GLIBS
05-07-2020
चुनाव के पहले भूपेश बघेल के पास झीरम के सबूत और रोजगार के लिए ब्लू प्रिंट थे, सरकार में आने के बाद कुछ नहीं : रमन

रायपुर। पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने चुनाव के पूर्व कांग्रेस और मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की ओर से उठाए गए मुद्दों पर निशाना साधा है। पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह और मुख्यमंत्री भूपेश बघेल विभिन्न मुद्दों पर लगातार एक दूसरे पर निशाना साध रहे हैं। इस बार डॉ. रमन सिंह ने कहा कि विधानसभा चुनाव के पूर्व भूपेश बघेल के पास झीरम के सबूत थे, रोजगार के लिए ब्लू प्रिंट था, शराबबंदी के लिए योजना थी, रोजगार भत्ते के लिए पैसे थे और 2500 रुपए समर्थन मूल्य देने के पैसे थे। लेकिन भूपेश बघेल जब से सरकार में आए हैं तब से इनके पास कुछ नहीं है। डॉ. रमन सिंह ने वर्ष 2018 में भूपेश बघेल के एक ट्वीट को साझा किया है। इसमें भूपेश बघेल ने लिखा है कि बेरोजगारी दूर करना सिर्फ चुनावी नारा नहीं होना चाहिए, जुमला तो हरगिज नहीं। छत्तीसगढ़ कांग्रेस बेरोजगारी दूर करने के लिए प्रतिबद्ध है और पूरे ब्लू प्रिंट के साथ तैयार है। युवा साथियों के लिए अब बस थोड़े दिन का सब्र और।

 

 

04-07-2020
पेट्रोल-डीजल के बढ़ते दामों के खिलाफ कांग्रेस का हल्ला बोल जारी

 रायपुर। केंद्र सरकार के खिलाफ कांग्रेस का हल्ला बोल जारी है। पेट्रोल-डीजल के बढ़ते दामों में केंद्र सरकार लगातार बढ़ोतरी कर रही है। शहर में प्रमोद दुबे, विकास उपाध्याय, सुभाष शर्मा, गिरीश दुबे, पंकज शर्मा सहित तमाम नेताओं ने केन्द्र सरकार के खिलाफ जमकर हमला बोला, और पेट्रोल डीजल के बढ़ते दामों से जनता को जल्द से जल्द राहत देने की मांग की है। शहर प्रवक्ता बंशी कन्नौजे ने बताया कि शनिवार को यह प्रदर्शन संत माता कर्मा के काली माता मंदिर, डॉ.खूबचंद बघेल ब्लाक के कुशालपुर चौक, संत कबीरदास ब्लाक के मोवा बाजार एवं शहीद भगत सिंह ब्लाक के गोल चौक में आयोजित किया गया। गोल चौक में कार्यकर्ताओें ने बुलडोजर के नीचे बाइक रखकर अनोखा प्रदर्शन किया। इस दौरान कांग्रेस के सैकड़ों कार्यकर्ता भी मौजूद रहे।

 

04-07-2020
भुनेश्वर बघेल को संसदीय सचिव बनाने की मांग

राजनांदगांव/डोंगरगढ़। डोंगरगढ के विधायक भुनेश्वर बघेल को संसदीय सचिव बनाये जाने की मांग उनके विधानसभा में की जा रही है। विधानसभा क्षेत्र के अधिकतर सरपंच, जनपद और जिला पंचायत सदस्यों, जिला पंचायत सदस्य हर्षिता बघेल स्वामी, ओमप्रकाश साहू ने मुख्यमंत्री से मांग की है। पूर्व मंत्री धनेश पाटिला के बाद से क्षेत्र को मंत्रिमंडल में कभी स्थान नहीं मिला है। क्षेत्र की जनता ने कांग्रेस पर विश्वास करते हुए भरपूर बहुमत से भुनेश्वर बघेल को जिताया था अब मुख्यमंत्री क्षेत्र की जनता की भावनाओं का खयाल रखें।

03-07-2020
कांग्रेस का केन्द्र सरकार के खिलाफ प्रदर्शन जारी, महिला कार्यकर्ताओं ने चूड़ी और मेहंदी रखकर किया विरोध

