GLIBS
05-04-2020
मध्यप्रदेश: इंदौर के जिस क्षेत्र में स्वास्थ्य टीम पर हुआ था पथराव,वहां से मिले 10 कोविड-19 मरीज

इंदौर। शहर में कोरोना वायरस संक्रमण के 16 नए मामले सामने आए हैं। इसमें से 10 मामले टाटपट्टी बाखल से हैं। यह वही इलाका है,जहां एक अप्रैल को सर्वे के दौरान स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारियों पर हमला और पथराव किया गया था। इसके साथ ही राज्य में पॉजिटिव मामलों की संख्या बढ़कर 128 हो गई है। स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी किए गए मेडिकल बुलेटिन के अनुसार, 3 और 4 अप्रैल को भेजे गए सैंपल में से 16 पॉजिटिव मरीज पाए गए हैं। 16 में से 10 लोग इसी टाटपट्टी बाखल इलाके के हैं जहां पर पत्थरबाजी हुई थी। इनमें 5 पुरुष और 5 महिलाएं हैं। पॉजिटिव पाए गए लोगों की उम्र 29 साल से 60 साल तक है।

 

31-03-2020
मध्यप्रदेश में अब तक कुल 64 पॉजिटिव मामले, इंदौर में संख्या बढ़कर पहुंची 44

 इंदौर। देश में कोरोना वायरस की वजह से मौंतों का आंकड़ा बढ़ रहा है। मध्यप्रदेश के इंदौर में सोमवार को 49 वर्षीय महिला की मौत भी इसी संक्रमण की वजह से हो गई। इसी के साथ राज्य में कोरोना वायरस संक्रमित मरीजों की मौत की संख्या बढ़कर पांच हो गई है। इंदौर जिले में मंगलवार को कोरोना से संक्रमित 17 नए मामलों का पता चला है। इसी के साथ सिर्फ इंदौर शहर में कोरोना संक्रमित मामलों की संख्या बढ़कर 44 हो गई है। शहर के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ.प्रवीण जाडिया ने बताया कि इनके सैंपल दो दिन पहले परीक्षण के लिए भोपाल भेजे गए थे। इंदौर में लगातार बढ़ रहे कोरोना के मामले को लेकर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मंगलवार को इंदौरवासियों को संबोधित किया। अपने संबोधन ने शिवराज ने कहा कि इंदौर दुनिया का अद्भुत शहर है। आपके और मेरे सपनो का शहर, आपकी जागरुकता के कारण इंदौर तीन बार स्वच्छता में देश में पहले नंबर पर आया है।

 आज हमारा प्यारा शहर कोरोना संक्रमण से लड़ रहा है। मैं आप सबसे अपील करना चाहता हूं कि कोरोना को हमें हर हालत में हराना है और इसका एकमात्र उपाय है टोटल लॉकडाउन। अपने घरों में रहिए संपर्क की चैन को तोड़ दीजिए, प्रधानमंत्री द्वारा बताए गए लक्ष्मण रेखा का पालन कीजिए। आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति प्रशासन घरों में करने का प्रयास कर रहा है। उन्होंने कहा कि हम सख्ती करेंगे, टोटल लॉकडाउन। लड़ाई जीतेंगे, कोरोना हारेगा, इंदौर जीतेगा। बस आप घरों में रहें, प्रशासन का सहयोग करें। समस्या बड़ी है, लेकिन हौसला उससे भी बड़ा है। मैं माफी मांग रहा हूं, सख्ती के लिए। इए कोरोना को मिलकर हराएं, इंदौर जरूर जीतेगा। अब तक मिली जानकारी के मुताबिक राज्य में कुल 64 लोग कोरोना वायरस संक्रमण की चपेट में आए हैं। इंदौर के सर्वाधिक 44 मरीज शामिल हैं। इनके अलावा, जबलपुर के आठ, उज्जैन के पांच, भोपाल के तीन और शिवपुरी एवं ग्वालियर के दो-दो मरीजों में भी इस संक्रमण की पुष्टि हुई जिनका अलग-अलग अस्पतालों में इलाज जारी है।

 

30-03-2020
कलेक्टर ने कहा, मालवाहक वाहनों के चालकों और हैल्परों का करे स्वास्थ्य परीक्षण

