GLIBS
30-06-2020
'सूर्यवंशी' दिवाली पर और '83' क्रिसमस पर सिनेमाहॉल में होगी रिलीज

मुंबई। सिनेमाहॉल्स खोलने की इजाजत नहीं मिली है। ऐसे में कई बड़ी फिल्में थियेटर की जगह सीधे ओटीटी प्लेटफॉर्म्स पर रिलीज हो रही है। इधर खुशखबरी है कि दो बड़ी फिल्में-  रोहित शेट्टी की सूर्यवंशी और कबीर खान की 83 सिनेमाघरों में रिलीज की जाएगी। पीवीआर ने ट्वीट करके इस खबर की पुष्टि की है। अक्षय कुमार और कटरीना कैफ की फिल्म सूर्यवंशी जहां सिनेमाघरों में दिवाली के मौके पर रिलीज होगी, वहीं रणवीर सिंह की फिल्म 83 क्रिसमस पर रिलीज होगी। पीवीआर ने ट्वीट करते हुए लिखा है- 'एक्साइटिंग समय आ रहा है... कमर कस लीजिए दीपावली पर रोहित शेट्टी की सूर्यवंशी और क्रिसमस पर कबीर ख़ान की 83 रिलीज होगी।' रोहित शेट्टी ने फिल्मों में कॉप यूनिवर्स की शुरुआत की है। पहले सिंघम सीरीज फिर सिंबा और अब सूर्यवंशी उसी कड़ी की अगली फिल्म है। इस फिल्म में आपको अक्षय के साथ अजय देवगन और रणवीर सिंह का कैमियो देखने को भी मिलेगा। अक्षय कुमार के साथ इस फिल्म में कटरीना कैफ लीड रोल में हैं। दिवाली पर फिल्म रिलीज हो रही है।

 

 

23-06-2020
सुप्रीम कोर्ट की इजाजत के बाद पुरी में शुरू हुई भगवान जगन्नाथ की रथ यात्रा

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने सोमवार को ओडिशा में अधिकारियों को पुरी में भगवान जगन्नाथ की वार्षिक रथ यात्रा आयोजित करने की अनुमति दी। इसी के साथ पुरी की मशहूर रथ यात्रा मंगलवार सुबह शुरू हो गई है। हालांकि, यह पहला मौका है, जब इस रथ यात्रा को श्रद्धालुओं की मौजूदगी के बिना ही पूरा किया जाएगा। मंगलवार यानी कि आज सुबह रथ यात्रा शुरू होने से पहले ही बड़ी संख्या में पुजारी और मंदिर के कार्यकर्ता बिना श्रद्धालुओं की मौजूदगी के जगन्नाथ मंदिर पहुंचे। गौरतलब है कि शंखनाद की ध्वनि, झांझ और ढोलक की थाप के साथ मंदिरों से देवताओं को रथ पर बिठाकर यात्रा की शुरुआत की गई। तीनों देवताओं को तीन पारंपरिक तौर पर बने लकड़ी के रथ- नंदीघोसा (जगन्नाथ के लिए), तलाध्वजा (बलभद्र के लिए) और देवदलन (सुभद्रा के लिए) पर बिठा कर ले जाया गया। रथों को पुरी के गुंडिचा मंदिर तक खींचा जाएगा, जो मुख्य जगन्नाथ मंदिर से लगभग 3 किलोमीटर दूरी पर स्थित है।
ओडिशा के पुरी में भक्तों की अनुपस्थिति में पहली बार भगवान जगन्नाथ और उनके भाई-बहनों की वार्षिक रथ यात्रा मंगलवार को शुरू हुई। सुप्रीम कोर्ट द्वारा जनता की उपस्थिति के बिना सीमित तरीके से इसे आयोजित करने के निर्देश के बाद वार्षिक उत्सव की शुरुआत की गई।

पुजारियों ने भोर में 'मंगल आरती' का आयोजन किया डिशा के कानून मंत्री प्रताप जेना ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट का निर्देश है कि जो भी लोग इस रथ यात्रा में शामिल होंगे सबका कोविड-19 टेस्ट होना चाहिए। सभी सेवायत का कोरोना वायरस टेस्ट हुआ है, एक सेवायत पॉजिटिव आया है, उसे रथ यात्रा में शामिल होने नहीं दिया गया है। वहीं रथ यात्रा शुरु करने से पहले मंदिर को सेनिटाइज किया गया। सुप्रीम कोर्ट के आदेश के मुताबिक 500 से अधिक लोगों को रथ खींचने की अनुमति नहीं दी गई है। सुप्रीम कोर्ट ने रथयात्रा को लेकर कई कड़ी शर्तें लगाई हैं, जिसके चलते आम श्रद्धालु यात्रा में शामिल नहीं हो सकेंगे। वहीं ओडिशा सरकार यात्रा में शामिल होने वाले लोगों का पूरा ब्यौरा रखेगी।
 
