GLIBS
25-11-2020
 वेबसाइट दो माह से बंद,कोरोना मरीजों को अस्पताल और बेड की नहीं मिल रही जानकारी : कौशिक

रायपुर। भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ  नेता धरमलाल कौशिक ने प्रदेश में कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों के मद्देनजर राज्य सरकार की तैयारियों पर सवाल उठाया है। उन्होंने आरोप लगाया है कि उपलब्ध चिकित्सा सेवा की पर्याप्त और ताजा जानकारी कोरोना संक्रमितों को देने में प्रदेश सरकार लापरवाही का परिचय दे रही है। आज हालात ये हैं कि हॉस्पिटल में बेड की उपलब्धता की जानकारी देने वाली वेबसाइट पिछले दो माह से बंद पड़ी है। इसके कारण कोरोना मरीजों को अस्पताल और वहां बेड की उपलब्धता की सही जानकारी नहीं मिल पा रही है। नेता प्रतिपक्ष कौशिक ने कहा है कि कोरोना संक्रमण के विषय में प्रदेश सरकार शुरू से ही दुर्लक्ष्य करती आ रही है। कोरोना की रोकथाम के बजाय प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल समेत मंत्रियों और कांग्रेस नेताओं का पूरा ध्यान केंद्र सरकार के खिलाफ प्रलाप में ही केंद्रित रहा। प्रदेश आज तक कोरोना की यंत्रणा के दंश झेल रहा है। अब भी प्रदेश के मुख्यमंत्री बघेल और स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव कोरोना के बढ़ते मामलों के प्रति फिर लापरवाही का परिचय दे रहे हैं। कोरोना के विषय में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जब देशभर के मुख्यमंत्रियों से निर्णायक चर्चा कर रहे थे, तब भी प्रदेश में कोरोना मामलों के तथ्य सामने रखने के बजाय मुख्यमंत्री और स्वास्थ्य मंत्री फिर पैसों को लेकर रोना-धोना मचाने में लगे रहे। कोरोना के मद्देनजर की गई व्यवस्थाएं प्रदेश सरकार की उदासीनता के कारण दम तोड़ चुकी है। प्रदेश फिर कोरोना के बढ़ते मामलों से चिंतित है।

