GLIBS
21-01-2021
शुरुआती कारोबार में रुपया सात पैसे की बढ़त के साथ पांच माह के उच्चस्तर पर

रायपुर/मुंबई। घरेलू शेयर बाजारों में मजबूती के रुख तथा विदेशी कोषों के सतत प्रवाह से रुपया शुरुआती कारोबार में सात पैसे की बढ़त के साथ 72.98 प्रति डॉलर के अपने करीब पांच माह के उच्चस्तर पर पहुंच गया। अंतरबैंक विदेशी मुद्रा विनिमय बाजार में रुपया शुरुआती कारोबार में सात पैसे की बढ़त के साथ 72.98 प्रति डॉलर पर था। यह एक सितंबर, 2020 के बाद रुपए का उच्चतम स्तर है। रुपया 73.05 प्रति डॉलर पर बंद हुआ था। इस बीच, छह मुद्राओं की तुलना में डॉलर का रुख दर्शाने वाला डॉलर सूचकांक 0.18 प्रतिशत फिसलकर 90.31 पर आ गया।

18-01-2021
शेयर बाजारों की दिशा तय करेगा आगामी आम बजट, बाजार में अभी जारी रहेगा उतार-चढ़ाव

रायपुर/नई दिल्ली। इस सप्ताह कंपनियों के तिमाही नतीजों और वैश्विक घटनाक्रमों से  शेयर बाजारों की दिशा तय होनी है। विश्लेषणकर्ताओं का कहना है कि आने वाले आम बजट से पहले बाजार में उतार-चढ़ाव बना रहेगा। इसके अलावा निवेशकों की निगाह कोविड-19 से जुड़े घटनाक्रमों, विशेष रूप से देश में टीकाकरण अभियान पर रहेगी। मोतीलाल ओसवाल फाइनेंशियल सर्विसेज के खुदरा शोध प्रमुख सिद्धार्थ खेमका ने कहा, तिमाही नतीजों तथा कमजोर वैश्विक रुख से आगे चलकर बाजार में उतार-चढ़ाव रह सकता है। बजट से पहले उतार-चढ़ाव और बढ़ सकता है। बाजार विश्लेषकों का कहना है कि तिमाही नतीजों की वजह से बाजार में शेयर विशेष आधारित गतिविधियां देखने को मिल सकती हैं। इस सप्ताह बैंक ऑफ महाराष्ट्र, बजाज फाइनेंस, फेडरल बैंक, एशियन पेंट्स, बजाज ऑटो और रिलायंस इंडस्ट्रीज के तिमाही नतीजे आने हैं। इस बीच, देश के निजी क्षेत्र के सबसे बड़े एचडीएफसी बैंक का दिसंबर तिमाही का एकीकृत शुद्ध लाभ 14.36 प्रतिशत की बढ़ोतरी के साथ 8,760 करोड़ रुपए रहा है।

बैंक के तिमाही नतीजों की घोषणा शनिवार को हुई। जियोजीत फाइनेंशियल सर्विसेज के शोध प्रमुख विनोद नायर ने कहा, वैश्विक बाजारों के कमजोर रुख के बीच इस सप्ताह घरेलू बाजारों की निगाह बैंकिंग और वित्तीय क्षेत्र पर रहेगी। सप्ताह के दौरान कई बड़े बैंकों और गैर-बैंकिंग वित्तीय कंपनियों (एनबीएफसी) के तिमाही नतीजे आने हैं। आम बजट कैसा होगा, इसको लेकर भी आगे बाजार में उतार-चढ़ाव रह सकता है। कारोबारियों ने कहा कि देश में टीकाकरण शुरू होने के बाद शेयर मूल्यों में काफी बदलाव देखने को मिल सकता है। चॉइस ब्रोकिंग के शोध विश्लेषक सतीश कुमार ने कहा, निवेशकों की निगाह तिमाही नतीजों तथा देश में टीकाकरण अभियान पर रहेगी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को दुनिया के सबसे बड़े टीकाकरण अभियान की शुरुआत की। कोविड-19 से बचाव का टीका शुरुआत में स्वास्थ्य और साफ-सफाई से जुड़े कर्मियों को लगाया जाएगा। देश में कोरोना वायरस महामारी से अबतक 1,52,093 लोगों की जान गई है। इसके अलावा ब्रेंट कच्चे तेल के रुख, रुपये के उतार-चढ़ाव और विदेशी संस्थागत निवेशकों के रुख से भी बाजार की दिशा तय होगी। बीते सप्ताह बीएसई का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स 252.16 अंक या 0.51 प्रतिशत के लाभ में रहा। वहीं नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 86.45 अंक या 0.60 प्रतिशत चढ़ गया।

