GLIBS
02-08-2020
पूर्व मुख्यमंत्री के बंगले के 13 कर्मचारी पाए गए कोरोना पॉजिटिव

पटना। बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी के आवास के 13 कर्मचारी संक्रमित पाए गए हैं। पटना में लालू प्रसाद यादव की पत्नी राबड़ी देवी के नाम से आवंटित,जिस आवास में उनका पूरा परिवार रहता है, उसके 13 कर्मचारी कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। आवास के कर्मचारियों के कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद से राबडी देवी, तेजस्वी यादव व तेजप्रताप के साथ वहां आने-जाने वाले लालू परिवार के अन्य सदस्यों को भी कोरोना का खतरा बढ़ गया है। बता दें कि शनिवार को जदयू के राष्ट्रीय महासचिव आरसीपी सिंह, उनकी पत्नी, जदयू विधायक ललन पासवान और पटना के जिलाधिकारी कुमार रवि की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई थी।इस बीच, नेता प्रतिपक्ष तेजस्‍वी यादव ने मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार को घेरा है। उन्होंने राज्‍य सरकार पर आंकड़ों का खतरनाक खेल करने का आरोप लगाया है। उन्‍होंने मुख्‍यमंत्री को निशाने पर लेते हुए कहा है कि कोरोना व बाढ़ के संकट काल में मुख्‍यमंत्री जनता की पीड़ा से दूर अपने आलीशान बंगले में आराम कर रहे हैं। तेजस्‍वी यदव ने ट्वीट किया है कि सरकार कोरोना जांच में आंकड़ों का खतरनाक खेल कर रही है।

 

14-02-2020
चारा घोटाला में सजा काट रहे लालूप्रसाद यादव को सुप्रीम कोर्ट का नोटिस

नई दिल्ली। चारा घोटाला मामले में सजा काट रहे आरजेडी प्रमुख लालू प्रसाद यादव को सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को नोटिस जारी किया है। सुप्रीम कोर्ट ने यह नोटिस सीबीआई की अपील पर दिया है। इसमें जांच एजेंसी ने रांची हाईकोर्ट द्वारा लालू को जमानत देने का विरोध किया है। सीबीआइ ने सुप्रीम कोर्ट में दायर अपनी याचिका में कहा है कि झारखंड हाइकोर्ट ने लालू प्रसाद को दोषी ठहराने और उन्हें सजा देने के निचली अदालत के फैसले को निलंबित रखने और उनको जमानत पर रिहा करने का आदेश देकर त्रुटि की है। बता दें कि 12 जुलाई 2019 को हाईकोर्ट ने लालू को चारा घोटाले से जुड़े एक मामले में जमानत दी थी। यह मामला देवघर कोषागार से 90 लाख रुपए की अवैध निकासी का है। जस्टिस अपरेश कुमार सिंह की कोर्ट ने 50-50 हजार रुपए के दो निजी मुचलके पर उन्हें जमानत दी थी। सीबीआई कोर्ट ने इस मामले में लालू प्रसाद को साढ़े तीन साल की सजा सुनाई थी। 10 लाख रुपए जुर्माना भी लगाया था। लालू प्रसाद यादव चार घोटाले के चार मामलों में दोषी करार दिए जा चुके हैं। उन्हें 14 साल जेल की सजा सुनाई गई है। लालूप्रसाद चारा घोटाले के छह मामलों में दोषी हैं। इनमें से झारखंड में पांच मामलों में से चार में वे दोषी करार दिए जा चुके हैं। पांचवें मामले की सुनवाई रांची स्थित सीबीआई कोर्ट में चल रही है। लालूप्रसाद यादव पिछले कई महीनों से बीमार चल रहे हैं और वो रांची के रिम्स अस्पताल में भर्ती हैं।

 