21-11-2020
सीएम लगातार अमर्यादित और तथ्यहीन बयानबाज़ी कर रहे : संजय श्रीवास्तव

रायपुर। भारतीय जनता पार्टी  प्रवक्ता संजय श्रीवास्तव ने कहा है कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल द्वारा 'लव ज़ेहाद' आदि के बहाने भाजपा के राष्ट्रीय नेताओं पर की गई टिप्पणियां न केवल अशिष्ट बल्कि बेहद अमर्यादित भी है। भाजपा प्रवक्ता ने कहा कि इन दिनों लगातार भूपेश बघेल अशालीन और गरिमा विरुद्ध बयानबाजी कर रहे हैं, ऐसा वे अपनी विफलता की बौखलाहट में कर रहे हैं या आंतरिक गुटीय समस्याओं के कारण नियंत्रण खो रहे हैं, कहना मुश्किल है। चाहे इंदिरा गांधी के जन्मदिन पर बेजा बयानबाजी हो या फिर लव ज़ेहाद या नक्सल मामले को लेकर, हर मामले में जानकारी की कमी, अपेक्षित शिष्टता का अभाव और षड्यंत्रकारी मानसिकता साथ दिखती है। संजय श्रीवास्तव ने कहा कि लव जेहाद को लेकर बघेल की जानकारी बेहद ही उथली है। लगता है सीएम आजकल सारा कामकाज छोड़ कर सोश्यल मीडिया पर व्यस्त रहने लगे हैं और वहीं से तथ्य जुटाकर केवल बयानबाज़ी कर दिल्ली को खुश करने में लगे रहते हैं। उन्होंने कहा कि एक सामान्य समझ का व्यक्ति भी यह जानता है कि धोखा देकर साज़िश पूर्वक, अपनी साम्प्रदायिक पहचान छिपा कर भोली-भाली बच्चियों को धोखा देना, उनके मत परिवर्तन की साज़िश ‘लव ज़ेहाद’ है। यह सामान्य समझ भी किसी सीएम को न हो, यह आश्चर्य का विषय है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने ‘द्विराष्ट्रवाद’ के सिद्धांत को स्वीकार कर देश ही विभाजित कर दिया था। उस सिद्धांत के अनुसार कांग्रेसी यह मानते थे कि हिन्दू और मुस्लिम ‘दो राष्ट्र’ हैं और ये एक साथ नहीं रह सकते। भाजपा ऐसा कभी नहीं कहती और न ही मानती है। लेकिन ऐसी मान्यता के आधार पर देश बांट देने वाली कांग्रेस के लोग अगर आज यह मानते हैं कि साम्प्रदायिक सोच के साथ साजिशपूर्वक की गयी शादियां भी सही है, तो इसके पीछे छिपे कांग्रेस के तुष्टिकरण की नीति को समझना होगा। संजय श्रीवास्तव ने कहा कि दरअसल कांग्रेस को तुष्टिकरण की राजनीति की बुरी लत लग गई है। पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने कहा था कि देश के संसाधनों पर पहला हक़ मुसलमानों का है,यह तुष्टिकरण की पराकाष्ठा थी। उन्होंने मुख्यमंत्री बघेल को नसीहत दी है कि लव ज़िहाद पर कुछ कहने से पहले उसके बारे में पूरी जानकारी ले लें, सस्ती और ताली पिटवाऊ बयानबाजी करके और अकारण भाजपा के नेताओं के नाम लेकर अपनी अज्ञानता का हास्यास्पद प्रदर्शन न किया करें। उन्होंने कहा कि पहचान छिपाकर और इरादतन हिन्दू युवतियों से शादी करके फिर उन्हें धर्मांतरण के लिए बाध्य करना, प्रताड़ित करना और अंतत: हिन्दू युवतियों की हत्या तक कर देना लव ज़िहाद है। भाजपा शासित राज्यों में इसी के ख़िलाफ़ क़ानूनी प्रावधानों पर विमर्श चल रहा है।

भाजपा प्रवक्ता ने मुख्यमंत्री बघेल पर झीरम घाटी मामले पर की गई टिप्पणी पर कहा कि बघेल पहले से कहते रहे हैं कि उन्हें झीरम के दोषियों के बारे में पता है और सबूत उनकी जेब में है। एनआईए पर सवाल उठाने से पहले मुख्यमंत्री बघेल यह बतायें कि वे अपने जेब में रखे सबूत सामने नहीं लाकर किन्हें बचाने में लगे हैं? उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री बनने के बाद वे सबूत सामने क्यों नहीं रख रहे हैं? साक्ष्यों को छिपाना संज्ञेय अपराध है। इस मामले में मुख्यमंत्री बघेल के ख़िलाफ़ क़ानूनी प्रावधानों के मुताबिक़ कार्रवाई की जानी चाहिए। इसके अलावा उन्होंने नक्सल मामले में गिरफ्तार एक ऐसे संदिग्ध से परिचय होना स्वीकार किया है जो वर्षों से जेल में बंद है। और किसी भी कोर्ट ने जिसे ज़मानत भी देने लायक नहीं समझा है। ऐसे आरोपियों का खुद के विधानसभा क्षेत्र में काम करना स्वीकार करके बघेल ने अनेक सवालों को जन्म दिया है। पहले सबूत छिपाना और अब आरोपियों से परिचय स्वीकार करना सीएम जैसे महत्वपूर्ण पद पर बैठे व्यक्ति की निष्ठा पर सवालिया निशान लगाता है। डॉ.सिंह ने कहा कि एक मुख्यमंत्री को खुद को संदेहास्पद नहीं बनाना चहिये और अपने बयानों में शालीनता के साथ तथ्यों का समावेश करना चाहिए।

 

20-11-2020
राजधानी में ही गृहमंत्री की स्मार्ट पुलिसिंग फेल तो बाकी इलाकों का हाल क्या होगा : संजय श्रीवास्तव 

