GLIBS
17-09-2020
देश के युवाओं ने प्रधानमंत्री का जन्मदिन बेरोजगार दिवस के रूप में मनाकर आक्रोश जताया : कांग्रेस

रायपुर। देश भर के युवाओं ने स्वफूर्त रूप से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जन्मदिन को बेरोजगार दिवस के रूप में मनाया। प्रदेश कांग्रेस के प्रवक्ता सुशील आनंद शुक्ला ने कहा है कि, प्रधानमंत्री के जन्मदिन को "राष्ट्रीय बेरोजगार दिवस" के रूप में मना कर पूरे देश ने बेरोजगारी और बेकारी के खिलाफ अपनी एकजुटता को प्रदर्शित किया है। सोशल मीडिया में ट्विटर, फेसबुक पर मोदी सरकार की बेरोजगारी के खिलाफ चले महा ट्रेंड ने यह बता दिया कि, आज देश के लोगों मे रोजगार को लेकर वर्तमान केंद्र सरकार के प्रति कितना ज्याादा आक्रोश है। युवा केंद्रीय सरकार के प्रतिष्ठानों में नौकरियो में रोक के विरोध और देश में नए रोजगार के अवसरों की मांग कर रहे हैं। कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा है कि,मोदी और उनके भक्तों ने रोम जल रहा था नीरो बंशी बजा रहा था कि, कहावत को चरितार्थ कर दिया। एक तरफ देश में बेरोजगारी चरम पर है। बेरोजगारी दर स्वतंत्र भारत के इतिहास में सबसे ज्यादा 44 प्रतिशत पर है। मोदी सरकार के लिए गए आत्मघाती निर्णयों नोटबंदी और जीएसटी ने उद्योग व्यापार की कमर तोड़ कर रख दी। फैक्ट्रियां व्यवसाय धंधे बंद हो गए। लोगो की नौकरियां चले गई है। रही सही कसर कोरोना की आपदा में पूरी हो गई। सारा देश रोजी रोटी और जीवन बचाने के झंझावत में लगा हुआ है। ऐसे समय देश भर में भाजपाई मोदी के जन्मदिवस को जन्मसप्ताह के रूप में मना कर देश की जनता के जले पर नमक छिड़कने का काम कर रहे हैं। जिस देश में 53 लाख लोग महामारी से पीड़ित हो, 85 हजार की जान चली गई हो, उस देश का प्रधानमंत्री जश्न कैसे मना सकता है ?

 

 

16-09-2020
छोटे-छोटे मामलों पर ट्वीट करने वाले भाजपा नेता आदिवासी की हत्या के मामले में मौन हैं : कांग्रेस  

रायपुर। प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता सुशील आनंद शुक्ला ने कहा है कि, भारतीय जनता पार्टी का आदिवासी विरोधी चेहरा एक बार फिर खुल कर सामने आया है। शुक्ला ने सवाल किया है कि मध्यप्रदेश पुलिस की ओर से कवर्धा के निर्दोष आदिवासी की हत्या पर राज्य के भाजपा नेता क्यों चुप है? कवर्धा में दो आदिवासियों पर मध्यप्रदेश पुलिस ने गोलियां चलाई, जिसमें एक कि मृत्यु हो गई, दूसरा बाल बाल बच गया। इन दोनों ही आदिवासियों को नक्सली होने का झूठा आरोप मढ़ने की कोशिश भी मध्यप्रदेश पुलिस ने की । छत्तीसगढ़ के वन मंत्री मो.अकबर ने इस मामले में दोषियों पर कड़ी कार्यवाही करने के लिए मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री को दो पत्र भी लिखा। इसके बाद भी मध्यप्रदेश सरकार ने दोषी पुलिस वालों के खिलाफ कोई कार्यवाही नहीं की। इस मामले में मप्र मानव अधिकार आयोग के भी संज्ञान लिए जाने की खबरें आ रही हैं।

