GLIBS
12-08-2020
Breaking : पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह की पत्नी अस्पताल में भर्ती, रिपोर्ट आई पॉजिटिव

रायपुर। प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह की पत्नी वीणा सिंह की कोरोना जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। यह जानकारी डॉ. रमन सिंह ने ट्वीट के माध्यम से दी है। उन्होंने कहा है कि, डॉक्टर्स की सलाह पर वीणा सिंह को अस्पताल में भर्ती कराया जा रहा है। साथ ही डॉ. सिंह और परिवार के अन्य सदस्य भी आइसोलेशन में रहकर जांच कराएंगे। डॉ. सिंह ने अपील की है कि, उनके संपर्क में आने वाले सभी आइसोलेट रहकर जांच कराएं।

 

06-08-2020
सुषमा स्वराज ने हमेशा ओजस्वी व्यक्तित्व का परिचय दिया : डॉ. रमन सिंह

रायपुर। पूर्व विदेश मंत्री स्वर्गीय सुषमा स्वराज की पुण्यतिथि पर डॉ. रमन सिंह ने उन्हें नमन किया है। उन्होंने कहा कि सुषमा स्वराज जी भारतीय राजनीति की सुषमा थीं। विदेश मंत्री रहते हुए उन्होंने जिस संवेदनशीलता और समर्पण से कार्य किया वो उनके ओजस्वी व उदात्त व्यक्तित्व का परिचायक है। वे सदैव मेरी स्मृतियों में हैं, वह सदैव मेरा मार्गदर्शन करती रहीं। आज उनकी पुण्यतिथि पर सादर प्रणाम करता हूँ।

 

 

 

01-08-2020
मुख्यमंत्री का मोदी विरोध का एजेंडा राजनीतिक कृतघ्नता की शर्मनाक मिसाल है : डॉ. रमन सिंह

रायपुर। भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को अब ओछी राजनीति छोड़कर देश व प्रदेश के हित को सर्वोपरि मानकर काम करने की नसीहत दी है। डॉ.सिंह ने कहा कि मुख्यमंत्री बघेल को संघीय ढाँचे का सम्मान करते हुए केंद्र सरकार के साथ समन्वय बनाकर काम करना चाहिए और हर मामले में विरोध के लिए विरोध की मानसिकता त्यागकर अनर्गल राजनीतिक प्रलाप से बचना चाहिए। यही उनके पद की गरिमा के अनुकूल राजनीतिक आचरण का तकाजा है।रमन सिंह ने कहा कि प्रदेश सरकार के निवेदन पर हसदेव अरण्य क्षेत्र में प्रस्तावित आठ में से पाँच कोल ब्लॉक की नीलामी रोकने की घोषणा करके केंद्र सरकार ने जिस तरह छत्तीसगढ़ के हितों को ध्यान में रखने के उदार दृष्टिकोण का परिचय दिया है, मुख्यमंत्री को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आचरण से यह सीख हृदयंगम कर लेना चाहिए।  मुख्यमंत्री बघेल ने अपने पूरे कार्यकाल में राजनीतिक प्रतिशोध, झूठी वाहवाही कराके अपने मुँह मियाँ मिठ्ठू बनने और अनर्गल प्रलाप की जो मिसाल पेश की है, उससे परे होकर अब राज्य के हित को सामने रखकर उन्हें केंद्र के साथ मिलकर काम करने का अभ्यास करना चाहिए।

इस मामले में उन्हें दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से भी सीख ले लेनी चाहिए, जो गंभीर राजनीतिक मतभेदों के बावजूद कुछ विषयों पर केंद्र सरकार के निर्णयों की सराहना करने में जरा भी कृपणता नहीं दिखाते।सिंह ने कहा कि मुख्यमंत्री बघेल ने कोरोना संकट के मद्देनजर गरीबों को तीन माह के लिए मुफ़्त राशन देने की मांग केंद्र सरकार से की और केंद्र सरकार ने पाँच माह तक मुफ़्त राशन देने की घोषणा की है, अब यह प्रदेश सरकार की नाकामी है कि न तो वह पूरा राशन तक उठा पा रही है और न ही गरीबों को उसका समय पर वितरण करा पा रही है। राज्य की समस्याओं पर ध्यान देने के बजाय मुख्यमंत्री का पूरा ध्यान राष्ट्रीय-अंतरराष्ट्रीय मुद्दों पर ज्यादा रहता है। क्या उन्हें अपनी कांग्रेस के केंद्रीय नेतृत्व की राजनीतिक समझ पर संदेह है? चाहे कश्मीर का मुद्दा रहा हो या राफेल विमान सौदे का या फिर चीन के साथ विवाद का, मुख्यमंत्री के इन विषयों पर बयानों से यही प्रतिध्वनित होता रहा है कि केंद्र सरकार छत्तीसगढ़ के हित में प्रदेश सरकार की बातों को चाहे जितनी संजीदगी से ले, प्रदेश के कांग्रेस नेता और मुख्यमंत्री मिलकर जिस तरह मोदी विरोध का एजेंडा चला रहे हैं, वह राजनीतिक कृतघ्नता की शर्मनाक मिसाल है।

