GLIBS
13-08-2020
छत्तीसगढ़ की पावन धरा पौराणिक काल से दुनिया को अपनी ओर खींचती है...

रायपुर। छत्तीसगढ़ की पावन धरा पौराणिक काल से दुनिया को अपनी ओर खींचती रही है। मर्यादा पुरूषोत्तम राम का ननिहाल चंदखुरी छत्तीसगढ़ में है। राम छत्तीसगढ़ियों की जीवन-शैली और दिनचर्या का अंग हैं। प्रातः छत्तीसगढ़ के लोग उठकर एक-दूसरे से राम-राम कह कर अभिवादन करते हैं। छत्तीसगढ़ की समृद्ध संस्कृति में हर मामा अपने भान्जे को राम मानता है, आस्था से उसके पैर पड़ता है। पुरातन काल से छत्तीसगढ़ में राम लोगों के मानसपटल पर भावनात्मक रूप से जुड़े हैं। वहीं पर भगवान राम ने 14 वर्ष वनवास के दौरान लम्बा समय छत्तीसगढ़ की धरा पर गुजारा था। वनवास के दौरान श्रीराम छत्तीसगढ़ के जिन स्थानों से गुजरे थे उसे राम वन गमन पथ के रूप में विकसित करने कार्य योजना बनाई गई, जिसकी शुरुआत चंदखुरी से हो चुकी हैं।

राम वन गमन पर्यटन परपिथ के अंतर्गत जांजगीर चांपा जिले में शिवरीनारायण, बलौदा बाजार में तुरतुरिया, रायपुर में चंदखुरी और गरियाबंद के राजिम में परिपथ के विकास कार्यों की शुरुआत हो चुकी है। इसी तरह से राम वन गमन पर्यटन परिपथ में कोरिया जिले में सीतामढ़ी हर-चौका, सरगुजा में रामगढ़, धमतरी में सप्तऋषि आश्रम, बस्तर में जगदलपुर, सुकमा में रामाराम सहित करीब 75 स्थलों को चिन्हांकित कर लिया गया है। अब मुख्यमंत्री के निर्देशन में छत्तीसगढ़ शासन की महत्वाकांक्षी योजना राम वन गमन परिपथ को विकसित करने का कार्य प्रारंभ हो गया है। इस योजना से लोगों की आस्था के अनुरूप राम की यादों को पौराणिक धार्मिक कथाओं से सुनते आ रहे लोग इन पौराणिक महत्व के स्थल को देख सकेगें। छत्तीसगढ़ की पावन भूमि पर्यटन तीर्थ स्थल के रूप में विकसित होने के साथ यहां रोजगार के साधनों का विकास होगा। अंदरूनी दुर्गम वन क्षेत्रों में सड़क परिवहन भी विकसित होगा जिससे कई आर्थिक गतिविधियों का स्वयं संचालन होने लगेगा। देश और दुनिया के आस्थावान लोग रामायण सर्किट की धार्मिक तीर्थ यात्रा पर निकलेंगे तो भगवान राम के ननिहाल के दर्शन करेंगे।

 

16-07-2020
अस्पताल की लापरवाही नन्ही जान ने दुनिया देखने से पहले ही दम तोड़ दिया, राज्यपाल से लिखित शिकायत

