GLIBS
20-09-2020
सीएमएचओ ने दिया अल्टीमेटम,24 घंटे में काम पर नहीं लौटे तो सेवा होगी समाप्त

​महासमुंद। जिला मुख्य चिकित्सा स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. एसपी वारे ने सभी एनएचएम स्वास्थ्य अधिकारी-कर्मचारियों को जो शनिवार से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर हैं, उन्हें नोटिस जारी किया है। नोटिस में कहा गया है कि,यदि 24 घंटे के भीतर अपने कर्तव्य पर उपस्थित होकर सामान्य रूप से कार्य निष्पादित नहीं करते हैं,तो अधिकारी-कर्मचारियों के विरूद्ध कड़ी अनुशासनात्मक कार्रवाई की जाएगी। मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने कहा है कि, एस्मा भी लागू है। अधिनियम की कंडिका 5 का उल्लंघन किए जाने की स्थित में दण्डात्मक कार्यवाही का प्रावधान है, तो निम्नलिखित चार में से कोई एक या एक से अधिक विकल्पों को प्रभावशील किया जाएगा। छत्तीसगढ़ अत्यावश्क सेवा संधारण तथा विक्षिन्ता निवारण अधिकनियम 1979 के प्रावधान के तहत कार्यवाही की जाएगी। आपदा प्रबंधन अधिनियम 2005 की धारा 51 एवं 56 में उल्लेखित प्रावधानों के तहत कार्यवाही के लिए प्रस्ताव प्रेषित किया जाएगा। छत्तीसगढ़ एपिडेमिक डिसीज कोविड-19 रेगुलेशन्स 2020 में उल्लेखित प्रावधानों के तहत कार्यवाही और, राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के अन्तर्गत नियुक्ति एवं सेवा शर्तों में उल्लेखित कंडिकाओं के उल्लंघन करने के कारण सेवा समाप्ति की कार्यवाही की जाएगी।

जारी नोटिस में यह भी कहा गया है कि, उक्त अवधि के भीतर अपने कर्तव्य पर उपस्थित होकर सामान्य रूप से कार्य निष्पादन नहीं किया जाता हो, तो इस दशा में की गई कार्रवाई के लिए कर्मचारी स्वयं जिम्मेदार होंगे। राज्य स्तर से भी इस नाजुक दौर में अधिकारी कर्मचारियों से कार्य पर उपस्थित होने का आग्रह किया गया है। ​इसके तहत सख्त कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने अधिकारी कर्मचारी से आग्रह किया कि, वे कोरोना काल को ध्यान में रखते हुए अपने काम उपस्थित रहकर पीड़ितों की मदद करें। पूरा देश कोरोना को मात देने में जुटा हुआ है। स्वास्थ्य कर्मचारियों को यह व्यवहार कतई बर्दाश्त योग्य नहीं है। बल्कि इस संकट की घड़ी में अपनी संवेदनशीलता का परिचय देने का समय है। ​एनएचएम स्वास्थ्य कर्मचारी अनुपस्थित में आयुष मेडिकल आफिसर (आरबीएसके) सहित नर्स, लैब टेक्नीशियन समेत अन्य स्वास्थ्य कर्मचारी शामिल हैं। कोविड अस्पताल और कोविड केयर सेंटर सुचारू रूप से संचालित हुए और मरीजों का उपचार जारी रहा।

18-09-2020
सभी कारखानों में कहा, महिला व पुरुष कर्मचारी काम करते हो शौचालय की व्यवस्था करना होगा प्रबंधन को

