GLIBS
20-08-2020
राजीव गांधी की जयंती पर प्रधानमंत्री मोदी ने किया नमन

नई दिल्ली। पूर्व प्रधानमंत्री स्व. राजीव गांधी की 76 वीं जंयती पर गुरुवार को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने नमन किया। पीएम मोदी ने स्व. गांधी को जंयती पर श्रद्धा सुमन अर्पित करते हुए कहा, "पूर्व प्रधानमंत्री श्री राजीव गांधी को उनकी जंयती पर श्रद्धा सुमन।" स्व. गांधी देश के छठे और सबसे कम 40 वर्ष की आयु में प्रधानमंत्री बने थे। उनका कार्यकाल 1984 से 1989 तक था।

22-07-2020
पीएम मोदी करेंगे 5 अगस्त को राम मंदिर का शिलान्यास, सभी राज्यों के सीएम को भेजा जाएगा आमंत्रण

 नई दिल्ली। अयोध्या में राम मंदिर का पांच अगस्त को शिलान्यास होने वाला है। इसे लेकर अयोध्या में तैयारियां जोरों पर हैं। श्रीराम जन्मभूमि के तीर्थ क्षेत्र कोषाध्यक्ष स्वामी गोविंद देव गिरि ने कहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 5 अगस्त को राम मंदिर का शिलान्यास करेंगे। इसमें सभी सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों को आमंत्रित किया जाएगा। उन्होंने कहा कि कार्यक्रम में सामाजिक दूरी सुनिश्चित करने के लिए हमने तय किया है कि आमंत्रित किए गए 150 लोगों सहित 200 से अधिक लोग इकट्ठा नहीं होंगे। स्वामी गिरि ने कहा कि शिलान्यास करने से पहले पीएम मोदी मंदिर में भगवान राम और हनुमान गढ़ी मंदिर में भगवान हनुमान की प्रार्थना करेंगे। सभी मुख्यमंत्रियों को कार्यक्रम में आमंत्रित किया जाएगा। वहीं, श्रीरामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के प्रस्तावित नए मंदिर का डिजाइन मंगलवार को सोमपुरा बंधुओं की कड़ी मेहनत से तैयार हो गया। ट्रस्ट ने इस मंदिर का नाम श्रीराम जन्मभूमि मंदिर रखा है, जो सबसे अग्रभाग में सिंह द्वार पर दर्ज होगा। इस मंदिर का आकार अब बढ़कर 84 हजार 6 सौ वर्गफीट हो गया है, जो पहले के प्रस्तावित मंदिर के दूना से भी करीब 10 हजार वर्गफीट बड़ा है। इसमें गूढ़ मंडप समेत कीर्तन व प्रार्थना के लिए भी मंडप की व्यवस्था की गई है। पहले जहां मंदिर की क्षमता 20 हजार भक्तों की थी, वहीं अब 50 हजार से अधिक लोग एक साथ पूजा कर सकते हैं।  

 

03-07-2020
पीएम मोदी ने भरोसा दिलाया, देश की बागडोर सही हाथों में है : डॉ. रमन सिंह

रायपुर। भारत-चीन तनाव के बीच प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जवानों का हौसला बढ़ाने लेह पहुंचे। उनके साथ सीडीएस जनरल बिपिन रावत सहित अन्य सैन्य अधिकारी भी मौजूद रहे। प्रधानमंत्री के इस दौरे पर भाजपा राष्ट्रीय उपाध्यक्ष डॉ. रमन सिंह ने प्रधानमंत्री की तारीफ की है। रमन सिंह ने ट्वीट कर कहा कि वर्षों तक माँ भारती प्रतीक्षा करती है तब कहीं जाकर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जैसा नेतृत्वकर्ता पाती है। इस तनाव के समय में लद्दाख पहुँच मोदी जी ने एडीजीपीआई के जवानों का हौंसला बढ़ाकर देश को विश्वास दिलाया है कि भारत की बागडोर सही हाथों में है।बता दें कि प्रधानमंत्री ने सीमा पर अग्रिम मोर्चे निमू का जायजा लिया। यहां पहुंचकर पीएम मोदी ने थलसेना, वायुसेना और आईटीबीपी के जवानों से मुलाकात की। निमू करीब 11 हजार फीट की ऊंचाई पर स्थित है जो सबसे कठिन परिस्थिति वाली जगह मानी जाती है। ये जगह जांस्कर रेंज से घिरी हुई है।

