GLIBS
23-08-2020
Video: पालिका अध्यक्ष ने किया भूपेश बघेल के जन्मदिन पर कोरोना योद्धाओं का सम्मान

जांजगीर चाम्पा। नगरपालिका चांपा के पालिका अध्यक्ष जय थवाईत ने पालिका परिसर पर कोरोना योद्धाओं का सम्मान किया। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के जन्मदिवस पर यूथ कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष पूर्णचंद पाढ़ी के निर्देशानुसार से शहर यूथ कांग्रेस के नेतृत्व में चाम्पा नगर के कोरोना वारियर्स पुलिसकर्मी ,डॉक्टर,नर्स और सफाईकर्मी का सम्मान किया गया। कार्यक्रम में यूथ कांग्रेस शहर अध्यक्ष पंकज शुक्ला, सुरेश देवांगन, जिला महसचिव युवा कांग्रेस, संतोष दुबे, आलोक यादव, भूपेन्द्र यादव, राजेश देवांगन,अजय सोनी, शेखर सोनी, जय सेवायक आदि उपस्थित थे।

 

05-08-2020
Video: सफाईकर्मी गए हड़ताल पर, शहर की सफाई व्यवस्था चरमराई

रायगढ़। नगर निगम के सफाईकर्मी बुधवार को हड़ताल पर चले गए हैं। सैकड़ों कर्मचारियों के हड़ताल में जाने से नगर निगम की सफाई व्यवस्था चरमरा गई है। एक और जहां जिला कलेक्टर भीम सिंह के निर्देश पर नगर निगम के सभी वार्डों में महासफाई अभियान चल रहा है इस समय सफाई कर्मचारियों के हड़ताल में जाने से इस महाअभियान पर भी बुरा असर पड़ा है। बताना चाहेंगे कि नगर निगम में कार्यरत सैकड़ों प्लेसमेंट कर्मचारी,जो शहर की साफ सफाई का काम करते हैं उन्हें काफी समय से दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है कभी उनकी ईपीएफ की रकम नहीं मिलती। कभी उनकी हाजिरी नहीं लगती और कभी उन्हें बेवजह काम में बिठा दिया जाता है ऐसी कई परेशानियों से जूझते हुए नगर निगम के सफाई कर्मचारी कई बार आंदोलन और हड़ताल कर चुके हैं। वही इस मुद्दे को लेकर आयुक्त आशुतोष पांडे ने बताया कि आज सैकड़ों की संख्या में सफाई कर्मी हड़ताल पर चले गए हैं। उनसे चर्चा की जा रही है। उनकी समस्या का जल्द समाधान किया जाएगा। किसी के साथ भी अन्याय नहीं किया जाएगा और शासन के नियमों के अनुसार ही कार्य किया जाएगा। उन्होंने यह भी आशा की है कि कल तक इनकी हड़ताल खत्म हो जाएगी और यह वापस काम पर आ जाएंगे। इससे सफाई व्यवस्था को किसी प्रकार का बाधा उत्पन्न नहीं होगी।

 

31-07-2020
Breaking : प्रोटीनयुक्त पेटभर खाना व नास्ता की मांग को लेकर इस अस्पताल में सफाईकर्मी हड़ताल पर

रायपुर। मेकाहारा के कोविड वार्ड के सफाईकर्मी हड़ताल पर है। कर्मचारियों का आरोप है कि उन्हें प्रोटीनयुक्त भोजन नहीं दिया जा रहा है। शाम चार बजे थोड़ा सा नास्ता पोहा या भजिया दिया जाता है, जिसके कारण वे परेशान है। उनका कहना है कि जब तक पेटभर खाना ही नहीं मिलेगा तो वे ड्यूटी कैसे करेंगे। मामले में हमने प्रबंधन से बात करने का प्रयास किया लेकिन संपर्क नहीं हो पाई।

07-07-2020
आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, सफाईकर्मी, स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारियों को किया गया सम्मानित