रायपुर। पेट्रोल डीजल के बढ़ते दामों के विरोध में कांग्रेस केन्द्र सरकार के खिलाफ आक्रमक तरीके से मैदान में उतरी है। शुक्रवार को दूसरे सरे दिन भी कांग्रेस ने ब्लॉक स्तर पर केन्द्र सरकार के खिलाफ धरना प्रदर्शन किया। शहर अध्यक्ष गिरीश दुबे सहित तमाम नेताओं ने केन्द्र की भाजपा सरकार पर जमकर हमला बोला। दुबे ने कहा कि आज कोरोना जैसी वैश्विक महामारी का दौर चल रहा है, जिसके कारण लोगों को दैनिक उपभोग की वस्तुओं के लिए, रोजी-रोजगार के लिए सोचना पड़ रहा है। ऐसे में केन्द्र की मोदी सरकार लगातार बढ़ रहे पेट्रोल-डीजल के दामों का नियंत्रण नहीं कर पा रही है। जबकि अंतराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमत कम है। शहर प्रवक्ता बंशी कन्नौजे ने कहा कि अब तक प्रदर्शन पं. जवाहर लाल नेहरू ब्लॉक के तेलघानी नाका चौक में ब्लॉक अध्यक्ष अरूण जंघेल और महंत लक्ष्मीनारायण दास ब्लॉक के आजाद चौक में ब्लॉक अध्यक्ष सुनीता शर्मा, शहीद ब्रिगेडियर उस्मान ब्लॉक के पचपेढ़ी नाका चौक में सुमित दास, गुरूघासी दास ब्लॉक के शंकर नगर चौक में कामरान अंसारी के नेतृत्व में प्रदर्शन किया जा चुका है। महिला कार्यकर्ताओं ने भाजपा नेताओं की ओर से महंगाई के विरोध में किए गए प्रदर्शन को याद दिलाते हुए उनके लिए चूड़ी और मेहेंदी रखकर प्रदर्शन किया।


कार्यक्रम में प्रभारी महामंत्री चंद्रशेखर शुक्ला, महापौर एजाज ढेबर, सभापति प्रमोद दुबे, कन्हैया अग्रवाल, विकास तिवारी, सुमित दास, आशा चौहान, सुरेश चन्नावार, राजेश सिंह ठाकुर, दिलीप अग्रवाल, प्रदीप कावडीया, सुमित दास, सुयश शर्मा, राजू यादव, मुकेश शर्मा, मल्लीका प्रजापति, शेखर साहू हरीश तिवारी, प्रशांत यादव, माधव छुरा, अम्बे बागमार, सुजीत चौहान, रामदास कुर्रे, हैदर अली, दिलीप फरीकार, सचिन शर्मा, सत्यनारायण नायक, वाहीउद्दीन, मुरली साहू, दिनेश फुटान, आशीष विश्वकर्मा, ईश्वर चक्रधारी, सतीष जंघेल, अनिल वर्गे, रविन्द्र शुक्ला, मो.फिरोज गांधी, रंजन कुमार गोयल, अमित तिवारी, मंगल सिंह, बृजमोहन साहू, गजेन्द्र साहू, प्रकाश शर्मा, भूपत महोबिया, अविनय दुबे, मोहन साहू, अमित घोस, सहित कार्यकर्ता उपस्थित थे।

 

02-07-2020
जनता को छोड़ उद्योगपतियों को लाभ पहुंचा रही है मोदी सरकार : गिरीश दुबे

