GLIBS
19-08-2019
सही ट्रेनिंग मिले तो तोड़ सकता हूं बोल्ट का रिकॉर्ड : धावक रामेश्वर गुर्जर 

भोपाल। मध्यप्रदेश के धावक रामेश्वर गुर्जर ने उम्मीद जताई है कि अगर उन्हें सही प्रशिक्षण मिला तो वह जमैका के स्टार धावक उसैन बोल्ट के रिकार्ड को तोड़ देंगे। बता दें कि 19 साल के गुर्जर 100 मीटर की दौड़ नंगे पांव दौड़ते हुए 11 सेकेंड में पूरी किया था। इसका सोशल मीडिया पर वीडियो तेजी से वायरल हुआ था। गुर्जर मध्यप्रदेश के शिवपुरी जिले के नरवार गांव के किसान परिवार से हैं। उनके वीडियो को देखने के बाद राज्य के खेलमंत्री जीतू पटवारी ने उन्हें भोपाल बुलाया था। इस मुलाकात के बाद उन्होंने पत्रकारों से कहा, ‘उसेन बोल्ट ने रिकार्ड 9.58 सेकेंड में 100 मीटर की दौड़ को पूरा किया था। मुझे उम्मीद है कि सुविधाएं और उचित प्रशिक्षण मिलने के बाद मैं उस रिकार्ड को तोड़ दूंगा।’गुर्जर ने कहा कि वह सेना से जुड़ने के लिए पिछले छह महीने से 100 मीटर की दौड़ का अभ्यास कर रहे हैं लेकिन लंबाई कम होने के कारण उनका चयन नहीं हुआ।

18-08-2019
सोशल मीडिया पर फिर फैली अफवाह, मोबाइल-इंटरनेट सेवाएं बंद

जम्मू। जम्मू कश्मीर में आर्टिकल 370 हटाए जाने के बाद फैलाई जा रही अफवाहों को देखते हुए रविवार को एक बार फिर पांच जिलों में शुरू की गई 2 जी मोबाइल इंटरनेट सेवाओं पर रोक लगा दी गई है। शनिवार सुबह ही टेलीफोन और इंटरनेट सेवा को बहाल किया गया था। अधिकारियों ने बताया कि अफवाहों को फैलने से रोकने और शांति बनाए रखने के लिए यह फैसला लिया गया।पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि संबंधित अधिकारियों ने सभी कंपनियों से इंटरनेट सेवाएं रोकने का निर्देश दिया था। करीब एक पखवाड़े बाद शनिवार सुबह जम्मू, सांबा, कठुआ, उधमपुर और रियासी जिलों में कम गति की मोबाइल इंटरनेट सेवाएं बहाल की गई थी। केंद्र द्वारा जम्मू कश्मीर को विशेष दर्जा देने वाले अनुच्छेद 370 के प्रावधानों को निरस्त करने और उसे दो केंद्र शासित प्रदेशों जम्मू कश्मीर और लद्दाख में विभाजित करने से एक दिन पहले चार अगस्त को जम्मू क्षेत्र में मोबाइल इंटरनेट सेवाएं निलंबित कर दी गई थीं। इस कदम से कुछ वक्त पहले राज्य में कफ्र्यू लगा दिया गया था। हालांकि, बाद में पाबंदियों में ढील दे दी गई थी। जम्मू क्षेत्र के पांच जिलों में 2जी मोबाइल इंटरनेट सेवाएं बहाल करने के फौरन बाद जम्मू के पुलिस महानिरीक्षक मुकेश सिंह ने चेतावनी दी कि सोशल मीडिया पर फर्जी संदेश या वीडियो प्रसारित करने वाले व्यक्ति के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

18-08-2019
लंदन में तिरंगे के अपमान पर सैकड़ों पाकिस्तानियों से भिड़ गईं महिला पत्रकार

लंदन। विदेश में रहने वाले लोगों ने स्वतंत्रता दिवस मनाया। लंदन स्थित भारतीय हाई कमीशन में शान से भारतीय तिरंगा फहराया गया, लेकिन इसी बीच वहां मौजूद पाकिस्तान और खालिस्तान के समर्थकों ने भारतीय झंडे का अपमान करने की कोशिश की और विरोध प्रदर्शन करने लगे। यह देखकर वहां पर मौजूद भारतीय पत्रकार पूनम जोशी प्रदर्शनकारियों से भिड़ गईं और उनसे तिरंगा छीन लिया। पूनम जोशी की बहादुरी का यह वीडियो अब सोशल मीडिया पर काफी तेजी से वायरल हो रहा है और लोग उन्हें सलाम कर रहे हैं।

