GLIBS
18-09-2020
कांकेर जिले में मिले 57 नए कोरोना पॉजिटिव,जंगलवार कालेज के 16 जवान संक्रमित

कांकेर। स्वास्थ्य विभाग की ओर से शुक्रवार शाम जारी सूची में कुल 57 कोरोना संक्रमित मरीजों की पहचान हुई है। इसमें सर्वाधिक 23 मामले कांकेर ब्लॉक से है। कांकेर से अकेले जंगलवार कालेज से 16 जवान संक्रमित मिले हैं। इसके साथ ही 7 अन्य क्षेत्रों व शहर से हैं। ब्लॉकों में भी आकंड़े बढ़ रहे है,जिसमें अंतागढ़ से 12, भानुप्रतापपुर से 6, चारामा से 2, दुर्गूकोंदल से 5, नरहरपुर से 4 और कोयलीबेड़ा से 5 संक्रमित मिले हैं। वहीं नरहरपुर में डॉक्टर व एक व्यापारी एवं दुर्गूकोंदल में ग्रामीण कोरोना संक्रमण के चपेट में आने की पुष्टी की गई है।

 

18-09-2020
जिले के सभी शासकीय अस्पतालों में हो रही मुफ्त में कोरोना जांच

कोरबा। जिले के नागरिकों को मुफ्त में कोरोना जांच की सुविधा मिल रही है। राज्य शासन द्वारा जिले के सभी शासकीय अस्पतालों में कोरोना जांच की सुविधा प्रदान की जा रही है। लोगों को जिले के सभी शासकीय अस्पतालों में निःशुल्क में एंटीजन टेस्ट कराने की सुविधा मिल रही है। कोरबा शहर स्थित इंदिरा गांधी शासकीय जिला चिकित्सालय में मुफ्त में आरटीपीसीआर टेस्ट और ट्रु-नाॅट विधि से कोरोना जांच के लिये सैम्पल लिया जा रहा है। जिले के छह सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों में मुफ्त में एंटीजन टेस्ट कराने की सुविधा मिल रही है। कोरोना संदिग्ध लोग अपने नजदीकी शासकीय चिकित्सालय में जाकर एंटीजन टेस्ट करा सकतेे हैं। जिले के 37 प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रो में भी एंटीजन टेस्ट कराने के लिये सम्पर्क किया जा सकता है। स्वास्थ्य विभाग द्वारा मोबाइल मेडिकल टीम भी गठित की गई है।

मोबाइल मेडिकल टीम प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रोें में जाकर मुफ्त में एंटीजन टेस्ट करेंगे। जिले के एक निजी डाॅयग्नोस्टिक लैब को आईसीएमआर द्वारा कोरोना जांच करने की अनुमति मिली है। इस निजी लैब में शासन द्वारा निर्धारित दर में एंटीजन टेस्ट कराने की सुविधा उपलब्ध है। कोरबा शहर स्थित एडवांस डाॅयग्नोस्टिक सेंटर में जाकर कोई भी कोरोना लक्षण वाले लोग 900 रूपये शुल्क चुकाकर एंटीजन टेस्ट करा सकते हैं। इंदिरा गांधी शासकीय जिला अस्पताल कोरबा में कोरोना लक्षण वाले लोगों का आरटीपीसीआर टेस्ट सैम्पल लिया जा रहा है। आरटीपीसीआर सैम्पल को रायगढ़ और बिलासपुर के मेडिकल काॅलेजों में जांच के लिये भेजा जा रहा है। भेजे गये सैम्पल की जांच रिपोर्ट दो से तीन दिन में मिल जा रही है। जिला अस्पताल में ट्रु-नाॅट विधि से भी कोरोना की जांच की जा रही है।

 

18-09-2020
भूपेश सरकार ने अब सीटी स्कैन की दरें की निर्धारित,स्वास्थ्य विभाग ने जारी किया आदेश

