GLIBS
30-08-2021
छत्तीसगढ़ के इस जिले में एक सप्ताह से नहीं मिला एक भी कोरोना मरीज,6797 सैंपलों की जांच में केस शून्य 

रायपुर/महासमुंद। छत्तीसगढ़ के महासमुंद जिले में कोरोना की दूसरी लहर पूरी तरह से दम तोड़ती नजर आ रही है। माह मई के दूसरे पखवाड़े से कोरोना संक्रमण में गिरावट देखी गई। जिले में रविवार को भी 616  लोगों की रेंडमली कोरोना जांच की गई। एक भी कोरोना पॉजिटिव नहीं मिला। बीते एक सप्ताह में  6797 लोगों की कोविड के तीनों श्रेणियों आरटीपीसीआर, ट्रू नाट और एंटीजन से कोविड टेस्टिंग की गई। इसमें सभी की जांच रिपोर्ट शून्य आई। यानि एक भी कोरोना पॉजिटिव रिपोर्ट नहीं आई। 20 अगस्त से 22 अगस्त तीन दिनों की बात करें तो इस दौरान भी 2307 लोगों की जांच की गई। 22 तारीख को सिर्फ़ 2 लोग कोरोना संक्रमित मिले। यानि 10 दिन में 9104 लोगों की जांच हुई। इसमें सिर्फ 2 लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए। यह जिला प्रशासन की बेहतर रणनीति,स्वास्थ्य कर्मियों, आंगनबाड़ी  कार्यकर्ताओं, मितानिनों की कड़ी मेहनत, जनप्रतिनिधियों,पंच, सरपंच और जनता के बेहतर तालमेल के कारण संभव हुआ। रविवार को 3 कोविड मरीज स्वस्थ्य होकर सुरक्षित अपने घर गए। इसके बाद अब जिले में 3 ही एक्टिव केस बचे।

30-04-2021
Breaking : स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव आज वायरोलाॅजी लैब का करेंगे उद्घाटन

रायपुर। राज्य में अब कांकेर, महासमुंद जिले में भी आरटी—पीसीआर जांच लैब स्थापित हो गए हैं। स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव शुक्रवार को वायरोलाॅजी लैब का उद्घाटन करेंगे। गौरतलब है कि एम्स के अलावा 6 मेडिकल कॉलेजों में आरटीपीसीआर जांच सुविधा है।

17-12-2020
श्रीराम वनगमन पर्यटन परिपथ रथयात्रा का जिले किया गया स्वागत

महासमुन्द। श्रीराम वनगमन पर्यटन परिपथ पर्यटन रथयात्रा और विराट बाइक रैली का महासमुंद जिले के सीमावर्ती ग्राम मुड़ियाडीह, औराई में स्वागत किया गया। बलौदाबाजार से पर्यटन रथयात्रा सिरपुर पहुंची, जहाँ रथयात्रा का भव्य स्वागत किया गया। स्वागत उपरांत जिले में हरी झण्डी दिखाकर विराट बाइक रैली को जनप्रतिनिधियों की उपस्थिति में रायपुर ज़िले को सौंपने के लिए रवाना किया गया।

 

01-12-2020
पहले दिन 98 हजार 968 मीट्रिक टन धान की खरीदी, महासमुंद जिले में हुई सबसे अधिक खरीदी, देखें जिलेवार आंकड़ा

