GLIBS
05-02-2020
सर्वेक्षण में रायपुर स्मार्ट सिटी के लिए स्वयंसेवी संगठन आगे आए

रायपुर। स्मार्ट सिटी रायपुर में संचालित जीवन सुगमता सूचकांक सर्वेक्षण-2020 के अंतर्गत आम नागरिकों को फीडबैक के लिए प्रेरित करने कई स्वयंसेवी संगठनों ने रेलवे स्टेशन प्लेटफार्म एवं टैक्सी स्टैंड में अभियान चलाया। वहीं रायपुर रेलवे स्टेशन के निर्देशक बी.बी.वी. राव ने रेलवे अधिकारी-कर्मचारियों को भी फीडबैक के लिए अपील की। सर्वेक्षण के लिए कोई भी नागरिक अपना फीडबैक दे सकते हैं। स्वयंसेवी संगठनों ने रायपुर स्मार्ट सिटी लिमिटेड की टीम के साथ मिलकर ऑटो-टैक्सी चालकों को फीडबैक देने का अनुरोध किया। उनके वाहनों में क्यूआर कोड और लिंक की जानकारी देने वाले पोस्टर लगाए। सभी ने रायपुर में उपलब्ध सुविधाओं के संबंध में फीडबैक अवश्य दिए जाने की बात कही। इस अवसर पर सामाजिक कार्यकर्ता सुरेंद्र बैरागी, शुभांगी आप्टे, एम.एम. उपाध्याय, पल्लवी पाण्डेय, निधि अग्रवाल ने आम नागरिकों से बात की और उन्हें फीडबैक के लिए प्रेरित किया। रायपुर रेलवे स्टेशन के निर्देशक राव ने इस सर्वेक्षण को हर नागरिक के लिए महत्वपूर्ण बताते हुए सभी से अपना फीडबैक अवश्य दिए जाने की अपील की।

25-11-2019
वरिष्ठ पत्रकार अनिल पुसदकर अरविंद दीक्षित वार्ड से लड़ेंगे पार्षद चुनाव

रायपुर। लेफ्टिनेंट जनरल अरविंद दीक्षित वार्ड से वरिष्ठ पत्रकार अनिल पुसदकर चुनाव लड़ेंगे। ज्ञातव्य है कि श्री पुसदकर लंबे समय से पत्रकारिता में हैं। अपनी धारदार लेखनी से उन्होंने समाज में व्याप्त विसंगतियों पर करारा प्रहार करते हुए हमेशा समाज में कल्याणकारी कार्यों का समर्थन किया है। विदित हो कि श्री पुसदकर ने अविभाजित मध्यप्रदेश में 700 बिस्तरीय डॉ. भीमराव अम्बेडकर स्मृति चिकित्सालय (मेकाहारा) के निर्माण के समय समाज के गरीब, वंचित एवं जरूरतमंद मरीजों के लिए स्थापना में आयोजित धरना-प्रदर्शन में भाग लेकर बड़ी भूमिका निभाई। अनेक स्वयंसेवी संगठनों एवं समाज के लिए अच्छा कार्य करने वालों को श्री पुसदकर ने हमेशा समर्थन दिया। वे पत्रकारिता में रहकर भी जनहित के लिए हमेशा लड़ते रहे। उनकी कलम जब भी चली, मजबूर और दुखी लोगों को राहत देने के लिए चली। नगर निगम चुनाव में पार्षद बनकर वे जनहित में बड़ी भूमिका के जरिए समाज में समतामूलक समाज की स्थापना के लिए प्रतिबद्ध हैं।

 

 

28-09-2019
चलित स्वास्थ्य शिविरों में जनप्रतिनिधि व संस्थाएं करें सहयोग : महापौर रेणु अग्रवाल