22-11-2019
लालू यादव की जमानत याचिका पर झारखंड हाईकोर्ट में सुनवाई आज

नई दिल्ली। झारखंड उच्च न्यायालय में शुक्रवार को चारा घोटाले से जुड़े दुमका कोषागार गबन मामले में बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और राष्ट्रीय जनता दल के मुखिया लालू प्रसाद यादव की जमानत याचिका पर सुनवाई होगी। इस संबंध में सीबीआई ने अपना जवाब अदालत में दायर कर जमानत का कड़ा विरोध किया है। सीबीआई ने लालू प्रसाद की जमानत का विरोध करते हुए कहा है कि इस मामले में लालू ने मात्र 22 माह ही जेल में गुजारे हैं। ऐसे में सजा की आधी अवधि भी पूरी नहीं हुई है। जबकि उच्चतम न्यायालय भी इस मामले में उनकी याचिका खारिज कर चुका है। एजेंसी का कहना है कि जहां तक उनके स्वास्थ्य की बात है, रिम्स के चिकित्सक लगातार उसपर नजर रख रहे हैं। 15 बीमारियां होने के बावजूद फिलहाल उनकी जान को कोई खतरा नहीं है। इसलिए उन्हें जमानत ना दी जाए। लालू की तरफ से बढ़ती उम्र और खराब स्वास्थ्य का हवाला देते हुए जमानत की गुहार लगाई गई है। आठ नवंबर को इस मामले में अपना जवाब दाखिल करने के लिए सीबीआई द्वारा समय मांगे जाने पर मामले की सुनवाई 22 नवंबर के लिए स्थगित कर दी गई थी।

 

31-08-2019
लालू यादव की किडनी ठीक से नहीं कर रही काम, ब्लड में भी इंफेक्शन   

रांची। झारखंड की राजधानी रांची में रिम्स के पेइंग वार्ड में भर्ती राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव की सेहत बिगड़ गई है। शनिवार को लालू यादव का वीकली मेडिकल बुलेटिन जारी किया गया। लालू के चिकित्सक डॉ. डीके झा ने इसे जारी करते हुए कहा कि उनका स्वास्थ्य असामान्य है। झा के अनुसार लालू यादव का एक फोड़ा बड़े जख्म में बदल गया है। उसका माइनर ऑपरेशन किया गया है। उन्हें एंटीबायोटिक भी दिया जा रहा है। रिम्स में लालू यादव की देखरेख कर रहे डॉक्टरों के मुताबिक उनके ब्लड में भी इंफेक्शन  पाया गया है, जिससे बल्ड प्रेशर भी काफी गिर गया है। डॉक्टर ने लालू की हालत को अनस्टेबल बताते हुए कहा कि बीते दिनों उन्हें एक फोड़ा हो गया था, जिसकी वजह से फिर से संक्रमण उभर आया है। जांच में पाया गया कि लालू यादव की किडनी  50 फीसदी से घटकर महज 37 फीसदी काम कर रही है। ब्लड प्रेशर होने के बाद उनकी दवाएं घटाएं गई हैं।  डॉक्टरों ने कहा कि उम्मीद है कि लालू यादव जल्द स्वस्थ हो जाएंगे।

 

28-07-2019
जेल से आठ गुना ज्यादा समय अस्पताल में गुजार चुके हैं लालू, खुलासा

नई दिल्ली। जेल में जाते ही अक्सर हाई प्रोफाइल लोगों की तबीयत खराब हो जाती है। अगर रांची की बिरसा मुंडा जेल के पिछले दस साल के इतिहास को देखें तो ये बात साबित भी होती है। जहां दर्जनों वीआईपी लोगों को स्वास्थ्य संबंधित दिक्कतें आईं और उन्हें जेल से अस्पताल में शिफ्ट करना पड़ा। ताजा उदाहरण राष्ट्रीय जनता दल (राजद) प्रमुख लालू प्रसाद यादव (71) का है। जिन्होंने जेल के 19 महीनों में से 17 महीने अस्पताल में काटे हैं और अब भी उनकी तबीयत ठीक नहीं हुई है। वह अभी भी रांची के राजेंद्र इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस (रिम्स) में भर्ती हैं। उनकी सुरक्षा के लिए यहां 42 पुलिसकर्मी तैनात हैं। वह यहां के पेइंग वार्ड में भर्ती हैं।