कोरबा। कोविड 19 वारियर्स के तौर पर क्षेत्र के मितानिनों, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, सहायिका, सफाईकर्मी, स्वास्थ्य विभाग, पटवारी, नगरपालिका वालेंटियर को पार्षद ममता बालीराम साहू ने सम्मानित किया। लॉक डाउन के दौरान स्वास्थ्य कर्मचारी, सुरक्षाकर्मी, तथा सफाईकर्मी फ्रंटलाइन वारियर्स के तौर पर समाज की सेवा तथा सुरक्षा में अपना सहयोग प्रदान कर रहे हैं। सम्मान समारोह सोशल डिस्टेंसिंग किया गया। इस दौरान, पटवारी आशुतोष पांडे, नीता कौशल, सुमन महतो,हीराबाई जांगडे, संतोषी तिवारी, विजय लक्ष्मी, सत्यवती, भानमती, लता, सोनकलिया, लक्ष्मी वारे, कुंती गोप, आरती वर्मा अरुण टंडन, बैसाखा बाई, उषा साहू, लक्ष्मी वैष्णव एवं वार्डवासी उपस्थित थे।

09-05-2020
कीप फ्लेपिंग फार वालिन्टियर्स

रायपुर/बिलासपुर। रेडक्रॉस दिवस के अवसर पर बिलासपुर शहर के सिम्स परिसर में आयोजित एक कार्यक्रम में "कीप फ्लेपिंग फार वालिंटियर्स" की तर्ज पर कोरोना वारियर्स का गरिमामय माहौल में सम्मान व अभिनंदन किया गया। इस आयोजन में बिलासपुर आईजी दीपांशु काबरा, कलेक्टर डॉ. संजय अलंग एवं एसपी प्रशांत कुमार अग्रवाल, अपर कलेक्टर सीएस देवांगन एवं रेडक्रास सोसाइटी की जिला शाखा के सचिव डॉ. प्रमोद महाजन, सिम्स के डॉ. पुनीत भारद्वाज डॉक्टर महरैल, डॉ. आरती पांडे एमए जीवनी, जवाहर सराफ, अनिल तिवारी डॉ. बीएल गोयल, राजीव अवस्थी, सौरभ सक्सेना एवं आदित्य पाण्डेय, समेत अनेक शख्सियतें मौजूद रहीं। कोरोना वारियर्स की भूमिका पूरे समर्पित भाव एवं सक्रियता से निभा रहे चिकित्सक, पेरामेडिकल स्टाफ, चिकित्साकर्मी तथा, सफाईकर्मी एवं स्वयंसेवी वॉलिंटियर्स को उनके सेवा भाव के लिए साधुवाद दिया गया।

जिला रेडक्रास सोसाइटी के अध्यक्ष एवं कलेक्टर डॉ. संजय अलंग की अगुवाई में आयोजित इस आयोजन में सर्वप्रथम कोरोना वारियर्स के द्वारा ऐसे संकट के समय स्वयंसेवी ढंग से पूर्ण समर्पण के साथ की गई सेवा की सराहना की गई। साथ ही वहां उपस्थित उच्चाधिकारियों, रेड क्रॉस सोसाइटी के सदस्यों गणमान्य लोगों द्वारा जोरदार तालियां बजाकर (फ्लैपिंग कर) कोरोना वारियर्स की भूमिका निभाने वाले चिकित्सकों, चिकित्साकर्मियों, सफाईकर्मियों और स्वयंसेवी संस्थाओं के स्वयंसेवकों तथा अन्य वॉलिंटियर्स समेत संकट की इस बेला में समाज हित की दृष्टि से छोटी बड़ी भूमिका का निर्वहन करने वाले सभी लोगों का  अभिनंदन कर हौसला अफजाई की गई। साथ ही‌ आईजी दीपांशु काबरा एवं कलेक्टर डॉ. संजय अलंग द्वारा आज के आयोजन को यादगार बनाने और कोरोना के खिलाफ चल रही जंग में कोरोना वारियर्स के साथ  कंधे से कंधा मिलाकर कोरोना को परास्त करने का संदेश के देने के लिए आसमान में गुब्बारे भी छोड़े गए।

