GLIBS
16-10-2020
कैट के प्रतिनिधिमंडल ने कलेक्टर से की मुलाकात,मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के नाम सौंपा ज्ञापन

रायपुर। कंफेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) के प्रदेश अध्यक्ष अमर परवानी के नेतृत्व में एक प्रतिनिधिमंडल ने शुक्रवार को कलेक्टर डॉ. एस. भारतीदासन से मुलाकात की।  कैट के प्रतिनिधि मंडल ने भूपेश बघेल, मुख्यमंत्री छत्तीसगढ़ शासन के नाम ज्ञापन सौंपा। कैट के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष व प्रदेश अध्यक्ष अमर पारवानी ने कलेक्टर का आभार व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि कोरोना काल के विकट और विपरित परिस्थितियों में व्यापारी वर्ग के साथ-साथ आम नागरिकों को राहत पहुंचाने के उद्देश्य से लॉक डाउन और अनलॉक के बाद की अवधि में सीमित समयाअवधि में व्यापार करने के लिए अनुमति प्रदान की गई। पारवानी ने कहा कि चालू सप्ताह से त्यौहारी सीजन और आगामी महीने से वैवाहिक कार्यक्रमों का सीजन शुरू होने जा रहा है। यह निश्चित है कि बाजारों में लोगों की भीड़ खरीदी को लेकर बढ़ेगी। इसको देखते हुए व्ययसाय संचालन के समय सीमा हो बढ़ा देना चाहिए। व्ययसाय के समय सीमा को बढ़ाने से त्यौहारी और वैवाहिक सीजन की खरीदी करने वाले लोगों का पर्याप्त समय मिल जाएगा। इससे बाजार में लगने वाली अनावश्यक भीढ़ कम होगी।

करोना के रोकथाम में भी मदद मिलेगी। समय सीमा बढ़ाने का फैसला व्यापार जगत के साथ साथ जन सामान्य के लिए भी मददगार होगा। पारवानी ने कहा कि कोरोना काल के विकट और विपरित परिस्थितियों में शासन की ओर से जारी सभी नियमों और दिशा निर्देशों का पूरा पालन करते हुए, व्यापारीयों ने आम नागरिकों को राहत पहुंचाने के उद्देश्य से सीमित समयाअवधि में व्यापार किया। आगामी दिनों में भी कोरोना रोकथाम के लिए जो भी निर्णय लियाा जाएगा, उसका पूरा पालन व्यापारी वर्ग की ओर से किया जाएगा।  साथ ही कोरोना महामारी रोकथाम रोकने के लिए जो भी जनजागरण अभियान शासन-प्रशासन की ओर से चलाया जाएगा, उसमें व्यापारी वर्ग शासन के साथ कंधे से कंधा मिलाकर कार्य करेगा।  कलेक्टर से मुलाकात के दौरान कैट प्रतिनिधी मंडल में अमर पारवानी, विक्रम सिंहदेव, राम मंधान आदि पदाधिकारी शामिल थे।

 

16-08-2020
कैट ने नए तरीके से गणेश चतुर्थी मनाने लिया निर्णय,चीन को होगा 40 हजार करोड़ रुपए का नुकसान

रायपुर। कंफेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) अपने चीनी वस्तुओं के बहिष्कार के राष्ट्रीय अभियान"भारतीय सामान-हमारा अभिमान" के तहत 22 अगस्त को गणेश चतुर्थी नए तरीके से मनाने जा रही है। कैट ने रविवार को मिट्टी, गोबर और खाद से बनी "पर्यावरण मित्र गणेश " की कुछ प्रतिमाएं जारी की हैं। इन प्रतिमाओं को देशभर के व्यापारी और अन्य लोग इस गणेश चतुर्थी को अपने-अपने घर में स्थापित कर पूजा करेंगे। कैट के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष अमर पारवानी ने कहा है कि इन वस्तुओं से बनी  गणेश प्रतिमा का उद्देश्य पर्यावरण और जल को प्रदूषित होने से बचाना है। इस त्यौहार को सही अर्थों में पूर्ण भारतीयता के साथ मनाना है। इस क्रम में 6 इंच, 9 इंच और 12 इंच की गणेश प्रतिमाएं बनाई जा रही हैं। अनेक प्रतिमाओं में तुलसी के बीज सहित विभिन्न सब्जियों के बीज भी डाले जा रहे हैं। इससे प्रतिमा जल में विसर्जित करने के बाद यह बीज मिट्टी में दबकर पौधों का रूप ले सकेंगे। ये प्रतिमाएं घर में ही किसी बर्तन के कुंड में विसर्जित की जा सकती हैं।  इससे पर्यावरण और जल को दूषित होने से बचाया जा सकेगा।