रायपुर। राज्य शासन ने कोविड मरीजों के उपचार के दौरान हाई रिजाल्यूशन एचआरसीटी इन्वेस्टिगेशन की आवश्यकता होने पर निजी चिकित्सालयों और डायग्नोस्टिक केन्द्रों के लिए दरें निर्धारित की हैं। स्वास्थ्य विभाग की ओर से शुक्रवार को जारी आदेश के अनुसार सीटी चेस्ट विदाउट कान्ट्रास्ट फार लंग्स के लिए 1870 रुपए, सीटी चेस्ट विद कान्ट्रास्ट फार लंग्स के लिए 2354 रुपए निर्धारित शुल्क रखा गया है। आदेश में कहा गया है कि, प्रदेश के सभी निजी चिकित्सालयों को कोविड -19 मरीजों के इलाज के लिए छत्तीसगढ़ शासन की ओर से  निर्धारित शुल्क ही लिया जाए। आईसीएमआर और राज्य शासन की ओर से तय किए गए ट्रीटमेंट प्रोटोकाल का पालन करते हुए केवल आवश्यक जांच ही कराई जाए। कोविड 19 मरीजों का आरटीपीसीआर/ट्रूनाट/एंटीजेन टेस्ट केवल आईसीएमआर और राज्य शासन की ओर से अधिकृत पैथालॉजी केन्द्रों/अस्पतालों में ही किया जाए। उपरोक्त आदेश का उल्लंघन एपिडेमिक डिसीज एक्ट 1897,छत्तीसगढ़ पब्लिक एक्ट1949 और  छत्तीसगढ़़ एपिडेमिक डिसीज कोविड 19 रेगुलेशन एक्ट 2020 के तहत दंडनीय होगा।

 

18-09-2020
होम आइसोलेशन में इलाज करा रहे 21361 कोरोना संक्रमितों को उपलब्ध कराई गई मेडिसीन किट

रायपुर। होम आइसोलेशन में रह कर कोविड-19 का इलाज करा रहे 21 हजार 361 मरीजों को स्वास्थ्य विभाग द्वारा मेडिसीन किट उपलब्ध कराई गई है। प्रदेश में कोविड-19 के उपचार के लिए अब तक 22 हजार 435 मरीजों ने होम आइसोलेशन का विकल्प चुना है। इनमें से 8441 मरीज होम आइसोलेशन की अवधि पूरी कर स्वस्थ हो चुके हैं। स्वास्थ्य विभाग द्वारा मरीजों को दवाईयां उपलब्ध कराने के साथ ही होम आइसोलेशन के दौरान मरीजों और उनके परिजनों द्वारा बरती जाने वाली सावधानियों व दिशा-निर्देशों की जानकारी दी जा रही है। सभी जिलों में स्थापित होम आइसोलेशन कंट्रोल रूम के माध्यम से मरीजों की सेहत की निगरानी भी की जा रही है।

प्रदेश में कोविड-19 से जंग जीतने वाले मरीजों की कुल संख्या अब 41 हजार 111 पहुंच गई है। विभिन्न कोविड अस्पतालों और कोविड केयर सेंटर्स में इलाज के बाद स्वस्थ हुए 32 हजार 630 लोगों को डिस्चार्ज किया जा चुका है। वहीं होम आइसोलेशन में स्वास्थ्य लाभ ले रहे 8481 मरीज भी ठीक हो चुके हैं। 17 सितम्बर को प्रदेश भर में 5226 मरीजों ने कोरोना को मात दी है। इनमें कोविड केयर सेंटर्स और अस्पतालों से डिस्चार्ज 2019 और होम आइसोलेशन पूर्ण कर स्वस्थ हुए 3207 शामिल हैं।