रायपुर। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता संजय श्रीवास्तव ने भूपेश सरकार की कार्यप्रणाली पर सवाल उठाया है। श्रीवास्तव ने कहा है कि अभनपुर में एक ही परिवार के पांच लोगों की मौत की हृदयविदारक घटना ने समूचे प्रदेश को हिला दिया था। अब 24 घंटे के भीतर राजधानी में दो लोगों की निर्मम हत्या से कानून-व्यवस्था पर सवाल उठ रहा है। श्रीवास्तव ने प्रदेश के गृह मंत्री ताम्रध्वज साहू से पूछा है कि जब राजधानी में ही उनकी स्मार्ट पुलिसिंग फेल हो गई है, तो प्रदेश के बाकी इलाकों का क्या हाल होगा? इधर प्रदेश के कृषि मंत्री रविन्द्र चौबे के विधानसभा क्षेत्र में एक किसान ने आत्महत्या की है। भाजपा प्रदेश प्रवक्ता ने आरोप लगाया है कि प्रदेश में जब से कांग्रेस की सरकार सत्ता में आई है, अपराधियों का दुस्साहस बढ़ा है। अब तो यह साफ जाहिर हो रहा है कि प्रदेश में ये अपराध अब उद्योग की शक़्ल अख़्तियार करते जा रहे हैं।  प्रदेश सरकार की उदासीनता के कारण राजनीतिक संरक्षण पाकर तमाम आपराधिक तत्व प्रदेश में दहशतगर्दी का माहौल कायम करने में लगे हैं। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, गृह मंत्री साहू और कृषि मंत्री चौबे के अपने गृह जिलों में किसान लगातार आत्महत्या करने को विवश हो रहे हैं। कांग्रेस विधायक व पूर्व मंत्री धनेंद्र साहू के अपने गांव में एक किसान ने आत्महत्या कर ली। किसानों की आत्महत्या के ये मामले प्रदेश सरकार के किसान विरोधी होने पर मुहर लगाते हैं। प्रदेश सरकार पूरी तरह संवेदनहीन हो चुकी है। एक सजग विपक्ष के नाते जब भाजपा प्रदेश सरकार को आईना दिखाती है तो कांग्रेस के नेता बिफरकर मयार्दाहीन व निम्नस्तर की बयानबाजी करके झूठ और नफरत की सियासत पर उतर जाते हैं।

18-11-2020
एक ही परिवार के 5 लोगों की मौत के मामले में भाजपा नेता केन्द्री जाकर लेंगे घटना की जानकारी

रायपुर। भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता 19 नवंबर को अभनपुर के ग्राम केन्द्री जाएंगे। वे कमलेश साहू के अपनी मां,पत्नी व दोनों बच्चों की हत्या कर खुदकुशी करने की अत्यंत हृदयविदारक घटना के संबंध में पूरी तथ्यपरक जानकारी लेंगे। मृतकों के परिजनों से मिलेंगे। भाजपा प्रदेश कार्यालय से मिली जानकारी के मुताबिक भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री डॉ.रमन सिंह, प्रदेश विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक और पूर्व मंत्री चंद्रशेखर साहू केन्द्री जाएंगे। 19 नवंबर को दोपहर 2:30 बजे केन्द्री ग्राम के लिए रायपुर से रवाना होंगे। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदेव साय व नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने इस हृदयविदारक घटना को लेकर प्रदेश सरकार पर तीखा हमला बोला था। उन्होंने इस घटना के लिए सीधे तौर पर प्रदेश सरकार को जिम्मेदार ठहराते हुए इस मामले की निष्पक्ष व स्वतंत्र एजेंसी से जांच कराने की मांग की है।

 

