GLIBS
05-07-2020
चुनाव के पहले भूपेश बघेल के पास झीरम के सबूत और रोजगार के लिए ब्लू प्रिंट थे, सरकार में आने के बाद कुछ नहीं : रमन

रायपुर। पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने चुनाव के पूर्व कांग्रेस और मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की ओर से उठाए गए मुद्दों पर निशाना साधा है। पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह और मुख्यमंत्री भूपेश बघेल विभिन्न मुद्दों पर लगातार एक दूसरे पर निशाना साध रहे हैं। इस बार डॉ. रमन सिंह ने कहा कि विधानसभा चुनाव के पूर्व भूपेश बघेल के पास झीरम के सबूत थे, रोजगार के लिए ब्लू प्रिंट था, शराबबंदी के लिए योजना थी, रोजगार भत्ते के लिए पैसे थे और 2500 रुपए समर्थन मूल्य देने के पैसे थे। लेकिन भूपेश बघेल जब से सरकार में आए हैं तब से इनके पास कुछ नहीं है। डॉ. रमन सिंह ने वर्ष 2018 में भूपेश बघेल के एक ट्वीट को साझा किया है। इसमें भूपेश बघेल ने लिखा है कि बेरोजगारी दूर करना सिर्फ चुनावी नारा नहीं होना चाहिए, जुमला तो हरगिज नहीं। छत्तीसगढ़ कांग्रेस बेरोजगारी दूर करने के लिए प्रतिबद्ध है और पूरे ब्लू प्रिंट के साथ तैयार है। युवा साथियों के लिए अब बस थोड़े दिन का सब्र और।

 

 

04-07-2020
Breaking: मुख्यमंत्री के ओएसडी बने देवेन्द्र प्रधान, राज्य प्रशासनिक सेवा के अफसरों का तबादला

रायपुर। भूपेश सरकार ने राज्य प्रशासनिक सेवा के अधिकारियों का तबादला किया है। इस संबंध में आदेश जारी हुआ है। आदेश के मुताबिक मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के ओएसडी की जिम्मेदारी देवेन्द्र प्रधान को दी गई है। इसी तरह राकेश कुमार गोलछा डिप्टी कलेक्टर महासमुंद,सीएल मारकंडे अपर कलेक्टर राजनांदगांव और जोगेन्द्र नायक अपर कलेक्टर महासमुंद बनाए गए हैं।

04-07-2020
मुख्यमंत्री-मरकाम ने ली जिला और शहर अध्यक्षों की बैठक,सोनिया गांधी करेंगी 22 कांग्रेस भवनों का शिलान्यास

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने शनिवार को राजीव भवन में जिला और शहर अध्यक्षों की बैठक ली। बैठक में जिला मुख्यालय में बनने वाले कांग्रेस भवन निर्माण के संबंध में चर्चा की गई। कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय ठाकुर ने कहा कि बैठक में पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी के जयंती 20 अगस्त को कांग्रेस की राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी के हाथों प्रदेश के 22 जिला मुख्यालय में कांग्रेस भवन निर्माण का शिलान्यास कराने पर विचार किया गया। वीडियो कांफ्रेसिंग के माध्यम से होने वाले इस शिलान्यास कार्यक्रम में पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी और प्रदेश प्रभारी पीएल पुनिया की मौजूदगी में यह कार्यक्रम होगा। कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा कि बैठक में केन्द्र सरकार की गरीब कल्याण योजना से छत्तीसगढ़ को जोड़े जाने के संबंध में जिला और शहर कार्यकारिणी के गठन, बढ़ते पेट्रोल-डीजल के दामों और बढ़ती महंगाई पर चर्चा और मुख्यमंत्री भूपेश बघेल सरकार के दौरान जनहित में किए गए कार्यों को जन-जन पहुंचाने सहित अन्य संगठनात्मक विषयों पर जिला और शहर अध्यक्षों ने बैठक में विचार रखे। जिला मुख्यालय में बनने वाले कांग्रेस दफ्तर के लिए पूर्व में राजीव भवन के निर्माण की तरह ही कांग्रेस कार्यकर्ताओं, वरिष्ठजनों, किसानों, मजदूरों, व्यापारियों, गृहणियों, छात्रों से जन सहयोग लेने और निर्माण कार्य को पूरा करने की योजना विचार विमर्श हुआ। कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा कि बैठक में भाजपा की ओर से सरकार पर झूठे, मनगढ़ंत तथ्यहीन आरोप लगाकर की जा रही जन-जन को गुमराह करने की राजनीति का हर स्तर पर सोशल मीडिया, फेसबुक, ट्वीटर, व्हाट्सअप, प्रिंट एवं इलेक्ट्रानिक मीडिया पर कड़ा जवाब देने का निर्णय लिया गया।