21-06-2020
अंतरराष्ट्रीय योग दिवस : पीएम मोदी ने कहा- कोरोना से लड़ने के लिए योग जरूरी

नई दिल्ली। कोरोना के मद्देनजर आज यानी 21 जून को अंतरराष्ट्रीय योग दिवस बिना लोगों के बड़े जमावड़े के डिजिटल मीडिया मंचों पर मनाया जा रहा है। इस अवसर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देशवासियों को संबोधित किया। पीएम मोदी ने कहा कि छठे अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस की आप सभी को बहुत-बहुत बधाई और शुभकामनाएं अंतरराष्ट्रीय योग दिवस का ये दिन एकजुटता का दिन है। योग दिवस दुनिया भर में पहली बार 21 जून 2015 को मनाया गया और तबसे हर साल इस दिन को योग दिवस के तौर पर मनाया जाता है। लेकिन यह पहला मौका है जब इसे डिजिटल तरीके से मनाया जा रहा है। इस साल की योग दिवस की थीम ‘घर पर योग और परिवार के साथ योग’ है।

पीएम मोदी ने कहा, ”अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस का ये दिन एकजुटता का दिन है, ये विश्व बंधुत्व के संदेश का दिन है। जो हमें जोड़े, साथ लाये वही तो योग है। जो दूरियों को खत्म करे, वही तो योग है। कोरोना के इस संकट के दौरान दुनिया भर के लोगों का माई लाइफ-माई योगा वीडियो ब्लॉगिंग कंपटीशन में हिस्सा लेना, दिखाता है कि योग के प्रति उत्साह कितना बढ़ रहा है। उन्होंने कहा कि ”बच्चे, बड़े, युवा, परिवार के बुजुर्ग, सभी जब एक साथ योग के माध्यम से जुडते हैं, तो पूरे घर में एक ऊर्जा का संचार होता है। इसलिए, इस बार का योग दिवस, भावनात्मक योग का भी दिन है और हमारे परिवार के रिश्ते को भी बढ़ाने का दिन है।

प्राणायाम को अपने अभ्यास में जरूर शामिल करिए- मोदी :

नरेंद्र मोदी ने कहा कि कोविड 19 वायरस खासतौर पर हमारे श्वसन तंत्र, पर हमला करता है। हमारे श्वसन तंत्र को मजबूत करने में जिससे सबसे ज्यादा मदद मिलती है वो प्राणायाम है। उन्होंने कहा कि ”आप प्राणायाम को अपने रोज अभ्यास में जरूर शामिल करिए और अनुलोम-विलोम के साथ ही दूसरी प्राणायाम को भी सीखिए।

18-06-2020
सेना ने कहा, गलवान घाटी से कोई भी भारतीय सैनिक लापता नहीं

नई दिल्ली। अब तक कई ख़बरों में कहा जा रहा था कि चीन से झड़प के दौरान कई भारतीय सैनिक लापता भी हैं। अब भारतीय सेना ने इसे लेकर कहा कि कोई भी भारतीय सैनिक लापता नहीं है। झड़प के दौरान कोई भी सैनिक गायब नहीं हुआ था।बता दें कि 15/16 जून को लद्दाख की गलवान घाटी में वास्तविक सीमा पर भारतीय सैनिकों से चीनी सैनिकों की झड़प हुई थी। चीनी सैनिकों ने पूरी योजना के साथ भारतीय सैनिकों पर हमला कर दिया था। इस घटना में 20 भारतीय सैनिक शहीद हो गए थे।. जबकि कई भारतीय सैनिक घायल भी हुए थे।भारत ने इस मामले को लेकर कड़ा रुख अख्तियार किया है।