इसके बावजूद मध्यप्रदेश की भाजपा सरकार की ओर से कोई  कार्यवाही नहीं करना इस बात का प्रमाण है कि, भाजपा सरकार दोषियों को बचाना चाह रही है। प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता ने छत्तीसगढ़ भाजपा से पूछा है कि, इस मामले में उसका क्या रुख है? राज्य के आदिवासियों को भाजपा शासन वाली पड़ोसी राज्य की पुलिस जबरिया गोलियों से मार डालती है, छत्तीसगढ़ भाजपा के वरिष्ठ नेता संदेहास्पद चुप्पी क्यों साधे हुए हैं? छोटे-छोटे मसलो में ट्वीट करने वाले रमन सिंह ,धर्मलाल कौशिक ,बृजमोहन अग्रवाल और अजय चंद्राकर जैसे नेताओं की बोलती अब क्यों बंद है? क्या राज्य के गरीब आदिवासी की जिंदगी का भाजपा नेताओं की निगाह में कोई महत्व नही है? छत्तीसगढ़ भाजपा के नेताओं के लिए दलीय प्रतिबद्धता राज्य के एक आदिवासी के जीवन से भी बढ़ कर हो गई है।

 

15-09-2020
महिला कांग्रेस ने मनाया 37वां स्थापना दिवस,रायपुर सहित सभी जिलों में हुए विविध कार्यक्रम 

रायपुर। महिला कांग्रेस ने मंगलवार को 37वां स्थापना दिवस मनाया। गांधी मैदान कांग्रेस भवन में महिला कांग्रेस राष्ट्रीय अध्यक्ष सुष्मिता देव के निर्देशानुसार प्रत्येक जिले के कार्यालयों में महिला कांग्रेस का झंडा फहराया गया। प्रदेश महिला कांग्रेस अध्यक्ष फूलोदेवी नेताम ने कहा है कि, महिला कांग्रेस को झंडा देकर राहुल गांधी व महिला कांग्रेस राष्ट्रीय अध्यक्ष सुष्मिता देव ने अलग पहचान दी है। जिस तरह देश में राहुल गांधी ने महिलाओं के सशक्तिकरण के लिए देशव्यापी मुहिम छेड़ी है। उससे महिलाओं का कांग्रेस के प्रति विश्वास बढ़ा है। महिला कांग्रेस का दो दिवसीय राष्ट्रीय अधिवेशन बंगलोर में 15 से 16 सितंबर 1983 में हुआ था। इसका उद्घाटन स्व.इंदिरा गांधी ने किया था। समापन स्व.राजीव गांधी के उद्बोधन से हुआ था। इसमें एक नए संविधान को अपनाते हुए महिला कांग्रेस सेल को स्वायत्ता दे कर आल इंडिया महिला कांग्रेस नाम दिया गया। आल इंडिया महिला कांग्रेस,एआईसीसी के अंतर्गत एआईसीसी अध्यक्ष की अनुमति से 15 सितंबर 1983 से स्वतंत्र कार्य करने लगी। रायपुर में प्रभारी शकुन्तला डहरिया के उपस्थिति में शहर जिला अध्यक्ष आशा चौहान महिला कांग्रेस ने  मुख्यालय कांग्रेस भवन गांधी मैदान में महिला कांग्रेस का झंडा फहराया। महिला कांग्रेस के 37वें स्थापना दिवस के मौंके पर 1 हजार मास्क का वितरण किया गया। कार्यक्रम में  शकुंतला डेहरिया पीसीसी कार्यकारिणी सदस्य प्रभारी छत्तीसगढ़ महिला कांग्रेस, आशा चौहान अध्यक्ष शहर जिला महिला कांग्रेस, ममता राय, कल्पना सागर, गंगा यादव, कविता बघेल, सायरा खान,अपर्णा फ्रांसिस,राहत परवीन,शेरीन बेगम, नंदा मानिकपुरी, सुषमा यादव,
सुषमा ध्रुव, शिल्पी राय, हेमलता साहू  आदि महिलाएं उपस्थित थीं।

15-09-2020
एलएसी विवाद पर चर्चा करने की अनुमति नहीं मिलने पर कांग्रेस ने किया वॉकआउट, कहा- सवालों से डर रही सरकार

