GLIBS
25-11-2020
राष्ट्रपति, उपराष्ट्रपति, प्रधानमंत्री ​सहित कई नेताओं ने अहमद पटेल के निधन पर जताया शोक

नई दिल्ली। राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद, उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह, लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला और कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी समेत विभिन्न केंद्रीय मंत्रियों और राजनीतिक दलों के नेताओं ने वरिष्ठ कांग्रेसी नेता एवं राज्यसभा सांसद अहमद पटेल के निधन पर शोक व्यक्त किया है। राष्ट्रपति कोविंद ने ट्वीट के जरिए अपने शोक संदेश में कहा, “ कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अहमद पटेल के निधन के बारे में जानकर दुख हुआ। सांसद पटेल न केवल दक्ष सांसद थे, बल्कि उनमें कुशल रणनीतिकार का कौशल और जननेता का जादू भी समाहित था। ” उन्होंने कहा, “ अपने मैत्री भाव के कारण पार्टी के बाहर भी उन्होंने दोस्त बनाए थे। उनके परिजनों और दोस्तों को मेरी संवेदनाएं।” वेंकैया नायडू ने कहा, “राज्य सभा के सदस्य अहमद पटेल के निधन का समाचार पाकर स्तब्ध हूं। वरिष्ठ सांसद  पटेल अपने संसदीय अनुभव, सद्भाव और सौहार्दपूर्ण संबंधों के लिए जाने जाते थे। ईश्वर दिवंगत पुण्यात्मा को शांति तथा उनके परिजनों को धैर्य प्रदान करें।”

पीएम मोदी ने ट्वीट संदेश में कहा है, “अहमद पटेल के निधन से दुखी हूं। उन्होंने सार्वजनिक जीवन में लंबे समय तक समाज की सेवा की। अपनी तीक्ष्ण बुद्धि के लिए जाने जाने वाले सांसद  पटेल का कांग्रेस पार्टी को मजबूत करने में योगदान हमेशा याद किया जाएगा। उन्होंने कहा, “पुत्र फैजल से बात कर अपनी संवेदनाएं प्रकट की। भगवान से प्रार्थना है की अहमद भाई की आत्मा को शांति प्रदान करें। ” गृह मंत्री शाह ने कहा, “कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेता अहमद पटेल के निधन की सूचना अत्यंत दुःखद है। अहमद पटेल का कांग्रेस पार्टी और सार्वजनिक जीवन में बड़ा योगदान रहा। मैं दुःख की इस घड़ी में उनके परिजनों और समर्थकों के प्रति अपनी संवेदना व्यक्त करता हूँ। ईश्वर दिवंगत आत्मा को शांति प्रदान करें।” 

ओम बिरला ने अपने शोक संदेश में कहा, “ वरिष्ठ राजनीतिज्ञ एवं राज्यसभा सांसद अहमद पटेल का निधन दुखद है। वह सभी से मधुर संबंध रखने वाले व्यक्तित्व थे और सभी दलों के नेताओं से उनकी सद्भावना रही।” उन्होंने कहा, “उनके निधन से उत्पन्न शून्य की पूर्ति असम्भव है। मेरी संवेदनाएं शोकाकुल परिजनों के साथ हैं। ”सोनिया गांधी ने यहां जारी शोक संदेश में कहा , “अहमद पटेल के रूप में मैंने अपना एक ऐसा सहयोगी खो दिया है, जिसका जीवन कांग्रेस को समर्पित रहा है। उनकी ईमानदारी, समर्पण और काम के प्रति जो निष्ठा रही है वह उन्हें दूसरों से अलग नेता के रूप में स्थापित करती है।” उन्होंने कहा , “ मैंने एक ऐसा निष्ठावान सहयोगी और मित्र खो दिया है, जिसका विकल्प संभव नहीं है। मैं उनके निधन से सदमे में हूं और पीड़ित परिवार के प्रति संवेदना व्यक्त करती हूं।” बता दें कि पटेल का बुधवार तड़के तीन बजे निधन हो गया। उन्हें गुरुग्राम के मेदांता अस्पताल में भर्ती कराया गया था जहां उन्होंने अपनी अंतिम सांस ली। उनके पुत्र फैसल ने ट्विटर पर अपने पिता के निधन की जानकारी साझा की। इकहत्तर वर्षीय पटेल अक्टूबर में कोरोना वायरस से संक्रमित हुए थे। उनकी तबीयत अचानक बिगड़ने पर उन्हें 15 नवंबर को मेदांता अस्पताल के आईसीयू में भर्ती कराया गया था।