09-03-2020
एक डॉलर की कीमत 74 रुपये के पार, 52 हफ्ते में सबसे निचले स्तर पर पहुंचा रुपया

नई दिल्ली। अर्थव्यवस्था के मोर्च से एक बुरी खबर सामने आई है। खबरों के अनुसार रुपया 52 हफ्तों के सबसे निचले स्तर पर पहुंच गया है। एक डॉलर के मुकाबले रूपया 74.16 रुपये पर पहुंच गया है। इससे पहले यह कीमत 73.7825 रुपये थी। बता दें कि इस वक्त भारतीय रुपये की स्थिति एशिया में सिर्फ पाकिस्तान और दक्षिण कोरिया से बेहतर है। 2019 से अब तक रुपये में 2 प्रतिशत से अधिक की गिरावट हुई है। पिछले हफ्ते के आखिरी कारोबारी दिन शुक्रवार को डॉलर के मुकाबले रुपया 38 पैसे की कमजोरी के साथ 73.72 रुपये के स्तर पर बंद हुआ था। सोमवार को डॉलर के मुकाबले रुपया 31 पैसे की कमजोरी के साथ 74.03 रुपये के स्तर पर खुला। गौरतलब है कि 2018 में एक डॉलर के मुकाबले रुपया 74 रुपये से अधिक था। जानकारों का मानना है कि इसकी वजह गिरती अर्थव्यवस्था और बढ़ती मुद्रास्फीति है।

बाजार से जुड़े सूत्रों ने बताया कि डॉलर के मजबूत होने से बाजार में दबाव बढ़ने की संभावना है। स्टॉक मार्केट भी आज भारी गिरावट के साथ खुला है और शुरुआती कारोबार में भी ऐतिहासिक गिरावट देखी जा रही है। सेसेंक्स में 21 सौ से ज्यादा अंकों की गिरावट दर्ज की गई है, निफ्टी में भी 550 अंकों से ज्यादा की गिरावट है। बड़ी वजह कोरोना बताया जा रहा है क्योंकि आज चीन और जापान के शेयर बाज़ारों में भी भारी गिरावट दर्ज की गई है। यह पांच साल में सबसे बड़ी गिरावट बताई जा रही है। शेयर बाजार में सोमवार को शुरुआती कारोबार के दौरान भारी गिरावट के चलते निवेशकों के करीब पांच लाख करोड़ रुपये डूब गए।

25-02-2020
शेयर बाजार में गिरावट जारी, सेंसेक्स 82 अंक टूटा, निफ्टी नीचे फिसला

मुंबई। शेयर बाजारों में मंगलवार को गिरावट का आलम रहा। बंबई शेयर बाजार का सेंसेक्स 82 अंक टूट गया। बंबई शेयर बाजार का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स दिन में कारोबार के दौरान 300 अंक तक ऊपर-नीचे होने के बाद अंत में 82.03 अंक या 0.20 प्रतिशत के नुकसान से 40,281.20 अंक पर बंद हुआ। इसी तरह नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 31.50 अंक या 0.27 प्रतिशत के नुकसान से 11,797.90 अंक पर आ गया।

