GLIBS
22-08-2019
सुराजी गांव योजना को मूर्तरूप देने कलेक्टर बंसल ने किया गांवों का दौरा

धमतरी। प्रदेश शासन की सर्वाधिक महत्वपूर्ण सुराजी गांव योजनांतर्गत नरवा, गरवा, घुरवा और बाड़ी के विकास व विस्तार करने के दृष्टिकोण से कलेक्टर  रजत बंसल ने आज नगरी विकासखण्ड के विभिन्न ग्रामों का दौरा किया। इस दौरान उन्होंने इन गांवों में ग्रामीणों की आवश्यकता के अनुरूप योजना को मूर्तरूप देने के लिए सम्भावनाएं भी तलाशीं। ग्राम छिंदभर्री व चनागांव में ग्रामीणों के बीच चौपाल लगाकर उनकी प्राथमिक जरूरतों व समस्याओं पर चर्चा की। इसी तरह ग्राम झूरातराई के अंतर्गत नरहराधाम जलप्रपात को पर्यटन की दृष्टि से सुव्यवस्थित और विकसित करने संबंधित विभाग के अधिकारियों को निर्देशित किया। प्रदेश शासन की सुराजी गांव योजना के विस्तार एवं सफल क्रियान्वयन के उद्देश्य से आज सुबह कलेक्टर ने नगरी विकासखण्ड के ग्राम पंचायत चनागांव का आकस्मिक दौरा किया। इस दौरान उन्होंने घुरवा को सुव्यवस्थित ढंग से तैयार करने ग्रामीणों के घर जाकर उनके व्यक्तिगत बॉयोगैस संयंत्र का निरीक्षण किया, जिसके बाद उन्होंने अलग-अलग निजी संयंत्रों के स्थान पर सामूहिक संयंत्र स्थापित करने के संबंध में क्रेडा विभाग के अधिकारी को आवश्यक कार्रवाई करने निर्देशित किया। इससे गोबर खाद का पर्याप्त मात्रा में सामूहिक निर्माण किया जा सकेगा। ग्राम के सरपंच ने बताया कि गांव में 1500 से अधिक पशुधन हैं। इस पर कलेक्टर ने वहां पर अतिक्रमण किए गए शासकीय भूभाग का चिन्हांकन कर उसे अतिक्रमणमुक्त करने एसडीएम नगरी को निर्देश दिए। इस दौरान कलेक्टर ने छिंदभर्री के आंगनबाड़ी केन्द्र का निरीक्षण किया। आंगनबाड़ी कार्यकर्ता ने बताया कि आंगनबाड़ी का खुद का भवन नहीं है, जिस पर कलेक्टर ने निषाद समाज के सामुदायिक भवन में शिफ्ट कराने के निर्देश एसडीएम को दिए। यहां दर्ज 17 में से सभी बच्चे उपस्थित पाए गए। इस केन्द्र में दो गम्भीर कुपोषित बच्चों को बारिश के मौसम के बाद एनआरसी (लइका जतन ठउर) में दाखिल कराने पर जोर दिया। इसके अलावा उन्होंने चनागांव में निर्मित हेल्थ एण्ड वेलनेस सेंटर का दौरा कर वहां आवश्यकतानुसार दवाओं के भण्डारण और उपलब्धता की जानकारी ली। साथ मौसमी बीमारियों से ग्रामीणों को जागरूक करने सतत् सम्पर्क में रहने के निर्देश स्वास्थ्य सहायक को दिए। उन्होंने ग्रामीणों के बीच चौपाल लगाकर उनकी विभिन्न मांगों और समस्याओं पर चर्चा भी की। इसके उपरांत कलेक्टर ने नगरी की ग्राम पंचायत झूरातराई से पांच किलोमीटर की दूर पर प्राकृतिक जलप्रपात नरहरा धाम का निरीक्षण किया। पर्यटन की दृष्टि यहां पर सुविधाएं विकसित करने के उद्देश्य से कलेक्टर ने उक्त जलप्रपात तक पहुंच मार्ग आसान बनाने सड़क निर्माण के लिए जल संसाधन विभाग कोड-90 के कार्यपालन अभियंता को निर्देशित किया। इसी तरह उक्त झरने में बारहमासी पानी का ठहराव रहे, इसके लिए नरवा कार्यक्रम अंतर्गत बारिश के जल का संग्रहण एवं संचयन करने व आसपास के जंगल व गांवों में उसकी उपयोगिता के लिए कार्ययोजना तैयार करने के भी निर्देश दिए। साथ ही पहुंचमार्ग एवं जलप्रपात के स्पॉट पर सोलर लाइट स्थापित करने के लिए कार्यपालन अभियंता एके पालडिय़ा को निर्देशित किया।