पीएम मोदी ने कहा कि भारत किसी को उकसाता नहीं है और यथोचित जवाब देने में सक्षम है। वहीँ विदेश मंत्री ने इस पूरे मामले को चीन की बड़ी साजिश बताया था और कहा था कि चीन ज़मीनी हकीकत बदलने की कोशिश कर रहा है। इस पूरे मामले को लेकर चीन और भारत में तनाव चरम पर है।

 

18-06-2020
देश वैश्विक स्तर पर शांति, सुरक्षा, समानता के लिए सबके साथ मिलकर करेगा काम : पीएम मोदी

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने विश्व समुदाय का आभार जताया है। पीएम मोदी ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (यूएनएससी) में भारत को सदस्य चुनने में समर्थन करने वाले विश्व समुदाय का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि देश वैश्विक स्तर पर शांति, सुरक्षा, लचीलापन और समानता के लिए सबके साथ मिलकर काम करेगा। भारत को परिषद की बुधवार को हुई बैठक में अस्थायी सद्स्य चुना गया। भारत आठवीं बार परिषद का अस्थाई सदस्य बना है। यह कार्यकाल दो वर्ष 2021-22 का होगा, जो एक जनवरी से शुरू होगा। पीएम मोदी ने गुरुवार को ट्वीट किया," परिषद का सदस्य चुनने में वैश्विक समुदाय के जबर्दस्त समर्थन के लिए हार्दिक आभार। भारत परिषद के सभी सदस्यों के साथ मिलकर वैश्विक स्तर पर शांति, सुरक्षा, लचीलापन और समानता के लिए काम करेगा।" संयुक्त राष्ट्र महासभा के 193 देशों ने अपने 75वें सत्र के लिए अध्यक्ष, सुरक्षा परिषद के अस्थाई सदस्यों और आर्थिक एवं सामाजिक परिषद के सदस्यों के लिए चुनाव कराया था। भारत के साथ-साथ आयरलैंड, मेक्सिको और नॉर्वे को भी सुरक्षा परिषद में प्रवेश मिला है जबकि कनाडा को बाहर ही रहना पड़ेगा। भारत को 192 में से 184 वोट मिले।

11-06-2020
गिर वन क्षेत्र में शेरों की संख्या में हुई वृद्धि, पीएम मोदी ने ट्वीट करके दी बधाई

 नई दिलली। गुजरात के वन विभाग ने बताया कि गिर वन क्षेत्र में एशियाई शेरों की संख्या 29 प्रतिशत की वृद्धि के साथ अब 674 हो गई है। इस बात की जानकारी खुद पीएम नरेंद्र मोदी ने ट्वीट के जरिए दी।विभाग ने पांच और छह जून को पूर्णिमा में शेरों की संभावित संख्या की गणना शुरू की थी। हर पांच साल बाद होने वाली यह गणना मई में होनी थी, लेकिन लॉकडाउन के चलते इसे टाल दिया गया।पीएम मोदी ने ट्वीट में लिखा कि गुजरात के गिर वन में एशियाई शेरों की संख्या में 29 प्रतिशत का इजाफा हुआ है। जबकि उनके भौगोलिक क्षेत्र में भी 36 प्रतिशत की वृद्धि देखी गई है। इसके लिए गुजरात के उन सभी लोगों को दिल से शुक्रिया जो इस मुहिम के भागीदार बनें।उन्होंने वन्य विभाग के योगदान की भी तारीफ की। पीएम मोदी ने यह भी कहा है कि इस उपलब्‍ध‍ि में इंसान और शेरों के बीच टकराव को कम करने के प्रयासों की भी महत्‍वपूर्ण भूमिका रही है। ऐसे में उम्‍मीद है कि शेरों की संख्‍या में इसी तरह आगे भी बढ़ोतरी देखने को मिलेगी।मई 2015 की गणना के अनुसार गिर में एशियाई शेरों की संख्या 523 थी। 2010 से 2015 के बीच इनकी संख्या में 27 प्रतिशत की वृद्धि हुई। विभाग की आधिकारिक विज्ञप्ति में बताया गया है कि ‘पूनम अवलोकन’ (पूर्णिमा पर शेरों की गिनती की कवायद) में पता चला है कि शेरों की संख्या 28.87 प्रतिशत बढ़कर 674 हो गई है। विज्ञप्ति में कहा गया है कि यह अब तक की सबसे अधिक वृद्धि दर है। कुल 674 शेरों में 161 नर, 260 मादा, 116 वयस्क शावक और 137 शावक हैं।इस कवायद में यह भी पता चला है कि शेरों के इलाके में भी 36 प्रतिशत की वृद्धि हुई है, जो 2015 के 22,000 वर्ग किलोमीटर से बढ़कर 2020 में 30,000 वर्ग किलोमीटर हो गया है। शेरों की गणना की इस कवायद में 1,400 कर्मी शामिल थे। हालांकि इस बीच कई शेरों की मौत भी हुई है।

