GLIBS
16-05-2020
संबित पात्रा, रमन, सरोज पांडेय कर रहे झूठ और छल की राजनीति : राजेंद्र साहू

दुर्ग। वरिष्ठ कांग्रेस नेता राजेन्द्र साहू ने गृहराज्य वापस भेजने के मामले में केंद्रीय रेल मंत्री सहित भाजपा नेताओं पर झूठ और छल की राजनीति करने का आरोप लगाया है। प्रदेश कांग्रेस कमेटी के महामंत्री राजेंद्र साहू ने अपने जारी बयान में कहा है कि लॉक डाउन लागू होने के बाद प्रवासी श्रमिकों को उनके गृहराज्य वापस भेजने के लिए केंद्र सरकार ने कोई भी कदम नहीं उठाया। राज्य सरकारों की लगातार मांग के बाद रेल मंत्रालय ने पर्याप्त ट्रेनें उपलब्ध नहीं कराई। डिमांड के अनुसार ट्रेन चलाने में विफल रहे रेल मंत्री श्रमिकों को गुमराह करने के लिए अब झूठे प्रपंच का सहारा ले रहे हैं। राजेंद्र साहू ने कहा कि केंद्र सरकार ने दूसरे राज्यों में फंसे श्रमिकों को उनके गृहराज्य में वापस भेजने की दिशा में एक भी कदम नहीं उठाया। यह केंद्र सरकार का दायित्व था कि भारत के श्रमवीरों को उनके घर वापस भेजती।

मगर ऐसा नहीं किया गया। जब राज्य सरकारों ने अपने प्रदेश के श्रमिकों को वापस बुलाने के लिए विशेष श्रमिक ट्रेन चलाने की मांग की तो रेल मंत्रालय ने गिनी चुनी ट्रेनें उपलब्ध कराई है। श्रमिकों से टिकट किराया न लेने की मांग को भी रेल मंत्रालय ने मंजूर नहीं किया। राजेंद्र ने कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के श्रमिकों की टिकट का खर्च वहन करने की घोषणा के बाद रेल मंत्रालय ने गिनी-चुनी ट्रेनें ही उपलब्ध कराई। श्रमिकों को उनके घर वापस भेजने के मामले में जिम्मेदारी निभाने में पूरी तरह नाकाम हो चुकी भाजपा सरकार के रेल मंत्री अब गैर कांग्रेसी राज्यों की सरकार पर झूठे आरोप लगा रहे हैं। वैश्विक संकट के दौर में श्रमिक वर्ग बेहद परेशान है। इतने परेशान मजदूरों से संकट के दौर में रेल किराया वसूलने वाले रेल मंत्री पीयूष गोयल का इस मामले में सफेद झूठ बोलना बेहद दुर्भाग्यजनक है। उन्होंने कहा कि गरीबी की मार झेल रहे प्रवासी श्रमिक लॉकडाउन के कारण दाने-दाने को मोहताज हो गए हैं।

बेहद परेशानहाल श्रमिकों के मामले में रेल मंत्री समेत भाजपा नेता डॉ. संबित पात्रा, डॉ. रमन सिंह, सरोज पांडेय जैसे केंद्रीय नेता छल-फरेब की राजनीति न करें। गोयल देश को गलत जानकारी देकर गुमराह करने का प्रयास न करें। गलत आरोप न मढ़ें। उनके झूठे आरोपों से मजदूरों को दिग्भ्रमित करने का प्रयास सफल नहीं होगा। राजेंद्र ने कहा कि दुनिया जानती है कि सोनिया गांधी ही सबसे पहली नेता रही जिन्होंने लाखों मजदूरों के ट्रेन का किराया कांग्रेस पार्टी द्वारा वहन करने का ऐलान किया और श्रमिकों को उनके घर पहुंचाने का बीड़ा उठाया। संविधान की शपथ लेकर रेलमंत्री जैसे संवैधानिक पद पर आसीन रेलमंत्री को इस मामले में झूठ की राजनीति से बचना चाहिए। राजेंद्र ने कहा कि रेल मंत्री को देश के सामने स्पष्ट करना चाहिए कि छत्तीसगढ़ सहित सभी राज्यों ने कितनी ट्रेनों की मांग की थी और कितनी ट्रेनों को चलाने की अनुमति रेल मंत्रालय ने दी है। इससे सच सामने आ जाएगा।

