GLIBS
18-11-2019
2500 में धान खरीदी की तरह पीएससी की परीक्षा आयोजित करके दिखाएंगे : कांग्रेस

रायपुर । डॉ. रमन सिंह द्वारा भूपेश सरकार पर पीएससी की परीक्षा नहीं कराने का आरोप लगाना तथ्यहीन और तर्कहीन है। प्रदेश कांग्रेस के महामंत्री एवं संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने पीएससी में जीरो वर्ष ना हो इसके लिये सभी अफसरों को निर्देशित किया है। पीएससी के अभ्यर्थियों के साथ अब न्याय होगा। अन्याय तो पूर्व की रमन सरकार के दौरान हुआ था। त्रिवेदी ने कहा कि 2500 में धान खरीदी की तरह पीएससी की परीक्षा आयोजित करके दिखाएंगे । त्रिवेदी ने डॉ. रमन सिंह से सवाल किए हैं कि वे यह बतायें कि 2003 के पीएससी विवाद के बाद 2007 तक राज्य में किसी भी प्रकार की परीक्षायें क्यों नहीं ली गयी? उन 4 सालों में परीक्षा नहीं होने से प्रतियोगी परीक्षा के कई उम्मीदवार उम्र सीमा अधिक होने के कारण परीक्षा वंचित हो गये। पीएससी के अनियमितता को लेकर आंदोलनरत कार्यकर्ताओं के ऊपर राज्य की भाजपा सरकार ने लाठीचार्ज कराया था और आपराधिक प्रकरण दर्ज कराये थे। शिक्षा, स्वास्थ्य और पुलिस विभागों में जानबूझकर अनेकों पद रिक्त रखा गया। 15 साल तक लगातार पीएससी की भर्ती में अनियमितताओं की शिकायत आते रही। व्यवसायिक शिक्षा मंडल द्वारा लिये जाने वाले भर्ती और प्रवेश परीक्षाओं में भी गड़बड़ियां की जाती रही। 

त्रिवेदी ने कहा है कि 2003 के पीएससी घोटालें में तो मुख्यमंत्री रमन सिंह और उनके मंत्रियों की संलिप्तता का आरोप भी लगा था, जिसकी शिकायत राज्यपाल और न्यायालय में भी की गयी थी।  त्रिवेदी ने कहा कि राज्य में मुख्यंमत्री भूपेश बघेल के नेतृत्व में सरकार बनने के बाद 10 माह में शासकीय क्षेत्र में लगभग 20 हजार 502 लोगों का नौकरी मिली है। स्कूलों में 5441 शिक्षकों, 4000 सहायक शिक्षकों, 2767 व्याख्याताओं विज्ञान शिक्षकों, 410 अंग्रेजी व्याख्याता, 306 अंग्रेजी माध्यम के सहायक शिक्षकों के साथ अन्य पदो पर 1420 लोगो की भर्ती की गई है। इसी तरह पुलिस विभाग में 3682 कॉन्सटेबल के पदोपर भर्ती की जा रही है। छत्तीसगढ़ लोकसेवा के माध्यम से 503 पदों पर भर्ती की गई और 1972 पदो पर भर्ती प्रक्रिया चल रही है राजस्व एवं आपदा प्रबंधन विभाग में 250 पटवारियों, स्वास्थ्य विभाग 228 लेब टेक्निशियन, उच्च न्यायालय में हेल्पर ग्रेड 3 और कम्प्यूटर ऑपरेटर के 177 पदों तथा लोक निर्माण विभाग में 118 सब इंजीनियर (सिविल) की भर्ती की गई है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा है कि इस वर्ष भी शीघ्र ही समस्त विभागों से रिक्त पदों की जानकारी मंगाकर पीएससी की परीक्षा आयोजित की जायेगी।