वैभव चौधरी की रिपोर्ट 

11-08-2019
गांवों में समृद्धि का आधार बनेगी सुराजी योजना :  धाड़ीवाल

रायपुर। छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आज प्रदेश की जनता को आकाशवाणी के माध्यम से अपनी पहली लोकवाणी रेडियो वार्ता से प्रदेश की जनता को शासन की महत्वाकांक्षी योजना नरवा, गरवा, घुरवा और बारी (सुराजी गांव योजना) के संबंध में अपनी बात रखी। आकाशवाणी द्वारा प्रसारित लोकवाणी को सुनने के लिए नगर निगम के सम्मुख स्थित गार्डन में सुनने के लिए भारी उत्साह में महिलाएं एवं पुरुष उपस्थित हुए। श्रोतागण में उपस्थित इंदरचंद धाड़ीवाल ने लोकवाणी के संबंध में कहा कि राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की ग्राम स्वराज की स्वप्न को मुख्यमंत्री बघेल सुराजी गांव योजना के माध्यम से पूरा करने जा रहे है। इस योजना से ग्रामीण अंचलों में सम्पन्नता आएगी। गांव में रोजगार के साथ ही खेती और पशुधन समृद्ध होगा।  नरवा के पुनर्जीवन से किसान साल में दो से तीन फसल लेने की सुविधा मिलेगी। इससे छत्तीसगढ़ में तरक्की की रफ्तार बहुत बढ़ जाएगी। रेडियोवार्ता सुन रहे मोहम्मद फहीम ने कहा कि इस कार्यक्रम में मुख्यमंत्री सीधे आम जनता से मुताखिब होते हैं इससे जनता का सरकार के प्रति विश्वास बढ़ जाता है। इस अवसर पर श्रोतागणों में नवीन चन्द्राकर, कमलेश नथवानी, नवनीत व्यास, सलमान खान, प्यारे खान, अमीर अली, रियाज एवं महिलाओं में दीपा चन्द्राकर, मीना कौर व पूनम यादव सहित बड़ी संख्या में श्रोता उपस्थित थे।

 

 

23-07-2019
किसानों और गांवों की समृिद्ध से प्रदेश और देश होंगे मजबूत : डॉ. डहरिया