रायपुर। कांग्रेस ने लगातार बढ़ते हुए पेट्रोल डीजल के दामों के विरोध में केंद्र सरकार के खिलाफ गुरुवार को ब्लॉक स्तरीय धरना प्रदर्शन किया। शहर कांग्रेस अध्यक्ष गिरीश दुबे ने मोदी सरकार पर जमकर हमला बोला। उन्होंने कहा कि एक तरफ लोग कोरोना जैसी वैश्विक महामारी से परेशान हैं, दूसरी ओर केंद्र की मोदी सरकार आम जनता को राहत पहुंचाने के बजाय अपने कुछ  चुनिंदा उद्योगपति साथियों को फायदा पहुंचा रही है। अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमत कम होने के बावजूद लोगों को पेट्रोल डीजल महंगे दामों में खरीदना पड़ रहा है। शहर प्रवक्ता बंशी कन्नौजे ने कहा कि गुरुवार को प्रदर्शन शहीद ब्रिगेडियर उस्मान ब्लॉक के पचपेड़ी नाका चौक में किया गया। ब्लॉक अध्यक्ष सुमित दास और गुरु घासीदास ब्लॉक कांग्रेस कमेटी के शंकर नगर चौक में अध्यक्ष कामरान अंसारी के नेतृत्व में प्रदर्शन हुआ। शुक्रवार को प्रदर्शन महंत लक्ष्मीनारायण दास ब्लॉक के आजाद चौक और पंडित जवाहरलाल नेहरू ब्लॉक के तेलघानी नाका चौक में 12 से 2 बजे तक किया जाएगा। गुरुवार को प्रदर्शन के दौरान आनंद कुकरेजा, कन्हैया अग्रवाल,पार्षद समीर अख़्तर,अमित दास,सुंदर जोगी,देवेंद्र यादव ,शीतल कुलदीप, नीलम जगत,सुनिता शर्मा,प्रशांत ठेंगड़ी,दाऊलाल साहू,राकेश धोतरे,रियाज अहमद, सारिक रईस खान,मिलिंद गौतम, जगदीश आहूजा,सायरा खान, सुरेश उपाध्याय, मनोज मसंद, दिनेश ठाकुर, मनीष दयाल ,मुमताज हुसैन, संदीप बारले, विशाल रजानी, योगेश साहू,अर्पणा फ्रांसिस, बास्टो बहरा, सागर दुलानि, राहुल धनगर,शानू रजा,शिव वर्मा,शब्बिर खान,यश साहू,अंकित पांडे, अमित,विक्रांत शिर्के,दिवाकर साहू,प्रणव ठाकुर, इकलाख,जीतू बारले सहित कार्यकर्ता उपस्थित थे।

 

01-07-2020
कवासी लखमा का दावा मरवाही उपचुनाव में कांग्रेस की जीत तय

रायपुर/बिलासपुर। प्रदेश शासन के उद्योग एवं आबकारी मंत्री कवासी लखमा बुधवार को अल्प प्रवास के लिए बिलासपुर पहुंचे। छत्तीसगढ़ भवन में पत्रकारों से चर्चा करते हुए उन्होंने कहा कि वर्तमान में प्रदेश में कांग्रेस के पक्ष में  माहौल है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के नेतृत्व में पंचायत से लेकर नगर निगम नगर पंचायत में और नगर निगम में अधिकतर स्थानों पर कांग्रेस की जीत हुई है। यह बताते हुए उन्होंने दावा किया कि मरवाई का उपचुनाव भी कांग्रेसी जीतेगी। अपनी बात आगे बढ़ाते हुए उद्योग मंत्री लखमा ने कहा कि मरवाही की जनता के लिए, मरवाही के विकास के लिए कांग्रेसी सरकार ने काफी कुछ किया है। गौरेला पेंड्रा मरवाही को भी कांग्रेस सरकार ने ही नया जिला बनाया है। इसलिए मरवाही उपचुनाव में कांग्रेसी जीत हासिल करेगी। छत्तीसगढ़ में हुई पत्रकारों से बातचीत के पहले विधायक शैलेश पांडे महापौर रामशरण यादव कांग्रेस के प्रदेश उपाध्यक्ष अटल श्रीवास्तव व  नगर अध्यक्ष प्रमोद नायक आदि ने उनकी अगवानी की‌। छत्तीसगढ़ भवन में कुछ देर रुकने और पत्रकारों से बातचीत करने के बाद वेज्ञरायपुर के लिए रवाना हो गए। लखमा अमरकंटक गए हुए थे। अमरकंटक में पूजा अर्चना करने के बाद रात्रि विश्राम किया। और आज सुबह अमरकंटक से रायपुर जाते हुए कुछ देर के लिए छत्तीसगढ़ भवन में रुके लखमा ने यहां आबकारी विभाग के अधिकारियों से उन्होंने चर्चा भी की।

 

01-07-2020
सिंहदेव का ट्वीट अंतत: कांग्रेस में सत्ता-संघर्ष के मचे घमासान की ही प्रतिध्वनि है : धरमलाल कौशिक

