GLIBS
04-03-2021
टीएस सिंंहदेव ने कहा-त्रिपुरा सद्भाव के लिए जाना जाता है,यहां सांप्रदायिकता को बढ़ावा दिया जा रहा 

रायपुर/अगरतला। छत्तीसगढ़ के स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव केंद्रीय आलाकमान के निर्देश पर त्रिपुरा जनजातीय क्षेत्र स्वायत्त परिषद चुनाव में प्रेक्षक व प्रबंधक का दायित्व निभाने अगरतला पहुंचे। उन्होंने अगरतला पहुंचने के बाद त्रिपुरा कांग्रेस के वरिष्ठ सदस्यों से मुलाकात की। कांग्रेस की बैठक में शामिल हुए। बैठक में उन्होंने सभी कांग्रेसी सदस्यों के साथ जनजातीय क्षेत्र स्वायत्त परिषद चुनाव की रणनीति व क्षेत्रीय स्तर की परिस्थितियों के विषय में विस्तारपूर्वक चर्चा की।  आलाकमान से मिली नई जिम्मेदारी के बाद स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव की अगरतला में यह पहली बैठक है। बैठक में उन्होंने कांग्रेस पार्टी की कार्ययोजना और संगठन की नीतियों की जानकारी ली। इसके बाद टीएस सिंहदेव ने पत्रकारवार्ता ली। उन्होंने कहा कि हर राज्य और क्षेत्र की अलग-अलग स्थिति होती है। इसके अनुरूप कार्य किए जाते हैं। त्रिपुरा में महिला सुरक्षा की स्थिति चिंतनीय है। त्रिपुरा सद्भाव के लिए जाना जाता है, वहां सांप्रदायिकता को बढ़ावा दिया जा रहा है। हमारी एकजुटता को तोड़ने का प्रयास हो रहा है। 

टीएस सिंहदेव ने रोजगार के अवसरों पर भी प्रश्न उठाए। उन्होंने कहा कि खेती के साथ ही रबर व बांस के काम त्रिपुरा में प्रसिद्ध हैं। इसके माध्यम से स्व-रोजगार का सृजन किया जा सकता है। त्रिपुरा की भाजपा शासित सरकार की नीतियों पर प्रश्न उठाते हुए उन्होंने कहा कि राशन कार्ड के लिए 10000 की नीति दुख पहुंचाने वाली है। यदि कोई मेहमान आपके राज्य में आता है और राशन कार्ड बनवाना चाहे तो  इसके लिए 10 हजार रुपए देने हों तो यह पीड़ादायक है।

02-03-2021
अमानक एंटीबायोटिक दवा की सप्लाई पर बीजेपी विधायक सौरभ सिंह ने उठाया सवाल 

रायपुर। शासकीय अस्पतालों में अमानक एंटीबायोटिक दवा देने का मामला आज सदन में उठा। बीजेपी विधायक सौरभ सिंह ने दवा पर सवाल उठाया। सौरभ सिंह ने पूछा कि कंपनी ने अमोक्सीसिलिन की दवा बस सप्लाई की है ? कंपनी ने कई दूसरी दवा भी सप्लाई की होगी। क्या बाकी दवा पर भी रोक लगाई जाएगी? इस पर जवाब देते हुए स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने कहा कि प्रयोगशाला की रिपोर्ट के आधार पर कार्रवाई की जाती है। एनएबीएल से मान्यता प्राप्त लैब से ही जांच कराई जाती है।

19-02-2021
टीएस सिंहदेव ने किया औचक निरीक्षण, तय पदों से अधिक मिले डॉक्टर, अस्पताल में निजी दुकानों पर जताई आपत्ति

रायपुर। स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने शुक्रवार को अपने प्रभार जिले जांजगीर-चांपा में जिला अस्पताल का औचक निरीक्षण किया। उन्होंने सिविल सर्जन अनिल जगत से सुविधाओं के विषय में विस्तृत चर्चा की। मरीजों की संख्या व दवाओं आदि जैसे महत्वपूर्ण विषयों पर बात की। उन्होंने मरीजों से मुलाकात कर सुविधाओं की वास्तविक स्थिति जानी। राशन कार्ड से मिल रही शासन की योजनाओं के संबंध में पूछा। उन्होंने फ्रंटलाइन वर्कर्स को मिल रही कोरोना वैक्सीनेशन की प्रक्रिया देखी। यहां उपस्थित स्टाफ से चर्चा की।

