GLIBS
31-07-2021
भूपेश बघेल से महिला आयोग के नवनियुक्त सदस्यों ने की मुलाकात,सीएम ने दी शुभकामनाएं 

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से शनिवार को उनके निवास कार्यालय में राज्य महिला आयोग के नवनियुक्त सदस्यों ने आयोग की अध्यक्ष डॉ. किरणमयी नायक के नेतृत्व में सौजन्य मुलाकात की। मुख्यमंत्री बघेल ने नवनियुक्त सदस्यों को बधाई एवं शुभकामनाएं दी। इस दौरान आयोग की सदस्य अर्चना उपाध्याय,शशिकांता राठौर और नीता विश्वकर्मा उपस्थित थीं।

30-07-2021
भूपेश बघेल ने कहा-मछलीपालन के लिए भी कृषि जैसे ही मिलेगी सस्ती बिजली और बिना ब्याज के ऋण की सुविधा

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा है कि छत्तीसगढ़ में मछलीपालन को कृषि का दर्जा दिया गया है। अब मछलीपालन के लिए भी कृषि जैसे ही सस्ती बिजली और बिना ब्याज के ऋण की सुविधा मिलेगी। इससे मछलीपालन करने वालों को लाभ होगा और जो अपनी कमजोर आर्थिक स्थिति के कारण मछलीपालन नहीं कर पाते थे, वे भी मछलीपालन कर आय का साधन जुटा सकेंगे और आगे बढ़ेंगे।अधिक से अधिक संख्या में मछुआ समुदाय के लोग भी इन प्रावधानों का लाभ उठाने के लिए आगे आएं।

मुख्यमंत्री ने शुक्रवार को विधानसभा परिसर स्थित अपने कार्यालय कक्ष से छत्तीसगढ़ मछुआ कल्याण बोर्ड के उपाध्यक्ष और सदस्यों के पदभार ग्रहण कार्यक्रम को वर्चुअली संबोधित किया। कार्यक्रम में उन्होंने यह बातें रखी। कार्यक्रम में छत्तीसगढ़ मछुआ कल्याण बोर्ड के उपाध्यक्ष राजेन्द्र ढीमर, सदस्य दिनेश फूटान, देव कुंवर निषाद, आरएन आदित्य, प्रभु मल्लाह, विजय ढीमर और अमृता निषाद ने पदभार ग्रहण किया। इस दौरान बोर्ड के अध्यक्ष एमआर निषाद, छत्तीसगढ़ पाठ्य पुस्तक निगम के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी और पूर्व विधायक दिलीप लहरिया भी उपस्थित थे। मुख्यमंत्री बघेल ने छत्तीसगढ़ मछुआ कल्याण बोर्ड के नवनियुक्त उपाध्यक्ष और सदस्यों को बधाई और शुभकामनाएं दी।

30-07-2021
विधानसभा अध्यक्ष डॉ. महंत और मुख्यमंत्री बघेल ने नवनिर्मित पंचकर्म यूनिट का किया लोकार्पण,जानिए फायदे 

रायपुर। विधानसभा अध्यक्ष डॉ. चरणदास महंत और मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने शुक्रवार को छत्तीसगढ़ विधानसभा परिसर में आयुष विभाग की ओर से नवनिर्मित पंचकर्म यूनिट का लोकार्पण किया। इसके पहले उन्होंने आयुर्वेद के प्रवर्तक भगवान धन्वंतरि की पूजा-अर्चना कर सभी के बेहतर स्वास्थ्य की कामना की। इस दौरान नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक, स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव, विधायक सत्यनारायण शर्मा, देवेन्द्र यादव, विधानसभा के प्रमुख सचिव चंद्रशेखर गंगराड़े और संचालक स्वास्थ्य सेवा नीरज बंसोड़ भी उपस्थित थे।

