GLIBS
03-06-2021
कोरोना के प्रकोप से 2 महीने में देश भर में 15 लाख करोड़ के कारोबार हुआ नुकसान : कैट

दुर्ग।  कोरोना वायरस की दूसरी लहर के कारण लगे लॉकडाउन से पिछले 60 दिनों में देश के घरेलू व्यापार को लगभग 15 लाख करोड़ रुपये का नुकसान पहुंचा है। यह कन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) ने गुरुवार को जारी एक रिपोर्ट में कही। इस सन्दर्भ में कैट के प्रदेश मीडिया प्रभारी संजय चौबे ने कहा की बेहद गंभीर वित्तीय संकट के चलते देश भर के व्यापारी पहली बार अपने कर्मचारियों की संख्या को कम करने पर विचार कर रहे हैं। इसमें अनेक प्रकार के मासिक एस्टैब्लिशमेंट एवं ओवरहेड खर्चों में कटौती सहित कर्मचारियों की छंटनी करना भी शामिल है। पिछले वर्ष और इस वर्ष लॉक डाउन के कारण व्यापार में बेहद कमी, मेडिकल खर्चों में अप्रत्याशित वृद्धि और आय के सभी स्रोतों के बंद हो जाने से व्यापारी अब मासिक खर्चों की क्षमता को वहन कर पाने की स्थिति में नहीं है। चौबे ने बताया की देश के अधिकांश राज्यों में कैट की राज्य स्तरीय कमेटी तथा अन्य अनेक प्रदेश स्तरीय प्रमुख व्यापारी संगठनों से प्राप्त जानकारी के आधार पर पिछले दो महीने में कोरोना के कारण देश के आंतरिक व्यापार को लगभग 15 लाख करोड़ के व्यापार का नुक्सान हुआ है, जो काफी बड़ा नुकसान है। देश में प्रति वर्ष लगभग 115 लाख करोड़ का घरेलू व्यापार होता है। देश में लगभग 8 करोड़ छोटे व्यवसाय हैं,जो व्यापारिक गतिविधियों में शामिल हैं,जो लगभग 40 करोड़ लोगों को आजीविका देते हैं। वहीं दूसरी तरफ विभिन्न अन्य वर्गों के लाखों लोग अपनी आजीविका कमाने के लिए व्यापारिक समुदाय पर निर्भर हैं। चौबे ने कहा कि विगत दो महीने में लगभग 15 लाख करोड़ के कारोबारी नुक्सान में खुदरा व्यापार को लगभग 9 लाख करोड़ तथा थोक व्यापार को लगभग 6 लाख करोड़ का नुकसान हुआ है। यह भी उल्लेखनीय है कि देश में लाखों लोग अनौपचारिक व्यापार में व्यावसायिक गतिविधियाँ चला कर अपनी रोजी रोटी कमा रहे हैं और लॉक डाउन के कारण दुकानों और बाजारों के बंद होने से उन्हें भारी व्यापारिक नुकसान भी हुआ है। इसी तरह लाखों कुशल और अर्ध-कुशल श्रमिक, जिन्हें कारीगर के रूप में जाना जाता है और जो घरों में माल को तैयार कर व्यापारियों को बेचते हैं, को भी दुकानों और बाजारों के बंद होने के कारण रोजी रोटी का बड़ा नुकसान सहना पड़ रहा है।

 