11-06-2020
आईसीसी के कार्यक्रम में बोले पीएम मोदी, संकट की इस घड़ी को अवसर में बदलकर नई बुलंदियों की ओर बढ़े

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को इंडियन चैम्बर ऑफ कॉमर्स (आईसीसी) के 95वें सालाना कार्यक्रम को संबोधित किया। इस संबोधन में पीएम मोदी ने कोरोना संकट को अवसर में बदलने की बात कही। पीएम मोदी ने कहा कि आज देशवासियों के मन में एक काश है, काश हम मेडिकल के क्षेत्र में आत्मनिर्भर होते ,काश हम डिफेंस के क्षेत्र में आत्मनिर्भर होते। काश हम सोलर पैनल के क्षेत्र में आत्मनिर्भर होते, ऐसे कई उदाहरण हैं जहां पर देश में काश घूम रहा है। उन्होंने कहा इस समय आईसीसी के सदस्यों के चेहरे पर और करोड़ों देशवासियों के चेहरे पर मैं एक नया विश्वास और आशा देख सकता हूं। पूरा देश इस संकल्प से भरा हुआ है कि इस आपदा को अवसर में बदलना है और इसे हमें एक बहुत बड़ा टर्निंग प्वाइंट भी बनाना है। प्रधानमंत्री ने कहा कि आज जो चीजें हमें विदेश से मंगवानी पड़ती है, हमें विचार करना होगा कि वो हमारे देश में कैसे बने और फिर कैसे हम उसका निर्यात करें। पीएम मोदी ने कहा कि इस वक्त मुसीबत की दवाई सिर्फ मजबूती है, मुश्किल वक्त में भारत हमेशा आगे बढ़कर सामने आया है। आज पूरी दुनिया ही इस संकट से लड़ रही है, कोरोना वॉरियर्स के साथ देश इस लड़ाई में पीछे नहीं है।

प्रधानमंत्री ने कहा- मन के हारे हार, मन के जीते जीत... हमारी संकल्प शक्ति ही हमारा आगे का मार्ग तय करती है। जो पहले ही हार मान लेता है, उसके सामने नए अवसर नज़र नहीं आते हैं ऐसे में जीत के लिए लगातार प्रयास करने वाला ही सफलता पाता है और नए अवसर आते हैं। बता दें की 10 दिन में ये दूसरा मौका होगा जब मोदी इंडस्ट्री के लोगों से जुड़ रहे हैं। इससे पहले उन्होंने 2 जून को कन्फेडरेशन ऑफ इंडियन इंडस्ट्री के एनुअल सेशन में इकोनॉमी पर बात की थी। गौरतलब है कि कोरोना वायरस के महासंकट के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लगातार संबोधन दिया है।

02-06-2020
अब राहुल गांधी भी करेंगे 'मन की बात', जल्द शुरू कर सकते हैं ऑनलाइन पॉडकास्ट प्रोग्राम

