GLIBS
29-06-2020
सीएम भूपेश के खिलाफ अर्नब ने की आपत्तिजनक टिप्पणी, कांग्रेसियों ने दर्ज कराई रिपोर्ट

रायपुर। सीएम भूपेश बघेल के खिलाफ पत्रकार अर्नब गोस्वामी की आपत्तिजनक टिप्पणी के बाद कांग्रेस भड़क गई है। प्रदेश कांग्रेस कमेटी के पदाधिकारियों और सदस्यों ने राजधानी के सिविल लाइन थाने में अर्नब के खिलाफ एफआइआर दर्ज कराई है। प्रदेश कांग्रेस कमेटी के सचिव सन्नाी अग्रवाल, शमीम अख्तर, नरेश गड़पाल, अभिषेक बोरकर, शानू रजा, मो. जीशान हाशमी, अनीश मनिहार, सन्नाी दास, राजा अली, नौशाद अंसारी, अनुराग सिंह, वैभव पवार, पिंटू, सौरभ, लोकेश, चिराग, शुभम अन्य लोगों ने बड़ी संख्या में पहुंचकर एफआईआर दर्ज कराया। गौरतलब है कि कुछ दिन पहले अर्नब गोस्वामी ने राष्ट्रीय कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी पर भी अभद्र टिप्पणी के खिलाफ कांग्रेसियों ने कई थानों में रिपोर्ट दर्ज कराई थी। अब प्रदेश के मुखिया मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के खिलाफ आपत्तिजनक से कांग्रेस पार्टी फिर से भड़क गई है।

26-06-2020
प्रतिबंध के बावजूद रेत के अवैध परिवहन करने वाले 3 वाहनों पर प्रशासन की कार्रवाई

आरंग। सीएम भूपेश बघेल के रेत माफियाओ के खिलाफ कड़े तेवर,प्रतिबंध और कार्रवाई के बावजूद रेत का काला काम करने वाले बाज नहीें आ रहे हैं। रेत के अवैध परिवहन करने वाले 3 हाइवा पर राजस्व विभाग ने कार्रवाई की है। शुक्रवार को दोपहर 12 बजे पारागांव के पास बिना पीट पास के अवैध रेत परिवहन करते हुए 3 हाइवा को जब्त कर कार्यवाही की गई है। अनुविभागीय अधिकारी विनायक शर्मा और तहसीलदार नरेंद्र बंजारा के द्वारा अंचौक निरिक्षण के दौरान पकड़ में आये इन तीनो हाइवा पर खनिज अधिनियम के तहत कार्यवाही की जा रही है। हाइवा को जब्त कर आरंग थाने में रखा गया है। दोनों अधिकारियो ने बताया कि खनिज के अवैध उत्खनन और परिवहन के खिलाफ कार्रवाई लगातार जारी रहेगी।

 

26-06-2020
आदर्श थाना और आदर्श थाना प्रभारी के लिए मापदंड तय, 1 जुलाई से शुरू होगी योजना

रायपुर। सीएम भूपेश बघेल ने सभी थानों को आदर्श थाना के रूप में विकसित करने के रूप में विकसित करने के निर्देश दिए हैं। सीएम की मंशा के अनुरूप आदर्श थाना और आदर्श थाना प्रभारी योजना की शुरूआत 1 जुलाई से होगी। डीजीपी  डीएम अवस्थी ने छत्तीसगढ़ के 128 से अधिक थानेदारों से वीडियो कॉलिंग में एप्प पर संबोधित किया। अवस्थी ने कहा है कि आदर्श थाना के तय मापदंडों पर जो भी थाना बनेगा उस थाने को पुरस्कृत किया जाएगा।