रायपुर। पंडरी जिला अस्पताल में प्रसूता के गर्भ में मासूम की मौत के बाद मामला गरमा गया गया है। लेकिन खानापूर्ति के नाम पर भी जिम्मेदारों पर किसी प्रकार की कोई कार्यवाही स्वास्थ्य विभाग और प्रशासन द्वारा नहीं ​की गई है। गौरतलब है कि आंबेडकर अस्पताल का स्त्री रोग विभाग पंडरी जिला अस्पताल में शिफ्ट होने के बाद यहां 30 से 40 गर्भवती रोज पहुंचती हैं। वहीं जगह नहीं होने का हवाला देकर कई महिलाओं को भगा दिया जाता है। मामला 13 जुलाई शाम पांच बजे का है। गठपुरैना निवासी महिला को प्रसव पीड़ा के बाद 102 एंबुलेंस से कालीबाड़ी अस्पताल लाया गया था। लेकिन उसे भर्ती करने के बजाय अस्पताल से भगा दिया गया था। परिजन दर्द से तड़पती प्रसूता को लेकर भटकते हुए शाम छह बजे पंडरी जिला अस्पताल पहुंचे थे, लेकिन वार्ड में भर्ती न कर बाहर बैठा दिया गया था। हाथ-पैर जोड़ने के बाद रात के आठ बजे भर्ती किया गया। रात 10ः30 से 11 बजे जब उसे इलाज मिला तब तक काफी देर हो गई थी। शिशु ने गर्भ में ही गंदा पानी पी लिया था। नन्ही जान ने दुनिया देखने से पहले ही दम तोड़ दिया था। मामले में अब पीड़िता के पति मोहन साहू ने राज्यपाल और स्वास्थ्य मंत्री को पत्रत्र लिखकर जिम्मेदारों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है।

 

 

28-06-2020
दुनिया भर में कोरोना संक्रमितों की संख्या 1 करोड़ के पार, ब्राजील में हालात बेकाबू, चीन में 24 घंटे में 21 मामले आए

नई दिल्ली। पूरी दुनिया में कोरोना वायरस का कहर जारी है। विश्व भर में कोरोना मरीजों की संख्या में लगातार इजाफा हो रहा है। चीन से पूरी दुनिया में फैल चुके कोरोना से मरने वालों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही हैं। वर्ल्डोमीटर के मुताबिक विश्व में संक्रमितों की संख्या एक करोड़ के पार चली गई है। उधर, मृतकों का आंकड़ा भी पांच लाख के करीब पहुंचकर 4.99 लाख के पार हो गया है। इधर, अमेरिका में जहां मृतकों की संख्या 1.27 लाख के पार हो गई है, वहीं ब्राजील में हालात बेकाबू हैं। यहां 56 हजार से ज्यादा मौतों के साथ संक्रमण के कुल मामलों की संख्या 12.80 लाख के पार चली गई है। अमेरिका अब भी पूरी दुनिया में कोरोना वायरस का एपिसेंटर बना हुआ है। अमेरिका में 25 लाख से ज्यादा लोग अब तक कोरोना से संक्रमित हो चुके हैं। जबकि देश में अर्थव्यवस्था बहाली के लिए खोले गए बाजार भी टेक्सास समेत कुछ प्रांतों में दोबारा बंद करने की सिफारिश की गई है।

अमेरिका में एक दिन में संक्रमण के सर्वाधिक 45,242 मामले सामने आए हैं। जबकि ब्राजील में हर दिन अमेरिका से ज्यादा मामले और मौतें दर्ज हो रही हैं। देश में पिछले 24 घंटों में 46 हजार से ज्यादा नए मामले आए, जबकि 1,055 लोगों की मौत हुई। देश में बेकाबू हो रहे हालातों के कारण राष्ट्रपति जायर बोलसोनारो पर लॉक डाउन का दबाव है, लेकिन वे अर्थव्यवस्था ठप्प करने के पक्ष में दिखाई नहीं दे रहे हैं। उन पर डब्ल्यूएचओ का भी दबाव बढ़ गया है। डब्ल्यूएचओ का कहना है कि ब्राजील की सरकार ने मास्क तो जरूरी कर दिया, लेकिन सामूहिक संक्रमण रोकने के उपाय नहीं किए।

अमेरिका में 16 राज्य ज्यादा प्रभावित :