स्वास्थ्य विभाग द्वारा स्थानीय प्रशासन के सहयोग से रायपुर जिले में होम आइसोलेटेड 7484 कोरोना संक्रमितों तक मेडिसीन किट पहुंचाई गई है। बिलासपुर जिले में होम आइसोलेशन वाले 2625, राजनांदगांव में 2203, दुर्ग में 1556, रायगढ़ में 1329, कबीरधाम में 595, कोरिया में 591, सरगुजा में 569, धमतरी में 515, मुंगेली में 419, कांकेर में 372, सूरजपुर में 313, बस्तर में 300, कोरबा में 278, बलौदाबाजार-भाटापारा में 273, जांजगीर-चांपा में 255, गरियाबंद में 238, बालोद में 234, कोंडागांव में 233, दंतेवाड़ा में 216, गौरेला-पेंड्रा-मरवाही में 180, महासमुंद में 168, नारायणपुर में 112, बलरामपुर-रामानुजगंज में 99, सुकमा में 69, जशपुर में 57, बीजापुर में 42 और बेमेतरा में 16 मरीजों को मेडिसीन किट उपलब्ध कराई गई है।  

कोविड-19 के उपचार के लिए होम आइसोलेशन का विकल्प चुनने वाले प्रदेश के 22 हजार 435 मरीजों में से 8481 मरीज आइसोलेशन की अवधि पूरी कर स्वस्थ हो चुके हैं। इनमें रायपुर जिले के 5802, बिलासपुर के 729, राजनांदगांव के 504, दुर्ग के 282, सरगुजा के 225, धमतरी के 188, रायगढ़ के 164, बस्तर के 106, कांकेर के 93, कबीरधाम के 70, कोरिया के 60, बलौदाबाजार-भाटापारा के 52, सुकमा के 47, बीजापुर के 38, महासमुंद और बालोद के 34-34, सूरजपुर के 18 तथा जांजगीर-चांपा के 15 मरीज शामिल हैं।

17-09-2020
Breaking: प्रदेश में गुरुवार को 5 हजार से अधिक मरीज हुए स्वस्थ, 3809 नए केस व 17 की मौत

रायपुर। छत्तीसगढ़ में गुरुवार को राहत की खबर के साथ डरावने आंकड़े भी हैं। राहत की बात है 2019 कोरोना मरीज डिस्चार्ज किए गए हैं और  3207 मरीजों ने होम आइसोलेशन कंप्लीट किया है। इस तरह 5 हजार से अधिक मरीज एक दिन में ठीक हुए हैं। साथ ही भयावह आंकड़े भी आज सामने आए हैं। प्रदेश से 3809 नए कोरोना मरीजों की पहचान हुई है। 17   मरीजों की मौत हुई है। प्रदेश में कोरोना केस और मौत की रफ्तार थमने का नाम नहीं ले रही है। स्वास्थ्य विभाग ने रात 10: 30 बजे की स्थिति में मेडिकल बुलेटिन जारी की है। रायपुर जिले से आज 1109 मरीजों की पहचान हुई है। इसी तरह रायगढ से 329, दुर्ग से 322, बिलासपुर से 247, बस्तर से 225, धमतरी से 166, बलौदाबाजार से 145, बालोद से 112, जांजगीर-चांपा से 100, कोरबा से 82, गरियाबंद से 80, दंतेवाड़ा व नारायणपुर से 76-76, कोरिया व सुकमा से 74-74, महासमुंद से 72, बेमेतरा से 71, मुंगेली से 65, राजनांदगांव से 58, सरगुजा से 51, कबीरधाम व कांकेर से 47-47, सूरजपुर से 45, कोण्डागांव से 44, बलरामपुर से 27, बीजापुर से 23, जशपुर से 21, गौरेला-पेण्ड्रा-मरवाही से 20, अन्य राज्य से 1 मरीज मिले है। मेडिकल बुलेटिन देखने क्लिक करें   


 

17-09-2020
Breaking : निजी अस्पतालों और लैब में कोरोना जांच की पात्रता के संबंध में नए निर्देश जारी

