GLIBS
07-09-2020
Video : रमन सिंह ने कृषि विभाग की लापरवाही पर सरकार को घेरा,कहा-किसानों को नहीं मिला हक का पैसा

रायपुर। पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कृषि विभाग की लापरवाही पर भूपेश सरकार को घेरा है। उन्होंने भूपेश सरकार पर किसानों के लिए संवेदनहीन होने का आरोप लगाते हुए कहा है कि, कृषि विभाग की लापरवाही के कारण किसान अपने हक से वंचित रह गए। उन्होंने कहा है कि, किसान सम्मान निधि के लिए सरकार के आंकड़ों के अनुसार राज्य में 27 लाख रजिस्ट्रेशन हुए थे। इससे 540 करोड़ रुपए की राशि किसानों के खाते में जानी थी। आज दिनांक तक 27 लाख से घटकर दो लाख तक रजिस्ट्रेशन पहुंच गया है। यह सरकार के कृषि विभाग की घोर लापरवाही का नतीजा है। किसानों के खाते में 540 करोड़ रुपए के बजाए सिर्फ 40 करोड़ की राशि ही मिली। यदि विभाग की ओर से रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया होती तो ये स्थिति नहीं होती। डॉ. सिंह ने आग्रह किया है कि,तत्काल किसानों का रजिस्ट्रेशन कराया जाए ताकि आने वाले दिनों में किसानों को पूरी राशि मिल सके।

 

19-08-2020
पीएम केयर्स फंड को लेकर सर्वोच्च न्यायालय के फैसले से कांग्रेस की कुटिल नीयत बेनकाब हो गई : रमन सिंह

रायपुर। भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री डॉ.रमन सिंह ने पीएम केयर्स फंड को लेकर सर्वोच्च न्यायालय के फैसले को कांग्रेस की कुटिल नीयत बेनकाब करने वाला बताया है। रमन ने कहा कि पीएम केयर्स फंड को लेकर कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने जो दुर्भावना, द्वेष और अविश्वास फैलाने का काम किया,उसे सर्वोच्च न्यायालय के इस फैसले से करारा झटका मिला है। डॉ. सिंह ने कहा कि पहले राफेल पर झूठ फैलाने के नाम पर मुँह की खाने के बाद अब इस फैसले के बाद कांग्रेस नेता राहुल गांधी और उनकी मंडली को अपने तौर-तरीकों में बदलाव लाना होगा अन्यथा भविष्य में भी वे लोग यूँ ही शर्मिंदगी झेलते रहेंगे। डॉ.सिंह ने कहा कि कांग्रेस नेता राहुल गांधी अब पीएम केयर्स फंड को लेकर बार-बार भ्रम व झूठ फैला रहे हैं। सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद राहुल गांधी को अपने तथ्य और सत्य समझ को विकसित करने आवश्यकता है। हर मुद्दे पर विरोध के लिए विरोध की राजनीति करके राहुल गांधी और उनके सहयोगी कांग्रेस का जिस तरह बेड़ा गर्क कर रहे हैं, उसके मद्देनजर अब यह सवाल भी खड़ा हो रहा है कि राफेल विमान सौदे पर सुप्रीम कोर्ट में माफी मांगकर कांग्रेस को सरेआम शर्मिंदा करने वाले राहुल गांधी को सर्वोच्च न्यायालय के इस ताजा फैसले के बाद भी री-लॉन्च करने पर आमादा कांग्रेस नेतृत्व क्या कुछ सबक लेने की तैयारी में है? डॉ. सिंह ने कटाक्ष किया कि देश जानता है कि केवल मोदी-विरोध के इकलौते एजेंडे पर चल रहे राहुल गांधी की नियति अपने हर बेबुनियाद और द्वेषपूर्ण आरोपों के बाद अंत में माफी मांगना ही हो गई है।


डॉ.सिंह ने कहा कि पीएम केयर्स फंड से अब तक कोरोना संक्रमण से मुकाबले के लिए 31 सौ करोड़ रुपए की मदद मुहैया कराई गई है। 2 हजार करोड़ रुपए के वेटिलेटर खरीदे गए हैं, 1 हजार करोड़ रुपए प्रवासी मजदूरों के लिए आवंटित किए गए हैं। पीएम केयर्स फंड का हिसाब मांगने वालों को पहले अपनी और अपने गठबंधन की सरकारों के कामकाज और हिसाब पर नजर रखने की आवश्यकता है। रमन सिंह ने दावा किया कि पीएम केयर्स फंड का पूरा खर्च पारदर्शिता के साथ किया जा रहा है जबकि कांग्रेस व उसके गठबंधान शासित राज्यों में सरकारों के कामकाज और हिसाब-किताब का कोई पारदर्शी ब्योरा सामने नहीं आ रहा है। डॉ.सिंह ने कहा कि छत्तीसगढ़ में पीएम केयर्स फंड को लेकर सवाल उठाने और हिसाब मांगने वालों को जरा अपनी सरकार से मुख्यमंत्री सहायता कोष का हिसाब भी मांगने का साहस करना चाहिए। मुख्यमंत्री सहायता कोष में जमा राशि बताने वाले कांग्रेस के नेता यह भी तो बताएँ कि उसमें कितनी राशि कोरोना के खिलाफ जारी जंग में छत्तीसगढ़ सरकार ने खर्च की है? डॉ. सिंह ने कहा कि कांग्रेस नेता राहुल गांधी समेत उनकी पूरी मंडली, कांग्रेस और उसकी सहयोगी पार्टियाँ शुरू से ही झूठ-पर-झूठ फैलाकर कोरोना के खिलाफ लड़ाई में देश को कमजोर करने में लगी हैं।