अमेरिका के 50 में से 16 राज्यों में हालात अब भी काफी खराब हैं। अश्वेत नागरिक जॉर्ज फ्लॉयड की मौत के बाद हुए प्रदर्शनों को इसके लिए जिम्मेदार माना जा रहा है। फ्लोरिडा और टेनेसी में संक्रमण की रफ्तार अन्य राज्यों से ज्यादा है। कोरोना टास्क फोर्स के सदस्य डॉक्टर एंथोनी फौसी के मुताबिक, कुछ राज्यों में संक्रमण पर काबू पाने में ज्यादा कामयाबी नहीं मिल सकी।

सऊदी अरब में दोबारा तेजी से बढ़ा संक्रमण :

तमाम उपायों के बावजूद सऊदी अरब में संक्रमण फिर से फैल रहा है। पिछले महीने दी गई ढील के बाद राजधानी रियाद और उसके पास के इलाकों में फिर पाबंदियां लगाई गईं लेकिन, तब तक नुकसान हो चुका था। पिछले 24 घंटों में 3,938 नए मामले सामने आए। यहां कुल संख्या 1,74,577 हो गई है। मरने वालों का कुल आंकड़ा 1,474 हो गया है।

चीन में फिर सामने आए 24 घंटे में 21 मामले :

चीन में शनिवार को जारी आंकड़ों के मुताबिक, 24 घंटे के भीतर 21 नए मामले सामने आए हैं। ये सभी मामले स्थानीय हैं, जो इशारा करते हैं कि यहां संक्रमण पर काबू पाने के दावे पूरी तरह सही नहीं हैं। 21 में 17 मामले राजधानी बीजिंग के हैं। हालांकि, इस दौरान किसी मौत की जानकारी सामने नहीं आई है।

24-06-2020
दुनिया भर में कोरोना मरीजों के आंकड़ों में बढ़ोतरी जारी, 4.74 लाख लोगों की मौत, संक्रमितों की संख्या 92 लाख के पार

नई दिल्ली। दुनिया भर में जानलेवा कोरोना वायरस का कहर जारी है। चीन के वुहान से पिछले साल दिसंबर में शुरू हुए इस खतरनाक वायरस का फैलाव दुनिया के लगभग हर देश में फैल चुका है। दिन-प्रतिदिन कोरोना संक्रमण से मरने वालों की संख्या लगातार बढ़ रही है। दुनिया में कोरोना से संक्रमित लोगों की संख्या मंगलवार को 92 लाख का आंकड़ा पार कर गई, जबकि 4.74 लाख लोगों की जान जा चुकी है। महामारी के चपेट में आए 49.61 लाख लोग इससे उबरे भी हैं। वहीं रूस में संक्रमण की स्थिति लगातार गंभीर होती जा रही है। मिली जानकारी के अनुसार विश्व भर में इस बीमारी से संक्रमितों की संख्या 92 लाख से अधिक हो गई है, जबकि इससे होने वाली मौतों की संख्या 476,900 हो गई है। कोविड-19 के मामलों की संख्या बुधवार की सुबह तक 92,39,794 थी, जबकि घातक वायरस से मरने वाले लोगों की संख्या बढ़कर 476,945 हो गई। यह खुलासा विश्वविद्यालय के सेंटर फॉर सिस्टम साइंस एंड इंजीनियरिंग(सीएसएसई) ने अपने नवीनतम अपडेट में किया।

सीएसएसई के अनुसार, अमेरिका 2,346,937 मामलों और 121,224 मौतों के साथ प्रभावित देशों की सूची में शीर्ष पर बना है, जबकि ब्राजील 1,145,906 मामलों के साथ दूसरे स्थान पर है, जबकि यहां मरने वाले लोगों की संख्या 52654 है। सीएसएसई के आंकड़ों के अनुसार, मामलों में रूस तीसरे (598,878), उसके बाद भारत (440,215), ब्रिटेन (307,682), पेरू (260,810), चिली (250,767), स्पेन (246,752), इटली (238,833), ईरान (209,970), फ्रांस (197,804), जर्मनी (192,480), तुर्की (190,165), मैक्सिको (191,410), पाकिस्तान (185,034), सऊदी अरब (164,144), बांग्लादेश (119,198), कनाडा (103,767) और दक्षिण अफ्रीका (106,108) का स्थान आता है। वहीं 10,000 से अधिक मौत वाले देश ब्रिटेन (43,011), इटली (34,675), फ्रांस (29,723), स्पेन (28,325), मैक्सिको (23,377) और भारत (14,011) हैं।