25-09-2020
भाजपा नेताओं ने पं.दीनदयाल उपाध्याय को किया याद, साय ने कहा-सादगी, शुचिता और सरलता के थे प्रतीक 

रायपुर। पं.दीनदयाल उपाध्याय की जयंती पर भाजपा नेताओं व कार्यकर्ताओं ने अपने-अपने निवास पर तैलचित्र पर माल्यार्पण कर उनकी सेवा भावना को याद किया। उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की। इस दौरान भाजपा के लोगों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा का संबोधन सुना। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदेव साय ने भी अपने राजधानी स्थित निवास पर पं. दीनदयाल उपाध्याय के तैलचित्र पर पुष्प अर्पित कर उन्हें श्रद्धांजलि दी। उन्होंने कहा कि पं. दीनदयाल उपाध्याय का पूरा जीवन राष्ट्र को समर्पित था। वे शुचिता और सरलता के प्रतीक थे। राष्ट्रवाद और अंतयोदय की जो अलख पं. दीनदयाल उपाध्याय ने जगायी, आज भाजपा उसी के आलोक में श्रेष्ठ भारत के निर्माण में लगी है। उनके इन्हीं विचार पर पार्टी की सरकारें काम कर रही है। राज्यसभा सांसद रामविचार नेताम ने अपने दिल्ली स्थित निवास पर पं.उपाध्याय के तैलचित्र पर पुष्पांजलि अर्पित कर उन्हें याद किया। सांसद पाण्डेय ने कहा कि पं. दीनदयाल उपाध्याय हमारे आदर्श हैं, वो बेहद साधारण जीवन जीने वाले नेता थे। उन्हीं के पदचिन्हों पर चलते हुए भाजपा के कार्यकर्ता तन-मन और समर्पण भाव से देश के विकास के लिए काम कर रहे हैं और आगे भी करते रहेंगे।
संगठन महामंत्री पवन साय ने भाजपा प्रदेश कार्यालय कुशाभाऊ ठाकरे परिसर में पुष्पांजलि अर्पित कर पं. उपाध्याय का पुण्य स्मरण किया और श्रद्धांजलि दी। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा का उद्बोधन भी भाजपा प्रदेश कार्यालय में सुना।

रायपुर लोकसभा सांसद सुनील सोनी ने पं. दीनदयाल उपाध्याय को नमन कर श्रद्धांजलि अर्पित की। उन्होंने कहा कि एकात्म मानववाद और अंत्योदय के प्रणेता पंडितजी का जीवन एक संदेश है। प्रत्येक कार्यकर्ता उनके जीवन से बहुत कुछ सीख सकता है। उनके विचारों में मुझे क्या मिला नहीं बल्कि मैने राष्ट्र के प्रति क्या समर्पित किया मुख्य है।  विधायक व पूर्व मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने पं.दीनदयाल उपाध्याय को श्रद्धांजलि अर्पित की। उन्होंने कहा कि पंडित उपाध्याय एक प्रखर राष्ट्रवादी विचारक थे। उन्होंने अपने विचारों व कर्तव्य निष्ठा से भारतीय राजनीति में अद्वितीय आदर्श स्थापित किया। उन्होंने देश को अंत्योदय व एकात्म मानववाद जैसी प्रगतिशील विचारधारा देने का काम किया है। उनका संपूर्ण जीवन देश की संस्कृति और देश की अखंडता के लिए समर्पित रहा है। देश को अंत्योदय का मंत्र देते हुए उन्होंने पंक्ति में अंतिम पायदान पर खड़े व्यक्ति को पंक्ति में खड़े प्रथम व्यक्ति तक लाने की परिकल्पना की,जिसके लिए उनका संपूर्ण जीवन समर्पित रहा। पूर्व मंत्री महेश गागड़ा ने कहा कि पं. उपाध्याय एक ऐसे युगद्रष्टा थे,जिनके बोये गए विचारों व सिद्धांतों के बीज ने देश को एक वैकल्पिक विचारधारा दी। उनकी विचारधारा सत्ता प्राप्ति के लिए नहीं बल्कि राष्ट्र पुनर्निर्माण के लिए थी। भाजपा नेता सच्चिदानंद उपासने, सुभाष राव, शिवरतन शर्मा, संजय श्रीवास्तव, नलिनीश ठोकने, नरेश गुप्ता, संदीप शर्मा, राजीव कुमार अग्रवाल, प्रफुल्ल विश्वकर्मा, सत्यम दुवा, गौरीशंकर श्रीवास, संजुनारायन सिंह ठाकुर, अनुराग अग्रवाल, राजीव चक्रवर्ती, उमेश घोरमोड़े, अमित चिमनानी, सहित भाजपा नेताओं व कार्यकर्ताओं ने श्रद्धांजलि अर्पित की।

