GLIBS
06-08-2020
नियमों की अनदेखी कर किया जा रहा निर्माण कार्य, मामला अंग्रेजी माध्यम स्कूल का

बीजापुर। जिला मुख्यालय स्थित लाइवलि हुड कॉलेज भवन को अंग्रेजी स्कूल बनाने चुना गया और कार्य भी शुरू कर दिया गया। इस कार्य को पूरा करने निर्माण एजेंसी जिला शिक्षा अधिकारी को बनाया गया। शिक्षा विभाग ने कन्या हायर सेकंडरी स्कूल भवन और पुराने लाइवली हुड काॅलेज के भवन का चयन किया है। पुराने लाइवली हुड काॅलेज भवन के मरम्मत के लिए शिक्षा विभाग ने जीर्णोध्दार कार्य का ठेका अपने चहेते ठेकेदार को दे दिया है। नियमतः किसी भी तरह के शासकीय निर्माण कार्य से पहले उसकी तकनीकी स्वीकृति, प्रशासकीय स्वीकृति और फिर निविदा आमंत्रित की जाती है। मगर इस भवन के मरम्मत कार्य के लिए इनमें से किसी भी प्रक्रिया का पालन नहीं किया गया है। लाइवलीहुड कॉलेज भवन का जीर्णोद्धार डीएमएफ यानि कि डीस्टीक्ट मिनरल फंड से करीब 63 लाख की लागत से इस भवन का मरम्मत कार्य किया जाना था। इसमें से करीब 70 फीसद काम पूर्ण हो चुका है। मगर अब तक इस कार्य को प्रशासकीय स्वीकृति ही नहीं मिली है। वहीं इस पूरे मामले में जिला शिक्षा अधिकारी गोलमोल जवाब दे रहे हैं। जिला शिक्षा अधिकारी ऑन कैमरा कह रहे हैं कि प्रशासकीय स्वीेकृति के बाद ही निर्माण कार्य शुरू किया गया है। जिला शिक्षा अधिकारी का झूठ तब पकड़ा गया जब उक्त कार्य की पहली किश्त की राशि 24 लाख 21 हजार रुपये जारी करने डीएमएफ के पदेन सचिव जिला पंचायत सीईओ पोषणलाल चंद्राकर के पास 27 जुलाई को ये फाइल आई तो उन्होंने पूरी कार्ययोजना के साथ तकनीकी स्वीकृति देने वाले कौन है और तकनीकि स्वीकृति कहाँ है उसे नस्ती में रखने के लिए टिप लिख दिया।

वर्जन-1

कार्य राज्य शासन के आदेश पर पूरे नियम कानून के साथ हो रहा है। उक्त कार्य को गीदम के ठेकेदार द्वारा कराया जा रहा है। बाकी की जानकारी जिला कलेक्टर देंगे।

जिला शिक्षा अधिकारी डी. समैया

वर्जन -2

जिस भवन के जीर्णोद्धार का कार्य चल रहा है वह भवन जिले का पहला जिला कार्यालय था। बाद में उस भवन को लाइवलीहुड कॉलेज बना दिया गया। उस के बाद अब उसका जीर्णोद्धार कर इसे “अंग्रेजी माध्यम कन्या हायर सेकेंडरी स्कूल” बनाया जा रहा है और इसके भुगतान सबन्ध में जब फाइल मेरे पास आई तो उसमें पूरे कार्ययोजना की तकनीकी स्वीकृति का पत्र नहीं होने के कारण सभी कागजी कार्यवाही पूर्ण कर फाईल वापस लाने संबंधी टिप लिख फाइल को वापस लौटा दी गई है।

पोषण चंद्राकर पदेन सचिव डीएमएफ एवं जिला सीईओ

वर्जन-3

जिला कलेक्टर रितेश कुमार अग्रवाल ने कहा कि कार्ययोजना पुरानी है,पुराने कार्य को किया जा रहा है।

05-07-2020
अंग्रेजी स्कूलों के सेटअप को शासन ने दी स्वीकृति, प्राचार्य के पद पर होगी प्रतिनियुक्ति