14-11-2019
भाजपा चलाएगी अभियान, धान ला तोल नही ते हल्ला बोल

रायपुर। किसानों का एक-एक दाना धान 2500 रु. प्रति क्विंटल में खरीदी पर प्रदेश सरकार द्वारा वादाखिलाफी एवं टालमटोल की नीति के कारण भारतीय जनता पार्टी पूरे प्रदेश में कल 15 नवंबर को एक दिवसीय धरना देगी। भाजपा पूरे प्रदेश में कांग्रेस सरकार के खिलाफ “धान ला तोल नही ते हल्ला बोल” अभियान चलाएगी। भाजपा राष्ट्रीय उपाध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह राजधानी रायपुर में धरना में शामिल होंगे। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष विक्रम उसेंडी पखांजूर जिला कांकेर में एक दिवसीय धरना में शामिल होंगे वही विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक बिल्हा बिलासपुर में एक दिवसीय धरना में शामिल होंगे। पूर्व विधानसभा अध्यक्ष गौरीशंकर अग्रवाल कसडोल में धरना में शामिल होंगे। सांसद व विधायक अपने निर्वाचन क्षेत्र में धरना स्थल में शामिल होंगे।

08-11-2019
टाटीबंध चौराहे पर फ्लाईओवर निर्माण को हरी झंडी, कांग्रेस के संघर्ष की जीत : विकास 

रायपुर। रायपुर पश्चिम के विधायक विकास उपाध्याय ने टाटीबंध चौराहे पर चारों दिशा में फ्लाईओवर बनाने टेंडर अवार्ड पर बधाई देते हुए कहा कि राजधानी की जनता को ट्रैफिक जाम होने की समस्या से अब जल्द ही निजाद मिल सकेगी। उन्होंने कहा कि ये खुशी की बात है कि टाटीबंध चौक से बिलासपुर, रायपुर और रिंग रोड की दिशा में फ्लाईओवर बनाने के लिए अवार्ड जारी कर दिया गया है। विधायक ने 119 करोड़ के इस फ़्लाईओवर के लिए मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के प्रयासों के साथ समय-समय पर टाटीबंध के गलत डिजाइन और गुणवत्ताहीन बनी सड़क के खिलाफ आंदोलन करने वाले कांग्रेस के कार्यकताओं की मेहनत को सलाम किया है। विधायक उपाध्याय ने कहा कि साल 2017 में हुए 37 सड़क हादसों में 6 की मौत हुई। साल 2018 में 42 सड़क हादसों में 12 और  टाटीबंध चौराहे पर साल 2019 में हुए 30 सड़क हादसों में से 9 की मौत हुई। इन हादसों की वजह चौराहे की गलत डिजाइन थी, जिस की जिम्मेदारी लेने से पिछली सरकार बचती रही। डॉ. रमन सिंह की सरकार ने बीते 15 सालों में टाटीबंध चौक की डिजाइन में चार बार फेरबदल किया लेकिन जो भी निर्माण और बदलाव किया गया वह भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ा नजर आया और बेतरतीब निर्माण जनता की परेशानी हर बार बढ़ी इसको लेकर कांग्रेस ने समय-समय पर आवाज उठाई है।

दिसंबर 2018 से कांग्रेस की सरकार बनने के बाद कांग्रेसजनों के साथ स्वयं मैंने एक विधायक के तौर पर इसको लेकर 15 अलग-अलग पत्र व्यवहार राज्य और राष्ट्रीय राजमार्ग के साथ किया, लेकिन केंद्र सरकार के परिवहन विभाग द्वारा कोई ठोस कदम नहीं उठाया गया, जिसके बाद मुझे राष्ट्रीय राजमार्ग के दफ्तर में तालाबंदी जैसा बड़ा कदम भी उठाना पड़ा। जनता को सुविधा दिलाने के लिए किए गए इस तरीके के संघर्ष की वजह से मेरे खिलाफ पुलिस और राष्ट्रीय राजमार्ग ने अलग-अलग मामले दर्ज किए हैं। विधायक ने कहा कि उन सब संघर्षों का सुखद परिणाम अब हमारे सामने हैं। मुख्यमंत्री के प्रयासों के चलते पिछले दिनों मुख्यमंत्री और केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी के बीच मुलाकात के दौरान टाटीबंध फ्लाई और निर्माण में आ रही दिक्कतों पर चर्चा हुई थी। अब उस बैठक का सकारात्मक परिणाम सामने आया है और फ्लाईओवर निर्माण के लिए वर्क आर्डर जारी कर दिया गया है।

