GLIBS
25-10-2019
 मुख्य सचिव की अध्यक्षता में हुई ग्रामोद्योग विभाग की बैठक  

रायपुर। मुख्य सचिव सुनील कुजूर की अध्यक्षता में गुरूवार को मंत्रालय महानदी भवन में ग्रामोद्योग विभाग की बैठक का आयोजन किया गया। बैठक में ग्रामोद्योग विभाग द्वारा पंजीकृत बुनकरों द्वारा निर्मित वस्त्रों की आपूर्ति शासकीय विभागों-उपक्रमों में किए जाने के संबंध में चर्चा की गई।

 

24-10-2019
 अनुसूचित जनजाति उपयोजना कार्यकारिणी समिति की हुई बैठक  

रायपुर। मुख्य सचिव सुनील कुजूर की अध्यक्षता में गुरूवार को मंत्रालय महानदी भवन में अनुसूचित जनजाति उपयोजना के क्रियान्वयन के लिए भारत सरकार, नीति आयोग के निर्देशानुसार गठित कार्यकारिणी समिति की बैठक का आयोजन किया गया। राज्य में विभिन्न गतिविधियों के संचालन के लिए विभागों द्वारा जनजातीय कार्य मंत्रालय भारत सरकार को सहमति के लिए भेजे जाने वाले प्रस्तावों पर चर्चा की गई। मुख्य सचिव ने क्षेत्र की उपयोगिता के आधार पर प्रस्तावों का पुनः परिक्षण करने के निर्देश संबंधित विभागों को दिए हैं। जनजातीय कार्य मंत्रालय भारत सरकार को भेजे जाने वाले प्रस्तावों में कोण्डागांव में मक्का प्रसंस्करण ईकाइ की स्थापना, बस्तर संभाग में भवन विहिन एवं जर्जर आंगनबाड़ी केन्द्रों का निर्माण एवं मरम्मत, आदिवासी विकास के अंतर्गत संचालित आश्रम शालाओं में कम्प्यूटर प्रशिक्षण, भवन विहिन स्वास्थ्य केन्द्रों के भवन निर्माण-पेयजल एवं विद्युतीकरण, कृषकों की पडत भूमि में कॉफी रोपण, सिंचाई परियोजनाओं के जीर्णोद्धार एवं उन्नयन, भवन विहिन-जर्जर आश्रम-छात्रावासों के मरम्मत एवं भवन निर्माण के प्रस्तावों पर चर्चा की गई। इसके अतिरिक्त राज्य में कृषि आधारित उद्योगों को बढ़ावा देने के लिए सूरजपुर और गरियाबंद जिले में कोदो-कुटकी आधारित प्रसंस्करण संयंत्र की स्थापना, एकीकृत कृषि प्रणाली से चाय एवं कॉफी का जैविक खेती प्रसंस्करण और आदिवासी पर्यटन विकास, पोषण एवं स्वालंबन वाटिका की स्थापना, सामूहिक फल उत्पादन प्रक्षेत्र निर्माण संबंधी प्रस्तावों पर चर्चा की गई।
बैठक में अपर मुख्य सचिव कृषि केडीपी राव, वित्त अमिताभ जैन, सचिव महिला एवं बाल विकास सिद्धार्थ कोमल परदेशी, सचिव आदिम जाति कल्याण विभाग डीडी सिंह, विशेष सचिव लोक स्वास्थ्य सीआर प्रसन्ना, बस्तर कमिश्नर अमृत खलखों सहित बस्तर संभाग और राज्य के संबंधित विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।

23-10-2019
केन्द्रीय गृह सचिव ने ली वामपंथी उग्रवाद और उससे संबंधित मामलों की बैठक

रायपुर। केन्द्रीय गृह सचिव एके भल्ला की अध्यक्षता में बुधवार को जगदलपुर कलेक्टोरेट के प्रेरणा कक्ष में वामपंथी उग्रवाद (एल.डब्ल्यू.ई.) और उससे संबंधित मामलों पर उच्च स्तरीय बैठक हुई। बैठक में निदेशक आईबी अरविंद कुमार, महानिदेशक केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल राजीव भटनागर, छत्तीसगढ़ शासन के मुख्य सचिव सुनील कुजूर, अपर मुख्य सचिव गृह सीके खेतान, अपर मुख्य सचिव पंचायत एवं ग्रामीण विकास आरपी मंडल और पुलिस महानिदेशक डीएम अवस्थी उपस्थित थे। बैठक में बस्तर संभाग के कमिश्नर, पुलिस महानिरीक्षक, सीआरपीएफ के आईजी, बस्तर संभाग के सभी जिलों के कलेक्टर और पुलिस अधीक्षक, सीआरपीएफ आईजी डीआईजी और कमांडेंट उपस्थित थे।

