GLIBS
16-02-2020
सीमावर्ती जिला होने के कारण गौरेला-पेंड्रा-मरवाही में बढ़ी पुलिस चौकसी

पेंड्रा। गौरेला-पेंड्रा-मरवाही जिला  गठन के बाद पुलिस चेकिंग व्यवस्था शुरू कर दी है। जिले के पहले पुलिस अधीक्षक सूरज सिंह परिहार ने अपने पुलिस टीम के साथ  मध्यप्रदेश से लगने वाली सीमावर्ती क्षेत्रों का दौरा कर निरीक्षण किया। इसके साथ ही अंतरराज्यीय सीमा पर होने वाले अवैध व्यापार पर अंकुश लगाने के लिए पुलिसकर्मियों एवं अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिए। वहीं आज पुलिस अधीक्षक के निर्देश पर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक प्रतिभा तिवारी एवं एसडीओपी अशोक वाडेगावकर के नेतृत्व में गौरेला एवं पेंड्रा सहित मरवाही इलाके में भी कॉम्बिंग गश्त की गई। इसके साथ ही क्षेत्र के विभिन्न होटल,लॉज एवं अन्य स्थानों पर मुसाफिरी जांच करते हुए आकस्मिक निरीक्षण किया गया। वहीं पुलिस की टीम के द्वारा पेंड्रा रोड रेलवे स्टेशन में भी सघन जांच अभियान चलाया गया। पुलिस ने स्थानीय मकान मालिकों से अपील की है कि किसी भी किराएदार के बारे में पुलिस को जानकारी आवश्यक रूप से देवें। 

15-02-2020
 सफलता के लिए करें निरंतर प्रयास : अनुसुईया उइके

रायपुर। राज्यपाल अनुसुईया उइके ने कहा कि जब असफलता मिलती है तो उसे चुनौती मानकर सफलता के लिए निरंतर प्रयास करते रहना चाहिए। सफलता और असफलता जीवन के पहलू है। राज्यपाल शनिवार को मध्यप्रदेश के छिंदवाड़ा जिले में स्थित राजमाता सिंधिया शासकीय स्नातकोत्तर कन्या महाविद्यालय में आयोजित अभिनंदन समारोह को संबोधित कर रही थी। उन्होंने इस अवसर पर समस्त बड़े बुजुर्गों और शिक्षकों को नमन किया। राज्यपाल उइके ने कहा कि यह गर्व की बात है कि मेरी शिक्षा-दीक्षा इस महाविद्यालय में हुई और इसके प्रांगण में आयोजित गरिमामयी कार्यक्रम में शामिल होने का अवसर मिला। इस अवसर पर राज्यपाल का शॉल और श्रीफल भेंटकर सम्मान किया गया।

राज्यपाल ने अपने सम्मान में आयोजित सम्मान समारोह में कहा कि जीवन में एक लक्ष्य निर्धारित करें और उसे पाने के लिए निरंतर कार्य करते रहे। जब तक लक्ष्य नहीं होगा तब तक सफलता मिलना संभव नहीं है। उन्होंने कहा कि मैंने गांव से उच्च शिक्षा ग्रहण करने शहर आई तो अपने पढ़ाई का खर्च उठाने के लिए छोटे-छोटे कार्य साबून बेचना, पियरलेस का एजेंट जैसे कार्य किए। मगर कभी हिम्मत नहीं हारा निरंतर कार्य करती रही। उइके ने कहा कि मैंने अपने साथ अध्यनरत अन्य लड़कियों को आगे बढ़ने के लिए प्रोत्साहित किया और लोगों के व्यग्यांत्मक शब्दों को चुनौती माना और अपना कार्य करती रही और अंततः मुझे सफलता मिली। राज्यपाल ने कहा कि मुझे अच्छे मार्गदर्शक भी मिले, साथ ही हमारे देश के महानपुरूषों के जीवन से भी प्रेरणा मिली।