जेल के इंस्पेक्टर जनरल (आईजी) वीरेंद्र भूषण ने बताया, रिम्स के निदेशक लालू प्रसाद की स्वास्थ्य जांच रिपोर्ट हर महीने भेजते हैं। लेकिन किसी भी रिपोर्ट में उन्हें फिट और स्थिर नहीं बताया जाता है। एक बार हमें सकारात्मक रिपोर्ट में मिल जाए, हम उन्हें जेल में शिफ्ट कर देंगे। बता दें बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव 23 दिसंबर, 2017 से  एक के बाद एक तीन अलग-अलग चारा घोटाला मामलों में सजा मिलने के बाद से जेल में हैं। इनमें से एक मामले में उन्हें इसी महीने जमानत भी मिली है। जेल जाने के महज दो महीने बाद ही उन्हें स्वास्थ्य से संबंधित दिक्कतें आने लगी थीं। 

लालू को पहले रिम्स में भर्ती कराया गया, फिर दिल्ली के ऑल इंडिया इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस (एम्स) में शिफ्ट किया गया। मई, 2018 में एम्स में फिट घोषित होने के बाद वह दोबारा रिम्स में भर्ती हुए। हालांकि बाद में उन्हें तुरंत अपने बड़े बेटे की शादी के लिए पैरोल मिल गई थी। फिर उन्हें मुंबई स्थित अस्पताल में अग्रिम उपचार के लिए उच्च न्यायालय द्वारा अंतरिम जमानत दी गई। फिर वह 2018 के मई के आखिर में दोबार रिम्स लौट आए। तभी से उनका यहां इलाज चल रहा है। जिस वार्ड में वह रह रहे हैं वहां एयर कंडीशनर सहित अन्य सभी सुविधाएं उपलब्ध हैं।

 

05-07-2019
तेजप्रताप के तेज तेवर, कहा-हम भाइयों के बीच में आए तो चीर दूंगा!

पटना। बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव के परिवार में दोनों भाइयों तेजप्रताप यादव और तेजस्वी यादव में संबंध तेजी से सामान्य हो रहे हैं। तेजप्रताप ने शुक्रवार को कहा कि  अर्जुन (तेजस्वी) किसी काम में व्यस्त हैं। अर्जुन ने हमें पार्टी के स्थापना दिवस समारोह में भेजा है। माता यशोदा के पास हम कृष्ण आ गए हैं, कृष्ण-अर्जुन बिल्कुल एकजुट हैं, दोनों भाइयों में कोई मतभेद नहीं है। तेजप्रताप ने कहा कि लोग सोशल मीडिया पर बोलते हैं कि दोनों भाइयों में लड़ाई है। मैं कृष्ण हूं, वो अर्जुन है, जो कोई भी बोलेगा तो चीर देंगे। लोग बोलते हैं कि हम लालू जी की नकल करते हैं। आंख खुलती है तो बच्चा मां-बाप का ही मुंह देखता है। तेजप्रताप यादव ने कहा कि कुछ लोग हम लोगों को लड़ाने में लगे रहते हैं। सदन में भी हमारे भाई के खिलाफ अनाप-शनाप बोला जाता है। विरोधी कहते हैं कि तेजस्वी यादव भगोड़ा है, हम तेजस्वी के साथ खड़े हैं, तेजस्वी यादव का मजबूती से साथ देना है। अपने चिरपरिचित अंदाज में बोल रहे राजद नेता तेजप्रताप यादव ने आगे कहा कि  2020 में हम विरोधियों को पटखनी देंगे। 2020 में हमें बड़ी लड़ाई लडऩी है, इसके लिए हमें मुस्तैद रहना है। कौन कहता है कि लालू जी हमारे बीच में नहीं हैं, सबके दिल में हैं लालू जी। बस महसूस करने की जरूरत है, लालूजी को जेल से बाहर निकालना है, इसके लिए खून का एक-एक कतरा बहाना है।

 