 

22-10-2019
मुख्य सचिव ने ली सामान्य प्रशासन विभाग की बैठक     

रायपुर। मुख्य सचिव सुनील कुजूर की अध्यक्षता में मंगलवार को मंत्रालय महानदी भवन में सामान्य प्रशासन विभाग की बैठक का आयोजन किया गया। बैठक में जन घोषणा पत्र के क्रियान्वयन के संबंध में विभागों द्वारा तैयार की गई कार्ययोजना के विषय में चर्चा की गई। मुख्य सचिव ने सामान्य प्रशासन विभाग के सचिव रीता शांडिल्य को विभागों से प्राप्त कार्ययोजनाओं का परीक्षण करने के निर्देश दिए है। बैठक में अपर मुख्य सचिव कृषि केडीपी राव, गृह सीके खेतान, वित्त अमिताभ जैन, प्रमुख सचिव गौरव द्विवेदी, मनोज पिंगवा और रविशंकर शर्मा सहित समस्त विभागों के सचिव स्तरीय अधिकारी उपस्थित थे।

16-10-2019
मुख्य सचिव की अध्यक्षता में जिला खनिज संस्थान न्यास के कार्यो की हुई समीक्षा

रायपुर। मुख्य सचिव सुनील कुजूर की अध्यक्षता में बुधवार को मंत्रालय महानदी भवन में जिला खनिज संस्थान न्यास के कार्यो की समीक्षा के लिए बैठक का आयोजन किया गया। बैठक में जिला खनिज संस्थान न्यास के अनुसार प्रत्यक्ष प्रभावित क्षेत्र, प्रत्यक्ष प्रभावित व्यक्तियों का चिन्हांकन, प्राथमिकता के कार्यो की स्वीकृति नवीन संशोधन के अनुसार की गई कार्रवाई और सम्पादित कार्यो के सोशल ऑडिट के संबंध में चर्चा की गई। कुजूर ने जिला खनिज न्यास के माध्यम से उच्च प्राथमिकता के कार्य जैसे-पेयजल आपूर्ति, पर्यावरण संरक्षण, स्वास्थ्य, शिक्षा, वृद्ध और निशक्तजन कल्याण, महिला एवं बाल विकास आदि से जुड़े विकास कार्यो को स्वीकृत करने के निर्देश दिए है। उन्होंने कहा है कि जिन जिलों में खनन का कार्य नहीं किया जा रहा है उन जिलों में भी उच्च प्राथमिकता के कार्यो के लिए खनन समृद्ध जिलों के खनिज निधि की सहायता ली जाए। उन्होंने खदान प्रभावित ग्रामों को प्रभावित क्षेत्र घोषित करने के लिए सभी जिलों के प्रत्यक्ष प्रभावित व्यक्तियों का सर्वेक्षण करने के निर्देश दिए है। उन्होंने कहा है कि बहुत अधिक आवश्यक होने पर ही सिविल कार्य (भवनों का निर्माण) आदि जिला खनिज न्यास की राशि से स्वीकृत किए जाए। मुख्य सचिव ने जिला खनिज न्यास के माध्यम से स्वीकृत किए जा सकने वाले कार्यो के विषय में स्पष्ट दिशा-निर्देश सभी कलेक्टरों को जारी करने के निर्देश दिए है। उन्होंने कहा है कि इस मद से अब तक निर्मित किए गए स्थायी परिसंपत्तियों और उनकी उपयोगिता के विषय में जानकारी संकलित की जाए और जो नए कार्य स्वीकृत किए जाते है उनके संबंध में राज्य स्तर पर संबंधित विभाग के पास जानकारी संकलित रखी जाए। बैठक में अपर मुख्य सचिव वित्त अमिताभ जैन, अपर मुख्य सचिव कृषि केडीपी राव, प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री सचिवालय गौरव द्विवेदी, स्वास्थ्य सचिव निहारिका बारिक सिंह, सचिव आदिवासी विकास डीडी सिंह, विशेष सचिव खनिज संसाधन अन्बलगन पी., विशेष सचिव नगरीय प्रशासन अलरमेल मंगई डी. सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

 

16-10-2019
आयुष विभाग के कार्यो की समीक्षा : राज्य आयुष सोसायटी के शासी निकाय की बैठक सम्पन्न