 बैठक में पूर्व प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष धनेन्द्र साहू, कृषि मंत्री रविन्द्र चौबे, पूर्व मंत्री सत्यनारायण शर्मा, राज्यसभा सांसद छाया वर्मा, राज्यसभा सांसद फूलोदेवी नेताम, प्रदेश कांग्रेस उपाध्यक्ष गिरीश देवांगन, प्रदेश उपाध्यक्ष गुरूमुख सिंह होरा, प्रदेश कांग्रेस के कोषाध्यक्ष रामगोपाल अग्रवाल, प्रदेश कांग्रेस के प्रभारी महामंत्री चंद्रशेखर शुक्ला, वरिष्ठ कांग्रेस नेता राजेन्द्र तिवारी, संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी मौजूद थे। बैठक में उधोराम वर्मा जिला अध्यक्ष रायपुर ग्रामीण, गिरीश दुबे जिला अध्यक्ष रायपुर, मोहित राम जिला अध्यक्ष जिला कोरबा ग्रामीण, सपना चौहान, डॉ.चौलेश्वर चंद्राकर अध्यक्ष जिला जांजगीर-चांपा, गया पटेल अध्यक्ष शहर जिला कांग्रेस दुर्ग, हितेन्द्र ठाकुर अध्यक्ष जिला बलौदाबाजार, नजीर अजहर, झुमक लाल दीवान, निर्मल कोसरे अध्यक्ष दुर्ग ग्रामीण, लाले राठौर जिला अध्यक्ष बीजापुर, तुलसी साहू जिला अध्यक्ष भिलाई शहर, संतोष साहू जिला अध्यक्ष सरगुजा प्रभारी, सागर सिंह बैस जिला अध्यक्ष मुंगेली, बलराम मौर्य कांग्रेस जिलाध्यक्ष बस्तर, मनोज सागर यादव कांग्रेस जिला अध्यक्ष जशपुर, देवनाथ उसेंडी कांग्रेस जिला अध्यक्ष नारायणपुर, बंशी पटेल कांग्रेस जिला अध्यक्ष बेमेतरा, भगवती राजवाड़े कांग्रेस जिला अध्यक्ष सूरजपुर, अनिल शुक्ला कांग्रेस जिला अध्यक्ष शहर रायगढ़, अरूण मालाकार कांग्रेस जिला अध्यक्ष ग्रामीण रायगढ़, डॉ. रश्मि चंद्राकर कांग्रेस जिला अध्यक्ष महासमुंद, नीलकंठ चंद्रवशी कांग्रेस जिला अध्यक्ष कवर्धा, भावसिंह कांग्रेस जिला अध्यक्ष गरियाबंद, मनोज गुप्ता जिला कांग्रेस अध्यक्ष गौरेला पेण्ड्रा मारवाही, विजय केशरवानी कांग्रेस जिला अध्यक्ष ग्रामीण बिलासपुर, प्रमोद नायक कांग्रेस जिला अध्यक्ष शहर बिलासपुर, पदम सिंह कोठारी कांग्रेस जिला अध्यक्ष राजनांदगांव ग्रामीण, शरद लोहाना कांग्रेस जिला अध्यक्ष धमतरी, महेश्वरी बघेल कांग्रेस जिला अध्यक्ष सुकमा, कुलबीर सिंह छाबड़ा कांग्रेस जिला अध्यक्ष शहर राजनांदगांव शामिल हुए।

 

04-07-2020
हरियाली बढ़ाने चलाए जा रहे हर घर एक पेड़ अभियान की सफलता के लिये शुभकामनाएं दी भूपेश बघेल ने

