GLIBS
03-11-2019
उगते सूर्य को अर्घ्य देने के साथ छठ महापर्व का समापन, व्रतियों ने ग्रहण किया पारण

 

पटना। लोक आस्था के महापर्व छठ का चार दिवसीय अनुष्ठान रविवार सुबह सूरज को अर्घ्य देने के बाद संपन्न हो गया। आस्था और विश्वास का यह पर्व बिहार, झारखंड, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, झारखंड, दिल्ली समेत मुंबई में भी बड़े धूम-धाम से मनाया गया। लोगों ने अपनों के लिए छठ माता और सूरज देवता से प्रार्थना की। क्या आम क्या खास सभी में इस व्रत को लेकर काफी उल्लास देखा गया। चाहे वो नेता हो या अभिनेता, राजा हो या रंक, छठ मैया के आंगन में सभी एक जैसे नजर आये। इस मौके पर नदियों और तालाबों के तटों पर बड़ी संख्या में श्रद्धालु उमड़े। भजनों और गीत-संगीत से पूरा वातावरण गुंजायमान रहा। पर्व के चौथे और अंतिम दिन यानी रविवार को उदीयमान सूर्य के अर्घ्य देने के बाद ही श्रद्दालुओं का व्रत समाप्त हो गया और इसके बाद व्रतियों ने अन्न-जल ग्रहण कर 'पारण' कर लिया।

02-11-2019
छठ महापर्व : डूबते सूर्य को आज अर्घ्य अर्पित करेंगीं माताएं

मुंगेली। जिले में चार दिवसीय छठ पूजा के तीसरे दिन शनिवार शाम व्रत रखने वाली महिलाएं डूबते सूर्य को अर्घ्य देगी। इसके लिए नगर में इस वर्ष विशेष रूप से छठ घाट बनाया गया है। शहर में निवासरत बिहारी समुदाय विगत कई वर्षो से छठ पूजा मना रहे हैं। इस वर्ष पुल पारा के पास छठ घाट में नगर पालिका द्वारा विशेष साफ-सफाई कर विशेष तैयारी की गई है। छठ पर्व का धार्मिक दृष्टि से विशेष महत्व है। इसमें माताएं संतान की खुशहाली के लिए छत्तीस घंटो तक निर्जला व्रत रखती है। महिलायें पानी में खड़े होकर डूबते हुये सूर्य को अर्घ्य देतीं है। चार दिनों तक चलने वाले इस पर्व के अंतिम दिन सूर्य की उपासना करते हुए उगते सूर्य को अर्घ्य देकर व्रत खोलती है। शहर स्थित घाट में आज शनिवार को डूबते सूर्य को अर्घ्य देने की सारी तैयारी पूरी कर ली गई है।

03-06-2019
सुहागिनों ने निर्जला व्रत रख पति की दीर्घायु होने कामना की

फिंगेश्वर। धार्मिक पारम्परिक पर्व वट सावित्री को लेकर महिलाओं में गजब का उत्साह देखा गया। नगर की महिलाओं ने आज सुबह से सज-धजकर सोलह शृंगार कर पति की सुख-समृद्धि व दीर्घायु होने की कामना कर निर्जला व्रत रखा व वट वृक्ष के नीचे पूजा-अर्चना कर सती सावित्री व सत्यवान का कथा श्रवण किया। इस अवसर पर प्रमुख रूप से किरण सोनी, शशि सोनी, चंद्रकांता सिन्हा,  अनिता शर्मा,  ललिता सिन्हा, लोकेश्वरी चक्रधारी, फुलेसरी चक्रधारी सहित सुहागिन महिलाएं उपस्थित रहीं।

10-04-2019
व्रत में बनाएं स्पेशल सेब का पराठा

रायपुर। व्रत के दौरान हर रोज एक ही तरीके का पराठा खाते-खाते हर कोई बोर हो जाता है। ऐसे में कुछ नए तरीके का पराठा खाने से टेस्ट भी चेंज होता है और अच्छा भी लगता है। इसे बनाने में भी बहुत ज्यादा समय नहीं लगता। तो आइए आज हम आपको बताते हैं सेब का पराठा बनाने की विधि।

सामग्री :-

गेहूं का आटा - 2 कप
सेब - 1
चीनी (स्वादनुसार) - 3 टेबल स्पून
दालचीनी पाउडर - एक टीस्पून
नमक - स्वादानुसार
पुदीने के पत्ते
ब्रेड या बिस्कुट पाउडर - 4 टीस्पून
तेल - जरूरत अनुसार 

विधि :-

- सबसे पहले गेहूं के आटे में थोड़ा सा तेल डालकर थोड़ा-थोड़ा मिलाएं और अच्छे से गूंथ लें।
- फिर सेब को कद्दूकस करें और सेब में दालचीनी पाउडर, पुदीने के पत्ते, चीनी, ब्रेड या बिस्कुट पाउडर डालकर मिला लें।
- जब तक चीनी अच्छे से गल ना जाएं तब तक इस मिश्रण को थोड़ी देर साइड में रख दें।
- तवे को गर्म करें और थोड़ा आटा लेकर उसकी लोई बना लें। इस लोई को दबार बड़ा कर लें।
- उंगलियों की मदद से इसे गहरा करें और इस गहरे हुए हिस्से में सेब के मिश्रण को 1 या 2 स्पून रखकर आटे को ऊपर से बंद कर लें। अब हाथों से हल्का दबाकर सूखा आटा थोड़ा डाल कर बेलन से गोल पराठा बेल लीजिए।
- बेले हुए पराठे को तवे पर डालें और दोनों तरफ तेल लगाकर अच्छे से सेक लें। इसी तरह बाकी पराठे भी तैयार कर लें।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804