GLIBS
03-07-2020
विधवा को शादी का प्रलोभन देकर दैहिक शोषण करने वाले अधीक्षक पर दुष्कर्म का मामला दर्ज

महासमुन्द। सरायपाली तहसील कार्यालय में भृत्य पद पर पदस्थ महिला ने शुक्रवार को सिटी कोतवाली पहुंच कर कलेक्ट्रेट कार्यालय में अधीक्षक के पद पर पदस्थ दैहिक शोषण का आरोप लगाते हुए मामला दर्ज कराया है। विधवा महिला की रिपोर्ट पर पुलिस ने कलेक्ट्रेट कार्यालय में पदस्थ अधीक्षक के खिलाफ भादवि की धारा 376 का मामला दर्ज कर लिया है।विधवा महिला ने पुलिस में रिपोर्ट दर्ज कराते हुए जानकारी दी है कि वह 2019 में कलेक्ट्रेट कार्यालय महासमुन्द में पदस्थ थी। तब उसकी मुलाकात अधीक्षक से हुई थी, महिला की जान पहचान होने के बाद अधीक्षक ने महिला के विधवा होने की जानकारी होने पर उसे शादी करने और सामाजिक दर्जा देने का आश्वासन देकर दैहिक शोषण करता रहा। महिला ने पुलिस को अपनी रिपोर्ट में आगे जानकारी देते हुए बताया कि जब अधीक्षक पर शादी करने के लिए दबाव बनाया तब मंदिर ले जाकर मांग भरकर उसे अपनी पत्नी स्वीकर कर लिया।

महिला के साथ शादी के बाद अधीक्षक ने महिला को उसके घर भेज दिया। महिला ने पुलिस को बताया कि 19 मार्च को वह महिला अपने परिवारवालों के साथ उक्त अधीक्षक के घर पहुंची और साथ में रहने की बात कही तब शादी से इंकार कर दिया। पुलिस ने महिला की शिकायत पर कलेक्ट्रेट में पदस्थ अधीक्षक के खिलाफ भादवि की धारा 376 का मामला दर्ज कर लिया है।अधीक्षक पहले से शादीशुदा है और उसके बच्चे है। मार्च माह में भी यह मामला थाने तक पहुंचा था लेकिन पुलिस में मामला नहीं दर्ज कराया गया था। लगभग साढ़े तीन माह बाद महिला आज अपने परिजनों के साथ थाना पहुंची। अधीक्षक पर शादी का प्रलोभन देकर दैहिक शोषण करने, मंदिर में शादी करने के बाद भी पत्नी स्वीकारने से इंकार करने की शिकायत करते हुए पुलिस में मामला दर्ज कराया है।

01-07-2020
क्वारंटाइन सेंटर में 11 साल की बच्ची की मौत, पोस्टमार्टम रिपोर्ट का इंतजार

महासमुन्द। बागबाहरा ब्लाक के ग्राम सुखडबरी में एक 11 वर्षीय बालिका की क्वारंटाइन सेंटर में मौत हो गई है। जिले में यह दूसरी घटना है। इससे पहले भी सरायपाली क्षेत्र में एक महिला की मौत हुई थी। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार मृत बालिका पिछले 12-13 दिन से क्वारंटाइन सेंटर में थी। बताया जा रहा है कि बालिका को किडनी संबंधी समस्या थी। कुछ दिन पहले ही उत्तप्रदेश के सुल्तानपुर जिले से अपने घर वापस लौटे थे। जिन्हें गांव में बने क्वारंटाइन सेंटर में रखा गया था जिसकी आज मौत हो गई है। फिलहाल मौत का कारण अभी तक स्पष्ट नहीं हो पाया है। समाचार लिखे जाने तक बालिका का पोस्टमार्टम की तैयारी चल रही है।

गौरतलब है कि जिले के क्वारंटाइन सेंटर में यह दूसरी मौत है। इससे पहले सरायपाली थाना क्षेत्र के एक क्वांरटाइन सेंटर में डिलवरी के बाद पहुंची महिला की एक सप्ताह बाद अचानक तबियत खराब हुई और उसकी मौत हो गई थी। बड़ा सवाल यह है कि क्या गंभीर बीमारी या जिसे ज्यादा देख रेख की जरूरत है ऐसे मरीजों को क्वारंटाइन सेंटर में रखा जाना उचित है? क्या क्वारंटाइन सेंटर में ऐसे मरीजों का इलाज किया जा रहा है। क्या उनकी देखभाल सही तरीके के क्वारंटाइन सेंटर में की जा रही हैं, या शासन प्रशासन ने मान लिया है कि गरीबों को भेड़ बकरियों की तरह बिना किसी व्यवस्था के कहीं भी रखा जा सकता है।

