GLIBS
13-05-2020
कोरोना खौफ के बीच अमेरिका में राष्ट्रपति चुनाव की तैयारियां जोरों पर, नवंबर में होगी वोटिंग

नई दिल्ली। पूरी दुनिया में इस समय कोरोना वायरस से हाहाकार मचा हुआ है। विश्व भर में कोरोना से संक्रमित मरीजों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। अमेरिका जैसे शक्तिशाली देश भी इस महामारी के आगे बेबस दिखाई दे रहा है। अमेरिका में कोरोना के काऱण स्थिति और गंभीर होती जा रही है। कोरोना आंतक होने के बाद भी अमेरिका में राष्ट्रपति चुनाव की तैयारियां जोरों से चल रही हैं। अप्रैल महीने में राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने चुनाव प्रचार के लिए 61 मिलियन (करीब 462 करोड़ रुपए) जुटाए। वहीं पूर्व राष्ट्रपति और डेमोक्रेट्स पार्टी के नेता जो बिडेन 60 मिलियन अमेरिकी डॉलर (करीब 455 करोड़ रुपए) जुटाए। अमेरिका में राष्ट्रपति चुनाव नवंबर महीने में होगा।इस चुनाव में डोनाल्ड ट्रंप दोबारा चुनाव मैदान में उतरेंगे।

इस बार उनकी टक्कर में जो बिडेन राष्ट्रपति चुनाव के लिए डेमोक्रेट्स पार्टी की ओर से दमदार उम्मीदवार माने जा रहे हैं। उन्हें अगस्त में होने वाले डेमोक्रेटिक नेशनल कन्वेंशन में राष्ट्रपति उम्मीदवार घोषित किया जा सकता है।कोरोना वायरस के कारण अमेरिका की अर्थव्यवस्था बुरी रह से प्रभावित हुई है। अमेरिका में करीब 3 करोड़ लोग बेरोजगार हो गए हैं। कोरोना संक्रमण के कारण लोगों के एक जगह इकट्ठा होने पर पाबंदी लगा दी गई है। इसका असर राष्ट्रपति चुनाव के प्रचार भी नजर आ रहा है। रिपब्लिक और डेमोक्रेटिक दोनों ही पार्टियों ने अभीतक एक भी चुनावी सभा नहीं की है। दोनों ही पार्टियां वर्चुअली फंड जुटाने में लगी हुई हैं।

ऑनलाइन माध्यमों से समर्थक अपने पसंदीदा नेताओं के चुनाव के लिए फंडिंग कर रहे हैं।ट्रंप के चुनाव प्रचार के लिए रिपब्लिकल नेशनल कमेटी अब तक 742 मिलियन डॉलर की रकम जुटा चुकी है। ये पूर्व राष्ट्रपति ओबामा को दोबारा चुनाव में जीत दिलाने के लिए 288 मिलियन डॉलर की फंडिंग हुई थी। वहीं डेमोक्रेट्स पार्टी के लिए डेमोक्रेट्स नेशल कमेटी के साथ ही जो बिडेन फॉर प्रेसिडेंट नाम से अभियान चल रहा है। डेमोक्रेट्स पार्टी के कार्यकर्ताओं की औसत ऑनलाइन डोनेशन 32.63 डॉलर करीब 2400 रुपए है।

13-03-2020
जनपद सदस्य की जगह जेठानी ने ली शपथ और की वोटिंग, कलेक्टर से की गई शिकायत