रायपुर। कोविड-19 की समय पर जांच हो जाने से मरीज के स्वस्थ होने की संभावना बढ़ जाती है। राज्य शासन ने इसे ध्यान में रखकर निजी चिकित्सालयों और निजी लैब में आरटीपीसीआर/टूनाट/एंटीजन जांच की पात्रता के संबंध में नए निर्देश निर्धारित किए हैं। इसके अनुसार एंटीजन जांच सभी निजी चिकित्सालय और सभी निजी लैब, जो नेशनल एक्रेटिशेन बोर्ड ऑफ हॉस्पिटल एंड हेल्थ केयर एनएबीएल से मान्यता प्राप्त हों, कर सकते हैं। इसके अलावा ऐसे नर्सिंग होम एक्ट छत्तीसगढ़ के तहत रजिस्टर्ड संस्थाएं भी यह टेस्ट करने के लिए पात्र हैं।

टूनाट टेस्ट के लिए एनएबीएल मान्यता और नर्सिंग होम एक्ट छत्तीसगढ़ के तहत मान्यता होनी चाहिए। आरटीपीसीआर टेस्ट के लिए आईसीएमआर की ओर से मान्यता, एनएबीएल से रीयल टाइम आरटीपीसीआर के लिए मान्यता और नर्सिंग होम एक्ट छत्तीसगढ़ के तहत मान्यता प्राप्त संस्थाएं इसके लिए पात्र हैं। स्वास्थ्य विभाग ने इस संबंध में 16 सितंबर को निर्देश जारी किए हैं। इसके मुताबिक उपरोक्त योग्यता होने पर इच्छुक निजी चिकित्सालय/लैब, जांच की अनुमति के लिए संबंधित जिले के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को आवेदन कर सकते हैं।

17-09-2020
कोरोना महामारी से निपटने के लिए अब रात में भी होगी कोरोना की जाँच

रायपुर/दुर्ग। जिले में कोरोना पॉजिटिव की रफ्तार पर लगाम कसने को स्वास्थ्य विभाग ने कमर कस ली है। फीबर अस्पतालों से लेकर कोविड-19 जांच केंद्रों में होने वाली भीड़ को कम करने के लिए जांच में तेजी लाने के उद्देश्य से अब रात में कोरोना की जाँच की जाएगी। नाइट शिफ़्ट के लिए अलग से टीम लगाई जाएगी। ताकि जांच उसी दिन मिल सके। वहीं स्वास्थ्य विभाग 60 साल से अधिक उम्र के बुजुर्गों की सेहत को ध्यान में रखते हुए घर-घर जाकर स्वास्थ्य सर्वे भी करेगी। इसके लिए मितानिन और आरएचओ को सर्दी, खांसी, बुखार सहित अन्य बीमारियों से संबंधित लोगों की स्वास्थ्य देखभाल की जानकारियां देंगी।

सीएमएचओ डॉ. गंभीर सिंह ठाकुर ने बताया, ओल्ड एज में डेथ रेट को नियंत्रण करने में कोविड सेंटरों में सुविधाओं के साथ अस्पतालों में बेड की संख्या बढ़ाने और ऑक्सीजन सिलेंडर की व्यवस्था गंभीर मरीजों के लिए की जाएगी। वहीं कोरोना महामारी को हराने के लिए अब निजी अस्पताल प्रबंधन से भी पूरी तरह सहयोग लिया जाएगा। निजी अस्पताल प्रबंधन से भी आईसीयू बेड की संख्या में इजाफा करने को कहा गया है। ताकि आपातकालीन सुविधाओं में मरीजों को बेहतर इलाज की सुविधाएं समय रहते मिल सकें।