मिस्र में 24 घंटे में 1576 नए मामले :

मिस्र में 24 घंटे में 1576 नए मामले सामने आए हैं। संक्रमितों की संख्या बढ़कर 56 हजार से अधिक हो चुकी है। स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि देश में 24 घंटे में 85 लोगों की मौत हुई है। देश भर में संक्रमण से जान गंवाने वाले लोगों की संख्या 2,278 हो गई

20-06-2020
मुकेश अंबानी दुनिया के टॉप टेन अमीरों में हुए शामिल

नई दिल्ली। रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी 64.6 अरब डॉलर (4926 अरब रुपये) के मालिक हो गए हैं। इसके साथ ही अब वह दुनिया के 9वें सबसे अमीर की लिस्ट में भी शामिल हो गए हैं। बिजनेस इंसाइडर की रिपोर्ट की मानें तो इस समय भारत के मुकेश अंबानी दुनिया के सबसे बड़े 10 अमीरों की लिस्ट में एकलौते एशिया के कारोबारी हैं। बता दें कि लॉक डाउन के बावजूद पिछले तीन माह में आए रिलायंस के शेयरों में तेजी की वजह से मुकेश अंबानी के नेटवर्थ 30 अरब डॉलर जो करीब 2288 अरब रुपये से अधिक बढ़ी है। बता दें कि रिलायंस इंडस्ट्रीज कंपनी ने खुद को अगले साल तक पूरी तरह कर्ज मुक्त करने के लक्ष्य को अभी ही हासिल कर लिया है। इसको लेकर कंपनी के चेयरमैन मुकेश अंबानी ने बयान जारी किया है और कहा कि 31 मार्च 2021 तक कंपनी को कर्ज मुक्त बनाने के वादे को बहुत पहले ही पूरा कर लिया है। मुकेश अंबनी ने बयान जारी करते हुए कहा, "आज मुझे ये एलान करते हुए प्रसन्नता हो रही है कि हमने शेयरहोल्डर्ड के साथ जो वादा था कि रिलायंस को 31 मार्च 2021 तक कर्जमुक्त बनाएंगे, उसे बहुत पहले ही पूरा कर लिया गया है।

 

20-06-2020
ब्राजील में कोरोना संक्रमितों की संख्या दस लाख के पार, दुनिया में अब तक 87.57 लोग संक्रमित

नई दिल्ली। पूरी दुनिया में जानलेवा कोरोना वायरस के मामले लगातार बढ़ते जा रहे है। चीन के वुहान शहर से फैले कोविड—19 ने पूरी दुनिया को अपनी चपेट में ले लिया है। मिली जानकारी के अनुसार पूरी दुनिया में कोरोना से चार लाख 62 हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो गई है और 87 लाख 57 हजार से ज्यादा लोग संक्रमित हैं। जबकि 46 लाख 25 हजार से ज्यादा लोग ठीक भी हो चुके हैं। वहीं दुनिया भर में सबसे ज्यादा प्रभावित अमेरिका में कोरोना से एक लाख 21 हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है और 22 लाख 97 हजार से ज्यादा लोग संक्रमित हैं।

ब्राजील में दस लाख से अधिक हुए संक्रमण के मामले :

ब्राजील की सरकार ने देश में कोरोना वायरस संक्रमण के दस लाख से अधिक मामले होने की पुष्टि की है। संक्रमण के सर्वाधिक मामले अमेरिका में हैं और उसके बाद ब्राजील में। देश के स्वास्थ्य मंत्रालय ने शुक्रवार को कहा कि कुल मामले 1,032,913 हैं, जो बृहस्पतिवार को जितने मामले थे उनके मुकाबले 50,000 से अधिक है। अमेरिका के जॉन्स हॉप्किंस विश्वविद्यालय का कहना है कि ब्राजील हर दिन प्रति 1,00,000 लोगों पर औसतन महज 14 जांच ही करवा पा रहा है जो विशेषज्ञों के मुताबिक जरूरत से 20 गुना कम है।