07-05-2021
कोविड-19 के बढ़ते प्रकोप के कारण नहीं होगा मलेशिया ओपन टूर्नामेंट

नई दिल्ली। ओलंपिक क्वालीफाइंग के अंतिम दो बैडमिंटन टूर्नामेंट्स में से एक मलेशिया ओपन सुपर 750 टूर्नामेंट को मेजबान देश में कोविड-19 के मामले बढ़ने के कारण शुक्रवार को स्थगित कर दिया। इससे सायना नेहवाल और किदाम्बी श्रीकांत जैसे भारतीय खिलाड़ियों का टोक्यो ओलंपिक खेलों में जगह बनाने की उम्मीदों को करारा झटका लगा है। यह 600,000 डॉलर इनामी राशि वाला टूर्नामेंट 25 से 30 मई के बीच कुआलालम्पुर में आयोजित किया जाना था। विश्व बैडमिंटन फेडरेशन (बीडब्ल्यूएफ) ने बयान में कहा, 'आयोजकों और बीडब्ल्यूएफ ने सभी भागीदारों के लिए सुरक्षित टूर्नामेंट वातावरण मुहैया कराने के लिए अपनी तरफ से सभी प्रयास किए, लेकिन हाल में मामले बढ़ने के कारण टूर्नामेंट स्थगित करने के अलावा कोई विकल्प नहीं था।' इसमें कहा गया है, 'बीडब्ल्यूएफ पुष्टि करता है कि नए शेड्यूल में होने वाला टूर्नामेंट ओलंपिक विंडो के अंतर्गत नहीं आएगा। नए टूर्नामेंट की तिथियों की बाद में पुष्टि की जाएगी।'
यह फैसला लंदन ओलंपिक की कांस्य पदक विजेता सायना और पुरुष स्टार श्रीकांत की ओलंपिक में जगह बनाने की उम्मीदों के लिए करारा झटका है। इंडिया ओपन (11 से 16 मई) के स्थगित होने के बाद सायना और श्रीकांत की टोक्यो ओलंपिक के लिए क्वालीफाई करने की उम्मीदें मलेशिया ओपन और फिर सिंगापुर ओपन (1 से 6 जून) पर टिकी थीं। भारत के इन दोनों खिलाड़ियों का सिंगापुर में टूर्नामेंट में हिस्सा लेना मुश्किल है क्योंकि उस देश ने भारत से सभी उड़ान निलंबित कर रखी हैं। 

 

06-05-2021
उपजेल में कोरोना का प्रकोप, कैदियों का उपचार जारी

राजनांदगांव/खैरागढ़। विगत दिनों विचाराधीन बंदियों व कैदियों में कोरोना संक्रमण की जानकारी लगातार मिल रही थी। इसी दौरान कैदी नुकुल निषाद निवासी मुढ़ीपार थाना गातापार की संक्रमण से मौत हो गई थी । गुरुवार को अनुविभागीय दंडाधिकारी निष्ठा पाण्डे तिवारी, जी.सी.पति, ब्लॉक मेडिकल ऑफिसर विवेक बिसेन,मेडिकल ऑफिसर पंकज वैष्णव व अन्य अधिकारियों ने कोविड नियमों का पालन करते हुए उप जेल पहुंचे। जेलर रेणु ध्रुव की उपस्थिति में अलग-अलग दो बैरक में रखे गए कोरोना संक्रमित बंदियों से मुलाकात व मेडिकल ऑफिसर द्वारा उनका हाल पूछा। वहीँ उन सभी बंदियों को कोविड नियमों का पालन करने की समझाइश भी दी गई। एसडीएम द्वारा पूरे परिसर में साफ-सफाई व सैनिटाइजेशन करने कहा गया।उल्लेखनीय है कि 19 बंदी उपचार के लिए पेंड्री स्थित मेडिकल कॉलेज में इलाज के लिए भर्ती हैं वहीं 58 कैदियों के इलाज उपजेल सलोनी में जारी है। 

 

29-04-2021
Breaking : योगी सरकार का बड़ा फैसला, अब 3 दिनों का होगा वीकेंड लॉकडाउन

लखनऊ/रायपुर। कोरोना संक्रमण के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए योगी सरकार ने बड़ा फैसला लिया है। अब वीकेंड लॉकडाउन को एक दिन के लिए बढ़ा दिया गया है। योगी आदित्यनाथ सरकार के नए आदेश के अनुसार अब वीकेंड लॉकडाउन उत्तर प्रदेश के हर जिले में शुक्रवार रात 8 बजे से शुरू होगा। यह मंगलवार सुबह 7 बजे तक जारी रहेगा।