कवर्धा। कबीरधाम जिला प्रशासन द्वारा कबीरधाम जिले में छत्तीसगढ़ और मध्यप्रदेश को जोड़ने वाली सभी प्रमुख मार्गों की सीमा को सील कर दी गई है। इस प्रमुख मार्गों में रायपुर-जबलपुर मार्ग और पंडरिया से बागाज मार्ग प्रमुख है। इसके अलावा कवर्धा-राजनांदगांव, कवर्धा-मुंगेली मार्ग, बेमेतरा मार्ग की सीमा भी सील कर दिया गया है। कलेक्टर अवनीश कुमार शरण ने सोमवार शाम पुलिस अधीक्षक बीएस धु्रव के साथ लाॅकडाउन के दौरान शांति, सुरक्षा और कानून व्यवस्था का जायजा लेेने के लिए छत्तीसगढ़ की अंतिम सीमा चिल्फी-धवाईपानी सीमावर्ती क्षेत्र का पहुंचे। निरीक्षण के दौरान बोडला एसडीएम विनय सोनी, एसडीओपी अजित ओगरे, नयाब तहसीलदार अमन चतुर्वेदी विशेष रूप से उपस्थित थे।
कलेक्टर अवनीश कुमार शरण ने जिले और प्रदेश के अंतिम सीमा क्षेत्र में तैनात सभी कर्मचारियों को सख्त निर्देश देते हुए कहा कि राज्य शासन द्वारा कोरोना वायरस के संक्रमण के पूर्ण रूप से रोकथाम के लिए जारी लाॅकडाउन का कड़ाई से पालन करे। लाॅकडाउन तक किसी भी प्रकार के पब्लिक सेवा से जुड़ी वाहनों के आने-जाने की अनुमति ना दे। इस दौरान सिर्फ खाद्यान्न से जुडी मालवाहन वाहनों को ही आने और जाने दे। इसके अलावा सब्जियों भरे वाहनों को भी ना रोका जाए। कलेक्टर ने स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि खाद्यान्न समाग्रियों की आपूर्ति में लगे मालवाहक के चालकों और उनके हैल्परों का भी पूरी गंभीरता से स्वास्थ्य परीक्षण करे। उन्होंने यह भी निर्देश देते हुए कहा कि किसी दूसरे राज्यों अपने निजी वाहनों में इस जिले में आने वाले व्यक्तियों का भी पूछताछ करें और उन्हे प्रवेश की अनुमति ना दें।

30-03-2020
ओडिसा से मजदूर साइकिल से जा रहे थे मध्यप्रदेश, पुलिस प्रशासन ने वापस भेजा 

गरियाबंद। मध्यप्रदेश के मजदूरों जो ओडिसा में बोरवेल खनन के लिए गए थे वे वापस 600 किलोमीटर का रास्ता साइकिल से तय करने का निश्चय करते हुए मध्यप्रदेश जा रहे थे। उन्हें गरियाबंद जिला के पांडुका थाना के पुलिस प्रशासन ने रोककर वापस ओडिसा भेजा। दरअसल  मध्यप्रदेश के छह​ मजदूर ओड़िसा के धरमगढ़ जिला में बोरवेल मशीन में कार्य कर रहे थे। इसी दौरान लाकडाउन के कारण काम बन्द हो गया। सभी वाहनों के पहिए भी थम गए। इससे उक्त छह मजदूर अपने घर मध्यप्रदेश के डिंडौरी जाने के लिए साइकिल से निकल गए। दो सौ किलोमीटर का सफर तय करते हुए पांडुका ग्राम तक पहुंच भी गए। पांडुका थाने के द्वारा जांच पड़ताल की गई और कोरोना वायरस के प्रकोप को देखते हुए उन्हें पुनः वापस गरियाबंद जिला मुख्यालय भेजा गया। जिला मुख्यालय से वापस ओड़िसा धरमगढ़ भेज दिया गया।

30-03-2020
सिविल अस्पताल प्रभारी की पत्नी का डायलिसिस के लिए ले जाते समय हुआ निधन

वाड्रफनगर। बलरामपुर जिले के सिविल अस्पताल वाड्रफनगर के प्रभारी आरबी प्रजापति की धर्मपत्नी सरोज प्रजापति अंबिकापुर में डायलिसिस के लिए जाते वक्त रास्ते में निधन हो गया। दरअसल सिविल अस्पताल वाड्रफनगर के प्रभारी की धर्मपत्नी डायबिटीज की मरीज थी,जिसके कारण उनका किडनी भी खराब हो चुकी थी। इसकी वजह से उन्हें डायलिसिस कराना पड़ता था। डायलिसिस के लिए सुबह अंबिकापुर ले जाया जा रहा था कि अचानक घाट पेंडारी के पास तबीयत बिगड़ी और वही उन्होंने अंतिम सांस ली। इसके बाद उन्हें वापस वाड्रफनगर लाया गया। पूरा स्वास्थ्य अमला उनके निवास पर तत्काल पहुंच गया। डॉ.प्रजापति को धैर्य दिलाते हुए उनके पैतृक गांव मध्यप्रदेश के सीधी जिले के गोपालपुर गांव शव को भिजवाने की व्यवस्था की गई। वहीं पर उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा। उनके 2 पुत्र एवं एक पुत्री हैं।

 

 