राज्यपाल उइके ने कहा कि यह मेरा सम्मान नहीं बल्कि इस क्षेत्र के सभी भाई-बहनों और साथियों का सम्मान है। यह मेरी कर्मभूमि है। उन्होंने कहा कि मैंने अपने सार्वजनिक जीवन की शुरूआत महाविद्यालयीन समय से की। विद्यार्थियों की समस्या सुलझाने और उनकी मदद करने के दौरान छात्र राजनीति से भी जुड़ी। इससे ही मुझे समाज में आगे बढ़ने की प्रेरणा मिली। उन्होंने आग्रह किया कि हमेशा समाज के गरीब-दुखी और निचले-तबकों की मदद करने के लिए तत्पर रहना चाहिए। इस अवसर पर कॉलेज के प्राचार्य, शिक्षकगण और बड़ी संख्या में विद्यार्थीगण उपस्थित थे।
 
 
 

15-02-2020
तीन दिन की मासूम के साथ हैवानियत, धारदार हथियार से आरोपी ने किया वार, मौत

इंदौर। मध्यप्रदेश के इंदौर में एक दिल दहला देने वाला मामला सामने आया है। जहां एक अस्पताल में तीन दिन की बच्ची के उपर अज्ञात आरोपी ने धारदार हथियार से कई बार वार किया, जिसके बाद बच्ची ने अस्पताल में ही दम तोड़ दिया। मामला इंदौर के शासकीय महाराजा यशवंतराव चिकित्सालय का है। बता दें कि चिकित्सा विभाग के प्रमुख ब्रजेश लाहोटी ने बताया कि नवजात बच्ची की गर्दन, सीने और पेट पर किसी धारदार चीज से कई वार किए गए थे। हमने अस्पताल में उसकी सर्जरी भी की थी, लेकिन तमाम कोशिशों के बावजूद हम उसकी जान नहीं बचा सके। लाहोटी ने बताया कि बुरी तरह घायल बच्ची ने एमवाईएच की गहन चिकित्सा इकाई (आईसीयू) में इलाज के दौरान दम तोड़ दिया। अस्पताल लाए जाने से पहले ही उसका बहुत खून बह चुका था और उसका नाजुक शरीर गहरे जख्मों का दर्द नहीं झेल सका। उन्होंने बताया कि नवजात बच्ची को शाजापुर के जिला अस्पताल से बेहद गंभीर हालत में बुधवार रात इंदौर के एमवायएच भेजा गया था, जहां पोस्टमॉर्टम के बाद बच्ची के शव को उसके परिजनों को सौंप दिया गया। शाजापुर जिले के मोहन बड़ोदिया थाने के प्रभारी उदय सिंह ने बताया कि बच्ची का जन्म जिले के एक अस्पताल में मंगलवार को हुआ था। उसके माता-पिता मजदूरी करते हैं। किसी अज्ञात आरोपी ने बुधवार को उस पर किसी धारदार हथियार से वार किए, वह केवल एक दिन की थी और अस्पताल में अपनी मां के पास ही थी। उन्होंने बताया कि हमें बच्ची पर हमले की सूचना तब मिली जब उसे शाजापुर जिला अस्पताल से ले जाकर इंदौर के एमवायएच में भर्ती कराया गया। बच्ची के माता-पिता ने हमें उस पर हमले की सूचना नहीं दी थी। फिलहाल पुलिस मामले की जांच कर रही है।

 

14-02-2020
कर्मठ राजनेता के रूप याद किए जाएंगे श्यामाचरण शुक्ल : भूपेश बघेल

रायपुर। अविभाजित मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री पंडित श्यामाचरण शुक्ल की शुक्रवार को पुण्यतिथि है। उन्हें पुण्यतिथि पर याद कर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि अविभाजित मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री, छत्तीसगढ़ की माटी के सपूत एवं सहज-सरल व्यक्तित्व के धनी पंडित श्यामाचरण शुक्ल की पुण्यतिथि पर हम सब सादर नमन करते हैं। एक कर्मठ राजनेता के रूप में छत्तीसगढ़ सहित समूचे मध्यप्रदेश की प्रगति के लिए उनके योगदान को सदैव याद रखा जाएगा।

 

13-02-2020
रेलवे स्टेशन में बड़ा हादसा, फुटओवर ब्रिज गिरने से 9 घायल, 3 की हालत गंभीर