31-03-2020
लॉक डाउन में नब्ज टटोलने मुख्यमंत्री ने जनता को लगाया फोन, दिलाया मदद का भरोसा 

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने लॉक डाउन के दौरान जनता की नब्ज जानने के लिए फोन पर सीधे समाज के विभिन्न वर्गों के लोगों से बातचीत की और उन्हें आ रही दिक्कतों के सम्बंध में जनकारी ली। मुख्यमंत्री ने अपने निवास से वीडियो कॉलिंग के जरिये इनसे बातचीत की। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार लोगों की हर संभव मदद के लिए पूरे प्रयास कर रही है। मुख्यमंत्री ने प्रदेश के विभिन्न जिलों में रहने वाले किसान, मजदूर, नर्स, ग्रामीण, सफाईकर्मी, सब्जी दुकानदार, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता और महिला सरपंच से बातचीत की। 

पंचर सुधारने वाले श्रमिक अशोक कटाने से की बात

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल का फोन आज भिलाई 3 के एकता नगर, वार्ड 8 के निवासी साईकल एवं पंचर सुधारने वाले श्रमिक अशोक कटाने के पास आया। मुख्यमंत्री ने कहा शासन द्वारा लोगों को संकट से उबारने अनेक कदम उठाये गए हैं। इनका लाभ उन्हें किस तरह से मिल रहा है। यह जानने फोन किया है। अशोक ने मुख्यमंत्री को बताया कि जैसे ही लॉक डाउन हुआ, निगम के अधिकारी उनसे मिले और कहा कि आप घर में रहें, यदि खाने-पीने का संकट हो तो बताएं। निगम द्वारा स्वयं के स्तर पर भी और स्वयंसेवी संस्थाओं द्वारा भी इसकी व्यवस्था की जा रही है।अशोक ने मुख्यमंत्री को बताया कि राज्य सरकार द्वारा 2 महीने का चावल उचित मूल्य दुकान में उपलब्ध कराया गया है। इसे कल जाकर लेना है।

 महिला सरपंच कुंती बनवासी से की बात
मुख्यमंत्री ने जशपुर जिले की ग्राम पंचायत जूजगु की महिला सरपंच कुंती बनवासी से फोन पर पूछा कि उनकी ग्राम पंचायत में उचित मूल्य की दुकान से राशन मिलना शुरू हुआ है या नहीं।  कुंती ने बताया कि दो माह के राशन का वितरण प्रारंभ कर दिया गया है। लोगों को घर पहुंचाकर चावल दिया जा रहा है। मुख्यमंत्री ने उनके इस प्रयास की सराहना करते हुए कहा कि राशन पहुंचाते समय यह भी ध्यान रखें कि ज्यादा भीड़-भाड़ ना हो। 

श्रमिक युसुफ खान से की बात
भूपेश बघेल ने बिलासपुर के त्रिवेणी भवन में ठहरे श्रमिक युसुफ खान से मोबाईल पर बात की।  युसुफ खान ने बताया कि उन्हें खाने, पीने, रहने की कोई समस्या नहीं है, यहां जिला प्रशासन और नगर निगम द्वारा सभी व्यवस्था की गई है। सवेरे, शाम चाय-नाश्ते के साथ ही दोपहर एवं शाम का भोजन दिया जा रहा है। उन्होंने मुख्यमंत्री से अपने गांव जाने की इच्छा जताई। इस पर मुख्यमंत्री ने आश्वस्त किया कि कोरोना वायरस के कारण लाॅक डाउन बहाल होने के बाद तत्काल उन्हें भेजने की व्यवस्था की जाएगी।


 