डॉ. ठाकुर ने कहा, जांच में देरी न हो इसके लिए नाइट शिफ़्ट में सैम्पल टेस्ट लिया जाएगा। वर्तमान में जिला अस्पताल सहित अन्य सेंटरों में प्रतिदिन 1,000 सैम्पल का टेस्ट किया जा रहा है। सितंबर महीने में हर दिन मरीजों की संख्या में इजाफा हो रहा है। इसलिए संभावित मरीजों की जाँच कर शीघ्र पहचान की जाएगी इसके साथ ही इलाज करने के लिए अस्पतालों में अतिरिक्त टीम की तैनाती भी की जा रही है ताकि डेथ रेट को कम किया जा सके। जिले के हॉट स्पॉट एरिया में भिलाई-3, खुर्सीपार, सुपेला सहित 20 अस्पतालों में जांच सेंटरों की संख्या को बढ़ाया जा रहा है। वर्तमान में जिले के 40 स्वास्थ्य केंद्रों व 8 मोबाइल यूनिट द्वारा सैंपल लेकर जांच की जा रही है।

16-09-2020
कोरोना जांच कराते समय सही पता और मोबाइल नम्बर दर्ज कराने की अपील की स्वास्थ्य विभाग ने

रायपुर। स्वास्थ्य विभाग ने लोगों से कोरोना संक्रमण की पुष्टि के लिए जांच सैंपल देते समय अपना पूरा पता और मोबाइल नंबर सही-सही दर्ज करवाने की अपील की है। साथ ही मोबाइल फोन को पूरे समय चालू रखने कहा है। स्वास्थ्य विभाग को गलत मोबाइल नंबर या आधा-अधूरा पता के कारण रिपोर्ट पॉजिटव आने की स्थिति में मरीजों तक पहुंचने में काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। कई लोगों द्वारा मोबाइल बंद रखने से उन्हें एसएमएस के माध्यम से रिपोर्ट भी नहीं मिल पाती है।

साथ ही होम आइसोलेशन, इलाज या अस्पताल में भर्ती करने के संबंध में विभाग की ओर से मरीजों को दिए जाने वाले आवश्यक दिशा-निर्देश भी उन तक नहीं पहुंच पाते हैं। स्वास्थ्य विभाग ने लोगों से कोरोना संक्रमण के किसी भी प्रकार के लक्षण दिखाई देने पर तत्काल नजदीकी जांच सेंटर में जाकर जांच कराने की भी अपील की है। संक्रमण के लक्षण दिखाई देने पर घबराने या छुपाने की जरूरत नहीं है। शुरूआत में ही कोविड-19 की पहचान और इलाज शुरू होने से जल्द संक्रमण को खत्म किया जा सकता है। विभाग ने शरीर की प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए नियमित व्यायाम, योग और प्राणायाम के साथ काढ़ा के सेवन की सलाह दी है।

 

14-09-2020
Breaking:  प्रदेश में मिले 3336 कोरोना पॉजिटिव मरीज व 18 की मौत, रायपुर से 756 केस  

रायपुर। प्रदेश में कोरोना जमकर कहर बरपा रहा है। सोमवार को 3336 नए कोरोना पॉजिटिव मरीज मिले हैं। 18 मरीजों की मौत हुई है। 954 मरीजों को स्वस्थ होने पर डिस्चार्ज किया गया है। 224 मरीजों ने आज होम आइसोलेशन कंप्लीट किया है। यह आंकड़े स्वास्थ्य विभाग की ओर से रात 10 बजे की स्थिति में जारी मेडिकल बुलेटिन में आए हैं। आज हुई 18 मौत में 11 मरीज अन्य गंभीर बीमारियों से भी पीड़ित थे। शेष 7 मौत पूर्णत: कोविड कैटेगरी की है। प्रदेश में अब तक 67327 कोरोना पॉजिटिव केस मिल चुके हैं। इनमें 33109 मरीज स्वस्थ हो चुके हैं। 573 मरीजों की मौत हो चुकी है। प्रदेश में एक्टिव केस 33645 पहुंच चुके हैं। सोमवार को रायपुर जिले से 756 मरीजों की पहचान हुई है। इसी तरह दुर्ग  से 424, राजनांदगांव से 327, बिलासपुर से 308, रायगढ से 213, जांजगीर-चांपा से 189, कबीरधाम से 164, बीजापुर से 89, सरगुजा से 86, धमतरी से 81, महासमुंद से 79, बालोद से 72, सूरजपुर से 69, दंतेवाड़ा से 55, कोरिया से 53, मुंगेली से 50, बस्तर से 47, बलौदाबाजार से 43, कोण्डागांव से 37, बेमेतरा से 35,गौरेला-पेण्ड्रा-मरवाही से 33, कोरबा से 26, नारायणपुर से 24, कांकेर से 22, गरियाबंद से 19, जशपुर से 17, बलरामपुर से 8, सुकमा से 4, अन्य राज्य से 6 मरीज मिले है।  मेडिकल बुलेटिन देखने क्लिक करें।  