रायपुर। मुख्य सचिव सुनील कुजूर की अध्यक्षता में बुधवार को मंत्रालय महानदी भवन में छत्तीसगढ़ राज्य आयुष सोसायटी के शासी निकाय की छठवीं बैठक का आयोजन किया गया। बैठक में आयुष विभाग द्वारा संचालित की जा रही गतिविधियों की समीक्षा की गई। मुख्य सचिव ने आयुष मिशन अंतर्गत विगत वर्षो में स्वीकृत गतिविधियों की धीमी गति और स्वीकृत निर्माण कार्यो के अब तक पूर्ण नहीं होने पर गहरी नाराजगी जतायी है। मुख्य सचिव ने संचालक आयुष को कार्य में सुधार लाने के कड़े निर्देश दिए है।

उन्होंने स्पष्ट रूप से स्वास्थ्य सचिव को निर्देशित किया है कि आयुष मिशन के कार्यो की नियमित निगरानी और मॉनिटरिंग की जाए। शासी निकाय के बैठक का आयोजन नियमित रूप से कराये जाने के निर्देश भी उन्होंने दिए है। बैठक में वर्ष 2019-20 के लिए 53 करोड़ 49 लाख 51 हजार रूपए की वार्षिक कार्ययोजना का अनुमोदन किया गया। यह कार्ययोजना स्वीकृति के लिए भारत सरकार आयुष मंत्रालय को भेजा जाएगा। बैठक में अपर मुख्य सचिव सीके खेतान, केडीपी राव, अमिताभ जैन, सचिव स्वास्थ्य निहारिका बारिक सिंह, मिशन संचालक राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन डॉ. प्रियंका शुक्ला, संचालक स्वास्थ्य सेवाएं नीरज बंसोड, संचालक आयुष जीएस बदेशा सहित आयुष विभाग के अधिकारी उपस्थित थे।

 

12-10-2019
मुख्यमंत्री ने नए कलेवर में प्रकाशित मासिक पत्रिका ‘जनमन‘ का किया विमोचन’

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने शनिवार को अपने निवास कार्यालय में जनसंपर्क विभाग द्वारा नए कलेवर में प्रकाशित मासिक पत्रिका ’जनमन’ का विमोचन किया। जनसंपर्क विभाग द्वारा मासिक पत्रिका जनमन का प्रकाशन फिर से प्रारम्भ किया गया है। माह अक्टूबर 2019 के अंक  में छत्तीसगढ़ अस्मिता की छलांग को आवरण कथा के रूप में आकर्षक ढंग से प्रस्तुत किया गया है। पत्रिका में महात्मा गांधी की 150वीं जयंती पर छत्तीसगढ़ राज्य में आयोजित गांधी विचार पदयात्रा सहित अन्य कार्यक्रमों और महात्मा गांधी के छत्तीसगढ़ प्रवास पर विशेष सामग्री प्रकाशित की गई है साथ ही पूर्व प्रधानमंत्री स्व. राजीव गांधी के छत्तीसगढ़ के कुल्हाड़ीघाट और दुगली प्रवास को सचित्र बड़े ही आकर्षक ढंग से प्रस्तुत किया गया है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के नेतृत्व में छत्तीसगढ़ में महात्मा गांधी के आदर्शों और विचारों पर चलते हुए किए जा रहे विकास कार्यों, संस्कृति के संरक्षण और संवर्धन के तहत तीज त्योहारों के आयोजन पर विशेष सामग्री दी गई है। इस अवसर पर मुख्य सचिव सुनील कुजूर, संस्कृति विभाग के सचिव सिद्धार्थ कोमल परदेशी,आयुक्त जनसंपर्क तारण प्रकाश सिन्हा, संचालक संस्कृति अनिल साहू तथा संवाद के अतिरिक्त मुख्य पालन अधिकारी उमेश मिश्रा उपस्थित थे।

