GLIBS
26-06-2020
प्रधान आरक्षक की मौत के बाद भरा गया गड्ढा,जिम्मेदारी अब तक तय नहीं

धमतरी। रुद्री रोड राधा स्वामी सत्संग भवन के सामने पाइप लाइन बिछाने के लिए रोड के बीचों बीच गड्ढा खोद दिया गया था। पाइपलाइन बिछाने के बाद गड्ढे में नाम का ही मुरुम डाल दिया गया था, मुरुम डालने के बाद वह गड्ढा आवाजाही के कारण फिर से बढ़ता गया, जिसमें आए दिन लोग आते-जाते गिरने से घायल होने लगे। बुधवार को दरमियानी रात में सिटी कोतवाली में तैनात प्रधान आरक्षक जगदीश मिर्धा अपने ड्यूटी से घर लौट रहे थे, तब राधास्वामी सत्संग के पास गड्ढे में गिर पड़े, इनको आसपास के लोगों के सहयोग से जिला अस्पताल पहुंचाया गया था। जिला अस्पताल से रेफर कर मसीही अस्पताल में भर्ती करवाया गया,जिनका इलाज चल रहा था जहां मौत हो गयी। लोग सड़क पर खोदे गए गड्ढे को लेकर सवाल उठाने लगे तब जाकर प्रशासन ने सुध ली। शुक्रवार को राधास्वामी सत्संग भवन के सामने बीचोबीच गड्ढे को रिपेयरिंग किया गया। एक तरह से प्रशासन की नींद मौत के बाद खुली ऐसा लोग कहने लगे हैं। मामले में जनपद सदस्य जागेन्द्र साहू का आरोप है कि पीएचई के ठेकेदार ने पीडब्ल्यूडी विभाग से बगैर अनुमति के गड्ढा खोद दिया, हादसे का इंतजार करने के बाद रिपेयरिंग की गई, इसलिए इसमें जवाबदारी तय कर कार्रवाई की जानी चाहिए।

 

14-12-2018
 Poor Construction : कभी जान ना ले ले ये गड्ढा, लापरवाह लोकनिर्माण विभाग पर  मेहरबान जिला प्रशासन

कवर्धा। लाखों करोंड़ों रुपए खर्च करने के बाद भी लोकनिर्माण विभाग सड़क की खस्ता हाल को ठीक करने में नाकाम साबित हो रहा हैं। खमियाजा आम लोगों को भुगतना पड़ रहा है। और सड़क में बने बड़े- बड़े गड्ढे में गिरकर कर दुर्घटना का शिकार हो रहे हैं जिससे उन्हे जान माल का नुकसान उठाना पड़ रहा है। लेकिन विभाग के जिम्मेदार इसे दुरुस्त कराने मुनासिब नही समझ रहे है।

कुछ ऐसा ही उदाहरण कवर्धा बिलासपुर मार्ग मुख्य सड़क पांडातराई के गैस गोदाम के पास देखने मिल रहा हैं जहां पर पुरा सड़क  एक सिरे से दूसरे सिरे तक बड़ी गड्ढा का रूप ले चुका हैं जिसमें आए दिन लोग दुर्घटना के शिकार हो रहे है और जान माल का भी नुकसान उठा रहे है।  वही इस गड्ढे से महज सौ मीटर की दूरी पर भी एक बहुत बड़ा ब्रेकर बना हुआ जहाँ पर  किसी प्रकार का गति अवरोधक सूचक नही लगाया है जिसमें भी लोग दुर्घटना का शिकार हो रहे है । लेकिन लोक निर्माण विभाग के अधिकारी सब कुछ जानकर कर भी अनजान बना हुआ है और लोगों को मौत के मुंह में धकेलने को मजबुर कर रहा है।

गन्ना ले जाने वाले  किसानों को होती है परेशानी

पांडातराई से ट्रेक्टर में गन्ना भरकर शक्कर कारखाना पंडरिया बेंचने  ले जा रहे किसान चन्द्रकुमार ने बताया ट्रेक्टर में गन्ना भरकर यहा  से गुजरना बहुत मुश्किल हो जाता है पिछले सप्ताह इसी जगह  पर गन्ना भरा ट्रेक्टर पलट गया था जिससे काफी परेशानी हुई इस तरह यहां से गुजरते समय हमेशा भय बना रहता कही फीर से गन्ना गाड़ी ना पलट जाए क्योकि गन्ना से भरा हुआ ट्रेक्टर सौ किवंटल से भी अधिक होता है।

सड़क एवं परिवहन विभाग के अधिकारी भी नही देते ध्यान

लोगों को दुर्घटना से बचाने के लिऐ कई तरह का आयोजन किया जाता है जैसे सड़क सुरक्षा सप्ताह मनाया जाता है लोगों को समझाईश दिया जाता है कि इस तरह से वाहन चलाए वही कई लोगों के खिलाफ चलानी कारवाई भी किया जाता है लेकिन सड़क एवं परिवहन विभाग के द्वारा यह प्रयास भी किया जाना चाहिये कि जिस खस्ता हाल सड़क के वजह से लोग दुर्घटना के शिकार होते है उन्हे ठीक कराना चाहिये । जिससे लोग सुगम व सरल ढंग से अपने मंजिल तक पहुंच सके ।

वहीं लोकनिर्माण , सड़क एवं परिवहन विभाग इतना लापरवाह हो चुका है कि कवर्धा और पण्डरिया तक कि दूरी में बेतरतीब ढंग से कई बड़े ब्रेकर बनाये हुऐ हैं जहां एक भी जगह पर किसी प्रकार का गति अवरोधक सूचक और रेडियम नही लगा हैं जिसमें अधिकतर लोग रात के समय दुर्घटना के शिकार हो जाते है।

लोक निर्माण विभाग के कार्यपालन अभियंता केपी संत ने कहा कि कवर्धा से फास्टरपुर बिलासपुर के लिऐ नई सड़क बनाने का निविदा प्रक्रिया पूरी हो चुकी है चुनाव आचार सहिंता के कारण कार्य रुका हुआ था जल्द कार्य शुरू होगा। और जहां पर सड़क ज्यादा खराब है उसे जल्द ठीक किया जायेगा।

 

 

 
 
 
Advertise, Call Now - +91 76111 07804