01-08-2020
विभिन्न गांवों के प्रवेश द्वारों पर अब भी लगी है पूर्व मुख्यमंत्री और मंत्रियों की फोटो

गुंडरदेही। स्थानीय प्रशासन की लापरवाही के चलते पूर्व में सत्ता में रहे नेताओं तथा मंत्रियों की फोटो गुंडरदेही ब्लॉक के विभिन्न गांवों के प्रवेश द्वारों पर आज भी लगी दिखाई देती है। गौरतलब है कि सिकोसा के समीप ग्राम खुटेरी से अर्जुंदा की तरफ जाने वाले मार्ग पर प्रवेश द्वार पर तत्कालीन सरपंच सारिका मेहर द्वारा लगवाई गई पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह तथा पूर्व महिला बाल विकास मंत्री रमशिला साहू की फोटो लगी हुई थी किंतु प्रदेश में कांग्रेस की सत्ता को लगभग डेढ़ वर्ष का समय हो जाने तथा पंचायत के एक कार्यकाल लगभग 5 वर्ष का समय बीत जाने के बावजूद भी पूर्ववर्ती सरकार के मंत्रियों तथा पूर्व मुख्यमंत्री की फोटो आज तक प्रवेश द्वार में चस्पा है। बता दें कि ग्राम पंचायत के एक सरपंच का कार्यकाल 5 वर्ष का होता है जबकि इस प्रवेश द्वार को बनाएं लगभग 8 वर्ष होने को हैं बावजूद ग्राम पंचायत खुटेरी की लापरवाही कहें पूर्व सरपंच द्वारा उक्त प्रवेश द्वार पर लगे तत्कालीन सरपंच सारिका मेहर की फोटो आज भी लगी हुई है। वही ग्राम सरपंच रुपेश गोरे से पूछे जाने पर उन्होंने कहा, प्रवेश द्वार पर लगी फोटो की तरफ ध्यान ही नहीं गया क्योंकि फोटो पुरानी होने की वजह से साफ दिखाई नहीं पड़ रही है। उपरोक्त मुद्दे पर चर्चा करने के लिए गुंडरदेही विधायक तथा संसदीय सचिव कुंवर सिंह निषाद से मोबाइल से बात करने का प्रयास किया गया किंतु उन्होंने मोबाइल रिसीव ही नहीं किया।

शब्बीर रिजवी की रिपोर्ट

27-06-2020
 कांग्रेस जिलाध्यक्ष में कहा- पूर्व मंत्री अगर गलत बयानबाजी से बाज न आये तो उन्हें गोबर भेंट करेंगे

धमतरी। छत्तीसगढ़ में सरकार ने गोबर की खरीदी का निर्णय लिया है। इसके बाद पूर्व मंत्री अजय चंद्राकर ने सरकार की नीति का विरोध करते हुए कहा कि गोबर को राजकीय चिह्न बना देना चाहिए। चंद्राकर ने ट्वीट किया छत्तीसगढ़ के वर्तमान राजकीय चिह्न नरवा घुरवा की अपार सफलता और छत्तीसगढ़ की अर्थव्यवस्था में गोबर के महत्व को देखते हुए राजकीय प्रतीक चिह्न बना देना चाहिए। चंद्राकर के ट्वीट पर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के नेताओं सहित जिला के कांग्रेसी नेताओं के द्वारा भी टिप्पणी की जा रही है। इस कड़ी में जिला कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष शरद लोहाना ने कहा कि गाय के गोबर का बहुत महत्व है। गाय के गोबर से गौरी गणेश बनाये जाते हैं। गोबर से कंडे बनाये जाते हैं, जिससे हम भोजन बनाते हैं। गोबर के कंडे से मनुष्य का अंतिम संस्कार भी किया जाता है।