12-10-2019
राजधानी में 27, 28, 29 दिसंबर को होगा राष्ट्रीय आदिवासी नृत्य महोत्सव

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने शनिवार को अपने निवास पर छत्तीसगढ़ में पहली बार आयोजित हो रहे राष्ट्रीय आदिवासी नृत्य महोत्सव के लोगो (प्रतीक चिन्ह) का विमोचन किया। उन्होंने इस महोत्सव की वेबसाइट www.tribalfest2019.in पद सहित सोशल मीडिया के फेसबुक, ट्विटर और इंस्टाग्राम के पेज का विमोचन भी किया। राष्ट्रीय आदिवासी नृत्य महोत्सव 27, 28 और 29 दिसंबर को राजधानी रायपुर में आयोजित किया जायेगा। इस राष्ट्रीय नृत्य महोत्सव में सभी राज्यों और पड़ोसी देशों को आमंत्रित किया जा रहा है। उम्मीद है कि लगभग 25 सौ कलाकार इस आयोजन में अपनी कला का प्रदर्शन करेंगे। राष्ट्रीय आदिवासी नृत्य महोत्सव में पारंपरिक रूप से आदिवासी समाज में विवाह, फसल कटाई, परंपरागत त्योहारों और अन्य अवसरों पर किए जाने वाले नृत्यों का प्रदर्शन किया जाएगा। इस अवसर पर मुख्य सचिव सुनील कुजूर, संस्कृति विभाग के सचिव सिद्धार्थ कोमल सिंह परदेशी, आयुक्त संस्कृति एवं पुरातत्व अनिल कुमार साहू, आयुक्त जनसंपर्क तारण सिन्हा उपस्थित थे।

 

11-10-2019
भारत के सभी राज्यों और पड़ोसी देशों को राष्ट्रीय आदिवासी नृत्य महोत्सव का आमंत्रण  

रायपुर। छत्तीसगढ़ में दिसम्बर माह में आयोजित होने वाले राष्ट्रीय आदिवासी नृत्य महोत्सव के लिए भारत के सभी राज्यों और पड़ोसी देशों को आमंत्रण पत्र भेजे जाएंगे। मुख्य सचिव सुनील कुजूर की अध्यक्षता में शनिवार को मंत्रालय महानदी भवन में संस्कृति विभाग की बैठक का आयोजन किया गया। बैठक में छत्तीसगढ़ में आयोजित होने वाले पहले राष्ट्रीय आदिवासी नृत्य महोत्सव-प्रतिस्पर्धा के आयोजन के संबंध में विस्तार से चर्चा की गई। मुख्य सचिव ने आयोजन के प्रत्येक बिन्दुओं पर कार्ययोजना बनाने के निर्देश दिए है। उन्होंने कहा है कि नृत्य महोत्सव के आयोजन का आमंत्रण समय रहते भारत भर के राज्यों और पड़ोसी देशों को भेजे जाएं। राष्ट्रीय आदिवासी नृत्य महोत्सव में भारत भर के राज्यों के कलाकारों के द्वारा चार शैलियों पर आधारित नृत्य प्रस्तुत किए जाएंगे। विवाह, फसल कटाई, पारंपरिक त्यौहार और अन्य अवसरों पर किए जाने वाले आदिवासी नृत्यों का प्रदर्शन नृत्य महोत्सव में किया जाएगा। मुख्य सचिव ने समस्त तैयारियों के साथ कार्यक्रम की अंतिम रूपरेखा प्रस्तुत करने के निर्देश दिए है।

 छत्तीसगढ़ में विकासखण्ड-जिला-संभाग और राज्य स्तर पर कलाकारों-नर्तक दलों का चयन प्रतियोगिता के माध्यम से किया जाएगा। विकासखण्ड स्तर पर एक से 15 नवम्बर, जिला स्तर पर 16 से 30 नवम्बर, संभाग स्तर पर एक से 10 दिसम्बर तक प्रतियोगिताओं का आयोजन होगा। संभाग स्तर पर विजयी कलाकारों में से राज्य स्तर पर चयनित नर्तक दल को राष्ट्रीय आदिवासी नृत्य महोत्सव में शामिल होने का मौका मिलेगा। प्रत्येक स्तर पर विजेताओं को पुरस्कृत किया जाएगा। महोत्सव के प्रतीक चिन्ह और विजेता ट्राफी की डिजाईंन आम लोगों से प्राप्त किए जाएंगे। श्रेष्ठ प्रतीक चिन्ह और डिजाईंन के विजेता को सम्मानित किया जाएगा। आयोजन स्थल पर हस्तशिल्प, ग्रामोद्योग सहित अन्य विभागों के प्रदर्शन सह विक्रय केन्द्र स्थापित किए जाएंगे। बैठक में सामान्य प्रशासन, नगरीय प्रशासन, लोक निर्माण, जनसम्पर्क, जिला प्रशासन रायपुर, परिवहन, वन, पुलिस, ग्रामोद्योग, पंचायत एवं ग्रामीण विकास, आदिम जाति कल्याण, स्वास्थ्य, ऊर्जा, अग्निशमन दल, पर्यटन मण्डल विभागों को महोत्सव के सफलता पूर्वक आयोजन की जिम्मेदारी सौंपी गई है। बैठक में अपर मुख्य सचिव वित्त अमिताभ जैन, सचिव संस्कृति सिद्वार्थ कोमल परदेशी, सचिव पर्यटन अन्बलगन पी., सचिव आदिवासी विकास डीडी सिंह सहित संबंधित विभागों के सचिव स्तरीय अधिकारी, कमिश्नर रायपुर जीआर चुरेन्द्र, कलेक्टर रायपुर डॉ. भारतीदासन, पुलिस अधीक्षक रायपुर आरिफ शेख सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

