GLIBS
24-11-2020
दीपावली मिलन में बोले योगेश, कारोबार के लिए बनेगा

रायपुर। चैंबर की ओर से व्यापारियों के लिए एक पोर्टल बनाया जाएगा। इससे प्रदेश के व्यापारी एक दूसरे के साथ व्यापार कर सके। ये बातें व्यापारी एकता पैनल के अध्यक्ष प्रत्याशी योगेश अग्रवाल ने कही। ललित जयसिंह और प्रमोद जैन ने बताया कि योगेश अग्रवाल नर्मदापारा व्यापारी संघ के दीपावली मिलन समारोह में पहुंचे थे। उन्होंने व्यापारियों का साथ देने की बात कहते हुए कहा कि "व्यापारी निर्भीक होकर व्यापार करें एवं अधिकारियों से किसी भी प्रकार से भयभीत होने की आवश्यकता नहीं है।
कार्यक्रम संयोजक राजकुमार राठी ने व्यापारी एकता पैनल को सहयोग करने के लिए नर्मदा पारा के सभी व्यापारियों से अनुरोध किया। कार्यक्रम में संरक्षक जानकी प्रसाद गुप्ता, मोतीलाल सचदेव, मोहन जगवानी, राजकुमार बजाज, अमरदास खट्टर, नीरज त्रिपाठी, विश्वनाथ राठी, मनोज माहेश्वरी, मनोज कोचर, प्रमोद मालू, पवन मोहता, विजय माहेश्वरी, देवीसिंह साहू, भोला प्रसाद गुप्ता, संतोष गुप्ता, किशोरचंद्र नायक, डॉ.विवेक श्रीवास्तव, अमलेश सिंह, विकास शुक्ला, अखिल चटर्जी, मुक्तेश अग्रवाल सहित अनेक व्यापारी शामिल हुए।

31-10-2020
भूपेश बघेल ने कांग्रेस और भाजपा के प्रत्याशी में बताया फर्क,कहा-डॉ. रमन से पूछें सवाल कि क्यों की मरवाही की उपेक्षा

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल शनिवार को ग्राम लोहारी हेलीकॉप्टर से पहुंचे। सबसे पहले उन्होंने इंदिरा गांधी के प्रतिमा में फूल अर्पित कर श्रदाजंलि दी। उन्होंने सरदार वल्लभभाई पटेल की प्रतिमा में पर फूल चढ़ाए। उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी इंदिरा गांधी के बलिदान को कभी नहीं भूलेगी। वे हमेशा अमर रहेंगीं। इसके बाद मुख्यमंत्री लोहारी के नवागांव आमसभा को संबोधित करने पहुंचे। उन्होंने कहा कि मैंने इसी लोहारी के मैदान में जिला की घोषणा की थी और जिला बन गया है,जिसमें मरवाही भी शामिल है। उन्होंने कहा कि विधानसभा चुनाव में अपने प्रचार करने के पहले ही यहां के लोगों को भरोसा दिलाया था कि कांग्रेस की सरकार बनी तो हम मरवाही को जिला बनाएंगे। सरकार बनने के बाद इस क्षेत्र के विधायक अजीत जोगी, विधानसभा में नेताप्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक की मौजूदगी में यह तय किए कि मरवाही को जिला बनाया जाएगा। इसमें चुनाव में लाभ लेने जैसी कोई बात नहीं थी, उस समय यह भी तय नहीं था कि आगे मरवाही में चुनाव होगा। भूपेश बघेल ने कहा कि इस जिले के लोगों को रमन सिंह से यह पूछना चाहिए कि 15 साल सरकार में रहकर उन्होंने जिला क्यों नहीं बनाया? क्या गौरेला-पेंड्रा-मरवाही छत्तीसगढ़ में नहीं था? विकास के मामले में यहां की उपेक्षा भाजपा सरकार ने क्यों की? सरकार बनने के बाद से पिछले 22 माह में हमने इस जिले के लिए 5 सौ करोड़ रुपए से अधिक के विकास कार्यों को मंजूरी दी है। राशनकार्ड खोज-खोज कर बनवाए गए। सरकार ने हर मामले में अब यहां के लोगों का ध्यान रखने का निर्णय ले लिया है। मरवाही जिला विकसित जिला के रूप में जाना जाएगा।