 

18-08-2020
रमन सिंह छत्तीसगढ़ी भाषा संस्कृति से नफरत क्यों करते हैं? : सुशील आनंद शुक्ला

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की ओर से छत्तीसगढ़ी भाषा को संविधान की आठवीं अनुसूची में शामिल किए जाने के लिए प्रधानमंत्री को लिखे गए पत्र का रमन सिंह द्वारा विरोध किये जाने को कांग्रेस ने उनका छत्तीसगढ़ी विरोधी चरित्र बताया है। प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता सुशील आनंद शुक्ला ने कहा कि रमन सिंह छत्तीसगढ़ी भाषा और संस्कृति से इतनी नफरत क्यों करते हैं ? इसी छत्तीसगढ़ के वे पन्द्रह साल मुख्यमंत्री रहे हैं। छत्तीसगढ़ी भाषा को संविधान की आठवीं अनुसूची में शामिल करने के लिए उन्होंने कभी कोई सार्थक और ठोस पहल नहीं की। रमन चाहते तो अपने शासन के पन्द्रह सालों में केंद्र सरकार पर इसके लिए दबाव बना सकते थे लेकिन कुछ नही किया। यह रमन और भाजपा की छत्तीसगढ़ की भाषा और संस्कृति के प्रति भावना को जताता है।

कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा कि आज जब मुख्यमंत्री भूपेश बघेल छत्तीसगढ़ी भाषा को देश की अधिकृत भाषाओं के बीच प्रतिष्ठा दिलवाने प्रधानमंत्री को पत्र लिख रहे तो इसमें भी रमन सिंह को पीड़ा हो रही वे इस पत्र का विरोध कर रहे जबकि चाहिए तो यह था कि जिस छत्तीसगढ़ की जनता ने उन्हें तीन बार का मुख्यमंत्री बनाया उस छत्तीसगढ़ी भाषा को उसका सम्मान दिलाने वे भी मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के पत्र के समर्थन में प्रधानमंत्री को पत्र लिखते। यहाँ रमन सिंह की दलीय दुर्भावना छत्तीसगढ़ी भाषा और संस्कृति के ऊपर हावी हो गयी।

18-08-2020
नेताजी सुभाष चन्द्र बोस ने देश के युवाओं में आजादी की जगाई थी अलख : रमन सिंह

रायपुर। स्वतंत्रता संग्राम सेनानी नेताजी सुभाष चन्द्र बोस की पुण्यतिथि पर पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने उन्हें नमन किया है। उन्होंने ट्वीट कर लिखा कि, नेताजी सुभाष चन्द्र बोस जी ने स्वाधीनता संग्राम में 'तुम मुझे खून दो, मैं तुम्हें आजादी दूंगा' का नारा देकर देश के युवाओं में आजादी के लिए अलख जगाई। आजाद हिंद फौज का नेतृत्व कर अंग्रेजी हुकूमत के खिलाफ आंदोलन किया। ऐसे महान सेनानी की पुण्यतिथि पर उन्हें कोटि-कोटि नमन।

 

 

16-08-2020
अटल बिहारी बाजपेयी के विचार और आदर्श हमारा आज भी मार्ग प्रशस्त करते हैं : रमन सिंह

रायपुर। पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी बाजपेयी की पुण्यतिथि पर पूर्व मुख्यमंत्री डॉ.रमन सिंह ने उन्हें नमन किया है। रमन सिंह ने कहा कि आज अटल बिहारी बाजपेयी जी निसंदेह हमारे साथ नहीं है लेकिन उनके विचार व आदर्श हमारा आज भी मार्ग प्रशस्त कर रहे हैं। मुझे जैसे लाखों कार्यकर्ताओं का मार्गदर्शन उन्होंने किया। मुझे व्यक्तिगत रूप से उनका स्नेह मिला, वह मेरे पथप्रदर्शक रहे।  हृदय पटल पर उनकी स्मृतियां आज भी अटल हैं। पूर्व प्रधानमंत्री, भारत रत्न, श्रद्धेय अटल बिहारी बाजपेयी जी ने हम सब छत्तीसगढ़वासियों को अपना अलग राज्य व पहचान दी। वह राजनीतिक शुचिता, सादगी व सरलता की मिसाल थे। उनके पदचिन्हों पर चलकर ही मैंने राजनैतिक दायित्वों को समझा। ऐसे महान व्यक्तित्व की पुण्यतिथि पर शत-शत नमन।