उन्होंने कहा कि सभी आदर्श थाना के कुछ मापदंड तय किए गए हैं। जैसे थानों में आम लोगों के साथा थाना प्रभारी और अन्य स्टाफ का आचरण कैसा है। पीड़ित व्यक्ति, महिलाएं और बच्चे थानों में बैखौफ होकर अपनी बात कह पाएं। फरियादियों के साथ संवेदनशील व्यवहार रखें और उनकी समस्याओं का तत्काल समाधान करें। गुंडे-बदमाशों और असामाजिक तत्वों के विरुद्ध पुलिस द्वारा कठोरतम कार्रवाई की जाए। थाना में रिकॉर्ड का रखरखाव अच्छा हो। थाना परिसर का वातावरण ऐसा हो कि प्रवेश करते ही मन-मस्तिष्क में सकारात्मक प्रभाव पड़े। आदर्श थाना बनने के लिये सभी थाने आपस स्वस्थ्य प्रतियोगिता रखें,जिससे ज्यादा से ज्यादा थाने आदर्श बन सकें। इस अवसर पर एडीजी आरके विज, हिमांशु गुप्ता, दुर्ग आईजी विवेकानंद सिन्हा, रायपुर आईजी डॉ.आनंद छावड़ा, एआईजी राजेश अग्रवाल, डीएसपी कवि गुप्ता उपस्थित रहे।

20-06-2020
सुरक्षा में लगा जवान पॉजिटिव निकला तो घर व इलाके को करा दिया सील,भूपेश बघेल ने बता दिया वे खास नही आम है

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल अपनी सादगी के लिए अलग पहचान बना चुके हैं। वे खास होकर भी आम आदमी बने रहने में विश्वास रखते हैं और इस बात को उन्होंने हर मौके पर साबित भी किया है। कल उनके निवास के बाहर सुरक्षा ड्यूटी पर लगे जवान को जब कोरोना पॉजिटिव घोषित किया गया तो उन्होंने अपने निवास व आसपास के इलाके को कंटेनमेंट सील कराने में जरा भी देरी नहीं की। उन्होंने यह साबित कर दिया कि वे भी आम आदमी की तरह रह रहे हैं और यदि आम आदमी के घर और उसके इलाके को जोन घोषित किया जा सकता है तो सीएम हाउस अपवाद नहीं है। सीएम भूपेश बघेल ने हाल ही में गलवान घाटी में शहीद हुए गणेश के शव को कांधा दिया था। सम्भवतयः श्रद्धांजलि में पुष्प चक्र अर्पित करने की अपचारिक्त निभाने वाले नेताओं की फौज से अलग वे पहले जनप्रतिनिधि होंगे,जिन्होंने एक जवान के शव को कांधा देकर पूरे प्रदेश की जनता का दिल जीत लिया। उन्होंने साबित कर दिया कि प्रदेश की जनता उनकी रिश्तेदार है और वे मुखिया होने के नाते उनके साथ हैं। भूपेश बघेल की यही सादगी उन्हें अन्य राजनेताओं से बिल्कुल अलग पहचान देती है। आम आदमी से आम आदमी की तरह बात करने का अंदाज़ भी उन्हें बेहद खास बना देता है इसीलिए सब कहते हैं सीएम हो तो भूपेश बघेल जैसा।

 

13-06-2020
सीएम भूपेश बघेल ने लोगों से की रक्तदान की अपील,कहा—रक्तदान को बढ़ावा दे, भ्रांतियां दूर करे

रायपुर। रक्त की कमी को खत्म करने के लिए विश्व भर में रक्तदान दिवस के रूप में 14 जून को विश्व रक्तदाता दिवस मनाया जाता है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने विश्व रक्तदाता दिवस के अवसर पर लोगों से रक्त दान करने की अपील की है। बघेल ने कहा है हर साल विश्व स्वास्थ्य संगठन सहित पूरी दुनिया की ओर से रक्तदान को बढ़ावा देने और रक्तदान के प्रति भ्रांतियों को दूर कर जागरूकता बढ़ाने के उद्देश्य से विश्व रक्तदाता दिवस मनाया जाता है।
बघेल ने कहा कि विश्व रक्तदाता दिवस 2020 की थीम ‘सेव ब्लड सेव लाइव्स‘ है। आज भी कई देशों में आकस्मिक परिस्थितियों में लोगों को सरलता से रक्त उपलब्ध नही हो पाता है। सभी प्रकार की आपात स्थितियों, बीमारी, दुर्घटना सहित प्रसव मामलों में जीवन रक्षा के लिए रक्त की जरूरत होती है। बघेल ने कहा कि रक्तदान महादान के महत्व को जन-जन समझें। रक्त देने में किसी प्रकार का कोई नुकसान नहीं होता। रक्त देना जीवन रक्षा और पुण्य का काम हैं।

