GLIBS
15-01-2021
कांग्रेस ने किया कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन, दिल्ली में अलका लांबा हुईं घायल

नई दिल्ली। कांग्रेस ने शुक्रवार को पूरे देश में कृषि कानूनों के खिलाफ किसान अधिकार मार्च निकाला और राज्यपाल के निवास का घेराव किया। ऐसा ही मार्च आज राहुल गांधी के नेतृत्व में दिल्ली में भी निकला। हालांकि यह मार्च एलजी के निवास तक नहीं पहुंच सका लेकिन इसमें पुलिस और कांग्रेस कार्यकर्ताओं के बीच में काफी झड़प हुई। इसी झड़प के दौरान कांग्रेस की नेता अलका लांबा का हाथ कट गया और उसमें से काफी खून बहा। गौरतलब है कि कांग्रेस कार्यकर्ताओं को रोकने के लिए उपराज्यपाल निवास के लगभग डेढ़ किलोमीटर पहले से ही तीन लेयर की सुरक्षा का इंतजाम किया था। कांग्रेस का मार्च शुरू हुआ तो कार्यकर्ताओं ने पहले लेयर की बैरिकेडिंग ताकत लगाकर हटा दी। इसी दौरान कटीले तारों से लगकर कांग्रेस नेता अलका लांबा का हाथ कट गया। इसके बाद उनके हाथ से खून की धारा बहने लगी। दिल्ली कांग्रेस के इस कार्यक्रम में राहुल और प्रियंका गांधी ने भी शिरकत की। इस मौके पर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अनिल चैधरी ने कहा, हमें दिल्ली पुलिस ने बैरिकेड लगा कर रोक दिया। इस दौरान हमारे कार्यकर्ताओं को पीटा गया। कई कार्यकर्ताओं को चोंटे आई हैं।

 

15-01-2021
डॉ. रमन सिंह के ट्वीट पर कांग्रेस का पलटवार-चंदे का हिसाब न देना रामकाज नहीं है

रायपुर। भाजपा राष्ट्रीय उपाध्यक्ष डॉ. रमन सिंह के ट्वीट पर प्रदेश कांग्रेस संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने पलटवार किया है। शैलेश ने कहा है कि अब तो राम मंदिर के चंदे से भाजपा की राजनीति बंद होनी चाहिए। राम जन्मभूमि की मुहिम के चलते भाजपा की ही तरह आरएसएस के एक और अनुशांगिक संगठन विश्व हिंदु परिषद ने ईंटो के साथ-साथ 1400 करोड़ रुपए एकत्रित किए थे। पूर्व में राम मंदिर के लिए एकत्रित राम मंदिर के चंदे का कोई हिसाब विश्व हिंदु परिषद या आरएसएस या भाजपा ने आज तक नहीं दिया है। बिना 1400 करोड़ रुपए का हिसाब दिए भाजपाई अब फिर से राम नाम पर चंदा मांगने निकल पड़े है।प्रदेश कांग्रेस संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन  त्रिवेदी ने पूछा है कि क्या रमन सिंह  राम मंदिर के लिए एकत्रित चंदे का हिसाब नहीं देने को रामकाज समझते हैं? मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने राम मंदिर के चंदे का हिसाब मांग लिया है तो रमन सिंह को क्यों तकलीफ हो रही है? रमन सिंह अब यह कम से कम यह तो न कहे कि चंदे का हिसाब न देना भी रामकाज है। भाजपा को आगे बढ़ाने के लिऐ राम नाम और राम नाम से एकत्रित चंदे की धनराशि का उपयोग बंद होना चाहिए। यह तो स्तरहीन राजनीति की इंतिहा है। अयोध्या में भगवान राम के मंदिर का निर्माण सुप्रीम कोर्ट के निर्णय के बाद हो रहा है। मंदिर निर्माण के लिए उच्चतम न्यायालय के निर्देश पर कमेटी बनी है। मंदिर निर्माण उसी कमेटी की देख रेख में होगा। कमेटी ने मंदिर निर्माण में सहयोग के लिए अपना बैंक खाता भी सार्वजनिक किया है जिस किसी श्रद्धालु को मंदिर निर्माण में सहयोग करना होगा, इसी खाते में सीधे सहयोग कर सकता है। अब आरएसएस किस हैसियत से मंदिर के नाम पर चंदा एकत्रित करने जा रहा है? उसे चंदा एकत्रित करने के लिए किसने अधिकृत किया है ?

