GLIBS
18-11-2020
Breaking:  21 दिसंबर से छत्तीसगढ़ विधानसभा का शीतकालीन सत्र, अधिसूचना जारी  

रायपुर। छत्तीसगढ़ की पांचवीं विधानसभा का नौवां सत्र सोमवार 21 दिसंबर से प्रारंभ होगा। सत्र के संबंध में अधिसूचना जारी कर दी गई है। छत्तीसगढ़ विधानसभा के प्रमुख सचिव चंद्रशेखर गंगराड़े ने बताया कि सत्र 21 दिसंबर से शुरू होकर बुधवार 30 दिसंबर तक चलेगा। सत्र में सात बैठकें होगी। सत्र में वित्तीय और शासकीय कार्य संपादित किया जाना संभावित है।

16-11-2020
सीएम भूपेश बघेल दोपहर 3 बजे होंगे दिल्ली रवाना

रायपुर। सीएम भूपेश बघेल सोमवार को दिल्ली के दौरे पर दोपहर 3 बजे रवाना होंगे। यहां सीएम बघेल पार्टी के वरिष्ठ नेताओं से मुलाक़ात करेंगे। सीएम भूपेश दिल्ली में वरिष्ठ नेताओं को मरवाही में शानदार जीत की जानकारी देंगे। वहीं बिहार विधायक दल की बैठक की भी जानकारी देंगे। मरवाही विधानसभा उप-चुनाव में कांग्रेस की जीत के साथ अब छत्तीसगढ़ विधानसभा में कांग्रेस के विधायकों की संख्या 70 हो गई है।

01-11-2020
छत्तीसगढ़ विधानसभा के सचिव होंगे दिनेश शर्मा, अपर सचिव राममोहन अग्रवाल सेवानिवृत्त

रायपुर। छत्तीसगढ़ विधानसभा सचिवालय के अपर सचिव पद से राममोहन अग्रवाल 31 अक्टूबर को सेवानिवृत्त हुए। उनकी सेवा निवृत्ति पर विधानसभा सचिवालय परिवार ने सम्मान कार्यक्रम रखा। उन्हें भावभीनी विदाई दी गई। इधर छत्तीसगढ़ विधानसभा के सचिव की जिम्मेदारी दिनेश शर्मा को दी गई। विधानसभा अध्यक्ष डॉ. चरणदास महंत ने अपर सचिव दिनेश शर्मा को सचिव प्रमोट करने का निर्देश दिया है। छत्तीसगढ़ राज्य बनने के बाद पहली बार छत्तीसगढ़ के मूल निवासी को विधानसभा सचिव की जिम्मेदारी मिली है। राममोहन ने 1984 से अपनी सेवा प्रारंभ की। विधानसभा सचिवालय में वर्ष 2000 से पदस्थापना के बाद अवर सचिव, उप सचिव पद पर कार्य करते हुए वे अपर सचिव (लेखा) के पद से सेवानिवृत्त हुए। सम्मान कार्यक्रम में विधानसभा के प्रमुख सचिव चंद्रशेखर गंगराड़े ने उन्हें शाल, श्रीफल और स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया।  अग्रवाल के सुखी, उज्जवल और समृद्धि शाली भविष्य की कामना की। राममोहन अग्रवाल ने भी सचिवालयीन सेवा में सहयोग के लिए सचिवालय के समस्त अधिकारियों व कर्मचारियों के प्रति आभार व्यक्त किया।
बता दें कि विधानसभा के नए सचिव दिनेश शर्मा ने विधानसभा में अवर सचिव, उपसचिव और अपर सचिव के पद पर कार्य किया। उनकी कार्यकुशलता ने सभी को प्रभावित किया। दिनेश शर्मा की नियुक्ति अविभाजित मध्यप्रदेश के समय वर्ष 1987 में विधानसभा में सीधी भर्ती से हुई थी। वे द्वितीय श्रेणी राजपत्रित अधिकारी के रूप में नियुक्त हुए थे। वर्ष 2000 में राज्य निर्माण के बाद उनकी सेवाएं छतीसगढ़ विधानसभा में स्थानातरित हो गई।

27-10-2020
छत्तीसगढ़ कृषि उपज मंडी (संशोधन) विधेयक पारित,विधानसभा की कार्यवाही अनिश्चित काल के लिए स्थगित