 

08-06-2020
भूपेश ने कहा टीआई का लाठी बरसाना अमानवीय और अस्वीकार्य, विभागीय जांच के आदेश

रायपुर। सीएम भूपेश बघेल ने ट्वीट कर कहा है कि उरला थाना प्रभारी नितिन उपाध्याय द्वारा आम लोगों पर लाठियां बरसाना अमानवीय है और स्वीकार्य नहीं है। उन के खिलाफ विभागीय जांच का गठन किया गया है और उसे छुट्टी पर भेज दिया गया है। उरला थाना क्षेत्र के बिरगांव कंटेनमेंट जोन में लोगों पर बेरहमी से लाठी भांजने वाले थाना प्रभारी नितिन उपाध्याय के खिलाफ सोशल मीडिया में जैसे आंधी सी आ गई है। एसएसपी आरिफ शेख ने उपाध्याय के खिलाफ विभागीय जांच के आदेश दिए हैं। पिटाई का वीडियो वायरल होने के बाद एसएसपी ने मामले में संज्ञान लिया। इसके अलावा ग्रामीण एएसपी तारकेश्वर पटेल पूरे घटना क्रम की जांच करेंगे।

14-05-2020
शाम 5 बजे तक खुली रहेंगी दुकानें, ​तिथिवार ही खुलेगी दुकान

रायपुर। लॉक डाउन में प्रशासन ने अपने स्तर पर ढील देने का सिलसिला शुरू कर दिया है। सीएम भूपेश बघेल के निर्देश पर जिले की जनता को पहले की अपेक्षा अधिक सुविधा दी गई है। आर्थिक-व्यापारिक गतिविधियों को चरणबद्ध तरीके से धीरे-धीरे गति देने का प्रयास जारी है। कलेक्टर द्वारा सूचीबद्ध दुकानों और प्रतिष्ठानों के बंद होने के समय में एकरूपता लाई जा रही है।अब निर्धारित सूची के तहत तिथिवार निर्धारित दुकानें शाम 5 बजे तक खोली जा सकेंगी। पूर्व में जारी सूची के अनुसार दुकानों और प्रतिष्ठानों के खुलने के दिन (वार) यथावत रहेंगे। इसमें कोई परिवर्तन नहीं किया गया है। समय को बढ़ाकर शाम पांच बजे तक कर दिया गया है। ज्ञातव्य है कि शहर में भीड़ को नियंत्रित रखने के लिए एक तरफ की दुकानें खोलने की अनुमति सोमवार से दी गई है। निगम क्षेत्र में किराना की दुकानों को सप्ताह में तीन दिन ही खोलने की अनुमति दी गई है। पंडरी क्षेत्र में स्थित छह थोक कपड़ा मार्केट सप्ताह में चार दिन खोलने का आदेश है। सोमवार एवं बुधवार एक लाइन तथा मंगलवार एवं गुरुवार को सामने वाली लाइन की दुकान खोली जाएगी। यह निर्धारण संबंधित बाजार के एसोसिएशन द्वारा अपने स्तर पर तय किया जाएगा।

11-05-2020
प्रधानमंत्री के साथ करीब 6 घंटे तक चली राज्यों के सीएम की बैठक, मुख्यमंत्रियों ने दिए ये सुझाव...