21-10-2019
अगर 'गिद्ध' खत्म हुए तो खतरे में पड़ जाएगी ज़िंदगी

रायपुर। मृत्यु के प्रतीक माने जाने वाले गिद्ध अब खुद मौत के मुंह में खड़े हैं, उन्हें संरक्षण की जरूरत है। लेकिन ख़ुशी इस बात की है कि सफ़ेद गिद्ध छत्तीसगढ़ राज्य के अलग-अलग हिस्सों मे दिखाई देते है। लेकिन इनकी संख्या नहीं के बराबर है। पिछले कुछ सालों से बिलासपुर जिले की सरहद में अलग-अलग इलाकों में दिखाई पड़े सफ़ेद गिद्ध वैसे तो अपने लौट आने का संदेश दे चुके हैं, लेकिन उनके पुनरुत्थान के लिए फौरन कोई कदम नहीं उठाया गया तो इनकी प्रजाति को विलुप्त होने से रोका नहीं जा सकेगा। बिलासपुर जिले के ग्राम मोहनभाठा में रविवार को सफ़ेद गिध्दों का परिवार दिखाई पड़ा। इस परिवार में दो वयस्क के साथ बच्चे भी हैं। सफेद गिद्धों की वापसी को लेकर पक्षी मित्र या फिर संबंधित अमला कितना गंभीर है ये किसी यक्ष प्रश्न से कम नहीं लेकिन पर्यावरण संतुलन में अपनी सहभागिता के लिए सफेद गिद्ध लौट आये हैं।  

सफ़ेद गिद्ध अपने अन्य प्रजाति के पक्षियों की तरह ही लाशों का ही सेवन करता है लेकिन यह अवसरवादी भी होता है और छोटे पक्षी, स्तनपायी और सरीसृप का शिकार कर लेता है। अन्य पक्षियों के अण्डे भी यह खा लेता है। दुनिया के अन्य इलाकों में यह चट्टान और पहाड़ियों के छिद्रों में अपना घोंसला बनाते है लेकिन भारत में इनको ऊँचे पेड़ों, इमारतों की खिड़कियों के छज्जों और बिजली के खम्बों पर घोंसला बनाते देखा गया है।

यह जाति आज से कुछ साल पहले अपने पूरे क्षेत्र में पर्याप्त आबादी में पायी जाती थी। 1990 के दशक में सफ़ेद गिद्ध की इस जाति का 40% प्रति वर्ष की दर से 99% पतन हो गया। इसका मुख्य कारण पशु दवाई डाइक्लोफिनॅक है जो कि पशुओं के जोड़ों के दर्द को मिटाने में मदद करती है। यह दवाई खाया हुआ पशु या पक्षी मर जाता है। सफ़ेद गिद्ध जब उस दवाई को खाता है तो उसके गुर्दे कार्य करना बंद कर देते हैं और वह मर जाता है। अब नई दवाई मॅलॉक्सिकॅम आ गई है और यह गिद्धों के लिये हानिकारक भी नहीं हैं।



गिद्धों को प्रकृति का सफाईकर्मी कहा जाता है। वे बड़ी तेजी और सफाई से मृत जानवर की देह को सफाचट कर जाते हैं और इस तरह वे मरे हुए जानवर की लाश में रोग पैदा करने वाले बैक्टीरिया और दूसरे सूक्ष्म जीवों को पनपने नहीं देते। लेकिन गिद्धों के न होने से टीबी, एंथ्रेक्स, खुर पका-मुंह पका जैसे रोगों के फैलने की काफी आशंका रहती है। इसके अलावा चूहे और आवारा कुत्तों जैसे दूसरे जीवों की संख्या में तेजी से बढ़ोतरी हुई। इन्होंने बीमारियों के वाहक के रूप में इन्हें फैलाने का काम किया। आंकड़े बताते हैं कि जिस समय गिद्धों की संख्या में कमी आई उसी समय कुत्तों की संख्या 55 लाख तक हो गई। इसी दौरान (1992-2006) देश भर में कुत्तों के काटने से रैबीज की वजह से 47 हजार 3 सौ लोगों की मौत हुई।

