GLIBS
24-05-2020
अस्पताल में सीलिंग से सीमेंट का मलबा गिरा, दुर्घटना टली

बेमेतरा। क्षेत्र के मातृ-शिशु अस्पताल (एमसीएच) में रविवार को एक बड़ी दुर्घटना टल गई। हास्पिटल में सीलिंग से सीमेंट का पपड़ीनुमा मलबा गिर गया। दरअसल 108 रूम के सामने व रसोई के समीप सीलिंग से पपड़ीनुमा सीमेंट का एक बड़ा टुकड़ा भरभरा कर नीचे गिर गया। गौरतलब है कि जहाँ मलबा गिरा है ठीक उसके सामने एनआरसी है, जहाँ कुपोषित बच्चे व उनके परिजन रहते हैं। कोरोना महामारी के चलते अस्पताल से सभी कुपोषित बच्चों व उनके परिजनों को लॉक डाउन के घोषणा के बाद से ही छुट्टी दे दी गई है नहीं तो बड़ी घटना घट सकती थी।

16-03-2020
एक बार फिर अपने ट्वीट के कारण सोशल मीडिया पर ट्रोल हुई स्वरा भास्कर

 

मुंबई। बॉलीवुड एक्ट्रेस स्वरा भास्कर की एक्टिंग का हर कोई दीवाना है। एक बार फिर से स्वरा अपने ट्वीट की वजह से ट्रोल हो रही है। स्वरा काफी समय से केंद्र सरकार के सीएए और एनआरसी के फैसले का विरोध कर रही है। वहीं कई राजनेता भी सरकार के इस फैसले के खिलाफ बोलते रहते हैं। हाल ही में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सीएए और एनआरसी को लेकर अपने ट्विटर अकाउंट एक वीडियो साझा किया। उनका ये वीडियो दिल्ली विधानसभा से जुड़ा है, जिसकी स्वरा भास्कर ने तारीफ की और ट्रोल हो गई। केजरीवाल ने अपने भाषण में कहा था कि अगर देश के राष्ट्रपति और गृहमंत्री ने कह दिया है कि एनआरसी आएगा तो जाहिर सी बात है, आएगा ही ना।' उन्होंने आगे कहा कि, भगवान की दया से अभी तक कोरोना वायरस हमारे यहां इतना फैला नहीं है, लेकिन इसको लेकर हमारे देश में भी काफी चिंता है। लोगों के मन में कई सवाल है, सभी पार्टियो और नेताओं को इस पर ध्यान देना चाहिए। इस समय हमारे देश में बेरोजगारी बड़े स्तर पर बढ़ी हुई है, लेकिन पूरा देश 'सीएए', 'एनआरसी', 'एनपीआर' के पीछे पड़ा हुआ है। इससे देश में बेरोजगारी की समस्या का समाधान नहीं होगा हमें नागरिकता साबित करनी पड़ेगी क्यों इससे किसका फायदा होगा।

इसे लेकर स्वरा ने केजरीवाल के ट्वीट को रीट्वीट करते हुए उनकी तारीफ की। उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा, 'मास्टर स्ट्रोक बहस अरविंद केजरीवाल सर ने 'सीएए', 'एनआरसी', 'एनपीआर' को प्वाइंटआउट किया और ये भी बताया कि कैसे तीनों एक-दूसरे से जुड़े हुए हैं। पूरा प्रोजेक्ट न सिर्फ मुस्लिम विरोधी है बल्कि इंसान विरोधी भी है।' स्वरा के इस ट्वीट पर तमाम सोशल मीडिया यूजर्स अपनी प्रतिक्रिया दे रही है।  

03-03-2020
देशभर में एक अप्रैल से शुरू होगा जनगणना का पहला चरण, अब की जाएगी हाउसलिस्टिंग

नई दिल्ली। सीएए, एनआरसी और एनपीआर को लेकर जारी विरोध के बीच एक अप्रैल से जनगणना का पहला चरण शुरू हो रहा है। इस बार जनगणना में हाउसलिस्टिंग भी की जाएगी। यानी घर के सदस्यों की संख्या के साथ देशभर में मौजूद घरों के विवरण को भी दर्ज किया जाएगा। इसे लेकर रजिस्ट्रार जनरल के कार्यालय ने अधिसूचना जारी की है। अधिसूचना के अनुसार, 'जनगणना अधिनियम, 1990 के नियम 6 ए के साथ पढ़ी गई जनगणना अधिनियम, 1948 (1948 का 37) की धारा 3ए और धारा 17ए द्वारा प्रदान की गई शक्तियों के अभ्यास में, केंद्र सरकार ने घोषणा करती है कि जनगणना 2021 में हाउसलिस्टिंग भी की जाएगी। देशभर में एक अप्रैल 2020 से 30 सितंबर 2020 के बीच इस प्रक्रिया को किया जाएगा।'