शेयर बाजारों के अस्थायी आंकड़ों के अनुसार विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों ने सोमवार को शुद्ध रूप से 1,160.90 करोड़ रुपये के शेयर बेचे। अन्य एशियाई बाजारों में चीन का शंघाई कम्पोजिट, जापान का निक्की नुकसान में रहे। वहीं दक्षिण कोरिया का कॉस्पी और हांगकांग का हैंगसेंग लाभ में रहे। शुरुआती कारोबार में यूरोपीय बाजार नुकसान में चल रहे थे। इस बीच, ब्रेंट कच्चा तेल वायदा 0.16 प्रतिशत के नुकसान से 55.68 डॉलर प्रति बैरल पर आ गया। अंतर बैंक विदेशी विनिमय बाजार में दिन में कारोबार के दौरान डॉलर के मुकाबले रुपया नौ पैसे की बढ़त के साथ 71.86 रुपये प्रति डॉलर पर था। निवेशक कोरोना वायरस के वैश्विक अर्थव्यवस्था पर पड़ने वाले प्रभावों को लेकर चिंतित हैं, जिससे बाजार में उतार-चढ़ाव बना हुआ है। 

 

04-02-2020
शेयर बाजार में रौनक, बढ़त के साथ बंद हुआ बाजार, सेंसेक्स और निफ्टी रही तेजी

मुंबई। शेयर बाजारों में मंगलवार को तेजी दर्ज की गई और निवेशकों में हर्ष का माहौल रहा। प्रमुख सूचकांक सेंसेक्स 917.07 अंकों की तेजी के साथ 40,789.38 पर और निफ्टी 271.75 अंकों की तेजी के साथ 11,979.65 पर बंद हुआ।
बंबई स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) का 30 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक सेंसेक्स सुबह 306.43 अंकों की तेजी के साथ 40,178.74 पर खुला और 917.07 अंकों या 2.30 फीसदी तेजी के साथ 40,789.38 पर बंद हुआ। दिन भर के कारोबार में सेंसेक्स ने 40,818.94 के ऊपरी स्तर और 40,117.46 के निचले स्तर को छुआ। सेंसेक्स के 30 में से 28 शेयरों में तेजी रही। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) का 50 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक निफ्टी 78.35 अंकों की तेजी के साथ 11,786.25 पर खुला और 271.75 अंकों या 2.32 फीसदी तेजी के साथ 11,979.65 पर बंद हुआ। दिन भर के कारोबार में निफ्टी ने 11,986.15 के ऊपरी स्तर और के 11,783.40 निचले स्तर को छुआ। बीएसई के सभी 19 सेक्टरों में तेजी रही। उपभोक्ता टिकाऊ वस्तुएं (3.52 फीसदी), धातु (3.29 फीसदी), तेल एवं गैस (3.07 फीसदी), ऊर्जा (3.02 फीसदी) व रियल्टी (2.73 फीसदी) में सर्वाधिक तेजी रही। बीएसई में कारोबार का रुझान सकारात्मक रहा। कुल 1618 शेयरों में तेजी और 885 में गिरावट रही, जबकि 181 शेयरों के भाव में कोई बदलाव नहीं हुआ। 

 