रायपुर। दो दिवसीय छत्तीसगढ़ विधानसभा के विशेष सत्र के पहले दिन मंगलवार को छत्तीसगढ़ कृषि उपज मंडी (संशोधन) विधेयक-2020 चर्चा के बाद ध्वनिमत से पारित कर दिया गया।  इसी के साथ सदन की कार्यवाही अनिश्चित काल के लिए स्थगित हो गई है। कृषि मंत्री रविन्द्र चौबे ने इस विधेयक पर सदन में हुई चर्चा का जवाब देते हुए कहा कि इस संशोधन विधेयक का कोई भी प्रावधान केन्द्र के कानून का उल्लंघन नहीं करता है। हम केन्द्रीय कानूनों का अतिक्रमण नहीं कर रहे हैं। इस संशोधन विधेयक के माध्यम से छत्तीसगढ़ के किसानों के हितों और अधिकारों की रक्षा हो सकेगी। कृषि मंत्री ने कहा कि छत्तीसगढ़ की आर्थिक और सामाजिक व्यवस्था कृषि पर आधारित है। उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार के नए कानूनों से कृषि व्यवस्था में पूंजीपतियों का नियंत्रण बढ़ने के साथ ही महंगाई बढ़ने,समर्थन मूल्य में धान खरीदी और सार्वभौम पीडीएस प्रणाली के प्रभावित होने की आशंका है। छत्तीसगढ़ कृषि उपज मंडी (संशोधन) विधेयक से किसानों गरीबों, मजदूरों और उपभोक्ताओं के हितों की रक्षा की जा सकेगी। कृषि मंत्री ने चर्चा के दौरान इस संशोधन विधेयक के उद्देश्य और कारणों पर प्रकाश डालते हुए कहा कि प्रदेश में 80 प्रतिशत लघु और सीमांत कृषक हैं। लघु एवं सीमांत कृषकों की कृषि उपज भंडारण तथा मोल-भाव की क्षमता नहीं होने से, बाजार मूल्य के उतार-चढ़ाव और भुगतान की जोखिम को दृष्टिगत रखते हुए, उनकी उपज की गुणवत्ता के आधार पर सही कीमत, सही तौल तथा समय पर भुगतान सुनिश्चित कराने के लिए डीम्ड मंडी और इलेक्ट्रॉनिक ट्रेडिंग प्लेटफार्म की स्थापना किया जाना कृषक हित में आवश्यक हो गया है।

 

09-09-2020
धरमलाल कौशिक ने कहा, प्रदर्शनकारी व्याख्याताओं पर एफआईआर दर्ज होना निंदनीय

रायपुर। छत्तीसगढ़ विधानसभा के नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने चयनित व्याख्याताओं पर दर्ज किये गए अपराध पर कड़ी प्रतिक्रिया व्यक्त की है। नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि चयनित व्याख्याताओं की मांग जायज़ है। पूर्व मुख्यमंत्री डॉ.रमन सिंह ने इस सम्बंध में पत्र लिखकर चयनित व्याख्याताओं के हित में शीघ्र कदम उठाए जाने की मांग की थी। विपक्ष की ओर से भर्ती प्रक्रिया में देरी के विषय मे विधानसभा में भी मुद्दा उठाया गया था। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के द्वारा अधिकारियों के समक्ष 1 सप्ताह के भीतर प्रतिवेदन प्रस्तुत करने की बात कही थी। लेकिन ने आंदोलनकारियों से चर्चा की वजह उनपर एफआईआर दर्ज कर दी ,जो निंदनीय कृत्य है। कौशिक ने कहा कि सरकार अगर सही समय पर भर्ती प्रक्रिया को पूर्ण कर लेती तो युवाओं को इस प्रकार प्रदर्शन न करना पड़ता। नेता प्रतिपक्ष ने सवाल उठाते हुए कहा कि अगर प्रदर्शनकारियों पर भीड़ जुटाने की वजह से मामला दर्ज किया गया तो सीबीआई दफ्तर के बाहर प्रदर्शन करने वाले एवं कई अन्य मौकों पर लगातार भीड़ जुटाने वाले कांग्रेस के नेताओं, कार्यकर्ताओ पर भी मामला दर्ज होना चाहिए। उन्होंने छत्तीसगढ़ की कांग्रेस सरकार पर आरोप लगाया  कि कांग्रेस के नेता प्रदर्शन करते है तो उन्हें सिर्फ इसलिए छूट दी जा रही है क्योंकि प्रदेश में उनकी पार्टी सत्ता पर काबिज है और अन्य लोगों के साथ दोहरे मापदंड अपनाकर अलोकतांत्रिक लगातार कदम उठा रही है,जो निंदनीय है।

 

31-08-2020
डॉ.चरणदास महंत ने कहा-प्रणब मुखर्जी का जाना हम सबके लिए राष्ट्रीय क्षति

रायपुर। छत्तीसगढ़ विधानसभा अध्यक्ष डॉ.चरणदास महंत ने भारत के पूर्व राष्ट्रपति व कांग्रेस के वरिष्ठ नेता प्रणब मुखर्जी के निधन पर शोक व्यक्त किया है। डॉ.महंत ने कहा है कि वरिष्ठ कांग्रेस नेता, पूर्व राष्ट्रपति,भारत रत्न प्रणब मुखर्जी के निधन का समाचार दुखद है। उनके निधन से मन बेहद दुखी है,उनका जाना हम सबके लिए राष्ट्रीय क्षति है। वे पश्चिम बंगाल के प्रतिष्ठित राजनीतिक व्यक्तित्व थे। राजनीति में समाज सेवा के रास्ते उन्होंने अपनी राष्ट्रीय स्तर पर अलग पहचान बनाई। केंद्रीय मंत्री से लेकर राष्ट्रपति होने तक गौरव उन्हें प्राप्त था। ईश्वर उनकी आत्मा को शांति दें। दुख की इस घड़ी में हम सब उनके परिजनों के साथ हैं।