रायपुर। खरीफ विपणन वर्ष 2020-21 में धान खरीदी के पहले दिन एक दिसम्बर को आज 30 हजार 446 किसानों से 98 हजार 968 मीट्रिक धान खरीदी की गई है। धान बेचने वाले किसानों में उत्साह का वातावरण है। खाद्य विभाग के अनुसार सभी खरीदी केन्द्रों में सुचारू रूप से धान खरीदी हुई है। कोरोना वायरस संक्रमण से सुरक्षा के लिए जारी दिशा-निर्देशों का पालन किया गया है। खरीफ वर्ष 2020-21 में एक दिसम्बर को राज्य के महासमुंद जिले में सबसे अधिक 12 हजार 28 मीट्रिक टन धान की खरीदी की गई है। इसी प्रकार बस्तर जिले में 133.32 मीट्रिक टन, बीजापुर जिले में 69.64 मीट्रिक टन, दंतेवाड़ा जिले में 21.52 मीट्रिक टन, कांकेर जिले में एक हजार 869 मीट्रिक टन, कोण्डागांव जिले में एक हजार 270 मीट्रिक टन, नारायणपुर जिले में 33.92 मीट्रिक टन, सुकमा जिले में 10.16 मीट्रिक टन, बिलासपुर जिले में 3 हजार 751 मीट्रिक टन, गौरेला-पेण्ड्रा-मरवाही 753 मीट्रिक टन, जांजगीर-चांपा जिले में एक हजार 215 मीट्रिक टन, कोरबा जिले में 48.44 मीट्रिक टन, मुंगेली जिले में एक हजार 967 मीट्रिक टन, रायगढ़ जिले में 3 हजार 223 मीट्रिक टन, बालोद जिले में 7 हजार 829 मीट्रिक टन, बेमेतरा जिले में 7 हजार 587 मीट्रिक टन, दुर्ग जिले में 6 हजार 695 मीट्रिक टन, कवर्धा में 8 हजार 429 मीट्रिक टन, राजनांदगांव जिले में 9 हजार 706 मीट्रिक टन, बलौदाबाजार जिले में 7 हजार 907 मीट्रिक टन, धमतरी जिले में 6 हजार 737 मीट्रिक टन, गरियाबंद जिले में 4 हजार 852 मीट्रिक टन, रायपुर जिले में 9 हजार 996 मीट्रिक टन, बलरामपुर जिले में 13.28 मीट्रिक टन, जशपुर जिले में 664.28 मीट्रिक टन, कोरिया जिले में 364.12 मीट्रिक टन, सरगुजा जिले में एक हजार 97 मीट्रिक टन और सूरजपुर जिले में 694.06 मीट्रिक टन धान की खरीदी की गई है।

29-07-2020
महासमुंद जिले में 5 करोड़ 87 लाख की लागत से 91 आंगनबाड़ी भवन बनाये जाएंगे

रायपुर। महासमुंद जिले में महात्मा गांधी राष्ट्रीय रोजगार गारंटी योजना(मनरेगा) और महिला एवं बाल विकास विभाग की ओर से 5 करोड़ 87 लाख  95 हजार की लागत से 91 आंगनबाड़ी केंद्रों के भवन बनाए जाएंगे। इस राशि में मनरेगा से 4 करोड़ 55 लाख रूपए और  महिला बाल विकास से 1 करोड़ 32 लाख रूपए खर्च किये जाएंगे। सबसे ज्यादा 40 आंगनबाड़ी केन्द्र बसना जनपद पंचायत में और 25 केन्द्र बागबाहरा जनपद पंचायत में बन रहे हैं। इसके साथ ही सरायपाली में 11, पिथोरा में 9 और शेष महासमुंद जनपद पंचायत में बनेंगे। इससे आंगनबाड़ी केंद्रों में पंजीकृत  89 हजार 300 नौनिहालों को लाभ मिलेगा। आंगनबाड़ी भवनों को सर्वश्रेष्ठ आंगनबाड़ी केन्द्र की श्रेणी में लाने की पूरी तैयारी की गई है। इसके लिए मानक के अनुसार आंगनबाड़ी केन्द्रों को बनाया जाएगा। बच्चों के लिए अच्छा वातावरण और उनकी सुरक्षा पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है। आंगनबाड़ी में आउटडोर गतिविधियों के लिए चारदीवार भी बनाई जा रही है। सभी आंगनबाड़ियों को मॉडल के रूप में विकसित करने कहा गया है,जिसमें बच्चों के खेेलने के लिए स्थान के साथ-साथ अन्य सुविधाएं खिलौने, झूले, बोर्ड, किताबें भी उपलब्ध कराई जाये ताकि बच्चों की आंगनबाडी आने मे रूचि बनी रहे।  