पर्यटन, उद्योग और रोजगार को बढ़ावा दिया जाएगा। यहां से कांग्रेस प्रत्याशी डॉ. केके ध्रुव जो भी समस्या होगी उसे आपके विधायक के माध्यम से हम पूरा करेंगे।भूपेश बघेल ने कहा कि बीजेपी का प्रत्याशी भी डॉक्टर है और कांग्रेस का भी डॉक्टर है।  फर्क ये है कि बीजेपी का प्रत्याशी रायपुर में इलाज करता है और हमारा प्रत्याशी मरवाही में इलाज करता है। 20 साल से आपकी निरंतर सेवा किया है। ध्रुव मरवाही में ही रहकर आपकी सेवा करेगा। हमारी सरकार की नीति रीति नियत साफ है विकास की, वो हम कर रहे हैं। हमने कोरोना काल में 3 माह राशन मुफ्त दिया। किसानों को बोनस दिया। तेंदूपत्ता का रेट बढ़ाया। हम हर वर्ग को देखकर छत्तीसगढ़ का विकास कर रहे हैं।कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष मोहन मरकाम ने कहा कि भाजपा और जोगी कांग्रेस का गठजोड़ 15 साल से था। इस गठजोड़ का आज समर्थन दिए जाने के बाद खुलासा हो गया है। कांग्रेस को इससे कोई नुकसान नहीं होने वाला है। मरवाही उपचुनाव में लोग विकास के नाम पर वोट करेंगे। आज आम जनता को पता चल गया कि ये लोग किस तरफ से मिलकर मरवाही को बर्बाद करने की कोशिश कर रहे थे। इनका चेहरा सामने आ गया है। अब मरवाही की जनता को विकास चाहिए। कांग्रेस प्रत्याशी डॉ.ध्रुव ने भी सभा को संबोधित किया। कुंवर निषाद,उद्योग मंत्री कवासी लकमा और बुंदकुवर सहित कई लोगों ने आमसभा को संबोधित किया। कार्यक्रम का संचालन मरवाही दक्षिण प्रभारी शैलेश पांडे ने किया। साथ में नारायण शर्मा ने सहयोग दिया।

 

 

16-10-2020
Video : मुख्यमंत्री की मौजूदगी में कांग्रेस प्रत्याशी ने भरा नामांकन,कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा...

रायपुर। मरवाही उप चुनाव में कांग्रेस से प्रत्याशी डॉ. केके ध्रुव ने शुक्रवार को नामांकन दाखिल किया। इस दौरान मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम , जिले के प्रभारी मंत्री जयसिंह अग्रवाल मौजूद थे। कांग्रेस प्रत्याशी ने 2 सेट में नामांकन जमा किया है। पहले सेट में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और मोहन मरकाम मौजूद थे। दूसरे सेट में मंत्री जयसिंह अग्रवाल और कोरबा सांसद ज्योत्सना महंत मौजूद थीं। नामांकन के बाद मुख्यमंत्री बघेल और मरकाम जोन सेक्टर बूथ कार्यकर्ता सम्मेलन में शामिल हुए। मुख्यमंत्री ने कहा है कि मरवाही उप चुनाव कांग्रेस पार्टी जीतेगी। यह कांग्रेस का परंपरागत गढ़ है। प्रदेश कांग्रेस कमेटी के सचिव व प्रवक्ता विकास तिवारी ने कहा कि कांग्रेस पार्टी का चेहरा मुख्यमंत्री भूपेश बघेल होंगे,भाजपा बताए कि किसके चेहरे पर चुनाव लड़ेगी और हार का ठीकरा किसके सिर मढ़ने की तैयारी है।

 

 