रामानुजगंज। जनपद पंचायत क्षेत्र क्रमांक 1 से निर्वाचित जितनी देवी के स्थान पर उनकी जेठानी नीलम ठाकुर ने जनपद अध्यक्ष एवं उपाध्यक्ष के वोटिंग में भाग लेने एवं जनपद सदस्यों के शपथ ग्रहण में शपथ लेने की शिकायत जिला पंचायत क्षेत्र क्रमांक 1 के सदस्य रामचरित्र सोनवानी ग्राम पंचायत कामेश्वरनगर के सरपंच, उप सरपंच एवं सचिव के द्वारा कलेक्टर से की गई है। कलेक्टर को सौंपे ज्ञापन में उल्लेख किया गया है कि ग्राम पंचायत कामेश्वरनगर की नीलम ठाकुर पति उपेंद्र नायक के द्वारा जनपद अध्यक्ष एवं उपाध्यक्ष के वोटिंग में वोट किया गया। वहीं जनपद सदस्यों के शपथ ग्रहण समारोह में शपथ लिया गया जबकि जनपद सदस्य क्षेत्र क्रमांक 1 से नीलम ठाकुर की देव रानी जितनी देवी पति ओमप्रकाश निर्वाचित हुई है। जितनी देवी की जगह नीलम ठाकुर के शपथ ग्रहण समारोह में शपथ लेने एवं जनपद अध्यक्ष एवं उपाध्यक्ष के चुनाव में वोट करने के लिए जितनी देवी को तत्काल जनपद सदस्य के चुनाव को निरस्त करने एवं पुनः निर्वाचन करवाने साथ ही दोषियों के ऊपर कार्यवाही करने की मांग भी की गई है। जितनी देवी की जगह में नीलम ठाकुर के द्वारा शपथ लेने एवं वोटिंग करने की शिकायत प्रमाण के साथ जनप्रतिनिधियों के द्वारा कलेक्टर से की गई है। कलेक्टर को किए शिकायत में शपथ ग्रहण के दौरान जितनी देवी के जगह नीलम ठाकुर के द्वारा शपथ लेने का फोटो भी शिकायत के साथ लगाया गया है। जिला पंचायत सदस्य रामचरित्र सोनवानी ने कहा कि हम लोगों के द्वारा पुलिस अधीक्षक को भी ज्ञापन सौंप उनसे पूरे मामले में अपराधिक प्रकरण दर्ज करने की मांग की गई है। 


                                      

15-02-2020
जांजगीर जिला पंचायत अध्यक्ष-उपाध्यक्ष पद पर कांग्रेस का कब्जा

जांजगीर-चांपा। जांजगीर-चांपा के जिला पंचायत अध्यक्ष एवं उपाध्यक्ष पद के प्रतिष्ठा पूर्ण चुनाव में कांग्रेस को बड़ी सफलता हासिल हुई है। यहां अध्यक्ष और उपाध्यक्ष दोनों पदों पर कांग्रेस को जीत हासिल हुई है। अध्यक्ष पद पर यनीता चंद्रा और उपाध्यक्ष पद पर राघवेंद्र प्रताप सिंह जीते हैं। इस तरीके से जिले के जनपदों में अपना वर्चस्व स्थापित करने के बाद एक बार फिर जिला पंचायत में भी कांग्रेस का कब्जा हो गया है। जिला पंचायत अध्यक्ष एवं उपाध्यक्ष पद को लेकर गहमागहमी की स्थिति थी क्योंकि जिला पंचायत के सदस्यों को जिले से बाहर भेजा गया था। 25 सदस्यी जिला पंचायत में कांग्रेस समर्थित 14 उम्मीदवार विजयी हुए थे। जबकि 8 भाजपा समर्थित उम्मीदवार जीते थे। वहीं तीन अन्य उम्मीदवार विजयी हुए थे।