हिंदू धर्म की मान्यता के अनुसार जब कोई बड़ा यज्ञ, हवन या पूजा होती है तो पंचगब्य तैयार किया जाता है, जिसमें गाय का दूध, दही, घी, गाय का गोबर और गौमूत्र की आंशिक मात्रा मिला ग्रहण कर पूजा की शुरुआत की जाती है। गाय के गोबर से भोजन बनाने, लाइट जलाने गोबर गैस भी बनाई जाती है। घर द्वार की पुताई कर शुद्ध किया जाता है। विधायक अजय चंद्राकर ऐसे ही किसान विरोधी बयानबाजी करते रहेंगे तो जल्द ही आपको हम गोबर भेंट करने आपके पास आयेंगे। ब्लाक अध्यक्ष नरेश जसूजा, योगेश लाल ने कहा की आखिरकार भाजपा को गौ माता सनातन हिंदू धर्म छत्तीसगढ़, छत्तीसगढ़ की अस्मिता और छत्तीसगढ़ के राजकीय प्रतीक चिन्ह से इतनी नफरत क्यों है, भाजपा का असली चेहरा जिले के कद्दावर नेता पूर्व मंत्री के दो ट्वीट के बाद बेनकाब हो गया है। इसमें उन्होंने गोवंश और छत्तीसगढ़ राज्य के प्रतीक चिल्ह का अपमान किया है। 

 

26-05-2020
नेताओं सहित अन्य विशिष्ट व्यक्तियों की सुरक्षा व्यवस्था का होगा  ऑडिट, एसपी होंगे जिम्मेदार,दिशा-निर्देश जारी

रायपुर। राज्य शासन ने प्रदेश के सभी सांसदों,मंत्रियों,विधायकों और अन्य विशिष्ट व्यक्तियों की पुख्ता सुरक्षा व्यवस्था के निर्देश दिए हैं। सुरक्षा की दृष्टि से विशिष्ट व्यक्तियों को सुरक्षा श्रेणी प्रदान की गई है। सुरक्षा श्रेणी के अनुरूप अंगरक्षक और सुरक्षा अधिकारी लगाए गए हैं। इस संबंध में पुलिस महानिदेशक डीएम अवस्थी ने मंगलवार को बैठक लेकर विशिष्ट व्यक्तियों की सुरक्षा व्यवस्था की समीक्षा की। उन्होंने सभी पुलिस अधीक्षकों को विस्तृत दिशा-निर्देश जारी किए हैं।
डीजीपी अवस्थी ने प्रदेश के सभी सांसदों, मंत्रियों, विधायकों और अन्य विशिष्ट व्यक्तियों की सुरक्षा व्यवस्था का ऑडिट करने कहा है। ताकि सुरक्षा श्रेणी में तैनात पीएसओ की कार्य शैली और क्षमता को परखा जा सके। वे अपने कर्त्तव्य पर नियमित रूप से उपस्थित हो रहे है या नहीं, साथ ही उनके अनुशासन, सजगता और उनकी कार्यक्षमता सुरक्षा मापदण्डों के अनुरूप है अथवा नहीं, इसका ऑडिट हो सके। डीजीपी अवस्थी ने कहा कि विशिष्टि व्यक्तियों के निवास और उनके प्रवास कार्यक्रमों पर संबंधित पुलिस अधीक्षक उनकी सुरक्षा के लिए पूर्ण रूप से जिम्मेदार होंगे।डीजीपी ने इसके अलावा विशिष्ट व्यक्तियों को उपलब्ध वाहनों के रख-रखाव और चालक व फॉलो गार्ड में लगाए गए बल के शारीरिक दक्षता (फिजिकल फिटनेस) का भौतिक रूप से सुरक्षा  ऑडिट के निर्देश भी दिए हैं। उन्होंने कहा है कि मुख्यमंत्री के प्रत्येक भ्रमण में न केवल पर्याप्त रूप से पुख्ता सुरक्षा रखी जाए, बल्कि सुरक्षा के प्रभावी प्रयास (एएसएल) भी किया जाए। जिले में भ्रमण के दौरान सभी गणमान्य व्यक्तियों के पर्याप्त सुरक्षा प्रबंध किया जाए।उन्होंने कहा है कि विशिष्टि व्यक्तियों के नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में खासकर बस्तर संभाग, राजनांदगांव और कवर्धा प्रवास के दौरान अतिरिक्त रूप से सुरक्षा व्यवस्था लगाई जाए। यदि विशिष्ट व्यक्तियों को आवागमन सड़क मार्ग से हो तो रोड ओपनिंग पाटी और एंटी सेबोटेज टीम की ओर से नियमित रूप से जांच करा लिया जाए।

