GLIBS
22-10-2019
3 नवम्बर को राष्ट्रीय प्रतिभा खोज परीक्षा 

रायपुर। राष्ट्रीय प्रतिभा खोज परीक्षा और राष्ट्रीय साधन सह प्रावीण्य छात्रवृत्ति परीक्षा के माध्यम से उत्कृष्ट विद्यार्थियों को अपनी प्रतिभा को प्रदर्शित करने का अवसर मिलता है। राष्ट्रीय प्रतिभा खोज परीक्षा स्टेज-1 और राष्ट्रीय साधन सह प्रावीण्य छात्रवृत्ति परीक्षा नवम्बर माह में आयोजित की जाती है। यह परीक्षा इस वर्ष 3 नवम्बर को प्रदेश के 50 परीक्षा केन्द्र में आयोजित की जाएगी। राष्ट्रीय प्रतिभा खोज परीक्षा में कक्षा 10वीं में अध्ययनरत और राष्ट्रीय साधन सह प्रावीण्य छात्रवृत्ति परीक्षा में कक्षा 8वीं में अध्ययनरत विद्यार्थी शामिल होंगे। राष्ट्रीय प्रतिभा खोज परीक्षा के लिए पाठ्यक्रम कक्षा 10वीं तक और राष्ट्रीय साधन सह प्रावीण्य छात्रवृत्ति परीक्षा के लिए विद्यालयों में प्रचलित कक्षा आठवीं तक पाठ्यक्रम निर्धारित है। परीक्षाओं हिन्दी और अंग्रेजी दोनो माध्यम से आयोजित की जाती है। दोनों परीक्षाओं के लिए दो-दो प्रश्न पत्र होंगे। तीन नवम्बर को प्रातः 10 बजे से 12 बजे तक बौद्धिक योग्यता परीक्षण और दोपहर 1 बजे से 3 बजे तक शैक्षणिक योग्यता परीक्षण की परीक्षा होगी। राष्ट्रीय प्रतिभा खोज परीक्षा में बौद्धिक योग्यता परीक्षण के 100 और राष्ट्रीय साधन सह प्रावीण्य छात्रवृत्ति परीक्षा में बौद्धिक योग्यता परीक्षण के 90 प्रश्न होंगे। इसी प्रकार द्वितीय प्रश्न पत्र में राष्ट्रीय प्रतिभा खोज परीक्षा के लिए गणित विषय के 20, विज्ञान (भौतिक शास्त्र, रसायन शास्त्र, जीव विज्ञान) विषय के 40 और सामाजिक विज्ञान (इतिहास, भूगोल, नागरिक शास्त्र और अर्थशास्त्र) विषय के 40 प्रश्न होंगे। प्रत्येक वस्तुनिष्ठ प्रश्न एक पर एक अंक निर्धारित है। इन परीक्षाओं के लिए 14 सितम्बर तक आवेदन मंगाए गए थे। जिसमें किसी प्रकार का शुल्क नहीं लिया गया।
राष्ट्रीय प्रतिभा खोज परीक्षा प्रथम स्तर में छत्तीसगढ़ राज्य के सभी मान्यता प्राप्त विद्यालयों में कक्षा 10वीं में अध्ययनरत विद्यार्थी शामिल होंगे। इस परीक्षा में शामिल होने आय का कोई बंधन नहीं है। प्रथम स्तर की परीक्षा राज्य शैक्षिक अनुसंधान एवं प्रशिक्षण परिषद द्वारा आयोजित की जाती है। द्वितीय स्तर की परीक्षा राष्ट्रीय शैक्षिक अनुसंधान एवं प्रशिक्षण परिषद नई दिल्ली द्वारा आयोजित की जाएगी। द्वितीय स्तर की परीक्षा में चयनित प्रतिभागियों को भारत सरकार के मानव संसाधन विकास मंत्रालय नई दिल्ली द्वारा कक्षा 11वीं और 12वीं में 1250 रूपए प्रतिमाह, स्नातक एवं स्नातकोत्तर स्तर पर 2000 रूपए प्रतिमाह और पी.एच.डी. में विश्वविद्यालय अनुदान आयोग के नॉर्मस के अनुसार छात्रवृत्ति प्रदान की जाती है। राष्ट्रीय साधन सह प्रावीण्य छात्रवृत्ति परीक्षा छत्तीसगढ़ शासन द्वारा संचालित शासकीय और अशासकीय अनुदान प्राप्त, नगर निगम, नगर पालिका विद्यालय में अध्ययनरत ऐसे विद्यार्थी जिन्होंने पिछली कक्षा सातवी की परीक्षा कम से कम 55 प्रतिशत (अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति के लिए 5 प्रतिशत छूट) अंक के साथ उत्तीर्ण की हो। जिनके पिता या पालक की वार्षिक कुल आय डेढ़ लाख रूपए से अधिक ना हो, वे शामिल हो सकते हैं। इस परीक्षा में चयनित विद्यार्थियों को शासन द्वारा प्रदत्त किसी एक छात्रवृत्ति का लाभ मिल सकेगा। चयनित विद्यार्थियों को कक्षा बारहवीं तक प्रतिमाह एक हजार रूपए की छात्रवृत्ति प्रदान की जाती है।