30-03-2021
Breaking : कोरोना के बढ़ते प्रकोप से सरकार की चिंता बढ़ी, लग सकता है लॉकडाउन

रायपुर। कोरोना के बढ़ते प्रकोप ने सरकार की चिंता बढ़ा दी है। सूत्रों की माने तो यदि ऐसी ही स्थिति बरकरार रहीं तो लॉकडाउन लगाई जा सकती है। दुर्ग, राजनांदगांव, बेमेतरा, बिलासपुर और रायपुर में आंकड़ों में लगातार तेजी देखी जा रही है। यहीं कारण है ​कि छत्तीसगढ़ में लॉकडाउन लगाने पर सरकार विचार कर सकती है। स्वास्थ्य मंत्री सिंहदेव ने भी कहा है कि कोरोना के आंकड़े और प्रतिशत बेहद चिंताजनक है।

27-02-2021
कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप के मद्देनज़र नया रायपुर में होने वाले क्रिकेट मैच पर प्रतिबंध लगाना चाहिए: प्रदीप साहू

रायपुर। छत्तीसगढ़ में रोड सेफ्टी क्रिकेट टूर्नामेंट का आयोजन किया जा रहा है। इस टूर्नामेंट के तहत नया रायपुर को बबल ज़ोन घोषित किया गया है और आम नागरिकों के एंट्रेन्स पर रोक लगा दी गई है। इस आयोजन पर सवाल उठाते हुए जोगी युवा मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष प्रदीप साहू ने कहा कि कोरोना वायरस के बढ़ते आंकड़ों के बावजूद रायपुर में क्रिकेट मैच का आयोजन कहाँ तक उचित है? प्रदीप साहू ने कहा कि कोरोना वायरस के नए रूप ने एक बार फिर से छत्तीसगढ़ और पड़ोसी राज्यों में पैर जमाना शुरू कर दिया है। अन्य प्रदेश के अलावा महाराष्ट्र में कई जिलों में पुनः लॉक डाउन लगाया गया है, जिसके कारण छत्तीसगढ़ में आने वाले लोगों की कोरोना जांच का आदेश दिया गया है। वहीं दूसरी ओर ऐसे समय में छत्तीसगढ़ के नया रायपुर शहीद वीर नारायण सिंह परसदा क्रिकेट स्टेडियम में मैच का आयोजन 5 मार्च से 65000 लोगों की बैठक व्यवस्था के साथ होने वाला है, जो छस्तीसगढ़ के लोगो के जान के साथ छलावा है। इस मैच में नामी-गिरामी क्रिकेटरों को देखने के लिए पूरे छत्तीसगढ़ के अलावा आसपास के राज्यों से भी दर्शकों के पहुंचने की संभावना से इनकार नहीं किया जा सकता है। साहू ने कहा ऐसे में भीड़ बढ़ना स्वाभाविक है। सोचनीय है कि जब अभी तक कोरोना वायरस का संकट खत्म नहीं हो पाया है और न ही छत्तीसगढ़ की जनता को कोरोना वायरस से बचाव के लिए वैक्सीन लगाई गई है। तब ऐसी स्थिति में जनता की जान से जोखिम उठाने की जरूरत ही क्या है? हम आप से निवेदन करते हैं की छत्तीसगढ़ के आम जनता के हितों को ध्यान में रखते हुए ऐसे कोरोना वायरस को फैलाने वाले क्रिकेट मैच के आयोजन को जल्द से जल्द प्रतिबंध किया जाए।

25-02-2021
कोरोना का प्रकोप अभी नहीं हुआ है कम, बिना मास्क के निकलने वालों से लिया जाएगा जुर्माना