निरीक्षण के दौरान स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव को पता चला कि अस्पताल के लिए 16 पद निर्धारित हैं, परंतु अभी 16 से ज्यादा डॉक्टर उपलब्ध हैं। उन्होंने इस संबंध में प्रबंधन को संज्ञान लेने के निर्देश दिए। स्वास्थ्य मंत्री सिंहदेव ने अस्पताल परिसर में संस्थाओं के नाम पर संचालित निजी दवा दुकानों पर आपत्ति जताई। उन्होंने कहा कि शासकीय अस्पतालों में निजी संस्थाओं को किसी भी काम के लिए अनुमति नहीं होनी चाहिए। रेडक्रॉस के नाम पर कई जगहों पर ऐसी दुकानें खोली गई हैं। इनमें निजी लोग कार्यरत हैं। उन्होंने कहा कि शासकीय अस्पताल परिसर में जेनेरिक दवाएं उपलब्ध करवाना हमारा मकसद है। 7 प्रतिशत डिस्काउंट/बाजार के भाव पर शासकीय अस्पताल में दवाएं उपलब्ध होना उचित व्यवस्था नहीं है। उन्होंने कहा कि अस्पताल परिसर के अंदर केवल जेनेरिक दवाइयां ही उपलब्ध होनी चाहिए। यदि संस्थाएं दवाएं उपलब्ध करवाना चाहती है तो स्वास्थ्य केंद्र के बाहर करें। परिसर के अंदर जनऔषधि केंद्र या सरकारी व्यवस्था पर जेनेरिक दवाएं उपलब्ध होनी चाहिए।

17-02-2021
शासकीय दंत चिकित्सा महाविद्यालय में दो दिवसीय कार्यशाला, शामिल हुए टीएस सिंहदेव

रायपुर। प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव शासकीय दंत चिकित्सा महाविद्यालय में बुधवार से शुरू हुई  इम्प्लांट ट्री-इंटीग्रेशन कार्यशाला में शामिल हुए। कार्यशाला का आयोजन 17 से 18 फरवरी तक किया गया है। स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि आज जो विद्यार्थी यहां अध्यनरत हैं, भविष्य में चिकित्सा से जुड़ी सेवाओं को नए आयाम प्रदान करेंगे। इस कार्यशाला के माध्यम से विशेषज्ञ चिकित्सकों के मार्गदर्शन में छात्र-छात्राएं नव कौशल प्राप्त कर निपुण होंगे। इससे आमजनों को उत्तम से उत्तम स्वास्थ्य सुविधा प्राप्त हो सकेगी। उन्होंने कहा कि विद्यार्थियों को इस कार्यशाला के माध्यम से जितने अधिक संभव हो पाएं,कौशल प्राप्त करने हैं। इससे भविष्य में आपके पास आने वाले प्रत्येक मरीज को उत्कृष्ट सेवा मिल सके। स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने कहा कि चिकित्सा क्षेत्र में देश के श्रेष्ठ  बुद्धिमत्ता वाले विद्यार्थी होते हैं। उन्होंने अपने विद्यार्थी जीवन के अनुभव साझा किए। उन्होंने प्रांगण के स्वच्छताकर्मियों व अन्य कर्मचारियों से भेंट कर महाविद्यालय का अवलोकन किया।

15-02-2021
टीएस सिंहदेव ने को-वैक्सीन का इस्तेमाल न करने का निर्णय लेकर लाखों लोगों को बचाया : विकास उपाध्याय

रायपुर। विधायक व संसदीय सचिव विकास उपाध्याय ने स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव के समर्थन में बयान दिया है। उन्होंने कहा कि मंत्री टीएस सिंहदेव के को-वैक्सीन का छत्तीसगढ़ में इस्तेमाल न करने के फैसले ने प्रदेश के लाखों उन लोगों को उस खतरे से बचा लियौ, जो अदृश्य रूप से भविष्य के गर्त में छुपा हुआ है। विकास उपाध्याय ने आरोप लगाया है कि भारतीय जनता पार्टी वैक्सीन राष्ट्रवाद के नाम पर देश के लोगों को खतरे में डाल रही है। जबकि वैक्सीन की विश्वसनियता बनाए रखने पारदर्शी प्रक्रिया अपनाई जानी थी। बावजूद छत्तीसगढ़ के तमाम भाजपा नेता जिस तरह से को-वैक्सीन को लेकर मोदी सरकार को खुश करने बयानबाजी कर रहे हैं। इससे साफ जाहिर है कि उन्हें प्रदेश के लोगों की चिंता नहीं, बल्कि मोदी को खुश करने में ज्यादा रूचि है।