अध्यक्ष एवं उपाध्यक्ष पद को लेकर कांग्रेस और भाजपा में सीधा मुकाबला था और सुबह जब बस में सभी सदस्यों को लेकर जिला पंचायत मुख्यालय वोटिंग के लिए पहुंचे तो बड़ी संख्या में लोगों की भीड़ मौजूद थी। दोपहर में वोटिंग के बाद अध्यक्ष पद के लिए कांग्रेस प्रत्याशी यनीता चंद्रा को 17 वोट मिले, जबकि भाजपा के टिकेश्वर गवेल को 8 मत प्राप्त हुए। इस तरीके से कांग्रेस प्रत्याशी यनीता चंद्रा ने 9 वोटों से जीत हासिल की। जबकि उपाध्यक्ष पद के लिए कांग्रेस के राघवेंद्र प्रताप सिंह को 15 मत मिले तो वहीं भाजपा के गगन जयपुरिया को 10 मत मिले। इस तरह से उपाध्यक्ष पद पर भी 5 मतों के अंतर से कांग्रेस ने जीत दर्ज कर ली। जीत के बाद अध्यक्ष यनीता चंद्रा ने बताया कि शिक्षा स्वास्थ्य व्यवस्था में सुधार उनकी पहली प्राथमिकता होगी। वहीं उपाध्यक्ष राघवेन्द्र सिंह ने राज्य की कांग्रेस सरकार की योजनाओं का लाभ आम जनता को दिलाने और राज्य सरकार की कार्ययोजना पर काम करने की बात कही।

14-02-2020
कांग्रेस और भाजपा नेताओं के बीच हुई धक्का-मुक्की, प्रत्याशी चुन्नी पैकरा के देरी से पहुंचने पर हुआ विवाद  

कोरिया। जिला पंचायत के अध्यक्ष पद के लिए चुनाव के पहले ही भाजपा और कांग्रेसी कार्यकर्ताओं में जमकर घमासान हुआ। दरअसल 10 सदस्यों वाली जिला पंचायत में समय अवधि तक केवल 7 सदस्य ही अंदर पहुंचे थे, जिसमें से भाजपा समर्थित प्रत्याशी और अध्यक्ष पद की दावेदार चुन्नी पैकरा नहीं पहुंची थी। उनके पति ओमप्रकाश पैकरा ने बताया कि वह निर्वाचन का प्रमाण पत्र लेने गई थी, उसी में लेट हो गई। इसके बाद कांग्रेसी कार्यकर्ताओं ने चुन्नी पैकरा को  अंदर जाने से रोकने लगे उसके बाद जमकर हंगामा किया और भाजपा के खिलाफ नारेबाजी की कांग्रेस विधायक विनय जायसवाल एवं गुलाब कमरों भाजपा के  पूर्व तीनों विधायक भैया राजवाड़े, चंपा देवी पावले, श्याम बिहारी जसवाल भी मौजूद थे। उसके बाद कांग्रेसी एवं भाजपा कार्यकर्ताओं के साथ धक्का-मुक्की भी हुई यह सिलसिला तब तक चला जब तक चुन्नी पैकरा अंदर गई। वही पूर्व विधायक चंपा देवी पावले ने कहा कि कांग्रेस खिसियानी बिल्ली खंबा नोचे की तर्ज पर काम कर रही है। भाजपा यह चुनाव जीत रही है। इसी कारण  कांग्रेसी इस तरह कार्य कर रहे हैं। हमारे सभी जिला पंचायत सदस्य वोटिंग के पूर्व आ गए हैं।

 

11-02-2020
आज होगा दिल्ली के दंगल का फैसला, शुरू हुई मतगणना 

नई दिल्ली। विधानसभा चुनाव 2020 का नतीजा अब से कुछ ही घंटों में सामने आ जाएगा। कड़ी सुरक्षा के बीच सुबह 8 बजे 27 केंद्रों पर मतगणना शुरू हो गई है। आज दोपहर तक सभी नतीजे सामने आ जाएंगे। दिल्ली में 8 फरवरी को वोटिंग हुई थी और इस बार करीब 62 फीसदी मतदान हुआ था। 