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी देश की जनता से जुड़ने के लिए रेडियो पर 'मन की बात' करते हैं। पीएम मोदी के इस कार्यक्रम का मुकाबला करने के लिए पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी जल्द ही 'मन की बात' कर सकते हैं। दरअसल राहुल गांधी आने वाले समय में पॉडकास्ट सर्विस पर भी हाथ आजमा सकते हैं। बताया जा रहा है कि इस मामले की जानकारी कांग्रेस दफ्तर से जुड़े एक शख्स ने दी है। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी जल्द ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की हर महीने के आखिरी में प्रसारित होने वाली 'मन की बात' से टक्कर ले सकते हैं। इस मामले की जानकारी रखने वाले कांग्रेस दफ्तर से जुड़े एक शख्स ने बताया कि अभी हम योजना बनाने वाली स्टेज पर ही हैं। उन्होंने कहा कि विशेषज्ञों के साथ बारीक बिंदुओं पर चर्चा कर रहे हैं और उनसे पूछ रहे हैं कि कैसे इसके बारे में जाना जाए। पॉडकास्ट एक ऑडियो संदेश या चर्चा है, जिसे डिजिटल रूप से स्थानांतरित किया जाता है।
 
कुछ समय पहले ही राहुल ने लॉन्च किया यूट्यूब चैनल : 

पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कुछ समय पहले ही अपना यूट्यूब चैनल लॉन्च किया है, लॉक डाउन के दौरान उन्होंने इसके जरिए लोगों तक अपनी पहुंच बनानी शुरू कर दी है। राहुल गांधी के यूट्यूब चैनल पर अब तक 2 लाख 94 हजार सब्स्क्राइबर हो चुके हैं। हालांकि प्रवासी मजदूरों वाली उनकी बातचीत 752,000 लोगों ने देखी। स्वास्थ्य विशेषज्ञों प्रोफेसर आशीष झा और कोरोनो वायरस पर प्रोफेसर जोहान गिसेके के साथ उनकी वीडियो के जरिए की गई बातचीत को 90,000 से ज्यादा बार देखा गया।

राहुल के ट्विटर पर 14.4 मिलियन फॉलोअर :

वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ट्विटर पर 57.9 मिलियन फॉलोअर्स के अलावा यूट्यूब चैनल पर 6.45 मिलियन सब्स्क्राइबर हैं, इसके साथ ही उन्हें 45 मिलियन लोग फेसबुक पर फॉलो करते हैं। वहीं राहुल गांधी को ट्विटर पर 14.4 मिलियन जबकि 3.2 मिलियन लोग फेसबुक पर फॉलो करते हैं। सूत्रों ने कहा है कि हम लिंक्डइन पर भी जाने के बारे में विचार कर रहे हैं। कांग्रेस सूत्रों ने दावा किया है कि लॉक डाउन के दौरान पार्टी के सोशल मीडिया कैंपेन को अच्छी प्रतिक्रिया मिली है। कांग्रेस नेता ने बताया, ‘28 मई को हमारा 'स्पीक अप इंडिया' ऑनलाइन अभियान काफी हिट रहा। 5.7 मिलियन से अधिक पार्टी नेताओं और कार्यकर्ताओं ने दिन भर विभिन्न सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर अपने संदेश अपलोड किए। किसानों, प्रवासी श्रमिकों, दैनिक वेतन भोगियों और महामारी से प्रभावित छोटे व्यवसायों को तत्काल वित्तीय सहायता प्रदान करने की मांगों को स्वीकार करने के लिए केंद्र सरकार पर दबाव बनाने के को लेकर दिन भर अभियान चलाया गया।

01-06-2020
ऑस्ट्रेलियाई प्रधानमंत्री ने समोसा खाने की कही बात, तो पीएम मोदी ने मॉरिसन को दिया ये जवाब 

नई दिल्ली। पूरी दुनिया में कोरोना वायरस से हाहाकार मचा हुआ है। कोरोना वायरस महामारी से निपटने के लिए दुनिया के अधिकतर देशों में लॉक डाउन है। इसकी वजह से लोग अपने घरों में कैद हो गए हैं। घर पर रहते हुए लोग समय का जमकर सदुपयोग कर रहे हैं। कोई योगासन करके अपनी फिटनेस पर काम कर रहा है तो कोई बाल काटने का हुनर सीख रहा है। तमाम लोग ऐसी भी हैं जिनके अंदर का शेफ जाग गया है और वे रोज नई रेसिपी ट्राइ कर रहे हैं।सोशल मीडिया ऐसी तस्वीरों और वीडियोज से भरा पड़ा है। लोग खाना बनाने की कला का जबर्दस्त प्रदर्शन कर रहे हैं। ऐसा नहीं है कि सिर्फ आम लोग ही ऐसा कर रहे हैं। बड़ी-बड़ी हस्तियां इस काम में जुटी हुई हैं। हाल ही में कटरीना कैफ का बर्तन धोते हुए वीडियो वायरल हुआ था और साथ ही अनुष्का शर्मा का विराट कोहली के बाल काटते हुए वीडियो को भी खूब पसंद किया गया था। अब इस लिस्ट में ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री की भी नाम जुड़ गया है।