विकास उपाध्याय ने याद दिलाया है कि उन्होंने जनवरी प्रथम सप्ताह में ही जब वैक्सीन का इस्तेमाल होने शुरू नहीं हुआ था, इस बात को लेकर सवाल उठाया था। को-वैक्सीन की भारत में तीसरे चरण के ट्रायल की समीक्षा हुई ही नहीं है, ऐसे में इसे इस्तेमाल करने की अनुमति कैसे दी जा सकती है? उन्होंने कहा कि तीसरे चरण के ट्रायल में बड़ी संख्या में लोगों पर उस दवा को टेस्ट किया जाता है। उससे आए परिणामों पर पता लगाया जाता है कि वो दवा कितने प्रतिशत लोगों पर असर कर रही है। ऐसे में जब यह प्रक्रिया पूर्ण हुई ही नहीं है, तो इस्तेमाल किया जाना निहायत ही अनुचित होगा। स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव दूरगामी पड़ने वाले विपरीत प्रभाव पर पूरी सक्षमता के साथ को-वैक्सीन के इस्तेमाल नहीं करने डटे हुए हैं। निश्चित तौर पर प्रदेश के लोगों के साथ न्याय कर रहे हैं।

13-02-2021
कोमल हुपेंडी ने मुख्यमंत्री से किया आग्रह-सुपेबेड़ा में दूषित पानी की समस्या का जल्द हो समाधान

रायपुर। आम आदमी पार्टी प्रदेश अध्यक्ष कोमल हुपेंडी ने सूपेबेड़ा में दूषित पानी की समस्या का जल्द समाधान करने की मांग की है। हुपेंडी ने कहा है कि पिछले एक दशक से देवभोग ब्लॉक के सुपेबेड़ा, मोटरपारा, सागौनबाड़ी, सेद्गुड़ा, खम्हारगुड़ा,खोकसार, केरलीगुड़ा, निष्ठिगुड़ा, परेवपाली जैसे लगभग 9 गांव के ग्रामीण शुद्ध पीने के पानी जैसी मूलभूत सुविधाओं के लिए लगातार लड़ रहे हैं। इस समस्या का हल आजतक नहीं किया गया। आज स्थिति है कि पीने के पानी में  हैवी मेटल और फ्लोराइड की मात्रा तय मानक से काफी ज्यादा होने की वजह से ग्रामीणों को किडनी की बीमारिया होने लगी है। अब तक लगभग 100 से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है,जो कि दुर्भाग्यजनक है। 200 से ज्यादा लोग गंभीर बीमारी से पीड़ित हैं।

कोमल हुपेंडी ने कहा है कि इतनी गंभीर समस्या है कि इसकी जितनी निंदा की जाए कम है। ग्रामीणों की यह समस्या जितनी जल्दी हो सरकार को हल करना चाहिए।  2019 में प्रदेश की राज्यपाल गांव का दौरा भी कर चुकी हैं । प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव भी जा चुके हंै।  ऐसा नहीं है कि प्रदेश सरकार और मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को पता नहीं है। पूर्व कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष व वर्तमान मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने भी 2018 विधानसभा चुनाव के पहले गांव का दौरा किया था। उन्होंने सत्ता में आने पर पीड़ित परिवारों को 5-5 लाख रुपए का मुआवजा और एक परिजन को नौकरी देने की बात कही थी। साथ ही दूषित पानी के समस्या के समाधान की बात की थी। इतना समय बीत जाने के बाद भी उन्होंने अपना वादा पूरा नहीं किया है। कोमल हुपेंडी ने कहा है कि हमारा आग्रह मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से है कि वो  इस समस्या का जल्द से जल्द हल कर सुपेबेड़ा के ग्रमीणों को शुद्ध पीने का पानी उपलब्ध कराएं। इसमें कतई राजनीति या आरोप प्रत्यारोप की राजनीति न करें।

