GLIBS
10-05-2020
नरेंद्र मोदी 11 मई दोपहर 3 बजे करेंगे सभी मुख्यमंत्रियों से बात

नई दिल्ली। देश में तेजी से फैल रहे कोरोना संक्रमण के बीच खबर है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कल यानी 11 मई को सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों से बात करेंगे। पीएम मोदी  यह बैठक वीडियो कांन्फ्रेंसिंग के माध्यम से कल दोपहर 3 बजे करेंगे। अनुमान है कि इस बैठक में पीएम नरेंद्र मोदी 17 मई के बाद देश भर में लॉकडाउन को लेकर आगे की रणनीति तय करेंगे। कोरोना महामारी को लेकर लॉक डाउन की घोषणा होने के बाद से लेकर अब तक पीएम नरेंद्र मोदी राज्यों के मुख्यमंत्रियों से तीसरी बार वीडियो कांन्फ्रेंसिंग के माध्यम से बात करेंगे।

देश में जिस तरह तेजी से कोरोना संक्रमण बढ़ता जा रहा है, उसे देखते हुए पीएम मोदी सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों से आगे महामारी से लड़ने को लेकर तैयारी पर भी अपडेट जानकारी ले सकते हैं। बता दें कि देश में कोरोना वायरस का कहर लगातार बढ़ता जा रहा है। देश में जारी लॉकडाउन के बावजूद कोरोना से करीब 63 हजार लोग संक्रमित हो चुके हैं। वहीं 2100 से ज्यादा लोगों की अब तक मौत हो चुकी है। स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा रविवार सुबह जारी आंकड़ों के अनुसार, भारत में कोरोना से संक्रमितों की संख्या 62,939 हो गई है। 

09-05-2020
11 मई को शाम 19 पानी टंकियों से प्रभावित होगी पानी सप्लाई, अन्य से सामान्य

रायपुर। 150 एमएलडी इन्टेकवेल में स्थापित पुराने पंप को निकालकर नया लगाने और डिलीवरी पाइप और वाल्व की फिटिंग का कार्य किया जाएगा। इस कारण 11 मई को सुबह की नियमित जल आपूर्ति के बाद 4 घंटे शटडाउन किया जाएगा। कार्य के कारण 19 पानी टंकियों से जलापूर्ति प्रभावित होगी। महापौर एजाज ढेबर और जल कार्य विभाग के अध्यक्ष सतनाम सिंह पनाग ने बताया कि भाटागांव, चंगाेराभाटा, कुशालपुर, डीडी नगर, ईदगाहभाटा, सरोना, टाटीबंध, कोटा, कबीर नगर, जरवाय, गोगांव, मठपुरैना, लालपुर, अमलीडीह, अवन्ति विहार, मंडी, मोवा, सड्डू और दलदल सिवनी ओवर हेड टैंक में 11 मई को शाम की जल आपूर्ति इन 19 जलागारों से सम्बंधित वार्डों के एरिया में आंशिक रूप से प्रभावित रहेगी। इनके अतिरिक्त शहर के अन्य जलागारों और पॉवर पंपों से जलप्रदाय यथावत रहेगा।

29-04-2020
11 मई तक न्यायिक हिरासत में ही रहेगा नीरव मोदी, वीडियो लिंक से होगी सुनवाई

लंदन। हीरा कारोबारी नीरव मोदी को ब्रिटेन की एक अदालत ने मंगलवार को 11 मई तक न्यायिक हिरासत में भेज दिया। इसके बाद उसके मामले की पांच दिन वीडियो लिंक के जरिए सुनवाई की जाएगी। नीरव मोदी भारत में पंजाब नेशनल बैंक से दो अरब डालर (चौदह हजार करोड़ रुपये से अधिक) के कर्ज की धोखाधड़ी और मनी-लॉन्ड्रिंग के मामले में आरोपी है। साथ ही उसे भगोड़ा घोषित किया जा चुका है। वह अपने प्रत्यर्पण के आदेश के खिलाफ ब्रिटेन की अदालत में चुनौती दे रहा है। नीरव इस समय दक्षिण पश्चिम लंदन की एक जेल में है।. उसे मंगलवार को वीडियो लिंक के जरिए ही जेल से अदालत के समक्ष प्रस्तुत किया गया।ब्रिटेन की अदालतों में इस समय कोराना वायरस संक्रमण के खतरे के कारण ऑनलाइन वीडियो संपर्क के माध्यम से ही पेशी हो रही हैं। नीरव के मामले में जिला जज सैमुअल गूजी ने पहले तो इस लॉकडाउन के दौर में प्रत्यर्पण मामले की सुनवाई कार्यक्रम के अनुसार अगले महीने किए जाने पर आपत्ति जताई। बाद में सभी पक्ष मान गए कि सुनवाई के संबंध में अदालत की सीवीपी यानी सामान्य दृश्य प्रणाली का परीक्षण सात मई को होगा। 