20 लाख करोड़ के पैकेज में 80 प्रतिशत किसानों के लिए एक रुपए भी नहीं राजेंद्र ने केंद्र सरकार के 20 लाख करोड़ के पैकेज पर गंभीर सवाल उठाते हुए कहा कि देश की 65 प्रतिशत आबादी खेती करती है। इन किसान परिवारों को राहत देने के लिए केंद्र के पैकेज में कोई भी प्रावधान न होना दुर्भाग्यजनक है। इसमें कृषकों की आमदनी बढ़ाने या फसल नुकसान से राहत देने जैसा कोई भी प्रावधान नहीं है। राजेंद्र ने तीखे लहजे में कहा कि देश के अन्नदाताओं के लिए यह आर्थिक पैकेज किसी छलावे के सिवा कुछ नहीं है। राजेंद्र ने कहा कि पैकेज में मछली पालन, कृषि स्टार्टअप, हर्बल खेती और शहद उत्पादन के लिए प्रावधान किया गया है।

केंद्रीय वित्त मंत्री को इतनी जानकारी और समझ होना चाहिए कि देश में कुल फसल का लगभग 80 फीसदी उत्पादन गेहूं, धान, गन्ना, दलहन, तिलहन की फसल का होता है। इन फसलों के उत्पादक किसानों और सब्जी उत्पादकों के लिए पैकेज में कोई भी प्रावधान नहीं है। पैकेज से देश के 80 फीसदी फसल उत्पादक किसानों को कोई फायदा नहीं मिलेगा। राजेंद्र ने कहा कि किसानों को राहत देने धान, दलहन, तिलहन, गन्ना जैसी फसलों की कीमत में बढ़ोतरी की जा सकती थी। ओला वृष्टि और असमय बारिश से होने वाले नुकसान के कारण आर्थिक संकट झेल रहे किसानों, सब्जी उत्पादकों को प्रति एकड़ की दर से मुआवजा राशि या क्षतिपूर्ति देने का प्रावधान भी पैकेज में किया जा सकता था। इस पैकेज से किसानों की आय दोगुना करने का वादा करने वाली मोदी सरकार का किसान विरोधी चेहरा बेनकाब हो गया है।

24-03-2020
बच्ची की बीमारी का बहाना झूठ निकला, हवाखोरी करने निकला युवक अब जेल की हवा खा रहा

रायपुर। राजधानी में पुलिस सख्त होती नजर आ रही है। बीते दिन बैरन बाजार कुंदरापारा  में घर से बाहर घूमने निकले युवक को जब पुलिस ने पकड़ा तब उसने बच्ची के अस्पताल में भर्ती होने का बहाना किया। लेकिन पुलिस उसके बात की पुष्टि करने के लिए जब अस्पताल पहुंची तो दिनेश की बात झूठ निकली, जिसके बाद पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। प्रशासन की सख्ती और बढ़ने के आसार हैं।