15-08-2020
वीर शहीदों को नमन जिनके बलिदान से हमें आजादी मिली : रमन सिंह

रायपुर। पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने स्वतंत्रता दिवस की बधाई दी है। उन्होंने कहा कि समस्त देशवासियों को स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनाएँ। आज का यह दिन उन सभी वीर शहीदों को नमन करने का है, जिनके बलिदान से हमें आजादी प्राप्त हुई। सभी से आग्रह है कि सोशल डिस्टेंसिंग व दो गज की दूरी का पालन करते हुये स्वतंत्रता महोत्सव को मनाएं।

12-08-2020
माल्या की तरह पनामा मामले की फाइल भी हो सकती है गुम : मोहन मरकाम

रायपुर। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदेव साय और भाजपा विधायक दल के नेता धरमलाल कौशिक की ओर से रमन सिंह के बचाव में दिए गए बयान पर, प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने पलटवार किया है। मरकाम ने कहा है कि, रमन सिंह के 15 साल के शासनकाल में भ्रष्टाचार, कमीशनखोरी में भागीदार रहे भाजपा के नेता ही रमन सिंह को बचाने में लगे हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ना खाऊंगा ना खाने दूंगा कहा था। आज मोदी के ही शासनकाल में भ्रष्टाचार में शामिल लोगों की जांच की फाइल गायब हो जा रही है। इस बात से भी इंकार नहीं किया जा सकता कि  माल्या की फाइल की तरह ही कल कही पनामा मामले में फंसे रमन मेडिकल कवर्धा निवासी अभिषाक सिंह की जांच फाइल भी गायब ना हो जाए।

मरकाम ने कहा है कि विष्णुदेव साय बताएं चुनाव आयोग को दिए शपथ पत्र के अनुसार ही रमन सिंह की आय के अधिक अनुपात में संपत्ति कैसे बढ़ रही है? विष्णुदेव साय यह भी बताएं कि रमन सिंह ऐसा कौन सा व्यापार, ठेकेदारी या उद्योग चला रहे थे, जिससे उनकी संपत्ति में इतनी अनुपातहीन वृद्धि हुई है। प्रदेश भाजपा अध्यक्ष विष्णुदेव साय में जरा भी नैतिकता है तो रमन सिंह और उनके परिवार की संपत्ति कहां-कहां पर हैं और बेनामी संपत्ति कितनी और कहां है, इसकी जानकारी सार्वजनिक करें। मरकाम ने कहा है कि, भाजपा का चरित्र ही आर्थिक अपराधियों को संरक्षण देना है। भाजपा के बड़े नेताओं के संरक्षण में बैंकों को अरबों रुपए का चूना लगाने वाले विजय माल्या, नीरव मोदी, सुशील मोदी सहित कई नामी-गिरामी बैंक डिफाल्टर देश से बाहर निकल चुके हैं। भाजपा अपराधियों के लिए पनाहगाह है और भाजपा के नेता अपराधियों को देश से बाहर भेजने के लिए ट्रैवल एजेंट की भूमिका निभाते हैं।

11-08-2020
कौशिक ने पूछा : प्रमाणित साक्ष्य हैं तो सरकार रमन सिंह के विरुद्ध जाँच का साहस क्यों नहीं जुटा पा रही?

रायपुर। भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता व प्रदेश विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह को प्रदेश के एक मंत्री द्वारा घोटालों का महानायक कहे जाने पर कड़ी आपत्ति दर्ज कराते हुए कहा कि घोटालों का महानयक वाले तमगे पर तो कांग्रेस के खानदान का ही एकाधिकार सुरक्षित है और उसकी छत्रछाया में कांग्रेस के दीगर नेता भी देशभर में लूटखसोट का कलंकित इतिहास रच चुके हैं। कौशिक ने कहा कि प्रदेश कांग्रेस के नेता और मंत्री डॉ. सिंह पर निराधार आरोप मढ़ते समय यह न भूलें कि भ्रष्टाचार और आर्थिक गड़बड़ियों के मामले में कौन-कौन जमानत पर बाहर घूम रहे हैं? नेता प्रतिपक्ष कौशिक ने कहा कि यदि प्रदेश सरकार के पास प्रमाणित साक्ष्य हैं तो वह डॉ. सिंह के खिलाफ जाँच कराने का साहस क्यों नहीं जुटा पा रही है? वस्तुत: प्रदेश सरकार के मंत्रियों और कांग्रेस नेताओं को आसमान पर थूकने की लत लगी हुई है और निराधार आरोप लगाकर वे चरित्र हनन की राजनीति करने के ही आदी रहे हैं। कौशिक ने सवाल किया कि डॉ. सिंह के खिलाफ बेतुके आरोप लगाने से पहले कांग्रेस नेताओं की समझ को काठ क्यों मार जाता है, समझ से परे है। आय से अधिक संपत्ति के जिस मामले को लेकर कांग्रेस के नेता और मंत्री व्यक्तिगत विद्वेष का प्रदर्शन करते अर्श पर उड़ रहे हैं, उसमें कोई दम नहीं है और सच्चाई सामने आने पर वे औंधे मुँह फर्श पर गिर पड़ेंगे। आरोप लगाकर पीठ दिखाकर भाग जाने की  

Advertise, Call Now - +91 76111 07804