कहते हैं कि मवेशियों के इस्तेमाल के लिए डिक्लोफिनेक पर प्रतिबंध लगा दिया गया है लेकिन अब भी ऐसी दवाएं इस्तेमाल की जा रही हैं जो गिद्धों के लिए जहरीली हैं। जल्द से जल्द इन पर भी रोक लगाने की जरूरत है। इनमें से कुछ हैं एसीक्लोफेनाक, कारप्रोफेन, फ्लुनिक्सिन, केटोप्रोफेन। हालांकि, दवा कंपनियां इन पर प्रतिबंध का जोरशोर से विरोध करेंगी जैसा डिक्लोफिनेक के समय किया था। लेकिन अगर प्रकृति का संतुलन गड़बड़ाने से बचाना है तो देर सबेर ही सही यह कदम उठाना होगा।

वाइल्डलाइफ जर्नलिस्ट - सत्यप्रकाश पांडे 

12-10-2019
सफाईकर्मी से युवकों ने की लूट, मामला दर्ज

रायपुर। राजधानी के स्कूल में सफाई का काम करके वापस आ रहे सफाई कर्मचारी को डंडे से वारकर मोबाईल व नगदी रुपए लूटने का मामला प्रकाश में आया है। दरअसल सेजबहार थाने में दतरेंगा मुजगहन निवासी प्रेमलाल भारती ने रिपोर्ट दर्ज कराई है कि प्रार्थी शंकराचार्य स्कूल में सफाई का काम करके वापस घर की ओर जा रहा था तभी डोमाखार नाला के नीचे ढलान में संतराम धीवर 22 वर्ष व चेतन एवं अन्य एक युवक ने डंडा दिखाकर उसको रोका और मारपीट कर आरोपियों ने जेब में रखे नगदी 3 सौ रुपऐ व मोबाईल फोन लूटकर भाग गए। घटना की रिपोर्ट पर पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ धारा 394 के तहत लूट का मामला दर्ज कर लिया है। 

 

25-04-2019
मायावती के हेलीपैड पर घुसे सांड ने सफाईकर्मी और पुलिसकर्मी को किया घायल

कन्नौज। कन्नौज में राज्य की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती के लिए बनाए गए हेलीपेड पर उस वक्त भगदड़ मच गई जब वहां एक सांड घुस गया। यहां अखिलेश यादव और मायावती की रैली होने वाली थी।  कुछ देर के लिए रैली स्थल पर अशांति फैल गई। पुलिस जवानों ने सांड को भगाने के लिए काफी मशक्कत करनी पड़ी। बताया जा रहा है कि सांड को भगाने में एक सफाई कर्मचारी और एक पुलिसकर्मी घायल हो गए। बता दें कि कन्नौज में गठबंधन प्रत्याशी डिंपल यादव के प्रचार के लिए रैली का आयोजन किया गया था। बसपा सुप्रीमो मायावती और उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव एक साथ जनसभा को संबोधित करने वाले थे। इसके लिए जनसभा स्थल पर हेलीपैड बनाया गया था। दोनों नेताओं के आने से पहले ही वहां एक सांड घुस गया। भीड़ में सांड के घुसने से रैली स्थल पर भगदड़ मच गई। पुलिस जवानों ने काफी मशक्कत के बाद सांड को काबू में किया। इस बीच अपने भाषण में अखिलेश यादव ने कहा कि भीषण गर्मी में के बाद भी जनता की यह भीड़ बता रही है कि कन्नौज से बड़ा परिणाम आएगा। अखिलेश ने कहा कि मैं और डिंपल यहां आने से पहले मां अन्नपूर्णा मंदिर गए थे। मालूम हो कि इससे पहले उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की रैली में हेलीपैड पर सांड घुस गया था।

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804