विकास उपाध्याय ने कहा कि हमें उम्मीद है कि अगले हफ्ते तक ठेकेदार से अनुबंध की प्रक्रिया पूरी कर ली जाएगी। अधिकतम एक महीने में फ्लाईओवर बनाने का काम शुरू कर दिया जाएगा। यह मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के प्रयासों की जीत है। साथ ही कांग्रेस कार्यकताओं के संघर्ष और पसीने का प्रतिफल है कि अब टाटीबंध फ्लाईओवर का काम जल्द शुरू हो सकेगा। विकास उपध्याय ने इस बात पर खुशी जाहिर की है कि फ़्लाईओवर बनाने के बाद इस टाटीबंध चौराहे से प्रभावित ढाई लाख लोग को भिलाई और बिलासपुर जाने वालों को राहत मिलेगी। साथ ही चौराहे पर ट्रैफिक जाम होने की दिक्कत खत्म होगी, दुर्घटना से मुक्ति रहेगी। विकास उपध्याय ने वर्क आडर के जरिये टाटीबंध चौक से बिलासपुर जाने वाली रूट पर टू लेन, रायपुर की रूट पर फोर लेन तथा रिंग रोड नंबर 2 की रूट पर फोर लेन फ्लाईओवर का निर्माण होगा। उन्होंने कहा कि इसके लिए प्रदेश के कुशल प्रशासनिक क्षमता वाले यशस्वी मुख्यमंत्री को बारंबार धन्यवाद देते है। रायपुर की जनता को हार्दिक बधाई देते है कि उनकी वर्षों से लंबित मांग अब पूरी हो रही है और रायपुर पश्चिम की जनता को एक बड़ी समस्या से निजात मिल जाएगी।

05-11-2019
रमन सिंह को असत्य का सहारा नहीं लेना था : त्रिवेदी

रायपुर। सर्वदलीय बैठक में भाजपा सांसदों के शामिल नहीं होने और बैठक की सूचना नहीं मिलने की बात पर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के महामंत्री, संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि डॉ. रमन सिंह और भाजपा को असत्य का सहारा नहीं लेना था। त्रिवेदी ने कहा है कि अनेक भाजपा सांसदों के पत्र सामने आए हैं, जिसमें उन्होंने बैठक का निमंत्रण मिलने और अन्यत्र कार्यक्रमों के कारण बैठक में सम्मिलित होने में असमर्थता व्यक्त की है। कई भाजपा सांसदों और सांसद कार्यालयों में बैठक के निमंत्रण के पत्र की प्राप्ति की स्वीकृति सामने आई है। ऐसे में भाजपा सांसदों को निमंत्रण नहीं मिलने का असत्य कथन रमन सिंह ने क्यों किया? त्रिवेदी ने कहा है कि संघीय व्यवस्था के तहत राज्य का हक है कि खपत के अतिरिक्त चावल को केन्द्रीय पूल के कोटे के तहत खरीदा जाए।  सेन्ट्रल पूल में हमारी मांग है कि पिछले साल यहां पर भारतीय जनता पार्टी की सरकार थी तो आपने 24 लाख मीट्रिक टन की अनुमति दे दी, इस बार छत्तीसगढ़ में सरकार बदल गई तो भाजपा की केन्द्र सरकार अनुमति नहीं देगी तो यह गलत है। अनुमति मिलनी चाहिए। इसके पहले के वर्षों में 24 लाख मीट्रिक टन चावल सेंट्रल पूल में जमा करने के लिए केन्द्र सरकार की तरफ  से अनुमति थी वो इस साल क्यों नहीं? यहां के कुछ किसान विरोधी छत्तीसगढ़ विरोधी भाजपा नेताओं के इशारे पर यह साजिश रची जा रही है। छत्तीसगढ़ की जनता और छत्तीसगढ़ के किसान भाजपा को कभी माफ नही करेंगे। भाजपा नेतृत्व पर दबाव डालकर इस प्रकार की नीतियां बनाई जा रही हैं और फैसले लिये जा रहे हैं, जिससे राज्य की धान खरीदी प्रभावित हो। कांग्रेस पार्टी इसका विरोध करेगी। कांग्रेस पार्टी राज्य के मजदूरों के हक में, किसानों के हक में लड़ाई लड़ेगी।

 

02-11-2019
डॉ. रमन सिंह पर कांग्रेस ने साधा निशाना, कही ये बात...