आयुर्वेदिक महाविद्यालय रायपुर में पदस्थ पंचकर्म व्याख्याता डॉ. त्रिभुवन सिंह ने बताया कि इस पंचकर्म यूनिट में प्रत्येक कार्यालयीन दिवस में सुबह 10 से शाम 5 बजे तक पंचकर्म उपचार की सुविधा उपलब्ध रहेगी। इससे  विधायक और विधानसभा के अधिकारी-कर्मचारी इसका लाभ उठा सकेंगे। पंचकर्म में प्राथमिक उपचार के अंतर्गत स्नेहन, स्वेदन और शिरोधारा जैसी प्रक्रियाएं अपनाई जाती हैं। वमन, रेचन, नस्य, वस्ति और रक्त मोक्षण जैसे प्रधान कर्म रायपुर स्थित आयुर्वेदिक महाविद्यालय में उपलब्ध है। डॉ. सिंह ने बताया कि स्नेहन से त्वचा दृढ़, वर्ण प्रसादकर, आयुष्कर, निद्रा जनक, वात शामक और शारीरिक व मानसिक थकान से राहत मिलती है। इसी प्रकार स्वेदन शरीर में स्तम्भता, गौरवता (भारीपन) को कम करने के साथ ही शीत का नाश करता है। शिरोधारा से सिरदर्द, हाइपरटेंशन, स्ट्रेस, एंग्जायटी, साइकोलोजिकल डिसीज और दाह, पाक जैसी समस्याओं में लाभ मिलता है।

30-07-2021
भूपेश बघेल ने कहा-विधानसभा का सत्र संक्षिप्त पर सार्थक रहा, संसदीय प्रणाली के सभी आयामों का हुआ उपयोग

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने शुक्रवार को पंचम विधानसभा के 12वें सत्र के समापन  पर इसकी सफलता के लिए विधानसभा अध्यक्ष डॉ. चरणदास महंत, नेताप्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक, मंत्री और विधायकों सहित व्यवस्था के संचालन में प्रत्यक्ष व अप्रत्यक्ष रूप से सहभागी रहे, सभी लोगों का धन्यवाद ज्ञापित किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि विधानसभा का यह पावस सत्र संक्षिप्त होने के बावजूद भी सार्थक रहा। सत्र के दौरान सदस्यों ने अपने क्षेत्र की समस्याओं से संबंधित प्रश्न, ध्यानाकर्षण, स्थगन, अशासकीय संकल्प, लोकहित के मुद्दों पर सदन का ध्यान आकर्षित किया।  इस सत्र में संसदीय प्रणाली के सभी आयामों का उपयोग हुआ है। पंचम विधानसभा के इस पावस सत्र में पहली बार अशासकीय संकल्प प्रस्तुत हुआ। 

मुख्यमंत्री ने आगे कहा कि छत्तीसगढ़ विधानसभा के सदस्यों ने अपने कार्य व्यवहार से संसदीय परंपरा की गरिमा को एक नई ऊंचाई दी है। पक्ष-विपक्ष के सभी सदस्यों ने विधानसभा अध्यक्ष के मार्गदर्शन में जनहित के मुद्दों पर सार्थक चर्चा और समस्याओं का समाधान भी किया है। उन्होंने नेता प्रतिपक्ष सहित मंत्रिमंडलीय सहयोगियों एवं सदस्यों को सत्र के दौरान बेहद सूझबूझ और सजगता के साथ अपनी बात रखने के लिए बधाई और शुभकामनाएं दी। उन्होंने कहा कि विधानसभा के नए सदस्यों ने अपने क्षेत्र की समस्याएं सदन के समक्ष रखी और चर्चा में सजगता से भाग लिया। 

मुख्यमंत्री ने पावस सत्र के समापन पर राज्यपाल अनुसुईया उइके की ओर से उत्कृष्ट विधायकों के सम्मान समारोह में शामिल होकर गौरव प्रदान करने के लिए उनका विशेष रूप से आभार जताया। मुख्यमंत्री ने पावस सत्र के दौरान संसदीय कार्य मंत्री रविन्द्र चौबे के उत्कृष्ट दायित्व निर्वहन की सराहना की। कहा कि सभी सदस्यों ने अपने कार्य व्यवहार से संसदीय परंपरा की गरिमा को एक नई ऊंचाई दी है। उन्होंने उत्कृष्ट विधायक के रूप में सम्मानित नारायण चंदेल सौरभ सिंह,कुलदीप सिंह जुनेजा और अरूण वोरा को भी बधाई दी।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि पावस सत्र में हिस्दुस्तान में पहली बार कृषि भूमिहीन मजदूरों की आर्थिक मदद के लिए बजट में प्रावधान किया। यह मील का पत्थर साबित होगा। इस सत्र में तीन विधेयक पारित किए गए। सत्र के दौरान प्रदेश के हित में, जनता के हित में, छात्रों के हित में उठाए गए कदम के लिए उन्होंने पूरे सदन को बधाई दी। मुख्यमंत्री ने इस मौके पर प्रिन्ट एवं इलेक्ट्रॉनिक मीडिया से मिले सहयोग के लिए भी आभार जताया। 
नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक, विधायक धर्मजीत सिंह, विधायक केशव चंद्रा ने भी समापन अवसर पर विधानसभा के पावस सत्र में जनहित के मुद्दों पर हुई सार्थक चर्चा और नए सदस्यों की सहभागिता की सराहना की। कहा कि विधानसभा अध्यक्ष के नेतृत्व में यह सत्र सफल रूप से आयोजित हुआ। उन्होंने विधानसभा अध्यक्ष, मुख्यमंत्री, मंत्रियों और सदस्यों के प्रति धन्यवाद ज्ञापित किया।