दिल्ली विधानसभा चुनाव में लंबे समय से भागदौड़ कर रहे 672 उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला मंगलवार को हो जाएगा। दिल्ली मुख्य निर्वाचन अधिकारी कार्यालय ने मतगणना से जुड़ी तमाम तैयारियों को सोमवार शाम तक अंतिम रूप दिया है। इस बार सबसे ज्यादा निगाहें ओखला सीट पर होंगी जहां पिछले करीब 50 दिनों से शाहीन बाग में आंदोलन चल रहा है। इसके अलावा नई दिल्ली, पटपड़गंड, हरिनगर, मॉडल टाउन, करोल बाग, कालकाजी, राजेंद्रनगर जैसी सीटों पर भी सबकी नजर रहेगी। 

08-02-2020
राजधानी में दिखा मतदान के लिए उत्साह, यूएस से छुट्टी लेकर वोट देने पहुंचा प्रणव

नई दिल्ली। दिल्ली की जनता में वोटिंग को लेकर एक अलग ही उत्साह देखने को मिल रहा है। लोग सुबह से ही वोट डालने के लिए घरों से निकलकर लम्बी-लम्बी लाइनो में लगे है। इस बार जो पहली बार मतदान करने वाले मतदाताओं में भी उत्साह देखने को मिला। इन्हीं में आए हैं प्रणव भट्ट जो हरी नगर विधानसभा सीट पर वोट डालने अपने परिवार के साथ पहुंचे। प्रणव 22 साल के हैं, दिल्ली में अपनी पढ़ाई पूरी करके यूएस चले गए, लेकिन सिर्फ वोट डालने के लिए यूएस से छुट्टी लेकर वापस लौटे हैं। प्रणव ने बताया कि मतदान करने को लेकर बहुत ही उत्सुक हैं। प्रणव ने बताया कि हम दूर बैठे लोग अपने देश को तरक्की करते देखना चाहते हैं और ऐसी सरकार चाहते हैं जो दिल्ली को विश्व स्तर की राजधानी बना दे। इसके लिए हम वोट डालने आए हैं। हम उम्मीद करते हैं कि नई सरकार दिल्ली को बदल देगी। उन्होंने कहा कि वोट डालने की फीलिंग बहुत बड़ी होती है। उसके लिए हम कुछ भी कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि उनके दोस्त भी वोट डालने गए। वहीं प्रणव की मां ने बताया कि वह अपने बेटे के वोट डालने पर बहुत खुश है।

30-01-2020
सीएए पर यूराेपीय संसद में वोटिंग टली, मोदी सरकार को मिली कूटनीतिक जीत

नई दिल्ली। नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के मुद्दे पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की सरकार की कूटनीतिक जीत मिली है। यूरोपीय संसद में नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के खिलाफ लाए गए प्रस्ताव पर वोटिंग टाल दी गई है। पहले जो वोटिंग गुरुवार को होने वाली थी वो अब 31 मार्च को होगी। दरअसल, बिजनेस एजेंडा के क्रम में दो वोट थे। पहला प्रस्ताव को वापस लेने को लेकर था, इसके पक्ष में 356 वोट पड़े और विरोध में 111 वोट पड़े। वहीं दूसरा प्रस्ताव वोटिंग बढ़ाने को लेकर था। इसके पक्ष में 271 और विरोध में 199 वोट पड़े। यूरोपीय संसद के एक बयान बताया गया है कि ब्रसेल्स में आज के सत्र में एमईपीएस के एक निर्णय के बाद, नागरिकता संशोधन कानून के प्रस्ताव पर वोट मार्च तक के लिए स्थगित कर दिया है। मतदान के टालने के जवाब में सरकारी सूत्रों ने बताया कि 'भारत के दोस्त' यूरोपीय संसद में 'पाकिस्तान के दोस्त' पर हावी रहे।

 

29-01-2020
पुनः मतदान करने की मांग को लेकर सरपंच प्रत्याशी ने समर्थकों के साथ की कलेक्ट्रेट में नारेबाजी