ग्राम पंचायत क्षेत्र में पंचायतों के माध्यम से आंगनबाड़ी भवन निर्माण किया जाएगा। इससे स्थानीय लोगों को भी रोजगार मिलेगा। एक भवन के निर्माण में 6 लाख रुपये से अधिक खर्च किए जाएंगे। महिला एवं बाल विकास विभाग के जिला कार्यक्रम अधिकारी मनोज सिन्हा ने बताया कि जिले में एक हजार 763 आंगनबाड़ी केंद्रों में से एक हजार 625 केन्द्रों में भवन बना लिए लिए गए है। लेमन ग्रीन विलेज के नाम से पहचाने जाने वाले बागबाहरा विकासखंड के ग्राम पंचायत टेमरी में लॉक डाउन के दौरान गाइड लाइन का पालन करते हुए 4 माह मे से भी कम समय में आंगनवाड़ी भवन तैयार कर लिया गया। वर्तमान में कुछ केन्द्र किराए के भवन और कुछ सामुदायिक या अन्य सरकारी भवनों में संचालित  किए जा रहे हैं। अब विभिन्न जनपदों के लिए में 91 आंगनबाड़ी केन्द्र बनाने की तैयारी हो गई है। जनपदों के मुख्यकार्यपालन अधिकारियों को शीघ्र पूरा करने के निर्देश दिए गए हैं। आंगनबाड़ी भवन बन जाने से बच्चों की पोषण,स्वास्थ्य और शिक्षा संबंधी आवश्यकताओं की पूर्ति बेहतर तरीके से करने के साथ उन्हें अच्छा वातावरण मिल सकेगा।

 

21-07-2020
महासमुंद जिले के दो और राजनांदगांव जिले की एक सिंचाई जलाशय के जीर्णोद्धार कार्य के लिए 7.51 करोड़ की स्वीकृत

रायपुर। छत्तीसगढ़ शासन के जल संसाधन विभाग की ओर से महासमुंद जिले के दो और राजनांदगांव जिले की एक सिंचाई जलाशय के जीर्णोद्धार कार्य के लिए 7 करोड़ 51 लाख 69 हजार रूपए की स्वीकृत की गई है। इन सिंचाई जलाशयों के पूरा होने से 1090.63 हेक्टेयर क्षेत्र में किसानों को सिंचाई की सुविधा मिलेगी। जल संसाधन विभाग से मिली जानकारी के अनुसार महासमुंद जिले के विकासखंड महासमुंद की कोडार जलाशय परियोजना की बम्हनी वितरक नहर लाईनिंग कार्य के लिए 2 करोड़ 54 लाख 80 हजार और पसीदा जलाशय के नहर लाइनिंग, पक्के कार्यों का सुधार एवं जीर्णोंद्धार कार्य के लिए 2 करोड़ 11 लाख 27 हजार रूपए तथा राजनांदगांव जिले के विकासखंड डोंगरगढ़ की पेटेश्री नदी पर झिटिया एनीकट योजना के निर्माण के लिए 2 करोड़ 85 लाख 62 हजार रूपए की प्रशासकीय स्वीकृति दी गई है।

 

31-03-2020
कोरोना संक्रमित युवक के घर खाना बनाने वाली महिला का सैंपल जांच के लिए भेजा