भोपाल। मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में पुराने स्टेशन पर गुरुवार को फुटओवर ब्रिज के स्लोप का एक हिस्सा ढह गया। हादसे में 9 लोग घायल हो गए, जिसमें 3 की हालत गंभीर है। 4 को रेलवे और 5 को हमीदिया अस्पताल में भर्ती कराया गया है। जानकारी के मुताबिक, हादसा 2-3 नंबर प्लेटफॉर्म पर हुआ। उस वक्त तिरुपति निजामुद्दीन एक्सप्रेस खड़ी हुई थी। फुटओवर ब्रिज के नीचे कुछ स्टॉल भी लगे हुए थे। हादसे के बाद रेलवे प्रशासन ने आम यात्रियों के लिए एफओबी को बंद कर दिया। मामले की जानकारी मिलते ही जनसंपर्क मंत्री पीसी शर्मा मौके पर पहुंचे। मंत्री ने स्टेशन के सभी ब्रिज की जांच करने के निर्देश दिए हैं। इस दौरान मंत्री ने हादसे की जानकारी ली। वहीं हादसे के बाद प्रदेश के मंत्रियों की अब प्रतिक्रिया सामने आ रही है। मंत्री सज्जन सिंह ने ट्वीट कर घायलों के जल्द स्वास्थ की कामना की है। हादसे की खबर मिलने के बाद मुक्यमंत्री कमलनाथ ने ट्वीट कर घायलों को हर संभव मदद उपलब्ध करवाने की और सभी के जल्द स्वस्थ होने की बात कही। 

 

11-02-2020
अंबिकापुर रवाना हुए अमरजीत भगत, देवेंद्र कुमारी सिंहदेव के अंतिम दर्शन की व्यवस्थाओं का लेंगे जायजा

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की अनुपलब्धता के कारण खाद्य मंत्री अमरजीत भगत राजमाता देवेंद्र कुमारी सिंह देव के अंतिम दर्शन हेतु व्यवस्थाओं का जायजा लेंगे। कल रात दूरभाष पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने खाद्य मंत्री अमरजीत भगत से सरगुजा महाराज पंचायत व स्वास्थ्य मंत्री टी एस सिंहदेव की माता राजमाता देवेंद्र कुमारी सिंह देव की अंतिम यात्रा के संबंध में चर्चा करते हुए उन्हें सारी व्यवस्थाएँ संभालने का जिम्मा दिया। उनके निर्देशानुसार मंत्री अमरजीत भगत मंगलवार सुबह तत्काल चॉपर से अंबिकापुर रवाना हुए। उससे पहले सुबह उठते ही सरगुजा के कलेक्टर व अन्य अधिकारियों से उन्होंने सारी व्यवस्थाओं की जानकारी ली। ज्ञात हो कि कल मेदांता अस्पताल में राजमाता सिंहदेव का लंबी बीमारी के बाद निधन हो गया था। अविभाजित मध्यप्रदेश में सिंचाई मंत्री रहीं सरगुजा राजपरिवार की सबसे वरिष्ठ सदस्य राजमाता देवेंद्र कुमारी सिंहदेव का अंतिम संस्कार राजकीय सम्मान के साथ किया जाएगा। इस अवसर पर राजमाता के अंतिम दर्शन हेतु राजनीति व अन्य क्षेत्रों से जुड़ी बड़ी हस्तियों के अंबिकापुर आने की संभावना है। लेकिन मुख्यमंत्री छत्तीसगढ़ में उपलब्ध नहीं हैं, इसलिए उनकी अनुपस्थिति में खाद्य मंत्री अमरजीत भगत के नेतृत्व में सारी व्यवस्थाएँ की जाएंगी।

 