31-01-2021
टीएस सिंहदेव ने अंबिकापुर में बच्चों को पिलाई पोलियो की खुराक

रायपुर। प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव रविवार को अंबिकापुर मेडिकल कॉलेज पहुंचे। उन्होंने बच्चों को पोलियो की खुराक पिलाकर प्रदेशव्यापी पल्स पोलियो अभियान का शुभारंभ किया। इस दौरान उन्होंने प्रदेश के अभिभावकों से पोलियो मुक्त भारत को बरकरार रखने में सहभगी बनने की अपील की। साथ ही उन्होंने चिकित्सकों, एएनएम, मितानिनों व स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों-कर्मचारियों को भी इस अभियान के तहत जन-जन तक पहुंचने के निर्देश दिए।

18-01-2021
कोरोना का टीका लगने पर नहीं हुई कोई तकलीफ, टीएस सिंहदेव को फोन पर बताया नर्सिंग स्टाफ ने

रायपुर। प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने जिला अस्पताल जगदलपुर में कार्यरत नर्सिंग स्टाफ से फोन पर चर्चा की। उन्होंने कोरोना टीकाकरण और टीकाकरण के बाद हुए असर की जानकारी ली। स्टाफ दीपिका ठाकुर, आकृति वाजपेयी रेडियोग्राफर, लक्ष्मी तांडिया नर्सिंग सिस्टर, तनुजा पात्रा मैट्रन और लक्ष्मी मंडावी स्टाफ नर्स ने मंत्री सिंहदेव को कोविड-19 टीकाकरण के संबंध में जानकारी दी। अस्पताल में कार्यरत कर्मचारियों ने मंत्री सिंहदेव को बताया कि टीका लगने के बाद उन्हें कोई तकलीफ नहीं हुई। कर्मचारियों ने उन्हें बताया कि टीका लगने के बाद इंजेक्शन साइट में कुछ समय के लिए दर्द की शिकायत रही, अन्य कोई तकलीफ कर्मचारियों को टीकाकरण के दौरान नहीं हुई। साथ ही टीकाकरण के दौरान कर्मचारियों में किसी प्रकार का डर नहीं देखा गया। सिविल सर्जन सह मुख्य अस्पताल अधीक्षक जिला अस्पताल जगदलपुर से भी मंत्री सिंहदेव ने चर्चा की। उन्होंने बताया कि अभी तक अस्पताल में टीकाकरण के एड्वर्स रिएक्शन का कोई भी मरीज भर्ती नहीं हुआ है। सभी टीकाकरण से लाभांवित स्टाफ और चिकित्सक अपनी ड्यूटी कर रहे हैं। ओपीडी और ऑपरेशन सामान्य की तरह संचालित किए जा रहे हैं।

18-01-2021
टीएस सिंहदेव ने ली बैठक, स्वास्थ्य विभाग के कार्यों की समीक्षा कर दिए आवश्यक निर्देश

रायपुर। प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव सोमवार को स्वास्थ्य विभाग की बैठक ली। बैठक सिविल लाइंस के विश्राम भवन में हुई। बैठक में स्वास्थ्य मंत्री सिंहदेव ने विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ चर्चा की। उन्होंने स्वास्थ्य विभाग के बजट, एम्बुलेंस और अस्पतालों में बिस्तरों की संख्या, अधोसंरचना विकास और अन्य विभागीय कार्यों की समीक्षा की। इस बैठक में उन्होंने कोरोना की जिलेवार समीक्षा करते हुए अधिकारियों को उचित दिशा-निर्देश दिए।

 

11-01-2021
Breaking : प्रधानमंत्री की वीडियो कॉन्फ्रेसिंग में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल हुए शामिल

रायपुर। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी देशभर के मुख्यमंत्री से चर्चा कर रहे हैं। कोरोना टीकाकरण की तैयारियों के संबंध में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से आयोजित राज्यों के मुख्यमंत्रियों की बैठक में छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल भी शामिल हुए। साथ ही गृह मंत्री ताम्रध्वज साहू, स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव, नगरीय प्रशासन एवं विकास मंत्री डॉ. शिव कुमार डहरिया, प्रभारी मुख्य सचिव और गृह विभाग के अपर मुख्य सचिव सुब्रत साहू,मुख्यमंत्री के सचिव सिद्दार्थ कोमल परदेशी, स्वास्थ्य विभाग के सचिव आर.प्रसन्ना,राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन की संचालक डॉ. प्रियंका शुक्ला, नगरीय प्रशासन विभाग के एडिशनल डायरेक्टर सौमिल रंजन चौबे, मुख्यमंत्री सचिवालय में उपसचिव सौम्या चौरसिया भी मौजूद है।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804