 

27-07-2020
कांग्रेस प्रवक्ता ने डॉक्टरों की कमी के लिए डॉ. रमन को ठहराया जिम्मेदार, कहा- शपथ भी भूल गए हैं पूर्व मुख्यमंत्री

रायपुर। प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता विकास तिवारी ने कहा है कि कोविड 19 महामारी से राज्य में चिकित्सकों की बहुतायत कमी हो रही है। इसका कारण खुद पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह है। भाजपा शासन काल में विशेषज्ञ चिकित्सकों के कुल रिक्त पद 1525 थे, जिसमें मात्र 175 पदों में ही नियुक्ति की गई थी। उसी प्रकार चिकित्सा अधिकारी के 689 पर रिक्त रहे। इसका खामियाजा आज पूरे प्रदेश को भोगना पड़ रहा है। इसके अलावा मेडिकल स्टॉफ,नर्सिंग स्टाफ,लैब टेक्नीशियन की भी भर्ती रमन सरकार के समय नहीं की गई थी। जबकि किसी भी राज्य में मूलभूत स्वास्थ सुविधाओं और अधोसंरचना निर्माण सरकार की प्राथमिकता होती है। रमन राज में प्रदेश के स्वास्थ्य व्यवस्था लचर और चरमराई हुई थी जबकि पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह खुद एक आयुवेर्दाचार्य(चिकित्सक)थे। कांग्रेस प्रवक्ता विकास तिवारी ने कहा कि कोरोना महामारी के समय विश्व विख्यात आयुर्वेदिक चिकित्सक सोशल मीडिया में व्यस्त है। पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह से कांग्रेस प्रवक्ता ने अनुरोध किया है कि, प्रदेश की जनता कोरोना कोविड-19 महामारी से संक्रमित हो रही है। लोगों को लगातार चिकित्सकों की आवश्यकता महसूस हो रही है। इस समय पूर्व मुख्यमंत्री व भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष डॉ. रमन सिंह को इलाज करना चाहिए। ये एक विश्व प्रसिद्ध आयुर्वेदाचार्य हैं। इनकी ख्याति कवर्धा क्षेत्र के आसपास फैली हुई थी। कवर्धा की जनता बताती है कि डॉ. रमन सिंह के हाथों में जादू है और जिस किसी भी मरीज का इलाज करते हैं, उसे तत्काल फौरी राहत मिलती थी। चाहे वो कितनी भी जटिल बीमारी हो।

कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा है कि इसी प्रकार उनके दामाद डॉ. पुनीत गुप्ता, जो कि एक नेफ्रोलॉजिस्ट(किडनी रोग विशेषज्ञ)हैं।  इनकी भी ख्याति डीकेएस अस्पताल से निकलकर पूरे देश-विदेश में फैली हुई है। इन्होंने किडनी रोग से ग्रसित मरीजों के लिए एक महत्वपूर्ण अविष्कार "मैक-डी" डायलिसिस जैकेट किया। इसे पहनने मात्र से जटिल किडनी का डायलसिस आसानी से हो जाता है। कोरोना कोविड-19 वायरस फेफड़ा,गुर्दा में तेजी से फैलता है, इसके विशेषज्ञ डॉ. रमन सिंह और डॉ पुनीत गुप्ता है। विकास तिवारी ने डॉ .रमन सिंह को उनके चिकित्सक की शपथ में कहे गए वाक्य "चिकित्सात पुण्यतम न किञिचत" को याद दिलवाते हुए कहा है कि, धरती के भगवान डॉक्टर माने गए हैं और कोरोना कोविड 19 महामारी के समय पूर्व मुख्यमंत्री डॉक्टर रमन सिंह और उनके दामाद डॉ. पुनीत गुप्ता इस वाक्य और चिकित्सकीय शपथ को भूल गए हैं। जबकि उनको सुबह दो घंटा और शाम को दो घंटा ओपीडी लगाकर कोरोना कोविड 19 महामारी के संदिग्ध और ग्रसित लोगों की जांच निशुल्क करनी चाहिए। रोजाना 2 घंटे आईपीडी आयुष अस्पताल,डीकेएस अस्पताल,अंबेडकर अस्पताल में अवश्य करनी चाहिए। इसके लिए उन्हें तत्काल एक आवेदन पत्र कांग्रेस सरकार के मुखिया भूपेश बघेल को प्रेषित करना चाहिए। निरंतर मरीजों की सेवा निशुल्क करनी चाहिए। इससे कि उनका समय भी कटेगा और उनके कारण प्रदेश में जो चिकित्सकों की कमी थी उसमें थोड़ी रिक्ता को भरा जा सकेगा।