24-12-2019
शेयर बाजार में मायूसी, सेंसेक्स 181 अंक फिसला, निफ्टी 48.20 अंक टूटा

मुंबई। शेयर बाजारों में मंगलवार को भी गिरावट दर्ज की गई। अंतरराष्ट्रीय मुद्राकोष (आईएमएफ) की भारतीय अर्थव्यवस्था पर की गई टिप्पणी का असर घरेलू शेयर बाजारों पर पड़ा। आईएमएफ ने कहा है कि भारतीय अर्थव्यवस्था काफी नरम चल रही है। उतार-चढ़ाव भरे कारोबार में 30 शेयरों वाला बीएसई सेंसेक्स 181.40 अंक यानी 0.44 प्रतिशत टूटकर 41,461.26 अंक पर बंद हुआ। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 48.20 अंक यानी 0.39 प्रतिशत की गिरावट के साथ 12,214.55 अंक पर आ गया। कारोबार के अंतिम चार घंटे में रिलायंस इंडज्ञस्ट्रीज और एचडीएफसी बैंक तथा एचडीएफसीजैसे प्रमुख शेयरों में बिकवाली से बाजार नीचे आया। विश्लेषकों के अनुसार साल के समाप्त होने के साथ घरेलू तथा वैश्विक बाजारों में निवेशकों की भागीदारी कम होने तथा बृहस्पतिवार को समाप्त हो रहे वायदा एवं विकल्प खंड सौदों को देखते हुए कारोबारी और निवेशक थोड़े सतर्क हैं। बाजार बुधवार को क्रिसमस के मौके पर बंद रहेगा। 

 

30-10-2018
Share Market: सेंसेक्स ने 34,038 और निफ्टी ने 10,237 से की शुरुआत 

नई दिल्ली। घरेलू शेयर बाजारों में मंगलवार को शुरुआती कारोबार में ही उतार-चढ़ाव देखने को मिला।  बाजार मजबूत खुले।  लेकिन, मुनाफावसूली के दबाव में कुछ ही देर में लाल निशान में आ गए।  करीब 9.50 बजे बीएसई का सेंसेक्स 28 अंक टूटकर 34038 अंक पर कारोबार कर रहा था।  वहीं, एनएसई का निफ्टी 13 अंक फिसलकर 10237 अंक पर था।  हालांकि, 10:15 बजे तक सेंसेक्स फिर से 60 अंक चढ़ चुका था।  निफ्टी50 में भी 17 अंक की तेजी थी।

क्या हुआ  ऐसा:

सोमवार को अमेरिकी बाजार काफी उतार-चढ़ाव के बाद गिरकर बंद हुए।  मंगलवार को इसका असर एशियाई बाजारों पर देखने को मिला।  सोमवार को सेंसेक्स 34,067.40 अंक पर बंद हुआ था।  निवेशकों की लिवाली के झोंके में इसने 34,097.35 अंक का उच्चतम स्तर छुआ था।  कारोबार के अंत में यह 718 अंक चढ़कर बंद हुआ था। 

कैसा रहा सुबह का हाल:

सुबह के कारोबार में सेंसेक्स के 30 शेयरों में 17 नुकसान में थे।  जबकि 13 में बढ़त थी।  सबसे ज्यादा फायदे में यस बैंक था।  यह शेयर 4 फीसदी की तेजी के साथ कारोबार कर रहा था।  इसके बाद एसबीआई, महिंद्रा एंड महिंद्रा और टाटा मोटर्स का नंबर था।  इसके उलट इंडसइंड बैंक और रिलायंस इंडस्ट्रीज पर बिकवाली की सबसे ज्यादा मार पड़ी। 

पीएसयू बैंक इंडेक्स में दिखी तेजी:

निफ्टी के तमाम सूचकांकों में पीएसयूस बैंक इंडेक्स में सबसे ज्यादा तेजी आई।  निफ्टी रियल्टी, निफ्टी आटो और निफ्टी बैंक में भी बढ़त दर्ज की गई।  इसके उलट निफ्टी फार्मा और निफ्टी मेटल सबसे ज्यादा नुकसान में रहे।दिग्गज कंपनियों के सितंबर तिमाही के नतीजे बेहतर रहने से बाजार को थोड़ी मजबूती मिली है।  इसके अलावा 10 साल के बेंचमार्क बॉन्ड की यील्ड घटने से भी बाजार को सहारा मिला।  कच्चे तेल की कीमतों में नरमी ने भी बाजार की कारोबारी धारणा को बल दिया।

 

25-10-2018
Share Market: सेंसेक्स 287 तो निफ्टी ने 84 अंकों की गिरावट के साथ शुरू किया कारोबार