09-02-2020
सीएए और पाकिस्तान की बात कर जनता का ध्यान भटका रहे मोदी : कमलनाथ

भोपाल। मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ रविवार को पीटीसी मैदान पर संत रविदास की जयंती पर आयोजित जागृति सम्मेलन में शामिल हुए। यहां उन्होंने अपने संबोधन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि मोदी के कार्यकाल में देश में बेरोजगारी और किसानों की आत्महत्या के मामले बढ़े हैं। इन सब बातों से ध्यान हटाने के लिए वह कभी संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) की बात करते हैं तो कभी पाकिस्तान की बात करते हैं। कमलनाथ ने कहा कि नरेन्द्र मोदी किसानों की बात नहीं कर रहे हैं, वह नौजवानों की बात नहीं कर रहे हैं। उन्होंने कहा,‘प्रधानमंत्री मोदी की यह कलाकारी जनता अब पहचान गई है। कमलनाथ ने कहा कि प्रदेश में भाजपा सरकार के पिछले 15 वर्षों के शासनकाल में जितने उद्योग लगाए उससे कहीं ज्यादा बंद हो गए। उन्होंने कहा कि हालांकि मौजूदा सरकार के 15 महीनों के शासनकाल में निवेशकों का मध्यप्रदेश पर भरोसा बढ़ा है। इससे प्रदेश में आर्थिक गतिविधियां सुधरेगी तो युवाओं का भविष्य बनेगा। उन्होंने कहा कि उनकी सरकार का यह वचन है कि वह कृषि क्षेत्र में क्रांति लाएंगे और नौजवानों का भविष्य संवारेंगें। प्रदेश में किसानों की कर्ज माफी के विषय पर कमलनाथ ने कहा कि सरकार अपने वचन के मुताबिक कर्ज माफी के दूसरे चरण में शेष रह गए किसानों का दो लाख रुपये तक का कर्ज माफ करेगी। उन्होंने कहा कि उनकी सरकार हर साल उनके द्वारा किए जा रहे कार्यों का हिसाब देगी। 

 

07-02-2020
छत्तीसगढ़ में नक्सल विरोधी अभियान की समीक्षा करने पहुंचे सुरक्षा सलाहकार विजय कुमार

रायपुर। भारत सरकार के वरिष्ठ सुरक्षा सलाहकार के विजय कुमार छत्तीसगढ़ में नक्सल विरोधी अभियान की समीक्षा के लिए पहुंचे। विजय कुमार और डीजीपी डीएम अवस्थी ने कवर्धा जिला मुख्यालय में नक्सल विरोधी अभियान की समीक्षा की। समीक्षा बैठक में अर्धसैनिक बलों और दोनों राज्यों के सुरक्षा बलों के समन्वय से संयुक्त ऑपरेशन चलाने पर सहमति व्यक्त की गई। बैठक में छत्तीसगढ़ और मध्य प्रदेश के सीमावर्ती जिलों में नक्सल विरोधी अभियान की रणनीति पर चर्चा की गई।  छत्तीसगढ़ के राजनांदगांव, कवर्धा, मध्यप्रदेश के बालाघाट, शहडोल, अनूपपुर, मंडला और डिंडौरी जिलों की सीमाओं में नक्सली गतिविधियों की समीक्षा की गई। उक्त जिलों के पुलिस अधिकारियों ने नक्सली मूवमेंट की जानकारी दी ।
वरिष्ठ सुरक्षा सलाहकार के विजय कुमार और डीजीपी डीएम अवस्थी ने नक्सल विरोधी रणनीति बनाने के निर्देश दिये। उन्होंने निर्देश देते हुए कहा कि आईटीबीपी , जिला फोर्स, एसटीएफ, सशस्त्र बल और जिला बल के माध्यम से तेज ऑपरेशन चलाया जाए। पुलिस को प्राप्त सूचनाओं की सत्यता की जांच करते हुए सर्चिंग अभियान चलाया जाना चाहिए और यह भी ध्यान रखें कि पुलिस द्वारा चलाए जा रहे सर्चिंग अभियान से क्षेत्र के ग्रामीण जनों को किसी प्रकार की परेशानी और असुविधा नहीं होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि केन्द्रीय अद्धैसैनिक बलों के जवानों तथा राज्य पुलिस के जवानों की सुरक्षा भी होनी चाहिए। बैठक में आईजी दुर्ग विवेकानंद सिन्हा, आईजी बालाघाट केपी वेंकटराव, डीआईजी शहडोल पीएस उईके, डीआईजी बालाघाट आरएस डहेरिया, एसएसपी राजनांदगांव बीएस ध्रुव, एसपी कबीरधाम डॉ लाल उम्मेद सिंह, एसपी बालाघाट अभिषेक तिवारी, सेनानी हॉक फोर्स बालाघाट तरुण नायक, सेनानी कोबरा बटालियन बालाघाट अमित कुमार, सेनानी कोबरा बालाघाट कमलेश कुमार, एसपी डिंडौरी पुरुषोत्तम सोलंकी, एसपी मंडला दीपक शुक्ला, एसपी अनूपपुर किरणलता केरकेट्टा उपस्थित रहे।
 