पूरा मामला लंदन स्थित भारतीय हाई कमीशन का है, जहां पर भारतीय 15 अगस्त को पूरी तैयारी के साथ आजादी का जश्न मना रहे थे। तभी वहां मौजूद खालिस्तानी और पाकिस्तान समर्थक तिरंगे का अपमान करने लगे। रिपोर्टस के अनुसार पत्रकार पूनम जोशी वहां पर तिरंगे का अपमान देख ना सकीं और वह उन लोगों से भिड़ गई, जो तिरंगे को फाड़ने की कोशिश कर रहे थे। रिपोर्टस में लिखा है कि पत्रकार पूनम जोशी लंदन स्थित हाई कमीशन के बाहर स्वतंत्रता दिवस समारोह की कवरेज करने के लिए गई थीं। उस समय वहां पाकिस्तान और खालिस्तान के समर्थक प्रदर्शन कर रहे थे। तिरंगे का अपमान होता देख पूनम जोशी से रुका नहीं गया और उनका मुंहतोड़ जवाब दिया।

12-08-2019
मुंबई के फोर सीजन्स होटल ने कस्टमर से 2 उबले अंडों के लिए वसूले 1,700 रुपये, सोशल मीडिया पर जमकर हो रहा हंगामा

मुंबई। बॉलीवुड अभिनेता राहुल बोस से दो केलों के लिए 442 रुपए वसूलने का मामला तो आपको याद होगा। अब इसी तरह का एक चौंकाने वाला मामला मुंबई में सामने आया है। एक ट्विटर यूजर को मुंबई के फोर सीजन्स होटल में दो उबले अंडों के लिए 1,700 रुपये चुकाने पड़े। कार्तिक धर नाम के शख़्स ने ट्विटर पर बिल की फोटो साझा की है, जिसके कैप्शन में उन्होंने लिखा है, फोर सीजन्स होटल में दो अंडों की कीमत 1700 रुपये। कार्तिक ने राहुल बोस को भी पोस्ट के कैप्शन में टैग किया है और लिखा है भाई आंदोलन करें?'ऑल द क्वींस मेन' के लेखक द्वारा साझा बिल में यह दिखाई दे रहा है कि होटल ने दो आमलेट के लिए भी उनसे उतनी ही कीमत वसूली है।  

वहीं होटल द्वारा इस विवाद पर बयान जारी करना बाकी है। पोस्ट पर एक यूजर ने लिखा है, इस अंडे के साथ सोना भी निकला है क्या? वहीं दूसरे ने कमेंट किया है, मुर्गी पक्का किसी अमीर घर की होगी।"  आपको बता दें कि बीते दिनों अभिनेता राहुल बोस से दो केलों के लिए 442 रुपए वसूलने पर खह टं११्रङ्म३३ पर 25 हजार रुपए का जुमार्ना लगाया गया था। एक्साइज एंड टैक्सेशन डिपार्टमेंट, चंडीगढ़ द्वारा सीजीएसटी की धारा 11 के उल्लंघन के लिए होटल को जिम्मेदार ठहराया गया। बता दें केले को टैक्स से बाहर रखा गया है और फिर भी उस पर टैक्स लगाया गया था। बोस ने इसका एक वीडियो बनाकर सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म  ट्विटर पर डाला था। इसके बाद मामले ने तूल पकड़ लिया। 

11-08-2019
सोशल मीडिया में अश्लील वीडियो डालने पर कांग्रेस पदाधिकारी के खिलाफ अपराध दर्ज