रायपुर। शासन ने प्रदेश में नए शिक्षा सत्र से शुरू हो रहे 40 उत्कृष्ट अंग्रेजी माध्यम स्कूलों के लिए उनकी आवश्यकता को ध्यान में रखते हुए सेटअप की मंजूरी दे दी है। प्राचार्य का पद प्रतिनियुक्ति से भरा जाएगा, जबकि इन नवीन शालाओं में व्याख्याताओं से लेकर भृत्य तक के पदों की नियुक्ति संविदा आधार पर होगी। संविदा के पदों के लिए भी शासन द्वारा मानदेय निर्धारित कर दिया गया है। नये अंग्रेजी माध्यम के स्कूलों का संचालन एवं प्रबंधन कलेक्टर की अध्यक्षता वाली समिति के जिम्मे होगी। शासन द्वारा जारी आदेश के अनुसार स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा एक स्कूल को इकाई मानते हुए प्रत्येक स्कूल के लिए पृथक-पृथक सेटअप की मंजूरी दी है। प्राचार्य का पद प्रतिनियुक्ति के लिए आरक्षित है। इस पद पर संविदा नियुक्ति नहीं होगी। अन्य पदों को प्रतिनियुक्ति अथवा संविदा नियुक्ति से भरा जा सकेगा।

प्रतिनियुक्ति की दशा में संबंधित कर्मचारियों को वही वेतन और भत्ते प्राप्त होंगे, जो उसके मूल विभाग से उन्हें प्राप्त होते थे, उन पर प्रतिनियुक्ति के प्रावधान भी लागू होंगे। संविदा नियुक्ति की अवस्था में शासन द्वारा निर्धारित एकमुश्त मानदेय दिया जाएगा। अंग्रेजी माध्यम के स्कूलों में कक्षा पहली से बारहवीं तक पढ़ाई होगी। स्कूलों का संचालन कलेक्टर की अध्यक्षता वाली समिति करेगी। प्रत्येक जिले में प्रत्येक शाला के लिए पृथक-पृथक समिति होगी। समिति के सचिव जिला शिक्षा अधिकारी होंगे। इस समिति में मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत, सहायक आयुक्त आदिम जाति कल्याण विभाग, आयुक्त नगर निगम/मुख्य नगर पालिका अधिकारी और संस्था के प्राचार्य सदस्य होंगे।

संविदा पदों के लिए निर्धारित मानदेय :
संविदा नियुक्ति की स्थिति में प्रत्येक व्याख्याता के लिए 38 हजार 100 रुपए, प्रधान पाठक प्राथमिक शाला को 35 हजार 400 रुपए, प्रधान पाठक मीडिल स्कूल को 38 हजार 100 रुपए, सहायक शिक्षक को 25 हजार 300 रुपए, शिक्षक, व्यायाम शिक्षक, कम्प्यूटर शिक्षक के लिए 33 हजार 400 रुपए, ग्रंथपाल को 22 हजार 400 रुपए, प्रयोगशाला सहायक और सहायक ग्रेड-2 को 25 हजार 300 रुपए, सहायक ग्रेड-3 के लिए 19 हजार 500 रुपए, भृत्य और चौकीदार को 15 हजार 600 रुपए का मानदेय तय किया गया है। शासन द्वारा प्रत्येक स्कूल के लिए इन पदों के साथ ही सभी स्कूलों में अंशकालीन सफाई कर्मचारी (2 घंटे के लिए) संबंधित जिले के अनुसार कलेक्टर दर पर भर्ती करने की स्वीकृति प्रदान की है। 