19-06-2020
देश में पिछले 24 घंटे में 13,586 नए मामले आए, अब तक कोरोना से संक्रमित दो लाख से अधिक मरीज हुए ठीक

नई दिल्ली। पूरी दुनिया कोरोना वायरस (कोविड-19) महामारी से जूझ रही है। भारत भी कोविड-19 से बुरी तरह प्रभावित हुआ है। कोरोना महामारी से भारत में हर दिन संकट बढ़ता जा रहा है। केन्द्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय की ओर से शुक्रवार को जारी आंकड़ों के मुताबिक कोरोना वायरस के संक्रमण के 13,586 नये मामलों के साथ संक्रमितों की संख्या बढ़कर 3,80,532 हो गई है। पिछले 24 घंटों में 336 लोगों की मौत हुई, जबकि गुरुवार को मृतकों की संख्या 334 तथा बुधवार को यह आंकड़ा 2003 रहा। इस बीमारी से मरने वालों की संख्या अब 12,573 हो गई है। देश में इस समय कोरोना के 1,63,248 सक्रिय मामले हैं तथा 10,386 और लोगों के स्वस्थ होने के साथ रोगमुक्त होने वालों की संख्या बढ़कर 2,04,711 हो गई है।

09-06-2020
डब्ल्यूएचओ की फिर चेतवानी, दुनिया भर में और बि‍गड़ते जा रहे हैं कोरोना वायरस के हालात

नई दिल्ली। पूरी दुनिया में जानलेवा कोरोना वायरस का कहर जारी है। विश्व में लगातार बढ़ रहे कोरोना के मामलों के बीच विश्व स्वास्थ्य संगठन के प्रमुख ने चेतावनी दी। डब्ल्यूएचओ ने सोमवार को कहा कि कोरोना वायरस महामारी की स्थिति दुनिया भर में बिगड़ रही है। हालांकि यूरोप में स्थिति में सुधार हो रहा है। डब्ल्यूएचओ ने कहा कि उसने एक दिन में सबसे ज्यादा मामले रिकॉर्ड किए है। साथ ही कहा कि अमेरिका में कोविड-19 खतरनाक होता जा रहा है। जेनेवा में ऑनलाइन प्रेस कॉन्फ्रेंस में डब्‍लयूएचओ प्रमुख टेड्रोस एडहानोम गेब्रेयेसस ने कहा कि ‘यूरोप की स्थिति में सुधार हो रहा है, लेकिन वैश्विक स्तर पर हालात बिगड़ते जा रहे हैं।उन्होंने कहा कि पिछले 10 दिनों में से नौ दिनों में हर रोज एक लाख मामले सामने आए हैं।

कल 1,36,000 मामले सामने आए, जो एक दिन में सामने आई संक्रमितों की सबसे अधिक संख्या है। डब्ल्यूएचओ प्रमुख ने कहा कि इन मामलों में से 75 फीसदी मामले 10 देशों में सामने आए, जिनमें से अधिकतर अमेरिका और दक्षिण एशिया में रिपोर्ट किए गए। उन्होंने आगे कहा कि दुनिया भर में अधिकांश लोग अभी भी संक्रमण के लिए अतिसंवेदनशील हैं। टेड्रोस ने कहा कि इस महामारी को सामने आए छह महीने से अधिक का समय हो गया है। यह किसी भी देश के लिए महामारी रोकने के उपायों में कमी करने का समय नहीं है।

