GLIBS
18-09-2020
पिछले तीन दिनों में अलग-अलग बीमारियों से ग्रसित चार की मृत्यु

महासमुंद। विगत तीन दिनों में चार लोगों की मृत्यु होने की पुष्टि जिला स्वास्थ्य विभाग ने की है। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ.एसपी वारे से मिली जानकारी के मुताबिक इनमें बुधवार 16 सितंबर  को ग्राम चारभाठा, सरायपाली की रहने वाली 45 वर्षीय महिला की मेकाहारा में उपचार के दौरान मृत्यु हो गई। उन्हें पहले से ही दाहिने अंगों में लकवा के अतिरिक्त निमोनिया और अनियमित रक्तचाप की समस्या थी। पूर्व में उनका काफी उपचार भी चल रहा था। जांच के दौरान उन्हें कोविड-19 का धनात्मक पाया गया था। दूसरे प्रकरण में गुरूवार 17 सितंबर  को ग्राम गढ़फुलझर, बसना के 40 वर्षीय व्यक्ति की उपचार के दौरान मेकाहारा में मृत्यु हुई। बताया जा रहा है कि वे भी कोविड-19 के धनात्मक थे। उन्हें अचानक सांस लेने में तकलीफ बढ़ गई थी। वहीं तीसरे मामले में सिविल सर्जन सह मुख्य अस्पताल अधीक्षक डाॅ. आरके परदल ने शुक्रवार 18 सितंबर को एक 35 वर्षीय युवक की ब्राॅथ डेड होने की पुष्टि की है। युवक की सांसें चिकित्सालय में भर्ती करने के पहले ही थम चुकी थीं। मरणोपरान्त मृतक के शरीर से कोविड-19 के नमूनों की जांच की गई, जिसमें वह कोविड-19 के धनात्मक निकला। मोहल्लेवासियों के अनुसार वह पिछले दो-तीन दिनों से घर से बाहर नहीं निकला था, जब उन्हें देखा गया तो वह बेहोश मिला। तत्काल उन्हें अस्पताल लाया गया। जहां प्रारम्भिक जांच के दौरान ही चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। डाॅ.वारे ने बताया कि कोविड-19 के निर्धारित प्रोटोकाॅल में संबंधित क्षेत्र के एक दण्डाधिकारी और चिकित्सा अधिकारी की उपस्थिति में सभी का विधिवत अंतिम संस्कार किया जाएगा। समाचार लिखे जाने तक आवश्यक प्रबंध किए जा रहे थे। वही एक अन्य प्रकरण में गुरूवार 17 सितंबर को सरायपाली के बालसी गांव के रहने वाले 43 वर्षीय व्यक्ति की भी उपचार के दौरान राजधानी के एक निजी चिकित्सालय में मृत्यु हो गई। वे भी कोविड-19 के धनात्मक मिले थे। शुक्रवार 18 सितंबर  को उनकी पार्थिव देह का अंतिम संस्कार कोविड-19 के निर्धारित प्रोटोकाॅल के तहत किया गया।

 

17-07-2020
महासमुंद में 595 मिलीमीटर औसत बारिश, बागबाहरा में सर्वाधिक 

रायपुर/महासमुंद। चालू मानसून के दौरान विगत एक जून से आज 17 जुलाई तक 595 मिलीमीटर औसत वर्षा जिले में रिकार्ड की गई है। इस दौरान सबसे ज्यादा 741.6 मिलीमीटर बारिश बागबाहरा तहसील में हुई है। कार्यालय कलेक्टर भू-अभिलेख नियंत्रण कक्ष से प्राप्त जानकारी के अनुसार बसना तहसील में 697 मिलीमीटर, सरायपाली में 679 मिलीमीटर, महासमुंद में 484 मिलीमीटर और पिथौरा में सबसे कम 374 मिलीमीटर वर्षा दर्ज की गई। बता दें कि जिले की सभी पांच तहसीलों में मानसून की संभावित औसत वर्षा सबसे अधिक बसना तहसील में 1268.7 मिलीमीटर महासमुंद की 1265.8 मिलीमीटर सरायपाली की 1225.6 मिलीमीटर पिथौरा की 1172.8 मिलीमीटर और सबसे कम बागबाहरा तहसील की 1026.9 मिलीमीटर है। इस प्रकार मानसून के दौरान जिले की औसत वर्षा 1192 मिलीमीटर है।