16-11-2020
सरकार के पास नक्सलियों पर नकेल कसने की कोई ठोस योजना नहीं  : कौशिक

रायपुर। भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता और प्रदेश विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने कहा है कि प्रदेश में नक्सली लगातार बेकाबू होते जा रहे हैं। प्रदेश सरकार के पास नक्सलियों पर नकेल कसने की कोई ठोस योजना नहीं है। केवल पत्र लिखकर सियासत करना प्रदेश का सरकार एक मात्र मकसद है। माओवाद पर काबू पाने के लिए इस सरकार के पास कोई स्पष्ट और सख़्त रणनीतिक कार्ययोजना नहीं है। नेता प्रतिपक्ष कौशिक ने कहा है कि नक्सली जन अदालत लगाकर बेगुनाहों की हत्या कर रहे हैं। इन सब पर प्रदेश की सरकार मौन है, जो कई सवालों को जन्म देता है। कौशिक ने तंज कसा है कि प्रदेश सरकार केवल केन्द्र से मदद चाहती है लेकिन जमीन पर कोई भी कारगर योजना पर वह कोई काम नहीं कर रही है। केन्द्र सरकार को पत्र केवल आर्थिक मदद के लिये चिठ्ठी लिखना और केंद्र से मिली मदद का सही खर्च नहीं होना कई सवालों को जन्म देता है। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह को प्रदेश मुख्ममंत्री की ओर से नक्सलवाद के उन्मूलन को लेकर लिखे गए पत्र में नक्सलवाद के खात्मे के लिए कोई भी सकरात्मक सुझाव नहीं है। मुख्यमंत्री बघेल को यह पता होना चाहिए कि केन्द्र की सरकार नक्सलवाद के समूल उन्मूलन को लेकर गंभीर है। स्वयं केंद्रीय गृह मंत्री शाह रायपुर में एक उच्चस्तरीय बैठक भी ले चुके हैं। प्रदेश की जनता के समक्ष नक्सलवाद उन्मूलन को लेकर प्रदेश की सरकार को अपनी नीति स्पष्ट करनी चाहिए। ताकि भय का वातावरण  बनता जा रहा है, उस पर अंकुश लग सके।

 

12-11-2020
नीतीश कुमार ने कहा, मुख्यमंत्री पद पर हमारा कोई दावा नहीं

नई दिल्ली। बिहार विधानसभा चुनाव में जनता दल यूनाइटेड के खराब प्रदर्शन के बाद कयास लगाए जा रहे थे कि नीतीश कुमार अपनी जगह किसी और को सीएम बना सकते हैं। हालांकि इसको लेकर भारतीय जनता पार्टी ने साफ कर दिया था कि सीएम नीतीश ही होंगे। गुरुवार को इसे लेकर नीतीश कुमार ने एक बयान दिया है। नीतीश ने कहा कि सीएम पद पर हमारा कोई दावा नहीं है। नीतीश कुमार ने कहा कि बिहार विधानसभा चुनाव 2020 में राजग को बहुमत प्राप्त हुआ है और राजग की बैठक होगी तथा औपचारिक तौर पर गठबंधन के नेता का ऐलान होगा। पटना स्थित जद (यू) के प्रदेश मुख्यालय में पार्टी के नवनिर्वाचित विधायकों के साथ बैठक करने के बाद पत्रकारों से बातचीत के दौरान उन्होंने कहा कि बैठक (राजग की) होगी तो उसमें (तय) हो ही जाएगा। उन्होंने कहा कि हमने तो काम किया है। राजग का जो निर्णय होगा, वही मान्य होगा। हमसे पूछिएगा तो हमारा कोई दावा नहीं है। राजग की बैठक होगी और उसमें औपचारिक तौर पर निर्णय होगा। उन्होंने राजग की बैठक के बारे में बताया कि यह एक—दो दिन के बाद ही हो पाएगा। शपथ ग्रहण को लेकर पूछे गए एक प्रश्न पर उन्होंने कहा कि अभी यह तय नहीं हुआ है। मंत्रियों की संख्या के बारे में पूछने पर उन्होंने कहा कि संवैधानिक प्रावधानों में इसकी सीमा पहले से ही निर्धारित है। अब कितने मंत्री पहले दौर में और उसके बाद बनते हैं, यह तो बाद की चीज है। जद (यू) को इस चुनाव में कम सीट आने के बारे में सफाई देते हुए नीतीश ने कहा, ”हम लोगों ने समाज के सभी वर्गों के लिए काम किया और उसके बाद भी कोई भ्रम पैदा करता है और लोग भ्रमित होते हैं तो यह उनका अधिकार है ।” 

11-11-2020
बिहार चुनाव में एनडीए और उपचुनाव में भाजपा की भारी जीत पर भाजपाइयों ने मनाई खुशियां      