पारवानी ने कहा है कि,पिछले वर्ष तक चीन से आए गणेश बड़ी मात्रा में देश भर में बिका करते थे, लेकिन इस वर्ष कैट ने देश भर में फैले व्यापारी संगठनों को सलाह दी है कि वो अपने शहर या राज्य में  कलाकृतियां बनाने वाले, कुम्हार आदि  स्थानीय लोगों से गणेश प्रतिमाएं मिट्टी, गोबर और खाद का उपयोग कर बनवाएं। साथ ही अपने व्यापारिक संगठनों के माध्यम से कर्मचारियों और अन्य लोगों तक बिक्री कर पहुंचाएं। इस प्रकार से कैट के बैनर तले देशभर के व्यापारी उन लोगों को रोजगार देने का काम कर रहे हैं,जिनके पास वर्तमान में या तो रोजगार की कमी है या कोरोना के कारण जिनका रोजगार छिन गया है। ऐसे लोगों की सहायता कर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आत्मनिर्भर भारत में कैट के नेतृत्व में व्यापारी भी अपना योगदान देंगे।  

पारवानी ने कहा है कि अब से लेकर दिवाली तक देश में त्यौहारों का सीजन है। चीन से आयात हुआ लगभग 35 से 40 हजार करोड़ रुपए तक का सामान इस सीजन में बिकता है, जिनमें खास तौर पर भगवान की मूर्तियां, अगरबत्ती, खिलौने, इलेक्ट्रॉनिक्स, इलेक्ट्रिकल्स, बिजली  के बल्बों की झालर, बल्ब, सजावटी सामान, पीतल और अन्य धातुओं के दीपक, फर्निशिंग फैब्रिक, किचन इक्विप्मेंट, पटाखे, आदि शामिल हैं। इस वर्ष देशभर के व्यापारियों ने यह तय किया है कि, इस त्यौहारी सीजन में चीन का सामान न बेचेंगे बल्कि अपने देश में ही बना हुआ सामान बेच कर चीन को राखी के बाद, अब त्यौहारी सीजन का 40 हजार करोड़ रुपए का झटका देंगे।

05-08-2020
Breaking: रायपुर में हट सकता है लॉक डाउन, कैट को मिले ऐेसे संकेत, जारी किए जाएंगे दिशानिर्देश

रायपुर। कंफेडरेशन  ऑफ  ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) सीजी चैप्टर के प्रतिनिधिमंडल ने बुधवार को कलेक्टर डॉ.एस.भारतीदासन से मुलाकात कर,उन्हें मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के नाम ज्ञापन सौंपा है। लंबी चर्चा के बाद कैट के प्रतिनिधिमंडल को सकारात्मक संकेत मिले हैं। कैट के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष व सीजी चैप्टर के अध्यक्ष अमर पारवानी ने कहा कि कैट का प्रतिनिधिमंडल मुख्यमंत्री से मुलाकात कर प्रदेशभर की दुकानों को खोलने के संबंध में ज्ञापन सौंपने वाला था। मुख्यमंत्री निवास में जारी बैठक के कारण मुलाकात नहीं हो सकी। उन्हें कलेक्टर से मुलाकात कर ज्ञापन सौंपने कहा गया। इस कलेक्टर से मुलाकात कर ज्ञापन सौंपा गया। पारवानी ने कहा कि कलेक्टर ने कहा है कि रायपुर में लॉक डाउन नहीं बढ़ाया जाएगा। व्यापार की छूट दी जाएगी। इस संबंध में दिशानिर्देश जल्द जारी होंगे। व्यापारियों से भी सुझाव मांगे गए हैं। इसके बाद कैट सीजी चैप्टर की फिर आपात बैठक जयस्तंभ चौक के निजी होटल में हो रही है। सभी से विचार-विमर्श कर जिला प्रशासन को अवगत करा दिया जाएगा। उल्लेखनीय है कि मंगलवार को कैट सीजी चैप्टर ने इसी स्थान पर आपात बैठक लेकर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को मांगों से संबंधित ज्ञापन सौंपने का निर्णय लिया था।

कैट की कोरोना रोकथाम के साथ-साथ आगामी त्यौहारी सीजन को ध्यान में रखते हुए राज्य में आर्थिक गतिविधियों को बढ़ाने की मांग है। कैट का सुझाव है कि 7 अगस्त से पूरे प्रदेश में सुबह से शाम 7 बजे तक व्यापार की अनुमति दी जाए। शाम 8 बजे के बाद कर्फ्यू लगा दिया जाए। चूंकि शनिवार और रविवार दोनों दिनों में पूर्ण बाजार बंद करने से सोमवार को बाजारों में भीड बढ़ जाती है। कोरोना संक्रमण का खतरा बढ़ जाता है। अत: शनिवार को दोपहर 2 बजे तक व्यापार अनुमति देना लाभकारी होगा। शनिवार को दोपहर 2 बजे तक व्यापार करने की अनुमति दी जाए। शनिवार शाम 4 बजे के बाद सोमवार सुबह तक बाजार पूर्णत: बंद रहे। इससे जहां एक ओर कोरोना का संक्रमण को रोकने में मदद मिलेगी तो वहीं दूसरी ओर आर्थिक गतिविधियां तेज होने से राज्य के राजस्व में भी वृद्धि होगी। वर्तमान परिस्थितियों में कोरोना संक्रमण को नियंत्रित करने लिए गए लॉक डाउन के फैसले के बाद त्यौहारी परिपेक्ष्य में बाजार खोलने का उक्त निर्णय व्यापार जगत के साथ-साथ जन सामान्य के लिए भी बहुत महत्वपूर्ण होंगे।