 

15-01-2021
रमन ने कांग्रेस पर किया वार, बोले-रामकाज में विघ्न डालने का काम तो कांग्रेस का इतिहास रहा है

रायपुर। छत्तीसगढ़ की सियासत में जुबानी जंग तेज़ होती जा रही है। पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कांग्रेस पर तंज कसा है। रमन सिंह ने ट्वीट किया है कि रामकाज में विघ्न डालने का काम तो कांग्रेस का इतिहास रहा है। पहले पूछते थे प्रभु राम का अस्तित्व है क्या, फिर पूछने लगे मंदिर की तारीख कब बताओगे। अब राम मंदिर निर्माण होने लगा तो पूछते हैं चंदे का हिसाब कब दोगे। पूर्व सीएम ने दोहा लिखकर कांग्रेस पर फिर तंज कसा है। उन्होंने लिखा है कि याद रखना सकल विघ्न व्यापहि नहिं तेही, राम सुकृपा बिलोकहिं।

12-01-2021
राहुल गांधी ने जनता से जो कहा उसे मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने पूरा किया : धनंजय ठाकुर 

रायपुर। पूर्व मुख्यमंत्री डॉ.रमन सिंह के ट्वीट पर कांग्रेस ने प्रतिक्रिया व्यक्त की है। प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा कि विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के तत्कालीन राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी के बातों पर भरोसा करके छत्तीसगढ़ की जनता ने भाजपा को 15 साल के सत्ता के बाद 15 सीट में समेट दिया। राहुल गांधी ने जनता से जो कहा उसे मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की सरकार ने पूरा किया,लेकिन भाजपा का चरित्र जनता से वादाखिलाफी करने का ही है। प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की सरकार 24 महीने में जनता से किए 36 बिंदुओं के वादों में से 24 से अधिक बिंदुओं पर वादा पूरा कर  एक विश्वसनीय और जनता से किये वादों के प्रति प्रतिबद्ध सरकार होने का मिसाल पेश की है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल शपथ ग्रहण लेते ही राहुल गांधी  की बातों को अमल में लाते हैं। छत्तीसगढ़ के किसानों का 11 हजार करोड़ का कर्ज माफ करते है, जिसका लाभ 20 लाख किसान परिवार को मिलता है। सिंचाई कर माफ, बिजली बिल हाफ, धान की कीमत 2500 रुपए प्रति क्विंटल, तेंदूपत्ता का मानक दर 2500 रुपए से बढ़ाकर 4000 रुपए प्रति बोरा, 31 वनोपज की समर्थन मूल्य में खरीदी, चरण पादुका खरीदने नगद राशि, 14580 पदों पर शिक्षकों की भर्ती, व्याख्याताओं की भर्ती, फिटनेस टीचरों की भर्ती, पुलिस विभाग, नर्सों की भर्ती नरवा, गरूवा, घुरवा, बाड़ी योजना के माध्यम से ग्रामीण अर्थव्यवस्था को मजबूत करने के उपाय मनरेगा के माध्यम से 1 दिन में 26 लाख हाथों को रोजगार दिया गया।