दुर्ग। विधानसभा चुनाव एवं उपचुनाव में भारतीय जनता पार्टी सहित एनडीए की ऐतिहासिक जीत पर दुर्ग जिला भाजपा कार्यालय में भाजपा प्रदेश मंत्री एवं जिला अध्यक्ष उषा टावरी की अगुवाई में भाजपा के पदाधिकारी एवं कार्यकर्ताओं द्वारा एक-दूसरे का मुंह मीठा करा कर एवं पटाखे फोड़ कर अपनी खुशी का इजहार किया। जीत के लिए पार्टी के पदाधिकारियों कार्यकर्ताओं द्वारा यशस्वी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी,राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा को उनके अथक प्रयास और मेहनत के लिए बधाई दी और उन्हें अपना साधुवाद ज्ञापित किया इस दौरान प्रमुख रुप से भाजपा प्रदेश कार्यसमिति सदस्य एवं पूर्व महापौर चंद्रिका चंद्राकर भाजयुमो जिला अध्यक्ष दिनेश देवांगन, रत्नेश चन्द्राकर उपस्थित रहे।
इस अवसर पर भाजपा प्रदेश मंत्री और जिला भाजपा अध्यक्ष उषा टावरी ने कहा कि यह जीत राष्ट्रवादियों की जीत है एक और समूचे विपक्ष के द्वारा देश में भारत के यशस्वी प्रधानमंत्री  नरेंद्र मोदी के द्वारा कोरोना काल किए गए कार्यों को की विफलता के रूप में प्रदर्शित किया और बिहार में सारे झूठे प्रपंच जो इन्होंने हमारे छत्तीसगढ़ प्रदेश की भोली-भाली जनता को दिग्भ्रमित कर वोट के रूप में प्राप्त किया था वहां भी

उन्होंने ऐसा माहौल बनाने की कोशिश की पर बिहार की जनता ने उनके बनाए मायाजाल को तोड़कर एनडीए गठबंधन को पूर्ण बहुमत दिलाया तथा मध्यप्रदेश के 28 विधानसभा के चुनाव, गुजरात उत्तर प्रदेश सहित मणिपुर में हुए चुनाव में ऐतिहासिक भाजपा की जीत के श्रेय के हकदार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा के कुशल नेतृत्व में संभव हो पाया उनको मैं समूचे भारतीय जनता पार्टी जिला दुर्ग की तरफ से साधुवाद ज्ञापित करती हो और बधाई प्रेषित करती हूंआयोजित कार्यक्रम में  मंडल अध्यक्ष दीपक चोपड़ा, नेता प्रतिपक्ष अजय वर्मा  पूर्व मंडल अध्यक्ष नरेंद्र बंजारे,संदीप भाटिया पूर्व पार्षद गजेन्द्र यादव रामकुमार ठाकुर,विष्णु साहू जिला भाजयुमो महामंत्री नितेश साहू उपाध्यक्ष राहुल पंडित राहुल दीवान नितेश बाफना मीडिया प्रभारी राजा महोबिया उत्तम साहू टेकन सिन्हा निलेश अग्रवाल, हेमलता निषाद मीनू बंटी चौहान दिलीप साहू मन्नू साहू दीपक सिन्हा अमर भोई संतोष तिवारी अजय बाबा ब्रह्मभट्ट बंटी चौहान रवि कोसरे विश्वजीत देशमुख सहित बड़ी संख्या में भाजपा कार्यकर्ता उपस्थित थे।

 

07-11-2020
भूपेश सरकार ने प्रदेश को अपराधगढ़ बनाकर रख दिया : विष्णुदेव साय

रायपुर। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदेव साय ने छत्तीसगढ़ में लगातार बढ़ रहे अपराधों को लेकर प्रदेश सरकार की कार्यप्रणाली पर जमकर निशाना साधा है। साय ने कहा है कि नारी सशक्तिकरण और सम्मान की रक्षा के सरकारी दावे खोखले साबित हो रहे हैं। प्रदेश में मासूम बच्चियों से लेकर बुजुर्ग महिलाओं की जान और अस्मत आज भी सांसत में है। पिछले दो माह में तो प्रदेश सरकार अपराधों पर नियंत्रण के मोर्चे पर बुरी तरह विफल साबित हुई है। प्रदेश के अमूमन सभी इलाकों में दुष्कर्म, सामूहिक बलात्कार और महिलाओं की हत्या के मामले तेजी से बढ़े हैं। प्रदेश में लगातार बढ़ रहे अपराधों ने प्रदेश को शर्मसार कर रखा है और प्रदेश सरकार सियासी नौटंकियों में ही मशगूल है।
साय ने कहा है कि जबसे कांग्रेस की सरकार प्रदेश में सत्तारूढ़ हुई है, अपराधियों का दुस्साहस चरम पर पहुंच गया है और उनमें कानून के राज का जरा भी खौफ नहीं रह गया है। ऐसा कोई अपराध बाकी नहीं रह गया है, जो अब छत्तीसगढ़ में अंजाम नहीं दिया जा रहा हो। नवा छत्तीसगढ़ गढ़ने की बात करती राज्य सरकार ने प्रदेश को अपराधगढ़ बनाकर रख दिया है।