12-10-2020
मंत्री अग्रवाल मरवाही दौरे पर, ग्रामीणों से करेंगे जनसंपर्क 

रायपुर। मरवाही उपचुनाव को लेकर प्रदेश में सियासी पारा चढ़ा हुआ हैं। जोगी का गढ़ कहे जाने वाले इस सीट पर त्रिकोणीय संघर्ष देखने को मिल रहा है। बीजेपी, कांग्रेस और जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) तीनों ही अपने जीत के दावे कर रहे हैं। बता दें कि इसे लेकर तीनों पार्टियों में बयानबाजी का दौर चालू है। वहीं चुनावी सभाएं हो रही है। सोमवार को प्रदेश के राजस्व मंत्री जयसिंह अग्रवाल मरवाही का दौरान करेंगे। मंत्री 8 गांवों में जनसंपर्क करेंगे। उपचुनाव के लिए प्रत्याशी के नामांकन की प्रक्रिया शुरू हो गई। 16 अक्टूबर नामांकन की अंतिम तारीख है। इसके बाद 3 नवंबर को वोट डाले जाएंगे और परिणाम 10 नवंबर को आएगा।

11-10-2020
मरवाही उपचुनाव : भाजपा ने किया प्रत्याशी के नाम का ऐलान, डॉ. गंभीर सिंह को मैदान में उतारा

रायपुर। भाजपा ने उपचुनाव के लिए प्रत्याशियों की घोषणा रविवार को की है। इसमें छत्तीसगढ़, झारखंड, गुजरात और मणि​पुर के लिए उम्मीदवारों का ऐलान किया है। मरवाही के लिए भाजपा ने  डॉ. गंभीर सिंह को चुनाव मैदान में उतारा है। वहीं कांग्रेस ने अभी तक अपने प्रत्याशी के नामों का ऐलान नहीं किया है, लेकिन माना जा रहा है कि कांग्रेस ने डॉ. केके ध्रुव को अपना प्रत्याशी बनाएगी। चुनाव समिति की बैठक में नाम फाइनल कर लिया गया है, लेकिन अभी डॉ. ध्रुव का पार्टी ने औपचारिक ऐलान नहीं किया है।

मरवाही सीट से पहले ही अमित जोगी ने जनता कांग्रेस जोगी से दावा ठोंक रखा है। माना जा रहा है कि इस बार मरवाही में उपचुनाव काफी करीबी और निर्णायक होने वाला है। अमित जोगी ने जहां अपना अनोखे ढंग से चुनाव प्रचार करना शुरू कर दिया है, तो वहीं कांग्रेस के दिग्गजों ने भी वहां कैंप कर रखा है। बीजेपी की भी तैयारी इस सीट पर पूरी है। कांग्रेस का कहना है कि मरवाही उनकी पारंपरिक सीट रही है। लिहाजा इस सीट पर उनका दावा सबसे ज्यादा है। जबकि संवेदना लहर के साथ अमित जोगी भी मैदान मारने का दंभ भर रहे हैं।

03-10-2020
मरवाही उपचुनाव : भाजपा ने तय किए नाम,अब केन्द्रीय चुनाव समिति तय करेगी प्रत्याशी

रायपुर। भारतीय जनता पार्टी की चुनाव समिति की बैठक शनिवार को भाजपा प्रदेश कार्यालय कुशाभाऊ ठाकरे परिसर में हुई। बैठक में पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह, भाजापा प्रदेशाध्यक्ष विष्णुदेव साय, संगठन महामंत्री पवन साय, नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक, रामविचार नेताम, रामप्रताप सिंह, विक्रम उसेंडी, अमर अग्रवाल, अशोक शर्मा, मेघाराम साहू,शालिनी राजपूत सहित भाजपा नेता उपस्थित थे। बैठक में चार नाम का पैनल बनाया गया है। केंद्रीय चुनाव समिति को भेजा जाएगा और केंद्रीय चुनाव समिति उपचुनाव का प्रत्याशी तय करेगी।

 