इसमें केवल वकील शामिल होंगे। उसके बाद 11 मई को अंतिम सुनवाई शुरू होगी।जज ने कहा कि कुछ जेलों के कैदियों को व्यक्तिगत रूप से पेश कराया जा रहा है। इस लिए मैं वांड्सवर्थ जेल को निर्देश देता हूं कि नीरव मोदी को सुनवाई के लिए 11 मई को पेश किया जाए। यदि व्यक्तिगत रूप से पेश किया जाना व्यवहारिक ना हो तो सुनवाई में उसे वीडियो लिंक के जरिए शामिल कराया जाए। आज सम्बद्ध पक्षों में सहमति हुई कि सुनवाई के समय अदालत कक्ष में सीमित संख्या में ही लोग रहेंगे। नीरव मोदी को भारत के हवाले किए जाने की अर्जी से संबंधित मामले में यह सुनवाई पांच दिन चलेगी। ब्रिटेन सरकार ने भारत की अर्जी पर कार्रवाई के लिए स्वीकृति प्रदान कर दी थी। यह मामला भारत की दो जांच एजेंसियों केंद्रीय जांच ब्यूरो और सतर्कता निदेशालय ने दायर किया है। आरोप है कि नीरव मोदी ने भारतीय बैंक के फर्जी सहमति-पत्र दिखा कर विदेशों में बैंकों से कर्ज लिए और उस धन की हेरा फेरी की।

 

06-05-2019
 प्रथम अपीलीय अधिकारियों की कार्यशाला 11 मई को

रायपुर। सूचना के अधिकार अधिनियम 2005 के व्यापक प्रचार-प्रसार के लिए नगरीय प्रशासन एवं विकास विभाग की एक दिवसीय संभागस्तरीय कार्यशाला का आयोजन 11 मई को सुबह 11 बजे न्यू सर्किट हाऊस न्यू कन्वेंशनल हॉल रायपुर में किया गया है। राज्य सूचना आयुक्त एम. के राऊत कार्यक्रम के मुख्य अतिथि होंगे। संचालक नागरिक नगरीय प्रशासन एवं विकास विभाग सौमिल रंजन चौबे विशिष्ट अतिथि के रूप में उपस्थित रहेंगे। कार्यशाला में प्रो. तपेश चन्द्र गुप्ता मास्टर ट्रेनर छत्तीसगढ़ कॉलेज सूचना के अधिकार अधिनियम की संक्षिप्त जानकारी देंगे। इसके तहत आवेदन की प्रक्रिया एवं शुल्क और सूचना से आशय, आवेदन का निराकरण, फीस एवं समय-सीमा का विवरण, सूचना का प्रकटीकरण से छूट, सूचना देने से इन्कार करने की वजह, पृथक्करणीयता एवं पर व्यक्ति सूचना के संबंध में जानकारी दी जाएगी।

इसी प्रकार मास्टर ट्रेनर द्वारा सूचना के अधिकार के तहत रिकॉर्ड का संधारण, सूचनाओं का स्व-प्रकटीकरण केन्द्रीय एवं राज्य सूचना आयोगों की शक्तियां एवं कार्य, अपील एवं शास्तियां, अपीलीय अधिकारियों की भूमिका, दायित्व, शक्तियों एवं कार्य, सहायक जनसूचना अधिकारी/जनसूचना अधिकारियों की भूमिका, दायित्व, शक्तियां एवं कार्य। इसके बाद परिचर्चा एवं कार्यशाला का समापन होगा। आभार प्रदर्शन सौमिल रंजन चौबे, अपर संचालक, नगरीय प्रशासन एवं विकास द्वारा किया जाएगा।

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804