GLIBS
11-05-2021
रूस के स्कूल में गोलीबारी, 11 की मौत, 4 घायल

मास्को। रूस के शहर कज़ान के एक स्कूल में मंगलवार को हुई गोलीबारी में 11 लोगों की मौत हो गई और 4 अन्य जख्मी हो गए। रूस की सरकारी आरआईए नोवोस्ती समाचार एजेंसी ने स्थानीय आपात सेवा के हवाले से खबर दी है। इंटरफैक्स समाचार एजेंसी के मुताबिक, 2 बंदूकधारियों ने स्कूल में गोलीबारी कर दी। बंदूकधारियों में से एक को पकड़ लिया गया है। उसकी उम्र 17 वर्ष है। स्थानीय अधिकारियों ने कहा कि कुछ बच्चों को स्कूल से निकाल लिया गया। कज़ान रूस के ततारस्तान क्षेत्र की राजधानी है,जो मास्को से करीब 700 किलोमीटर दूर है। पुलिस ने घटना की आपराधिक जांच शुरू कर दी है। रूस में स्कूलों में गोलीबारी होना अपेक्षाकृत दुर्लभ हैं, लेकिन हाल के सालों में स्कूलों में कई हमले हुए हैं जो अधिकतर छात्रों ने किए हैं।

 

04-05-2021
अजीत जोगी की स्मृति में स्कूल को अस्पताल बनाना चाहती है जेसीसीजे,अनुमति देने की मांग

रायपुर। जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) राज्य के प्रथम मुख्यमंत्री स्व.अजीत जोगी की स्मृति में स्कूल को अस्पताल बनाना चाहती है। जेसीसीजे रायपुर के जिलाध्यक्ष डॉ.ओमप्रकाश देवांगन ने कहा है कि बीरगांव में अपने स्वयं के निजी पब्लिक स्कूल पर निशुल्क कोविड सेंटर चालू करना चाहते हैं। इसके लिए उन्होंने बाकायदा सीएमएओ रायपुर को पत्र लिखकर अनुमति चाही है। अभी तक इस संबंध में कोई भी जवाब नहीं आया है। डॉ.ओमप्रकाश देवांगन ने कहा है कि राजधानी के बीरगांव में एक बड़ी घनी आबादी निवास करती है। अधिकांशत: गरीब मजदूर वर्ग के बहुसंख्य लोग रहते हैं। यहां पर लगातार कोरोना महामारी खतरा बना हुआ है। बेड, वेंटीलेटर,ऑक्सीजन और होमआइसोलशन एक बड़ी चुनौती है। इस कारण हम स्कूल को अस्पताल बनाना चाहते हैं और लोगों के जीवन को बचाना चाहते हैं। महामारी में राजनीति नहीं होनी चाहिए बल्कि दलगत राजनीति से ऊपर उठकर सरकार को तत्काल इसकी अनुमति देना चाहिए। इससे कि वहां पर शीघ्र अति शीघ्र 100 बिस्तर वाला अस्पताल तैयार किया जा सके और कोरोना संक्रमितों को बचाया जा सके। डॉ.देवांगन ने कहा है कि बीरगांव क्षेत्र में एक-एक कमरे के किराए के मकान में चार पांच सदस्य रहते हैं। ऐसे में परिवार के किसी सदस्य को संक्रमण होने पर होम आइसोलेशन के अभाव में तेजी से संक्रमण को फैलने से इनकार नहीं किया जा सकता है। स्थिति को भांपते हुए और लोगों के जीवन को बचाने के उद्देश्य जनता कांग्रेस सामने आई है। संकट की घड़ी में स्कूल को अस्पताल बनाना चाहती है। इस निर्णय का बीरगांव की जनता ने भी स्वागत किया है। डॉ. वेदप्रकाश देवांगन व देवप्रकाश देवांगन ने निशुल्क सेवा देने का भी आश्वासन दिया है।

 

20-04-2021
कोरोना संकट काल में स्कूल ने निभाया सामाजिक दायित्व, कोविड केयर सेंटर के लिए दिया शाला भवन