सुदर्शन चक्र दिखता है सीधा :

मंदिर के शिखर पर ही अष्टधातु निर्मित सुदर्शन चक्र है। इस चक्र को नील चक्र भी कहा जाता है और मान्यता के अनुसार इसके दर्शन करना बहुत ही शुभ माना जाता है। इसकी खास बात यह है कि यदि आप किसी भी कोने से खड़े होकर किसी भी दिशा से इस चक्र को देखेंगें तो वह हमेशा आपके सामने बिल्कुल सीधा ही नजर आएगा। बता दें कि सुप्रीम कोर्ट ने सोमवार को ओडिशा में अधिकारियों को पुरी में भगवान जगन्नाथ की वार्षिक रथ यात्रा आयोजित करने की अनुमति दी थी। इसके बाद से ओडिशा के पूरी और गुजरात के अहमदाबाद में भगवान जगन्नाथ की रथ यात्रा शुरू हो गई है। वही कोरोना वायरस महामारी को देखते हुए गुजरात हाई कोर्ट ने रथयात्रा पर रोक का आदेश दिया था, जिसके बाद मंदिर परिसर के अंदर ही रथ यात्रा निकालने का फैसला किया गया है। इस बार रथ यात्रा मंदिर परिसर में ही सात फेरे लगाएगी।

06-05-2020
बिना केंद्र सरकार की इजाजत के कोई भी कंपनी दूसरे देश को नहीं बेच पाएगी सैनिटाइजर

नई दिल्ली। कोरोना के संक्रमण को रोकने के लिए सरकार ने 17 मई तक लॉकडाउन का ऐलान किया है। गाइडलाइन के मुताबिक हाथ धोने या एल्कोहल आधारित सैनिटाइजर के इस्तेमाल से ही कोरोना का खात्मा हो सकता है। देश में सैनिटाइजर की कमी ना हो, इस वजह से सरकार ने इसके निर्यात पर रोक लगा दी है।दरअसल देश में कोरोना का पहला मामला सामने आते ही लोग सैनिटाइजर पर टूट पड़े। ब्रांडेड कंपनियों के सैनिटाइजर बाजार से कब गायब हुए पता ही नहीं चला। इसके बाद लॉकडाउन-1 के दौरान मोदी सरकार ने देश में सभी सैनिटाइजर बनाने वाली कंपनियों में उत्पादन शुरू करवाया। अब धीरे-धीरे उत्पादन बढ़ने पर देश में सैनिटाइजर की कमी दूर हो रही है। वहीं मामले में वाणिज्य और उद्योग मंत्रालय ने बड़ा फैसला लिया है। इसके तहत सैनिटाइजर के निर्यात पर अस्थायी तौर पर प्रतिबंध लगा दिया गया है। बिना सरकार की इजाजत के कोई भी कंपनी दूसरे देश को सैनिटाइजर नहीं बेच पाएगी। वहीं इससे पहले कोरोना मरीजों की जान बचाने में अहम रोल निभाने वाली हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन के निर्यात पर सरकार ने प्रतिबंध लगाया था।

17-04-2020
पूर्व सीएम के बेटे की शादी में लॉक डाउन के नियमों की अनदेखी

नई दिल्ली। कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री एचडी कुमारास्वामी के बेटे निखिल कुमारास्वामी ने शुक्रवार को लॉकडाउन के दौरान शादी कर ली है। उनकी शादी कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एम. कृष्णा की भतीजी से हुई है। इस शादी के लिए पूर्व मुख्यमंत्री ने प्रशासन से यह कहकर इजाजत ली थी कि वह इसमें सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करेंगे मगर परिवार ऐसा करने में असफल रहा है। हालांकि कोरोना वायरस लॉक डाउन की वजह से मेहमानों की संख्या कम रही और लोगों के देखने के लिए मंडप के पास बड़ी टीवी स्क्रीन्स लगाई गई थीं। बताया जा रहा है कि कर्नाटक की राजधानी बेंगलुरु से करीब 30 किलोमीटर दूर रामनगर स्थित फॉर्महाउस में यह शादी समारोह आयोजित हुआ। शादी में किसी के चेहरे पर मास्क नहीं था और न ही सोशल डिस्टेंसिंग का ख्याल रखा गया था।
बता दें कुमारास्वामी की तरफ से कहा गया था कि शादी में लॉकडाउन के नियम नहीं तोड़े जाऐंगे इसके लिए हम वीडियोग्राफी भी कराई जाएगी।