11-10-2019
सीएस कुजूर की अध्यक्षता में मध्य क्षेत्रीय परिषद की स्थाई समिति की हुई बैठक

रायपुर। मुख्य सचिव सुनील कुजूर की अध्यक्षता मे शुक्रवार को नया रायपुर में मध्य क्षेत्रीय परिषद की स्थाई समिति की 13वीं बैठक आयोजित हुई। बैठक में छत्तीसगढ़ सहित मध्यप्रदेश, उत्तरप्रदेश, उत्तराखण्ड राज्य के महत्वपूर्ण और संवेदनशील विषयों पर चर्चा की गई। बैठक में उत्तरप्रदेश के मुख्य सचिव राजेंद्र प्रसाद तिवारी, मध्यप्रदेश के अतिरिक्त मुख्य सचिव के के सिंह, अंतर्राज्यीय परिषद सचिवालय गृह मंत्रालय के विशेष सचिव संजीव गुप्ता, उत्तराखंड के सचिव पंकज पांडे सहित भारत सरकार के विभिन्न विभागों के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

05-10-2019
 मुख्य सचिव कुजुर ने ली सामान्य प्रशासन विभाग की बैठक

रायपुर। मुख्य सचिव सुनील कुजूर की अध्यक्षता में शनिवार को मंत्रालय महानदी भवन में सामान्य प्रशासन विभाग की बैठक का आयोजन किया। बैठक में मध्य क्षेत्रीय परिषद की स्टेंडिंग कमेटी की बैठक की तैयारियों और बैठक के दौरान होने वाले चर्चा के बिन्दुओं और जानकारियों की तैयारी के लिए दिशा-निर्देश दिए गए। मध्य क्षेत्रीय परिषद की बैठक में उत्तरप्रदेश, छत्तीसगढ, उत्तराखण्ड और मध्यप्रदेश के वरिष्ठ अधिकारी शामिल होंगे। यह बैठक 11 अक्टूबर 2019 को प्रातः 11 बजे से नया रायपुर में आयोजित होगी। बैठक में अपर मुख्य सचिव अमिताभ जैन, प्रमुख सचिव गौरव द्विवेदी और मनिन्दर कौर द्विवेदी सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।
 

27-09-2019
मुख्य सचिव सुनील कुजूर की अध्यक्षता में उद्यानिकी विभाग की बैठक आयोजित

रायपुर। मुख्य सचिव सुनील कुजूर की अध्यक्षता में शुक्रवार को मंत्रालय महानदी भवन में उद्यानिकी विभाग के पुनगर्ठित राष्ट्रीय बांस मिशन अंतर्गत राज्य स्तरीय कार्यकारी समिति की बैठक का आयोजन किया गया। बैठक में पुनगर्ठित राष्ट्रीय बांस मिशन अंतर्गत वर्ष 2018-19 से 2021-22 तक चार वर्षो की समेकित कार्ययोजना का कार्योत्तर अनुमोदन किया गया। राज्य स्तरीय बांस नर्सरी एक्रीडिटेशन कमेटी गठन की प्रस्ताव का अनुमोदन किया गया। बांस पौधरोपण हेतु सीडलिंग/प्लानटिंग मटेरियल के प्रबंधन पर चर्चा की गई। बैठक में अपर मुख्य सचिव कृषि केडीपी राव, प्रमुख सचिव कृषि एवं उद्यानिकी मनिन्दर कौर द्विवेदी, प्रमुख सचिव उद्योग मनोज कुमार पिंगवा, सचिव वन जयसिंह महस्के, सचिव अनुसूचित जति एवं जनजातीय विकास डीडी सिंह, निदेशक सह वन बल प्रमुख मुदित कुमार सिंह सहित इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय, कृषि विभाग, उद्यानिकी एवं वन विभाग के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।
 

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804