 

01-03-2020
एनआरसी-सीएए के खिलाफ सरकार से विधानसभा में प्रस्ताव पारित करने की मांग

रायपुर। छत्तीसगढ बचाओ आंदोलन ने सीएए, एनआरसी और एनपीआर को मोदी सरकार द्वारा लोकतंत्र और संविधान पर हमला बताया है। उन्होंने आरोप लगाया है कि आरएसएस संचालित सरकार अपनी विभाजनकारी नीतियों को थोप कर पूरे देश और आम जनता को साम्प्रदयिक दंगो में झोंकना चाहती हैं। सीबीए ने दिल्ली में हुए दंगों को संघ और भाजपा द्वारा प्रायोजित बताते हुए इसकी कड़ी निंदा की है। छत्तीसगढ़ बचाओ आंदोलन ने सीएए, एनआरसी और एनपीआर के खिलाफ प्रदेश भर में चल रहे आंदोलनों को मजबूत करने का फैसला किया है। इसके साथ ही उसने छत्तीसगढ़ विधानसभा में इसके विरोध में प्रस्ताव पारित करने की मांग की है। इस संबंध में सीबीए का एक प्रतिनिधिमंडल शीघ्र ही प्रदेश के मुख्यमंत्री से भी मुलाकात करेगा।

छत्तीसगढ़ बचाओ आंदोलन की इस बैठक में वरिष्ठ आदिवासी नेता अरविंद नेताम, पूर्व विधायक व आदिवासी महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष मनीष कुंजाम, कामरेड सी आर बक्शी, माकपा राज्य सचिव संजय पराते, समाजवादी नेता आंनद मिश्रा, जिला किसान संघ के सुदेश टेकाम, छत्तीसगढ़ मुक्ति मोर्चा (मजदूर-किसान समिति) के रामाकांत बंजारे, छत्तीसगढ़ किसान सभा के नंदकुमार कश्यप, अधिवक्ता शालिनी गेरा, भारत जन आंदोलन के विजय भाई और जनसाय पोया सहित विभिन्न जनसंगठनों के नेता मौजूद थे। 

01-03-2020
लॉ यूनीवर्सिटी में हुआ युवा संसद का आयोजन, नितिन भंसाली ने किया छात्रों से संवाद

रायपुर। हिदायतुल्ला राष्ट्रीय विधि विश्वविद्यालय "एचएनएलयू" में आयोजित 2 दिवसीय युवा संसद में कांग्रेस नेता नितिन भंसाली शामिल हुए। उन्होंने युवाओं से देश के महत्वपूर्ण विषयों पर सीधा संवाद किया। भंसाली ने कहा की देश मे अभी सीएए या एनआरसी पर नही बल्कि आर्थिक संकट, महिला सुरक्षा, महंगाई एवं बेरोजगारी जैसे मूलभूत मुद्दों पर बातचीत एवं कार्य करने की ज़रूरत हैं। एचएनएलयू के मंच से भंसाली ने देश के राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री से मांग रखी की लोवर कोर्ट से सुप्रीम कोर्ट तक पर्याप्त संख्या में न्यायधीशों की नियुक्ति की जाए।

इसके साथ ही लोवर कोर्ट से सुप्रीम कोर्ट तक सारे आपराधिक मामलों की सुनवाई ओर उसके निर्णय की समय सीमा निर्धारित किये जाने की भी मांग की।
नितिन भंसाली ने छात्रों से कहा कि मुझे खुशी हो रही है की आज का युवा समय व्यर्थ करने की जगह देश के महत्वपूर्ण मुद्दों पर चर्चा कर रहा है। भंसाली ने युवाओं को देश का भविष्य बताते हुए कहाँ की देश की व्यवस्था को बेहतर करने के लिए आप सभी को आगे आना होगा और बेहतर कल के लिए काम करना होगा।


 