रायपुर। वेंकटेश्वर ग्लोबल स्कूल, रोहिणी ने महामारी के इस विकट समय में सहायता प्रदान करने के लिए पहल की है। स्कूल भवन को दिल्ली सरकार के सहयोग से कोविड केयर सेंटर में बदल दिया गया है। इसे भगवती अस्पताल, रोहिणी से जोड़ दिया गया है। स्कूल प्रबंधन आसपास के समुदाय की सहायता और लाभ के लिए अपना योगदान देने में अत्यधिक गर्व तथा सुख का अनुभव कर रहा है। वेंकटेश्वर स्कूलों के समूह में वीडब्लूएस पुणे, वीजीएस दिल्ली (रोहिणी) और वीएसएस रायपुर शामिल हैं। यह एक ऐसा पहला समूह बन गया है,जिसकी रोहिणी दिल्ली स्थित वेंकटेश्वर ग्लोबल विद्यालय शाखा ने स्वेच्छा से अपने विद्यालय परिसर को कोविड देखभाल केंद्र बनाने का कदम उठाया हैं। 

 

11-04-2021
Exclusive : निजी स्कूलों के खिलाफ फूटा अभिभावकों का गुस्सा, कहा-जब स्कूल बंद, पढ़ाई नहीं हाे रही तो फीस किस बात की

रायपुर। प्रदेश में कोरोना संक्रमण के बढ़ते प्रकोप के बीच शिक्षा के नाम पर लगातार निजी स्कूल संचालक मोटी रकम वसूल रहे हैं। स्कूल कॉलेज सभी निजी संस्थान बंद है। बावजूद इसके निजी स्कूलों के जिम्मेदार ऑनलाइन पढ़ाई के नाम पर खानापूर्ति करके अभिभावकों से रुपए वसूलने में लगे हुए हैं। इसके बाद भी प्रशासन के जिम्मेदार इस ओर ध्यान नहीं दे रहे हैं। स्कूल संचालक अभिभावकों पर फीस जमा करने का दबाव बना रहे हैं। प्रबंधक अभिभावकों को संदेश भेजकर स्कूल फीस जमा नहीं करने पर बच्चों के परिजनों को खुलेआम धमकी दे रहे हैं। इससे बच्चे मानसिक तनाव में आकर प्रताड़ित हो रहे हैं। इसके कारण अभिभावकों में आक्रोश व्याप्त है।  अभिभावकों का कहना है कि जब बच्चें को पूरा टाइम पढ़ाएं वे मोबाइल उनका और इंटरनेट भी उनका ही जाएं तो फिर फीस किस बात की। अभिभावकों का कहना है कि निजी स्कूल लुटने का काम कर रही है। हमारे बच्चों को बिना पढ़ाए, बिना सुविधा दिए ही फीस वसूलने के लिए लगातार दबाव बना रही है। मात्र ऑनलाइन पढ़ाया जा रहा है, लेकिन स्कूल संचालक फीस की पूरी राशि वसूल रहे हैं।

09-03-2021
Video: तेंदुए ने किया वृद्ध पर हमला, अस्पताल में भर्ती

कोरबा। तेंदुए ने एक वृद्ध पर मंगलवार को हमला कर दिया। इससे वृद्ध बुरी तरह घायल हो गया है। इससे इलाके में हड़कंप मच गया। हमला दीपिका के ग्राम बतारी स्थित एक स्कूल के पास हुआ। घटना की जानकारी मिलते ही दीपका पुलिस व वन विभाग की टीम मौके पर पहुंची। घायल वृद्ध रकबर सिंह को इलाज के लिए नेहरू शताब्दी चिकित्सालय में भेजा गया है। मिली जानकारी के अनुसार जंगल से भटक कर एक तेंदुआ वन विभाग तेंदुए को पकड़ने की कोशिश में लगी है।

07-03-2021
अक्षय कुमार पहुंचे स्कूल में, बच्चों के साथ खेला वॉलीबॉल 

मुंबई/रायपुर। बॉलीवुड अभिनेता अक्षय कुमार 6 मार्च को कांदिवली स्थित चतुर्भुज नर्सी स्कूल में पहुंचे थे। अक्षय विश्व स्तर की खेल सुविधाओं का जायजा लेने यहां आए थे। इन खेल सुविधाओं में 25 मीटर स्विमिंग पूल, 10 मीटर ओलंपिक मानक शूटिंग रेंज, इनडोर और आउटडोर बहुउद्देश्यीय खेल क्षेत्र, 22 फीट रॉक क्लाइंबिंग वॉल शामिल हैं। जायजा लेने के बाद अक्षय ने बच्चों के साथ कई तरह के खेलों का आनंद भी उठाया। उन्होंने वॉलीबॉल भी खेला। साथ ही हाथ में बंदूक थामकर निशाना भी लगाया। अक्षय से बच्चों को पढ़ाई लिखाई के साथ-साथ खेलों में रुचि दिखानी की भी प्रेरणा मिली।