नई दिल्ली। संसद के मॉनसून सत्र के दूसरे दिन कांग्रेस ने भारत और चीन के बीच सीमा विवाद पर चर्चा की मांग करते हुए सदन से वॉकआउट कर दिया। बताया गया कि कांग्रेस सांसद रक्षामंत्री राजनाथ सिंह से सवाल करना चाहते थे। स्पीकर से अनुमति नहीं मिलने के बाद कांग्रेस सांसदों ने सदन से वॉकआउट कर दिया। पार्टी के नेताओं का कहना है कि सदन की परंपरा के अनुसार प्रमुख मुद्दों पर बहस की जानी चाहिए लेकिन सरकार उनके सवालों से डरी हुई है।
कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी ने इंडो-चाइना वार के वक्त की याद दिलाते हुए कहा कि तब इस मुद्दे पर सदन में दो दिन लगातार चर्चा हुई थी। चौधरी ने कहा कि हम संसद के मॉनसून सत्र के पहले दिन से भारत-चीन विवाद पर चर्चा की मांग कर रहे हैं। जब हमे पता चला कि (सरकार के लोग) चर्चा करने नहीं देंगे तो हमने अपनी बात रखने का हरसंभव प्रयास भी किया।चौधरी ने कहा कि कांग्रेस पार्टी चाहती है कि सरकार प्रमुख मुद्दों पर सदन में चर्चा का ट्रेडिशन फॉलो करे। उन्होंने कहा कि साल 1962 में अटल बिहारी वाजपेयी भारत-चीन युद्ध पर चर्चा की मांग कर रहे थे।

तब तत्कालीन प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू इस मुद्दे पर दो दिन की चर्चा के लिए तैयार हो गए थे। हम चाहते हैं कि इस परंपरा का पालन हो और सरकार भारत-चीन गतिरोध के मुद्दे पर सदन में चर्चा करे।कांग्रेस नेता ने कहा कि रूल 190 के अंतर्गत मैंने दो नोटिस दिए थे लेकिन हमारी अपील पर सुनवाई नहीं हुई। सरकार हमारे सवालों से डरती है इसलिए हमें चर्चा की अनुमति नहीं मिली। उन्होंने कहा कि रक्षा मंत्री ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तारीफ की लेकिन वह हमारे बहादुर सैनिकों के लिए प्रस्ताव के दौरान वह गैर-मौजूद क्यों थे? प्रधानमंत्री अपने उस बयान से घबराए हुए हैं,जिसमें उन्होंने कहा था कि हमारी जमीन का एक टुकड़ा भी किसी के कब्जे में नहीं है और कोई हमारे क्षेत्र में नहीं घुस आया है।चौधरी ने मोदी सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि इनकी (केंद्र सरकार की) एक के बाद एक मीटिंग तो होती है लेकिन कोई नतीजा नहीं निकलता है। चौधरी के समर्थन में कांग्रेस नेता गौरव गोगोई ने भी केंद्र सरकार पर हमला बोला। गोगोई ने कहा कि हमारे नेता अधीर रंजन चौधरी जवानों के साथ एकजुटता का संदेश देना चाहते थे। वह चीन को भी कड़ा संदेश देना चाहते थे कि वह हमारे धैर्य की कड़ी परीक्षा न ले। लेकिन दुर्भाग्य से सरकार को लगता है कि केवल वह ही सेना के समर्थन में कुछ भी बोल सकती है।

 

 

14-09-2020
चीन की नापाक हरकत, राष्ट्रपति-प्रधानमंत्री सहित बड़ी हस्तियों की कर रहा जासूसी

नई दिल्ली। चीन की नापाक हरकत को लेकर एक और खुलासा हुआ है। बताया गया है कि चीन की कुछ कंपनियों द्वारा भारत में जासूसी की जा रही है। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्रीय मंत्री तक, मुख्यमंत्री से लेकर सेना के वरिष्ठ अफसरों तक की जासूसी की जा रही है। इसके अलावा, देश के प्रमुख उद्योगपतियों से लेकर वरिष्ठ अधिकारी भी चीन के निशाने पर हैं।  एक अंग्रेजी अखबार ने अपनी एक रिपोर्ट में दावा किया है कि शेनजेन बेस्ड चीनी कंपनी 'झेनझुआ डाटा इन्फॉर्मेशन टेक्नोलॉजी कंपनी लिमिटेड' भारत में करीब दस हजार लोगों की निगरानी कर रही है। इस कंपनी का चीन की सरकार और चीन की कम्युनिस्ट पार्टी से सीधा संबंध है। इस चीनी कंपनी की करीब दस हजार भारतीयों पर नजर है, जिसमें प्रधानमंत्री से लेकर एक मेयर तक शामिल है। 