27-07-2021
Breaking : मुख्यमंत्री के साथ बैठक खत्म, टीएस सिंहदेव ने कहा-सीएम बताएंगे, मामला भविष्य के गर्भ में

रायपुर। विधानसभा में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के साथ टीएस सिंहदेव की बैठक खत्म हो गई है। लंबी चली चर्चा के बाद बाहर निकले मंत्री टीएस सिंहदेव और अन्य मंत्रियों ने मीडिया से चर्चा की। सबसे पहले टीएस सिंहदेव ने मीडिया के सवालों के जवाब में स्पष्ट कहा कि उनकी मुख्यमंत्री से चर्चा हो गई है। क्या बातचीत हुई ये मुख्यमंत्री ही बताएंगे। विवाद सुलझने की बात पर सिंहदेव ने कहा कि ये तो भविष्य के गर्भ में है। सदन की कार्यवाही में हिस्सा लेने के सवाल पर उन्होंने कहा कि मैं अपनी बातों पर अभी भी कायम हूं, जैसी परिस्थिति होगी वैसा, सिंहदेव ने पार्टी हाईकमान से बात पर इनकार किया। अभी कोई बात नहीं हुई है। बता दें कि टीएस सिंहदेव हर सवाल का जवाब संक्षिप्त जवाब दे रहे थे,जैसा कि वो कभी देते नहीं हैं। सवालों के जवाब में उनकी नाराजगी झलक रही थी। दूसरी ओर मंत्री शिव डहरिया ने कहा कि चर्चा हो गई है, सब ठीक है। परिणाम अच्छा ही आएगा। मंत्री मो. अकबर ने कहा कि बातचीत के दौरान हम मौजूद थे। टीएस सिंहदेव नाराज नहीं है। चर्चा हो गई है, सब ठीक है।

27-07-2021
लोकवाणी : भूपेश बघेल से सवाल पूछने करना होगा इन नंबरों पर कॉल, 30 जुलाई तक मौका  

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल अपनी मासिक रेडियोवार्ता लोकवाणी में इस बार आदिवासी अंचलों की अपेक्षाएं और विकास विषय पर बातचीत करेंगे। इस संबंध में कोई भी व्यक्ति आकाशवाणी रायपुर के दूरभाष नंबर 0771-2430501, 2430502, 2430503 पर फोन कर अपने सवाल रिकॉर्ड करा सकते हैं। 28, 29 और 30 जुलाई को अपरान्ह 3 से 4 बजे के बीच फोन करना होगा। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की मासिक रेडियोवार्ता लोकवाणी की 20वीं कड़ी का प्रसारण 8 अगस्त को होगा। लोकवाणी का प्रसारण छत्तीसगढ़ स्थित आकाशवाणी के सभी केंद्रों, एफएम रेडियो और क्षेत्रीय समाचार चैनलों से सुबह 10.30 से 11 बजे तक होगा।

27-07-2021
भूपेश बघेल ने सीआरपीएफ के स्थापना दिवस पर वीर जवानों को किया सलाम

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने देश के सबसे बड़े केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल केन्द्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के स्थापना दिवस पर मंगलवार को सभी वीर जवानों को बधाई और शुभकामनाएं दी है। सीआरपीएफ के जाबांजों के साहस, पराक्रम और बलिदान को सलाम करते हुए मुख्यमंत्री बघेल ने कहा है कि उनकी सेवा और निष्ठा के हम सब भारतवासी ऋणी हैं।

26-07-2021
दुग्ध महासंघ के नव नियुक्त अध्यक्ष विपिन साहू ने संभाला पदभार, भूपेश बघेल ने दी शुभकामनाएं 

