जैसे नेताओं की बोलती अब क्यों बंद है? क्या राज्य के गरीब आदिवासी की जिंदगी का भाजपा नेताओं की निगाह में कोई महत्व नही है? छत्तीसगढ़ भाजपा के नेताओं के लिए दलीय प्रतिबद्धता राज्य के एक आदिवासी के जीवन से भी बढ़ कर हो गई है।

 

16-09-2020
भाजपा नेता गलत बयानी कर कोरोना का भय फैला रहे : सुशील आानंद शुक्ला

रायपुर। पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह के कोरोना मामलों पर दिए गए बयान को कांग्रेस ने गैर जिम्मेदाराना और लोगों में भय पैदा करने वाला बताया है। प्रदेश कांग्रेस के प्रवक्ता सुशील आनंद शुक्ला ने कहा है कि, पिछले कुछ दिनों से भारतीय जनता पार्टी के नेता झूठे बयानों से राज्य की जनता में कोरोना के भय को और बढ़ाने का काम कर रहे हैं। भाजपा के नेता प्रायोजित ढंग से प्रदेश में कोरोना मरीजों के लिए बेड नहीं होने और राज्य में ऑक्सीजन सिलेंडर नहीं होने का झूठा प्रोपगेंडा कर रहे हैं। दुर्भाग्यपूर्ण है कि, प्रदेश के तीन बार मुख्यमंत्री रहे रमन सिंह जैसे नेता भी इस प्रकार के गलत बयानों को जारी कर रहे हैं। भाजपा प्रवक्ता शर्मनाक ढंग से राज्य में उपलब्ध ऑक्सीजन क्षमता के एक चौथाई के आंकड़ों को बयानों में जारी कर लोगों को भयभीत करने में जुटे हैं। इसमें कोई दो राय नहीं की राज्य में कोरोना का संक्रमण बढ़ा है, लेकिन मरीजों की बढ़ती संख्या के आधार पर सरकार ने इलाज की व्यवस्था और संसाधनों को भी बढ़ाया है।

कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा है कि, राज्य के हर नागरिक को बेहतर से बेहतर इलाज देने के लिए राज्य सरकार प्रतिबद्ध है। घबराने की आवश्कता नहीं, थोड़ा भी लक्षण दिखे तो टेस्ट कराएं। नजदीकी अस्पताल में कोविड सेंटर में सम्पर्क करें, सबके इलाज की समुचित व्यवस्था है। रमन सिंह सहित भाजपा के तमाम नेता झूठे बनावटी आरोपों से प्रदेश की जनता में भय पैदा करने के बजाए सकारत्मक विपक्ष की भूमिका में आएं। रमन सिंह भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष हैं, राज्य में भाजपा के और दो राष्ट्रीय पदाधिकारी हैं। 9 सांसद, एक केंद्रीय मंत्री है। यह सब केंद्र से बोलकर छत्तीसगढ़ को कोरोना से लड़ने में मदद दिलवाने की पहल क्यों नहीं करते? मुख्यमंत्री ने केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री से एम्स में 150 आईसीयू बेड बढ़ाने की मांग की है। इस मांग का समर्थन करने का साहस ये क्यों नही दिखाते। रमन सिंह, प्रधानमंत्री मोदी और केंद्र से बोलकर कोरोना के इलाज को यूनिवर्सल हेल्थ स्कीम और स्मार्ट कार्ड में क्यो नही शामिल करवाते। केंद्र पूरे देश मे कोरोना का इलाज मुफ्त करवाने में मदद क्यों नहीं कर रही।

09-09-2020
करोड़ो का जमीन घोटला सामने आया,ईओडब्ल्यू को मामला सौंपने की चर्चा,भाजपा नेता पर लटकी तलवार

रायपुर। करोड़ों रुपए की जमीन के आवंटन में गड़बड़ी का मामला सामने आने की खबर है। हजारो वर्ग फिट जमीन कौड़ियों के मोल दे दी गई थी। भाजपा सरकार के कार्यकाल में हुआ आवंटन शुरुआत से ही चर्चा में रहा है। हालांकि इस मामले में कभी कोई जांच नहीं हुई लेकिन इस मामले में गड़बड़ी होने की चर्चा जमकर रही। अब जबकि भाजपा की सरकार जा चुकी है। कांग्रेस की सरकार है तो यह मामला फिर से गरमाने लगा है। और बताया जाता है कि सारे दस्तावेज निकाल लिए गए हैं। सारी गड़बड़ियां भी पकड़ा गई है। जिससे आवंटन करने वाले भाजपा नेता पर तलवार लटक गई है। सारी कागजी कार्रवाई करने के बाद मामला ईओडब्ल्यू को सौंपे जाने की चर्चा जोरों पर है। हालांकि इस मामले को दबाने के प्रयास पूरी ताकत से किए जा रहे हैं लेकिन लगता नहीं अब यह मामला दब पाएगा और इस मामले में अब कार्रवाई होना भी तय माना जा रहा है।

07-09-2020
मोदी सरकार ने काटे 25 लाख किसानों के नाम,नाक बचाने भाजपा नेता कर रहे राजनीति : मोहन मरकाम