रायपुर। कांग्रेस ने शनिवार को डॉ. रमन सिंह पर तंज कसा है। प्रदेश कांग्रेस के महामंत्री एवं संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा, डॉ. रमन सिंह को अब वो सब याद आ रहा है जिस पर वे 15 वर्षों में नियंत्रण नहीं कर पाए त्रिवेदी ने कहा है कि डॉ. रमन सिंह के कार्यकाल में सामाजिक कार्यकर्ताओं से लेकर पत्रकार और अधिकारियों से लेकर विपक्षी दल के नेता सभी प्रताड़ना के शिकार हुए। उन्होंने दमन के वे सारे तरीके अपनाए, जो लोकतंत्र में मान्य नहीं होते।
त्रिवेदी ने कहा है कि रमन सिंह को जनहित में काम कर रही भूपेश बघेल सरकार पर झूठे आरोप मढ़ने से पहले अपने गिरेबान में झांक कर देख लेना चाहिए, झीरम का हत्याकांड रमन सिंह की सरकार में हुआ। कांग्रेस भवन बिलासपुर के अंदर घुसकर कांग्रेस कार्यकर्ता पर लाठीचार्ज रमन सिंह के सरकार में हुआ। होम टिंपिग और पत्रकारिता जगत के जिस प्रकार से रमन सिंह ने अपने मुख्यमंत्री  के काल में निशाने में लिया था आज भी छत्तीसगढ़ याद करता है। धान खरीदी में बहानेबाजी के रमन सिंह के आरोपों को खारिज करते हुए शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि मोदी सरकार ने रमन सिंह की सरकार को 2 वर्ष तक छूट दी थी। धान खरीदी में बोनस देने के बावजूद सेंट्रल पूल में मोदी सरकार ने चावल खरीदी की थी। लेकिन कांग्रेस सरकार बनते ही सेंट्रल पूल में चावल की खरीदी बंद कर दी गई है। यह सीधे-सीधे केन्द्र की मोदी सरकार का छत्तीसगढ़ विरोधी कदम है और भाजपा के किसान विरोधी चरित्र का जीता-जागता सबूत है। डॉ. रमन सिंह द्वारा विपक्ष को आमंत्रित नहीं करने के आरोपों पर त्रिवेदी ने पूछा है कि रमन सिंह बतायें कि उनकी सरकार में विपक्षी नेताओं को, वर्तमान मुख्यमंत्री और तत्कालीन प्रदेश अध्यक्ष भूपेश बघेल को कैसे बुलाया जाता था? जमीन की नाप कितनी बार रमन सिंह ने करवाई। चतुर्थ श्रेणी के पद झीरम घाटी के शहीद कांग्रेस नेताओं के परिजनों को ऑफर करने वाले रमन सिंह बड़े बोल न बोले तो बेहतर होगा। 

 

30-10-2019
मंत्री डहरिया ने कहा, नगरीय निकाय में राइट टू रिकॉल खत्म होगा, खर्च भी सीमित करेंगे

रायपुर। छत्तीसगढ़ सरकार अब नगरीय निकाय चुनाव में कुछ बड़े बदलाव करने जा रही है। राइट टू रिकॉल को समाप्त करने का काम सरकार करने जा रही है। नगरीय निकाय मंत्री डॉ.शिव डहरिया ने कहा कि सरकार निकाय चुनाव में राइट टू रिकॉल के समाप्त करने जा रही है। इसके साथ ही निकाय चुनाव में प्रत्याशियों के लिए खर्च सीमा भी सीमित होगी। मंत्री डहरिया के बयान पर भाजपा राष्ट्रीय उपाध्यक्ष डॉ. रमन सिंह ने पलटवार किया है। उन्होंने कहा कि राइट टू रिकॉल को समाप्त कर सरकार मतदाताओं को उनके अधिकारों से वंचित करने का प्रयास कर रही है। वहीं महापौर चुनाव को अप्रत्यक्ष प्रणाली से कराना भी मतदाताओं को उनके अधिकारों से वंचित करना है।