जगदलपुर। कोरोना का प्रकोप अभी कम नहीं हुआ है, कोरोना के फिर से बढ़ रहे प्रभाव से बचाव के लिए सभी लोगों को शासन द्वारा निर्धारित कोरोना प्रोटोकाल का पालन करना अनिवार्य है। यह बात कलेक्टर रजत बंसल ने जिला कार्यालय में आयोजित जिला स्तरीय कोरोना टास्कफोर्स की बैठक में कही। उन्होंने जिले में बिना मास्क लगाए घुमने वाले लोगों पर जुर्माना लगाने के निर्देश दिए। इसके लिए पूर्व में गठित जिला स्थैतिक दल को पुनः सक्रिय करने कहा। बैठक में मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत इन्द्रजीत चन्द्रवाल, अपर कलेक्टर अरविन्द एक्का, नोडल स्वास्थ्य विभाग व डिप्टी कलेक्टर गीता रायस्त सहित कोरोना टास्कफोर्स के अन्य सदस्य उपस्थित थे। बैठक में कलेक्टर ने स्वास्थ्य विभाग, पुलिस विभाग व सुरक्षा बलों, राजस्व विभाग, नगरीय निकाय, पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग और रेलवे पुलिस के अधिकारी-कर्मचारियों का टीकाकरण शत्-प्रतिशत् करवाने के निर्देश दिए। इसके अलावा टीकाकरण अभियान में गठित टीम में हाई स्कूल व हायर सेकेंड्री स्कूल के शिक्षकों के स्थान पर प्राथमिक व माध्यमिक शाला के शिक्षकों को नियुक्त करने कहा गया।

साथ ही अन्य विभागों के अधिकारी व कर्मचारियों को टीकाकरण कार्य के लिए प्रशिक्षण की व्यवस्था करने के निर्देश नोडल स्वास्थ्य विभाग को दिए। स्वास्थ्य विभाग द्वारा संभाग स्तरीय भंडारण स्थल के रूप में महारानी अस्पताल को चिन्हाकित किया गया है। इसके लिए आवश्यक व्यवस्थाओं को जल्द पूर्ण करने के निर्देश निर्माण विभाग के अधिकारियों को दिया गया। बैठक में कलेक्टर रजत बंसल ने कोरोना से हुई डेथ ऑडिट की समीक्षा की और होम आईसोलेशन के नियमों का शब्दशः पालन करवाने के निर्देश स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों दिए। साथ ही कोविड केयर सेंटर धरमपुरा और डिमरापाल अस्पताल की स्थिति का संज्ञान लिए। उन्होंने जिला कोविड-19 कंट्रोल रूम 07782-223122 में प्राप्त शिकायतों की अद्यतन स्थिति तथा बस्तर नोनी 9311042990 में प्राप्त चिकित्सीय सलाह के लिए आने वाले फोन काॅल के संबंध में संज्ञान लेते हुए बस्तर नोनी और कंट्रोल रूम को सक्रिय करने के निर्देश दिए। कलेक्टर ने कोविड के प्रति लोगों को जागरूक करने के लिए जागरूकता रैली करने कहा। विकासखंड स्तरीय टास्कफोर्स, शहरी टास्कफोर्स और एईएफआई की समिति को समय-समय पर बैठक कर टीकाकरण की स्थिति एवं कोरोना प्रोटोकाॅल का पालन के संबंध में आवश्यक कार्यवाही पर विशेष चर्चा करने के निर्देश दिए।

 

22-02-2021
कोरोना के बढ़ते प्रकोप ने बढ़ाई निवेशकों की चिंता,50 हजार के नीचे बंद हुआ शेयर बाजार

मुुंबई। कोरोना के बढ़ते मामलों ने सोमवार को निवेशकों की चिंता बढ़ा दी। इसकी वजह से शेयर बाजार गिरावट के साथ बंद हुआ। बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज का प्रमुख इंडेक्स सेंसेक्स 1145.44 अंक (2.25 फीसदी) नीचे 49744.32 के स्तर पर बंद हुआ। वहीं नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 306.05 अंक यानी 2.04 फीसदी की गिरावट के साथ 14675.70 के स्तर पर बंद हुआ। गिरावट का यह लगातार पांचवां दिन है। दो फरवरी के बाद आज पहली बार सेंसेक्स 50 हजार के नीचे बंद हुआ।