15-02-2020
जांजगीर जिला पंचायत अध्यक्ष-उपाध्यक्ष पद पर कांग्रेस का कब्जा

जांजगीर-चांपा। जांजगीर-चांपा के जिला पंचायत अध्यक्ष एवं उपाध्यक्ष पद के प्रतिष्ठा पूर्ण चुनाव में कांग्रेस को बड़ी सफलता हासिल हुई है। यहां अध्यक्ष और उपाध्यक्ष दोनों पदों पर कांग्रेस को जीत हासिल हुई है। अध्यक्ष पद पर यनीता चंद्रा और उपाध्यक्ष पद पर राघवेंद्र प्रताप सिंह जीते हैं। इस तरीके से जिले के जनपदों में अपना वर्चस्व स्थापित करने के बाद एक बार फिर जिला पंचायत में भी कांग्रेस का कब्जा हो गया है। जिला पंचायत अध्यक्ष एवं उपाध्यक्ष पद को लेकर गहमागहमी की स्थिति थी क्योंकि जिला पंचायत के सदस्यों को जिले से बाहर भेजा गया था। 25 सदस्यी जिला पंचायत में कांग्रेस समर्थित 14 उम्मीदवार विजयी हुए थे। जबकि 8 भाजपा समर्थित उम्मीदवार जीते थे। वहीं तीन अन्य उम्मीदवार विजयी हुए थे।

अध्यक्ष एवं उपाध्यक्ष पद को लेकर कांग्रेस और भाजपा में सीधा मुकाबला था और सुबह जब बस में सभी सदस्यों को लेकर जिला पंचायत मुख्यालय वोटिंग के लिए पहुंचे तो बड़ी संख्या में लोगों की भीड़ मौजूद थी। दोपहर में वोटिंग के बाद अध्यक्ष पद के लिए कांग्रेस प्रत्याशी यनीता चंद्रा को 17 वोट मिले, जबकि भाजपा के टिकेश्वर गवेल को 8 मत प्राप्त हुए। इस तरीके से कांग्रेस प्रत्याशी यनीता चंद्रा ने 9 वोटों से जीत हासिल की। जबकि उपाध्यक्ष पद के लिए कांग्रेस के राघवेंद्र प्रताप सिंह को 15 मत मिले तो वहीं भाजपा के गगन जयपुरिया को 10 मत मिले। इस तरह से उपाध्यक्ष पद पर भी 5 मतों के अंतर से कांग्रेस ने जीत दर्ज कर ली। जीत के बाद अध्यक्ष यनीता चंद्रा ने बताया कि शिक्षा स्वास्थ्य व्यवस्था में सुधार उनकी पहली प्राथमिकता होगी। वहीं उपाध्यक्ष राघवेन्द्र सिंह ने राज्य की कांग्रेस सरकार की योजनाओं का लाभ आम जनता को दिलाने और राज्य सरकार की कार्ययोजना पर काम करने की बात कही।

14-02-2020
कांग्रेस और भाजपा नेताओं के बीच हुई धक्का-मुक्की, प्रत्याशी चुन्नी पैकरा के देरी से पहुंचने पर हुआ विवाद  

कोरिया। जिला पंचायत के अध्यक्ष पद के लिए चुनाव के पहले ही भाजपा और कांग्रेसी कार्यकर्ताओं में जमकर घमासान हुआ। दरअसल 10 सदस्यों वाली जिला पंचायत में समय अवधि तक केवल 7 सदस्य ही अंदर पहुंचे थे, जिसमें से भाजपा समर्थित प्रत्याशी और अध्यक्ष पद की दावेदार चुन्नी पैकरा नहीं पहुंची थी। उनके पति ओमप्रकाश पैकरा ने बताया कि वह निर्वाचन का प्रमाण पत्र लेने गई थी, उसी में लेट हो गई। इसके बाद कांग्रेसी कार्यकर्ताओं ने चुन्नी पैकरा को  अंदर जाने से रोकने लगे उसके बाद जमकर हंगामा किया और भाजपा के खिलाफ नारेबाजी की कांग्रेस विधायक विनय जायसवाल एवं गुलाब कमरों भाजपा के  पूर्व तीनों विधायक भैया राजवाड़े, चंपा देवी पावले, श्याम बिहारी जसवाल भी मौजूद थे। उसके बाद कांग्रेसी एवं भाजपा कार्यकर्ताओं के साथ धक्का-मुक्की भी हुई यह सिलसिला तब तक चला जब तक चुन्नी पैकरा अंदर गई। वही पूर्व विधायक चंपा देवी पावले ने कहा कि कांग्रेस खिसियानी बिल्ली खंबा नोचे की तर्ज पर काम कर रही है। भाजपा यह चुनाव जीत रही है। इसी कारण  कांग्रेसी इस तरह कार्य कर रहे हैं। हमारे सभी जिला पंचायत सदस्य वोटिंग के पूर्व आ गए हैं।

