GLIBS
07-06-2021
जेल में बंद डेरा प्रमुख राम रहीम कोरोना संक्रमित

नई दिल्ली/रायपुर। बलात्कार के आरोप में जेल में बंद डेरा प्रमुख राम रहीम कोरोना संक्रमित हो गए हैं। राम रहीम को गुरु राम के मेदांता अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जहां उसकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई है।

13-02-2021
चारा घोटाला मामले में जेल में बंद लालूप्रसाद यादव की याचिक 19 फरवरी तक टली

 

रायपुर/रांची। बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव ने चारा घोटाला मामले में कितने दिन जेल काटे है यह अभी स्पष्ट नहीं है। हालांकि उनके वकील का कहना है कि लालू प्रसाद यादव अब तक 28 महीने और 29 दिन जेल में बिता चुके हैं। लेकिन सीबीआई ने दावा किया है कि 27 महीने और छह दिन जेल में बिताए हैं। इस बहस के बीच झारखंड हाईकोर्ट ने चारा घोटाले में जेल में बंद लालू प्रसाद की याचिक 19 फरवरी तक टाल दी है। लालू प्रसाद की ओर से अदालत में पेश हुए वरिष्ठ वकील कपिल सिब्बल ने राष्ट्रीय जनता दल प्रमुख द्वारा जेल में बिताए गए कार्यकाल का रिकॉर्ड पेश किया। कपिल सिब्बल ने कहा कि लालू प्रसाद अब तक 28 महीने और 29 दिन जेल में बिता चुके हैं। दूसरी ओर केंद्रीय जांच ब्यूरो ने दावा किया कि उन्होंने केवल 27 महीने और छह दिन जेल में बिताए हैं।

 

18-07-2019
आईसीजे का फैसला जाधव के परिवार के लिए उम्मीदों भरा है : राहुल

नई दिल्ली। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने पाकिस्तान की जेल में बंद भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव की फाँसी की सजा पर रोक लगाने के अंतरराष्ट्रीय न्यायालय (आईसीजे) के फैसले का स्वागत करते हुए कहा है कि यह जाधव के परिवार के लिए राहत और उम्मीदों से भरा फैसला है। राहुल गांधी ने ट्वीट कर कहा, मैं अंतर्राष्ट्रीय अदालत के फैसला का स्वागत करता हूं। मेरी संवेदना पाकिस्तान की जेल में बंद जाधव के साथ हैं और उनके परिवार के लिए यह फैसला राहत, खुशी और उम्मीदों से भरा है। इस फैसले से उन्हें उम्मीद है कि वह एक दिन रिहा होकर अपने घर भारत आएंगे। अंतरराष्ट्रीय न्यायालय ने पाकिस्तान की जेल में कैद भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव की फांसी की सजा पर बुधवार को रोक लगाते हुए पाकिस्तान को इस फैसले पर पुनर्विचार करने और इसकी प्रभावी समीक्षा करने का निर्देश दिया है।

03-07-2019
जरदारी भ्रष्टाचार के एक अन्य मामले में गिरफ्तार

इस्लामाबाद। पाकिस्तान के भ्रष्टाचार निरोधक निकाय ने जेल में बंद पूर्व राष्ट्रपति आसिफ अली जरदारी को भ्रष्टाचार के एक अन्य मामले में गिरफ्तार किया है। करोड़ों डॉलर की मनी लॉन्ड्रिंग मामले में श्री जरदारी अपनी बहन फरयाल तालपुर के साथ दो जुलाई तक नेशनल जवाबदेही ब्यूरो (नैब) की हिरासत में थे। नैब के मुताबिक दोनों ने नकली बैंक खातों के माध्यम से 15 करोड़ रुपये का लेन-देन किया। समाचारपत्र डॉन की रिपोर्ट के मुताबिक नैब जांच कर्ताओं का मानना था कि यदि मंगलवार को समाप्त होने वाले श्री जरदारी के शारीरिक रिमांड को अदालत ने आगे नहीं बढ़ाया तो उन्हें एक और विकल्प की आवश्यकता होगी और उन्हें लंबे समय तक नैब हिरासत में रखने के लिए पार्क लेन मामले में गिरफ्तारी वारंट का उपयोग कर सकते हैं। 

विपक्षी पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी (पीपीपी) के सह-अध्यक्ष और देश की पहली महिला प्रधानमंत्री बेनजीर भुट्टो के पति जरदारी (63) इस बार पार्क लेन मामले में गिरफ्तार किए गए हैं जो लंदन में कथित संपत्तियों से संबंधित है। वर्ष 2007 में भुट्टो की हत्या के बाद जरदारी पीपीपी के सह-अध्यक्ष बने। उनकी गिरफ्तारी तब हुई जब उन्होंने इस्लामाबाद उच्च न्यायालय में दायर अपनी अंतरिम जमानत की अर्जी वापस ले ली। श्री जरदारी ने कहा कि उन्होंने याचिका इसलिए वापस ले ली क्योंकि अगर उन्हें जमानत दी गई तो नैब अधिक फर्जी मामलों के साथ आएगा। पिछले हफ्ते, गिरफ्तार होने के बाद पहली बार वह संसद में उपस्थित हुए और अपनी गिरफ्तारी को समाप्त करने की अपील करते हुए कहा कि इससे कोई फर्क नहीं पड़ेगा, बल्कि लोगों में डर पैदा होगा। नैब को पार्क लेन मामले में जरदारी की रिमांड मिलने की उम्मीद है। श्री जरदारी और उनकी बहन फरयाल पर पहले से ही कई लाख डॉलर का पैसा ठिकाना लगाने और उसे विदेश भेजने के लिए फर्जी खातों का इस्तेमाल करने के आरोप लगे हैं। दोनों को पिछले महीने गिरफ्तार किया गया था और दोनों ने आरोपों से इनकार किया है। उनके राजनीतिक करियर पर भ्रष्टाचार के आरोप लगे हैं, जिसके कारण उन्हें कई साल हिरासत में बिताने पड़े, हालांकि उन्हें कभी दोषी नहीं ठहराया गया।