रायपुर। अब सभी कारखानों में जहां महिला व पुरूष कर्मकार नियोजित हो वहां शौचालय की व्यवस्था होगी। राज्य शासन की ओर से छत्तीसगढ़ कारखाना नियम 1962 के नियम 46 में संशोधन किया गया है। संशोधन की अधिसूचना श्रम विभाग से मंत्रालय, महानदी भवन से जारी किया गया है। इसके अनुसार जिन कारखानों में महिला कर्मकार नियोजित हों वहां प्रत्येक 25 पच्चीस स्त्रियों के लिए कम से कम एक शौचालय की व्यवस्था अनिवार्य रूप से करना होगा। इसी प्रकार प्रत्येक 25 पुरूषों के लिए एक शौचालय की व्यवस्था करना जरूरी है । जहां पर पुरूषों की संख्या 100 से ज्यादा हो तो वहां प्रथम 100 तक प्रति 25 पुरूषों के लिए एक शौचालय और पश्चात प्रति 50 पुरूषों के लिए एक शौचालय की व्यवस्था करना होगा। महिला शौचालयों में भारतीय मानकों के अनुरूप पर्याप्त मात्रा में सैनेटरी नैपकिन उपल्ब्ध कराना होगा और दैनिक आधार पर फिर से उसकी आपूर्ति करना होगा। उपयोग किए गए नेपकिन का निपटारा निरिक्षक से अनुमोदित प्रक्रिया के अनुसार किया जाएगा। शौचालय में डिस्पोजेबल डिब्बे ढक्कन के साथ रखना होगा।

 

11-09-2020
सचिव आर.प्रसन्ना ने अधिकारियों से कहा, मुख्यमंत्री सुपोषण अभियान पर प्रभावी रूप से करें काम

कांकेर। राज्य शासन द्वारा दिये गये निर्देशानुसार जिले में आंगनबाड़ी केन्द्रों का संचालन शुरू हो गया है तथा गर्भवती एवं एनिमिक महिलाओं और आंगनबाड़ी केन्द्रों के बच्चों को गरम भोजन का वितरण किया जा रहा है। महिला बाल विकास विभाग के सचिव आर. प्रसन्ना एवं कलेक्टर केएल चौहान ने उद्यान, पशुचिकित्सा और महिला एवं बाल विकास विभाग के अधिकारियों की बैठक ली। बैठक में उन्होंने कुपोषण कम करने एवं मुख्यमंत्री सुपोषण अभियान के प्रभावी क्रियान्वयन तथा ग्राम पंचायत के गौठानों में निर्मित मुर्गी सेट में एनआरएलएम के महिला स्व सहायता समूहों के माध्यम से मुर्गी पालन कर अण्डा उत्पादन को बढ़ावा देकर उसका उपयोग आंगनबाडी केन्द्रों में करने के लिए निर्देश दिये। सभी आंगनबाडी केन्द्रों, स्कूलों, आश्रम शालाओं तथा छात्रावासों में अधिक से अधिक मुनगा के पौधेरोपण करने के निर्देश भी दिए। बैठक में महिला एवं बाल विकास विभाग के जिला कार्यक्रम अधिकारी किशनक्रांति टंडन, उप संचालक पशुचिकित्सा सेवाएं एलपी सिंह, सीडीओपी सीएस मिश्रा, सहायक संचालक उद्यानिकी व्हीके गौतम, आंकाक्षी जिला फेलो अंकित पिंगले और नेहा सिंह, परियोजना अधिकारी कांकेर त्रिभुवन ध्रुव, चारामा शकुंतला कोमरे, दुर्गूकोंदल सुमन नेताम, नरहरपुर निर्मला ध्रुव उपस्थित थीं।

 

09-09-2020
रोस्टर के मुताबिक मंत्रालय और इंद्रावती भवन में कर्मचारी करेंगे काम, स्वास्थ्य परीक्षण सहित होगी विशेष व्यवस्थाएं

रायपुर। कोरोना संक्रमण के कारण मंत्रालय महानदी भवन और इंद्रावती भवन विभागाध्यक्ष कार्यालयों के अधिकारियों और कर्मचारियों में कतिपय असमंजस की स्थिति के निवारण के लिए  मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने शीघ्र समाधान के निर्देश दिए हैं। मुख्यसचिव आरपी मंडल के मार्गदर्शन को ध्यान में रखते हुए जीएडी के सचिव द्वय ने बुधवार को कर्मचारी संघों के प्रतिनिधियों से चर्चा कर अनेक निर्णय लिए हैं। मुख्य सचिव ने इस संबंध में विस्तृत दिशा-निर्देश जारी किए हैं। इसके अनुसार इन कार्यालयों के उच्चाधिकारियों को कार्यालयों में सैनेटाइजेशन, स्वास्थ्य परीक्षण और उपस्थिति के लिए रोस्टर तैयार करने के निर्देश दिए गए हैं। आगामी शुक्रवार से रविवार तक मंत्रालय और विभागाध्यक्ष कार्यालयों को पूर्ण रूप से सैनेटाइज करने और अनुभाग अधिकारी और उससे नीचे के कर्मचारियों की उपस्थिति के लिए सप्ताहिक रोस्टर बनाने के लिए कहा गया है।