और किसी नियम का उल्लंघन नहीं किया जाएगा मगर परिवार वाले न तो सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कर रहे थे और न ही किसी ने  मास्क लगा रखा था।वहीं, कर्नाटक के उपमुख्यमंत्री अश्वथ नारायण ने कहा कि मैंने रामनगर के डिप्टी कमिश्नर से रिपोर्ट मंगाई है। अगर हमें कार्रवाई करने की आवश्यकता होगी तो मैं पुलिस अधीक्षक से बात करूंगा, अन्यथा यह सिस्टम का पूरा मजाक होगा। इससे पहले उन्होंने कहा था कि अगर पूर्व मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी अपने बेटे निखिल की शादी के दौरान दिशानिर्देशों का पालन नहीं करते पाए जाते हैं तो उनके खिलाफ बिना सोचे कार्रवाई की जाएगी। 

 

17-08-2019
माधुरी दीक्षित झील देखना चाहते हैं तो लेनी पड़ेगी इनसे इजाजत

नई दिल्ली। प्रकृति ने भारत में जगह-जगह अपनी खूबसूरती लुटा दी है। जहां नजर घुमाएंगे वहीं कला और प्रकृति के अद्भुुत उदहारण देखने को मिलेंगे।  ऐसी ही एक जगह है जो बेहद खूबसूरत है। यह एक सुंदर झील है। सबसे अनोखी बात तो ये है कि इस झील को माधुरी दीक्षित झील भी कहते हैं। दरअसल इस झील के पास माधुरी दीक्षित का एक गाना फिल्माया गया था, जिसके बाद लोग सांगेसर झील को माधुरी झील कहने लगे। समुद्र तल से 15,200 फीट की ऊंचाई पर स्थित सांगेसर झील भूकंप की वजह से बनी थी। स्थानीय लोगों के अनुसार ये झील अपनी वर्तमान जगह से कुछ दूरी पर स्थित थी। मगर टेक्टोनिक प्लेटों के खिसकने के कारण झील आज अपनी जगह से खिसक गई। इसकी वजह से देवदार के जंगल का एक बड़ा हिस्सा पानी में समा गया। आज भी पेड़ों के ऊपरी हिस्से बड़े अजीब तरह से पानी की सतह के ऊपर निकले हुए देखे जा सकते हैं। झील भारत-चीन सीमा के करीब स्थित है और झील देखने के लिए आपको जिला आयुक्त से इजाजत लेनी होगी। तवांग से इस झील तक पहुंचने में दो घंटे लगेंगे और केवल भारतीयों को ही इस झील तक जाने की अनुमति है। 

 

02-08-2019
पत्नी को जुए में हारकर दोस्तों को रेप करने की दे दी इजाजत

जौनपुर। उत्तर प्रदेश के जौनपुर जिले में एक भयावह मामला सामने आया है। यहां जुए और शराब के लती एक शख्स ने अपनी पत्नी को ही जुए में दांव पर लगा दिया है। जब वह जुए में हार गया तो अपने दोस्त और रिश्तेदारों को पत्नी से गैंगरेप की अनमुति दे दी। पीडि़ता ने मामले की शिकायत पुलिस से की, लेकिन पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की। इसके बाद उसने कोर्ट का दरवाजा खटखटया। अब कोर्ट के आदेश के बाद जिले के जफराबाद थाने में एफआईआर दर्ज की गई है। पीडि़ता का दावा है कि उसका पति शराबी है और जुए में दांव के रूप में उसी को लगा दिया था। रिपोर्ट के मुताबिक पीडि़ता के पति का दोस्त अरुण और अनिल नाम का रिश्तेदार अक्सर उसके घर ड्रिंक करने और जुआ खेलने के लिए आते थे। शख्स जब जुए में अपना दांव हार गया तो दोनों ने उसकी पत्नी से गैंगरेप किया। घटना के बाद पीडि़ता अपने एक रिश्तेदार के यहां चली गई। हालांकि उसका पति वहां भी पहुंच गया और घटना को भूल कहते हुए माफ करने को कहा। पीडि़ता ने जब शख्स को माफ कर दिया और उसके साथ कार से वापस जाने लगी तो शख्स ने एक जगह बीच में ही कार रोक दी। इसके बाद उसके दोस्तों ने फिर गैंगरेप किया। घटना के बाद जब पीडि़ता स्थानीय थाने में शिकायत दर्ज कराने गई तो पुलिस ने मामला दर्ज करने से इनकार कर दिया। इसके बाद पीडि़ता ने कोर्ट का दरवाजा खटखटाया। इसके बाद कोर्ट ने पुलिस को गैंग रेप की एफआईआर दर्ज करने का आदेश दिया। 