12-01-2021
भाजपा किसानों के नाम पर घड़ियाली आंसू बहाना बंद करें : कांग्रेस

रायपुर। भाजपा के आंदोलन पर कांग्रेस ने सवाल खड़ा किया है। प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता सुशील आनंद शुक्ला ने कहा है कि भाजपा कौन सी नैतिकता से किसानों के लिए आंदोनल कर रही है। राज्य के मुद्दों के दिवालियापन से जूझ रही भाजपा किसानों के नाम पर अपनी डूब चुकी नैय्या को बचाने में लगी है। भाजपा दावा कर रही है कि प्रदेश में धान खरीदी सही ढंग से नहीं हो रही जबकि राज्य में अब तक 70 लाख मीट्रिक टन धान की खरीदी हो चुकी है। प्रदेश में अब तक लगभग 17 लाख किसानों का धान सरकार खरीदी कर चुकी है। जब धान खरीदी का लक्ष्य 80 फीसदी पूरा हो गया तब भाजपा को किसानों की सुध आ रही है। प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा कि भाजपा को किसानों के बारे में बोलने का प्रदर्शन करने का कोई नैतिक अधिकार नहीं। भाजपा की छत्तीसगढ़ में सरकार थी 15 सालों तक तो किसानों के साथ वादाखिलाफी की गई। जब केंद्र में सरकार बनी तब किसानों के हितों के खिलाफ उद्योगपतियों को बढ़ावा देने तीन काले कानून बनाया है। भाजपा को प्रदर्शन करना ही है तो मोदी सरकार के खिलाफ करें। छत्तीसगढ़ का किसान तो खुश है उसका धान समर्थन मूल्य पर बिक रहा है। राजीव गांधी किसान न्याय योजना के माध्यम से छत्तीसगढ़ के किसानों को 10,000 रुपए की  अतिरिक्त सहायता मिल रही है, गोधन न्याय योजना से छत्तीसगढ़ के किसान अपने मवेशियों के गोबर तक बेच कर मुनाफा कमा रहे है

 

11-01-2021
भाजपा सांसद का किसान आंदोलन को नक्सलवादी, खालिस्तानी समर्थक बताना आपत्तिजनक : कांग्रेस

रायपुर। भारतीय जनता पार्टी के सांसद संतोष पांडेय का देशभर में चल रहे किसान आंदोलनों को खालिस्तानी समर्थकों, नक्सलवादियों का आंदोलन बताए जाने पर कांग्रेस ने कड़ी आपत्ति व्यक्त की है। प्रदेश कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता सुशील आनंद शुक्ला ने कहा है कि भारतीय जनता पार्टी के सांसद अपने इस आपत्तिजनक बयान के लिए देश और प्रदेश के किसानों से माफी मांगे। कांग्रेस प्रदेश भारतीय जनता पार्टी से मांग करती है कि वह स्पष्ट करें कि अपने दल के सांसद के किसानों के बारे में दिए गए इस बयान से वह कितना इत्तफाक रखते हैं?कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा कि सासंद पांडे के लगाए गए आरोप गंभीर है।

संतोष पांडेय देश की सत्ता रूढ़ पार्टी के सांसद है। यदि उनके पास ऐसा कोई पुख्ता प्रमाण है कि किसान आंदोलन नक्सलवादियों, खालिस्तान समर्थकों का आंदोलन है, तो उन्होंने इसकी जानकारी और सबूतों को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और केन्द्रीय गृहमंत्री अमित शाह को भी दिया है अथवा नहीं? यदि सांसद पांडेय ने प्रधानमंत्री और गृहमंत्री को यह जानकारी दे दी है तो अपने सांसद की दी गई इस संवेदनशील जानकारी के आधार पर केन्द्र सरकार ने क्या कार्रवाई की है? यदि सांसद पांडेय ने किसान आंदोलन के बारे में गलत और भ्रामक बयान दिया है तो भाजपा का केन्द्रीय नेतृत्व और केन्द्र सरकार उनके खिलाफ कोई कार्रवाई क्यों नहीं कर रही है?

11-01-2021
केन्द्र सरकार पर उच्चतम न्यायालय की तल्ख टिप्पणी से किसानों और कांग्रेस की बात पर लगी मुहर : विकास उपाध्याय