14-09-2020
प्रभारी मंत्री डॉ. टेकाम ने डीएमएफ मद से काढ़ा बांटने के दिए निर्देश

रायपुर। स्कूल शिक्षा और बस्तर जिला प्रभारी मंत्री डॉ. प्रेमसाय सिंह टेकाम ने कहा कि कोरोना वायरस के नियंत्रण हेतु सभी प्रकार के उपाय सुनिश्चित की जाए। मंत्री डॉ. टेकाम आज वीडियो कांफ्रेसिंग के माध्यम से बस्तर जिले में नोवल कोरोना वायरस के रोकथाम हेतु किये जा रहे उपायों की विस्तृत समीक्षा की। इस दौरान उन्होंने संसदीय सचिव रेखचन्द जैन के आग्रह पर डीएमएफ मद से जिले में आयुर्वेद काढ़ा वितरण पर भी सहमति देते हुए काढ़ा बांटने के निर्देश दिए। डॉ. टेकाम वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से आइसोलेशन सेंटर धरमपुरा एवं बकावंड में भर्ती मरीजों से बातचीत कर व्यवस्थाओं के सम्बंध में हालचाल जाना। मरीजों ने आइसोलेशन सेंटर मरीजों का समुचित इलाज होने के साथ ही सभी सुविधाएं मिलने की जानकारी दी। मंत्री डॉ. टेकाम ने कोविड -19 के रोकथाम हेतु मेडिकल कालेज डिमरापाल की व्यवस्था और कोविड आइसोलेशन सेंटर धरमपूरा, बकावंड की व्यवस्था के लिए जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग की सराहना की।

इस दौरान मंत्री डॉ.टेकाम ने जिले कोरोना के मरीजों की इलाज की समुचित व्यवस्था के अलाव शासकीय मेडिकल कालेज अस्पताल में स्थित कोविड अस्पताल के अलावा जिले के आइसोलेशन सेंटर आदि की स्थिति, डॉक्टरों एवं अन्य मेडिकल स्टॉप की तैनातगी तथा सुविधाओं के संबंध में जानकारी ली। उन्होंने डॉक्टरों एवं अन्य स्टाफ की ड्यूटी रोटेशन के आधार पर लगाने को कहा। इसके अलावा अस्पतालों एवं आइसोलेशन सेंटर में सभी सुविधाएं सुनिश्चित करने के निर्देश भी दिए। मंत्री डॉ. टेकाम ने गंभीर बीमारियों के मरीजों के लिए अलग से रहने की व्यवस्था करने तथा सभी सुविधाएं उपलब्ध कराने को कहा। संसदीय सचिव रेखचन्द जैन ने बस्तर जिले में कोरोना वायरस के रोकथाम हेतु किये जा रहे कार्यों की जानकारी दी। उन्होंने कलेक्टर रजत बंसल के नेतृत्व में सभी विभागों द्वारा जिले में सराहनीय कार्य किये जाने की जानकारी दी। वीडियो कांफ्रेंसिंग में सीएमएचओ डॉ. आर.के. चतुर्वेदी, एसडीएम जी.आर. मरकाम, डिप्टी कलेक्टर प्रवीण वर्मा, सहायक आयुक्त विवेक दलेला मौजूद रहे।