कोरबा। महापौर रेणु अग्रवाल ने पार्षदों, स्वयंसेवी व सामाजिक संगठनों से कहा है कि वे मुख्यमंत्री शहरी स्लम स्वास्थ्य योजनांतर्गत आयोजित होने जा रहे चलित स्वास्थ्य शिविरों के आयोजन में अपना सक्रिय सहयोग दें ताकि इस जनकल्याणकारी योजना का अधिकतम लाभ लोगों को मिल सके। निगम कार्यालय साकेत भवन स्थित सभाकक्ष में आज महापौर रेणु अग्रवाल एवं आयुक्त राहुल देव की उपस्थिति में चलित स्वास्थ्य शिविरों के सफल आयोजन के संबंध में निगम के पार्षदों एवं स्वयंसेवी संगठनों की बैठक आयोजित हुई।  बैठक में आयुक्त राहुल देव ने चलित स्वास्थ्य शिविरों की जानकारी देते हुए उनसे आग्रह किया कि वे इस महत्वपूर्ण आयोजन में अपनी सक्रिय सहभागिता दें। उन्होंने कहा कि पार्षदगण अपने वार्ड के नागरिकों को अधिक अच्छे तरीके से इस योजना एवं शिविरों की जानकारी दे सकते हैं तथा उन्हें शिविर पहुंचकर स्वास्थ्य सेवाओं का लाभ लेने हेतु प्रेरित कर सकते हैं। उन्होंने बताया कि योजनांतर्गत चलित चिकित्सा दल एक निश्चित स्थान पर पहुंचेगा तथा प्रात: 8  से दोपहर 2 बजे तक स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध कराएगा। इस दौरान विभिन्न जांच उपचार एवं स्वास्थ्य संबंधी परामर्श दिए जाएंगे। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. बीबी बोडे ने कहा कि इस योजना के सफल क्रियान्वयन हेतु नगर निगम कोरबा का भरपूर सहयोग प्राप्त हो रहा है, जिसके लिए मैं महापौर रेणु अग्रवाल एवं आयुक्त राहुल देव के प्रति आभार व्यक्त करता हूूं। उन्होंने बताया कि 2 अक्टूबर को इन चलित स्वास्थ्य शिविरों का शुभारंभ होगा तथा मुख्य कार्यक्रम मुड़ापार में आयोजित किया गया है। डॉ. बोडे ने बताया कि विभिन्न निर्धारित तिथियों में अयोध्यापुरी, स्याहीमुड़ी, दर्री, लाटा, सर्वमंगला नगर, गेवरा, कुदरीपारा, गजरा, सुमेधा, भैरोताल, विकास नगर, आनंदनगर, मुड़ापार, सीतामणी, दादरखुर्द, 15 ब्लाक, कोहडिय़ा, भदरापारा, नेहरूनगर एवं शिवनगर में चलित शिविर आयोजित होंगे। इसके अतिरिक्त एनटीपीसी, बालको, सीएसईबी कोरबा पूर्व एवं कोरबा पश्चिम, एसईसीएल मानिकपुर, कोरबा एवं एसईसीएल कुसमुण्डा अपने-अपने क्षेत्रों में स्थित स्लमों में शिविरों का संचालन करेगा। बैठक में निगम के अपर आयुक्त अशोक शर्मा, पार्षद मनहरणलाल राठौर, विकास अग्रवाल, रामगोपाल यादव, विनीत एक्का, रवि सिंह चंदेल, शिव अग्रवाल, हितानंद अग्रवाल, गीता महंत, रुकमणी नायर, ज्योति वर्मा, सुभाष अग्रवाल, निगम के स्वास्थ्य अधिकारी व्हीके सारस्वत, डॉ.संजय तिवारी, स्वास्थ्य विभाग से अशोक सिंह आदि के साथ अन्य जनप्रतिनिधि व स्वयंसेवी संगठनों के प्रतिनिधि उपस्थित थे। 

 

06-05-2019
बाल विवाह रोकने शासन ने की स्वयंसेवी संगठनों व आमलोगों से अपील

रायपुर। अक्षय तृतीया के अवसर पर  7 मई को देश-प्रदेश में कई विवाह संपन्न होंगे। इस दौरान बाल विवाह की आशंकाओं को देखते हुए राज्य शासन के महिला एवं बाल विकास विभाग और राज्य बाल संरक्षण आयोग ने स्वयंसेवी संगठनों और आमलोगों से बाल विवाह रोकने की अपील की है।

विभाग और आयोग ने कहा है कि जनप्रतिनिधि, स्वयंसेवी संगठन, स्वसहायता समूह और आमजन आगे आकर सूचना तंत्र को प्रभावी बना सकते हैं। बाल विवाह होने की जानकारी होने पर इसकी सूचना तुरंत अनुविभागीय दंडाधिकारी, पुलिस थाने, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, सरपंच, पंचायत सचिव, कोटवार या महिला एवं बाल विकास विभाग के क्षेत्रीय अधिकारी कर्मचारियों को दें। इसके अलावा चाइल्ड हेल्प लाइन नंबर 1098 या बाल संरक्षण आयोग के टोल फ्री 1800-233-0055 नंबर पर भी सूचना दी जा सकती है। बाल विवाह की जानकारी मिलते ही तत्काल शासन स्तर पर कार्रवाई की जाएगी। बाल विवाह प्रतिषेध अधिनियम 2006 के तहत 21 साल से कम उम्र के लड़के या 18 साल से कम उम्र की लड़की से विवाह करना या कराना अपराध है। वर या वधु तय आयु से कम होने पर माता-पिता, सगे-संबंधी, बाराती यहां तक कि विवाह कराने वाले पुरोहित पर भी कार्रवाई हो सकती है।  बाल संरक्षण आयोग ने कहा है कि ग्राम पंचायत के सामुदायिक भवन या अन्य सामुदायिक भवनों को वैवाहिक कार्यक्रमों के लिए आरक्षित करने के पहले वर-वधू का जन्म प्रमाण प्राप्त कर लें। इसके साथ ही आमंत्रण पत्र मुद्रण के पहले वर और वधू का प्रमाण पत्र लेने कहा गया है।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804