रायपुर। कांग्रेस के राष्ट्रीय सचिव विकास उपाध्याय ने कहा है कि उच्चतम न्यायालय की तल्ख टिप्पणी ने किसानों और कांग्रेस की बात पर मुहर लगा दी है। रायपुर पश्चिम से विधायक विकास उपाध्याय ने बयान जारी किया है। उन्होंने कृषि कानूनों पर सुनवाई के बीच सोमवार दोपहर मोदी सरकार पर उच्चतम न्यायालय की तल्ख टिप्पणियों को केन्द्र सरकार के लिए बेहद ही शर्मनाक बताया है। विकास ने कहा है कि यह टिप्पणी उस बात पर न्यायालय की मुहर है,जिसे देश भर के किसान व कांग्रेस पार्टी सहित अन्य 24 राजनैतिक पार्टियां विरोध करते आ रही है। कृषि कानून और किसानों के प्रदर्शन से जुड़ी याचिकाओं की सुनवाई के दौरान चीफ जस्टिस ने मौजूदा परिस्थिति को निराशाजनक बताया है। कानूनों पर कुछ वक़्त के लिए रोक क्यों ना लगाया जाए ये सवाल अटर्नी जनरल से पूछा है।
विकास उपाध्याय ने कहा कि मोदी सरकार को अब किसानों के हित को लेकर अपनी जिद छोड़ देनी चाहिए। तीनों कृषि कानूनों को रद्द कर देना चाहिए। उन्होंने ये भी कहा ,चूंकि इन कानूनों का सबसे पहले विरोध करने वालों में हमारे नेता राहुल गांधी थे। यही वजह है कि मोदी सरकार ने इसे अपनी प्रतिष्ठा का सवाल बना लिया। जबकि केन्द्र सरकार को चाहिए था कि वह विपक्ष के सुझाये देश हित की बातों को गंभीरता से लेती न कि किसानों के साथ व्यक्तिगत दुश्मनी की तरह पेश आती। भाजपा की इस तरह की रणनीति सीधा-सीधा लोकतंत्र की हत्या करना जैसा है,जो ज्यादा समय तक नहीं चलने वाली। विकास उपाध्याय ने कहा,जो हाल अमेरिका में ट्रम्प का हुआ वही हाल भारत में मोदी का होने वाला है।

10-01-2021
कांग्रेस-भाजपा का किसान आंदोलन दिखावा और छलावा : भगवानू नायक

रायपुर। जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) के प्रदेश प्रवक्ता भगवानू नायक ने कहा कि भाजपा और कांग्रेस का किसान आंदोलन और किसान अधिकार दिवस दोनों ही दिखावा और छलावा है। देश और छत्तीसगढ़ के किसान भी अच्छी तरह समझ रहे हंै। देश के इतिहास में पहला अवसर है कि जब देश के किसान भाजपा शासित केंद्र सरकार की नीतियों से आंदोलित है। इसके लिए कांग्रेस भी  अवसर का लाभ उठाते हुए 15 जनवरी को  देश भर में किसान अधिकार दिवस मनाने और राजनीति करने की तैयारी कर रही है। कांग्रेस शासित छत्तीसगढ़ राज्य में धान खरीदी में असफलता के कारण भाजपा अपने नए प्रभारी डी पुरंदेश्वरी  के नेतृत्व में 22 जनवरी को ट्रैक्टर रैली निकालकर किसानों के नाम पर राजनीति करने की तैयारी कर रही है। जबकि रमन राज में किसान आत्महत्या मामले में छत्तीसगढ़, देश में अव्वल था। वहीं भाजपा आज किसानों के लिए घड़ियाली आंसू बहा रही है। कुल मिलाकर ना देश का किसान केंद्र की नई किसान नीति से खुश है और न छत्तीसगढ़ का किसान भूपेश सरकार के धान खरीदी से खुश है। किसानों का हित भाजपा और कांग्रेस दोनों नहीं कर पा रही है बल्कि किसान को मुख्य मुद्दा और राजनीति का केंद्र बनाकर राजनीति करने से दोनों राष्ट्रीय राजनीतिक दल बाज नहीं आ रहे हैं। भगवानू नायक ने कहा है कि छत्तीसगढ़ के किसान आज राज्य के प्रथम मुख्यमंत्री स्व. अजीत जोगी को याद करे हैं। जोगी राज में देश में सबसे पहले समर्थन मूल्य में धान खरीदी शुरू हुई थी। जोगी राज में किसी भी किसान ने आत्महत्या नहीं की थी,बल्कि छत्तीसगढ़ का किसान खुशहाल था। बहुत ही कम समय में स्व. जोगी ने छत्तीसगढ़ को देश और दुनिया मे नई पहचान दिलाई थी।

 

09-01-2021
15 जनवरी को कांग्रेस का देश भर में किसान अधिकार दिवस आंदोलन,होगा राजभवन का घेराव