रायपुर। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने पूर्व मुख्यमंत्री डॉ.रमन सिंह के आरोप पर पलटवार किया है। मरकाम ने केन्द्र सरकार पर हमला बोला है। उन्होंने कहा है कि मोदी सरकार छत्तीसगढ़ के किसानों के साथ एक और धोखाधड़ी कर रही है। 6 हजार रुपए प्रति वर्ष मिलने वाली किसान सम्मान निधि की पहली किस्त तो 27 लाख किसानों को दी गई, लेकिन अब इस सूची में सिर्फ़ 2 लाख किसान बचे हैं। उन्होंने कहा है कि, पंजीकरण के नाम पर केंद्र की भाजपा सरकार किसानों के नाम काट रही है। भाजपा के राज्य के नेता इस पर राजनीतिक रोटी सेंकने की कोशिश कर रहे हैं। मरकाम ने कहा है कि भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री डॉ.रमन सिंह को छत्तीसगढ़ की जनता को जवाब देना चाहिए कि मोदी सरकार छत्तीसगढ़ के 25 लाख किसानों को किसान सम्मान निधि की किस्त क्यों नहीं दे रही है? मरकाम ने कहा है कि,किसानों के साथ ठगी की आदी हो चुकी मोदी सरकार किसानों को बार-बार पंजीयन कराने पर मजबूर कर रही है। इसी में खामियां निकालकर किसानों की संख्या घटाई जा रही है। प्रधानमंत्री बनने से पहले नरेंद्र मोदी ने किसानों को आय दोगुनी करने का वादा किया था लेकिन अब पांच सौ रुपए महीने भी देने में चालबाजी कर रहे हैं। ठीक उसी तरह रमन सिंह ने प्रदेश के किसानों को बोनस और समर्थन मूल्य के नाम पर भ्रम जाल में फंसाया था। भाजपा का चरित्र में ही है धोखेबाजी करना। मोदी सरकार किसानों के साथ ही नहीं बल्कि देश के बेरोजगार युवाओं, मजदूरों,गृहणियों ,व्यापारियों, छात्रों के साथ भी दगाबाजी छल धोखा कर रही है।

 

31-08-2020
Video : कोरोना काल में प्रदेशवासियों के लिए भाजपा नेताओं का योगदान शून्य : शैलेश

रायपुर। प्रदेश कांग्रेस संचार विभाग के प्रमुख शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि, राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह, नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक, भाजपा के सारे सांसद और विधायक कोरोना संकट के समय छत्तीसगढ़ की जनता के साथ नहीं खड़े हुए। यह बेहद दुखद है कि, भाजपा नेताओं की वफादारी प्रधानमंत्री के प्रति तो दिखती है, लेकिन छत्तीसगढ़ और छत्तीसगढ़ की जनता के हितों और हकों के प्रति नहीं। 

शैलेश ने कहा है कि, राज्य की जनता भाजपा नेताओं के चाल और चरित्र दोनों को देख रही है और यह समझ भी रही है। शैलेश ने आरोप लगाए हैं कि, भाजपा नेताओं को छत्तीसगढ़ में कोरोना के नाम पर राजनीति करनी है, लेकिन छत्तीसगढ़ के लोगों की किसी तरह की सहायता करने या करवाने में उनकी कोई दिलचस्पी नहीं है।

27-08-2020
भाजपा नेताओं ने डॉ.गबेल को दी श्रद्धांजलि, सभी कोरोना वॉरियर्स का बीमा कराने की मांग

रायपुर। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश महामंत्री डॉ.सुभाऊ कश्यप, प्रदेश मंत्री किरण देव, पूर्व सांसद दिनेश कश्यप, पूर्व मंत्री द्वय महेश गागड़ा व केदार कश्यप ने बीजापुर में पदस्थ डॉ. योगेश गबेल के निधन पर शोक व्यक्त किया है। भाजपा नेताओं ने कहा है कि एक कर्त्तव्यपरायण चिकित्सक के तौर पर स्व.डॉ.गबेल की सेवाएं बस्तर संभाग व बीजापुर क्षेत्र के लिए सदैव स्मरणीय रहेंगीं। शोक संतप्त परिजनों को ढांढस बंधाते हुए बस्तर संभाग के सभी भाजपा पदाधिकारियों, जनप्रतिनिधियों व कार्यकर्ताओं ने भी स्व. डॉ. गबेल को अपनी भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित की है। भाजपा नेताओं ने कहा है कि रायगढ़ जिले के खरसिया निवासी स्व.डॉ.गबेल ने एक सेवाभावी चिकित्सक के तौर पर मिसाल पेश की है। हाल ही जून माह में ही उनका विवाह हुआ था और विवाह के तुरंत बाद स्व.डॉ.गबेल बीजापुर में अपने कार्य पर उपस्थित होकर कोरोना के खिलाफ जारी जंग में सक्रिय योगदान कर रहे थे।

कोरोना के उपचार के दौरान ही वे स्वयं कोरोना संक्रमित होने के बाद 14 दिनों के आइसोलेशन पीरियड में थे। इसी आइसोलेशन पीरियड में उनका निधन होना अत्यंत हृदयविदारक है। विदित हो कि, इससे पहले कांकेर में पदस्थ धमतरी निवासी डॉक्टर का भी ड्यूटी के दौरान निधन हुआ है। भाजपा नेताओं ने प्रदेश सरकार से कोरोना वॉरियर्स का सम्मान करते हुए दोनों दिवंगत डॉक्टर्स के परिजनों को एक-एक करोड़ रुपए की राशि प्रदान करने की मांग की है। भाजपा नेताओं ने कहा है कि प्रदेश सरकार सभी कोरोना वॉरियर्स का बीमा कराएं।

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804