29-06-2020
Video: बड़े पैमाने पर चल रहा था गोरखधंधा, एक लाख 75 हजार के नकली नोट के साथ 4 गिरफ्तार

महासमुन्द। वर्षों से नकली नोट का कारोबार कर रहे अंतरराज्यीय गिरोह को जिला पुलिस ने गिरफ्तार कर आरोपियों से लाखों रुपए के नकली नोट बरामद कर लिया है। इस कारोबार को वर्षों से करने वाले मास्टर माइंड को भी पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। गिरफ्तार आरोपियों के पास से एक लाख 75 हजार रुपए के नकली नोट के अलावा, नोट छापने में इस्तेमाल किये जाने वाला कलर प्रिंटर, मोबाइल, स्कूटी और पुलिस को डराने के लिए पास में रखे चिडिय़ा मारने वाली बंदूक के साथ पुलिस ने 4 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। जिला पुलिस की कार्रवाई से रायपुर रेंज के आईजी ने जिला पुलिस की प्रशंसा करते हुए इनाम की बात कही है।पुलिस अधीक्षक प्रफुल्ल ठाकुर ने स्थानीय कंट्रोल रूम में प्रेस को जानकारी देते हुए बताया कि पुलिस को मुखबिर से सूचना मिल रही थी कि कुछ अंतराज्यीय नकली नोट बनाने वाले गिरोह के लोग जिले में नकली नोट खपा रहे है।

पुलिस ने मुखबिर की सूचना पर जाल बिछाते हुए ग्राहक बन कर बसना क्षेत्र के आरोपियों से सम्पर्क साधा और नकली नोट खरीदने का झांसा देकर आरोपियों से सौदा तय किया और कल 28 जून को पुलिस ने बसना थाना क्षेत्र के ग्राम भंवरपुर रोड़ पर डील करने के लिए बुलाया लेकिन आरोपियों को पुलिस के होने का अंदेशा होने पर नोट की डिलिंग का स्थान बदल कर पुलिस को चकमा देने के लिहाज से बसना क्षेत्र के धानापाली के बुलाया। ग्राहक बने पुलिस ने धानापाली के आसपास अपने पुलिस को शादी वर्दी में लगा दिया और उक्त स्थान पर पहुंचा जहां पुलिस ने दो संदिग्ध व्यक्ति को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने उक्त आरोपियों से पूछताछ की तो उन्होंने अपना नाम जयंत यादव 36 साल टेमरी थाना सांकरा निवासी बताया, दूसरा व्यक्ति ने अपना नाम बेसीकेशन प्रधान उड़ीसा निवासी होने की जानकारी दी।

पुलिस ने उक्त दोनों व्यक्तियों के पास से 75 सौ रुपए के नकली नोट बरामद किया। पुलिस ने गिरफ्तार दोनों आरोपियों से कड़ाई से पूछताछ की तो उन्होंने जानकारी दी कि उड़ीसा निवासी सतपथी साहू द्वारा उन्हें नोट खपाने के लिए दिया जाता है। पुलिस ने गरिफ्तार आरोपियों के निशानदेही पर एक टीम उड़ीसा के लिए रवाना किया और सतपथी साहू के घर पहुंच कर पुलिस ने पूछताछ की तो पुलिस को डराने के लिए सतपथी साहू ने अपने घर में रखे चिडिया मारने की बंदूक निकाल कर पुलिस के सीने में टिका दिया, पुलिस ने आरोपी को वही पर दबोच लिया और उसके साथ उसके पाटर्नर प्रदीप धुर्वा को पुलिस ने गिरफ्तार कर उनके घर से नोट छापने के लिए इस्तेमाल किये जा रहे कलर प्रिंटर, कागज बरामद कर आरोपियों को अपने कब्जे में ले लिया। पुलिस ने  चारों आरोपियों के खिलाफ धारा 489क,ग,घ,ड़ 34 भादवि, दर्ज कर जेल भेज दिया है।

 

29-06-2020
Video: खबर का असर : 6 घरों में ताला तोड़ने वाले तीन आरोपी गिरफ्तार, एक लाख का माल बरामद

महासमुन्द। ग्लिब्स ने 6 घरों में ताले टूटने और लाखों रुपए के माल अज्ञात चोरों द्वारा चोरी की खबर प्रकाशित की थी। मामले में पुलिस ने त्वरित कार्रवाई करते हुए तीनों मामले में तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर लाखों के घरेलू सामान सहित चांदी के जेवरात पुलिस ने चोरों से बरामद कर धारा 457,380,34 आरोपियों को जेल भेज दिया है।स्थानीय कंट्रोल रूम में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक मेघा टेम्भूरकर ने बताया कि 27 जून को सिटी कोतवाली में 6 घरों में चोरी की रिपोर्ट दर्ज कराई गई थी,जिस पर सिटी कोतवाली प्रभारी ने पुलिस अधीक्षक प्रफुल्ल ठाकुर के आदेशानुसार, एसडीओपी नारद सूर्यवंशी के निर्देश में 3 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है।