07-07-2020
छत्तीसगढ़वासियों को निर्वाचित सरकार से प्रश्न करने का समान अधिकार बाबा साहब के संविधान ने दिया है : डॉ. रमन सिंह

रायपुर। पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने फिर आक्रामक रुख अपनाते हुए प्रदेश सरकार पर सीधा हमला बोला है। अपने शांत स्वभाव के लिए परिचित पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह विपक्ष में आने के बाद इन दिनों लगातार प्रदेश सरकार पर आक्रामक बयान जारी कर रहे हैं। मंगलवार को डॉ. रमन सिंह ने ट्वीट कर कहा कि, मैं रमन सिंह से डॉ. रमन अपनी लगन से बना। मुझे विधायक प्रदेश की जनता ने चुना। राष्ट्रीय उपाध्यक्ष का दायित्व मुझे मेरी पार्टी ने दिया। लेकिन प्रत्येक छत्तीसगढ़वासी को निर्वाचित सरकार से प्रश्न करने का समान अधिकार बाबा साहब के संविधान ने प्रदान किया है भूपेश बघेल जी। गाँव-गरीब-किसान की बात हो या बेरोजगारी का विषय भूपेश बघेल की अहंकारी सरकार से प्रश्न पूछने के लिए प्रदेशवासियों को किसी पद की आवश्यकता नहीं है। मैंने हमेशा छत्तीसगढ़ महतारी की सेवा की है और अंतिम साँस तक अपनी माटी और भाई-बहनों के लिए सरकार की तानाशाही के खिलाफ डटा रहूँगा।

05-07-2020
मध्यप्रदेश के लूट खसोट केंद्रों को कब बंद करेंगे डॉ. रमन सिंह : कांग्रेस

रायपुर। भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह के बयान पर कांग्रेस ने पलटवार किया है। प्रदेश कांग्रेस संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि रमन सिंह को 15 साल मुख्यमंत्री रहते हुए यह क्यों पता नहीं चला कि, बैरियर लूट खसौट केंद्र होते हैं? 15 साल तक इन लूट खसोट केंद्रों से लूट चली है तो उस लूट का कितना हिस्सा किस किसको मिला? यह रमन सिंह को बताना चाहिए। मध्यप्रदेश सहित भाजपा शासित राज्यों में बैरियर संचालित हैं। रमन सिंह को भाजपा शासित राज्यों से बैरियर हटाकर इन लूट खसोट केंद्रों को समाप्त करने की पहल करनी चाहिए। भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष के रूप में यह रमन सिंह का कर्तव्य है।

रमन सिंह बताएं कि भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष के रूप में अपने प्रभाव का उपयोग वे भाजपा शासित मध्यप्रदेश के लूट खसोट केंद्रों को बंद करने के  बारे में कब करेंगें ? त्रिवेदी ने कहा है कि प्रदेश सरकार बैरियर का उपयोग भाजपा सरकार की तरह लूट खसोट के तंत्र के रूप में नहीं बल्कि टैक्स चोरी रोकने, राज्य की सुरक्षा और ओवरलोडिंग रोकने के लिए इस्तेमाल करेगी। छत्तीसगढ़ एक संवेदनशील राज्य है और सुरक्षा की दृष्टि से राज्य में आने वाली हर गाड़ी की जांच आवश्यक है। आरटीओ बैरियर आरंभ होने से छत्तीसगढ़ की राजस्व आय बढ़ेगी और 200 करोड़ की राजस्व आय का इजाफा अनुमानित है। बैरियर के साथ-साथ वेब्रिज भी लगाया जा रहा है। इन बैरियरों में किसी गाड़ी को रुकना नहीं पड़ेगा।