रायपुर।  रणदीप सिंह सुरजेवाला महासचिव भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस ने कहा है कि 15 जनवरी को देशभर में कांग्रेस किसान अधिकार दिवस मनाएगी। राजभवन का घेराव किया जाएगा। उन्होंने कहा है कि मोदी सरकार षड्यंत्रकारी तरीके से न्याय मांग रहे देश के अन्नदाता किसानों को थकाने और झुकाने की साजिश कर रही है। काले कानून खत्म करने की बजाय 40 दिन से मीटिंग-मीटिंग खेल रहे हैं। किसानों को तारीख पर तारीख दे रही है। 73 साल के देश के इतिहास में ऐसी निर्दयी व निष्ठुर सरकार कभी नहीं बनी, जिन्होंने ईस्ट इंडिया कंपनी व अंग्रेजों के जुल्मों को भी पीछे छोड़ दिया। 40 दिन से अधिक लाखों अन्नदाता दिल्ली की सीमाओं पर काले कानून खत्म करने की गुहार लगा रहे हैं। हाड़ कंपकपाती सर्दी बारिश व ओलो में 60 से अधिक किसानों ने दम तोड़ दिया। देश का दुर्भाग्य है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मुंह से आज तक किसानों के प्रति सांत्वना का एक शब्द नहीं निकला। साफ है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व उनकी सरकार 60 किसानों की कुबार्नी के लिए जिम्मेदार है। कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने निर्णय किया है कि किसानों के समर्थन में हर प्रांतीय हेड क्वार्टर पर कांग्रेस पार्टी 15 जनवरी को किसान अधिकार दिवस के रूप में एक जन आंदोलन करेगी। रैली और धरने के बाद राजभवन तक जाकर सरकार को तीनों काले कानून खत्म करने के लिए गुहार लगाएंगे। समय आ गया है कि मोदी सरकार देश के अन्नदाता की चेतावनी को समझे,क्योंकि अब देश का किसान काले कानून खत्म करवाने के लिए करो या मरो की राह पर चल पड़ा है।

 

09-01-2021
रमन सिंह के ट्वीट का कांग्रेस ने दिया जवाब, थोड़ा धैर्य रखिए डॉ. साहब...

रायपुर। छत्तीसगढ़ कांग्रेस ने डॉ. रमन सिंह के ट्वीट का जवाब ट्वीट से दिया है। डॉ. रमन सिंह ने ट्वीट कर पूछा है कि छत्तीसगढ़ में राहुल गांधी जो वादा करके गए थे वो कब पूरे होंगे? डॉ. रमन सिंह ने ट्वीट किया कि राहुल गांधी ने कहा था कि 2500 रुपए धान का समर्थन मूल्य देंगे,15 क्विंटल की लिमिट खत्म कर देंगे, हर जिला, हर ब्लॉक में फूड प्रोसेसिंग का कारखाना लगाएंगे। मुख्यमंत्री जी आधा समय तो आत्ममुग्धता में निकल गया, अब तो कुछ काम कीजिए। इस पर छत्तीसगढ़ कांग्रेस ने ट्वीट कर पलटवार किया है। प्रदेश कांग्रेस ने कहा है कि सब करेंगे डॉक्टर साहब! धैर्य रखिए। दुर्भाग्य से बहुत सी बातें आपकी भाजपा की केंद्र सरकार के हाथों में है और वो आप लोगों के कहने पर अड़ंगा लगाने में लगी है। हम आपकी तरह किसानों को न ठगेंगे और न उन्हें धोखा देंगे। थोड़ा घर से निकलिए. घूमिए. टहलिए. किसानों से मिलिए. आपको पता चलेगा कि किसान खुश हैं। समर्थन मूल्य न सही राजीव गांधी किसान न्याय योजना से उन्हें पैसे मिल रहे हैं। फूड प्रोसेसिंग की यूनिट लगने जा रही हैं। आपका 15 साल का कबाड़ भी तो साफ करना है।

08-01-2021
युवा कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने मोमबत्ती जलाकर शहीद किसानों को दी श्रद्धांजलि