23-06-2019
जेल में बंद चार कैदी हुए फरार, पुलिस विभाग में मचा हडकंप

नीमच। जिला जेल से रविवार सुबह चार कैदियों के फरार होने बाद पुलिस प्रशासन में हडकंप मचा हुआ है। जेल में बद कैदियों के इस तरह फरार होने से पुलिस पर सवाल उठने शुरू हो गए हैं। कैदियों के इस तरह से फरार होने से प्रशासन सकते में है और पुलिस ने अपना तलाशी अभियान शुरू कर दिया है। फिलहाल यह पता नहीं चल सका है कि आखिर कैदी कैसी जेल से भागने में कामयाब रहे।
सभी चारों कैदी रविवार सुबह 4 से 4.30 बजे के बीच जेल से फरार हुए हैं। इनमें से एक हत्या, एक बलात्कार और दो नशीले पदार्थों के कारोबार के आरोप में जेल में बंद थे। फिलहाल पुलिस ने सूचना मिलते ही अलर्ट जारी किया है। जेल से भागने वाले चारों सभी आरोपियों की उम्र 30 वर्ष से कम और सभी आरोपी को 10 वर्ष का कारावास वही आरोप एनडीपीएस एक्ट 376 जैसे अपराध में सजा काट रहे थे। फरार कैदियों में नारसिंह बंजारा, उम्र 20 वर्ष, निवासी ग्राम गणेशपुरा, थाना भिंडर, जिला-उदयपुर, एनडीपीएस में 10 साल की सजा। दुबेलाल धुर्वे, उम्र 19 वर्ष, निवासी ग्राम गोगरी, थाना नौगांव,जिला-मंडला, 376 में 10 वर्ष की सजा।
पंकज मोंगिया, उम्र 21 वर्ष, निवासी ग्राम नलवाई, थाना बड़ी सादड़ी, जिला चित्तौड़, एनडीपीएस। लेखराम बावरी, उम्र 29 वर्ष, निवासी ग्राम चंदवासा, थाना मल्हारगढ़, जिला मंदसौर।

 

05-05-2019
जेल में बंद कैदी की इलाज के दौरान मौत

सूरजपुर। सीने में दर्द के कारण जिला उपजेल में बंद कैदी की मौत का मामला का सामने आया है। मिली जानकारी के अनुसार उपजेल सूरजपुर में बलात्कार के आरोप में शंकरपुर निवासी मटुकधारी गोड़ बंद था। देर रात उसके सीने में दर्द होने पर जिला चिकित्सालय में उपचार के लिए भेजा गया था। यहां उपचार के दौरान उसकी मौत हो गई। चिकित्सकों ने दिल का दौरा पड़ने की संभावना जताई है। 

07-04-2019
पाकिस्तान की जेल में बंद 100 भारतीय मछुआरे रिहा

कराची। पाकिस्तान ने उन 100 भारतीय कैदियों को रिहा कर दिया है जो समुद्र में मछली मारते हुए पाकिस्तानी जलसीमा में पहुंच गए थे, वहां उन्हें पाकिस्तानी सुरक्षा बलों ने गिरफ्तार कर लिया था। पाकिस्तान ने कहा है कि  उसने यह कदम दोनों देशों के बीच सद्भाव बढ़ाने के लिए उठाया है। इससे पहले पाकिस्तान ने इस महीने चार चरणों में भारत के 360 कैदियों को रिहा करने की घोषणा की थी। रिहाई के बाद कड़ी सुरक्षा के बीच इन भारतीय मछुआरों का जत्था कराची कंटोनमेंट रेलवे स्टेशन पहुंचा, जहां से अल्लामा इकबाल एक्सप्रेस से इन रिहा मछुआरों को लाहौर लाया गया। वाघा सीमा पर इन मछुआरों को भारतीय अधिकारियों को हवाले किया गया। पाकिस्तान के सामाजिक संगठन ईधी फाउंडेशन ने रिहा हुए मछुआरों को यात्रा खर्च और उपहार इत्यादि भी दिए हैं। पाकिस्तान विदेश विभाग ने शुक्रवार को 360 भारतीय कैदियों को रिहा करने की घोषणा की थी। अपेक्षा की गई थी कि भारत भी जवाब में ऐसे ही सद्भावनापूर्ण कदम उठाएगा।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804