13-07-2020
महासमुंद में अब तक 579.6 मिमी औसत बारिश दर्ज

महासमुंद। जिले में अब तक 579.6 मि.मी. औसत बारिश दर्ज की गई है। भू-अभिलेख कार्यालय से मिली जानकारी के अनुसार जिले में आज 18.1 मिमी की औसत वर्षा दर्ज की गई। आज पांचों तहसीलवार वर्षा में महासमुंद तहसील में 5.1 मि.मी., पिथौरा तहसील में 2.4 मि.मी., बागबाहरा तहसील में 3.1 मि.मी., सरायपाली तहसील में 46.2 मि.मी. एवं बसना तहसील में 33.5 मि.मी बारिश दर्ज की गई है।

06-06-2020
अघरिया समाज जरुरतमंदों की मदद के लिए आया आगे, पीएम और सीएम रिलीफ फंड में दी सहयोग राशि

सरायपाली। अघरिया समाज सरायपाली ने प्रधानमंत्री सहायता कोष में 3 लाख 76 हजार और मुख्यमंत्री सहायता कोष में 3 लाख 76 हजार की सहयोग राशि दी है। अघरिया समाज ने शनिवार को पीएम केयर्स फंड में तीन लाख छिहत्तर हजार रुपये का चेक महासमुंद के सांसद चुन्नीलाल साहू सौंपा। वहीं मुख्यमंत्री सहायता कोष में सहयोग राशि प्रदान के लिए अघरिया समाज के पदाधिकारी मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से मिले और उक्त राशि का चेक पालिका अध्यक्ष अमृत पटेल की अगुवाई में सौंपा। प्रतिनिधिमंडल में सरायपाली अघरिया समाज के अध्यक्ष खेमराज पटेल, अंचल प्रभारी विश्वनाथ नायक, वरिष्ठ उपाध्यक्ष नेहरू पटेल,उपाध्यक्ष प्यारेलाल पटेल,कोषाध्यक्ष जितेंद्र पटेल तथा जयंत चौधरी उपस्थित थे।

 

22-05-2020
जलसंसाधन विभाग ने दो सिंचाई योजनाओं के लिए 24.39 करोड़ की दी स्वीकृति

रायपुर। छत्तीसगढ़ शासन ने महासमुंद और बलौदाबाजार की दो सिंचाई योजनाओं के लिए 24 करोड़ 39 लाख 11 हजार रुपए स्वीकृत किए हैं। जलसंसाधन विभाग मंत्रालय महानदी भवन नवा रायपुर से यह स्वीकृति जारी की गई है। इन सिंचाई योजनाओं के अंतर्गत महासमुंद के विकासखंड सरायपाली की बोईरमाल व्यापवर्तन योजना के निर्माण के लिए 11 करोड़ 56 लाख 57 हजार रुपए की स्वीकृति दी गई है। वहीं बलौदाबाजार के लिलार व्यापवर्तन योजना के शीर्ष और नहरों के जीर्णोद्धार सहित नहर लाइनिंग कार्य के लिए 12 करोड़ 83 लाख 54 हजार रुपए की राशि स्वीकृत की गई है।

14-05-2020
इस जिलें में एक ही दिन में रैपिड टेस्ट में मिले 9 पॉजिटिव, अंतिम रिपोर्ट का इंतजार

महासमुंद। महासमुंद जिले में एक ही दिन में रैपिड टेस्ट के जांच में 9 कोरोना पॉजिटिव पाए गए है। अब तक जिले में एक भी पॉजिटिव केस नही मिला था। परन्तु एक ही दिन में 9 मामले सामने आने से तरह तरह की चर्चा होने लगी है। सभी 9 लोग रैपिड टेस्ट में पॅाजिटिव पाए गए है। आज सुबह 3 लोगों का रैपिड टेस्ट कर ब्लड सैंपल रायपुर एम्स भेजा गया था। इसके बाद में सरायपाली के सिंघोड़ा चेक पोस्ट में ड्यूटी पर तैनात कर्मचारियों का रैपिड टेस्ट किया गया। इसमें 6 लोगों का रैपिड टेस्ट में पॉजिटिव पाया गया। सभी के सैंम्पल को जांच के लिए रायपुर एम्स भेजा गया है। कलेक्टर सुनील कुमार जैन ने मामले की पुष्टि करते हुए बताया कि एक ही दिन में जिले में रैपिड टेस्ट में 9 लोग पॉजिटिव पाए गए है। अंतिम जांच रिपोर्ट आने का इंतजार है।

22-04-2020
तुमगांव में पदस्थ नेत्र सहायक अधिकारी निलंबित,एसडीएम सरायपाली के दफ्तर में किया गया अटैच