 

29-08-2020
छत्तीसगढ़ विधानसभा के नए भवन का हुआ भूमिपूजन, नई दिल्ली से जुड़े सोनिया, राहुल और वोरा 

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, विधानसभा अध्यक्ष डॉ. चरणदास महंत ने शनिवार को नवा रायपुर में छत्तीसगढ़ विधानसभा के नए भवन के निर्माण के लिए बटन दबाकर शिलापट का अनावरण किया। भूमिपूजन कार्यक्रम में नई दिल्ली से  सांसद सोनिया गांधी, सांसद राहुल गांधी और मोतीलाल वोरा भी जुड़े। भूमिपूजन कार्यक्रम में नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक, लोक निर्माण मंत्री ताम्रध्वज साहू, संसदीय कार्य मंत्री रविन्द्र चौबे, विधानसभा के उपाध्यक्ष मनोज मंडावी सहित मंत्रिमंडल के सदस्य, संसदीय सचिव, विधायक सहित अनेक जनप्रतिनिधि और वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

28-08-2020
डॉ. महंत और भूपेश बघेल ने विधायन और विधानसभा पर केन्द्रित डॉक्यूमेंट्री का किया विमोचन

रायपुर। विधानसभा अध्यक्ष डॉ. चरणदास महंत और मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने शुक्रवार को छत्तीसगढ़ विधानसभा की शोध पत्रिका ‘विधायन‘ के नवीनतम अंक का विमोचन किया। इस दौरान उन्होंने विधानसभा पर केन्द्रित वृत्तचित्र (Documentary Film) का भी विमोचन कर,इसकी डीवीडी जारी की।  नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक, राजस्व मंत्री जयसिंह अग्रवाल और विधानसभा के प्रमुख सचिव चंद्रशेखर गंगराड़े भी उपस्थित थे।  उल्लेखनीय है कि, अविभाजित मध्यप्रदेश में शोध पत्रिका ‘विधायनी‘ का प्रकाशन होता था। छत्तीसगढ़ राज्य गठन के बाद छत्तीसगढ़ विधानसभा में ‘विधायन‘ नाम से पत्रिका का प्रकाशन वर्ष 2001 से प्रारंभ हुआ। विगत 10 वर्षों से इस पत्रिका का प्रकाशन स्थगित था। पिछले 1 वर्ष से विधानसभा अध्यक्ष डॉ. चरणदास महंत की रुचि, निर्देश और मार्गदर्शन पर अब नियमित रूप से ‘विधायन‘ के प्रकाशन का कार्य प्रारंभ किया गया है।

‘विधायन‘ के जिस अंक का आज विमोचन किया गया है। वह ‘पर्यावरण‘ पर केंद्रित है। वर्तमान समय में विश्वव्यापी महामारी कोरोना ने पूरे विश्व को झकझोर दिया है। ये संकट प्रकृति और पर्यावरण के साथ मानव की ओर से लंबे समय तक की जाने वाली लापरवाही और छेड़छाड़ का परिणाम है। इसेे ध्यान में रखते हुए विधानसभा अध्यक्ष डॉ. महंत ने ‘विधायन‘ का वर्तमान अंक ‘पर्यावरण‘ पर केंद्रित करने के लिए निर्देशित किया था।  इस पत्रिका के नियमित प्रकाशन के लिए संपादक मंडल का गठन किया गया है। इस अंक में पर्यावरण प्रदूषण, ओजोन परत और ग्रीनहाउस जैसे विषयों पर देश भर के वरिष्ठ विशेषज्ञों के उच्च स्तरीय लेख प्रकाशित किए गए हैं। इस पत्रिका में प्रकाशित होने वाले लेख संदर्भ और शोध करने वाले छात्रों के लिए लाभदायक होंगे।

28-08-2020
मानसून सत्र का अंतिम दिन : सीएम बघेल पेश करेंगे शासकीय संकल्प, पक्ष-विपक्ष के विधायकों ने लगाएं 23 ध्यानाकर्षण

रायपुर। चार दिवसीय छत्तीसगढ़ विधानसभा के मानसून सत्र का शुक्रवार को अंतिम दिन है। आज कई अहम मुद्दों जैसे अवैध रेत खनन, अवैध शराब बिक्री सहित अनेक मुद्दों पर आरोप-प्रत्यारोप हो सकते हैं। सत्ता पक्ष और विपक्ष के विधायकों ने आज आखिरी दिन 23 ध्यानाकर्षण लगाए हैं। सत्र के अंतिम दिन 11 विधेयकों को चर्चा के बाद पारित किया जा सकता है। कृषि, महिला बाल विकास विभाग और राजस्व विभाग से जुड़े मुद्दों पर प्रश्नकाल में जवाब मांगा गया है। इसके साथ ही भूपेश बघेल सदन में शासकीय संकल्प पेश करेंगे। केंद्र सरकार से छत्तीसगढ़ी को आठवीं अनुसूची में शामिल करने की मांग करेंगे। इस संबंध में सीएम बघेल प्रधानमंत्री को पहले ही पत्र लिख चुके हैं।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804