 

14-02-2020
कांग्रेस प्रत्याशी उषा पटेल की जीत लगभग तय

महासमुन्द। जिला पंचायत में अध्यक्ष चुनाव की प्रक्रिया प्रारम्भ, भाजपा कांग्रेस से एक-एक प्रत्याशी मैदान में। कांग्रेस के प्रत्याशी के रूप में उषा पटेल और भाजपा से अलका नरेश चन्द्राकर ने अपना नामांकन दाखिल किया है। 1 बजे से मतदान की प्रक्रिया शुरू होगी। सूत्रों की माने तो महासमुन्द में जिला पंचायत अध्यक्ष चुनाव में मात्र औपचारिक रह गई। कांग्रेस की उषा पटेल की जीत की मात्रा घोषणा अधिक्रित रूप से बाकी है।

 

13-02-2020
चारों जनपद पंचायत में कांग्रेस समर्थित प्रत्याशी बने अध्यक्ष और उपाध्यक्ष, भाजपा का सूपड़ा साफ़

बीजापुर। जिले के चारों जनपद पंचायत में कांग्रेस ने अपना कब्जा जमा लिया। जिले के चारों जनपद पंचायत बीजापुर, भैरमगढ़, भोपालपटनम और उसूर में  कांग्रेस समर्थित प्रत्याशी अध्यक्ष और उपाध्यक्ष बने है। भाजपा के पास सीटे कम होने की वजह से किसी भी जनपद में अध्यक्ष, उपाध्यक्ष के लिए पार्टी ने अपनी दावेदारी पेश नही की।

 जिले के चारो विकासखंड के नव निर्वाचित अध्यक्ष उपाध्यक्ष की सूची

1-बीजापुर जनपद अध्यक्ष राधिका तेलम, उपाध्यक्ष सोनू पोटाम

2-भैरमगढ़ जनपद पंचायत अध्यक्ष दशरथ कुंजाम,  उपाध्यक्ष सहदेव नेगी

3-उसूर जनपद पंचायत अध्यक्ष अनिता तेलंम, उपाध्यक्ष श्रीनिवास बिराबोहनी
 
4-भोपालपटनम जनपद अध्यक्ष श्रीमती निर्मला मरपल्ली, उपाध्यक्ष मिच्छा मुतैया

 

 

13-02-2020
प्रतीक्षा भंडारी निर्विरोध बनी जनपद पंचायत अध्यक्ष, कांग्रेस के पास नहीं था कोई प्रत्याशी

राजनांदगांव। जनपद पंचायत राजनांदगांव के अध्यक्ष पद के लिए भाजपा समर्थित प्रतीक्षा भंडारी निर्विरोध अध्यक्ष चुनी गई। कांग्रेस के पास कोई भी एस. सी. महिला प्रत्याशी नहीं होने का पूरा फायदा प्रतीक्षा भंडारी को मिला। एसडीएम ने जानकारी देते हुए बताया कि जनपद पंचायत अध्यक्ष पद के लिए केवल प्रतीक्षा भंडारी ने ही नाम और निर्देशन पत्र प्रस्तुत किया था। इस लिए उन्हें निर्विरोध अध्यक्ष निर्वाचित किया गया।  

Advertise, Call Now - +91 76111 07804