पुलिस को मुखबिर से सूचना मिली किईदगाहाभाठा देवार डेरा महासमुन्द के कलैन्डू, सेमू, ठकलू देवार नयापारा तुमगांव निवासियों के द्वारा शहर में टीवी, पंखा, सिलिंग फैन, सिलाई मशीन और चांदी के जेवरात बेचने के लिए ग्राहक खोज रहे हैं। मुखबिर की सूचना पर पुलिस ने तत्काल एक्शन लेते हुए तीनों आरोपियों को गिरफ्तार कर पूछताछ की तो आरोपियों ने शहर के ईमलीभाठा, नयापारा इलाके में चोरी करना स्वीकार कर लिया। पुलिस ने आरोपियों के पास सिलिंग पंखा, रेडियो बॉक्स, कूलर, टीवी, सिलाई मशीन, गुण्डी, कांश की थाली, गैस सलेण्डर, खाना बनाने का बर्तन, ड्रम, चॉंदी का कर्धन, स्पीकर बरामद किया है। बरामद सामानों की कीमत लगभग एक लाख रुपए बताई गई है।

24-06-2020
Video: कार में स्मगलिंग करते बड़ी मात्रा में पुलिस ने पकड़ा गांजा, आरोपियों को भेजा जेल

महासमुन्द। पुलिस ने अवैध गांजा तस्करों पर कार्रवाई करते हुए जिले के 2 स्थान सिंघोड़ा थाना और महासमुंद सिटी कोतवाली में कार्यवाही करते हुए 2 क्विंटल 28 किलो गांजा सहित 5 आरोपियों को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार सभी आरोपियों के खिलाफ 20 एनडीपीएस के तहत कार्यवाही कर सभी को जेल भेज दिया हैबुधवार को पुलिस अधीक्षक प्रफुल्ल ठाकुर ने कंट्रोल रूम में बताया कि सिटी कोतवाली पुलिस को मुखबिर से सूचना मिली कि सरायपाली से एक कार में अवैध गांजा का परिवहन कर ले जाया जा रहा है। उक्त सूचना पर थाना कोतवाली की टीम थाना प्रभारी सिटी कोतवाली शेर सिंह बन्दें के नेतृत्व में नाकेबंदी कर वाहनों की चेकिंग की जा रही थी। तभी कार क्रमांक CG07 AM 9299 सरायपाली नेशनल हाईवे आते हुई दिखाई दी। इसे नाकेबंदी करने वाले पुलिस टीम द्वारा रोकवाया गया है। वाहन में एक व्यक्ति सवार था, नाम पता पूछने पर उसने अपना नाम पुकेश्वर देवांगन उम्र 32 वर्ष निवासी आरंग बताया। उक्त वाहन की जब तलाशी ली गई तो डिक्की में 18 पैकेट टेप से सील बंद 18 पैकेटों में 17 किलो 500 ग्राम गांजा जब्त किया गया।आरोपी पर धारा 20बी एनडीपीएस एक्ट के तहत् कार्यवाही की गई।वहीं दूसरे मामले थाना प्रभारी सिंघोडा चन्द्रकान्त साहू के द्वारा गनियारीपाली में नाकेबंदी कर वाहनों की चेकिंग में वाहन क्रमांक MP30 GB 0342 आती हुई दिखाई दी। इसे रोककर वाहन में बैठे व्यक्तियों से पूछताछ की। उन्होंने अपना नाम राजेन्द्र कुमार शर्मा उम्र 40 वर्ष निवासी जिला गंजाम ओडिसा, विकास मीणा उम्र 24 वर्ष निवासी जिला शाजापुर,प्रमोद शर्मा उम्र 42 वर्ष जिला उज्जैन बताया। पुलिस ने वाहन से 7 बोरियों में भरे लगभग 2 क्विंटल 10 किग्रा अवैध गांजा को जब्त कर उपरोक्त व्यक्तियों के खिलाफ धारा 20 बी एनडीपीएस एक्ट के तहत्  कार्रवाई  कर जेल भेजा।

 

21-06-2020
Video: ट्रैक्टर ट्राली के चैंबर से 9 लाख 50 हजार का गांजा बरामद, दो आरोपी गिरफ्तार