महासमुंद। तुमगांव में पदस्थ नेत्र सहायक अधिकारी सरोज मिश्रा को अंततः सस्पेंड कर दिया गया। निलंबन अवधि में उनका मुख्यालय अनुविभागीय अधिकारी राजस्व सरायपाली निर्धारित किया गया है। एसडीएम महासमुंद की जांच प्रतिवेदन मिलने के बाद कलेक्टर सुनील जैन ने उक्त कार्रवाई की है।मिली जानकारी के अनुसार तुमगांव में पदस्थ नेत्र सहायक अधिकारी सरोज मिश्रा 31 मार्च 2020 को बिना किसी सूचना के मध्यप्रदेश के ग्राम डबोरा प्रवास पर रही। दो अप्रैल को ग्राम डबोरा जिला रीवा से तुमगांव वापस आकर कार्यालय में कार्यालयीन कार्य संपादन किया। इसकी शिकायत के बाद अनुविभागीय अधिकारी राजस्व ने जांच की। इसमें इस बात की पुष्टि हुई। सरोज मिश्रा को फार्मेट ए नोवेल कोरोना 2019 व सेल्फ रिपोर्टिंग फार्म के अनुसार दो अप्रैल 2020 से होम क्वारंटाइन में रखा गया था तथा उनके आवास में क्वारंटाइन किए जाने के संबंध में नोटिस चस्पा किया गया था।

परंतु इनके द्वारा क्वारंटाइन अवधि में ही कार्यालय में उपस्थित होकर तीन अप्रैल, चार अप्रैल, सात अप्रैल, आठ अप्रैल व नौ अप्रैल को उपस्थिति पंजी में हस्ताक्षर कर अपने पदीय कर्तव्यों का अवहेलना एवं लापरवाही बरती गई। जिस पर कलेक्टर सुनील जैन ने माना कि नेत्र सहायक अधिकारी मिश्रा का कृत्य छग एपिडेमिक डिसीज कोविड 19 रेगुलेशन्स 2020 की धारा 14 के अंतर्गत कोरोना वायरस संक्रमण की रोकथाम व नियंत्रण के लिए जारी निर्देश का स्पष्ट उल्लंघन है तथा भारतीय दंड संहिता 1860-45- की धारा 188 के अंतर्गत दंडनीय अपराध की श्रेणी में आता है। लिहाजा कलेक्टर जैन ने छत्तीसगढ़ सिविल सेवा आचरण नियम 1965 के नियम 3 एक दो तीन के विपरीत होने से सरोज मिश्रा को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया। निलंबन अवधि में सरोज मिश्रा का मुख्यालय अनुविभागीय अधिकारी राजस्व सरायपाली निर्धारित किया गया है।

एफआईआर नहीं होने पर उठाया जा रहा सवाल
इधर इस मामले में आज नेत्र सहायक अधिकारी का निलंबन तो हो गया लेकिन एफआईआर नहीं होने पर सवाल उठाया जा रहा है। उक्त अधिकारी का कृत्य छग एपिडेमिक डिसीज कोविड 19 रेगुलेशन्स 2020 की धारा 14 के अंतर्गत कोरोना वायरस संक्रमण की रोकथाम व नियंत्रण के लिए जारी निर्देश का स्पष्ट उल्लंघन है तथा भारतीय दंड संहिता 1860-45- की धारा 188 के अंतर्गत दंडनीय अपराध की श्रेणी में आता है। ऐसे में एफआईआर क्यों नहीं कराई गई। जबकि कुछ इसी तरह के एक मामले में कटघोरा से आई एक महिला भृत्य के खिलाफ पटेवा पुलिस ने बकायदा मामला दर्ज किया है।

बीएमओ पर भी कार्रवाई की तलवार लटकी
तुमगांव में पदस्थ नेत्र सहायक अधिकारी सरोज मिश्रा के निलंबन के बाद अब बीएमओ के खिलाफ भी कार्रवाई की तलवार लटक रही है। सूत्रों ने बताया कि उनके खिलाफ भी उच्चाधिकारियों को पत्र लिखा जा रहा है।