नई दिल्ली। राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ सोमवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की वीडियो कॉन्फेंसिंग के जरिए बैठक की। ये बैठक करीब छह घंटे तक चली। इसमें कोरोना वायरस, इसको लेकर लगाए गए लॉकडाउन और अर्थव्यवस्था जैसे मुद्दों पर चर्चा हुई। कोरोना वायरस को लेकर पीएम मोदी की राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ ये पांचवी बैठक थी। मुख्यमंत्रियों से संवाद के दौरान प्रधानमंत्री के साथ रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, गृह मंत्री अमित शाह, वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण और स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन भी मौजूद रहे। इसमें राज्यों के सीएम ने अपनी-अपनी बात रखी।

लॉकडाउन जारी रखने का बिंदू क्या है? : ममता बनर्जी

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा कि जब भारत सरकार ने सीमाओं को खोलने, ट्रेनों को शुरू करने और हवाईअड्डों को खोलने सहित लगभग सब कुछ खोल दिया है, तो लॉकडाउन जारी रखने का बिंदू क्या है? उन्होंने कहा कि हम इस संकट में एक साथ हैं। हालांकि, किसी तरह पश्चिम बंगाल को केंद्र सरकार द्वारा राजनीतिक लाभ प्राप्त करने के लिए टारगेट किया गया है। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि केंद्र की तरफ से रोज कई गाइडलाइन जारी की जाती है। इसे पढ़ने और फॉलो करने में हम थक जाते हैं। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि निषिद्ध क्षेत्रों को छोड़कर राष्ट्रीय राजधानी में आर्थिक गतिविधियों की अनुमति दी जानी चाहिए। सूत्रों ने इस बात की जानकारी दी।

 

हमारे सामने आज प्रवासी मजदूर बड़ी चुनौती: योगी आदित्यनाथ

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से बातचीत करते हुए कहा कि हमारे सामने आज प्रवासी मजदूर बड़ी चुनौती है। अब तक 9 लाख से ज्यादा कामगारों और श्रमिकों को हम होम क्वॉरन्टीन में भेज चुके हैं। इसमें से 7 लाख श्रमिक अपना होम क्वॉरन्टीन पूरा कर चुके हैं। उनको हम नौकरी और रोजगार देने की तैयारी कर रहे हैं। वहीं तेलंगाना के मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से अभी यात्री ट्रेन सेवा शुरू नहीं करने का आग्रह किया जिसे देश में कोरोनो वायरस के प्रसार को रोकने के लिए निवारक उपायों के हिस्से के रूप में रोका गया था। महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से कहा कि लॉकडाउन पर विशिष्ट और ठोस मार्गदर्शन’ करें। एक आधिकारिक बयान में बताया गया कि सीएम ठाकरे ने प्रधानमंत्री से कहा,‘लॉकडाउन पर हमारा विशिष्ट एवं ठोस मार्गदर्शन करें, राज्य वही लागू करेंगे।’ बयान में कहा गया है कि ठाकरे ने मोदी से आग्रह किया कि मुंबई में आवश्यक सेवाओं में लगे कर्मचारियों के लिए लोकल ट्रेनों का संचालन शुरू किया जाए।

 

जोन क्षेत्र घोषित करने की जिम्मेदारी राज्यों को मिलनी चाहिए : भूपेश बघेल

छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल ने कहा कि राज्य सरकारों को अपने राज्यों के भीतर आर्थिक गतिविधियों से निपटने के बारे में फैसले लेने का अधिकार मिलना चाहिए। उन्हें रेड, ग्रीन और ऑरेंज जोन क्षेत्र घोषित करने की जिम्मेदारी भी मिलनी चाहिए। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने प्रधानमंत्री मोदी से 31 मई तक लॉकडाउन बढ़ाने की अपील की। नीतीश कुमार ने कहा कि बिहार में अप्रवासी बिहारियों के आने पर अगर सही तरीके से नहीं जांच की गई तो बिहार की स्थिति सबसे खराब हो सकती है। मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने लॉकडाउन में सावधानी पूर्वक तैयार की गई रणनीति के साथ विस्तार करने के लिए कहा। उन्होंने कहा कि राज्यों की राजकोषीय और आजीविका को सुरक्षित करने के लिए रणनीति बनाई जानी चाहिए। तमिलनाडु में कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों का हवाला देते हुए मुख्यमंत्री के. पलानीस्वामी ने प्रधानमंत्री से आग्रह किया कि 31 मई तक ट्रेन सेवाओं की अनुमति ना दें। शहरी क्षेत्रों से ग्रामीण भारत की तरफ श्रमिकों के पलायन और मजदूरों के अपने घर जाने से आर्थिक गतिविधियों की बहाली में आने वाली समस्याओं पर भी इस बैठक में चर्चा की गई। केरल के मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन ने कहा कि राज्यों को विभिन्न चुनौतियों का सामना करना पड़ता है और इसलिए उन्हें लॉकडाउन से संबंधित दिशानिर्देशों में उचित बदलाव करने की स्वतंत्रता दी जानी चाहिए।