रायगढ़। ग्राम पंचायत सांगीतराई में मंगलवार को हुए चुनाव में मतपत्रों की संख्या कम होने का मामला सामने आया है। इस संबंध में सरपंच प्रत्याशी जगबंधु महंत अपने समर्थकों के साथ बुधवार को कलेक्ट्रेट पहुंचे। यहां उन्होंने ग्राम पंचायत चुनाव में मतपत्रों के गायब होने की बात कहते हुए चुनाव रद्द कराने और पुनः चुनाव करवाने की मांग को लेकर जमकर नारेबाजी की। सरपंच प्रत्याशी जगबंधु प्रधान ने मीडियाकर्मियों से कहा कि उनके निकटतम प्रतिद्वंदी व जिला प्रशासन की मिलीभगत से ही सांगीतराई में 3 मतपत्र गायब हुए है। उन्होंने बताया कि वोटिंग के बाद मतगणना के समय कुछ समय के लिए बिजली गुल हो गई थी। उसी वक्त अंधेरे का फायदा उठाते हुए 3 मतपत्रों को गायब कर दिया गया है। जगबंधु प्रधान ने यह गम्भीर आरोप लगा तो दिया परन्तु इसकी कोई लिखित शिकायत अब तक नहीं की है। उन्होंने आरोप प्रमाणित करने की बात तो कही लेकिन मीडिया को कोई भी प्रमाण दिखाने से साफ इंकार कर दिया। बहरहाल अब निर्वाचन पूर्ण हो चुका है ऐसे में प्रत्याशी की शिकायत करने का कोई औचित्य नहीं है। यहां सवाल यह भी उठता है कि मतपत्रों की गिनती के वक्त ही सरपंच प्रत्याशी को मतपत्रों के गायब होने की शिकायत करनी थी। उस समय कोई विरोध न कर आज कलेक्ट्रेट में नारेबाजी करना शायद जगबंधु महंत के हार की बौखलाहट हो।

08-01-2020
दीपका मे कांग्रेस की संतोषी दीवान बनी नगरपालिका अध्यक्ष, दो वोट से हासिल की जीत

कोरबा। नगर पालिका परिषद दीपका में भी कांग्रेस ने बाजी मारते हुए अध्यक्ष की कुर्सी पर कब्ज़ा जमा लिया है। नगर पालिका परिषद में बीजेपी के 15 के कब्ज़े पर सेंध लगाते हुए कांग्रेस की संतोषी दीवान अध्यक्ष निर्वाचित हुई है तो वहीं बीजेपी से कुसुम लता कैवर्त ने नामांकन दाखिल किया था। वोटिंग में संतोषी दीवान दो मतो से विजयी हुई। पत्रकारों से बातचीत में नव निर्वाचित अध्यक्ष संतोषी दीवान ने कहा कि जीत की बधाई कांग्रेस के पार्षदों को दी। जो काम बीजेपी ने अब तक नहीं किया सारे काम पूरा करेंगी। इसी तरह कांग्रेस का चारों निकायों में कांग्रेस का कब्जा हो गया। पाली, कटघोरा, छुरी के बाद अब दीपका मे भी कांग्रेस ने बाजी मारी हैं।

22-12-2019
आरंग में भाजपा प्रत्याशी और कार्यकर्ता कर रहे हैं स्ट्रांग रूम की चौकीदारी