01-03-2020
शाहीन बाग़ में धारा 144 लागू, प्रदर्शनकारी आज निकालेंगे शांति मार्च

नई दिल्‍ली। नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) और एनआरसी के विरोध में देश की राजधानी दिल्‍ली के शाहीन बाग इलाके में दो महीने से भी ज्‍यादा वक्‍त से लोग धरना-प्रदर्शन कर रहे हैं। इस बीच हिन्‍दू सेना ने शाहीन बाग में जवाबी विरोध-प्रदर्शन का ऐलान किया था। हालांकि हिन्‍दू सेना ने 29 फरवरी को इस घोषणा को वापस ले लिया था। इसके बावजूद दिल्‍ली पुलिस ने एहतियातन इलाके में दिनभर के लिए धारा 144 लागू कर दी है, ताकि एक जगह ज्‍यादा लोग इकट्ठा न हो सकें। बता दें कि उत्‍तर-पूर्वी दिल्‍ली में हिंसा के खिलाफ शाहीन बाग के प्रदर्शनकारियों ने 1 मार्च को ही शांति मार्च निकालने की घोषणा की है। शाहीन बाग मामले में दिल्ली पुलिस के ज्वाइंट कमिश्नर डीसी श्रीवास्तव ने कहा कि एहतियात के तौर पर बड़ी संख्या में पुलिसबल की तैनाती की गई है। पुलिस का मकसद है कि शांति और कानून-व्यवस्था बनी रहे। किसी भी तरह की अप्रत्याशित घटना के लिए पुलिस ने ये तैयारियां

29-02-2020
स्कूली बच्चों ने निकाली रैली, शिक्षा अधिकारी और प्राचार्य को कारण बताओ नोटिस...

राजनांदगांव। जिले के अम्बागढ़ चौकी में 28 फरवरी को स्कूली बच्चों को बुलाकर सीएए और एनआरसी के समर्थन में रैली निकाली गई। एक ओर राज्य सरकार इसका विरोध कर रही है। वहीं दूसरी ओर शासकीय स्कूल के बच्चों ने रैली निकाली। रैली की अनुमति किसने दी यह जांच का विषय बना हुआ है। इस संबंध में जिला शिक्षा अधिकारी से बात की गई तो उन्होंने कहा कि हमे सूचना मिली है। विकास खंड शिक्षा अधिकारी और प्राचार्य को कारण बताओ नोटिस जारी किया है। जवाब आने पर नियमानुसार अग्रिम कार्यवाही के लिए शासन को भेजा जाएगा।


 

29-02-2020
Breaking : सुधांशु त्रिवेदी आज रायपुर में, विश्व हिंदू परिषद के कार्यक्रम में शामिल होंगे

रायपुर। राज्यसभा सांसद और प्रख्यात वक्ता सुंधाशु त्रिवेदी शनिवार शाम विश्व हिंदू परिषद के कार्यक्रम में शामिल होंगे। वे शनिवार शाम साढ़े 4 बजे गुजराती समाज सभागृह, गुजराती स्कूल देवेन्द्र नगर में होने वाली संगोष्ठी में अपनी बात रखेंगे। संगोष्ठी का विषय सांस्कृतिक राष्ट्रवाद एवं बदलता हुआ सामाजिक, राजनैतिक परिदृश्य है। सुधांशु त्रिवेदी के इस दौरे पर देश और प्रदेश के हालात को देखते हुए सभी की निगाहें टिकी हुई है। चाहे देश में इस वक्त सीएए, एनआरसी या एनपीआर का मुद्दा हो या प्रदेश में आईटी का छापा, इस मुद्दों पर भी वे अपनी बात रख सकते हैं या उनसे चर्चा हो सकती है। भाजपा नेता सुंधाशु त्रिवेदी एक अच्छे राजनीतिक विश्लेषक भी हैं, वे तमाम मुद्दों पर बेबाकी से अपनी बात रख सकते हैं।

25-02-2020
दिल्ली में हिंसा रोकने अमित शाह हुए असफल,घटना के पीछे भाजपा नेताओं के बिगड़ैल बोल: कांग्रेस

रायपुर। दिल्ली में हुए हिंसात्मक विरोध प्रदर्शन के लिए कांग्रेस ने केंद्र की मोदी सरकार को जिम्मेदार ठहराया है। प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा कि सीएए,एनआरसी के खिलाफ हो रहे विरोध प्रदर्शन को लेकर भाजपा के नेता लगातार सार्वजनिक मंचों के माध्यम से गोलीबारी को जायज ठहराने में लगे रहे। वे गोली मारो के नारे लगवाते रहे इसका ही परिणाम है कि आज दिल्ली में हिंसा हुई है। पुलिस कांस्टेबल की शहादत पथराव से नहीं गोली से हुई है।  पुलिस कांस्टेबल की शहादत के लिए गोली चलाने वाला अपराधी जितना जिम्मेदार है, उतना ही सार्वजनिक मंच से गोली मारने के लिये उकसाने वाले भी जिम्मेदार हैं। हिंसा में शामिल लोगों के साथ हिंसा भड़काने उत्तेजक भाषण देने वालो पर भी सख्त कार्रवाई की मांग प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने की है। उन्होंने कहा है कि दिल्ली में हिंसा होना और हिंसा को रोक पाने में सरकारी तंत्र के विफल होने के कारण केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह को तत्काल अपने पद से इस्तीफा दे देना चाहिए।