25 मई को अमेरिका में हुई जॉर्ज फ्लॉयह की हत्या को लेकर हो रहे विरोध प्रदर्शनों को लेकर डब्ल्यूएचओ प्रमुख ने कहा कि बड़े स्तर पर लोगों के इकट्ठा होने की वजह से वायरस की सक्रिय निगरानी की आवश्यक है, ताकि इसके प्रसार पर रोक लगाई जा सके। उन्होंने कहा कि डब्ल्यूएचओ पूरी तरह से समानता और नस्लवाद के खिलाफ वैश्विक आंदोलन का समर्थन करता है। हम सभी प्रकार के भेदभाव को अस्वीकार करते हैं। हम दुनिया भर में विरोध कर रहे सभी लोगों को सुरक्षित रूप से ऐसा करने के लिए प्रोत्साहित करते हैं। डब्ल्यूएचओ प्रमुख ने बताया कि संगठन ने 50 लाख पीपीई किटों को 110 देशों में भेजा है। बता दें कि, वैश्विक स्वास्थ्य निकाय ने एक अरब 29 करोड़ पीपीई किट को 126 देशों में भेजने का लक्ष्य रखा है।

08-06-2020
कोरोना वायरस : देश में पिछले 24 घंटे में 9983 नए मामले आए, 208 लोगों की मौत, कुल मरीजों की संख्या ढाई लाख के पार

नई दिल्ली। पूरी दुनिया में कोरोना वायरस से हाहाकार मचा हुआ है। भारत भी कोविड-19 से बुरी तरह प्रभावित हुआ है। इस महामारी का संकट भारत में हर दिन बढ़ता जा रहा है। महाराष्ट्र, दिल्ली समेत देश के विभिन्न राज्यों में संक्रमितों की संख्या में तेजी देखी जा रही है। पिछले कई दिनों से हर रोज कोरोना के केसों में उछाल देखा जा रहा है। केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबिक, पिछले 24 घंटे में देश में कोरोना वायरस के 9983 मामले सामने आए हैं। यह एक दिन संक्रमितों की सबसे ज्यादा संख्या है। वहीं, इस दौरान 208 लोगों की मौत हुई है। इस तरह देश में संक्रमितों की संख्या 2,56,611 हो गई है।

संक्रमण के कारण अब तक 7135 लोगों की जान गई है। इस खतरनाक वायरस से अब तक देश में 1,24,095 लोग ठीक हो चुके हैं। दूसरी तरफ, लॉक डाउन के दौरान करीब दो महीने तक बंद रहने के बाद आज यानी सोमवार से देश में शॉपिंग मॉल, धार्मिक स्थल, होटल और रेस्तरां फिर से खुल रहे हैं, जिनमें नए नियमों के तहत प्रवेश के लिए टोकन सिस्टम जैसी व्यवस्थाएं होंगी। वहीं, मंदिरों में प्रसाद आदि का वितरण नहीं होगा।

02-06-2020
स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा, देश में कोरोना वायरस से मृत्यु दर दुनिया में सबसे कम,95,527 मरीज हुए ठीक

नई दिल्ली। देश में कोरोना वायरस संक्रमण से मृत्युदर 2.82 प्रतिशत है,जो कि दुनिया में सबसे कम है वहीं अबतक 95,527 मरीज ठीक हुए हैं। भारत में कोरोना मरीजों की रिकवरी रेट 48.07 प्रतिशत है। यह जानकारी मंगलवार को स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से आयोजित एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में दी गई। स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने कहा कि कोरना वायरस संक्रमण से जितनी भी मौतें हुई हैं उनमें 73 फीसदी मौतें ऐसी हुई हैं,जिन्हें पहले से ही कोई अन्य बीमारी भी थी। 

 

