GLIBS
09-01-2020
10 जनवरी से राजधानी में स्तन रोग पर दो दिवसीय अधिवेशन, जुटेंगे देश के नामी सर्जन्स

रायपुर। पंडित जवाहरलाल नेहरू स्मृति चिकित्सा महाविद्यालय, रायपुर की ओर से 10 और 11 जनवरी को स्तन रोग पर दो दिवसीय राज्य स्तरीय अधिवेशन का आयोजन किया जा रहा है। राष्ट्रीय स्तर पर ख्यातिलब्ध कई सर्जन स्तन की विभिन्न बीमारियों की पहचान, जांच, उपचार और प्रबंधन पर अधिवेशन में अपने वैज्ञानिक शोध एवं व्याख्यान प्रस्तुत करेंगे। मेडिकल कॉलेज के सर्जरी विभाग की ओर से एसोशिएशन ऑफ सर्जन्स ऑफ इंडिया, छत्तीसगढ़ चैप्टर और सर्जिकल क्लब ऑफ रायपुर के सहयोग से इसका आयोजन मेडिकल कॉलेज परिसर स्थित स्वर्गीय अटल बिहारी वाजपेयी सभागार में किया जा रहा है। अधिवेशन के वैज्ञानिक सत्र का उद्घाटन 10 जनवरी को सुबह साढ़े 9 बजे आयुष विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ. ए.के. चन्द्राकर करेंगे। उद्घाटन सत्र की अध्यक्षता चिकित्सा शिक्षा विभाग के संचालक डॉ. एसएल आदिले करेंगे। मेडिकल कॉलेज की डीन डॉ. आभा सिंह, डॉ. भीमराव अंबेडकर स्मृति चिकित्सालय के अधीक्षक डॉ. विनीत जैन, क्षेत्रीय कैंसर संस्थान के निदेशक डॉ. विवेक चौधरी, एसोशिएशन ऑफ सर्जन्स, छत्तीसगढ़ चैप्टर के अध्यक्ष डॉ. एफएच फिरदौसी और सर्जिकल क्लब ऑफ रायपुर के अध्यक्ष डॉ. सुभाष अग्रवाल इस दौरान विशिष्ट अतिथि के रूप में मौजूद रहेंगे।

अधिवेशन में सफदरजंग अस्पताल, नई दिल्ली के वरिष्ठ सर्जन प्रो. डॉ. चिंतामणि, एम्स नई दिल्ली के सर्जरी विभाग के प्रमुख प्रो. डॉ. अनुराग श्रीवास्तव, अजमेर मेडिकल कॉलेज के पूर्व विभागाध्यक्ष प्रो. डॉ. कुमकुम सिंह, नई दिल्ली के यू.सी.एम.एस. अस्पताल के सर्जरी विभागाध्यक्ष प्रो. डॉ. नवनीत कौर और के.जी.एम.सी. लखनऊ के एंडोक्राईन सर्जरी के विभागाध्यक्ष प्रो. आनन्द मिश्रा व्याख्यान देंगे और शोधपत्र प्रस्तुत करेंगे। रायपुर मेडिकल कॉलेज, डी.के.एस. सुपरस्पेशियालिटी अस्पताल और निजी अस्पतालों के विशेषज्ञ भी स्तन संबंधित गांठ, कैंसर, बेनाईन ट्यूमर्स और संक्रमण से संबंधित बीमारियों के बारे में जानकारी साझा करेंगे। अधिवेशन में शामिल होने आए देश-प्रदेश के विशेषज्ञ 10 जनवरी को शाम पांच बजे स्तन रोग के बारे में जागरुकता, इसकी पहचान, इलाज और सावधानियों की जानकारी देने आम नागरिकों और मीडिया से रूबरू होंगे। अधिवेशन स्थल में इस सत्र का संचालन रायपुर मेडिकल कॉलेज के सर्जरी विभाग की अध्यक्ष डॉ. शिप्रा शर्मा के साथ डॉ. मंजू सिंह और डॉ. संदीप चन्द्राकर करेंगे। विशेषज्ञ इस दौरान लोगों और मीडिया से चर्चा कर उनकी जिज्ञासाओं व शंकाओं का समाधान भी करेंगे।

 

26-12-2019
भाजपा और आरएसएस के दिग्गज सीएए और एनआरसी के समर्थन में पहुंचे धरनास्थल

रायपुर। देश में नागरिकता संशोधन कानून के समर्थन और हिंसा के विरोध में गुरूवार को भारतीय जनता पार्टी और स्वयं सेवक संघ के दिग्गज नेता बूढ़ापारा धरना स्थल में पहुंचे। 2 घंटे की महासभा और जागरूकता व्याख्यान के बाद रैली निकालकर नागरिकता कानून के समर्थन और देश में हो रही हिंसा का विरोध किया। वहीं राज्यपाल को केंद्र सरकार के नाम बिल के समर्थन के साथ आभार ज्ञापन सौंपा। प्रदेशभर से सभी धर्मो के लोग कानून के समर्थन और हिंसा के विरोध में अपना पक्ष रखा। यह कानून भारत की वसुधैव कुटुम्बकम की भावना को चरितार्थ करता है व पूरे देश में इस कानून के आने से ख़ुशी की लहर है।

17-11-2019
आयुर्वेद कॉलेज में प्राकृतिक चिकित्सा का महत्व विषय पर व्याख्यान 18 नवंबर को