रायपुर। नगरीय प्रशासन मंत्री डॉ. शिव कुमार डहरिया आज आरंग विकासखण्ड के ग्राम बाना में आयोजित ऋण माफी तिहार कार्यक्रम में शामिल हुए। उन्होंने देवरी सहकारी कृषि साख समिति के अंतर्गत दो हजार 650 किसानों के 8 करोड़ दो लाख 20 हजार 496 रुपए की ऋण माफी के स्वीकृति पत्र किसानों को प्रदान किए। डॉ. डहरिया ने किसानों को सम्बोधित करते हुए कहा कि किसान और गांव मजबूत होंगे तो प्रदेश और देश मजबूत होगा। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के नेतृत्व में राज्य सरकार छत्तीसगढ़ की संस्कृति और परम्परा को सहेजने के साथ-साथ किसानों और ग्रामीणों के आर्थिक सशक्तीकरण की दिशा में प्रमुखता से कार्य कर रही है। नरवा, गरवा, घुरवा और बाड़ी योजना के माध्यम से ग्रामीण अर्थव्यवस्था को और मजबूत करने तथा यहां की महिलाओं, युवाओं को आत्मनिर्भर बनाने का प्रयास किया जा रहा है। इस योजना से एक ओर जल संवर्धन के लिए लोगों को जागरूक किया जा रहा है। वहीं स्वास्थ्य के दृष्टिकोण से जैविक खेती को बढ़ावा दिया जा रहा है। डॉ. डहरिया ने कहा कि प्रदेश के ऐसे किसानों जिन्होंने सोसायटियों, ग्रामीण बैंकों और राष्ट्रीयकृत बैंकों से अल्पकालीन कृषि ऋण लिया है, उसे राज्य सरकार किसानों के हित में निर्णय लेते हुए उनका ऋण माफ कर दिया गया है। इसी तरह भूपेश बघेल की सरकार ने 400 यूनिट तक बिजली बिल हाफ करने, प्रत्येक बीपीएल परिवारों को 35 किलो चावल की पात्रता प्रदान करते हुए पांच से अधिक सदस्य होने की स्थिति में प्रति सदस्य सात किलो की दर से अतिरिक्त चावल देने का निर्णय लिया है। एपीएल परिवारों को भी बहुत ही कम कीमत मात्र 10 रूपए किलो की दर से चावल प्रदान करने का निर्णय लिया है। उन्होंने कहा कि ऐसे किसान जिन्होंने कृषि ऋण लिया है, लेकिन लंबे समय से ऋण भुगतान नहीं कर पाये हैं, उनका वन टाइम्स सेटलमेंट के तहत कर्ज माफी किया जा रहा है। इसके तहत ऋण की आधी राशि राज्य शासन द्वारा दी जाएगी। कार्यक्रम में जनपद पंचायत आरंग के अध्यक्ष श्री दिनेश ठाकुर सहित बड़ी संख्या में ग्रामीण और किसान उपस्थित थे।

 

27-06-2019
गांवों में दी जाएंगी डिजिटल, संचार सुविधाएं : सूचना प्रोद्यौगिकी मंत्री रविशंकर प्रसाद

नई दिल्ली। केंद्रीय इलेक्ट्रॉनिक एवं सूचना प्रोद्यौगिकी मंत्रालय के ग्रामीण डिजिटल साक्षरता अभियान के तहत देश में अब तक 2.22 करोड़ लोगों को प्रशिक्षित कर दिया गया है। केंद्र सरकार इस अभियान को आगे बढ़ाते हुए देश में एक लाख डिजिटल गांव बना रही है। केंद्रीय इलेक्ट्रॉनिक एवं सूचना प्रोद्यौगिकी मंत्री रविशंकर प्रसाद ने गुरुवार को राज्यसभा में प्रश्नकाल के दौरान यह जानकारी दी। रविशंकर प्रसाद ने बताया कि 24 जून 2019 तक इस अभियान के तहत 2.30 करोड़ से अधिक लाभार्थियों को नामांकित किया जा चुका है और इनमें से 2.22 करोड़ प्रशिक्षित लोगों में 1.34 करोड़ लोगों का तीसरी पार्टी से प्रमाणन किया जा चुका है। 

डिजिटल साक्षरता अभियान में गड़बडिय़ों की शिकायतों से जुड़े पूरक प्रश्न के जवाब में प्रसाद ने बताया कि मंत्रालय इस तरह की शिकायतें मिलने पर इनकी सख्ती से जांच कर कठोर कार्रवाई करेगा। 
प्रसाद ने बताया कि संचार मंत्रालय और रेल मंत्रालय मिलकर ऑप्टिकल फाइबर नेटवर्क सभी ग्राम पंचायतों तक पहुंचाने की योजना पर भी काम कर रहे हैं। उन्होंने कहा, 'हम देश में एक लाख डिजिटल गांव बनाने जा रहे हैं। जहां पर गांवों में वाई फाई सहित अन्य डिजिटल एवं संचार सुविधाएं दी जाएंंगी।


 