 

 

04-08-2020
कैट सीजी चैप्टर की हुई आपात बैठक,मुख्यमंत्री से मिलेंगे व्यापारी, 7 अगस्त से दुकानों को खोलने सौंपेगे ज्ञापन  

रायपुर। कंफेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) सीजी चैप्टर के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष अमर पारवानी की अध्यता में मंगलवार को जयस्तंभ चौक स्थित होटल गिरनार में समस्त व्यापारिक संगठनों की आपात बैठक हुई। बैठक में लॉक डाउन समाप्त होने के बाद व्यापार को पुन: सुचारू रूप से चालने के लिए विचार विमर्श किया गया। बैठक में 105 व्यापारिक संगठनों के वरिष्ठ पदाधिकारी मौजूद थे। सभी संगठनों के प्रतिनिधियों ने लॉक डाउन बढाए जाने का पुरजोर विरोध किया। एक स्वर में कहा कि, मौजूदा हालात में लॉक डाउन बढाया नहीं जाना चाहिए। उन्होंने समवेत स्वर में कहा कि, वे शासन-प्रशासन की सभी शर्तों का कड़ाई से पूरा पालन करेंगे, किन्तु लॉक डाउन का समर्थन नहीं करेंगे। बैठक में व्यापारियों की भावनाओं से मुख्यमंत्री को भी अवगत कराने का निर्णय लिया गया। तय किया गया है कि, 5 अगस्त को सभी व्यापारिक संगठनों के विचारों और भावनाओं को शासन के समक्ष रखा जाएगा। इस आशय का एक ज्ञापन मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को सौंपा जाएगा।


बैठक में अमर पारवानी, विक्रम सिंहदेव,अजय अग्रवाल, राम मंधान, भरत जैन, राजकुमार राठी, सुरिंदर सिंह, जय नानवानी, संजय जयसिंह, उत्तम गोलछा, सुभाष बजाज, सुनील धुप्पड़, जितेन्द्र गोलछा, सूरज उपाध्याय, संजय जादवानी, जयराम कुकरेजा, नीलेश मुंधड़ा, जनक वाधवानी, राकेश अग्रवाल, अजित सिंह कैम्बो, राजेन्द्र जग्गी, परमानंद जैन, दीपक बल्लेवार, डॉ.मनीष गुप्ता, इंदरलाल धिरानी, राजेश वासवानी, अशोक छेतीजा, सुरेश भंसाली, महेन्द्र तलरेजा, पुषोत्तम देवांगन, रविकान्त तिवारी, विजय मुकीम, हरमेल सिंह छज्जर, दीपक मेघनी, राजू सिंह आहूजा, रतन मेघानी, राजेश, रमाशंकर देवांगन, दर्शन निहाल, प्रकाशचंद कुंडलियां, महेश बिरला,  गिरीश राठौर, नरेश ठक्कर, नंदलाल बलवानी, सुनील कोडवानी, अमित वाधवानी, गोविंद चिमनानी, नवीन जैन, नारायण सेन, रविकांत तिवारी, रमेश खेमानी, अनमोल जैन, दिलीप केवलानी, ताराचंद जैन, पल छेतिजा,  के. के. शर्मा,  जितेंद्र जैन,, महेश प्रसाद राई, जीवत बजाज,सुरेश सहगल, मुकेश राठौर, अशोक छाबड़ा, श्रीनिवास रेड्डी, प्रहलाद शड़ीजा, तनेश आहूजा, अशोक लालवानी, शफीक अहमद, रूपेश तनिक, देवराज गुरनानी, रवीन्द्र सिंह चावला, चंदर विधनी, राजा साहू, आनंद दुबे, केडी सिंह, जयंत मोहता, दीपक लद्दा, महेश खिलोरिया, ललित जैन, दिनेश राठौर, सुरेश कुमार अग्रवाल, भरत प्रृथ्वानी, महेश कोडवानी, राजा साहू , भरत, राजू वासवानी, मितेश अग्रवाल, विजय गुरब्क्षाणी,नरेन्द्र सिंह सहित कैट के पदाधिकारी और विभिन्न व्यापारिक संगठनों से बहुत संख्या में पदाधिकारी व व्यापारिक संगठनों के सदस्य उपस्थित थे। मंच का संचालन और आभार व्यक्त प्रदेश कार्यकारी अध्यक्ष विक्रम सिंहदेव ने किया।

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804