03-03-2021
विद्यालय में 11 छात्र पाए गए कोरोना संक्रमित, स्कूल 3 दिन के लिए बंद

कुरूद। जिले के कुरूद स्थित जवाहर नवोदय विद्यालय में कोरोना की एंट्री से स्कूल में हडकंप मच गया। कोरोना जांच के दौरान 11 छात्र संक्रमित पाए गए। कोरोना पॉजिटिव पाये जाने के बाद सभी संक्रमित छात्रों को पालकों को सौंप दिया गया। स्कूल को तीन दिन के लिए बंद कर दिया गया है। दरअसल 10वीं व 12वीं एक्जाम को देखते हुए राज्य और केन्द्र सरकार ने कोरोना गाइडलान का पालन करते हुए स्कूल को खोलने की अनुमति दी है। कुरूद के जवाहर नवोदय स्कूल में 10वी और 12वीं के विद्यार्थियों कि कक्षा संचालित हो रही थी। जांच के दौरान 11 छात्र कोरोना पाॅजिटिव पाए गए। बहरहाल स्वास्थ्य विभाग का कहना है कोरोना संक्रमित मिलने के बाद स्कूल में विद्यार्थी सहित शिक्षकों की जांच करने की बात कह रहे हैं। सभी विद्यार्थियों व शिक्षकों को कोविड नियमों का पालन करने के निर्देश दिए गए है।

दीपक साहू की रिपोर्ट

 

23-02-2021
रंग लाई शिक्षकों की मेहनत, प्रदेश सरकार को मिला ई-गवर्नेस अवार्ड

कोरिया। कोरोना संक्रमण काल में भले ही स्कूल बंद रहे लेकिन शिक्षकों ने विभिन्न तरीकों से पढ़ाना जारी रखा था। इसके कारण राज्य शासन को ई-गवर्नेस अवार्ड मिला है। ई-गवर्नेस अवार्ड का मिलना ही शिक्षकों के लगन और सेवाभाव का प्रमाण है। इस आशय को छत्तीसगढ़ प्रदेश शिक्षक फेडरेशन के प्रांताध्यक्ष राजेश चटर्जी ने वार्षिक आमसभा में व्यक्त किया। फेडरेशन के उप प्रांताध्यक्ष राजेन्द्र सिंह एवं कोरिया जिला अध्यक्ष रवींद्रनाथ तिवारी ने बताया कि जेएन पाण्डेय शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय रायपुर के सभागार में आयोजित हुए वार्षिक आमसभा में प्रदेश के लगभग सभी जिलों से शिक्षक शामिल हुए। 28 फरवरी को सेवानिवृत्त हो रहे अशोक रायचा (रायपुर संभाग अध्यक्ष) को प्रांताध्यक्ष राजेश चटर्जी ने प्रांताध्यक्ष का आसंदी एवं दायित्व देकर तथा सेवा सम्मान पदक से सम्मानित किया। उन्होंने बताया कि आमसभा में शिक्षक संवर्ग को समयमान वेतनमान स्वीकृति पर सही विकल्प लेने के तरीकों पर  विशेषज्ञ कुबेर राम देशमुख ने विस्तृत जानकारी उदाहरण सहित दिया। आमसभा में पुराने पेंशन योजना को लागू करने पर जोर दिया गया है।

विगत वर्ष 2020 के वार्षिक प्रतिवेदन का अनुमोदन सर्वसम्मति से किया। फेडरेशन के स्थाई निधि एवं संपत्ति की व्यवस्था के लिए प्रत्येक ब्लॉक/तहसील इकाई में अधिक से अधिक संरक्षक सदस्य एवं आजीवन सदस्य बनाने का संकल्प पारित हुआ। वर्ष 2021 के लिए एकेएएंड कंपनी दुर्ग को लेखा परीक्षक नियुक्ति किया गया। छत्तीसगढ़ सोसाइटी रजिस्ट्रीकरण अधिनियम की धारा 27 एवं 28 के अंतर्गत कार्यवाही के लिए सर्वाधिकार प्रांताध्यक्ष को दिया। नियाय पाती अभियान के फलस्वरूप शासन स्तर पर हुए कार्यवाही की जानकारी एवं आगामी रणनीति तय किया गया। राजेन्द्र सिंह की ओर से प्रांतीय सम्मेलन करने का प्रताव पारित हुआ। सभी वक्ताओं ने सहायक शिक्षकों को तृतीय समयमान/क्रमोन्नत वेतनमान एवं संवर्गीय पदोन्नति पर तार्किक पक्ष रखते हुए तत्सम्बन्धी आदेश जारी का माँग शासन से किया। अरुण ध्रुव अध्यक्ष तकनीकी शिक्षा प्रकोष्ठ एवं रविन्द्र सिंह पोर्ते ने तकनीकी शिक्षा विभाग के शैक्षणिक संवर्ग के भर्ती-पदोन्नति नियम बनाए जाने पर जोर देते हुए, नए नियम बनाए जाने के आवश्यकता पर विस्तृत प्रतिवेदन आमसभा में प्रस्तुत किया। आमसभा को जिला अध्यक्षों ने संबोधित किया। आमसभा में 9 प्रस्तावों को सर्वसम्मति से पारित किया। आमसभा में शिक्षकों ने गीत एवं कविता सुनाकर अपने प्रतिभा का बेहतरीन प्रस्तुति देकर आमसभा में उपस्थित सदस्यों का मनोरंजन किया।आमसभा में सरगुजा, बिलासपुर, रायपुर, दुर्ग एवं बस्तर संभाग के पदाधिकारियों एवं सक्रिय सदस्यों ने भाग लिया।