20-05-2019
अजा बहुल गांवों का विकास कर जोड़ा जाएगा राष्ट्र की मुख्यधारा से 

रायपुर। प्रधानमंत्री आदर्श ग्राम योजना के तहत प्रदेश के अनुसूचित जाति बहुल चयनित गांवों का समुचित विकास कर राष्ट्र की मुख्यधारा से जोडऩे के लिए केन्द्रीय सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्रालय नई दिल्ली के सहयोग से आदिम जाति तथा अनुसूचित जाति विकास विभाग द्वारा जिला स्रोत दल के सदस्यों का प्रशिक्षण सोमवार से शुरू हो गया है। निमोरा स्थित ठाकुर प्यारेलाल पंचायत एवं ग्रामीण विकास प्रशिक्षण संस्थान में जिला स्रोत दल के सदस्यों को प्रशिक्षण दिया जा रहा है। यह प्रशिक्षण 23 मई तक चलेगा।  प्रशिक्षण में आदिम जाति विभाग के सचिव सह-आयुक्त डीडी सिंह ने बताया कि प्रधानमंत्री आदर्श ग्राम योजना का उद्देश्य राज्य के 50 प्रतिशत से अधिक अनुसूचित जाति की जनसंख्या वाले चयनित गांवों का एकीकृत विकास सुनिश्चित करना है। ऐसे गांवों का समुचित विकास कर राष्ट्र की मुख्यधारा से जोडऩा है। उन्होंने अधिकारियों को इसके लिए प्रशासनिक सहभागिता के साथ-साथ आम लोगों को जागरूक कर उन्हें भी इस कार्यक्रम में जोडऩे पर बल दिया।  सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्रालय के अवर सचिव दीपक कुमार ने योजना के क्रियान्वयन हेतु दिशा-निर्देशों में उल्लेखित प्रावधानों के बारे में विस्तार से जानकारी दी। उन्होंने प्रपत्रों के प्रारूप तथा उनमें दर्ज की जाने वाली प्रविष्ठियों के बारे में भी बताया। दीपक ने योजना की उपलब्धियों की जानकारी ऑनलाइन अपलोड करने के संबंध में सॉफ्टवेयर विशेषज्ञों को भी तकनीकी जानकारी दी। प्रशिक्षण कार्यक्रम में संकाय सदस्य आनंद रघुवंशी,  प्रज्ञान सेठ और संजय गौड़ ने भी योजना के बेहतर क्रियान्वयन के संबंध में अपने विचार रखे । 

 

25-04-2019
शहरों में 'पुलिस जनमित्र योजना' और गांवों में होगा 'ग्राम रक्षा समिति' का गठन 

रायपुर। प्रदेश के सभी जिलों में सामुदायिक पुलिसिंग के अंतर्गत शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों में जनता एवं पुलिस के मध्य परस्पर नियमित संवाद स्थापित करने एवं जनता के मध्य पुलिस की विश्वसनीयता में अभिवृद्धि करने के उद्देश्य से सामुदायिक पुलिसिंग के तहत शहरी एवं अद्र्धशहरी क्षेत्रों में 'जनमित्र योजना' तथा ग्रामीण क्षेत्रों में 'ग्राम रक्षा समिति' को पुनर्जीवित करने की योजना प्रारंभ की गई है। पुलिस महानिदेशक डीएम अवस्थी द्वारा समस्त पुलिस अधीक्षकों को जारी निर्देश के अनुसार 'पुलिस जनमित्र योजना' के अंतर्गत यह व्यवस्था की गई है कि राज्य के शहरी एवं अद्र्धशहरी क्षेत्रों में थानों के क्षेत्रफल और जनसंख्या के अनुसार प्रत्येक थाना क्षेत्र को 30 से 40 सेक्टर में बांटकर थाना प्रभारी स्वयं उपस्थित होकर प्रत्येक सप्ताह में एक सेक्टर में वहां के निवासियों की बैठक लेंगे और नागरिकों से उनके क्षेत्र की समस्याओं की जानकारी लेकर नागरिकों को पुलिस की अपेक्षा एवं आधुनिक अपराध जैसे साइबर क्राइम, ऑनलाइन ठगी, चिटफंड कंपनियों की ठगी, सोशल मीडिया से जुड़े अपराध, महिलाओं के विरुद्ध घटित होने वाले अपराध के तरीके तथा उससे बचने के उपाय बताएंगे। थाना क्षेत्र के सभी ग्रामों में ग्राम रक्षा समिति का गठन पूर्ण होने के उपरंात पुलिस अधीक्षक, थाना स्तर पर ग्राम रक्षा समिति के सदस्यों का 01 दिवसीय प्रशिक्षण आयोजित करेंगे। प्रशिक्षण कार्यक्रम में पुलिस अधीक्षक एवं अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अनिवार्य रूप से स्वयं उपस्थित होंगे एवं कुछ सम्मेलनों में अपने रेंज के पुलिस महानिरीक्षक को भी आमंत्रित करेंगे। 