 

26-10-2019
भाजपा ने प्रदेशवासियों को दी दीपावली की बधाई

रायपुर। भारतीय जनता पार्टी ने दीपोत्सव की बधाई देते हुए प्रदेशवासियों के सर्वतोमुखी कल्याण, सुख-समृध्दि और आरोग्य की मंगलकामना व्यक्त की है। भाजपा ने कहा कि दीपावली का यह पर्व प्रदेशवासियों के जीवन में राष्ट्रवाद का प्रखर आलोक लाए। भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने अपने शुभकामना संदेश में कहा कि दीपावली का पर्व प्रकाश की जीत का पर्व है। हम सब दीप के अकंपित संकल्प से प्रेरणा लेकर उच्चाकांक्षा से उदात्त मानस के साथ राष्ट्र जीवन की रचना के कार्य में जुटें, इस पर्व का यही संदेश हम सबको आत्मसात करना है।

प्रदेश भाजपा अध्यक्ष विक्रम उसेंडी ने अपने संदेश में कहा कि पांच दिनों के इस महापर्व पर आपसी सद्भाव, समन्वय, मर्यादा, सहकार और मानवीय रिश्तों के माधुर्य के साथ सामाजिक समरसता के लिए संकल्पित हों। हमारा यह संकल्पबध्द जीवन दर्शन सामाजिक व राष्ट्रीय पुननिर्माण का नया अध्याय लिखने वाला होगा। विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने कहा कि दीपावली का यह पर्व प्रदेश के सर्वतोमुखी विकास का मार्ग आलोकित करे। आरोग्य सुख-समृध्दि, सहकार और लोक संस्कृति की जीवंतता का प्रतीक यह महापर्व छत्तीसगढ़ की सर्वसमावेशी संस्कृति और वैचारिक प्रखरता के आलोक में प्रदेश के प्रगति पथ को निरंतर प्रशस्त करने वाला हो।

23-10-2019
नगरीय निकाय चुनाव में कांग्रेस प्रत्याशी बनने बढ़ी प्रतिद्वंद्विता, यह अच्छा संकेत : त्रिवेदी

 

रायपुर। नगरीय निकाय चुनाव में कांग्रेस प्रत्याशी बनने के लिए प्रतिद्वंद्विता बढ़ी है और मैं इसे अच्छा संकेत मानता हूं। राज्य सरकार की नीतियों के परिणामस्वरूप अच्छी सफलता कांग्रेस को नगरीय निकाय चुनाव में मिलेगी। प्रदेश कांग्रेस विलेबल प्रत्याशी का ही चयन करेगी, जीत सकने की क्षमता हमारा सबसे बड़ा क्राइटेरिया रहेगा। यह बात आज राजीव भवन में मीडिया से चर्चा के दौरान शैलेश नितिन त्रिवेदी, महामंत्री एवं अध्यक्ष संचार विभाग, छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने कही।  त्रिवेदी ने कहा कि भारत में प्रधानमंत्री का चुनाव लोकसभा सदस्य करते हैं। मुख्यमंत्री का चुनाव विधायक करते हैं। इसे देखते हुए नगरीय निकाय में भी महापौर का चुनाव पार्षदों द्वारा किया जाना पूरी तरह से तर्कसंगत है, प्रासंगिक है। ये घोषणा होने के बाद निश्चित रूप में सभी पार्षदों के मध्य प्रतिस्पर्धा बढ़ गई है। पार्षद प्रत्याशी बनने के लिए प्रतिस्पर्धा बढ़ गई है। मोर्चा संगठनों की बैठकें हो रही हैं। महिला कांग्रेस की महिलाएं कह रही हंै कि सक्रिय महिलाओं को मौका मिले, युवक कांग्रेस के साथी कह रहे हैं कि युवाओं को मौका मिले।  एनएसयूआई के लोग भी अपनी-अपनी बात रख रहे हैं।