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने दुर्ग जिले में हरियाली के विस्तार और पर्यावरण संरक्षण के लिए चलाए जा रहे हर घर-एक पेड़ अभियान की सफलता के लिए दुर्ग जिले के निवासियों को पत्र लिखकर शुभकामनाएं दी हैं। उन्होंने कहा है कि जिले के नागरिकों की इस अभियान में भागीदारी से हरियर दुर्ग की कल्पना साकार हो सकेगी।बघेल ने जिलेवासियों के नाम जारी पत्र में लिखा है कि आपके दुर्ग जिले में हरियाली के विस्तार और पर्यावरण संरक्षण के लिए हर घर एक पेड़ अभियान (वन होम-वन ट्री कैंपेन) चलाया जा रहा है। प्रकृति को सहेजने के पुनीत उद्देश्य से यह महती अभियान जिले में 6 जुलाई को आयोजित किया जा रहा है। हम सब इस दिन अपने घर में पौधे लगाएंगे। जनसरोकारों से जुड़े कार्याें में दुर्ग जिले के नागरिकों की हमेशा अग्रणी भागीदारी रही है। पौधरोपण ऐसा ही कार्य है हम जितने पेड़ लगाएंगे, प्रकृति को उतने ही बेहतर तरीके से सहेज पाएंगे।

अपने घरों में पौधे लगाने पर उन्हें सहेजने में हमें आसानी होगी।मुख्यमंत्री ने जिलेवासियों से आग्रह करते हुए पत्र में लिखा है कि इस अभियान अंतर्गत 6 जुलाई को अपने घर में कम से कम एक पौधा जरूर लगाएं और इसे सहेजे भी। स्वयं पौधे लगाएं और अपने पड़ोसियों को, परिचितों को भी पौधे लगाने के लिए प्रेरित करें। इस अवसर पर सार्वजनिक स्थलों पर, शासकीय कार्यालयों में, प्रमुख मार्गाें पर व्यापक स्तर पर पौधरोपण भी होगा। कुपोषण मुक्त दुर्ग बनाने बड़े पैमाने पर स्कूलों, आश्रम-छात्रावासों और आंगनबाडी केन्द्रों में मुनगा के पौधों का रोपण भी होगा। आने वाली पीढ़ी को सबसे अच्छा तोहफा आप हरियाली के रूप में दे सकते हैं। भूपेश बघेल ने उम्मीद जताई है कि जिले के लोगों की भागीदारी से वन होम-वन ट्री कैंपेन सफल होगा और एक ही दिन में आप लोगों द्वारा किए गए इस महती प्रयत्न से भविष्य में हरियर दुर्ग की कल्पना साकार हो सकेगी।

04-07-2020
भूपेश बघेल ने कहा गुरु ज्ञान से अज्ञानता का अंधकार मिटाते हैं, प्रदेशवासियों को गुरु पूर्णिमा की दी बधाई

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने 5 जुलाई को गुरू पूर्णिमा के अवसर पर प्रदेशवासियों को शुभकामनाएं दी हैं। मुख्यमंत्री ने यहां गुरू पूर्णिमा की पूर्व संध्या पर जारी अपने संदेश में कहा है कि भारत में गुरू पूर्णिमा के दिन परम्परागत रूप से गुरूओं के अमूल्य ज्ञान और मार्गदर्शन के प्रति सम्मान और आभार प्रकट किया जाता है। भारतीय संस्कृति में गुरू को सर्वोच्च स्थान दिया गया है। गुरू जीवन में अज्ञानता के अंधकार को मिटाकर ज्ञान की रोशनी लेकर आते हैं। बेहतर समाज के निर्माण में गुरूजन अहम भूमिका निभाते हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि गुरूजनों के प्रति सम्मान हमारी परम्परा रही है। हमें गुरूजनों के प्रति सदैव श्रद्धा और सम्मान का भाव रखना चाहिए।

04-07-2020
गृह मंत्री के निर्देश पर त्वरित कार्रवाई, लूट के आरोपियों की गिरफ्तारी में मिली कामयाबी

रायपुर। गृह मंत्री ताम्रध्वज साहू के निर्देश पर रायगढ़ के करोड़ीमल नगर आजाद चौक स्थित एसबीआई के एटीएम मे पैसा डालने आए वैन के चालक एवं गार्ड को गोली मारकर 14 लाख 50 हजार की लूट को अंजाम देने वाले दोनों आरोपियों को रायगढ़ पुलिस ने वारदात के 10 घंटे के अंदर संपूर्ण रकम के साथ गिरफ्तार करने में कामयाबी हासिल कर ली है। दोनों आरोपी पेशेवर अपराधी हैं।

