GLIBS
22-06-2020
मध्यप्रदेश: शिवराज सरकार का बड़ा फैसला, महाविद्यालय के छात्रों को मिलेगा जनरल प्रमोशन

भोपाल। कोरोना संकट काल में प्रदेश में शिवराज सरकार ने एक बड़ा फैसला किया है। मध्यप्रदेश में स्नातक पहले और दूसरे वर्ष के साथ स्नातकोत्तर द्वितीय सेमेस्टर के छात्रों को जनरल प्रमोशन दिया जाएगा। स्टूडेंट को पिछले साल या सेमेस्टर में प्राप्त अंकों के आधार पर होगा मूल्यांकन होगा। इसके साथ ही स्नातक अंतिम वर्ष एवं स्नातकोत्तर चतुर्थ सेमेस्टर के परीक्षार्थियों के पूर्व वर्षों/ सेमेस्टर्स में से सर्वाधिक अंक प्राप्त परीक्षा परिणाम को प्राप्तांक मानकर अंतिम वर्ष/सेमेस्टर के परीक्षा परिणाम घोषित किए जाएंगे। ऐसे परीक्षार्थी जो परीक्षा देकर अपने अंकों में सुधार चाहते हैं, उनके पास परीक्षा देने का विकल्प भी रहेगा वे आगामी घोषित तिथि पर ऑफलाइन परीक्षा दे सकेंगे।
कोरोना संकट के मद्देनजर अब तक प्रदेश के उच्च शिक्षा एवं तकनीकी शिक्षा महाविद्यालयीन की परीक्षा नहीं हो पाई थी, जिसके बाद सोमवार को सरकार ने बड़ा निर्णय लेते हुए स्नातक प्रथम एवं द्वितीय वर्ष तथा स्नातकोत्तर द्वितीय सेमेस्टर के परीक्षार्थियों को बिना परीक्षा दिए, उनके गत वर्ष/सेमेस्टर के अंकों/आंतरिक मूल्यांकन के आधार पर अगली कक्षा/सेमेस्टर में प्रवेश देने के फैसले पर अपनी मोहर लगा दी। प्रदेश में वर्तमान शैक्षणिक सत्र में स्नातक एवं स्नातकोत्तर स्तर पर कुल 17 लाख 77 हजार परीक्षार्थी हैं। इनमें स्नातक प्रथम वर्ष में 5 लाख 25 हजार 200, स्नातक द्वितीय वर्ष में 5 लाख 7 हजार 269, स्नातक तृतीय वर्ष में 4 लाख 30 हजार 298, स्नातकोत्तर द्वितीय सेमेस्टर में 01 लाख 72 हजार 634, स्नातकोत्तर चतुर्थ सेमेस्टर में 01 लाख 41 हजार 599 परीक्षार्थी हैं।

21-06-2020
मध्यप्रदेश में 5 विधायकों की कोरोना रिपोर्ट आई निगेटिव

भोपाल। शिवराज सरकार ने रविवार को उस वक्त राहत की सांस ली, जब भाजपा विधायक ओमप्रकाश सकलेचा के संपर्क में आए 5 विधायकों की कोरोना वायरस की प्राथमिक रिपोर्ट निगेटिव आई है। बता दें कि कोरोना वायरस संकट से जूझ रहे मध्यप्रदेश में भाजपा विधायक सकलेचा कोरोना पॉजिटिव मिलने के बाद हड़कंप मच गया था। मालवा क्षेत्र से आने भाजपा विधायक और उनकी पत्नी जांच में कोरोना संक्रमित मिली थीं। भाजपा विधायक सकलेचा की जांच रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आने के बाद उनके संपर्क में आने वाले पार्टी के कई विधायक 20 जून को अपनी जांच कराने के लिए राजधानी के जेपी हॉस्पिटल पहुंचे थे।21 जून को अस्पताल द्वारा जारी रिपोर्ट में बताया गया है कि सभी पांचों विधायकों की कोरोना जांच रिपोर्ट निगेटिव आई है। जिन विधायकों की रिपोर्ट निगेटिव आई है, उनमें देवीलाल धाकड़ (66), दिलीप मकवाना (48), अनिरुद्ध (56), दिलीप सिंह (34) और यशपाल सिंह सिसोदिया (61)। शुक्रवार को सकलेचा समेत सभी विधायकों ने राज्यसभा चुनाव के लिए हुए मतदान में हिस्सा लिया था।

 

23-10-2018
Kamal Nath : जहां खरीदी हुई, वहां कम दाम पर फसल बिक रही : कमलनाथ
23-09-2018
Indore Congress : हिसाब दो-जवाब दो कार्यक्रम में बोले सदाशिव- किसानों से छलावा कर रही शिवराज सरकार