पेंड्रा। जिले के एक कांग्रेसी नेता की ओर से सोशल मीडिया में एक युवती के अश्लील वीडियो वायरल करने के मामला सामने आया है। बिलासपुर जिला कांग्रेस के संयुक्त सचिव के खिलाफ गौरेला थाने में अपराध दर्ज किया है। दरअसल गौरेला कांग्रेस के महामंत्री रहे और बिलासपुर जिले के संयुक्त सचिव पवन दुबे ने पिछले दिनों गौरेला पेंड्रा के कुछ व्हाटसअप ग्रुप में एक युवती का अश्लील वीडियो पोस्ट किया था, जिसको लेकर स्थानीय स्तर पर कांग्रेस नेता के खिलाफ आक्रोश देखा जा रहा था। वहीं इस मामले की जानकारी लगते ही महिलाओं सहित कांग्रेस के स्थानीय नेताओं ने भी गौरेला थाने में अपराध दर्ज कराने की मांग की थी। इसके विरोध में लोगों ने गौरेला थाने का घेराव करते हुए कांग्रेस पदाधिकारी के खिलाफ अपराध दर्ज करने की मांग करते हुए जमकर नारेबाजी की। महिलाओं की शिकायत पर गौरेला पुलिस ने पवन दुबे के खिलाफ भादवि की धारा 292 के तहत अपराध दर्ज किया है। वहीं उक्त कांग्रेस पदाधिकारी की अब तक गिरफ्तारी नहीं हुई है।

03-08-2019
निगम-मंडलों में अध्यक्ष की नियुक्ति पर फिलहाल ब्रेक : भूपेश बघेल

रायपुर। राज्य के विभिन्न निगम-मंडलों और आयोगों में रिक्त अध्यक्ष पद कि आश लिए बैठे दावेदारों को एक बार फिर से बड़ा झटका लगा है। दिल्ली रवाना होने के पूर्व सीएम ने जिस तरह से सोशल मीडिया में वायरल सूची पर नाराजगी जताते हुए साफ कर दिया कि उनका दिल्ली दौरा इस संबंध में कतई नहीं है। वहीं उन्होंने यह भी स्पष्ट कर दिया कि पीसीसी अध्यक्ष इस समय प्रदेश के दौरे पर हैं उनके आने के बाद विचार-विमर्श के पश्चात ही निगम-मंडलों में नियुक्ति को हरी झंडी मिलेगी। अब तक यह अटकलें तेज थी कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल राज्य के निगम-मंडलों और आयोगों में अध्यक्ष के रिक्त पदों की पूर्ति के लिए तैयार दावेदारों की सूची लेकर दिल्ली जा रहे हैं।

सीएम बघेल के नई दिल्ली रवाना होने के पहले ही सोशल मीडिया पर एक सूची वायरल हो गई, जिसमें कांग्रेस के दावेदारों के नाम और निगम-मंडलों का नाम शामिल था। इस बात की जानकारी मिलने पर मुख्यमंत्री ने अपनी नाराजगी भी व्यक्त कर दी, उन्होंने साफ कर दिया कि यह सूची पूरी तरह से फर्जी हैं, इस तरह की कोई सूची अभी बनी ही नहीं है। वहीं उन्होंने यह भी स्पष्ट कर दिया कि निगम-मंडल और आयोगों में रिक्त पदों पर नियुक्ति अभी फिलहाल नहीं हो रही है। प्रदेश के नए अध्यक्ष इस समय प्रदेश के दौरे पर हैं। बिना प्रदेश अध्यक्ष की अनुशंसा के सूची जारी नहीं हो सकती। उन्होंने कहा कि ऐसे दावेदार जो पार्टी के लिए समर्पित हैं और लगातार मेहनत करते आ रहे हैं, उन्हें जरूर मौका मिलेगा, परंतु ऐसे दावेदार जो सिर्फ कुछ खास मौकों पर नजर आते हैं, उन्हें किसी भी तरह से मौका नहीं मिल सकता। उन्होंने यह भी स्पष्ट कर दिया कि उनका नई दिल्ली दौरे से और निगम-मंडलों में नियुक्ति को लेकर कोई संबंध नहीं है।