नई दिल्ली।  घरेलू शेयर बाजारों ने गुरुवार को निराशाजनक शुरूआत की।  प्रमुख सूचकांक बड़ी गिरावट के साथ खुले।  अमेरिकी बाजारों में बुधवार को आई बड़ी कमजोरी ने भारत समेत तमाम एशियाई बाजारों पर दबाव बनाया।  रुपया डॉलर के मुकाबले 19 पैसे की गिरावट के साथ 73.34 के स्तर पर खुला।  सुबह 9.30 बजे, बीएसई सेंसेक्स 287 अंक या 0.84 फीसदी की गिरावट के साथ 33,747 के स्तर पर कारोबार कर रहा था।  वहीं, निफ्टी 50 इंडेक्स भी 84 अंक या 0.82 फीसदी की कमजोरी के साथ 10,141 के स्तर पर रिकॉर्ड किया गया।  बीएसई मिडकैप और स्मॉलकैप इंडेक्स ने 1 फीसदी तक की गिरावट दर्ज की।  बीएसई पर सभी सेक्टर्स के सूचकांक लाल निशान में कारोबार करते हुए नजर आए।  टेलिकॉम, रियल्टी, कैपिटल गुड्स, आईटी और फाइनेंस कंपनियों के शेयरों पर सबसे ज्यादा मार पड़ी।

अंतरराष्ट्रीय बाजार में आई गिरावट:

आज डेरिवेटिव सौदों की एक्सपाइरी भी है।  ऐसे में कारोबारी बाजार में सतर्कता बरत रहे हैं।  डॉलर के मुकाबले रुपए में थोड़ी कमजोरी देखने को मिली।  दुनिया भर के शेयर बाजारों में जारी गिरावट ने कारोबारियों की चिंता बढ़ा दी है। टेक्नोलॉजी शेयरों की पिटाई से बुधवार को अमेरिकी शेयर बाजार में बड़ी गिरावट देखने को मिली।  वैश्विक बाजार में कच्चे तेल की कीमतों में 1 फीसदी तक की कमी आई है।

एसएंडपी 500 इंडेक्स ने 3.09 फीसदी का गोता लगाया।  नेस्डेक कंपोडिट ने 4.43 फीसदी की कमजोरी के साथ कारोबार का अंत किया।

इन शेयर्स में दर्ज की गई गिरावट:

सेंसेक्स पर भारती एयरटेल के शेयर 4.15 फीसदी लुढ़क कर 303.60 रुपये पर आ गए।  इंडसइंड बैंक के शेयर 2.52 फीसदी की कमजोरी के साथ 1,481.90 रुपये के हो गए।  इंफोसिस, वेदांता और रिलायंस इंडस्ट्रीज के शेयर क्रमश: 1.71 फीसदी, 1.65 फीसदी और 1.54 फीसदी टूटे।

बिकवाली वाले शेयर्स:

दूसरी तरफ, विप्रो के शेयर 1.62 फीसदी चढ़कर 314.15 रुपये के हो गए।  महिंद्रा एंड महिंद्रा के शेयर 0.93 फीसदी की बढ़त के साथ 739.50 रुपये के हो गए।  टीसीएस, एनटीपीसी और यस बैंक के शेयर क्रमश: 0.78 फीसदी, 0.34 फीसदी और 0.10 फीसदी चढ़े।

विप्रो ने सिंतबर तिमाही में 1,889 करोड़ रुपये का नेट प्रॉफिट हासिल किया है, जो पिछली सितंबर तिमाही की तुलना में 13.81 फीसदी कम है।  एक सर्वे के अनुसार कंपनी को 1,962 करोड़ रुपये के नेट प्रॉफिट की उम्मीद की जा रही थी।  भारती एटरटेल आज अपने दूसरी तिमाही के नतीजों का ऐलान करने वाली है।  हैटसन एग्रो (19.81 फीसदी नीचे), मनकसिया एल्युमिनियम (16.67 फीसदी नीचे), ब्राइट ब्रदर्शन (14.95 फीसदी नीचे) और वेलान होटल्स (12.43 फीसदी नीचे) के शेयरों में खासी गिरावट दर्ज की गई।