06-08-2019
ब्लॉक स्तरीय खेल प्रतियोगिता में खिलाड़ियों ने दिखाई प्रतिभा

जांजगीर चांपा। स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा खेल और खिलाडियों के कौशल को निखारने एवम् विद्यार्थियों को खेल के क्षेत्र में भविष्य गढ़ने के लिए प्रयास की तरफ प्रदेश में विकासखंड स्तरीय शालेय क्रीड़ा प्रतियोगिता 2019-20 का आयोजन किया जा रहा है। इसके अंतर्गत शासकीय उच्चतर माध्यमिक शाला कुटराबोड़, ब्लॉक-जैजैपुर में खो-खो खेल में 19 वर्ष वर्ग में बालक/बालिकाओं का ब्लॉक से आये खिलाडियों के बीच जबरदस्त खेल देखने के मिला। कार्यक्रम का उदघाटन कुटराबोड स्कूल के प्राचार्य जीपी कमलेश, पीआर साहू,गिरीश चंद्रा,अनिल चंद्रा, पंकज कतेंदर,आरसी देवांगन,बीआर चंद्रा,पीएल खुंटे ,सावित्री श्रेय, टी.टंडन, एमएल पंकज, एसके टंडन,लता चंद्रा, खगेश भारद्वाज एवं श्री तेंदुलकर द्वारा किया गया। बालक वर्ग में फाइनल मैच में संत अन्फ़ोनशा स्कूल देवरघटा  विजेता रहे। जबकि उपविजेता जीएससी स्कूल जैजैपुर व बालिका वर्ग में विजेता संत आल्फोंशा स्कूल देवरघटा और उपविजेता साकेत विद्या निकेतन स्कूल काशीगढ़ रही। सभी टीमोंं से उत्कृष्ट प्रदर्शन के आधार पर कल से होने वाली जिला स्तरीय प्रतियोगिता के लिए खिलाडियों का चयन किया गया। इसमें से उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले खिलाड़ियों का सम्भाग व राज्य स्तरीय खेलों के लिए चुनाव किया जायेगा। इस दौरान खेल के लिए आयोजित स्थल में खामियां देखने को मिली। इसमें खेल के मैदान में प्रतिभागियों के बैठने के लिए समुचित व्यवस्था नहीं होना। खिलाड़ियों के लिए स्वल्पाहार आदि का व्यवस्था नहीं होना आदि है। 

 

15-01-2019
MLA Arun Vora: प्रतियोगिता से ही आता है प्रतिभा में निखार : विधायक अरुण वोरा

 दुर्ग। शहर विधायक अरुण वोरा ने मंगलवार को बैगा पारा स्थित मिनी स्टेडियम में बालिका खेल स्पर्धा का शुभारंभ किया। तिलक स्कूल की मेजबानी में संकुल स्तरीय अन्तरशालेय बालिका खेल प्रतियोगिता का आयोजन किया गया है जिसमे 500 से अधिक बालिकाएं कबड्डी , खोखो, 100 मीटर एवं 200 मीटर दौड़, रिले रेस, गोला फेंक, लंबी कूद आदि खेलों में हिस्सा लेंगी । कार्यक्रम के मुख्य अतिथि विधायक अरुण वोरा ने कहा कि खेल को हार जीत से परे खेल भावना से खेलना चाहिए और जहां प्रतियोगिता कड़ी होती है वहीं प्रतिभा में निखार आता है।  नोडल अधिकारी एवं तिलक स्कूल की प्राचार्या दीप्ति गुप्ता ने बताया कि बालिका प्रोत्साहन खेल स्पर्धा 2019 के आयोजन का मुख्य लक्ष्य 9वीं से 12वीं तक की छात्राओ में छिपी हुई खेल प्रतिभा को बाहर लाना है।  उनके निवेदन पर विधायक वोरा ने मिनी स्टेडियम के संधारण एवं रखरखाव के लिए 10 लाख रुपए विधायक निधि से स्वीकृत किए।  इस दौरान सभापति राजकुमार नारायणी, पार्षद राजेश शर्मा, सुरेंद्र राजपूत, अंशुल पांडेय, आयुष शर्मा आदि मौजूद थे।

15-01-2019
MLA Arun Vora: प्रतियोगिता से ही आता है प्रतिभा में निखार : विधायक अरुण वोरा