इंदौर। केंद्र सरकार और राज्य सरकार किसानों पर अत्याचार कर रही है। किसानों को तीन काम पड़ते थे। पहला भूमि संबंधित काम, दूसरा थाना संबंधित काम, तीसरा कोर्ट संबंधित काम और इन तीनों ही कमों में किसान को भ्रष्टाचार का सामना करने पड़ता है। ये बाते इंदौर जिला कांग्रेस के अध्यक्ष सदाशिव यादव ने अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी व मध्य प्रदेश कांग्रेस कमेटी के निर्देश पर आयोजित “हिसाब दो जवाब दो” कार्यक्रम में कही।

उन्होंने कहा कि मंदसौर कांड पर बोलते हुए कहा कि मंदसौर में हमारे किसान भाइयों ने अपनी शहदत दी है। शिवराज सरकार ने उनपर गोलियां दागी है। हमें कसम है उन्ही किसानों की कि इस शिवराज सरकार को सत्ता से बाहर कर उन परिवारों का बदला लेना है। हम हमारे अधिकार की लड़ाई लड रहे थे लेकिन शिवराज ने उनकी छातियों पर गोलियां दागी। उन्होंने सावल उठाते हुए कहा कि शिवराज की पुलिस ने जो अन्नदाता पर गोली दागी क्या वह सही था? किसोनों को उनकी उपज का सही दाम नहीमं मिल रहा था। जब किसान अपना अधिकार मांगने सड़क पर आता है तो गोलियों की बौछार की जाती है।

सदाशिव यादव ने आगे कहा कि किसान को यदि  ऋण पुस्तिका बनवाना हो तो पटवारी तहसीलदार आदि अधिकारी कहते हैं कि 2 महीने में नंबर आएगा। लोक सेवा योजना के अंतर्गत इन्होंने भ्रष्टाचार का अड्डा कलेक्टर ऑफिस के अंदर जमाया है। अगर आप 5000 या 10000 रुपए देते हैं तो 5 दिन का  काम 5 घंटे में होकर ऋण पुस्तिका आपके घर आ जाती है। उन्होंने कहा कि आज हमारे देश में यह पहली बार हुआ होगा की अंतिम न्यायपालिका सुप्रीम कोर्ट कि होती है। बीजेपी की  दखलंदाजी पर सुप्रीम कोर्ट के चार जज को लोकतंत्र को बचाने के लिए प्रजातंत्र के सामने हाथ जोड़कर चौथे स्तम्भ के सहारे आना पड़े और कहना पड़े देश का लोकतंत्र खतरे में है।

पेट्रोल का भाव बढ़ता था तो महंगाई याद आती थी। महंगाई को पहले डायन कहते थे और आज विकास कहते है। हमारा पहला ऐसा प्रदेश है जहां पेट्रोल की मूल कीमत से ज्यादा राज्य व केंद्र सरकार टैक्स वसूल रही है। पहले कहते थे कि भ्रष्टाचार कांग्रेस ने किया लेकिन आज राहुल गांधी द्वारा 550 करोड़ के सौदे वाली राफेल को इस सरकार ने 1600 करोड़ में क्यों खरीदा?   

पूर्व विधायक तुलसी सिलावट ने भारतीय जनता पार्टी को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि यह झूठी और निकम्मी सरकार है जिसने बेरोजगारी कुपोषण और बलात्कारी आदि में हमारे प्रदेश को नंबर वन बना दिया है। आए दिन पेट्रोल-डीजल के बढ़ते दाम गरीब जनता पर बुरा प्रभाव डाल रही है। उन्होंने कहा कि यह सरकार किसानों, पिछड़ा वर्ग के लोगों आदि के साथ छलावा करके जनता की गाढ़ी कमाई को खा रही है। देश का किसान बहुत ही हताश  हो चुका है और आत्महत्या करने को मजबूर है। उन्होंने आगे कहा कि आने वाले चुनाव में हमें पूर्ण बहुमत हासिल कर मध्य प्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनाना है। इस दौरान कार्यक्रम में युवा कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष पवन जयसवाल, जिला युवा कांग्रेस शहर अध्यक्ष अमन बजाज, जिला युवा कांग्रेस कार्यवाहक अध्यक्ष दौलत पटेल, सुभाष चौधरी समेत अन्य कांग्रेसजन प्रमुख रूप से शामिल हुए।

11-09-2018
Kamal Nath : रेत माफिया को संरक्षण दे रहे अधिकारियों पर कार्रवाई करें शिवराज सरकार : कमलनाथ

भोपाल। प्रदेश में विधानसभा चुनाव के दिन नज़दीक आ रहे है, वैसे प्रदेश की शिवराज सरकार को अवैध उत्खनन, बेरोजगारी, घोटाले, किसान आत्महत्या और भ्रष्टाचार जैसे मुद्दों पर घेरने में जुटी हुई है। कांग्रेस द्वारा लगातार सरकार की कार्यप्रणाली पर सवाल उठाए जा रहे है। इस सिलसिले में कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने एक बार फिर बीजेपी सरकार को घेरते हुए बड़ा आरोप लगाया है।नाथ ने कहा है कि मप्र में वही ठेके होते है जिसमें 15 से 20 फीसदी कमीशन मिलता है।वही नाथ ने प्रदेश में लगातार हो रहे अवैध उत्खनन को लेकर भी सरकार पर हमला बोला है। प्रदेश में रेत माफियाओं के हौंसले इतने बुलंद हो गए है कि वे लगातार किसी ने किसी को अपना शिकार बना रहे है, बीते दिनों माफियाओं द्वारा सैकड़ों घटनाओंं को अंजाम दिया गया।