कलेक्टर रजत बंसल ने प्रभारी मंत्री के अनुमति मिलने के बाद डीएमएफ मद से इम्युनिटी बढ़ाने हेतु लोगों को आयुर्वेद काढ़ा का वितरण करने की बात कही। उन्होंने जिले कोरोना वायरस के नियंत्रण हेतु किये जा रहे उपयों की विस्तृत जानकारी दी। कलेक्टर ने बताया कि डिमरापाल पाल स्थित कोविड अस्पताल में केवल गंभीर मरीजों को ही भर्ती की जाएगी। शासन के निर्देशानुसार ज्यादा से ज्यादा होम आइसोलेशन को बढ़ावा दिया जाएगा एवं अन्य मरीजों को आइसोलेशन सेंटर तथा स्वेछा से निजी अस्पतालों में भर्ती किया जाएगा। उन्होंने कोरोना के रोकथाम के उपायों के लिए सामाजिक बैठक लेने तथा जनजागरूकता भी चलाने की जानकारी दी। कलेक्टर ने कोविड अस्पताल एवं आइसोलेशन सेंटरों की कुल क्षमता सहित बेड एवं अन्य सुविधाओं की जानकारी दी।

13-09-2020
कांकेर जिले में मिले 38 नए कोरोना मरीज, शहर से ही 7 आए चपेट में

कांकेर। जिले में लगातार कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है। रविवार को जिलेभर में 38 नये कोरोना पाजिटिव मरीजों की पुष्टि हुई है। इसमें शहर में ही से 7 कोरोना पॉजिटिव मरीज मिले। शहर में 4 पीडब्ल्यूडी कॉलोनी, 1 आरईएस कॉलोनी, 1 श्रीरामनगर व 1 मावलीनगर से शामिल है। वहीं भानुप्रतापपुर से सर्वाधिक 11 मामले, अंतागढ़ से 10, चारामा से 4, दुर्गूकोंदल से 2 व नरहरपुर से 4 मरीजों की पुष्टि हुई है। इसकी पुष्टि स्वास्थ्य विभाग ने की है। 

 

13-09-2020
घर में उपचार ले रहे 798 मरीज स्वस्थ, होम आइसोलेशन समाप्ति पर सीएमएचओ कार्यालय से दिया जाएगा प्रमाण पत्र

रायपुर। होम आइसोलेशन में रहकर इलाज ले रहे कोविड-19 के मरीजों को अवधि पूरी होने पर उनके स्वास्थ्य की स्थिति के आधार पर मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी कार्यालय की ओर से होम आइसोलेशन की समाप्ति के संबंध में प्रमाण पत्र जारी किया जाएगा। मरीज के स्वास्थ्य की निगरानी कर रहे डॉक्टर की ओर से होम आइसोलेशन की अवधि पूरी होने और मरीज के ठीक होने की जानकारी कंट्रोल रूम को देने के बाद सीएमएचओ कार्यालय से होम आइसोलेशन की समाप्ति के लिए प्रमाण पत्र जारी करने की कार्यवाही की जाएगी। प्रदेश में होम आइसोलेशन में उपचार ले रहे 798 मरीज स्वस्थ हो चुके हैं।

 स्वास्थ्य विभाग की ओर से होम आइसोलेशन में मरीजों के इलाज के संबंध में जारी दिशा-निर्देशों के अनुसार दस दिनों के होम आइसोलेशन की अवधि पूरी करने के बाद मरीज को अगले सात दिनों तक ऐहतियातन पूरी सावधानी बरतते हुए घर पर ही रहना है। मरीज की निगरानी कर रहे डॉक्टर द्वारा 17 दिनों के बाद कंट्रोल रूम को उसके स्वास्थ्य के बारे में जानकारी देने के बाद मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी कार्यालय द्वारा होम आइसोलेशन की समाप्ति के संबंध में कार्यवाही की जाएगी।

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804