कोरबा। प्रदेश युवक कांग्रेस कमेटी के प्रमुख पूर्णचंद पाढ़ी के निर्देश पर जिला युकां के कार्यकारी प्रमुख आकाश शर्मा के आह्वान पर करीब सौ युवा कांग्रेस के कार्यकर्ता कटघोरा के शहीद वीरनारायण सिंह चौक पर एकत्रित हुए। सभी ने मोमबत्ती जलाकर मृत किसानों के लिए प्रार्थना की। आकाश शर्मा ने बताया कि सरकार की हठधर्मिता और जनविरोधी नीति के चलते पहले ही पूरा देश परेशान था तो वही आज देश का सबसे जरूरी वर्ग यानी अन्नदाता भी इसकी भेंट चढ़ रहा। पूंजीपतियों और कारोबारियों को लाभ पहुंचाने के मकसद से लाये गये इस कानून का विरोध पूरा देश कर रहा है। कांग्रेस और समूचा युवा कांग्रेस विंग किसानों का पुरजोर समर्थन करता है। किसानों को श्रद्धांजलि देने वालो में रविन्द्र मोहन बघेल, जय कंवर, शिवम गुप्ता, जितेंद्र महंत, सुमित दुहलानी, देवकांत सिंह, विकेश भारद्वाज, राज विश्वकर्मा, चितराम अनंत,पिंकू श्रीवाश व डेविड गुप्ता के अलावा बड़ी संख्या में युवा कांग्रेस के कार्यकर्ता मौजूद रहे।

08-01-2021
आठ भाजपाईयों ने थामा कांग्रेस का हाथ,विक्रम मंडावी ने गमछा पहना कर किया स्वागत

बीजापुर। जिले के भोपालपटनम ब्लॉक सरपंच संघ के अध्यक्ष व ग्राम पंचायत चंदूर के वर्तमान सरपंच एवं भाजपा के वरिष्ठ कार्यकर्ता अशोक मड़े ने आज आपने आठ साथियों के साथ कांग्रेस की रीति नीति से प्रभावित होकर कांग्रेस का दामन थाम लिया है। बस्तर क्षेत्र आदिवासी विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष एवं बीजापुर के विधायक विक्रम शाह मंडावी ने अपने वरिष्ठ कांग्रेसी कार्यकर्ताओं की उपस्थित में कांग्रेस का ग़मछा पहनाकर कांग्रेस प्रवेश कराया। विधायक निवास में आयोजित प्रेसवार्ता को सम्बोधित करते हुए अशोक मड़े ने कहा कि पिछले पंद्रह सालों से मैं भाजपा के कार्यकर्ता के रूप में कार्य किया परंतु हमारे क्षेत्र में भाजपा के शासन काल में कोई भी विकास कार्य नही हुआ लेकिन जब से प्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनी है तब से प्रदेश के साथ साथ ग्रामीण क्षेत्रों का लगातार विकास हो रहा है, जिससे मैं बहुत प्रभावित हूं और विधायक विक्रम शाह मंडावी बीजापुर ज़िले के विकास को लेकर गम्भीर है।

भाजपा से कांग्रेस प्रवेश करने वालों में अशोक मड़े के अलावा महेंद्र बंदम,अभिजीत बंदम,कोड़े सुरेश,मन वासम,यालम सड़वाली, राजाबाबू एवं रामबाबू मड़े शामिल थे। इसके एक दिन पूर्व गुरुवार को भाजपा जिला अध्यक्ष श्रीनिवास मुदलियार के गृह ग्राम तिमेड की भाजपा समर्थित सरपंच मीना गोटे ने कांग्रेस की रीति नीति से प्रभावित होकर कांग्रेस का दामन थाम लिया था। प्रेसवार्ता दौरान जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष लालू राठौर,जिला पंचायत अध्यक्ष शंकर कुड़ियाम,प्रदेश कांग्रेस कमेटी के सचिव अजय सिंह,जिला पंचायत सदस्य एवं बस्तर क्षेत्र आदिवासी विकास प्राधिकरण की सदस्य नीना रावतिया उद्दे,विधायक प्रतिनिधि सुखदेव नाग,ज़िला कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता ज्योति कुमार,जिला महामंत्री सुनील उद्दे,नगर कांग्रेस अध्यक्ष संतोष गुप्ता एवं जनपद अध्यक्ष राधिका तेलम के अलावा बड़ी संख्या में कांग्रेसी उपस्थित थे।

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804