साय ने आरोप लगाया है कि सत्तारूढ़ दल के संरक्षण ने कांग्रेस नेताओं के परिजनों को सत्तावादी अहंकार में इतना चूर कर दिया है कि अब वे महिलाओं से सरेआम उनके दफ़्तर में घुसकर दुष्कर्म की कोशिश कर रहे हैं। पुलिस इन नेताओं के परिजनों के खिलाफ दर्ज रिपोर्ट में इस अपराध की धारा तक नहीं जोड़ रही है। सिवनी की पीड़ित आंगनबाड़ी कार्यकर्ता के साथ कांग्रेस जिला अध्यक्ष के भतीजे ने लात-घूंसों से वहशियाना मारपीट तक की। साय ने हैरत जताई कि कांग्रेस जिला अध्यक्ष आरोपी युवक  को आज पहचानने से इंकार कर रहे हैं जबकि आरोपी युवक को कांग्रेस जिलाध्यक्ष के बड़े भाई का बेटा बताया जा रहा है। साय ने कहा है कि मुख्यमंत्री यह कैसा नवा छत्तीसगढ़ रच रहे हैं, जहां उनकी पार्टी के नेता और उनके परिजन न केवल सत्तावादी अहंकार का शर्मनाक प्रदर्शन कर रहे हैं। अपितु कई अपराधों में उनकी सीधी संलिप्तता के मामले सामने आ चुके हैं।

 

 

01-11-2020
प्रचार के अंतिम दिन डॉ. गंभीर सिंह पहुंचे घर-घर, कहा-आप सबके भरोसे पर हम खरा उतरेंगे

रायपुर/गौरेला। मरवाही विधानसभा उपचुनाव में भारतीय जनता पार्टी के प्रत्याशी डॉ. गंभीर सिंह ने चुनाव प्रचार के अंतिम दिन जनसंपर्क में हिस्सा लिया। उन्होंने कहा कि हम सब आपके भरोसे पर हमेशा खरा उतरेंगे। मरवाही के विकास के लिए जो हमने संकल्प लिया है, उसे पूरा करने लिए आप सभी के आशीर्वाद व समर्थन की जरूरत है । डॉ. सिंह ने सभी से मिल रहे समर्थन के लिए आभार व्यक्त कर पूरे सहयोग और भाजपा के पक्ष में मतदान की अपील की है। मरवाही उपचुनाव के मद्देनजर भाजपा महिला मोर्चा, युवा मोर्चा, किसान मोर्चा सहित सभी मोर्चा-प्रकोष्ठों के पार्टी कार्यकर्ताओं ने घर-घर, गांव-गांव जनसंपर्क कर भाजपा को समर्थन देने की अपील है।

जनसंपर्क में भाजपा जिला मंत्री राखी सिंह गहलोत, विभा नहरेल, रानू नामदेव, ममता मार्को, महाजन पोर्ते,  हुकुमचंद यादव, चंद्रमोहन नामदेव, जलेश, जगदीश, कहेश्वर, परसराम, देवकुमार, खूबचंद, लक्ष्मीबाई, लक्ष्मीप्रसाद, दामोदर, कुंती बाई, मंगली, फूलबाई, गीता, जनकुंवर, मानकुंवर, राजकुमार, शिवा, दिलीप, पुन्नूलाल, समर सिंह, सीताराम, राजेन्द्र, समयलाल व बालकृष्ण अग्रवाल, मनीष अग्रवाल, अनुपम गुप्ता, पुष्पेंद्र त्रिपाठी, संदीप जैन, मुकेश दुबे, तापस शर्मा, केशव पाण्डेय, दीपक शर्मा, सोनु वाधवानी व अमन प्रताप सिंह ने हिस्सा लिया।

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804