आरंग। नगरीय निकाय चुनाव के वोटिंग के बाद भी आरंग में राजनीति गर्म है। 21 दिसंबर को वोटिंग के बाद सभी 17 बूथ के मत पेटियों को सीलबंद कर स्थानीय शासकीय कन्या विद्यालय के स्ट्रांग रूम में कड़ी सुरक्षा में रखा गया है। इसे काउंटिंग के लिए 24 दिसंबर को खोला जाना है, लेकिन भाजपा के प्रत्याशी और कार्यकर्ता काउंटिंग के पहले स्ट्रांग रूम की चौकीदारी कर रहे हैं। भाजपा कार्यकर्ताओं ने कहा कि चुनाव बैलेट पेपर से हुआ है और मतपेटियों में किसी भी तरह का छेड़छाड़ न हो इसलिए कार्यकर्ता अलग-अलग पालियों में दिन-रात स्ट्रांग रूम की चौकीदारी कर रहे हैं। इस मामले में निर्वाचन रिटर्निंग ऑफिसर विनायक शर्मा ने बताया कि अभ्यर्थी को किसी भी प्रकार के आशंका हो स्ट्रांग रूम के पास अनुमति लेकर एक निश्चित स्थान पर शांतिपूर्ण ढंग से रह सकता है। इसी कारण प्रत्याशियों को अनुमति दी गई है।

 

22-12-2019
मतदान के दौरान कई बार हुई गहमागहमी, फिर भी हुई सबसे ज्यादा वोटिंग

पेंड्रा। नगरीय निकाय चुनाव के दौरान पेंड्रा-गौरेला दोनों में मतदान हो चुके हैं। बता दें पेंड्रा में सबसे ज्यादा 81 फ़ीसदी मतदान हुआ है, तो वही गौरेला में 63 फीसदी मतदान हुआ है। पेंड्रा-गौरेला में मतदान केंद्र के सामने गहमागहमी भी कई जगह देखने को मिली हैं। ख़ासकर पेंड्रा के 9,10,11 वार्ड के मतदान केंद्र में ख़ासा गहमागहमी देखने को मिली फिर चाहे 11 वार्ड के प्रत्याशियों के बूथ के अंदर जाने का विवाद हो या फिर उनके समर्थकों द्वारा बहस बाजी हो या फिर फर्जी मतदान करता हुए युवक का पकड़ाना या फिर शाम को मतदान पेटी को सील करते वक्त मतदान पेटी का टूटा हुआ पाना ये सारे मामले एकमात्र वार्ड क्रमांक 11 के मतदान बूथ के हैं जो पेंड्रा गौरेला में काफ़ी सुर्खियों में रहा है।

पेंड्रा-गौरेला नगरीय चुनाव में त्रिकोणीय मुकाबला देखने को मिला है जहां एक तरफ कांग्रेस तो दूसरी तरफ भाजपा तो तीसरी तरफ जनता कांग्रेस के प्रत्याशी चुनाव लड़े हैं। अब सारे प्रत्याशियों को 24 दिसंबर का इंतजार है जब नगरीय निकाय चुनावों के नतीजे आएंगे। अब देखने वाली बात यह है कि इन तीनों पार्टियों के प्रत्याशियों को 15 वार्डों में से कितने वार्डों में जीत मिलती है और नगर पंचायत पेंड्रा-गौरैला मे किस पार्टी का अध्यक्ष बनता है।

18-12-2019
मनमोहन सिंह बख्शी वार्ड में हर बार बढ़ता है वोटिंग परसेंट प्रत्याशियों के लिए बड़ी चुनौती

रायपुर। शहीद मनमोहन सिंह बख्शी वार्ड क्र. 30 में परिसीमन के बाद मतदाताओं की संख्या 15000 हो गई। इस बार वोटों की संख्या 15557 है। मतदाता ज्यादा होने के कारण इस वार्ड में 70 फ़ीसदी से ज्यादा वोटिंग होती है। इस बार कोटा के इस वार्ड में सेंट्रल लाइब्रेरी वाला क्षेत्र नया जुड़ा है। इसके अलावा स्थित परमानंद नगर भी इसी वार्ड में जुड़ गया है। भाजपा ने पूर्व पार्षद पंचू भारती को टिकट दिया है तो कांग्रेस ने प्रकाश जगत को अपना प्रत्याशी बनाया कांग्रेस और भाजपा दोनों को निर्दलीयों की चुनौती भी निपटा सकती है।

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804