30-03-2020
लॉकडाउन के कारण फसल नहीं काट पा रहे किसान, मध्यप्रदेश के एक गांव पहुंचा हाथियों का दल, जमकर मचाई तबाही

रायपुर/बिलासपुर। छत्तीसगढ़ की सीमा लांघकर मध्यप्रदेश पहुंचे हाथियों के दल ने बीते दिन वन परिक्षेत्र पश्चिम करंजिया में जमकर तबाही मचाई। सैकड़ों किसानों के गेंहू को रौंद दिया है। हालांकि रेंज का अमला हाथियों को वापस छत्तीसगढ़ में खदेड़ने की कश्मकश में जुटा हुआ है। मामले की सूचना अचानकमार टाइगर रिजर्व को दे दी गई है। हाथियों का दल 5 दिन पहले बेलगहना वन परिक्षेत्र से घुसा है। पहले दो दिन तो वन परिक्षेत्र के जंगल में जमे रहे। अब लगातार स्थान बदल रहे हैं। स्थान बदलने के साथ थोड़े उग्र भी हो रहे हैं। शनिवार को जहां खुड़िया रेंज के झिरिया में फसल तबाह कर दिया तो वहीं रात में अचानकमार टाइगर रिजर्व लौट गए। रात में हाथियों ने रास्ता बदल दिया और छत्तीसगढ़ से बाहर मध्यप्रदेश पहुंच गए। रविवार सुबह 12 हाथियों का यह दल वन परिक्षेत्र पश्चिम करंजिया में पहुंच गया। बोईरहा गांव में जब हाथियों ने आतंक मचाना शुरू किया तब वन अमले को सूचना मिली। गौरतलब है कि कोरोना वायरस के संक्रमण के कारण लॉकडाउन है, जिसकी वजह से किसान फसल भी नहीं काट पा रहे हैं। हाथियों की अचानक धमक से बोईरहा समेत आसपास के गांव में दहशत है। छत्तीसगढ़ व मध्यप्रदेश की सीमा के गांवों का भी यही हाल है।

29-03-2020
रायपुर से पैदल निकले मजदूर 3 दिन में पेंड्रा पहुँचे

पेंड्रा। यातायात की कमी के चलते मजदूरों को पैदल ही कई किलोमीटर चलकर अपने घरों की ओर जाने को मजबूर होना पड़ रहा है। कुछ मजदूर जहां सड़क और पगडंडियों का सहारा ले रहे है तो वहीं कुछ मजदूर रेल की पटरियों के किनारे किनारे चलकर अपनों तक पहुंचने की जद्दोजहद करने में लगे हुए हैं। ऐसा ही एक मामला पेंड्रा क्षेत्र में देखने को मिला जहाँ रायपुर में रहकर ट्रांसपोर्ट में काम करने वाले मध्यप्रदेश के सीधी जिले में रहने वाले कुछ मजदूर साधन न होने के कारण तीन दिन से पैदल चलते हुए पेंड्रारोड स्टेशन पहुंचे। उन्होंने बताया कि हम लोग रायपुर से पैदल ही घर जाने के लिए निकले है। कुछ लोग कोरिया जिले के मनेंद्रगढ़ के गाँव मे रहने वाले है जो पेंड्रा के रास्ते अपने घर जा रहे है। मजदूरों ने बताया कि हम लोग सीधी जिले के लिए निकले है रास्ते में पुलिस के कुछ लोग जरूर मिले जो हमें कुछ दूर तक वाहनों की व्यवस्था कर मदद की। लेकिन घर तक पहुंचने के लिए कोई सहायता नही मिल पा रही है। वही कुछ मजदूर पटरियों की बगल में चलकर अपने घर के लिए निकले हैं।

28-03-2020
डोंगरगांव पुलिस ने लॉक डाउन में फंसे मजदूरों को कराया राशन उपलब्ध

राजनादगांव/डोंगरगांव। कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए पूरे देश भर को लॉक डाउन कर दिया गया है। ऐसे स्थिति में दूसरे राज्यों से काम करने आए मजदूर फंस गए है। डोंगरगांव स्थित भारत नेट मे काम करने वाले मध्यप्रदेश निवासी मजदूरों के पास खाने पीने के लिए सामान उपलब्ध नही है। इसकी सूचना डोंगरगांव पुलिस को  मिलने पर तत्काल थाना प्रभारी द्वारा स्टाफ को भेज कर वहां मौजूद मजदूरों को राशन उपलब्ध कराया गया। यह कार्य लगातार पुलिस द्वारा आसपास की फैक्ट्री में पता लगाकर किया जा रहा है।