24-07-2019
सोशल मीडिया पर नरबलि की ऐसी फैली अफवाह कि आठ लोगों की हो गई हत्या

ढाका। पड़ोसी देश बांग्लादेश में सोशल मीडिया पर फैली अफवाह मॉब लिंचिंग का कारण बन गई। दरअसल सोशल मीडिया पर पुल निर्माण के लिए बच्चे का अपहरण कर बलि देने की अफवाह फैल गई थी। इसकी वजह से हुई मॉब लिचिंग में आठ लोगों की पीट-पीट कर हत्या कर दी गई। जानकारी के अनुसार मृतकों में दो महिलाएं भी शामिल हैं। पुलिस ने बताया कि यह अफवाह मुख्यत: सोशल नेटवर्किंग साइट फेसबुक पर फैलाई गई थी। इसमें लिखा था कि तीन अरब डॉलर की विशाल परियोजना के लिए मानव सिरों की आवश्यकता है। पुलिस प्रमुख जावेद पटवारी ने बताया कि आठों हत्याओं के हर एक मामले की जांच की जा रही है। भीड़ ने जिन लोगों की हत्या की उनमें से कोई भी किसी बच्चे का अपहरण करने वाला नहीं था। उन्होंने कहा कि पूरे देश में सभी पुलिस थानों को अफवाह से निपटने का आदेश दे दिया गया है। पटवारी ने बताया कि सभी सोशल मीडिया प्लेटफॉम्र्स पर पैनी नजर रखी जा रही है। अभी तक संदिग्ध 25 यूट्यूब चैनल, 60 फेसबुक पेज और 10 वेबसाइटों को बंद किया जा चुका है। अभी तक इस मामले में कम से कम पांच लोग गिरफ्तार किए जा चुके हैं। पुलिस ने कहा कि मृतकों में एक दो बच्चों की मां तस्लीमा बेगम हैं जिन्हें बच्चे की अपहरणकर्ता समझकर भीड़ ने शनिवार को ढाका स्कूल के सामने पीट-पीट कर मार डाला। अपनी बेटी से मिलने जा रहे एक बधिर व्यक्ति की भी भीड़ ने हत्या कर दी। पुलिस ने बताया कि तस्लीमा की हत्या को लेकर आठ लोगों को गिरफ्तार किया गया है और सोशल मीडिया पर अफवाह फैलाने के मामले में कम से कम पांच लोग गिरफ्तार किए गए हैं। जिस पुल को लेकर अफवाह फैलाई गई उसका निर्माण गंगा नदी की एक प्रमुख सहायक नदी पद्मा पर किया जा रहा है।

 

 

20-07-2019
कबीर पंथ के आचार्य पर अभद्र टिपण्णी का विरोध 

भिलाई। सोशल मीडिया पर कबीर पंथ के आचार्य प्रकाश मुनि साहब के ऊपर अभद्र टिपण्णी किए जाने पर समाज के लोगों द्वारा आपत्ति उठाई गई और इस मामले की लेख कर दुर्ग थाने में धरना प्रदर्शन के साथ नारेबाजी की गई साथ ही ऐसे असामाजिक तत्वों के खिलाफ कड़ी कार्यवाही करने की मांग पुलिस प्रशासन से की गई। इस मामले को लेकर जिले के कबीर पंथी समाज के लोगों ने अपनी मांग को प्रशासन के समक्ष रखते हुए कहा कि आरोपियों की गिरफ़्तारी सुनिश्चित नहीं की गई तो समाज के द्वारा उग्र आंदोलन किया जाएगा। साथ ही पुलिस ने कार्यवाही करते हुए आरोपियों के खिलाफ धारा 295, 153 के तहत मामला दर्ज़ किया। 

14-07-2019
साक्षी और अजितेश को पुलिस ने दी सुरक्षा, इलाहाबाद रवाना  

बरेली। बरेली के बीजेपी विधायक राजेश मिश्रा की बेटी साक्षी मिश्रा और उसके पति अजितेश को आखिरकार पुलिस सुरक्षा मिल गई। आज यूपी पुलिस ने दिल्ली के गीता कॉलोनी से साक्षी, अजितेश, अजितेश के मामा, भाई और पिता से मुलाकात की। इसके बाद यूपी पुलिस साक्षी, अजितेश और उनके रिश्तेदारों को अपनी सुरक्षा में लेकर इलाहाबाद रवाना हो गई। दरअसल 15 जुलाई को इलाहाबाद हाईकोर्ट में साक्षी मिश्रा और उनके पति अजितेश से जुड़े मामले की सुनवाई है। वहीं साक्षी मिश्रा के पति अजितेश कुमार ने अपना फेसबुक अकाउंट डिलीट कर दिया है। साक्षी से शादी करने से पहले अजितेश ने फेसबुक पर हथियारों के साथ कुछ फोटो पोस्ट की थी।