 

सबसे बड़ी चुनौती कोविड-19 को गांवों तक फैलने से रोकने की होगी : मोदी 

वहीं पीएम मोदी ने इस बात पर जोर दिया कि आगे के रास्ते और सामने आने वाली चुनौतियों को लेकर संतुलित रणनीति बनानी होगी और लागू करनी होगी. उन्होंने कहा, ‘आज आप जो सुझाव देते हैं, उसके आधार पर हम देश की आगे की दिशा तय कर पाएंगे।’ उन्होंने कहा कि पूरी दुनिया मानती है कि भारत खुद को कोविड-19 से सफलतापूर्वक सुरक्षित रख पाया है, राज्यों ने इसमें महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। प्रधानमंत्री ने मुख्यमंत्रियों से कहा,‘जहां भी हमने सामाजिक दूरी के नियमों का पालन नहीं किया, हमारी समस्याएं बढ़ गयीं।’ उन्होंने कहा कि हमारे लिए सबसे बड़ी चुनौती रियायतों के बाद भी कोविड-19 को गांवों तक फैलने से रोकने की होगी।

05-05-2020
माकपा ने सीएम भूपेश से तेलंगाना में फंसे श्रमिकों की सुरक्षित वापसी की मांग की

रायपुर। माकपा की स्टेट कमेटी के सचिव संजय पराते ने सीएम भूपेश बघेल से तेलंगाना राज्य के 15 जिलों में फंसे छत्तीसगढ़ के 489 परिवारों के 1300 मजदूरों की सुरक्षित घर वापसी का प्रबंध करने की मांग की है। माकपा ने इन सभी प्रवासी मजदूरों के नाम, लोकेशन और मोबाइल नंबरों सहित पूरी सूची नोडल अधिकारी अंबल्गन पी. को व्हाट्सएप से तथा सीएम को मेल के जरिए भेज दी है। माकपा सचिव संजय पराते के मुताबिक इनमें से अधिकांश श्रमिक बस्तर के आदिवासी हैं और इनमें 89 बच्चे तथा 128 महिलाएं भी शामिल हैं। पराते ने कहां है कि छत्तीसगढ़ के 1 लाख 6 हजार मजदूर दूसरे प्रदेशों में फंसे हुए हैं।

 

02-05-2020
निजी दौरे में बिलासपुर पहुंचे सीएम भूपेश, महापौर यादव को दी जन्मदिन की बधाई

रायपुर/बिलासपुर। निजी दौरे में बिलासपुर पहुंचे सीएम भूपेश बघेल ने तिफरा क्षेत्र मे स्थित निजी होटल एएसफन होटल पेट्रिशियन में जिला प्रशासन के अधिकारियों के साथ लाक डाउन और  दूसरे प्रदेशों में फंसे छत्तीसगढ़ के श्रमिकों तथा छात्र-छात्राओं कि प्रदेश में वापसी को लेकर चर्चा की। इसके बाद उन्होंने होटल में ही संगठन के पदाधिकारियों से  तथा तखतपुर की विधायक ‌रश्मि सिंह से मुलाकात की। भूपेश ने इस दौरान लाक डाउन को लेकर बिलासपुर में विभिन्न गतिविधियों में आ रही दिक्कतों का भी जिक्र और चर्चा की। साथ ही प्रदेश के बाहर फंसे राज्य के मजदूर और स्टूडेंट्स को लाये जाने पर भी बातचीत की गई। इस दौरान प्रदेश कांग्रेस के उपाध्यक्ष अटल श्रीवास्तव, महापौर रामचरण यादव, जिला ग्रामीण कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष श्री विजय केसरवानी, कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष प्रमोद नायक एवं अभय नारायण राय समेत अनेक कांग्रेसजन मौजूद रहे।