त्रिवेदी ने एनआईए द्वारा झीरम मामले में शामिल माओवादियों के पोस्टर चिपकाने और इनाम की घोषणा के सवाल के जवाब में कहा कि इतने दिन बाद पोस्टर चिपकाना बहुत सारे सवालिया निशान खड़े कर रहा है।   झीरम मामले में एनआईए को बड़ी आशा के साथ जांच सौंपी गई थी कि वह पूरे मामले की जांच करके इस मामले के षडय़ंत्र को बेनकाब करेगी। एनआईए ने अपनी अंतिम रिपोर्ट में षडय़ंत्र के पहलुओं की जांच तक नहीं की। जिन लोगों से पूछताछ की, जिन लोगों के शामिल होने के सबूत थे, उनकी भी गिरफ्तारी नहीं हुई और रिपोर्ट जमा कर दी गई। जब उच्च न्यायालय में इस मामले में छत्तीसगढ़ के कुछ लोगों के द्वारा याचिका दायर की गई तो एनआईए ने पोस्टर चिपकाना शुरू किया। इतने दिनों तक इस मामले में एनआईए क्यों खामोश रही? त्रिवेदी ने कहा कि यदि दिखावे के लिए पोस्टर चिपकाए जाएंगे तो इससे झीरम के आरोपियों को सजा दिलाने का छत्तीसगढ़ के जन-जन का सपना है वो कभी पूरा नहीं होगा। निश्चित रूप से एनआईए इस मामले को लेकर धीमी रही है, जब एनआईए की जांच में भी प्रदेश में भाजपा की डॉ. रमन सिंह की सरकार थी, तब जो नोडल अधिकारी नियुक्त किए गए थे, तो उनके द्वारा जांच में बाधा भी डाली गई और अब इतने दिन बाद पोस्टर चिपकाने से बहुत सारे सवालिया निशान खड़े हो रहे हैं।

18-10-2019
डॉ. रमन ने धन नहीं,  जनता का आशीष और यश कमाया : कौशिक

रायपुर। प्रदेश विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के बयान पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा है कि डॉ. रमन सिंह ने 15 वर्षों के राज में धन नहीं जनता का मन कमाया है। मुख्यमंत्री चाहें तो डॉ. रमन और अपनी लोकप्रियता का तुलनात्मक अध्ययन करवा लें। उन्हें पता लग जायेगा कि वे कितने पानी में हैं? नेता प्रतिपक्ष कौशिक ने कहा कि डॉ. रमन के विकास कार्य और सद्व्यवहार से छत्तीसगढ़ की जनता बखूबी वाकिफ  है। झूठे वादे करके सत्ता में आए भूपेश बघेल और उनके कांग्रेसी साथियों की अकड़, अहंकार और उगाही का नजारा जनता देख रही है। कौशिक ने कहा कि रेत से तेल निकालने से लेकर शराब के ओवररेट तक की दास्तान बता रही है कि धन कौन बटोर रहा है? तबादला उद्योग से कौन जेबें भर रहा है? उन्होंने कहा कि रमन सिंह के अथक प्रयासों से विकास का गढ़ कहलाने वाला छत्तीसगढ़ कांग्रेस राज में बीमारू  राज्य के रूप में प्रतिष्ठित हुआ।  राज्य भूपेश शासन काल के 10 महीनों में ही 20 साल पीछे चला गया। सरकारी खजाने की हालत यह है कि राज्य को कर्ज की गहरी खाई में धकेला जा रहा है। हर महीने हजार करोड़ से ज्यादे का कर्ज लेकर राज्य का दिवाला निकाला जा रहा है। नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम अपने संगठन दायरे से बाहर शासन प्राधिकारी के तौर पर आचरण करते हुए कह रहे हैं कि पूर्व मुख्यमंत्री को जेल भेजने की तैयारी हो रही है। कांग्रेस अध्यक्ष का यह अहंकारी बयान यह साबित कर रहा है कि कांग्रेस की सरकार बदले की राजनीति के तहत षडय़ंत्र रच रही है, जिसका खुलासा कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने किया है।   कौशिक ने कहा कि कांग्रेस के शासन की वादाखिलाफी, भ्रष्टाचार, अहंकार, अराजकता, आर्थिक दिवालियापन की स्थिति को देखते हुए 4 माह में ही जानता का भरोसा टूट गया था, जिसका परिणाम लोकसभा चुनाव में सामने आ गया। यही वजह है कि डरी-सहमी भूपेश सरकार लूट तंत्र तैयार करने पिछले दरवाजे से महापौर बनाने की कोशिश कर रही है। सारा प्रदेश विकास की मुख्यधारा से कटकर 20 साल पुरानी स्थिति में पहुंच गया है तो यह मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और उनकी मंडली के सत्तावादी अहंकार, उगाही और उत्पीडऩ की ही देन है।
 