स्कॉट मॉरिसन के ऑफर पर पीएम मोदी का जवाब :
ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन ने ट्विटर पर एक तस्वीर पोस्ट की है। इसमें वे अपने घर पर समोस बनाते हुए दिख रहे हैं। आम की चटनी के साथ समोसे की इन तस्वीरों को शेयर करते मॉरिसन ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भी टैग किया। उन्होंने लिखा कि काश! मैं इसे अपने दोस्त नरेंद्र मोदी के साथ बैठकर खा पाता। ऑस्ट्रेलियाई पीएम स्कॉट मॉरिशन के समोसे को लेकर दी गई दावत को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कबूल कर लिया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी मॉरिसन को शानदार जवाब दिया है। अपने दोस्त मॉरिसन के ट्वीट को री-ट्वीट करते हुए प्रधानमंत्री ने लिखा कि एक बार हम कोरोना वायरस के खिलाफ निर्णायक जीत हासिल कर लेते हैं फिर साथ बैठकर समोसा जरूर खाएंगे। उन्होंने 4 जून को होने वाली विडियो कांफ्रेंसिंग को लेकर भी उम्मीद जताई।

पीएम मोदी ने ट्वीट कर यह लिखा :
पीएम मोदी ने लिखा कि हिंद महासागर से जुड़े और समोसे से एकजुट हुए। आपका समोसा स्वादिष्ट लग रहा है। एक बार जब हम कोरोना वायरस के खिलाफ निर्णायक जीत हासिल कर लेते हैं, तब हम एक साथ समोसे का आनंद लेंगे। 4 जून को विडियो कांफ्रेंसिंग को लेकर उत्साहित हूं।

01-06-2020
पीएम मोदी बोले- कोरोना वॉरियर्स के खिलाफ हिंसा और दुर्व्यवहार स्वीकार्य नहीं

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को कर्नाटक के राजीव गांधी स्वास्थ्य विज्ञान विश्वविद्यालय के रजत जयंती समारोह का उद्घाटन किया। इस दौरान पीएम मोदी ने कोरोना संकट पर चिंता जाहिर की। साथ ही उन्होंने स्वास्थ्यकर्मियों पर हो रहे हमलों को लेकर चेतावनी दी। उन्होंने कहा मैं ये स्पष्ट रूप से कहना चाहता हूं कि फ्रंटलाइन वर्कर्स के खिलाफ हिंसा, दुर्व्यवहार और अशिष्ट व्यवहार स्वीकार्य नहीं है। बता दें कि कोरोना वायरस महामारी के कारण इस कार्यक्रम का आयोजन वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए किया गया। पीएम मोदी ने अपने संबोधन में कहा कि दूसरे विश्व युद्ध के बाद आज सबसे बड़ा संकट आया है, जैसे विश्व युद्ध के बाद दुनिया बदल गई। वैसे ही कोरोना के बाद दुनिया पूरी तरह से बदल जाएगी। पीएम ने कहा, कोविड-19 के खिलाफ भारत की इस लड़ाई के पीछे चिकित्सा समुदाय और हमारे कोरोना योद्धाओं की कड़ी मेहनत है। वास्तव में डॉक्टर और चिकित्सा कर्मचारी सैनिक ही हैं, वो भी बिना किसी सैनिक की वर्दी के। पीएम ने कहा कि आयुष्मान भारत विश्व की सबसे बड़ी स्वास्थ्य सेवा योजना है। 2 वर्षों से भी कम समय में, इस योजना से 1 करोड़ लोग लाभान्वित हुए हैं। महिलाओं और गांवों में रहने वाले इस योजना के प्रमुख लाभार्थियों में शामिल हैं। पीएम ने कहा कि देश में 22 और एम्स खुल गए हैं। पिछले पांच साल में देश में एमबीबीएस की 30 हजार सीटें बढ़ गई हैं और पोस्ट ग्रैजुएशन की सीटों में 15 हजार की बढ़ोतरी हुई हैं। प्रधानमंत्री ने आगे कहा कि 25 साल का मतलब राजीव गांधी स्वास्थ्य विज्ञान विश्वविद्यालय अपने युवावस्था में है। यह उम्र और भी बड़ा सोचने और बेहतर करने की है। उन्होंने कहा कि मुझे विश्वास है कि विश्वविद्यालय आने वाले समय में उत्कृष्टता की नई ऊंचाइयों को छूता रहेगा।