01-08-2019
पाकिस्तान ने जाधव से भारतीय राजनयिकों को मिलने की दी इजाजत

इस्लामाबाद। पाकिस्तान ने जेल में बंद भारत के पूर्व नौसैनिक अधिकारी कुलभूषण जाधव से दो अगस्त को भारतीय राजनयिकों को मिलने की इजाजत प्रदान कर दी है।  विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने गुरुवार को बताया कि उनका देश भारत की ओर से जवाब का इंतजार कर रहा है। अंतरराष्ट्रीय न्यायालय की ओर से जाधव को वकील मुहैया कराने के आदेश के लगभग 15 दिन बाद पाकिस्तान ने यह कदम उठाया है। अंतरराष्ट्रीय न्यायालय ने पाकिस्तान पर वियना संधि का उल्लंघन करने का आरोप लगाते हुए उसे जाधव से राजनयिकों को मिलने का आदेश दिया था और कहा था कि उनकी फांसी की सजा पर तब तक रोक लगी रहनी चाहिए जब तक कि पाकिस्तान अपने फैसले पर पुनर्विचार और उसकी प्रभावी समीक्षा नहीं कर लेता। विदेश मंत्रालय ने 19 जुलाई को विज्ञप्ति जारी कर कहा, अंतरराष्ट्रीय अदालत के आदेशों का अनुसरण करते हुए भारतीय नौसेना के पूर्व कमांडर जाधव को वियना संधि के अनुच्छेद 36 (1) (बी) के तहत उनके अधिकार के बारे में बताया गया है। पाकिस्तान देश के कानूनों के मुताबिक कुलभूषण जाधव को राजनयिकों से मिलने की इजाजत प्रदान करेगा। जाधव को कथित रूप से तीन मार्च 2016 को गिरफ्तार किया गया और पाकिस्तान के विदेश सचिव ने इस्लामाबाद में भारतीय उच्चायुक्त को 25 मार्च को इस गिरफ्तारी की जानकारी दी। पाकिस्तान ने जासूसी का आरोप लगाते हुए जाधव को फांसी की सजा सुनाई थी। पाकिस्तान का दावा है कि जाधव को पाकिस्तानी सुरक्षा बलों ने जासूसी और आतंकवाद के आरोप में बलूचिस्तान से गिरफ्तार किया था। पाकिस्तान की सैन्य अदालत ने जासूसी के आरोप में जाधव को अप्रैल 2017 में मौत की सजा सुनाई थी जिसके खिलाफ भारत ने आठ मई 2017 को अंतरराष्ट्रीय न्यायालय में अपील की थी।

19-04-2019
हार्दिक पटेल के हेलीकॉप्टर को किसान ने नहीं दी अपने खेत में उतारने की इजाजत 

नई दिल्ली। कांग्रेस नेता हार्दिक पटेल के हेलीकॉप्टर को एक किसान ने अपने खेत में उतारने की इजाजत नहीं दी। इस कारण हार्दिक पटेल को गुजरात के महिसागर जिले के लुनावाड़ा में अपनी यात्रा को रद्द करना पड़ी। हार्दिक को अहमदाबाद से लगभग 100 किलोमीटर दूर लुनावाड़ा तक सड़क मार्ग से जाना पड़ा। कांग्रेस के स्टार प्रचारक के रूप में हार्दिक को चुनावी रैलियों को संबोधित करने के लिए कई बार हेलीकॉप्टर से यात्रा करनी पड़ रही है। एक अधिकारी के अनुसार, कांग्रेस के पंचमहल लोकसभा उम्मीदवार वीचभाई खांट के लिए हार्दिक को लुनावाडा में रैली को संबोधित करना था। इसके लिए उन्हें वहां हेलीकॉप्टर से जाना था, लेकिन किसान ने अपने खेत में हेलिकॉप्टर उतरने की अनुमति नहीं दी। इस कारण हार्दिक को वापस लौटना पड़ा।

किसान विनय पटेल ने कहा कि एक स्थानीय कांग्रेस नेता द्वारा उनकी जानकारी के बिना जिला अधिकारियों से हेलिकॉप्टर की लैंडिंग की अनुमति मांगी ली गई। उन्होंने कहा कि 16 अप्रैल को जब मुझे इस बाबत पता चला कि तो मैंने इस पर आपत्ति जताई। विनय पटेल पाटीदार आंदोलन के कारण हार्दिक पटेल से नाराज है। वहीं हार्दिक ने कहा कि चुनावी रैली को संबोधित करने के लिए हेलिकॉप्टर उतारने के अनुमति पहले ही ले ली गई थी। कलेक्टर आरआर ठक्कर ने बताया कि आखिरी समय पर जमीन के मालिक ने अपने खेत में हेलिकॉप्टर लैंडिग की इजाजत देने से इनकार कर दिया।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804