देश में बढ़ते कोरोना वायरस के मामलों से निवेशक चिंतित हैं, जिसकी वजह से बाजार में चौतरपा बिकवाली हुई। महाराष्ट्र और केरल सहित देश के 16 राज्यों में मामले लगातार बढ़ रहे हैं। वैश्विक बाजारों में आई गिरावट का भी घरेलू बाजार पर असर पड़ा। यूरोप के शेयर बाजार में भारी गिरावट आई। सोमवार को शुरुआती कारोबार में सेंसेक्स 15.78 अंक (0.03 फीसदी) की तेजी के साथ 50905.54 के स्तर पर खुला था। वहीं निफ्टी 17.30 अंक यानी 0.12 फीसदी ऊपर 14999.05 के स्तर पर खुला था। इसके बाद बाजार में जोरदार गिरावट आई। दोपहर 1.59 बजे सेंसेक्स 1024 अंक नीचे 49865.38 पर था और निफ्टी 14705.75 के स्तर पर। वहीं शुक्रवार को दिनभर के उतार-चढ़ाव के बाद शेयर बाजार भारी गिरावट पर बंद हुआ था।

 

22-02-2021
कोरोना के बढ़ते प्रकोप के कारण नागपुर में 7 मार्च तक सप्ताहांत मेन मार्केट रहेंगे बंद, नहीं खुलेंगे मैरिज हॉल

नागपुर। बढ़ते कोविड मामलों के मद्देनजर नागपुर, स्कूल, कॉलेजों और अन्य शैक्षणिक संस्थानों को 7 मार्च तक जिले में बंद रहेंगे। यह घोषणा महाराष्ट्र के कैबिनेट मंत्री नितिन राउत ने की। सप्ताह के अंत में नागपुर में मेन मार्केट भी बंद रहेंगे। जिले में कोरोना वायरस संक्रमण में वृद्धि के कारण, होटल और रेस्तरां 50 प्रतिशत क्षमता के साथ चलेंगे। मैरिज हॉल 25 फरवरी से 7 मार्च तक बंद रहेंगे। कोरोना के बढ़ते मामलों के कारण राउत ने अपने बेटे कुणाल राउत की शादी के रिसेप्शन को रद्द कर दिया है। वर्तमान में नागपुर में करीब 7,000 सक्रिय मामले हैं, जबकि जिले में अब तक 6,400 से अधिक लोग घातक वायरस के शिकार हैं। अब तक लगभग 1,44,800 लोग नागपुर में कोरोन वायरस से ग्रसित हैं। लगभग 1,34,500 लोग इस बीमारी से उबर चुके हैं।
महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने रविवार को घोषणा की कि कोविड-19 के बढ़ते मामलों के बीच 22 फरवरी से राज्य में सभी राजनीतिक, धार्मिक और सामाजिक समारोहों पर प्रतिबंध रहेगा।

 

18-12-2020
देश में मिले 22890 नए कोरोना पॉजिटिव, 338 की मौत

नई दिल्ली। देश में कोरोना संक्रमण का प्रकोप थमने का नाम नहीं ले रहा है। लेकिन सक्रिय मामलों में लगातार कमी आ रही हैं और स्वस्थ होने वालों की संख्या भी लगातार बढ़ रही है। पिछले 24 घंटों में कोविड-19 के 22,890 नए मामले सामने आए और 338 लोगों की मौत हुई। केन्द्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय की ओर से शुक्रवार को जारी आंकड़ों के मुताबिक पिछले 24 घंटे में 22,890 नए मामले सामने आए जिससे संक्रमण का कुल आंकड़ा 99,79,447 हो गया। इस दौरान 31,087 मरीजों के स्वस्थ होने से कोरोनामुक्त होने वालों की संख्या 95.20 लाख तथा रिकवरी दर बढ़कर 95.40 प्रतिशत हो गई है। सक्रिय मामले 8535 कम होकर 3.13 लाख पर आ गए हैं और इसकी दर 3.14 प्रतिशत रह गई। इसी अवधि में 338 मरीजों की मौत होने से मृतकों का आंकड़ा बढ़कर 1,44,789 हो गया है और मृत्यु दर अभी 1.45 फीसदी है।