विशिष्ट व्यक्तियों के कार्यक्रम स्थल एवं विश्राम गृह में भी पर्याप्त सुरक्षा व्यवस्था लगाई जाए। यह ध्यान रखें कि किसी भी स्थिति में सुरक्षा बल अपर्याप्त नहीं हो, बल्कि परिस्थिति अनुसार निर्धारित मापदण्ड से अधिक बल की व्यवस्था रखी जाए। यदि विशिष्ट व्यक्ति रात्रि विश्राम करते हैं, तो जिम्मेदार अधिकारी के साथ कड़े सुरक्षा प्रबंध किए जाए।अवस्थी ने कहा है कि सभी पुलिस अधीक्षकों का यह दायित्व होगा कि वे सभी सांसदों, मंत्रियों, विधायकों और अन्य विशिष्ट व्यक्तियों के दूसरे जिलों में जाने की सूचना अनिवार्य रूप से संबंधित जिले के पुलिस अधीक्षक को दें, ताकि वहां सुरक्षा प्रबंध किया जा सके। पुलिस मुख्यालय में सहायक पुलिस महानिरीक्षक (सुरक्षा) की ओर से सभी वीआईपी मूव्हमेंट का तकनीकी ढांचा तैयार कर उसकी सतत मॉनिटरिंग करें। वीआईपी भ्रमण की पूर्व सूचना पुलिस महानिदेशक सहित सभी संबंधित पुलिस अधीक्षकों को अनिवार्य रूप से दी जाए। इसके साथ ही गुप्तवार्ता शाखा, विशेष आसूचना शाखा और आईबी से प्राप्त सभी इंटेलिजेंस इनपुट को भी गंभीरता से लेते हुए अक्षरश: पालन करते हुए कड़े सुरक्षा प्रबंध तय किए जाए। 

09-05-2020
महाराणा प्रताप की 480 जयंती आज, पीएम मोदी समेत इन नेताओं ने ट्वीट कर वीर शिरोमणि को किया नमन

नई दिल्ली। वीर शिरोमणि महाराणा प्रताप की आज यानी 9 मई को 480 जयंती है। राजस्थान के वीर सपूत, महान योद्धा और अदभुत शौर्य व साहस के प्रतीक महाराणा प्रताप जयंती पर देश भर में उन्हें पुष्पाजंलि दी जा रही है। हिंदू पंचांग के मुताबिक, प्रतिवर्ष ज्येष्ठ मास के शुक्ल पक्ष तृतीया को उनका जन्म हुआ। इस मौके पर देश भर के कई नेता उन्हें याद कर रहे हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी महाराणा प्रताप को उनकी जयंती पर याद करते हुए उन्हें कोटि-कोटि नमन किया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने महाराणा प्रताप को उनकी जयंती पर याद करते कहा कि भारत माता के महान सपूत महाराणा प्रताप को उनकी जयंती पर कोटि-कोटि नमन। देशप्रेम, स्वाभिमान और पराक्रम से भरी उनकी गाथा देशवासियों के लिए सदैव प्रेरणास्रोत बनी रहेगी। भारतीय जनता पार्टी(भाजपा) ने महाराणा प्रताप की जयंती पर उन्हें याद करते हुए कहा कि मातृभूमि की रक्षा के लिए अपना जीवन अर्पण करने वाले अदम्य साहस और स्वाभिमान के प्रतीक महाराणा प्रताप की जयंती पर शत्-शत् नमन।