सप्ताहिक रोस्टर में अधिकतम एक तिहाई अधिकारी और कर्मचारी की ड्यूटी लगाई जा सकेगी। मंत्रालयों में संयुक्त सचिव, उप सचिव और अवर सचिव में से कोई एक इसी प्रकार विभागाध्यक्ष कार्यालयों में अतिरिक्त संचालक, अपर संचालक, उप संचालक में से कोई एक अधिकारी कार्यालयीन समय में उपस्थित रहेंगे। मंत्रालय और विभागाध्यक्ष कार्यालयों में हर सप्ताह तीन दिन सोमवार, मंगलवार और बुधवार को स्वास्थ्य परीक्षण शिविर भी लगाया जाएगा। इसके अलावा मंत्रालय और विभागाध्यक्ष कार्यालयों में आने-जाने के लिए बसों की संख्या में भी वृद्धि की जाएगी।

 

04-09-2020
अनिला भेंडिया ने आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं और सहायिकाओं को लिखा पत्र,कहा-इस माह सक्रियता से काम करें

रायपुर। महिला एवं बाल विकास मंत्री अनिला भेंडिया ने आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं और सहायिकाओं को पत्र लिखा है। उन्होंने राष्ट्रीय पोषण माह के दौरान पूर्ण सक्रियता से काम करने कहा है। इससे 'गढ़बो सुपोषित छत्तीसगढ़' की अवधारणा को मूर्त रूप दिया जा सके। उन्होंने कहा है कि ,राष्ट्रीय पोषण माह हमारे लिए एक अवसर है, जिससे हम गंभीर रूप से कुपोषित बच्चों की जल्दी पहचान कर और संदर्भित कर बेहतर परिणाम प्राप्त कर सकते हैं। उन्होंने कहा है कि, कुपोषण और एनिमिया को दूर करने के लिए व्यवहार परिवर्तन एक बेहतर साधन है, जिसे हम पोषण माह के दौरान प्रभावी तरीके से प्राप्त कर सकते हैं। राज्य में आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं, सहायिकाओं, मितानीन, एएनएम और क्षेत्रीय अमले ने कोविड-19 के संक्रमण के समय भी घर-घर पहुंच कर एक कोरोना योद्धा की तरह उल्लेखनीय कार्य किया है। इस उल्लेखनीय कार्य के लिए मंत्री अनिला भेंडिया सभी को बधाई देते हुए आभार प्रकट किया है। मंत्री भेंडिया ने कहा है कि, प्रदेश में 1 से 30 सितंबर तक पोषण माह आयोजित किया जा रहा है। राज्य में बच्चों में व्याप्त कुपोषण, बालिकाओं और महिलाओं में एनिमिया को पूरी तरह समाप्त करने के लिए हम संकल्पित है।