 

 

15-04-2019
अमितेश ने किया गांवों में जनसंपर्क

महासमुंद । लोकसभा के कांग्रेस प्रत्याशी धनेंद्र साहू के प्रचार प्रसार के लिए राजिम विधायक अमितेश शुक्ला ने पांडुका जॉन के गांव का दौरा किया। इसमें उन्होंने ग्रामीणों से जनसंपर्क किया। ग्रामवासियों ने श्री शुक्ल का स्वागत किया। अमितेश शुक्ल ने ग्रामवासियों को संबोधित किया।

04-02-2019
Collector: कलेक्टर ने पिथौरा के विभिन्न गांवों का किया आकस्मिक निरीक्षण,ग्रामीणों से की चर्चा

महासमुंद। कलेक्टर सुनील कुमार जैन ने सोमवार को जिले के पिथौरा विकासखंड के ग्राम गोड़बहाल, छिबर्रा, कोकोभाठ़ा एवं मुढ़ीपार ग्रामों का दौरा कर ग्रामीणों से रूबरू चर्चा की। इस दौरान उन्होंने शासन द्वारा संचालित जनकल्याणकारी योजनाओं के क्रियान्वयन की जानकारी ली। इस अवसर पर जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी  ऋतुराज रघुुवंशी, वनमंडलाधिकारी  आलोक तिवारी, पिथौरा के अनुविभागीय अधिकारी (राजस्व) पीसी एक्का, जनपद पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी प्रदीप कुमार प्रधान, तहसीलदार वनसिंह नेताम सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।
कलेक्टर जैन ने गोड़बहाल पहुंचकर गांव के दुग्ध सहकारी समिति के पदाधिकारियों से मुलाकात कर चर्चा की। उन्होंने गांव में मिल्क चिलिंग प्लांट की व्यवस्थाओं जैसे दुग्ध की गुणवत्ता, उसमें उपलब्ध वसा तथा अन्य तत्वों के जांच करने के उपकरण एवं दुध की गुणवत्ता के आधार पर कम्प्यूटर प्रोग्रामिंग के माध्यम से मूल्य निर्धारण कार्य सहित वन विभाग के रिक्त भूमि में पशु आहार के लिए नेपियर घास लगाने के कार्य का अवलोकन किया।
उल्लेखनीय है कि यह घास गांव के पशु पालकों द्वारा अपने पशुओं के चारे के रूप में उपयोग में लाई जाती है। पशुपालकों तथा दुग्ध उत्पादकों से बातचीत करते हुए कलेक्टर ने कहा कि दुग्ध उत्पादन को बढ़ावा देने के लिए यह जरूरी है कि अधिक संख्या में पशु उपलब्ध हो, उन पशुओं की प्रजाति उन्नत हो और उन्हें अच्छा पशु आहार दिया जाए।
पशुपालकों ने बताया कि निजी कंपनियों की अपेक्षा छत्तीसगढ़ दुग्ध संघ द्वारा राशि का भुगतान समय पर समुचित ढंग से किया जाता है। इसके अलावा पशु- दाना और दुग्ध परिवहन के लिए राशि भी दी जाती है। उन्होंने बताया कि चिलिंग प्लांट की क्षमता बढ़ने से दुग्ध उत्पादन को और अधिक बढ़ावा मिलेगा। कलेक्टर ने मुढ़ीपार के वनऔषधि केन्द्र पहुंचकर मशरूम उत्पादन प्रशिक्षण, वर्मी कम्पोस्ट जैविक खाद उत्पादन, नेपियर घास, मशरूम द्वारा बनाए गए आचार, पाउडर एवं कौशल विकास योजना के तहत युवाओं को मशरूम उत्पादन के प्रशिक्षण के बारे में भी जानकारी ली।
ग्राम कोकोभाठा में प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत निर्माणाधीन आवासों का भी अवलोकन किया। इस दौरान उन्होंने हितग्राहियों से चर्चा कर शीघ्र ही आवास निर्माण कार्याे में गुणवत्ता के साथ जल्द पूरा कराने को कहा। 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804