27-04-2020
भाजपा नेताओं ने लगाया आरोप - महापौर और एमआईसी की विफलता से जल व्यवस्था चरमरा गई

रायपुर। भारतीय जनता पार्टी ने कांग्रेस पर आरोप लगाकर कहा कि लापरवाह कांग्रेस हाथ पर हाथ धरी बैठी है और पीलिया राजधानी के सभी वार्डों में पैर पसार रहा है। महापौर और एमआईसी की विफलता से जल व्यवस्था चरमरा गई है। सांसद सुनील सोनी, भाजपा प्रदेश प्रवक्ता संजय श्रीवास्तव ने पत्रकारों से संयुक्त चर्चा में कहा कि राजधानी में पीलिया का बढ़ता प्रकोप चिंता का विषय है। सड़ चुके पाईपों को तत्काल काटने, निगम परिषद को दलगल राजनीति से उठकर सभी पार्षदों और निर्दलीय पार्षदों के साथ समन्वय स्थापित कर व्यवस्था सुधारने की आवश्यकता है। वास्तव में पीलिया का मुख्य स्त्रोत प्रदुषित जल है, जिसे ठीक कराने में महापौर परिषद असफल साबित हो रही है। सांसद सुनील सोनी ने कहा कि निगम में एक अनुभवी प्लांट विशेषज्ञ की नियुक्ति नहीं होने के कारण राजधानी की जनता पीलिया का दंश झेल रही। रेगुलर बैकवॉश नहीं किए जाने का दुष्परिणाम आज सबके सामने है और हाईडोज क्लोरीन भी बेअसर हो रही है।संजय श्रीवास्तव ने कहा कि कई वर्षों से कांग्रेस के महापौर और उनकी परिषद कार्यरत है, आखिर क्या कारण है कि नगर निगम क्षेत्र राजधानी में समस्या जस की तस है? राजधानी की कई घनी बस्तियों में नलों के माध्यम से गंदा पानी पहुंच रहा है। निगम जल्द से जल्द पाईप बदलने का कार्य पूरा करे।

 

 

22-04-2020
व्यापारी परेशान और इधर उनके नेताओं ने साध ली चुप्पी, बढ़ी नाराजगी....

धमतरी। व्यापारी नेताओं के खिलाफ धमतरी के व्यापारियों में नाराजगी बढ़ने लगी है। कुछ व्यापारियों ने बताया कि लॉक डाउन के इस समय मे व्यापार ठप होने के कारण आर्थिक संकट से जूझना पड़ रहा है। चूंकि धमतरी ग्रीन जोन में है तो प्रशासन से कुछ रियायत मिली है, कलेक्टर का आदेश अभी प्रमुख अखबारों में प्रकाशित हुआ है। उक्त आदेश में मोबाइल रिचार्ज, पंखा, कूलर, ऐसी, वाहन पार्ट्स समेत कई अन्य दुकानें खोले जाने का उद्देश्य है। इस आदेश के बाद जब व्यापारियों ने अपनी दुकानें खोली तो पुलिस के द्वारा निर्धारित समय के पहले ही दुकानों को वापस बंद करा दिया गया। व्यापारियों का कहना है कि दुकान खोलने को लेकर असमंजस की स्थिति है, व्यापारियों के नेता बनने वाले तथा संगठन से जुड़े लोगों को ऐसे समय में आगे आकर व्यापारियों का पक्ष रखना चाहिए लेकिन कोई भी आगे नहीं आ रहा। चाहे व्यापारियों पर लगातार जुर्माना वसूला जा रहा हो या आदेश के बाद भी दुकान बंद कराई जा रही हो, व्यापारी नेताओ ने चुप्पी साध रखी है, मानो उन्हें व्यपारी हित से ज्यादा अधिकारियों से अपने सम्बन्ध की ज्यादा चिंता है, इसलिए व्यापारी हित को लेकर आवाज नहीं उठाई जा रही  है।

19-04-2020
पीएल पुनिया, मोतीलाल वोरा ने डीपी धृतलहरे के निधन पर शोक व्यक्त किया, कांग्रेस नेताओं ने दी श्रद्धांजलि