बिलासपुर के आईजी दीपांशु काबरा और रायगढ़ जिले के पुलिस अधीक्षक संतोष कुमार सिंह ने आरोपियों की गिरफ्तारी की पुष्टि करते हुए बताया कि आरोपियों ने एटीएम बैंक के चालक को गोली मारकर 14 लाख 50 हजार रुपए की लूट को अंजाम दिया था। इस वारदात में दोनों लुटेरों ने गार्ड को भी दो गोली मारी थी वैन के चालक की जहा तत्काल मौत हो गई वही गार्ड का अस्पताल मे इलाज जारी है। वारदात दोपहर 2 बजे के आसपास की बताई जाती है। रायगढ़ पुलिस इस कामयाबी पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, गृह मंत्री ताम्रध्वज और पुलिस महानिदेशक दुर्गेश माधव अवस्थी ने रायगढ़ पुलिस को बधाई दी है। पुलिस महानिदेशक अवस्थी ने 10 घंटे के भीतर लूट का खुलासा करने वाले पुलिस टीम के सभी सदस्यों को पुरस्कृत करने की घोषणा की है।

03-07-2020
6 जुलाई को स्कूलों, आंगनबाड़ी केन्द्रों और छात्रावासों में रोपे जाएंगे मुनगा के पौधे

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के निर्देशानुसार वन विभाग द्वारा 6 जुलाई को राज्य भर में ‘मुनगा’ पौधरोपण का विशेष अभियान चलाया जाएगा। इसके तहत प्रदेश के समस्त शासकीय स्कूलों, आंगनबाड़ी केन्द्रों और छात्रावास-आश्रमों में मुनगा के पौधे का रोपण किया जाएगा। वन मंत्री मो.अकबर ने बताया कि यह अभियान मुख्यमंत्री बघेल के कुपोषण मुक्त छत्तीसगढ़ की परिकल्पना को साकार करने में अहम् भूमिका निभाएगा। राज्य शासन द्वारा संचालित इस महत्वपूर्ण अभियान को शासन-प्रशासन के साथ-साथ जनप्रतिनिधियों तथा आम नागरिकों के सहयोग से सफल बनाना है। इस महत्वपूर्ण कार्य को अभियान का रूप देने के लिए राज्य भर में एक ही तिथि 6 जुलाई निर्धारित की गई है। उन्होंने कहा कि मुनगा हमारी सेहत के लिए बहुत फायदेमंद है। राज्य के स्कूलों, आंगनबाड़ी केन्द्रों और छात्रावास-आश्रमों में इसके रोपण से मुनगा की सहजता से उपलब्धता होगी वहीं इन संस्थाओं के परिसरों में हरियाली सहित पर्यावरण के संरक्षण तथा संवर्धन को भी बढ़ावा मिलेगा।

इस संबंध में प्रधान मुख्य वन संरक्षक राकेश चतुर्वेदी ने अभियान को सफल बनाने के लिए सभी वनमंडलाधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए हैं। उन्होंने बताया कि पौष्टिकता से भरपूर मुनगा को आयुर्वेद में महत्वपूर्ण स्थान दिया गया है। यह डायबिटीज से लेकर कैंसर जैसे भयंकर बीमारियों तक के लिए चमत्कारी होता है। यह भी बताया जाता है कि मुनगा मल्टीविटामिन से भरपूर होता है। इसकी पत्तियों में प्रोटीन के साथ-साथ विटामिन बी-6, विटामिन सी, विटामिन ए, विटामिन ई पाया जाता है। सिर्फ इतना ही नहीं बल्कि इसमें आयरन, मैगनिशियम, पोटेशियम और जिंक जैसे मिनरल भी पाए जाते हैं।

03-07-2020
छत्तीसगढ़ का सबसे अच्छे रिकवरी दर वाले राज्यों में चौथा स्थान,मृत्यु दर सबसे कम