रायपुर। नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने कहा है कि किसानों के धान समर्थन मूल्य की शेष अंतर राशि के अब अगली फसल के आने से पहले पूरे भुगतान की बात को लेकर प्रदेश सरकार में दूसरे क्रमांक की हैसियत रखने वाले मंत्री टीएस सिंहदेव द्वारा इस्तीफा दे देने की बात कहना प्रदेश सरकार में चल रहे सत्ता-संघर्ष की तो परिणति है। साथ ही यह मंत्री सिंहदेव की अपनी व्यथा की अभिव्यक्ति भी है। सिंहदेव खुद अपनी सरकार की रीति-नीति से दु:खी हैं। कौशिक ने कहा कि रोज मिलने वाले अतिथि शिक्षकों, पुलिस भर्ती के अभ्यर्थियों की परेशानियों से मंत्री सिंहदेव को महसूस हुई पीड़ा के बाद वे खुद ही ट्वीट करके अपना दु:ख व्यक्त कर त्यागपत्र देने की बात कह रहे हैं। मंत्री सिंहदेव का कथन प्रदेश सरकार की नाकामियों को इंगित कर रहा है कि प्रदेश सरकार ने जो वादे प्रदेश से किए हैं, उन वादों को वह पूरा नहीं कर पाई है।

कौशिक ने कहा कि सिंहदेव कांग्रेस चुनाव घोषणापत्र समिति के संयोजक थे और अब घोषणापत्र में किए गए वादों पर अपनी ही सरकार की उदासीनता को लेकर उन्हें लोगों को जवाब देते नहीं बन रहा है। किसानों के साथ-साथ कांग्रेस सरकार ने प्रदेश के हर वर्ग के लोगों के साथ खुला विश्वासघात किया है। कौशिक ने कहा कि शराबबंदी की जगह घर-घर शराब पहुँचाने वाली सरकार ने प्रदेश में विकास को ठप करके रख दिया है। महिलाओं की सुरक्षा के दावे तार-तार हो रहे हैं, उनकी अस्मिता कदम-कदम पर असुरक्षित तो है ही, उनके विकास के अवसर भी इस सरकार के शासन में सुरक्षित नहीं रहे हैं। बेरोजगारों को यह सरकार न तो रोजगार दे रही है और न ही वादे के मुताबिक बेरोजगारी भत्ता दे रही है, फलस्वरूप प्रदेश का शिक्षित युवा अब हताश हो चला है और आत्मघाती कदम उठाने विवश हो रहा है। कौशिक ने कहा कि इन सबके बावजूद मंत्री सिंहदेव का ट्वीट अंतत: कांग्रेस में सत्ता-संघर्ष के मचे घमासान की ही प्रतिध्वनि है। अब प्रदेश सरकार ने दो मंत्रियों को अपना अधिकृत प्रवक्ता घोषित करके बाकी सभी मंत्रियों को यह जताने की कोशिश की है कि प्रदेश सरकार में उनकी हैसियत अब सिर्फ एक मंत्री की ही रहेगी और उनकी बातों को क्या सरकार की बात के रूप में अधिकृत नहीं माना जाएगा।

 

01-07-2020
सिंहदेव के इस्तीफे की पेशकश कांग्रेस की नाकारा सरकार की चलाचली की बेला का अलार्म : डॉ. रमन सिंह

रायपुर। भाजपा राष्ट्रीय उपाध्यक्ष और प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने प्रदेश के वरिष्ठ मंत्री टीएस सिंहदेव द्वारा इस्तीफे की पेशकश को कांग्रेस की नाकारा सरकार की चलाचली की बेला का अलार्म बताया है। डॉ. सिंह ने कहा कि प्रदेश सरकार की दगाबाजी, वादाखिलाफी और सियासी नौटंकियों का तो एक-न-एक दिन यही हश्र होना था। भाजपा लगातार जिन मुद्दों पर प्रदेश सरकार की आलोचना कर रही है, टीएस सिंहदेव के इस्तीफे की पेशकश से उस पर मुहर लग रही है। रमन सिंह ने कहा कि किसानों के धान समर्थन मूल्य की शेष अंतर राशि के अब अगली फसल से पहले पूरे भुगतान की बात को लेकर प्रदेश सरकार में दूसरे क्रमांक की हैसियत रखने वाले मंत्री सिंहदेव की यह पेशकश प्रदेश सरकार के राजनीतिक चरित्र के ताब़ूत की पहली और आखिरी कील साबित होगी। प्रदेश सरकार ने न किसानों के साथ न्याय किया, न शराबबंदी का वादा निभाया और न ही प्रदेश के शिक्षित बेरोजगारों के लिए रोजगार के कोई अवसर बाकी रखे। बेरोजगार युवकों को प्रदेश की भूपेश सरकार ने इस कदर हताशा के गर्त में धकेल दिया है कि वे अब आत्मदाह तक करने जैसा कदम उठाने को मजबूर हो रहे हैं। यह प्रदेश सरकार के लिए चुल्लूभर पानी में शर्म से डूब जाने वाली स्थिति है।