इन लोगों की हो रही जासूसी

रिपोर्ट में बताया गया है 'झेनझुआ डाटा इन्फॉर्मेशन टेक्नोलॉजी कंपनी लिमिटेड' की ओर से जिन भारतीयों पर नजर रखी जा रही है। उनमें राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी, मुख्यमंत्री ममता बनर्जी, अशोक गहलोत, अमरिंदर सिंह, उद्धव ठाकरे, नवीन पटनायक और शिवराज सिंह शामिल हैं।  इसके अलावा, केंद्रीय मंत्री राजनाथ सिंह, रविशंकर प्रसाद, निर्मला सीतारमण, स्मृति ईरानी और पीयूष गोयल सहित अन्य लोग शामिल हैं। वहीं, सीडीएस बिपिन रावत और सेना, नौसेना और वायुसेना के 15 पूर्व प्रमुख समेत आला अधिकारी भी चीन की निगरानी में हैं।  बीजिंग की तरफ से कंपनी के माध्यम से मुख्य न्यायाधीश शरद बोबडे, जज एएम खानविल्कर, लोकपाल जस्टिस पीसी घोष और नियंत्रक और महालेखा परीक्षक जीसी मुर्मू तक की जासूसी करवाई जा रही है। वहीं, भारत पे के संस्थापक निपुण मेहरा, रतन टाटा और गौतम अडानी सरीखे लोग भी चीन की नापाक निगरानी पर है। रिपोर्ट में बताया गया है कि चीन के निशाने पर नेताओं के अलावा सचिन तेंदुलकर जैसे खिलाड़ी, फिल्म डायरेक्टर श्याम बेनेगल, सोनल मानसिंह जैसे लोग भी हैं। इस सूची में ऐसे लोग भी शामिल हैं, जिनका भारत में क्राइम का रिकॉर्ड है। ये सूची और भी बड़ी है, जिसमें 10 हजार के करीब प्रमुख लोग शामिल हैं। 

चीन के साथ मिलकर हो रहा नापाक काम

अखबार की रिपोर्ट में दावा किया गया है कि चीनी कंपनियों द्वारा सभी प्रमुख लोगों की निजी जिंदगी को उनके सोशल मीडिया प्लटेफॉर्म द्वारा फॉलो किया जा रहा है। इनकी नजर में परिजन से लेकर समर्थक तक हैं। चीनी कंपनियों द्वारा इन लोगों का रियल टाइम डाटा इकट्ठा किया जा रहा है, जिसे चीनी सरकार के साथ साझा किया जा रहा है। बताया गया है कि इस पूरी जासूसी के लिए 'झेनझुआ डाटा इन्फॉर्मेशन टेक्नोलॉजी कंपनी लिमिटेड' ने चीनी सरकार और कम्युनिष्ट पार्टी के साथ मिलकर विदेशों से सूचनाओं को इकट्ठा करने के लिए एक डाटा बेस तैयार किया है, जिसके तहत इस नापाक मंसूबे को अंजाम दिया जा रहा है। कंपनी की तरफ से इकट्ठा किए जा रहे डाटा को 'हाइब्रेड वॉर' की संज्ञा दी गई है, जिसमें किसी के बारे में जानकारी जुटाने के लिए उसकी निजी जिंदगी की जानकारी को खंगाला जाता है। एक तरफ जहां चीन के साथ सीमा पर तनाव है और चीनी सेना घुसपैठ की कोशिश कर रही है, दूसरी तरफ चीन भारत के प्रमुख लोगों पर आंखें गड़ाए हुए है। 

13-09-2020
रमन सिंह केंद्रीय नियुक्तियों में भर्ती पर रोक का विरोध करने साहस दिखाएंगे : कांग्रेस  