इसके लिए निरंतर प्रयास कर रहे हैं। राष्ट्रीय पोषण माह में डिजीटल माध्यम सहित अन्य प्रभावी माध्यमों से प्रत्येक व्यक्ति, प्रत्येक परिवार और जन समुदाय तक पहुंच बनाकर कुपोषण और एनिमिया को समाप्त करने के लिए सभी आंगनबाड़ी कार्यकर्ता और सहायिका बहनें संकल्प लें। सभी बहनें 1 से 30 सितंबर तक प्रतिदिन के लिए निर्धारित कार्ययोजना अनुसार कार्य करें। स्थानीय स्तर पर, घरों में, घर और कार्यालय की छतों पर, आंगनबाड़ी में, स्कूल में, खेत में, बगीचे में पोषण वाटिका बनाएं। उन्होंने कहा है कि, बच्चे के जन्म के 1 घंटे के भीतर स्तनपान, 6 माह तक सिर्फ स्तनपान के बाद निरंतर स्तनपान और पौष्टिक उपरी आहार बच्चे को दिया जाना आवश्यक है। स्तनपान करने वाले बच्चों की प्रतिरोधक क्षमता ऐसे बच्चे जो स्तनपान नहीं करते उनसे काफी अधिक होती है। इसके लिए लोगों में जागरुकता जरूरी है। पोषण माह में अधिक से अधिक जन जागरुकता की कोशिश करें। कुपोषण और एनिमिया की रोकथाम के लिए हमारे ये प्रयास कारगर कदम होंगे। हम सही पोषण-छत्तीसगढ़ रोशन की अवधारणा को मूर्त रूप दे सकेंगे।

 

31-08-2020
42 गांव के विस्थापन के बाद ही बोधघाट का काम शुरू किया जाएगा : दीपक बैज

रायपुर/जगदलपुर। बस्तर सांसद दीपक बैज प्रेसवार्ता में कहा कि जब तक बस्तर के नेता और जनता की राय एकमत होगी तभी बोधघाट परियोजना का काम को शुरू किया जाएगा। उन्होंने ये भी कहा कि बस्तर के आदिवासी की चिंता प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को है और 42 गांव के पूरी विस्थापन के बाद ही काम को आगे बढ़ाया जाएगा। चित्रकोट के विधायक राजमन बेंजाम ने बोधघाट बहुउद्देशीय सिंचाई परियोजना के काम को आगे बढ़ाने के लिए अनुपूरक बजट में राशि का प्रावधान किए जाने के लिए मुख्यमंत्री भूपेश बघेल का आभार जताया। उन्होंने कहा कि बोधघाट परियोजना के लिए राज्य सरकार द्वारा की जा रही पहल को लेकर बस्तर अंचल में लोग हर्षित हैं। चित्रकोट के विधायक के इस बयान के बाद बस्तर सांसद दीपक बैज ने इस पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए सफाई दी है। गौरतलब है कि बस्तर संभाग की महती बोधघाट परियोजना को लेकर प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और बस्तर के नेता चिंतित है, बोधघाट परियोजना बनने से 42 गांव डूबान में आ रहे हैं और इसके लिए मुख्यमंत्री और उनके मंत्रिमंडल ने बीते दिनों बैठक कर जानकारी ली और बस्तर के जनप्रतिनिधियों से भी राय ली गई और उसके लिए कार्ययोजना बनने से पहले आदिवासियों के विस्थापन पर विचार किया जाए और इसके लिए जनता से भी राय ली जाए कि किसी भी जोर जबरदस्ती करके बोधघाट परियोजना का निर्माण ना करे।

 

25-07-2020
आदेश के बाद भी नहीं रुका भवन निर्माण का काम, मौके पर पहुंचकर तहसीलदार ने की कार्रवाई

कोड़ातराई/रायगढ़। तहसीलदार पुसौर के द्वारा काम रोकने दिए गए आदेश की धज्जियां उड़ाकर कोड़ातराई में दुकान और भवन निर्माण कार्य चल रहा था। मौके पर पहुंची तहसीलदार माया अंचल ने सभी काम रुकवाए। बता दें की कोड़ातराई में सड़क किनारे चल रहे निर्माण कार्य को लेकर, दो पक्षों में जमीन संबंधी विवाद चल रहा था। इसमें ज्योति शर्मा ने तहसीलदार न्यायालय में प्रकरण दर्ज करवाया था। दर्ज किए गए प्रकरण के मुताबिक ज्योति शर्मा की एक डिसमिल जमीन पर उर्मिला साहू ने कब्जा कर दीवार निर्माण कर लिया है। उक्त प्रकरण पर तहसीलदार ने काम रोकने के लिए आदेश जारी किया था। और सुनवाई के किये अगली तारीख 17 अगस्त तय की गई थी। लेकिन उर्मिला साहू ने स्थगनादेश को नहीं मानते हुए, निर्माण कार्य जारी रखा। जिस पर खुद तहसीलदार माया अंचल ने मौके पर पहुंचकर कार्य रुकवाया और मौके पर ही पटवारी को सामान जब्त करने के आदेश दिए।