मामले का खुलासा होने के बाद अजितेश ने रविवार को अपना फेसबुक अकाउंट डिलीट कर दिया है। हालांकि हथियारों के साथ अजितेश की तस्वीरें सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रही हैं। इससे पहले साक्षी मिश्रा के पति अजितेश कुमार की दूसरी लड़की से सगाई की तस्वीर वायरल हो रही थी। अजितेश कुमार की सगाई भोपाल की एक लड़की से पहले ही हो चुकी है। शादी के लिए 9 दिसंबर की तारीख तय थी। शादी की सारी तैयारियां भी हो गई थीं। लड़की के पिता का कहना है कि उन्होंने इस सगाई में सात लाख रुपये से ज्यादा रकम खर्च की थी। उन्होंने कहा कि सगाई में लाखों रुपए खर्च किए गए। समाज में सगाई टूटने से बदनामी भी काफी हुई। उसकी भरपाई कौन करेगा? इधर साक्षी मिश्रा ने कहा कि उनके पापा उन्हें फेसबुक चलाने से भी मना करते थे। वह बहुत ज्यादा कान के कच्चे हैं। मेरे घर में कहने के लिए लड़के-लड़की में कोई भेद नहीं है, लेकिन कम से कम हम तीनों भाई-बहन के रूप में तो भेदभाव है। बता दें कि साक्षी ने अजितेश कुमार से 4 जुलाई को प्रयागराज के राम जानकी मंदिर में लव मैरिज की है।

11-07-2019
मेरी पुत्री बालिग, किसी को नहीं दी जान से मारने की धमकी : मिश्रा

बरेली। भारतीज जनता पार्टी (भाजपा) विधायक राजेश मिश्रा ने सफाई दी है कि उन्हे अपनी पुत्री के प्रेम विवाह से कोई एतराज नहीं है और बालिग होने के नाते उसे अपने फैसले खुद लेने का अधिकार है। दरअसल, उत्तर प्रदेश में बरेली जिले की चैनपुर सीट से भाजपा विधायक राजेश मिश्रा की पुत्री साक्षी का एक वीडियो वायरल हुआ है जिसमें उसने अपने पिता से जान का खतरा बताते हुये सुरक्षा की गुहार लगायी है। साक्षी और उसके पति ने किसी अज्ञात स्थान से कार में बैठे हुये वीडियो बना कर सोशल मीडिया में वायरल किया है जिसमे उसने कहा था कि उसने दलित युवक अजितेश कुमार के साथ वैदिक रीति रिवाज से शादी की है। जिसके बाद उसे और उसके पति को पिता से जान का खतरा है।

दंपत्ति ने अपनी शादी का प्रमाण पत्र भी जारी किया है जिसके अनुसार उन्होने इलाहाबाद के अति प्राचीन जानकी मंदिर में चार जुलाई को हिन्दू रीति रिवाज से विवाह किया। प्रमाण पत्र में वर वधू के अलावा दो गवाहों के भी हस्ताक्षर हैं। इस मामले के तूल पकड़ने के बाद भाजपा विधायक ने प्रेस रिलीज जारी कर कहा मेरे खिलाफ मीडिया में जो चल रहा है यह सब गलत है बेटी बालिग है, उसको निर्णय लेने का अधिकार है, मैंने किसी को कोई जान से मारने की धमकी नहीं दी है, न ही मेरे किसी आदमी ने दी है, न ही मेरे परिवार के किसी व्यक्ति ने दी है। मैं व मेरा परिवार अपने काम में व्यस्त हैं, मैं अपनी विधानसभा में जनता का कार्य कर रहा हूं व पार्टी (भाजपा) का सदस्यता चला रहा हूं. मेरी तरफ से किसी कोई खतरा नहीं है। 

साक्षी ने एक अन्य वीडियो में बरेली के एसएसपी से गुहार लगाई कि उसे उसके पिता, भाई विक्की और पिता के एक सहयोगी से जान का खतरा है। ऐसे में उन्हे सुरक्षा मुहैया करायी जाए। उसने कहा कि ये सभी लोग मिलकर उसकी और उसके पति की हत्या करना चाहते हैं। साक्षी ने बरेली के सांसद, विधायकों और मंत्रियों से अपील की कि वे उसके पिता, भाई और पिता के सहयोगी की मदद न करें। इस बारे में पुलिस उपाधीक्षक आर के पांडेय ने कहा कि दंपति ने अभी तक यह सूचित नहीं किया है कि उनका पता ठिकाना कहां है। फिलहाल पुलिस दंपति का पता लगाकर उन्हे सुरक्षा मुहैया करायेगी।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804