07-02-2020
कोल माफियाओं की अवैध वसूली को लेकर भाजपा ने प्रदेश सरकार पर उठाए सवाल  

छिंदवाड़ा। जिला भाजपा कार्यालय में पत्रकारवार्ता में नत्थन शाह कवरेती और भाजपा के जिला अध्यक्ष बंटी साहू ने बताया कि कन्हान क्षेत्र में कोल माफियाओं द्वारा 500 रुपए प्रति टन की अवैध वसूली की जाती है। अवैध वसूली नहीं देने पर खदानों में गाड़ी लोड नहीं की जाती है या जानबूझकर मिट्टी और पत्थर भरा जाता है। पेंच एवं कन्हान क्षेत्र का कोयला अन्य क्षेत्र के कोयले से भी महंगा हो जाता है। इससे कोल नीलामी में पेंच एवं कन्हान क्षेत्र का कोयला नहीं बिक पाता है। इस दौरान भाजपा नेता परमजीत सिंह विज ने जानकारी देते हुए कहा कि मुख्यमंत्री कमलनाथमध्य प्रदेश में माफियाओं के खिलाफ अभियान चला रहे हैं लेकिन अपने गृह जिला छिंदवाड़ा में माफियाओं द्वारा चलाए जा रहे अवैध वसूली पर लगाम क्यों नहीं लगा पा रहे है।

अरविंद वर्मा की रिपोर्ट

 

06-02-2020
शहीद भगत सिंह बन फांसी पर लटका 12 साल का छात्र, वजह जान कर हो जाएंगे हैरान...

भोपाल। मध्यप्रदेश के मंदसौर स्थित एक प्राइवेट स्कूल में वार्षिकोत्सव समारोह के लिए शहीद भगत सिंह नाटक का मंचन हुआ। शहीद भगत सिंह नाटक में 12 साल के एक छात्र ने अंग्रेज सिपाही का रोल निभाया। नाटक के बाद भगत सिंह की भूमिका का रोल निभाते हुए छात्र फांसी पर लटकने की सीन करने की कोशिश करने लगा। फांसी पर लटकने की सीन करने की कोशिश के दौरान दुर्घटनावश फंदा लगा और छात्र की जान चली गई। प्रियांशु के पिता ने बताया कि शिक्षकों ने एक फरवरी को नाटक में भाग लेने के लिए उसे शामिल किया। दूसरे दिन दोपहर में खेत के पास वह स्कूल के नाटक का वीडियो देख रहा था। उसने भगत सिंह की भूमिका निभाते हुए फांसी पर लटकने का सीन करने की कोशिश की। सीन करने से पहले 12 साल के छात्र को ये नहीं पता था कि चंद पल की लापरवाही उसकी जान पर भारी पड़ जाएगी

पुलिस के अनुसार प्रियांशु ज्ञानसागर स्कूल का छात्र था। नाटक के मंचन के बाद वह खेत में बने टपरे में अपने नाटक का वीडियाे देख रहा था। वीडियो देखते हुए उसके मन में फांसी का सीन करने की कोशिश हुई। उसने पास में ही बल्ली पर रस्सी डाली। वह जिस खटिया पर खड़े होकर बल्ली पर रस्सी डाल रहा, अचानक वह खटिया दूसरी तरफ से उठ गई। खटिया उठने से प्रियांशु का संतुलन बिगड़ने लगा। देखते ही देखते वह फंदे पर झूूल गया। थोड़ी देर बाद खेत में काम कर रहे प्रियांशु के चाचा की नजर पड़ी तो मानो उनके पैर तले जमीन खिसक गई। भतीजे को फांसी पर लटका देख उसने पुलिस को सूचना दी। पुलिस जांच में सामने आया कि फांसी से पहले प्रियांशु मोबाइल में भगत सिंह पर आधारित नाटक का वीडियो देखा था। स्कूल के प्राचार्य अरुण जैन का कहना है कि प्रियांशु स्कूल कम ही आता था। उसके पिता के कहने पर ही हमने उसे नाटक में अंग्रेज सिपाही का रोल दिया था। नाटक में भी फांसी वाला कोई सीन नहीं था। प्रियांशु के मन में यह बात कहां से आई, यह समझ से परे है।

 

05-02-2020
आईएएस अधिकारियों के खिलाफ सीबीआई ने दर्ज की एफआईआर, अधिकारियों में खौफ