14-04-2020
लाॅक डाउन के बीच ग्राम रिमजी में गूंजेगीं शहनाई, सिर्फ 5 होंगे बाराती

महासमुंद। जिले के सरायपाली ब्लाक के ग्राम रिमजी में लाॅक डाउन के बीच शहनाई गूंजेंगी। वर पक्ष के आवेदन के बाद एसडीएम ने शादी के लिए पांच शर्तों का पालन करने के साथ अनुमति दी है। इसके तहत बारात में सिर्फ पांच लोग ही जा पाएंगे। मिली जानकारी के अनुसार ग्राम रिमजी निवासी विनोद कुमार पटेल के छोटे भाई जयकृष्ण की शादी 14 अप्रैल से 17 अप्रैल तक तय हुई थी। इसके लिए विनोद कुमार ने कुछ दिन पहले शादी के लिए अनुमति मांगी थी। एसडीएम ने परिस्थितियों को देखते हुए कुछ शर्तों पर अनुमति दी है। इसके तहत कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए शासन के निर्देर्शों का पालन किया जाए। दो या दो से अधिक व्यक्ति होने पर एक-दो मीटर की दूरी में रहकर कार्य किया जाएगा। खानपान के सामान अपने साथ रखेंगे और किसी ठेला या होटल में नहीं रूकेंगे। समय-समय पर सेनिटाइजर व मास्क का उपयोग करेंगे। बारात में अधिकतम पांच लोग ही शामिल होंगे और घर में दस से अधिक लोग उपस्थित नहीं होंगे। इन शर्तों का उल्लंघन होने पर दंडात्मक कार्रवाई की जाएगी।

13-02-2020
महासमुंद जनपद पंचायत से भागीरथी चंद्राकर चुने गए निर्विरोध अध्यक्ष

महासमुंद। महासमुंद जनपद पंचायत से भागीरथी चंद्राकर निर्विरोध अध्यक्ष और त्रिलोकी राधेश्याम ध्रुव उपाध्यक्ष चुने गए हैं। भागीरथी चंद्राकर ने अध्यक्ष के लिए नामांकन दाखिल किया था। निर्धारित समय तक किसी अन्य के द्वारा नामांकन दाखिल नहीं किए जाने पर निर्वाचन अधिकारी सुनील चंद्रवशी ने उन्हें निर्वाचित घोषित कर दिया। वहीं बागबाहरा जनपद पंचायत से  स्मिता हितेश चंद्राकर अध्यक्ष और भेखलाल साहू उपाध्यक्ष चुने गए हैं। बसना जनपद में रूखमणि सुभाष पटेल अध्यक्ष और सतनाम मनजीत सलूजा उपाध्यक्ष चुनी गई हैं। सरायपाली जनपद अध्यक्ष और उपाध्यक्ष चुनाव में फिर से एक बार भाजपा ने कब्जा जमा लिया है। कुमारी भास्कर ने दीपांजलि सरवंश को 1 मत से पराजित कर अध्यक्ष पद पर कब्जा जमाया। उपाध्यक्ष पद पर धर्मेंद्र चौधरी ने भी एक मत से जीत हासिल कर बाबूलाल पटेल को हराया। जीतने के बाद समर्थकों ने आतिशबाजी कर जीत का जश्न मनाया।

 

16-01-2020
हाईकोर्ट का निर्देश अब सीधे नहीं हो पाएगी भ्रूण परीक्षण की शिकायत

रायपुर। जस्टिस संजय के अग्रवाल की एकल पीठ में लिंग परीक्षण की शिकायत पर डॉक्टर दंपत्ति के खिलाफ सीधे दर्ज की गई एफआईआर पर रोग लगा दी है। इसके साथ ही मामले में पुलिस को पीएनडीटी अधिनियम के तहत कोर्ट में परिवाद दायर करने के दिशा निर्देश भी जारी किए है। उल्लेखनीय महासमुंद जिले के सरायपाली बसना के ब्लॉक चिकित्सा अधिकारी डॉ.रोजेदार ने अपने खिलाफ दर्ज एफआईआर को रद्द करने की मांग हाईकोर्ट में याचिका के माध्यम से लगाई थी। याचिकाकर्ता ने कहा है कि उसके खिलाफ एक महिला ने कलेक्टर से  फर्जी शिकायत की थी। शिकायतकर्ता ने कहा है कि डॉ. रोजेदार और उनकी पत्नी भ्रूण परीक्षण करते हैं। महिला की शिकायत के आधार पर कलेक्टर ने तहसीलदार को एफआईआर दर्ज करने के आदेश दिए थे ।कलेक्टर के निर्देश पर तहसीलदार ने थाने में उसके खिलाफ मामला दर्ज कर लिया| मामले की सुनवाई के बाद जस्टिस संजय के अग्रवाल ने चिकित्सक के खिलाफ सीधे दर्ज रोक लगा दी।

 

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804