रायपुर। छत्तीसगढ़ में कोविड-19 के बेहतर प्रबंधन के परिणाम अब दिखने लगे हैं। प्रदेश में कोविड-19 मरीजों की रिकवरी दर सभी पड़ोसी राज्यों से बेहतर है। यहां 78.4 प्रतिशत मरीज ठीक हो गए हैं। महाराष्ट्र में यह दर 54.2 प्रतिशत, मध्यप्रदेश में 76.7 प्रतिशत, उत्तरप्रदेश में 69.1 प्रतिशत, आंध्रप्रदेश में 45.4 प्रतिशत, तेलंगाना में 48.8 प्रतिशत, ओड़िशा में 72.9 प्रतिशत और झारखंड में 76.9 प्रतिशत है। प्रदेश में अब तक कोविड-19 पॉजिटिव पाए गए 3023 में से 2362 मरीज स्वस्थ हो गए हैं। राष्ट्रीय स्तर पर छत्तीसगढ़ सबसे अच्छे रिकवरी दर वालों राज्यों में चौथे स्थान पर है। कोविड-19 के 50 से अधिक मरीज वाले राज्यों में केवल उत्तराखंड, राजस्थान और त्रिपुरा की रिकवरी दर ही छत्तीसगढ़ से अधिक है। मृत्यु दर के मामले में भी छत्तीसगढ़ पड़ोसी राज्यों से बेहतर है। यहां मृत्यु दर का प्रतिशत केवल 0.5 है। वहीं पड़ोसी राज्य महाराष्ट्र में यह दर 4.4 प्रतिशत, मध्यप्रदेश में 4.2 प्रतिशत, आंध्रप्रदेश में 1.2 प्रतिशत, तेलंगाना में 1.5 प्रतिशत, ओड़िशा में 0.5 प्रतिशत और झारखंड में 0.6 प्रतिशत है।

कोविड-19 के संभावित प्रसार को ध्यान में रखते हुए मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के निर्देश पर प्रदेश में फरवरी माह के शुरुआत में ही इस पर नियंत्रण और रोकथाम की तैयारी शुरू कर दी गई थी। कोरोना वायरस जांच की सुविधा प्रारंभ में केवल एम्स रायपुर में थी। जगदलपुर, रायपुर और रायगढ़ के शासकीय मेडिकल कॉलेजों में उच्च स्तरीय लैब तैयार कर कोविड-19 की आरटीपीसीआर जांच सुविधा का विस्तार किया गया है। रायपुर के लालपुर स्थित आईआरएल लैब और निजी क्षेत्र के एसआरएल लैब में भी कोरोना वायरस की जांच की जा रही है। जांच का दायरा बढ़ाने पूल-टेस्टिंग भी की जा रही है। अभी तक प्रदेश में एक लाख 66 हजार 656 लोगों के सैंपल की जांच की जा चुकी है। पॉजिटिव पाए गए 3023 लोगों में से 2362 के ठीक हो जाने के बाद अभी सक्रिय मरीजों की संख्या 647 है। स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने कहा कि प्रदेश के आठ क्षेत्रीय और 22 जिला स्तरीय अस्पतालों में कोविड-19 के मरीजों के इलाज की व्यवस्था की गई है। इन अस्पतालों में 3384 लोगों का उपचार किया जा सकता है। इनमें 445 आईसीयू और 296 एचडीयू बिस्तरों की भी व्यवस्था है। इन अस्पतालों के साथ ही 146 कोविड केयर सेंटर भी बनाए गए हैं,जहां 8161 लोगों को रखा जा सकता है। सभी कोविड अस्पतालों में एन-95 मास्क, पीपीई किट, ट्रिपल लेयर मास्क, वीटीएम और जरूरी दवाईयों के पर्याप्त संख्या में इंतजाम सुनिश्चित किए गए हैं। स्वास्थ्य मंत्री सिंहदेव स्टेट कोविड कंट्रोल एंड कमाड सेंटर के माध्यम से जांच और इलाज की व्यवस्थाओं की लगातार समीक्षा कर रहे हैं। विभाग की ओर से प्रदेश भर में संचालित 166 क्वारेंटाइन सेंटर्स में भी 15,835 बिस्तर हैं।

प्रदेश में बड़ी संख्या में प्रवासी श्रमिकों की वापसी को देखते हुए ग्राम पंचायतों और नगरीय निकायों में करीब 21 हजार क्वारेंटाइन सेंटर बनाए गए हैं जिनकी क्षमता लगभग सात लाख है। विभिन्न राज्यों से प्रदेश लौटे साढ़े चार लाख श्रमिक 14 दिनों की क्वारेंटीन अवधि पूर्ण कर अपने घर पहुंच चुके हैं। स्वयं के और दूसरों लोगों के स्वास्थ्य की सुरक्षा कि दृष्टि से उन्हें दस दिनों तक होम-क्वारेंटाइन में रहने के निर्देश दिए गए हैं।

 

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804