रायपुर। कांग्रेस ने भाजपा को रोजगार विरोधी बताया है। छत्तीसगढ़ में भारतीय जनता पार्टी राज्य लोकसेवा आयोग की परीक्षाओं का विरोध कर रही है, केंद्र में भाजपा की  मोदी सरकार ने नए पदों की भर्ती पर प्रतिबंध लगा दिया है। प्रदेश कांग्रेस के प्रवक्ता सुशील आनंद शुक्ला ने कहा है कि, पूरे देश मे  भाजपा युवाओं के रोजगार के विरोध में खड़ी है । छत्तीसगढ़ की कांग्रेस सरकार राज्य लोकसेवा आयोग की मुख्य परीक्षा समय पर करवा कर राज्य के युवाओं को सरकारी सेवा में अवसर देने जा रही है, तो  भाजपा कोरोना की आड़ में विरोध कर रही है। वहां केंद्र सरकार ने नए पदों के सृजन और भर्ती पर प्रतिबंध लगा कर देश के बेरोजगार युवाओं के हितों पर कुठाराघात किया है। भारत सरकार के वित्त मंत्रालय के खर्च नियंत्रण विभाग ने केंद्र के सभी मंत्रालयों , विभाग प्रमुखों को 4 सितंबर को एक पत्र लिख कर स्प्ष्ट तौर पर यह कहा है कि, भविष्य में कोई भी विभाग किसी भी प्रकार के पद निर्मित नहीं करेगा। अर्थात नई भर्तियां नहीं करेगा । 1 जुलाई के बाद जो नियुक्तियों के विज्ञापन निकले हैं, उन्हें भी रद्द कर दिया गया है। यह भी निर्देश दिया गया है कि, विशेष आवश्यकता होने पर वित्त मंत्रालय के खर्च नियंत्रण विभाग से सहमति ले कर ही निर्णय लिए जाएंगे। सभी विभागों के प्रमुखों और सचिवों के साथ मुख्य लेखा अधिकारियों को यह कहा गया है कि, वे इस आदेश का कड़ाई से पालन तय करें। कांग्रेस प्रवक्ता ने पूछा है कि, रोजगार के नाम पर ट्वीट कर सुर्खियों में रहने वाले रमन सिंह मोदी सरकार के इस रोजगार विरोधी कदम के विरोध में भी ट्वीट करने का साहस दिखाएंगे? छत्तीसगढ़ में भाजपाई पीएससी परीक्षा का सिर्फ इसलिए विरोध कर रहे क्यंकि कांग्रेस ने नीट जेईई का विरोध किया था। जबकि दोनों परीक्षाओं में शामिल होने वाले अभ्यर्थियों की संख्या में कई गुना का अंतर है। पीएससी के परीक्षार्थी जेईई नीट में शामिल होने वाले बच्चों की अपेक्षा जादा परिपक्व है।

13-09-2020
पीएल पुनिया के छत्तीसगढ़ कांग्रेस के पुन: प्रभारी बनने पर कांग्रेसियों में खुशी की लहर

रायपुर/बिलासपुर। कांग्रेसियों ने राज्य सभा सांसद पीएल पुनिया के पुनः कांग्रेस के राष्ट्रीय कार्य समिति में शामिल होने और छत्तीसगढ़ के प्रभारी महासचिव बनने पर खुशी जाहिर की है। प्रदेश उपाध्यक्ष अटल श्रीवास्तव, संसदीय सचिव रश्मि आशीष सिंह, विधायक शैलेष पांडेय, ज़िला अध्यक्ष विजय केशरवानी, शहर अध्यक्ष प्रमोद नायक, महापौर रामशरण यादव, ज़िला पंचायत अध्यक्ष अरुण सिंह चौहान, निगम सभापति शेख नजीरुद्दीन, प्रदेश संयुक्त सचिव राजेन्द्र शुक्ला, राजेन्द्र साहू, विभोर सिंह, दिलीप लहरिया, प्रदेश महामंत्री अर्जुन तिवारी, कार्यकारिणी सदस्य विष्णु यादव, प्रदेश प्रवक्ता अभय नारायण राय, सचिव महेश दुबे तथा शहर प्रवक्ता ऋषि पांडेय, सुभाष ठाकुर ने विज्ञप्ति जारी करते हुए कहा कि पीएल पुनिया को कार्यसमिति में शामिल करना और पुनः छत्तीसगढ़ का प्रभारी महासचिव बनाने के राष्ट्रीय अध्यक्षा सोनिया गांधी की दूरदर्शिता का सुखद परिणाम है।