रायपुर। शहर के देवेंद्र नगर में कोरोना पॉजिटिव युवक के घर में खाना बनाने वाली महिला का स्वाब सैंपल भेजा गया है। वहीं ऐहतियात बरतते हुए महिला के घर के आसपास के इलाके को सील किया गया है। साथ ही घर के सभी सदस्यों को अगले 14 दिनों तक होम आइसोलेशन में रहने के निर्देश भी दिए है। इतना ही नहीं महिला के घर के आसपास पुलिस बल की तैनाती भी की गई है। लंदन से लौटे युवक के घर में महिला खाना बनाने का काम करती है। विदेश से आने के बाद विभाग ने युवक का सैंपल लिया था, जिसकी रिपोर्ट शनिवार को पॉजिटिव आई है। इसके बाद रायपुर स्वास्थ्य विभाग की टीम ने युवक के साथ रहने वाले परिजनों और उसके घर काम करने वालों के बारे में जानकारी एकत्रित करना शुरू कर दिया। जैसे ही टीम को पता चला कि युवक के घर में खाना बनाने वाली एक महिला कर्मचारी पिछले दो दिनों से काम पर नहीं आ रही है। वह महासमुंद जिले के भीमखोज गई हुई है। स्वास्थ्य विभाग ने इसकी सूचना जिला प्रशासन महासमुंद को दी। बता दें कि महासमुंद के लिए राहतभरी खबर है। स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी बुलेटिन में महासमुंद जिले से अब तक 10 संदिग्ध लोगों का सैंपल लिया गया, जिसमें सभी की जांच रिपोर्ट कोरोना निगेटिव आई है।

19-03-2020
महासमुंद जिले में धारा 144 लागू

महासमुन्द। कलेक्टर सुनील कुमार जैन ने गुरूवार को कोरोना से संक्रमण से बचाव के लिए महासमुंद जिले में धारा-144 लागू की है। इसके साथ ही जिले में सभा, धरना, रैली, जुलूस, धार्मिक सांस्कृतिक एवं राजनीतिक कार्यक्रमों के आयोजन पर प्रतिबंध लग गया है। कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी जैन द्वारा धारा-144 दण्ड प्रकिया संहिता में प्रदत्त शक्तियों का प्रयोग करते हुये जिले के सभी नगरीय सीमा क्षेत्र के तहत महासमुन्द, तुमगाॅव, बागबाहरा, पिथौरा, बसना एवं सरायपाली में धरना प्रदर्शन, रैली प्रदर्शन, सभाए, जुलूस आंदोलन एवं अन्य प्रकार के प्रदर्शनों के लिए प्रतिबंधित क्षेत्र घोषित किया गया है। परिस्थिति के कारण प्रभावितों को सम्यक समय में तामिली संभव नहीं होने के कारण यह आदेश एकपक्षीय रूप से पारित किया गया है। इस आदेश का उल्लंघन करने पर भारतीय दण्ड संहिता में निहित प्रावधानों के तहत दण्डनीय होगा। यह आदेश पुलिस, सीआरपीएफ तथा कानून व्यवस्था में लगे कर्मियों पर लागू नहीं होगा। यह आदेश जिले के लिए तत्काल प्रभावशील होगा, जो 31 मार्च 2020 या अग्रिम आदेश तक प्रभावशील होगा

 

14-03-2020
भूपेश बघेल से अघरिया समाज के प्रतिनिधि मंडल ने की मुलाकात

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से शनिवार को उनके निवास कार्यालय में जिला पंचायत अध्यक्ष महासमुंद उषा पटेल के नेतृत्व में अखिल भारतीय अघरिया समाज के प्रतिनिधि मंडल ने सौजन्य मुलाकात की। मुख्यमंत्री बघेल को प्रतिनिधि मंडल द्वारा महासमुंद जिले के बसना विकासखण्ड के अंतर्गत ग्राम पैंता में 5 अप्रैल को समाज के केन्द्रीय महासभा के आयोजन में मुख्य अतिथि के रूप में शामिल होने के लिए न्यौता दिया गया। मुख्यमंत्री ने प्रतिनिधि मंडल को आमंत्रण के लिए धन्यवाद दिया और कार्यक्रम के सफल आयोजन के लिए अपनी शुभकामनाएं दी। इस अवसर पर प्रतिनिधिमंडल में अखिल भारतीय अघरिया समाज केन्द्रीय समिति के उपाध्यक्ष गेसमोती पटेल, उपाध्यक्ष पुरूषोत्तम पटेल, कोषाध्यक्ष  द्वारिका पटेल, महिला संयोजिका (अंचल) सावित्री पटेल, प्रवक्ता सेतराम पटेल और  अमर सिंह पटेल, नरेश्वर पटेल सैलानी तथा सुशील पटेल आदि शामिल थे।

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804