किसानों के साथ कदम-कदम पर छलावा और धोखाधड़ी करने का आरोप लगाते हुए पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. सिंह ने कहा कि टीएस सिंहदेव ने किसानों के साथ हुए अन्याय के खिलाफ आवाज उठाकर प्रदेश सरकार को सबक सिखाने का जो संकल्प व्यक्त किया है, भाजपा उसका स्वागत करती है। शराबबंदी के बजाय घर-घर शराब पहुँचाने में जुटी सरकार ने प्रदेश की महिलाओं के साथ भी छलावा करने का काम किया। महिला स्व-सहायता समूहों के कर्ज माफ करने का वादा तक अब प्रदेश सरकार के एजेंडे में कहीं नजर नहीं आ रहा है। कोरी सियासी लफ्फाजियाँ करने में मशगूल सरकार प्रदेश की मूलभूत समस्याओं व जरूरतों की लगातार अनदेखी करती रही है। उन्होंने कहा कि कोरोना संकट को लेकर भी प्रदेश सरकार ने जरा भी संवेदनशीलता और गंभीरता का परिचय नहीं दिया और चिठ्ठीबाजी करने में मुख्यमंत्री लगे रहे और संघीय व्यवस्था की अवहेलना मुख्यमंत्री का स्थायी राजनीतिक चरित्र बनकर सामने आया जिसके चलते वे बात-बेबात केंद्र सरकार के खिलाफ बेजा प्रलाप करते रहे हैं। अपनी चरणवंदना कराने में जुटे कांग्रेस के केंद्रीय नेतृत्व ने भी प्रदेश के जमीनी सच को जानने की चेष्टा नहीं की और मुख्यमंत्री के झूठ के रायते का स्वाद ही लेता रहा। प्रदेश सरकार में उपजा यह असंतोष कांग्रेस नेतृत्व की इसी उदासीनता का परिणाम है। डॉ.सिंह ने कहा कि मंत्री सिंहदेव की यह पहल प्रदेश को इस नाकारा, नेतृत्वहीन सरकार से मुक्ति दिलाएगी।

30-06-2020
मोदी सरकार अब वन नेशन वन टैक्स को पेट्रोल-डीजल के दामों में भी लागू करें : कांग्रेस

रायपुर। वन नेशन वन राशन कार्ड की घोषणा दोहराने पर प्रदेश कांग्रेस संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने कहा है कि हाल ही में भूपेश सरकार की ओर से बनाया गया राशन कार्ड पूरे देश के लिए रोल मॉडल है। इसी राशन कार्ड के माध्यम से भूपेश बघेल की सरकार छत्तीसगढ़ में राईट टू हेल्थ, हर एक नागरिक के बेहतर स्वास्थ्य के लिए नीति लागू कर रही है। छत्तीसगढ़ में अभी-अभी नए राशन कार्ड बनाए गए हैं। छत्तीसगढ़ की राशनकार्ड की व्यवस्था देश में सबसे अच्छी व्यवस्था है। अब तो छत्तीसगढ़ सरकार हर वार्ड में राशन दुकान खोलने जा रही है। 49,000 नई राशन दुकाने खोलने का जनहितकारी फैसला छत्तीसगढ़ की भूपेश बघेल सरकार ने लिया है। त्रिवेदी ने कहा है कि ऐसी उम्मीद है कि वन नेशन वन राशन कार्ड पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी देश से वन नेशन वन टैक्स की तरह झूठ नहीं बोल रहे होंगे। मोदी सरकार वन नेशन वन राशन कार्ड के बजाए अपनी ताकत अपने ही वादे वन नेशन वन टैक्स की घोषणा को पूरा करने में लगाएं। कांग्रेस मांग करती है कि समय आ गया है कि मोदी सरकार अब वन नेशन वन टैक्स को पेट्रोल-डीजल के दामों में भी लागू करें।

30-06-2020
4 जुलाई तक जारी रहेगा धरना प्रदर्शन,मोहन मरकाम ने जिला और ब्लॉक कांग्रेस कमेटियों को दिए निर्देश  