17-12-2019
परिवार भक्ति का दस्तावेज है कांग्रेस का घोषणा पत्र : भाजपा

रायपुर। भारतीय जनता पार्टी ने नगरीय निकाय के लिए जारी कांग्रेस के शहरी जनघोषणा पत्र को महज 'परिवार-भक्ति का दस्तावेज बताया है। भाजपा प्रवक्ता श्रीचंद सुन्दरानी ने कहा कि खानदान-भक्त प्रदेश के कांग्रेस नेताओं की विचारहीनता इस घोषणा पत्र में साफ नजर आ रही है। छत्तीसगढ़ और छत्तीसगढ़िहा का सालभर राग अलापने वाले प्रदेश के मुख्यमंत्री समेत तमाम कांग्रेस नेता परिवार-भक्ति के मोहजाल में फंसे हुए हैं। उनके इस घोषणा पत्र में जितनी योजनाओं के प्रस्ताव की चर्चा हुई है, उनमें छत्तीसगढ़ के किसी भी महापुरुष के नाम पर कोई योजना नहीं है। इससे साफ होता है कि छत्तीसगढ़  का राग आलापकर कांग्रेस नेता और सत्ताधीश छत्तीसगढ़ का भावनात्मक शोषण कर यहां के लोगों का सिर्फ राजनीतिक इस्तेमाल ही करते हैं और अवसर मिलते ही खानदान-वंदना करने में मशगूल हो जाते है। लेकिन प्रदेश का मतदाता अब समझदार हो गया है और वह कांग्रेस की इस झांसेबाजी का अब शिकार नहीं होगा।
उन्होंने कहा कि विधानसभा चुनाव के समय किए गए वादों से मुकरकर प्रदेश को बदहाली की ओर धकेलने वाली कांग्रेस के पास तो अब घोषणा पत्र जारी करने की नैतिकता ही नहीं रह गई थी। जिन लोगों ने गंगाजल हाथ में लेकर कसमें खाने के बावजूद छलावा-ठगी-झूठ फैलाकर वादा खिलाफी की है, वे उम्मीद कैसे कर सकते हैं कि प्रदेश के निकाय चुनावों में लोग उनकी बातों पर भरोसा कर लेंगे?

19-04-2019
कांग्रेसी नेता झूठ बोलते हैं, सांप्रदायिकता फैलाते हैं :  नितिन गडकरी

जशपुरनगर। केन्द्रीय सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने जशपुर के पत्थलगांव में शुक्रवार को एक चुनावी सभा में भाजपा सरकार द्वारा किए गए कार्यों व उपलब्धियों की जानकारी दी। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार राज्यों के आर्थिक विकास की नीति के साथ ही नवोन्मेष को बढ़ावा देने वाली कई  योजनाओं पर काम कर रही है। ये योजनाएं भविष्य में देश के नागरिकों की जिंदगी को और बेहतर बनाएगी। इस अवसर पर उन्होंने कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी पर निशाना साधते हुए कहा कि प्रियंका गांधी ने गंगा में आधुनिक मोटर बोट की सवारी की, यह मोदी सरकार की वजह से ही संभव हो पाया। गडकरी ने कांग्रेस के नेताओं पर झूठ बोलने, सांप्रदायिकता फैलाने और भ्रष्टाचार करने का आरोप लगाया। कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष  राहुल गांधी और कांग्रेस पर निशाना साधते हुए गडकरी ने कहा कि मुसलमानों को सुरक्षा का भय दिखाकर साम्प्रदायिकता की राजनीति कर राहुल गांधी अब केन्द्र सरकार की गद्दी तक पहुंचना चाहते हैं। केन्द्रीय मंत्री गडकरी ने रायगढ़ लोकसभा क्षेत्र से भाजपा प्रत्याशी गोमती के पक्ष में वोट देने की अपील करते हुए उन्होंने कहा कि जो काम पचास साल में नहीं हुआ वह काम मोदी सरकार में हो रहा है। आज देश की तस्वीर बदल रही है।  गडकरी ने कहा कि देश की अर्थव्यवस्था किसानों पर टिकी है। हमारी सरकार ने देश में किसानों के खेत तक पानी पहुंचाने के लिए महत्वपूर्ण योजना का क्रियान्वयन किया। इसीलिए छत्तीसगढ़ को चावल का कटोरा कहा जाता है। 

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804