04-07-2019
लालू प्रसाद यादव ने इस आधार पर मांगी बेल, कल होगी सुनवाई

पटना। चारा घोटाला मामले में राष्ट्रीय जनता दल के अध्यक्ष लालू प्रसाद की बेल पर शुक्रवार को सुनवाई होगी। झारखंड हाईकोर्ट में इस मामले की सुनवाई होगी। इस मामले में केंद्रीय जांच ब्यूरो ने अदालत में अपना जवाब दायर कर दिया है। जस्टिस एके सिंह की कोर्ट में शुक्रवार को सुनवाई के लिए यह याचिका सूचीबद्ध है। इस मामले में सीबीआई कोर्ट लालू प्रसाद को साढ़े 3 साल की सजा दे चुकी है। पूर्व सीएम लालू की तरफ  से देवघर कोषागार मामले में जमानत याचिका दायर की गई है। याचिका में आधी सजा काट लेने का हवाला देते हुए बेल मांगा गया है। बता दें कि इससे पहले भी लोकसभा चुनाव के दौरान झारखंड हाईकोर्ट और सुप्रीम कोर्ट ने लालू प्रसाद यादव को जमानत देने से इनकार कर दिया था। उनकी ओर से बीमारी के इलाज का हवाला देकर जमानत मांगी गई थी, लेकिन कोर्ट ने उनकी याचिका को खारिज कर दिया था। पूर्व मुख्यमंत्री को चारा घोटाले के दुमका, देवघर और चाईबासा मामले में सीबीआई कोर्ट ने सजा सुनाई है। इन तीनों मामलों में वे सजा काट रहे हैं। तीनों ही मामलों में उनकी ओर से झारखंड हाइकोर्ट में याचिकाएं दायर की गई हैं, जो अभी लंबित हैं।ज्ञात हो कि एक साथ कई बीमारियों से जूझ रहे राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव इन दिनों रांची स्थित रिम्स के पेइंग वार्ड में भर्ती हैं। उनके परिवारवाले लगातार यह कहते रहे हैं कि उनका स्वास्थ्य ठीक नहीं है। वहीं डॉक्टरों का दावा है कि लालू यादव ठीक हैं। 

23-06-2019
डाक्टरों ने लालू प्रसाद यादव के इस पसंदीदा फल के खाने पर लगाया बैन.....

 

नई दिल्ली। आम खाने के शौकीन राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के आम खाने पर डॉक्टरों ने रोक लगा दी है। बता दें कि रांची के रिम्स अस्पताल में लालूप्रसाद यादव का कई महीनों से उपचार जारी हैं। लालू प्रसाद आम खाने के बेहद शौकीन हैं लेकिन अब वहां डॉक्टरों ने उनके इस शौक पर पाबंदी लगा दी है। आम का मौसम चल भी रहा है।

लालू प्रसाद को अभी तक एक आम खाने की इज़ाजत थी लेकिन लालू एक से ज्यादा आम खा लेते थे। ऐसे में उनका शुगर लेवल हाई हो जाता था और यह उनके स्वास्थ्य के लिए नुकसानदायक है। इसी वजह से डॉक्टरों ने आम खाने से मना कर दिया है। लालू प्रसाद यादव के नॉनवेज खाने पर भी रोक लगी हुई है। डॉक्टरों ने कहा है कि नॉनवेज खाने से भी शुगर तेजी से बढ़ता है और ये खतरनाक हो सकता है।

31-05-2019
सड़क दुर्घटना में लालू के बेटे तेजप्रताप यादव घायल

पटना। लालू प्रसाद यादव के बड़े बेटे और बिहार के पूर्व स्वास्थ्य मंत्री तेजप्रताप यादव सड़क दुर्घटना में घायल हो गए हैं। दुर्घटना में तेजप्रताप की गाड़ी बुरी तरह से डैमेज हो गई है। जानकारी के मुताबिक राजद नेता तेजप्रताप यादव और छात्रों की गाड़ी आपस में टकरा गई थी। इस भीषण टक्कर में तेजप्रताप समेत कई लोगों को चोटें आई हैं। दुर्घटना के बाद मौके पर अफरातफरी मच गई। एस्कॉर्ट की गाड़ी से घायलों को हॉस्पिटल ले जाया गया है। स्थानीय लोगों की मानें तो दूसरी गाड़ी पर बीआईटी मेसरा के छात्र सवार थे। तेजप्रताप अपने समर्थकों के साथ कहीं जा रहे थे।

इसी दौरान ईको पार्क के पास सामने से आ रही तेज रफ्तार कार से उनकी गाड़ी की टक्कर हो गई। तेजप्रताप के पैर में हल्की चोटें आई हैं। उनकी गाड़ी में बैठे 4 लोग घायल हो गए। वहीं दूसरी गाड़ी में बैठे दो अन्य लोगों को भी गंभीर चोटें आई हैं। घटना शुक्रवार करीब दो बजे की है। सभी को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। कहा जा रहा है कि तेजप्रताप को प्राथमिक उपचार के बाद अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है।

13-05-2019
चाहे कुछ भी कर लें लेकिन जेल से बाहर नहीं आ सकते लालू प्रसाद यादव... 