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने छत्तीसगढ़ राज्य सहकारी दुग्ध महासंघ के अध्यक्ष विपिन साहू को पदभार ग्रहण करने पर बधाई एवं शुभकमानाएं दी। मुख्यमंत्री ने कहा कि विपिन साहू के मार्गदर्शन में दुग्ध महासंघ छत्तीसगढ़ राज्य में दुग्ध उत्पादन को बढ़ावा देने के साथ ही इसकी बेहतर विपणन व्यवस्था के लिए हरसंभव पहल करेगा। 

दुग्ध महासंघ के पदभार ग्रहण समारोह में गृह मंत्री ताम्रध्वज साहू भी मौजूद थे। गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू ने विश्वास दिलाया कि अध्यक्ष विपिन साहू के मार्गदर्शन में दुग्ध महासंघ को नई दिशा एवं गति दी जाएगी। इससे छत्तीसगढ़ राज्य सहकारी दुग्ध महासंघ के दुग्ध पालकों की आय में वृद्धि होगी। वे सरकार की मंशा के अनुरूप पशुपालकों के हितों के लिए निरंतर कार्य करेंगे। विपिन साहू ने कहा कि दुग्ध महासंघ को नई ऊंचाई पर ले जाने के लिए कटिबद्ध होकर कार्य करेंगे। दुग्ध समितियों का विस्तार करेंगे। साथ ही राज्य में दुग्ध विपणन की समुचित व्यवस्था की जाएगी। दुग्ध महासंघ को सरकार की मंशा के अनुरूप उत्तरोत्तर वृद्धि की ओर ले जाएंगे। शीर्ष संस्था के रूप में प्रतिस्थापित करने का प्रयास करेंगे। 

कार्यक्रम में प्रबंध संचालक नेरन्द्र कुमार दुग्गा ने बताया कि छत्तीसगढ राज्य सहकारी दुग्ध महासंघ मर्यादित शीर्ष सहकारी संस्था है। इसके अंतर्गत 22 जिलों में 1100 दुग्ध सहकारी समितियां गठित हैं। 42 हजार 885 दुग्ध उत्पादक सदस्य हैं, जो लगभग एक लाख लीटर प्रतिदिन दूध का संग्रहण करते हैं। दूध की प्रोसेसिंग की जाकर दुग्ध महासंघ दूध के पैकेट, घी, पेड़ा, पनीर, खोवा, मट्ठा, लस्सी, दही, सुगंधित मीठा दूध, दुग्ध चूर्ण और विभिन्न प्रकार के दुग्ध उत्पाद बनाकर विक्रय करता है। दुग्ध महासंघ के दुग्ध प्रदायक कृषकों को उनके दूध कय मूल्य का भुगतान किया जाता है। लगभग प्रति 10 दिन में 2.25 करोड़ रुपए का भुगतान डीबीटी के माध्यम से भुगतान किया जाता है।

26-07-2021
भूपेश बघेल ने कहा-डॉ. कलाम के फौलादी इरादों और सरल सहज स्वभाव ने सभी का दिल जीता

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने पूर्व राष्ट्रपति और महान वैज्ञानिक भारतरत्न डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम की पुण्यतिथि 27 जुलाई पर नमन किया है। राष्ट्र के लिए उनके योगदान को याद करते हुए सीएम बघेल ने कहा कि डॉ. कलाम के नेतृत्व में भारत ने कई वैज्ञानिक उपलब्धियां हासिल की। विज्ञान के क्षेत्र में भारत को अंतर्राष्ट्रीय पहचान दिलाने में भी उनकी महत्वपूर्ण भूमिका रही। उन्होंने देश को अंतरिक्ष कार्यक्रम और सैन्य मिसाइल के क्षेत्र में नई ऊंचाइयों तक पहुंचाया। पूरा विश्व आज उन्हें मिसाइलमैन के रूप में जानता है। डॉ. कलाम ने अपना बचपन कठिन परिस्थितियों में गुजरा, लेकिन परिस्थितियों से संघर्ष कर उन्होंने अभूतपूर्व सफलता हासिल की। उनके फौलादी इरादों और सरल सहज स्वभाव ने सभी का दिल जीता। आज वे हजारों लोगों के लिए प्रेरणा स्रोत बन गए हैं।

26-07-2021
प्राकृतिक सौंदर्य, पर्यटन, ऐतिहासिक और पौराणिक धरोहरों को विश्व मानचित्र पर लाने की जरुरत : भूपेश बघेल