नाथ ने सरकार से मांग की है कि आरोपी ट्रक ड्रायवरों पर प्रकरण दर्ज किया जाए और संबंधित खनिज अधिकारियों पर भी कार्रवाई की जाए।साथ ही उन्होंने कहा कि इसके जिम्मेदार थाना प्रभारियों को तुरंत निलंबित किया जाए। अगर इसके बावजूद भी सरकार द्वारा इन बातों पर गौर नही किया गया तो कांग्रेस आंदोलन के लिए विवश होगी, जिसकी जिम्मेदारी सरकार की होगी।


पोहरी के पुल ढ़हने पर भी बोला हमला

वही नाथ ने तीन महिनों में ही आठ करोड़ के पोहरी पुल के पहली बारिश में ढ़ह जाने को लेकर सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि इस मामले में सबने शिकायत की थी लेकिन किसी ने नहीं सुना।बता दे कि  इसके निर्माण को लेकर पोहरी विधायक प्रहलाद भारती ने शिकायत भी की थी कि इस पुल का निर्माण घटिया स्तर का किया जा रहा है लेकिन अधिकारियों ने इस पर ध्यान नही दिया और पुल ढह गया।


एनसीआरबी की रिपोर्ट पर घेरा 

नाथ ने चुनाव से पहले एनसीआरबी की रिपोर्ट पेश ना करने को लेकर बीजेपी पर बडा आरोप लगाया । नाथ ने कहा कि बीजेपी सरकार रिपोर्ट दबा रही है क्योंकि इससे सच्चाई का पर्दाफाश हो जाएगा। मप्र अपराधियों की सेंचुरी बना है।इसके साथ ही नाथ ने शिवपुरी में अनुसूचित जाति के पुरूष की हत्या को लेकर कहा कि मप्र की क़ानून व्यवस्था ठप्प हो चुकी है।मप्र अंधेरे की तरफ बढ़ रहा है।एडमिनिस्ट्रेशन ठप्प हो गया है।


नाराज सवर्णों को मनाएगी कांग्रेस

देश समेत प्रदेश में एससी-एसटी का मुद्दा गरमाया हुआ है। प्रदेश में सवर्णों की राजनैतिक दलों के प्रति नाराजगी बढ़ती जा रही है। आए दिन राजनैतिक दलों को उनके विरोध का सामना करना पड़ रहा है, ऐसे में सवर्णों के आंदोलन को लेकर कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने कहा कि हम संविधान के साथ है, सबके साथ न्याय होना चाहिए। हम नहीं चाहते है कि कोई भी परेशान न हो। इसके लिए हम सवर्णों को मनाएंगे।

राम पथ गमन का निर्माण करेगी कांग्रेस

राम पथ गमन पर बीजेपी के आरोपों पर नाथ ने कहा कि क्या बीजेपी ने धर्म का ठेका लिया है। हमें बीजेपी से कोई प्रमाण पत्र नहीं चाहिए। बीजेपी धर्म का राजनीतिक मंच पर उपयोग करती है। हम राम गमन पथ का निर्माण करेंगे।

शिवराज को पत्र लिख कर की ये मांग

इसके साथ ही कमलनाथ ने मुख्यमंत्री शिवराज को अवैध उत्खनन के संबंध में अवगत कराते हुए एक पत्र लिखा है। नाथ ने लिखा है कि मध्यप्रदेश में निरंतर बेरोक-टोक रेत का अवैध उत्खनन जारी है।सरकार के राज में रेत माफ़ियाओ के हौसले बुलंद होते जा रहे है और निरंतर घटनाएं घट रही है। देवास, सीहोर, रायसेन, जबलपुर, मंडला, नरसिंहपुर, होशंगाबाद और हरदा में लगातार तेजी से अवैध उत्खनन हो रहा है। खनिज अधिकारी भी इस उत्खनन को रोकने में असमर्थ है और इसको बढ़ावा दे रहे है।महिनों पहले होशंगाबाद के पत्रकार प्रशांत दुबे की हत्या कर दी गई थी, लेकिन पुलिस ने आरोपियों पर कार्रवाई करने की बजाय बरी कर दिया ।इसके अलावा और भी घटनाएं है जिनके आरोपी अबतक फरार है या बरी हो गए है। उन्होंने शिवराज से मांग की है कि आरोपियों को जल्द से जल्द सजा दिलाई जाए और लापरवाह खनिज अधिकारी और पुलिसकर्मियों पर कडी कार्रवाई की जाए।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804