01-07-2020
कंपनी में काम करते हुए मजदूर झुलसा, इलाज के दौरान मौत

रायपुर। कंपनी में काम करते समय मजदूर के उपर गर्म मेटल गिरने से इलाज के दौरान मौत हो गई। कंपनी प्रबंधक व सुपरवाइजर के खिलाफ मजूदरों से काम लेते समय सुरक्षा व्यवस्था का ध्यान नहीं रख लापरवाही पूर्वक काम कराने के मामले में रिपोर्ट खमतराई थाने में दर्ज की गई है। पुलिस से प्राप्त जानकारी के अनुसार खमतराई स्थित कंपनी में काम करते समय बीरगांव उरला निवासी श्रवण कुमार पाण्डे के उपर गर्म मेटल गिर जाने से वह बुरी तरह झुलस गया। इलाज के लिये उसे निजी अस्पताल में भर्ती किया गया था। 25 जून को उसकी मौत हो जाने पर पुलिस ने कंपनी प्रबंधक व सुपरवाइजर के खिलाफ बिना सुरक्षा व्यवस्था मजूदरों से काम कराने के जुर्म में अपराध दर्ज कर उनके खिलाफ आईपीसी की धारा 304 ए 34 के तहत अपराध दर्ज किया है।

 

28-06-2020
घर से काम के लिए निकला पेंटर तालाब के पास अधमरा हालात में मिला

रायपुर/बिलासपुर। सरकंडा थाना क्षेत्र के चौबे कॉलोनी के पीछे बंधवापारा में रहने वाला पेंटर बेहोशी की हालत में जांजी तालाब के पास मिला। आरोपियों ने उसकी पिटाई कर हाथ व पैर को रस्सियों से बांध दिया था। घायल 25 जून की सुबह काम पर जाने की बात कह कर घर से निकला था। सूत्रों के मुताबिक सरकंडा क्षेत्र के बंधवापारा निवासी प्लंबर अश्वनी कुंभकार का भतीजा प्रमोद कुमार 25 जून की सुबह अपने चाचा से काम पर जाने की बात कहते हुए घर से निकला था। उसके बाद वह घर नहीं लौटा। शनिवार की सुबह उसे घर के फोन पर एक व्यक्ति ने फोन कर यह जानकारी दी कि उसका भतीजा जांजी तालाब के पास बेहोश पड़ा है।

उसके हाथ व पैर रस्सी से बंधे हुए हैं। जानकारी मिलते ही अश्वनी मौके में गया। तो उसने देखा कि वहां लोगों की भीड़ है, जिसमें कुछ परिचित भी थे। घायल को बंधन मुक्त करने के बाद लोगों की मदद से सिम्स में भर्ती कराया गया। घटना के संबंध में पूछने पर घायल ने बताया कि वह बीती रात तालाब की ओर गया था। वहां तीन लोग पहले से बैठे थे उसे पास बुलाया। फिर सिर में किसी भारी चीज से वार किया। इससे वह बेहोश हो गया था। इसके बाद आरोपी हाथ पर बांध कर मरा हुआ समझ छोड़कर भाग गए। इसके अलावा वह कुछ भी बताने की स्थिति में नहीं है। अश्वनी कुंभकार की रिपोर्ट पर सरकंडा पुलिस ने अज्ञात आरोपियों के खिलाफ धारा 307 के तहत जुर्म दर्ज किया है। घायल के होश में आने के बाद ही वारदात के सही कारणों का खुलासा होने की संभावना है।

20-06-2020
भूपेश सरकार ने अटल की कल्पना के भव्य छत्तीसगढ़ को रसातल में ले जाने का काम किया : विक्रम उसेंडी