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा है कि प्राकृतिक सौंदर्य से परिपूर्ण छत्तीसगढ़ जंगल, पहाड़, नदियों से आच्छादित प्रदेश है। यहां 44 प्रतिशत जंगल, बारहमासी नदियां, बांध, सुंदर झरने, ऐतिहासिक एवं पौराणिक धरोहरें विद्यमान है। इसकों सहेजने और विश्व मानचित्र पर लाने की आवश्यकता है। भगवान श्रीराम ने अपने वनवास काल का सर्वाधिक समय छत्तीसगढ़ में व्यतीत किया है। चंदखुरी स्थित माता कौशल्या का मंदिर, तालाब और पूरे परिसर का सौंदर्यीकरण कराया जा रहा है। शिवरीनारायण को पर्यटन के दृष्टि से विकसित किया जा रहा है। मुख्यमंत्री ने कहा कि छत्तीसगढ़ के सिरपुर में दस वर्ग किलोमीटर में प्राचीन बौद्ध विहार, बौद्धकालीन मूर्तियां एवं भवन के अवशेष हंै। इन्हें पर्यटन की दृष्टि से विकसित करने की जरुरत हैं। 

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल सोमवार को विधानसभा परिसर स्थित कार्यालय के सभाकक्ष से छत्तीसगढ़ पर्यटन मंडल के नवनियुक्त अध्यक्ष अटल श्रीवास्तव, उपाध्यक्ष चित्ररेखा साहू व सदस्य द्वय नरेश ठाकुर और निखिल द्विवेदी के पदभार ग्रहण कार्यक्रम को वर्चुअली शामिल हुए। मुख्यमंत्री ने पर्यटन मंडल के नवनियुक्त पदाधिकारियों को बधाई और शुभकामनाएं दी। उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ के विभिन अंचलों में निवासरत विशेष पिछड़ी जनजातियों पंडो, बैगा, कमार,अबूझमाड़िया के जीवन शैली के बारे में लोग जानना और समझना चाहते हैं। इसके लिए हमें इन इलाकों में पर्यटकों के लिए सुविधाएं विकसित करने की जरुरत है। 

उन्होंने प्रसिद्ध चित्रकूट वाटर फॉल, सरगुजा जिले की रामगढ़ की पहाड़ियों में स्थित पांच हजार वर्ष पूर्व की प्राचीन नाट्यशाला कुटुमसर गुफा का उल्लेख करते हुए कहा कि पर्यटन की दृष्टि से छत्तीसगढ़ बेहद समृद्ध राज्य है। छत्तीसगढ़ पर्यटन मंडल का यह दायित्व है कि वह राज्य के पर्यटन स्थलों को सहेजने और सवारने के साथ-साथ पर्यटकों के लिए इन स्थानों पर सुविधाएं विकसित करें। पर्यटन के विकास से राज्य में रोजगार भी बढ़ेगा। उन्होंने कहा कि हमें योजनाबद्ध तरीके से काम करने की जरुरत है।  

नवनियुक्त अध्यक्ष अटल श्रीवास्तव ने कहा कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने राज्य में लोककला एवं संस्कृति को बढ़ावा दिया है। छत्तीसगढ़ राज्य, प्रकृति का अनुपम उपहार है। उन्होंने आदिवासी कला एवं संस्कृति को विश्व मंच पर लाने और भगवान श्रीराम के वन गमन पथ को पर्यटन स्थल के रूप में विकसित करने के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के प्रयासों को सराहा। कहा कि छत्तीसगढ़ पर्यटन मंडल अतिथि देवो भव: के सिद्धांत पर काम करेगा। पर्यटकों की सुख-सुविधा एवं सुरक्षा हमारी जिम्मेदारी होगी। प्रबंधन संचालक यशवंत कुमार ने छत्तीसगढ़ में विभिन्न प्रकार के टूरिज्म को बढ़ावा देने के लिए किए जा रहे प्रयासों की जानकारी दी।

26-07-2021
मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कारगिल विजय दिवस पर शहीद जवानों को दी श्रद्धांजलि

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कारगिल विजय दिवस पर भारतीय जवानों की शौर्यता को नमन करते हुए शहीद जवानों को श्रद्धांजलि अर्पित की है। बघेल ने कहा कि कारगिल युद्ध में देश के वीर सपूतों ने अपने अदम्य साहस और हौसलों से विपरीत परिस्थितियों में भी विजय हासिल कर अपनी क्षमता का लोहा मनवाया था। देश के इन सपूतों के साहस ने 26 जुलाई 1999 को कारगिल में विजय दिलाई। यह पूरे देश के लिए गौरवशाली दिन हैं।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804