20-02-2021
जल्द शुरू होगी शिक्षकों की भर्ती,शिक्षा विभाग ने संचालक को लिखा पत्र

रायपुर। प्रदेश में 14580 शिक्षकों की भर्ती की प्रक्रिया शुरू होने जा रही है। स्कूल शिक्षा विभाग ने संचालक लोक शिक्षण संचालनालय को इस संबंध में निर्देश जारी किए हैं। स्कूल शिक्षा विभाग के जारी आदेश के मुताबिक शिक्षकों की नियुक्तियां अभी 9वीं से 12वीं कक्षा तक के आवश्यक रिक्त पदों पर की जाएगी। पहले चरण में 9वीं, 10वीं,11वीं और 12वीं के लिए ही शिक्षकों की नियुक्ति होगी। इन पदों के लिए चयनित अभ्यर्थियों को नियुक्ति आदेश जारी करने कहा गया है। अभ्यर्थियों को अलग-अलग नियुक्ति पत्र जारी किए जाएंगे। नियुक्त किए जाने वाले अभ्यर्थियों की वरिष्ठता व्यापमं की प्रावीण्य सूची के क्रम में होगी। नियुक्त शिक्षकों को परिवीक्षा अवधि में वेतन के संबंध में वित्त विभाग के निर्देशों का पालन अनिवार्य होगा।

18-02-2021
स्कूल खुलते ही कोरोना ने जकड़ा, 2 बच्चे और 9 स्टाफ की रिपोर्ट पॉजिटिव

राजनांदगांव। स्कूल खुलते ही राजनांदगांव के एक स्कूल में गुरुवार को कोरोना विस्फोट हो गया है। स्कूल के 2 बच्चे और 9 स्टॉफ कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। बता दें कि छत्तीसगढ़ में 11 महीने बाद प्रदेश सरकार ने 15 फरवरी से 9वीं से 12वीं तक कक्षा वाली स्कूलों को खोले जाने का निर्णय लिया है। स्कूलों के लिए कोरोना गाइडलाइन का पालन अनिवार्य किया गया है। कैबिनेट मीटिंग के बाद इसकी घोषणा भी की गई थी। लेकिन कोरोना छत्तीसगढ़ में अभी पूरी तरह से खत्म नहीं हुआ है। इसके बावजूद राज्य सरकार ने 15 फरवरी से प्रदेश भर के स्कूलों को खोल दिया है। बताया जा रहा है कि राजनांदगांव जिले के युगांतर पब्लिक स्कूल में स्कूल खुलते ही कोरोना विस्फोट हो गया है। स्कूल के 2 बच्चे और 9 स्टॉफ कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। यानी तीसरे ही दिन बच्चों समेत 11 लोग संक्रमित मिले हैं। सीएमएचओ मिथलेश चौधरी ने बताया कि स्कूल खुलने के बाद आज बच्चों और स्टॉफ का कोरोना सैंपल लिया गया है। इसमें से 2 बच्चे और 9 स्कूल स्टाफ की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई है। इसके बाद स्कूल के सभी बच्चों और स्टाफ का कोरोना टेस्ट कराया जाएगा। उन्होंने बताया कि सभी स्कूलों को स्पष्ठ निर्देश दिया गया है कि किसी बच्चे या स्टॉफ में अगर कोरोना के लक्षण हो, तो उसको स्कूल नहीं जाना है। प्रशासन ने स्कूलों में मास्क, सैनिटाइजर और सोशल डिस्टेंसिंग के पालन का निर्देश जारी किया है।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804