पटना। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पटना साहिब से भाजपा प्रत्याशी रविशंकर प्रसाद के लिए वोट मांगते हुए लालू प्रसाद यादव के लिए कहा है कि अब वे जेल से बाहर नहीं निकलने वाले, चाहे कुछ भी कर लें। नीतीश ने कहा कि आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव का परिवार हम पर आरोप लगा रहा है कि हमने उन्हें फंसा दिया। मैं स्पष्ट करना चाहता हूं कि उन्हें कानून ने सजा दी है। अब लालू यादव इस ताक में हैं कि बाहर आकर एक बार फिर से सत्ता पर कब्जा कर लें। नीतीश कुमार ने कहा कि 15 साल तक लालू ने बिहार पर राज किया और खुद जेल गए तो पत्नी को मुख्यमंत्री बना दिया। बिहार में कानून का राज था और रहेगा इससे कोई समझौता नहीं होगा। जब हम केंद्र में मंत्री थे, तब बिहार में सड़क का क्या हाल था? मुझे अपने संसदीय क्षेत्र में काफी पैदल चलना पड़ता था। आज पैदल नहीं चलना पड़ता है, क्योंकि हर तरफ सड़क बन गई है। सीएम नीतीश ने कहा कि पटना साहिब उनका क्षेत्र रहा है। वह तो अपने क्षेत्र में ही आए हैं। लोगों को संबोधित करते हुए नीतीश ने कहा कि आप लोग जिस तरह मुझे अपना प्यार दिया वैसा ही रवि शंकर  को भी दें। बता दें कि लालू प्रसाद यादव चारा घोटेले में दोषी करार दिए जा चुके हैं और रांची जेल में बंद हैं। 

 

 

04-04-2019
नोटबंदी से त्रस्त जनता करेगी कमल के फूल की वोटबंदी : लालू

 

पटना। राष्ट्रीय जनता दल (राजद) अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव ने नोटबंदी और रोजगार के मुद्दे पर इशारों ही इशारों में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर हमला बोला है। यादव के आधिकारिक ट्विटर हैंडल से गुरुवार को किए गए ट्वीट में कहा गया है, ‘उसने नोटबंदी ही नहीं रोजगारबंदी भी की है और युवाओं की सोचबंदी भी। अब जनता करेगी कमल के फूल की वोटबंदी।’ राजद सुप्रीमो ने इससे पूर्व एक अन्य ट्वीट में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर हमला करते हुए कहा था, ‘नीतीश कहते हैं कि अब लालटेन की जरूरत नहीं है। लेकिन, यह नहीं जानते बिजली जाने पर तो लालटेन जलाना पड़ता ही है।

अब कोई नीतीश को समझाए उसका निशान तीर तो द्वापर युग में ही खत्म हो गया था अब उनका वह ‘तीरवा’ कमल के फूल को चीरने के काम आ रहा है।  उल्लेखनीय है कि बहुचर्चित चारा घोटाला मामले में सजा पाने के बाद राजद सुप्रीमो इन दिनों कई गंभीर बीमारियों से जूझ रहे हैं। यादव का इलाज रांची के राजेंद्र आयुर्विज्ञान संस्थान (रिम्स) में चल रहा है। यादव की अनुपस्थिति में उनके परिवार के सदस्य और समर्थक उनके ट्विटर हैंडल को चला रहे हैं।

01-04-2019
तेज प्रताप यादव बना सकता है अपनी नई पार्टी

पटना। राजद चीफ लालू प्रसाद यादव के बेटे तेज प्रताप यादव अपनी नई पार्टी की घोषणा कर सकते हैं। वह इस बारे में शाम छह बजे पत्रकार वार्ता करेंगे। सूत्रों के मुताबिक वह लोकसभा सीटों के बंटवारे को लेकर पार्टी और परिवार से नाराज चल रहे हैं।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804