रायपुर। संचालनालय आयुष छत्तीसगढ़ के तत्वावधान में शासकीय आयुर्वेद महाविद्यालय रायपुर में 18 नवंबर को द्वितीय प्राकृतिक चिकित्सा दिवस के अवसर पर विभिन्न कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे हैं। संस्था के प्राचार्य डॉ. जीएस बघेल ने बताया कि प्रात: 7 बजे से स्वस्थ जीवन हेतु प्राकृतिक चिकित्सा का महत्व विषय पर व्याख्यान तथा प्राकृतिक एवं योग चिकित्सा शिविर में परामर्शानुसार सामूहिक मिट्टी-पट्टी का प्रयोग किया जाएगा, साथ ही रोगियों को आहार-विहार की जानकारी व परामर्श भी दिया जाएगा।

 

15-10-2019
मानसिक स्वास्थ्य विषय पर डॉ मिश्र का व्याख्यान कल

रायपुर। पंडित रविशंकर शुक्ल विश्वविद्यालय रायपुर की मनोविज्ञान अध्ययनशाला द्वारा विश्व मानसिक स्वास्थ्य दिवस  के उपलक्ष्य में 10 दिवसीय विविध कार्यक्रम 10 से 20 अक्टूबर तक आयोजित किए जा रहे हैं।  इसी कड़ी में 16 अक्टूबर  को रविशंकर विश्वविद्यालय के सर सीवी रमन हॉल में 12:30 बजे अंतरराष्ट्रीय ख्यातिप्राप्त मनोवैज्ञानिक एवं शिक्षाविद डॉ गिरीश्वर मिश्र, पूर्व कुलपति अंतरराष्ट्रीय हिंदी विश्वविद्यालय वर्धा मानसिक स्वास्थ्य विषय पर अपना व्याख्यान देंगे।

 

11-09-2019
महात्मा गांधी से संबंधित चलचित्रों के अंश का प्रदर्शन व व्याख्यान कल

रायपुर। महात्मा गांधी की 150वीं जयन्ती पर 12 सितम्बर को राष्ट्रपिता महात्मा गांधी से संबंधित चलचित्रों के अंश का प्रदर्शन एवं व्याख्यान का आयोजन किया गया है। गांधीजी की छवि, व्याख्यान कार्यक्रम स्थानीय महंत घासीदास संग्रहालय स्थित संस्कृति भवन परिसर रायपुर के सभागार में दोपहर 12 बजे शुरू होगा। इस मौके पर गांधी दर्शन और चिंतन पर खुली चर्चा होगी। इस आयोजन का मुख्य वक्ता सेवानिवृत्त प्रोफेसर एवं सिने प्रलेखक डॉ. अनिल चौबे होंगे। कार्यक्रम में चौबे द्वारा दर्शक, श्रोताओं के जिज्ञासा का समाधान किया जाएगा।

16-05-2019
अंतरराष्ट्रीय संग्रहालय दिवस पर 18 मई को महंत घासीदास म्यूजियम में होगा व्याख्यान

रायपुर। राज्य सरकार के संस्कृति एवं पुरातत्व संचालनालय द्वारा 18 मई को सुबह 11 बजे महंत घासीदास स्मारक संग्रहालय रायपुर में अंतरराष्ट्रीय संग्रहालय दिवस पर व्याख्यान कार्यक्रम का आयोजन किया गया है। भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण रायपुर मण्डल के सहयोग से आयोजित इस कार्यक्रम के मुख्य अतिथि भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण नई दिल्ली के पूर्व संयुक्त महानिदेशक डॉ. एसबी ओटा होंगे। कार्यक्रम की अध्यक्षता संस्कृति विभाग की सचिव डॉ. एम. गीता करेंगी। पद्मश्री सम्मान प्राप्त एके शर्मा कार्यक्रम के विशिष्ट अतिथि होंगे। इस अवसर पर डॉ. एसबी ओटा सहित भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण के सेवानिवृत्त पुरातत्ववेता डॉ. एसएस गुप्ता (भोपाल) और पुरातत्व संस्थान नई दिल्ली के निदेशक डॉ. एसके मंजुल के व्याख्यान होंगे। व्याख्यान सत्र की अध्यक्षता भिलाई के डॉ. एएल श्रीवास्तव करेंगे। कार्यक्रम में अनेक इतिहासकार, पुरातत्ववेत्ता, विश्वविद्यालय एवं महाविद्यालयों के इतिहास एवं पुरातत्व विभाग के प्राध्यापक, शोधार्थी सहित जिला पुरातत्व संघों के सदस्य एवं संग्रहालय, संस्कृति में रुचि रखने वाले प्रबुद्ध नागरिक सहित संस्कृति विभाग, मंहत घासीदास संग्रहालय तथा भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण रायपुर मंडल के अधिकारी-कर्मचारी शामिल होंगे। संस्कृति एवं पुरातत्व संचालनालय के आयुक्त अनिल कुमार साहू ने बताया कि इस आयोजन का मुख्य उद्देश्य एक सांस्कृतिक केन्द्र और भविष्य में परम्पराओं के संवाहक के रूप में संग्रहालयों के महत्व एवं उपादेयता के प्रति सर्वजन में जागरुकता का विकास एवं प्रसार करना और सांस्कृतिक तथा प्राकृतिक धरोहरों के महत्व, उनकी स्वच्छता, सुरक्षा और संरक्षण के प्रति सभी में उत्तरदायित्व की भावना का विकास करना है।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804