12-09-2020
प्रधानमंत्री का नारा 'जब तक दवाई नहीं तब तक ढिलाई नहीं' देश के साथ एक और क्रूर मजाक : कांग्रेस

रायपुर। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा दिये गए नारे 'जब तक दवाई नहीं तब तक ढिलाई नहीं' के नारे को कांग्रेस ने एक बड़ा मजाक बताया है ।प्रदेश कांग्रेस के प्रवक्ता सुशील आनंद शुक्ला ने कहा कि रोज रोज अनलॉक के बहाने क्लब सिनेमाघर,मल्टीप्लेक्स आदि को खोलने का आदेश देकर सोशल डिस्टेंसिग की धज्जियां उड़वाने वाली केंद्र सरकार के मुखिया इस प्रकार का बयान दे कर देश की जनता को भुलावे में न डाले। प्रवक्ता सुशील शुक्ला ने का कि देश में अब तक 47 लाख से अधिक लोग कोरोना से संक्रमित हो चुके हैं। पिछले चौबीस घण्टे में 97654 लोग कोरोना पॅाजिटिव हो चुके हैं। देश मे अब तक 77472 लोगो की कोरोना से दुखद मौत हो चुकी है। दुनिया में सर्वाधिक संक्रमण के नए केस अब भारत मे आ रहे हैं। भारत कोरोना मरीजों के मामले में दुर्भाग्यपूर्ण रूप से ब्राजील से भी आगे निकल कर अमेरिका के बराबर पहुँच रहा है।

कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा कि बड़े पैमाने पर हुए जन हानि और हाहाकार के बाद भी हमारे प्रधानमंत्री अभी तक कोरोना के मामले न गम्भीर हुए है और न अपनी जिम्मेदारी को समझ रहे हैं। प्रधानमंत्री और भाजपा कोरोना की तबाही को गम्भीरता से लेने को तैयार ही नही है। केंद्र सरकार पूरे देश मे कोरोना से लड़ते दिखाई ही नहीं दे रही है।  कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा कि भाजपा की केंद्र सरकार कोरोना से निपटने में उदासीन बनी हुई है और राज्य में भारतीय जनता पार्टी के नेता कोरोना संकट को एक अवसर के रूप में देख रहे हैं। छत्तीसगढ़ भाजपा का हर नेता सिर्फ राज्य सरकार कोसने को ही अपना कर्तब्य समझ रहा है। राज्य से भारतीय जनता पार्टी की केंद्रीय मंत्री है, 9 सांसद है, तीन राष्ट्रीय पदाधिकारी लेकिन किसी ने भी दलीय भावना से ऊपर उठ कर केंद्र सरकार को राज्य की मदद के लिए न कभी पत्र लिखा न कोई दबाव बनाया। 

09-09-2020
सीएम का वीडियो ​एडिट करने वाले पर कार्रवाई की मांग को लेकर कांग्रेस वि​धि प्रकोष्ठ के अध्यक्ष ने की ​एसपी से शिकायत

रायपुर। प्रदेश के मुखिया मुख्यमंत्री भूपेश बघेल का वीडियो एडिट कर भ्रम फैलाने की शिकायत कांग्रेस विधि प्रकोष्ठ ने की है। विधि प्रकोष्ठ के अध्यक्ष संदीप दुबे ने एसपी से आरोपी के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। शिकायत के मुताबिक भिलाई निवासी नरसिंग राजपूत के नाम से बने फेसबुक अकाउंट से राज्य सरकार को बदनाम करने साजिश की जा रही है। फेसबुक के माध्यम से एक वीडियो शेयर किया गया है। इसमें सीएम भूपेश बघेल की आवाज की नकल की गई है। इसमें एक व्यक्ति द्वारा शराब दुकान खोलने की मांग की जाती है। इस पर सीएम की आवाज का उपयोग करते हुए इसे एक अच्छी पहल बताया गया है। ऐसे भ्रामक प्रचार के माध्यम से सीएम और राज्य सरकार की छवि धुमिल करने का प्रयास किया जा रहा है।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804