05-07-2020
चुनाव के पहले भूपेश बघेल के पास झीरम के सबूत और रोजगार के लिए ब्लू प्रिंट थे, सरकार में आने के बाद कुछ नहीं : रमन

रायपुर। पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने चुनाव के पूर्व कांग्रेस और मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की ओर से उठाए गए मुद्दों पर निशाना साधा है। पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह और मुख्यमंत्री भूपेश बघेल विभिन्न मुद्दों पर लगातार एक दूसरे पर निशाना साध रहे हैं। इस बार डॉ. रमन सिंह ने कहा कि विधानसभा चुनाव के पूर्व भूपेश बघेल के पास झीरम के सबूत थे, रोजगार के लिए ब्लू प्रिंट था, शराबबंदी के लिए योजना थी, रोजगार भत्ते के लिए पैसे थे और 2500 रुपए समर्थन मूल्य देने के पैसे थे। लेकिन भूपेश बघेल जब से सरकार में आए हैं तब से इनके पास कुछ नहीं है। डॉ. रमन सिंह ने वर्ष 2018 में भूपेश बघेल के एक ट्वीट को साझा किया है। इसमें भूपेश बघेल ने लिखा है कि बेरोजगारी दूर करना सिर्फ चुनावी नारा नहीं होना चाहिए, जुमला तो हरगिज नहीं। छत्तीसगढ़ कांग्रेस बेरोजगारी दूर करने के लिए प्रतिबद्ध है और पूरे ब्लू प्रिंट के साथ तैयार है। युवा साथियों के लिए अब बस थोड़े दिन का सब्र और।

 

 

04-07-2020
जब तक जीना, तब तक सीखना, अनुभव ही जगत में सर्वश्रेष्ठ शिक्षक

रायपुर। स्वामी विवेकानंद की पुण्यतिथि पर पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने उन्हें नमन किया है। उन्होंने ट्वीट कर कहा कि जब तक जीना, तब तक सीखना, अनुभव ही जगत में सर्वश्रेष्ठ शिक्षक है। वसुधैव कुटुम्बकम पर आधारित भारतीय संस्कृति को वैश्विक पटल तक पहुँचाने वाले युवाओं के प्रेरणास्रोत स्वामी विवेकानंद की पुण्यतिथि पर उन्हें सादर नमन। स्वामी विवेकानंद के विचार युगों-युगों तक अमर रहेंगे।

04-07-2020
राष्ट्रीय ध्वज तिरंगे के अभिकल्पक पिंगली वेंकैया की पुण्यतिथि पर उन्हें नमन : डॉ. रमन सिंह

रायपुर। भारतीय राष्ट्रीय ध्वज के प्रारूपकार व स्वतंत्रता सेनानी पिंगली वेंकैया की आज पुण्यतिथि है। पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने पुण्यतिथि पर उन्हें नमन किया है। रमन सिंह ने कहा कि देश की सीमाओं से लेकर शहरों तक जिस राष्ट्रीय ध्वज को फहरते देखकर प्रत्येक भारतीय गौरव का अनुभव करता है, उस राष्ट्रीय ध्वज तिरंगे के अभिकल्पक माँ भारती के सपूत पिंगली वेंकैया जी की पुण्यतिथि पर उन्हें कोटि-कोटि नमन। भारतवर्ष पिंगली वेंकैया जी के योगदान का सदैव ऋणी रहेगा।

 

04-07-2020
भाजपा सांसदों और डॉ. रमन सिंह के घर का आज घेराव करेगी एनएसयूआई, प्रधानमंत्री का जलाएंगे पुतला

रायपुर। भारतीय राष्ट्रीय छात्र संगठन शनिवार को छत्तीसगढ़ में भाजपा के 8 सांसदों और पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के घर का घेराव करेगी। इसके साथ ही प्रधानमंत्री का पुतला दहन कर विरोध प्रदर्शन किया जाएगा। एनएसयूआई के प्रदेश प्रवक्ता तुषार गुहा ने बताया कि केंद्र सरकार की गरीब कल्याण रोजगार योजना में कांग्रेस शासित राज्य होने की वजह से भेदभाव करते हुए छत्तीसगढ़ के किसी भी जिले को सम्मिलित नहीं किया गया। आज भारतीय जनता पार्टी रोजगार के मुद्दे पर राजनीति कर रही है। इसी के विरोध में प्रदेश अध्यक्ष आकाश शर्मा की अगुवाई में यह प्रदर्शन किया जाएगा। राजधानी में राजीव चौक सुभाष स्टेडियम के सामने से दोपहर में यह प्रदर्शन शुरु होगा।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804