02-06-2020
दुनिया का 7वां सबसे अधिक कोरोना प्रभावित देश बना भारत

नई दिल्ली। कोरोना वायरस से पूरी दुनिया त्रस्त है। अमेरिका, फ्रांस, जर्मनी, इटली, रूस और ब्रिटेन जैसे अमीर देश भी इस महामारी के सामने घुटने टेक चुके हैं। अब भारत में भी हालात तेजी से बिगड़ते नजर आ रहे हैं। ताजा आंकड़ों के मुताबिक भारत दुनिया का 7वां सबसे अधिक कोरोना प्रभावित देश बन गया है। वर्ल्डोमीटर के मुताबिक, पूरी दुनिया में कोरोना वायरस संक्रमण से तीन लाख 77 हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो गई है और 63 लाख 66 हजार से ज्यादा लोग संक्रमित हैं जबकि 29 लाख 03 हजार से ज्यादा लोगों ने कोरोना को मात दी है। वहीं दुनिया भर में सबसे ज्यादा प्रभावित देश अमेरिका में कोरोना से एक लाख छह हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है और 18 लाख 59 हजार से ज्यादा लोग संक्रमित हैं। 

24 घंटे में 8 हजार 171 कोरोना पॉज़िटिव मरीज :

केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबिक, पिछले 24 घंटे में 8,171 नए मामले सामने आए हैं और 204 लोगों की मौत हुई है। इसके बाद देश भर में कोरोना पॉजिटिव मामलों की कुल संख्या 1,98,706 हो गई है, जिनमें से 97,581 सक्रिय मामले हैं, 95,527 लोग ठीक हो चुके हैं या उन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है और अब तक 5,598 लोगों की मौत हो चुकी है। विश्व स्वास्थ्य संगठन के आंकड़ों के मुताबिक भारत दुनिया का सातवां ऐसा देश बन गया है, जहां कोरोना वायरस ने सबसे ज्यादा तबाही मचाई है। जिस तेजी से संक्रमण के नए मामले सामने आ रहे हैं उससे लगता है कि भारत जल्द बाकी देशों से भी आगे निकल जाएगा। अभी दुनिया में अमेरिका इस जानलेवा महामारी से सबसे ज्यादा प्रभावित है। यहां अब तक 17 लाख से ज्यादा लोग संक्रमित हुए हैं और 1 लाख से ज्यादा लोगों की मौत हुई है।

कोरोना वायरस का नया केंद्र बना ब्राजील :

लैटिन अमेरिकी देश ब्राजील अब कोविड-19 महामारी का नया केंद्र बन गया है। यहां अब तक 5 लाख से अधिक लोगों में वायरस की पुष्टि हो चुकी है जबकि तीस हजार से अधिक लोग काल के गाल में समा चुके हैं।

पाकिस्तान में पिछले 24 घंटे में 3938 नए मामले सामने आए :

पाकिस्तान के स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि पिछले 24 घंटे में कोरोना पॉजिटिव के 3,938 नए मामले सामने आए हैं और 1,621 लोगों की मौत हुई है। नए मामलों के साथ ही देश भर में संक्रमित मरीजों की संख्या 76,398 हो गई है।

अमेरिका में कोविड-19 से जान गंवाने वालों में एक तिहाई नर्सिंग होम के मरीज :

अमेरिका में एक नई रिपोर्ट में दावा किया गया है कि देश में कोविड-19 से जान गंवाने वालों में से एक तिहाई लोग नर्सिंग होम के रहने वाले हैं। यह रिपोर्ट ऐसे समय में आई है, जब पुलिस की बर्बरता के खिलाफ जारी प्रदर्शन के बावजूद अमेरिका में कोरोना वायरस से निपटने के लिए लगे प्रतिबंधों में सोमवार को ढील दी गई। अमेरिका के सभी गवर्नर के लिए तैयार की गई एक रिपोर्ट में कहा गया कि नर्सिंग होम (देखभाल केन्द्रों) में रहने वाली करीब 26,000 लोगों की जान कोविड-19 से संक्रमित होने की वजह से गई है। इस आंकड़ें के अधिक होने की आशंका भी बनी हुई है। यह आंकड़ें देश के 15,400 देखभाल केन्द्रों में से 80 प्रतिशत से 24 मई तक मिली रिपोर्ट पर आधारित हैं।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804