30-04-2020
दो और मरीज हुए कोरोनामुक्त, सीएम ने किया ट्वीट

रायपुर। राजधानी के एम्स अस्पताल से दो और कोरोना पॉजिटिव मरीज पूरी तरह कोरोनामुक्त हो गए।  स्वस्थ होने के बाद दोनो को डिस्चार्ज कर दिया गया है। अब यहां कोविड-19 के दो एक्टिव केस हैं। जिनका इलाज चल रहा है जिसमें एक नर्सिंग ऑफिसर शामिल है। सीएम भूपेश बघेल और एम्स ने ट्वीट कर इसकी जानकारी दी।

 

19-04-2020
राहत कोष में वेतन दान करने वाले अफसरों,कर्मचारियों का आभार माना सीएम भूपेश बघेल ने

रायपुर। छत्तीसगढ़ शासन के अधिकारी-कर्मचारियों ने कोरोना वायरस (कोविड-19) के नियंत्रण एवं रोकथाम तथा इससे प्रभावित लोगों की मदद के लिए स्वैच्छिक रूप से अब तक 28 करोड़ 67 लाख रूपये से अधिक की राशि मुख्यमंत्री सहायता कोष में जमा करायी है। इस राशि में प्रदेश के 2 लाख 32 हजार 508 शासकीय सेवकों ने अंशदान दिया गया है। कोराना वायरस के संक्रमण की रोकथाम के लिए राज्य में लागू लाॅक-डाउन के कारण सभी प्रकार की आर्थिक गतिविधियां बंद है। इससे राज्य को होने वाली आय में काफी कमी आई है। जबकि कोरोना जैसी महामारी से निपटने के लिए अधिक आर्थिक संसाधनों की आवश्यकता हो रही है। इस प्रदेशव्यापी संकट से निपटने के लिए प्रदेश के अधिकारी-कर्मचारी संघों ने स्वेच्छा से एक दिन का वेतन मुख्यमंत्री राहत कोष में देने का ज्ञापन मुख्यमंत्री को सौंपा गया था। इस संबंध में राज्य शासन के सामान्य प्रशासन विभाग द्वारा स्वेच्छा से वेतन कटवाने के लिए सुसंगत व्यवस्था करने का निर्देश दिया गया।

इसे देखते हुए वित्त विभाग द्वारा ई-पेरोल माॅड्यूल में स्वैच्छिक अंशदान का नया विकल्प जोड़कर आहरण एवं संवितरण अधिकारियों को तत्काल सूचित किया गया। इस प्रकार ई-पेरोल में दिए गये स्वैच्छिक अंशदान विकल्प से अब तक 28 करोड़ 67 लाख रूपये से अधिक की राशि एकत्र हो चुकी है। इस राशि में प्रदेश के 2 लाख 32 हजार 508 शासकीय सेवकों द्वारा अंशदान दिया गया है। प्राप्त जानकारी के अनुसर अपर मुख्य सचिव वित्त द्वारा मुख्यमंत्री सहायता कोष में 18 अप्रैल 2020 को 28 करोड़ 67 लाख 67 हजार 348 रूपये की राशि अंतरित कर मुख्यमंत्री को अवगत कराया गया है। मुख्यमंत्री ने संकट की इस घड़ी में स्वेच्छा से किये गये सहयोग के लिए सभी अधिकारियों और कर्मचारियों का आभार व्यक्त किया गया साथ ही सभी से यह अपेक्षा की गई है कि कोरोना के खिलाफ इस जंग में सभी का सतत् सहयोग मिलता रहेगा।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804