08-12-2020
जनजाति बाहुल्य क्षे़त्र में पण्डों परिवारों को बांटी गई एलएलआईएन मच्छरदानी

रायपुर\सूरजपुर। सूरजपुर जिले के विकासखण्ड़ ओड़गी,जो कि दुर्गम और जनजाति बाहुल्य क्षे़त्र में स्थित हैं। यहां अक्सर मलेरिया का प्रकोप बना रहता हैं। इन क्षेत्रों में मलेरिया के रोकथाम और नियंत्रण के लिए विशेष केन्द्रीय सहायता आदिवासी क्षेत्र उपयोजना मद से ग्राम महुली, कछवारी, कोल्हुआ और बैजनपाठ के 250 गरीब और विशेष पिछड़ी जनजाति पण्डों परिवारों को दो-दो कीटनाशक युक्त एलएलआईएन मच्छरदानी का वितरण किया गया। मलेरिया जैसी बीमारी से बचाव के लिए मच्छरदानी लगाने व साफ-सफाई बनाये रखने के लिए जागरूक किया गया।जिले में एकीकृत आदिवासी विकास परियोजना के अन्तर्गत संचालित जनजातीय बाहुल्य क्षेत्र में मलेरिया नियंत्रण योजना के तहत कीटनाशक युक्त मच्छरदानी वितरित कर जरूरतमंदों को लाभान्वित किया गया।

लोगों के माध्यम से उक्त योजना का लाभ लेते हुए, मच्छरदानी का हमेशा उपयोग करने के कारण इन क्षेत्रों में इस वर्ष अन्य वर्षो की तुलना में मलेरिया का बहुत कम प्रकोप पाया गया। इससे यहां के लोगों को मलेरिया जैसी गम्भीर बीमारी से बचाव हुआ तथा अनावश्यक होने वाली परेशानी व जन-धन की हानि से भी बचे। लाभार्थियों के माध्यम से इस योजना की सरहना की गई। इस प्रकार के जन सुरक्षा युक्त योजनाओं के क्रियान्वयन से जनजागृति व जन सुरक्षा होती हैं। उन्होंने इस के लिए राज्य शासन सहित जिला प्रशासन को धन्यवाद दिया है।

 

29-11-2020
देश में 41 हजार से ज्यादा नए मरीज मिले, 496 की मौत

नई दिल्ली। देश में कोरोना संक्रमण का प्रकोप थमने का नाम नहीं ले रहा है। लेकिन सक्रिय मामलों में कमी आई हैं। पिछले 24 घंटों में कोविड-19 के 41,810 नए मामले सामने आए और 496 लोगों की मौत हुई। केन्द्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय के अनुसार पिछले 24 घंटे में 41,810 नए मामले सामने आए और संक्रमितों का आंकड़ा 93.92 लाख हो गया। इस दौरान 42,298 मरीज स्वस्थ हुए और इसी के साथ काेरोना को शिकस्त देने वालों की तादाद 88 लाख हो गई। सक्रिय मामलों में 984 की गिरावट के साथ यह संख्या 4.53 लाख पर आ गई। इसी अवधि में 496 और मरीजों की मौत होने से मृतकों का आंकड़ा बढ़कर 1,36,696 हो गया है। देश में रिकवरी दर बढ़कर अब 93.71 प्रतिशत हो गई है जबकि मृत्यु दर अभी 1.46 प्रतिशत है।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804