मोदी ने कहा कि कोरोना वायरस भले ही इनविजिबल है, लेकिन कोरोना वॉरियर्स विंसिबल हैं। डॉक्टर, स्वास्थ्यकर्मी बिना वर्दी वाले सैनिक हैं। लिहाजा हमें मानवता से जुड़े विकास की ओर देखना होगा। मेक इन इंडिया के तहत स्वास्थ्य सुविधाओं को लेकर पीएम मोदी ने कहा कि आज देश में पीपीई किट, एन-95 मास्क बन चुके हैं और सब मेड इन इंडिया हैं। देश में आरोग्य सेतु ऐप बनाई गई है और अब तक 12 करोड़ लोग इसे डाउनलोड कर चुके हैं। उन्होंने कहा कि पहले वैश्विकरण को लेकर आर्थिक मसले पर चर्चा होती थी, लेकिन अब मानवता के आधार पर चर्चा करना जरूरी होगा। स्वास्थ्य के मामले में भारत ने पिछले 6 साल में बड़े फैसले लिए हैं, हम चार पिलर पर काम कर रहे हैं। पीएम ने कहा कि मिशन इंद्रधनुष, आयुष्मान भारत समेत कई अहम योजनाओं ने देश के स्वास्थ्य सिस्टम में एक नई जान फूंकी है।

31-05-2020
'मन की बात' में पीएम मोदी ने कहा- कोरोना को लेकर इस बार ज्यादा सतर्क रहने की है जरूरत, जानिए खास बातें...

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को 'मन की बात' कार्यक्रम के जरिए देश की जनता को संबोधित किया। देश में लागू लॉक डाउन के बीच पीएम मोदी ने तीसरी बार देशवासियों से मन की बात की। हर महीने के अंतिम रविवार को आने वाले इस कार्यक्रम में पीएम मोदी ने कोरोना वायरस, कोरोना योद्धाओं, बंगाल में सुपर साइक्लोन अम्फान, खेतों में टिड्डियों के हमले समेत तमाम मुद्दों पर देश को संबोधित किया। पीएम मोदी के मुताबिक पिछले 'मन की बात' कार्यक्रम का प्रसारण जब हुआ था, तो ट्रेन, बस और हवाई सेवा सब बंद थी, लेकिन इस बार सब खुल चुका है, ऐसे में हमें ज्यादा सतर्क रहने की आवश्यकता है। इसके अलावा भी पीएम मोदी ने कई अन्य बातों पर जोर दिया।

पीएम मोदी ने कहा कि कोरोना को लेकर कहा हमारे देश के लैब में हो रहे वैक्सीन पर काम को लेकर पूरी दुनिया की नजर है। पीएम मोदी ने कहा कि कोरोना पर बिल्कुल भी ढिलाई नहीं बरतनी चाहिए। इसके खिलाफ भारत मजबूती से लड़ाई लड़ रहा है। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, 'प्रवासी मजदूरों को देखते हुए नए कदम उठाना जरूरी हो गया है। हम उस दिशा में आगे बढ़ रहे हैं। कहीं माइग्रेशन कमिशन बनाने की बात हो रही है। केंद्र सरकार के फैसलों से रोजगार मिलने वाले हैं। ये फैसले आत्मनिर्भर भारत के लिए हैं। 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि गांवों में हमारी बेटियां हजारों की संख्या में मास्क बना रही हैं। कितने ही उदाहरण रोजाना दिखाई और सुनाई देते हैं। लोग अपने प्रयासों के बारे में मुझे नमो ऐप के जरिए बता रहे हैं। कई बार मैं समय की कमी के कारण नाम नहीं ले पाता हूं। ऐसे सभी लोगों की मैं प्रशंसा करता हूं। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, 'इस दौरान पढ़ाई के क्षेत्र में भी कई अलग—अलग इनोवेशन शिक्षकों और छात्रों ने मिलकर किए हैं। ऑनलाइन क्लासों को शुरू किया गया है। कोरोना की दवा पर हमारी लैब में जो काम हो रहा है, उसपर पूरी दुनिया की नजर है।