 

18-10-2019
रमन ने कांग्रेस सरकार को लिया आड़े हाथ, कहा-सरकार ने नहीं रखी गंगाजल की लाज

जगदलपुर। चित्रकूट विधानसभा उपचुनाव को लेकर कांग्रेसी और बीजेपी आमने-सामने हो गई है कांग्रेस के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल मंत्री एवं नेता अपने प्रत्याशी के लिए जमकर मेहनत कर रहे हैं और चित्रकूट की सीट को जीत कर भाजपा मुक्त करने का दावा भी कर रहे हैं। वहीं भारतीय जनता पार्टी के नेता भी अपने प्रत्याशी के लिए जमकर मेहनत कर रहे हैं। बस्तर की 12 सीटों में से एक सीट पर कमल खिलाने के लिए पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह डेरा डाले हुए हैं और चित्रकूट की सीट पर कमल खिलाने के लिए जमकर मेहनत भी कर रहे हैं। अपने दो दिवसीय दौरे पर आए पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने एक प्रेस वार्ता के दौरान कांग्रेस को आड़े हाथ लेते हुए जमकर हमला बोला पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा कि कांग्रेश की भूपेश सरकार ने 10 महीने में छत्तीसगढ़ को लूटा है। चुनाव के पहले कांग्रेस ने गीता और गंगाजल की कसम खाई थी कि हम शराब बंदी करेंगे उसकी भी लाज कांग्रेस ने नहीं रखी। मैं बस्तर के विकास की बात करता हूं नक्सलवाद समाप्त हो जब तक राजनीति करूंगा बस्तर के विकास के बारे में सोचता रहूंगा। पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने राहुल गांधी पर तंज कसते हुए कहा कि भगवान उनको सद्बुद्धि दे क्या-क्या करते हैं वही जाने। 

 

17-10-2019
भूपेश बघेल ने डॉ. रमन सिंह पर साधा निशाना, कही ये बात...

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल गुरुवार को उत्तरप्रदेश में चुनाव प्रचार के लिए लखनउ रवाना हुए। एयरपोर्ट पर पत्रकारों से चर्चा के दौरान उन्होंने पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के 100 साल तक जेल नही भेज पाने वाले बयान पर जवाब दिया। भूपेश बघेल ने कहा, डॉ. रमन को बहुत अहंकार है जितना कमीशनखोरी से उन्होंने धन इकट्ठा किया है उसी के बल पर गरज रहे हैं। दंतेवाड़ा में हमनें भाजपा की सीट छीनी है। डॉ. रमन सिंह ने दंतेवाड़ा में ठेकेदारों को लगाया था, अब वो ठेकेदार चित्रकोट में नहीं दिखाई दे रहे हैं ।

भूपेश बघेल ने कहा कि डर की वजह से नेता प्रतिपक्ष ने पीआईएल लगाई है। हमें किसी को जेल भेजने का शौक नहीं है। चित्रकूट उपचुनाव पर पूछे सवाल पर उन्होंने कहा हम पूरी ताकत के साथ लड़ रहे हैं। भाजपा नहीं चाहती कि चुनाव हो। नगरीय निकाय चुनाव पर भूपेश बघेल ने कहा कि भाजपा चाह रही थी कि प्रदेश में नगर निगम और अन्य नगरीय निकायों में चुनाव न हो। बता दें कि मुख्यमंत्री बघेल उत्तरप्रदेश में उपचुनाव में प्रचार के साथ ही हरियाणा में भी चुनाव प्रचार में करेंगे और जनसभाओं को संबोधित करेंगे।

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804