 दुर्ग। शहर विधायक अरुण वोरा ने मंगलवार को बैगा पारा स्थित मिनी स्टेडियम में बालिका खेल स्पर्धा का शुभारंभ किया। तिलक स्कूल की मेजबानी में संकुल स्तरीय अन्तरशालेय बालिका खेल प्रतियोगिता का आयोजन किया गया है जिसमे 500 से अधिक बालिकाएं कबड्डी , खोखो, 100 मीटर एवं 200 मीटर दौड़, रिले रेस, गोला फेंक, लंबी कूद आदि खेलों में हिस्सा लेंगी । कार्यक्रम के मुख्य अतिथि विधायक अरुण वोरा ने कहा कि खेल को हार जीत से परे खेल भावना से खेलना चाहिए और जहां प्रतियोगिता कड़ी होती है वहीं प्रतिभा में निखार आता है।  नोडल अधिकारी एवं तिलक स्कूल की प्राचार्या दीप्ति गुप्ता ने बताया कि बालिका प्रोत्साहन खेल स्पर्धा 2019 के आयोजन का मुख्य लक्ष्य 9वीं से 12वीं तक की छात्राओ में छिपी हुई खेल प्रतिभा को बाहर लाना है।  उनके निवेदन पर विधायक वोरा ने मिनी स्टेडियम के संधारण एवं रखरखाव के लिए 10 लाख रुपए विधायक निधि से स्वीकृत किए।  इस दौरान सभापति राजकुमार नारायणी, पार्षद राजेश शर्मा, सुरेंद्र राजपूत, अंशुल पांडेय, आयुष शर्मा आदि मौजूद थे।

12-01-2019
Bastar: गणित और अंग्रेजी मेले में बस्तर के हजारों बच्चों ने दिखाई प्रतिभा

जगदलपुर। बस्तर के बच्चों में छुपी हुई प्रतिभाओं को ढूंढने और उन्हें निखारने के लिए जिला प्रशासन द्वारा किए जा रहे प्रयासों के तहत दो दिवसीय गणित और अंग्रेजी मेले का आयोजन किया गया। 114 स्थानों में आयोजित इस मेले  में 128 संकुलों की 638 माध्यमिक शालाओं के 35 हजार से अधिक विद्यार्थी  शामिल हुए। बच्चों की हिचक को दूर करने और उन्हें अपनी प्रतिभा के प्रदर्शन का अवसर प्रदान करने के लिए आयोजित इस मेला का विद्यार्थियों ने भरपूर लाभ उठाया। गणित मेले में नवोदय और नेशनल अचिवमेंट सर्वे पर आधारित प्रश्नोत्तरी, स्पीड मेथ्स तथा क्विज प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। क्विज प्रतियोगिता में एनकाउंटर राउंड जैसे मजेदार राउंड रखे गए, जिसमें प्रतिभागी एक-दूसरे से सवाल करते दिखे। इसी तरह अंग्रेजी मेले में मेमोरी गेम, शब्द खोजो, ड्रामा, पोयम विथ एक्षन, पंक्चुअलिटी आदि गतिविधियां आयोजित की गईं। इस आयोजन में कोलेंग जैसे दूरदराज के क्षेत्र सहित पूरे बस्तर जिले के बच्चे उत्साह के साथ शामिल हुए और अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन किया। 

10-01-2019
Chhattisgarh: छत्तीसगढ़ के परंपरागत खेल भौंरा में बच्चों ने दिखाई प्रतिभा

दुर्ग। शासकीय पूर्व माध्यमिक शाला लिटिया विकासखंड धमधा में गुरुवार को छत्तीसगढ़ के परंपरागत खेल भौंरा का आयोजन किया गया। इसमें पूर्व माध्यमिक शाला के कक्षा छठवीं, सातवीं एवं आठवीं के विद्यार्थियों ने भाग लिया। कक्षा छठवीं के मैच में हरिशंकर ने 6 अंक प्राप्त कर फाइनल में प्रवेश किया। सातवीं से संघर्षपूर्ण मुकाबले में कुलदीप एवं कुलेश्वर ने समान अंक प्राप्त कर फाइनल में प्रवेश किया। कक्षा आठवीं से भूषण ने केवल 1 अंक की बढ़त लेकर फाइनल में प्रवेश किया। फाइनल मुकाबले में भूषण ने कुलेश्वर को निर्धारित समय में 1 अंक के मामूली अंतर से हराकर रोमांचक जीत दर्ज की।  प्रतियोगिता में हरिशंकर तीसरे स्थान पर रहे। यह पहला मौका था जब छत्तीसगढ़ के परंपरागत खेलों का आयोजन, संरक्षण एवं संवर्धन के उद्देश्य से विद्यालय स्तर पर स्थानीय नियमों के आधार पर किया गया। प्रतियोगिता में विजयी खिलाडिय़ों को विद्यालय की प्राचार्य आई. लक्ष्मी तुलसी, पूर्व माध्यमिक विद्यालय लिटिया की  प्रधान पाठिका वर्षा तैलंग, अध्यापिका पिंकी श्रीवास्तव, नीतू टिकरिया, नीतू हरमुख, हेमलता शर्मा, संगीता बैस व  प्राथमिक शाला के प्रधानपाठक धनेश कुमार श्याम ने शुभकामनाएं दीं। प्रतियोगिता के निर्णायक अर्जुन लाल सेन, भूषण कुमार व आयोजक विद्यालय के व्यायाम शिक्षक पवन यादव थे।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804