रायपुर। निःशक्तजनों की संस्था के नाम पर हुए हजार करोड़ रूपए के घोटाले मामले में सीबीआई ने मध्यप्रदेश में 12 आईएएस अधिकारियों के खिलाफ अपराध पंजीबद्ध किया है। छत्तीसगढ़ हाईकोर्ट की डबल बैंच के आदेश के बाद सीबीआई ने मामले में एफआईआर दर्ज किया है। राजधानी के कुशालपुर निवासी कुंदन सिंह ठाकुर ने बिलासपुर हाईकोर्ट में याचिका दायर की थी। रिट में रिटायर्ड दो मुख्य सचिव और वर्तमान में कार्यरत आईएएस अधिकारियों पर राज्य स्रोत निशक्त जन संस्थान नामक संस्थान बनाकर सरकारी विभागों से हर महीने लाखों रुपए कर्मचारियों के नौकरी के भुगतान के नाम और अन्य कार्यों के लिए रुपए निकाले जाने का आरोप है। याचिकाकर्ता के अनुसार, रायपुर शहर के माना में चार हजार दिव्यांगों के उपचार के नाम पर घोटाले को अंजाम दिया । इलाज के नाम पर करोड़ों रुपये खर्च किया गया लेकिन केवल कागजों पर  अचंभित करने वाली बात यह थी कि याचिकाकर्ता कुंदन सिंह ठाकुर को भी कर्मचारी बताकर उनके नाम से भी पैसे निकाले गए थे। जैसे ही ठाकुर को मामले की जानकारी हुई उसने समस्त दस्तावेज जमा कर हाईकोर्ट में याचिका दायर कर दी। इसके बाद हाईकोर्ट की सिंगल बेंच ने  जस्टीस मनींद्र श्रीवास्तव ने इस प्रकरण की सुनवाई के बाद माना था कि यह मामला साधारण नहीं है। इसे जनहित याचिका के रूप में स्वीकार किया गया और मामले को डबल बेंच में भेज दिया था। 31 जनवरी को कोर्ट ने सीबीआई को सभी के खिलाफ एफआईआर दर्ज किये जाने का आदेश दिया था। इसके साथ ही घोटाले में शामिल अधिकारियों के खिलाफ अलग से विभागीय जांच किये जाने का आदेश भारत सरकार के कार्मिक एवं प्रशिक्षण विभाग को दिया था। 

 

05-02-2020
एनआईटी रायपुर में रोबोटिक्स विषय पर पांच दिवसीय कार्यशाला का आयोजन  

रायपुर। एनआईटी रायपुर में सूचना प्रौद्योगिकी विभाग द्वारा “रोबोटिक्स” विषय पर AICTE ट्रेनिंग एंड लर्निंग (अटल ) द्वारा प्रायोजित पांच दिवसीय कार्यशाला प्रारम्भ हुआ है। इसमें देश के विभिन्न राज्यों से 120 से ज्यादा विद्यार्थियों ने कार्यशाला हेतु अपनी रूचि दिखाई हैं। कार्यक्रम में बिहार, आंध्रप्रदेश, महाराष्ट्र, मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ एवं अन्य महानगरों से 50 विद्यार्थियों का चयन किया गया। कार्यशाला के अतिथि  प्रोफ.शुभ्रता गुप्ता, डीन आर एंड सी शामिल हैं। कार्यक्रम में विशिष्ट रूप से प्रो.एस. सान्याल (मैकेनिकल इंजिनीरिंग), डॉ. संजय कुमार  (आई.टी डिपार्टमेंट) और डॉ. राजेश डोरिया (असिस्टेंट प्रोफेसर) में शामिल हुए।

इस कार्यक्रम के संरक्षक डॉ. ए.एम. रावाणी डायरेक्टर एनआईटी रायपुर और समनवयक एस. सान्याल और डॉ. राजेश डोरिया है। कार्यशाला के प्रथम दिन प्रो. सान्याल ने 'इंट्रोडक्शन ऑफ़ रोबोटिक्स' और 'रोबोट कीनेमेटीक्स' विषय पर अपना व्याख्यान दिया। इन्होंने मुख्यता रोबोटिक्स के विभिन्न ऍप्लिकेशन्स पर छात्रों से विस्तार से चर्चा की। रोबोटिक्स के बेसिक्स से लेकर विभिन्न शोध कार्यों पर भी उन्होंने चर्चा की जिसे प्रतिभागियों ने काफी रोचक एवं शोध कार्य हेतु उपर्युक्त पाया।

यामिनी दुबे की रिपोर्ट 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804