रायपुर। पूर्व मंत्री डीपी धृतलहरे के निधन पर कांग्रेस नेताओं ने श्रद्धांजलि अर्पित की है। शोक व्यक्त करते हुए एआईसीसी के छत्तीसगढ़ प्रभारी पीएल पुनिया कहा कि डीपी धृतलहरे जीवनभर अनुसूचित जाति वर्ग के हितों के लिए काम करते रहे। सतनामी समाज के जाने-माने नेता डीपी धृतलहरे का निधन मेरी व्यक्तिगत क्षति है। छत्तीसगढ़ कांग्रेस ने एक बड़ा नेता खो दिया है। अपार दुख की इस घड़ी में मैं और सभी कांग्रेस जन धृतलहरे परिवार के साथ शोकाकुल है। पूर्व मंत्री डीपी धृतलहरे के निधन पर गहरा शोक व्यक्त करते हुए वरिष्ठ कांग्रेस नेता एआईसीसी के महासचिव मोतीलाल वोरा  ने कहा  कि यह कांग्रेस परिवार की अपूरणीय क्षति है।

छत्तीसगढ़ के प्रभारी सचिव डॉ चंदन यादव, मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम, स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंह देव, गृह मंत्री ताम्रध्वज साहू ,कृषि मंत्री रविंद्र चौबे, नगरीय निकाय मंत्री डॉ. शिव कुमार डहरिया, उद्योग मंत्री कवासी लखमा, राजस्व मंत्री जयसिंह अग्रवाल, महिला बाल विकास मंत्री अनिला भेड़िया, शिक्षा मंत्री डॉक्टर प्रेमसाय सिंह, उच्च शिक्षा मंत्री उमेश पटेल, कांग्रेस पक्ष के सभी विधायकों, प्रदेश कांग्रेस के पदाधिकारियों सहित पूरे कांग्रेस परिवार ने पूर्व मंत्री डीपी घृतलहरे को श्रद्धांजलि अर्पित की है। विधानसभा अध्यक्ष डॉ. चरणदास महंत, विधानसभा उपाध्यक्ष मनोज मंडावी,प्रदेश कांग्रेस संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी, प्रदेश कांग्रेस के प्रभारी महामंत्री द्वय चंद्रशेखर शुक्ला और रवि घोष, प्रदेश कांग्रेस की कार्यकारिणी सदस्य और महिला कांग्रेस विभाग प्रभारी शकुन डहरिया ने भी पूर्व मंत्री डीपी धृतलहरे को श्रद्धांजलि अर्पित की है और धृतलहरे परिवार के साथ गहरी संवेदना व्यक्त की है।प्रदेश कांग्रेस संचार विभाग के सदस्य राजेन्द्र तिवारी, रमेश वल्यार्नी, सुरेन्द्र शर्मा, सुशील आनंद शुक्ला,आरपी सिंह, किरणमयी नायक ने भी पूर्व मंत्री डीपी धृतलहरे को श्रद्धांजलि अर्पित की है और धृतलहरे परिवार के साथ गहरी संवेदना व्यक्त की है।

 

22-03-2020
Breaking : मुठभेड़ में कई नक्सलियों के मारे जाने और घायल होने का मिला इनपुट, 14 जवान रायपुर में भर्ती

रायपुर। सुकमा जिले के एलमागुंडा के पास शनिवार को 5 घंटे तक पुलिस-नक्सली मुठभेड़ में कई बड़े नक्सली नेताओं के मारे जाने और घायल होने सूचना मिली है। मुठभेड़ में घायल 14 जवानों को रायपुर के रामकृष्ण केयर अस्पताल में भर्ती कराया गया है। इनमें से 12 जवानों की हालत सामान्य है और 2 जवान गंभीर रूप से घायल हैं। अभी तक किसी भी जवान के शहीद होने की सूचना नहीं है। मुठभेड़ में शामिल 13 जवानों से अभी तक संपर्क नहीं हो सका है। करीब 150 जवान की टीम अभी जंगल मे ही रुकी हुई है। पुलिस महानिदेशक डीएम अवस्थी ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से उनके  निवास कार्यालय में मुलाकात कर मुठभेड़ की जानकारी दी।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804