18-09-2018
Share Market: सेंसेक्स 109 अंक चढ़कर 37,694 तो निफ्टी 13 अंकों की बढ़त के साथ 11,390 पर

नई दिल्ली। मंगलवार को घरेलू शेयर बाजारों ने मजबूत आगाज किया, लेकिन, थोड़ी देर बाद ही प्रमुख सूचकांक लाल निशान में आ गए। ट्रेड वॉर का असर बाजार पर देखने को मिला। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने चीन से 200 अरब डॉलर के आयात पर शुल्क लगा दिया है। बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) का इंडेक्स सेंसेक्स 109 अंक चढ़कर 37694 के स्तर पर और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) का इंडेक्स निफ्टी 13 अंक की बढ़त के साथ 11390 के स्तर पर कारोबार कर रहा है।

सबसे ज्यादा तेजी हिंदुस्तान यूनिलिवर और टाटा स्टील के शेयर्स में हुई है। हिंदुस्तान यूनिलिवर 1.71 फीसद की बढ़त के साथ 1628.20 के स्तर पर और टाटा स्टील 1.10 फीसद की तेजी के साथ 622.45 के स्तर पर कारोबार कर रहा है। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज पर मिडकैप 0.34 फीसद और स्मॉलकैप में 0.53 फीसद की बढ़त देखने को मिल रही है।

वैश्विक बाजार का हाल :

अंतरराष्ट्रीय बाजार में मिले जुले संकेत देखने को मिल रहे हैं। जापान का निक्केई 1.63 फीसद की बढ़त के साथ 23470 के स्तर पर, चीन का शांघाई 0.12 फीसद की गिरावट के साथ 2648 के स्तर पर, हैंगसैंग 0.73 फीसद की तेजी के साथ 26736 के स्तर पर और ताइवान का कोस्पी 0.20 फीसद की बढ़त के साथ 2307 के स्तर पर कारोबार कर रहा है। वहीं, बीते सत्र में अमेरिकी शेयर बाजार भी गिरावट के साथ कारोबार कर बंद हुआ है। प्रमुख सूचकांक डाओ जोंस 0.35 फीसद की गिरावट के साथ 26062 के स्तर पर, एसएंडपी500 0.56 फीसद की कमजोरी के साथ 2888 के स्तर पर और नैस्डैक 1.43 फीसद की गिरावट के साथ 7895 के स्तर पर कारोबार कर बंद हुआ है।

रियल्टी शेयर्स में खरीदारी :

सेक्टोरल इंडेक्स में बैंक, आॅटो, आईटी और पीएसयू शेयर्स को छोड़ सभी सूचकांक हरे निशान में कारोबार कर रहे हैं। एफएमसीजी (0.48 फीसद), मेटल (0.45 फीसद), फार्मा (0.70 फीसद), प्राइवेट बैंक (0.03 फीसद) और रियल्टी (0.72 फीसद) की बढ़त देखने को मिल रही है।

हिंदुस्तान यूनिलिवर टॉप गेनर :

निफ्टी में शुमार दिग्गज शेयर्स में 32 हरे निशान, 17 गिरावट और एक बिना किसी परिवर्तन के कारोबार कर रहा है। सबसे ज्यादा तेजी हिंदुस्तान यूनिलिवर, येस बैंक, टाटा स्टील, डॉ रेड्डी और सनफार्मा के शेयर्स में है। वहीं, गिरावट विप्रो, टेक महिंद्रा, पावरग्रिड, इंफ्राटेल और टाटा मोटर्स के शेयर्स में भी देखी गई।

06-09-2018
Share Market: सेंसेक्स 38,138 तो निफ्टी ने 11,503 से की शुरुआत
मुनाफा वसूली शुरू होते ही शुरू हुई गिरावट
Advertise, Call Now - +91 76111 07804