रायपुर। कांग्रेस के सभी जिला मुख्यालयों में पेट्रोल-डीजल की मूल्य वृद्धि और महंगाई के खिलाफ धरना में एक-एक पदाधिकारी को प्रभारी नियुक्त कर राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन सौंपा जाएगा। प्रदेश के अनेक ब्लाकों में धरना प्रदर्शन 30 जून को शुरू हुए हैं, जो 4 जुलाई तक चलेंगे। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने इस संबंध में सभी जिला और ब्लॉक कांग्रेस कमेटियों को निर्देश दिए हैं। 4 जुलाई तक प्रदेश के सभी संगठन जिला के अंतर्गत समस्त 307 नगर, ब्लॉक मुख्यालयों में धरना प्रदर्शन करने कहा गया है। इसमें स्थानीय प्रदेश पदाधिकारियों, सांसद, पूर्व सांसद प्रत्याशी, विधायक, पूर्व विधायक, प्रदेश, जिला और ब्लाक कांग्रेस कमेटी के पदाधिकारियों, मोर्चा संगठनों, प्रकोष्ठों, विभागों के पदाधिकारियों, सोशल मीडिया, नगरीय निकाय, पंचायतों के निर्वाचित जनप्रतिनिधियों, वरिष्ठ  कांग्रेसजनों और सभी कार्यकर्ताओं की सहभागिता के निर्देश दिए गए हैं। प्रदेश कांग्रेस संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा कि धरना प्रदर्शन के माध्यम से केन्द्र की मोदी सरकार की जनविरोधी नीतियों को आम जनता तक पहुंचाया जाएगा। पेट्रोल-डीजल के मूल्यों मे हो रही अभूतपूर्व वृद्धि के खिलाफ सोशल मीडिया पर अभियान चलाकर केन्द्र सरकार के समक्ष विरोध दर्ज कराया जाएगा। इसमें प्रमुख रूप से प्रभावित ओला उबर, ड्राइवर, ट्रक और टैक्सी ड्राइवर सहित आम लोग से राय लेकर वीडियो बनाकर प्रसारित किया जाएगा।

29-06-2020
डीजल-पेट्रोल की बढ़ती कीमतों को लेकर धरना-प्रदर्शन कांग्रेस का एक और फ्लॉप शो : भाजपा

रायपुर। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता व पूर्व विधायक श्रीचंद सुंदरानी ने डीजल-पेट्रोल की बढ़ती कीमतों को लेकर कांग्रेस के धरना-प्रदर्शन को एक और फ्लॉप शो बताया है। सुंदरानी ने कहा कि आज डीजल-पेट्रोल की कीमतों को लेकर स्यापा मचा रहे कांग्रेस के नेता देश को गुमराह करने के लिए अपने झूठ का रायता चाहे जितना फैलाने की कोशिश कर लें, देश अब कांग्रेस के झाँसों में कतई नहीं आएगा। कांग्रेस डीजल-पेट्रोल में मूल्यवृद्धि पर तथ्यों से तो मुँह चुरा ही रही है, अपने संप्रग शासनकाल की महंगाई से लोगों का ध्यान भी भटका रही है। सुंदरानी ने कहा कि आज पेट्रोल भारत में 78.91 रुपए और डीजल 77.94 रुपए प्रति लीटर बिक रहा है जबकि कांग्रेसनीत संप्रग के शासनकाल में जनवरी 2013 में पेट्रोल 83 रुपए प्रति लीटर तक बिक रहा था। इसी प्रकार रसोई गैस की कीमतों को लेकर कांग्रेस को याद रखना चाहिए कि संप्रग शासनकाल (जनवरी 2014) में रसोई गैस की कीमत 1241 रुपए तक जा पहुँची थी,जो आज की तारीख में लगभग 660-676 रुपए है। डीजल-पेट्रोल की कीमतों को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर उंगली उठाने से पहले कांग्रेस नेता यह अच्छी तरह समझ लें कि डीजल-पेट्रोल की बढ़ी कीमतों से मिलने वाला राजस्व तो देश के खजाना में ही जा रहा है, अब प्रदेश सरकार यह स्पष्ट करे कि 30 फीसदी शराब के अवैध कारोबार से मिलने वाला राजस्व प्रदेश के खजाने में नहीं जाकर कहाँ जा रहा है?

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804