25-03-2020
मध्यप्रदेश में कोरोना वायरस से संक्रमित महिला की मौत

इंदौर। कोरोना वायरस से संक्रमित उज्जैन में रहने वाली एक महिला की बुधवार को मौत हो गई। 65 वर्षीय महिला का इंदौर के एमवाय अस्पताल में इलाज चल रहा था। राज्य में ये पहली और देश में 11वीं मौत है। उसे पहले सांस लेने में तकलीफ थी और तीन दिन पहले इंदौर के एमवाय अस्पताल रेफर किया गया था। संदिग्ध लगने पर सैंपल कोरोना जांच के लिए भेजा गया, जिसकी रिपोर्ट मंगलवार देर रात पॉजिटिव आई।
मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ.अनुसूया गवली ने बताया कि उज्जैन की रहने वाली महिला को विगत 22 मार्च को चैरिटेबल हॉस्पिटल में भर्ती किया गया था। उन्हें केवल एक दिन ही सर्दी खांसी की बीमारी होना बताया गया था। उसी दिन मरीज को माधव नगर अस्पताल शिफ्ट कर लिया गया तथा माधवनगर अस्पताल में नोडल अधिकारी डॉ.एचपी सोनानिया द्वारा मरीज का ट्रीटमेंट किया गया। मरीज में कोरोना के लक्षण पाए जाने पर मरीज को इंदौर के एमवाय अस्पताल शिफ्ट कर दिया गया था। इसके बाद बुधवार को संक्रमित महिला की मौत हो गई।

 

24-03-2020
मध्यप्रदेश: शिवराज सिंह ने साबित किया विश्वास मत,सपा-बसपा ने किया समर्थन

भोपाल। मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री के रूप में चौथी बार शपथ लेने वाले शिवराज सिंह चौहान ने मंगलवार को विधानसभा में विश्वास मत हासिल किया। सोमवार रात को शिवराज ने मुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी।. विधानसभा में बहुमत साबित करने के लिए शिवराज सरकार को 104 के आंकड़े की जरूरत थी। लेकिन बीजेपी ने 112 विधायकों का समर्थन साबित किया। इसमें भाजपा के 107 के अलावा बसपा-सपा और निर्दलीय विधायकों ने भी बीजेपी का समर्थन किया।
बता दें कि सोमवार को शपथ लेने के बाद शिवराज की ओर से विधानसभा का चार दिन का विशेष सत्र बुलाया गया है, जो 24 मार्च से 27 मार्च तक चलेगा। विधानसभा के चार दिवसीय विशेष सत्र में सदन की कुल तीन बैठकें होंगी। शिवराज के हाथों में सत्ता की कमान आते ही विधानसभा स्पीकर नर्मदा प्रसाद प्रजापति ने आधी रात को ही स्पीकर पद से इस्तीफा दे दिया।विधानसभा उपाध्यक्ष को भेजे अपने इस्तीफे में उन्होंने नैतिकता को आधार बनाया है।

 

23-03-2020
शिवराज सिंह चौहान के मुख्यमंत्री बनने पर  भाजपा कार्यकर्ताओं में उत्साह : कौशिक

रायपुऱ। नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने भाजपा नेता शिवराज चौहान के चौथी बार मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री बनने पर शुभकामनाएं दी है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान कुशल संगठक हैं। उनके चौथी बार मुख्यमंत्री बनने पर देश और प्रदेश के भाजपा कार्यकर्ता काफी उत्साहित हैं। उनके नेतृत्व में फिर एक बार  मध्यप्रदेश विकास की नई राह पर अग्रसर होगा। नेता प्रतिपक्ष कौशिक ने कहा कि नवनिर्वाचित मुख्ममंत्री चौहान का छत्तीसगढ़ से आत्मीय लगाव रहा है। वो हमेशा पार्टी के हर वर्ग से सीधा जुड़े रहे हैं। इसका लाभ संगठन और समाज के हर वर्ग को होगा।

21-03-2020
मध्यप्रदेश: सिंधिया समर्थक कांग्रेस के बागी विधायकों ने थामा भाजपा का दामन

नई दिल्ली। मध्‍यप्रदेश में इस्‍तीफा देने वाले कांग्रेस के सभी 22 पूर्व विधायक शनिवार को भाजपा में शामिल हो गए। बीते कई दिनों से बेंगलुरू के एक होटल में ठहरे ये पूर्व विधायक शनिवार को ज्योतिरादित्य सिंधिया की मौजूदगी में भाजपा अध्‍यक्ष जेपी नड्डा से मिलने उनके आवास पर पहुंचे। यहां कांग्रेस के 21 पूर्व विधायकों ने भाजपा की सदस्यता ली। कांग्रेस से इस्तीफा देने वाले एक और कांग्रेस के पूर्व विधायक बिसाहूलाल साहू पहले ही भाजपा में शामिल हो चुके हैं। इस दौरान सिंधिया ने कहा कि सभी 22 नेताओं के आत्मसम्मान का ख्याल रखा जाएगा और उन्हें भाजपा टिकट देगी। 

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804