रायपुर। भारतीय जनता पार्टी के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष विक्रम उसेंडी ने शनिवार को कुशाभाऊ ठाकरे स्मृति परिसर में जिला जनसंवाद कार्यक्रम में भिलाई जिले की वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग सभा को संबोधित किया। उसेंडी ने कहा है कि एक तरफ प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी देश की तकदीर और तस्वीर संवारने का काम कर रहे हैं, तो दूसरी ओर छत्तीसगढ़ में राज्य सरकार ने पूर्व प्रधानमंत्री अटल की कल्पना के भव्य छत्तीसगढ़ को रसातल में ले जाने का काम किया है। गंगाजल हाथ में लेकर कसमें खाने के बाद भी प्रदेश सरकार ने किसानों, आदिवासियों, युवकों, मजदूरों, महिलाओं, तेंदूपत्ता संग्राहकों उनके परिजनों सहित सभी वर्गों के साथ वादाखिलाफी, दगाबाजी की।

उसेंडी ने प्रदेश में विकास के काम ठप होने, माफिया राज-गुंडा राज कायम होने की बात कही। उन्होंने प्रदेश सरकार की विफलताओं के लेकर चैतन्य जनमत के निर्माण में जुट जाने की अपील भाजपा कार्यकर्ताओं से की। उसेंडी ने कहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में केंद्र सरकार ने भाजपा के घोषणापत्र में व्यक्त संकल्पों पर काफी तेजी से काम कर भाजपा की वैचारिक अवधारणा को साकार किया है। स्वाभिमानी, समृद्ध और शक्तिशाली देश के निर्माण की दिशा में आने वाले वर्षों में भी मील के पत्थर स्थापित करने का काम होगा। उसेंडी ने केंद्र सरकार के पहले कार्यकाल में हुए कार्यों और दूसरे कार्यकाल में लिए गए बड़े फैसलों की चर्चा की। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में देश में अभूतपूर्व विश्वास का वातावरण निर्मित हुआ है। भारत की आन-बान-शान विश्व मंच पर स्थापित हुई है। प्रधानमंत्री मोदी एक वैश्विक नेता के रूप में उभरे हैं और भारत विश्व का नेतृत्व करने की क्षमता से भरपूर नजर आ रहा है। कोरोना संकट का दूरदर्शितापूर्ण फैसलों से डटकर मुकाबला करके प्रधानमंत्री मोदी ने आत्मनिर्भर भारत के निर्माण की परिकल्पना रखकर स्वदेशी अपनाने पर जोर दिया है। इस मौके पर औषधीय पादप बोर्ड के पूर्व अध्यक्ष रामप्रताप सिंह ने भी अपने विचार रखे। बता दें कि प्रदेश भाजपा की ओर से केंद्र सरकार के दूसरे कार्यकाल के एक वर्ष पूर्ण होने पर, जिला स्तर पर इन सभाओं का आयोजन किया जा रहा है। सभा के क्रम में शनिवार की यह पहली सभा थी।

सभा की शुरुआत पूर्व विधायक व जिला अध्यक्ष सांवलाराम डहरे के संबोधन से हुई। दुर्ग के संसद सदस्य विजय बघेल ने भी अपने विचार रखे। भाजपा वर्चुअल रैली के प्रदेश संयोजक व पूर्व मंत्री राजेश मूणत ने सभा की कार्यवाही संचालित करते हुए प्रास्ताविक भाषण दिया। कार्यक्रम के अंत में भाजपा किसान मोर्चा के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष संदीप शर्मा ने सबको आत्मनिर्भर भारत की संरचना का संकल्प दिलाया। आभार प्रदर्शन पूर्व संसदीय सचिव लाभचंद बाफना ने किया। इस मौके पर प्रदेश महामंत्री (संगठन) पवन साय, पूर्व मंत्री प्रेमप्रकाश पांडेय, विधायक विद्यारतन भसीन, आईटी सेल के प्रदेश संयोजक दीपक म्हस्के, महामंत्री द्वय खिलावन साहू व विनीत वाजपेयी, सुरेंद्र सिंह केम्बो, भाजपा नेत्री चंद्रकला सहित बड़ी संख्या में पदाधिकारी, कार्यकर्ता वर्चुअली जुड़े थे।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804