यहां शुरू होंगे उत्कृष्ट अंग्रेजी माध्यम स्कूल:
स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा नवीन शिक्षा सत्र से जिला बालोद में शासकीय हाई स्कूल आमापारा, बलौदाबाजार जिले में मनोहर दास वैष्णव शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय, बलरामपुर जिले में तीन स्कूलों में से कन्या हायर सेकेण्डरी स्कूल (प्रज्ञा माध्यमिक शाला) रामानुजगंज, बालक उच्चतर माध्यमिक विद्यालय वाड्रफनगर बलरामपुर (शासकीय प्रज्ञा प्राथमिक शाला) और शासकीय बालक उच्चतर माध्यमिक विद्यालय बलरामपुर (शासकीय प्रज्ञा माध्यमिक शाला) में उत्कृष्ट अंग्रेजी माध्यम के स्कूल शुरू होंगे। बस्तर जिले में शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय विवेकानंद जगदलपुर, बेमेतरा जिले में शासकीय शिवलाल राठी उच्चतर माध्यमिक विद्यालय बेमेतरा, बीजापुर जिले में शासकीय कन्या उच्चतर माध्यमिक विद्यालय बीजापुर (लाइवलीहुड कॉलेज का रिक्त भवन), बिलासपुर जिले में शासकीय उच्चतर माध्यमिक शाला तारबहार, लाला राजपतराय उच्चतर माध्यमिक शाला खपरगंज और शासकीय हाई स्कूल मंगला में उत्कृष्ट अंग्रेजी माध्यम स्कूल प्रारंभ होंगे। दंतेवाड़ा जिले में शासकीय नवीन पूर्व माध्यमिक शाला दंतेवाड़ा, धमतरी जिले में शासकीय मेहतरू राम धीवर नवीन कन्या उच्चतर माध्यमिक विद्यालय बथेना धमतरी, दुर्ग जिले में शासकीय कन्या उच्चतर माध्यमिक विद्यालय कुम्हारी धमधा, शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय जंजगिरी धमधा, शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय भिलाई-03, पाटन, शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय सेक्टर-6 दुर्ग, शासकीय हाई स्कूल बालाजी नगर, खुर्शीपार दुर्ग और शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय पाटन को उत्कृष्ट विद्यालय बनाया जाएगा।

गरियाबंद जिले में शासकीय नवीन बालक शाला गरियाबंद, जांजगीर-चांपा जिले में शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय क्रमांक-1 जांजगीर, आदर्श शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय सक्ती, जशपुर जिले में संकल्प शिक्षण संस्थान जशपुर, कवर्धा जिले में शासकीय नवीन उच्चतर माध्यमिक विद्यालय कवर्धा, कांकेर जिले में शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय नरहरदेव कांकेर, कोण्डागांव जिले में शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय जामकोटपारा कोण्डागांव, कोरबा जिले में शासकीय हाई स्कूल पम्प हाऊस कोरबा, कोरिया जिले में उत्कृष्ट अंग्रेजी माध्यम शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय महलपारा, महासमुंद जिले में शासकीय हाई स्कूल नयापारा महासमुंद, मुंगेली जिले में शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय दाऊपारा मुंगेली, नारायणपुर जिले में शासकीय हाई स्कूल सिंगोडीतराई, रायपुर जिले में आर.डी. तिवारी उच्चतर माध्यमिक विद्यालय आमापारा रायपुर, बी.पी. पुजारी उच्चतर माध्यमिक विद्यालय राजातालाब और शहीद स्मारक उच्चतर माध्यमिक विद्यालय फाफाडीह में उत्कृष्ट विद्यालय का संचालन किया गया है। इसी प्रकार रायगढ़ जिले में सरदार वल्लभ भाई पटेल उच्चतर माध्यमिक विद्यालय रायगढ़, राजनांदगांव जिले में सर्वेस्वर दास माध्यमिक शाला राजनांदगांव, सुकमा जिले में शासकीय हाई स्कूल सुकमा पावारास, सूरजपुर जिले में शासकीय कन्या उच्चतर माध्यमिक विद्यालय प्रतापपुर (ई. संवर्ग), सरगुजा जिले में शासकीय हाई स्कूल ब्रम्हपारा और पेण्ड्रा जिले में शासकीय कन्या उच्चतर माध्यमिक विद्यालय सेमरा में उत्कृष्ट अंग्रेजी माध्यम के विद्यालय संचालित होंगे।

01-12-2018
Road Accidents : भोपाल सड़क हादसे में 12 बच्चे घायल 

भोपाल। शहर के एक अंग्रेजी स्कूल की बस दोपहर बाद 3: 30 बजे एक मैजिक से टकरा गई। इसमें 12 बच्चे घायल हो गए हैं। घायलों का इलाज जिला अस्पताल में चल रहा है। जानकार सूत्रों ने बताया कि शाला से छुट्टी होने के बाद स्कूल बस से ये बच्चे अपने घर लौट रहे थे। इसी दौरान उनकी बस से टाटा मैजिक आकर टकरा गई। इस हादसे में घायल बच्चों को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। जहां उनका इलाज जारी है। मामले से बाकी के बच्चों में दहशत का माहौल है।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804