 

25-02-2020
दिल्ली में हो रही हिंसा पर स्वरा भास्कर ने किया ट्वीट, लिखा - आगे बढ़ों और पत्थर फेंको, दिल्ली पुलिस के लिए तालियां

नई दिल्ली। सीएए और एनआरसी के विरोध को लेकर दिल्ली के ब्रह्मपुरी और मौजपुर इलाके में तीसरे दिन भी पत्थरबाजी और हिंसक प्रदर्शन जारी है। रविवार से शुरू हुई हिंसा में अब तक एक हेड कांस्टेबल समेत सात लोगों की मौत हो चुकी है। हिंसक प्रदर्शन का मामला सुप्रीम कोर्ट पहुंच गया है। इस बीच स्वरा भास्कर ने प्रदर्शनकारियों का सपोर्ट करते हुए एक ट्वीट किया है। इसके बाद उनकी आलोचना की जा रही है। स्वरा ने एक ट्वीट पर रिप्लाई करते हुए लिखा है- आगे बढ़ों और पत्थर फेंको... दिल्ली पुलिस के लिए तालियां। कर्तव्य की उपेक्षा के चलते तुमने एक अपने को खोया है। स्वरा यहां शहीद दिल्ली पुलिस के हवलदार रतनलाल की बात कर रही हैं। स्वरा ने जिस ट्वीट का रिप्लाई किया उसमें लिखा था- यहां कुछ समन्वय की स्थिति दिख रही है। "आगे बढ़ो और पत्थर फेंको," एक पुलिसकर्मी कानून के समर्थन में प्रदर्शनकारियों पर चिल्लाते हुए दौड़ रहा है। एक इवेंट के दौरान स्वरा ने ये भी कहा था कि अगर मैं राजनेता होती तो मैं सबसे पहले देशद्रोह का कानून हटाती क्योंकि आज के जमाने में ये बहुत चलन में है। मुझे लगता है आज कल हम देशद्रोह का आरोप ऐसे बांटते हैं जैसे मंदिर में प्रसाद। बता दें कि कुछ समय पहले ही स्वरा भास्कर फिल्म इंडस्ट्री के तमाम कलाकारों के साथ सीएए और एनआरसी के खिलाफ प्रदर्शन करती नजर आई थी। 

 

24-02-2020
नीतीश कुमार का बड़ा बयान, कहा- बिहार में लागू नहीं होगा एनआरसी

नई दिल्ली। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने एनआरसी और एनपीआर को लेकर बड़ा बयान दिया है। उन्होंने रविवार को एक सभा को संबोधित करते हुए कहा कि बिहार में एनआरसी लागू नहीं होगा। इसके साथ-साथ उन्होंने एनपीआर पर अपना रुख साफ करते हुए कहा कि राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर (एनपीआर) का 2010 में किए गए तरीके से ही अद्यतन किया जाएगा। उन्होंने नागरिकता संशोधन कानून को लेकर चुप्पी साधे रखी। दरभंगा के मौलाना आजाद यूनिवर्सिटी कैंपस में लोगों ने जब मुख्यमंत्री से सीएए, एनआरसी और एनपीआर पर उनकी राय पूछी गई तब उन्होंने ये बातें कहीं। बता दें कि जेडीयू ने केंद्र के नागरिकता संशोधन कानून का समर्थन किया था। बिहार में भाजपा-जेडीयू गठबंधन की सरकार है।


 

24-02-2020
नेशनल हाईवे पर माओवादियों ने फेंके पर्चें, ट्रंप के भारत दौरे का किया विरोध

बीजापुर। माओवादियों के पश्चिम बस्तर डिवीजन कमेटी ने मद्देड-भोपालपटनम नेशनल हाईवे पर पर्चें फेंककर अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के 2 दिवसीय भारत प्रवास का विरोध किया है। माओवादियों द्वारा फेंके गए पर्चों में एनआरसी और धारा 370 का भी जिक्र है। यह पूरा मामला भोपालपट्नम थाना क्षेत्र का है। 

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804