ये हैं 'मन की बात' की प्रमुख बातें :

1. पीएम मोदी के मुताबिक सरकार ने सही वक्त पर सभी जरूरी फैसले लिए हैं, जिस वजह से कोरोना भारत में ज्यादा नुकसान नहीं कर पाया है। उन्होंने कहा कि कोरोना से लड़ाई में सबसे बड़ी भागीदारी सेवा धर्म ही है।
2. पीएम मोदी ने कहा कि कल से अनलॉक-1 शुरू हो रहा है। इस दौरान अर्थव्यवस्था का बड़ा हिस्सा चल पड़ेगा और सभी उद्योग धंधे भी खुलने लगेंगे। ऐसे में ज्यादा से ज्यादा सतर्क रहने की जरूरत है, ताकी कोरोना से बचा जा सके।
3. पीएम मोदी के मुताबिक हमारे देश की जनसंख्या अन्य देशों की तुलना में ज्यादा है। इस महामारी के खिलाफ हमने एकजुट होकर लड़ाई लड़ी है। हमारे सामूहिक प्रयासों की वजह से देश में कोरोना के मामले अन्य देशों की तुलना में कम हैं।
4. हमारे देश में करोड़ों गरीब रहते हैं, अगर वो बीमार पड़ गए तो क्या होगा, कहां से पैसे लाएंगे। उनके इलाज के लिए सरकार ने आयुष्मान भारत योजना शुरू की है। अब आयुष्मान भारत योजना के लाभार्थियों की संख्या एक करोड़ के पार चली गई है। पीएम मोदी ने गरीबों का इलाज करने वाले सभी डॉक्टरों और नर्स को बधाई दी है।
5. इस बार अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर आयुष मंत्रालय ने अनोखा प्रयास किया है। इसके तहत 'My Life, My Yoga' नाम से प्रतियोगिता शुरू होगी। इसमें आपको एक मिनट का वीडियो अपलोड करना होगा। जिसमें योग से संबंधित जानकारी देनी होगी और ये बताना होगा कि योग से आपके जीवन में क्या बदलाव आया। इस प्रतियोगिता में विश्व भर के लोग हिस्सा लेंगे।
6. पीएम मोदी ने कहा कि 5 जून को विश्व पर्यावरण दिवस मनाया जाएगा। जिसकी इस साल थीम जैव-विविधता रखी गई है। हाल ही में हुए लॉक डाउन ने अर्थव्यवस्था को जरूर पटरी से उतार दिया था, लेकिन पर्यावरण पर इसका अच्छा असर पड़ा है। कई पक्षी ऐसे हैं, जो गायब हो गए थे। अब उनकी चहल-पहल फिर से लौट आई है। हमें प्रकृति के साथ तालमेल मिलाकर जीवन जीने की प्रेरणा लेनी चाहिए।
7. पीएम मोदी ने तमिलानाडु के एक शख्स सी. मोहन की देश सेवा का उदाहरण दिया, जो मदुरै में सैलून चलाते हैं। उन्होंने अपनी बेटी की पढ़ाई के लिए पांच लाख रुपए इकट्ठा किए थे, लेकिन लॉक डाउन के बाद उन्होंने सारा पैसा लोगों की मदद के लिए खर्च कर दिए। पीएम मोदी ने उनके सेवा के इस जज्बे को सलाम किया है।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804