महासमुन्द। कृषि कार्य के लिए पहुंचे पहुंचे राजस्थान के दो व्यक्तियों से बागबाहरा पुलिस ने 10 लाख रुपए का गांजा बरामद कर आरोपियों के खिलाफ एनडीपीएस की धारा के तहत कार्रवाई कर दोनों को जेल भेज दिया है। रविवार को स्थानीय कंट्रोल रूम में पुलिस अधीक्षक प्रफुल्ल ठाकुर ने प्रेस को जानकारी देते हुए बताया कि कल दो लोग एक राजस्थान की एक ट्रैक्टर के साथ उड़ीसा क्षेत्र से आ रहे थे। इसे बागबाहरा पुलिस ने राजस्थान का ट्रैक्टर देखकर पूछताछ की तो उन्होंने पुलिस से कहा कि वह राजस्थान से यहां कृषि कार्य करने आये है। लेकिन उनके ट्रे्क्टर में किसी भी प्रकार का कृषि यंत्र नहीं मिली तो बागबाहरा पुलिस को उन पर संदेह हुआ और पुलिस ने उनके ट्रैक्टर की तलाशी लेनी शुरू की। पुलिस ने देखा की उनके ट्रैक्टर ट्राली के नीचे वेल्डींग करा कर कुछ ट्राली में छेड़छाड़ की है। पुलिस ने ट्राली के नीचे बने चैम्बर में हाथ डाला तो पुलिस को कुछ पैकेट होने का अंदेशा हुआ। बागबाहरा थाना प्रभारी ने ट्राली को पुलिस के सिपाहियों से उठाने के लिए कहा। थाना प्रभारी के आदेश पर सिपाहियों ने ट्राली को ऊपर उठाया तो पाया कि ट्राली के नीचे एक चेम्बर बना है,जिसमें प्लास्टिक के पैकेटों में कुछ है। पुलिस ने प्लास्टिक के पैकेट खोले तो उसमें गांजा भरा मिला। बागबाहरा पुलिस ने तत्काल वाहन में सवार दोनों राजस्थान निवासियों को अपने कब्जे में लेकर प्लास्टिक की सारी थैलियों की जांच की तो सभी में गांजा भरा पाया गया। पुलिस ने ट्रैक्टर ट्राली से 36 पैकेट गांजा बरामद किया,जिसका वजन 190 किलो ग्राम गांजा निकला है, जिसका मूल्य 9 लाख 50 हजार रुपए बताया जा रहा है। गिरफ्तार आरोपियों ने अपना नाम उदाराम गुर्जर पिता भेरूराम उम्र 31 वर्ष ग्राम घोलासरी तहसील थाना दातारामगढ़ जिला सीकर राजस्थान व दूसरे ने प्रकाश चौधरी पिता गिरधारी उम्र 25 वर्ष ग्राम बनगढ़ तहसील थाना नाबा जिला नागौर राजस्थान बताया है। पुलिस दोनों आरोपियों के बारे में राजस्थान पुलिस से सम्पर्क कर उनकी जानकारी लेने की बात कही है। बहरहाल बागबाहरा पुलिस ने दोनों के खिलाफ 20बी एनडीपीएस एक्ट के तहत कर्रावाई करते हुए जेल भेज दिया है। 

 

10-06-2020
Video: कार की गुप्त डिक्की में मिले भारी मात्रा नोट, पुलिस ने दो लोगों को किया गिरफ्तार, मामला आईटी को सौंपा

महासमुन्द। जिले के सिंघोडा थाना पुलिस ने बुधवार को एक करोड़ 12 लाख 99 हजार 200 रुपए कार की गुप्त बनी डिक्की से बरामद किया है। इसमें दो ओडिसा निवासी प्रतीक छापड़िया पिता गोविंद प्रसाद छापड़िया 30 साल, सुरेंद्र सोना पिता दवारुं सोना 28 साल को गिरफ्तार कर धारा 102 के तहत कारवाई कर एसआईटी को मामला सौंप दिया है।महासमुन्द पुलिस अधीक्षक प्रफुल्ल ठाकुर ने बताया कि 8 और 9 जून की दरम्यानी रात साढ़े 12 बजे के करीब रेहटी खोल रोड में चेकिंग के दौरान वाहन क्रमांक ओआर 17 के 5052 में  सवार दो व्यक्ति बरगढ़ ओडिसा की ओर से आ रही थी,जिसे सिंघाड़ा पुलिस ने वाहन में गांजा होने की शंका में उक्त वाहन को रुकवा कर वाहन के पीछे डिक्की में चेक किया। पुलिस को डिक्की के अंदर एक गुप्त डिक्की नजर आई,जिसे पुलिस ने खोला तब पुलिस को यह जानकारी मिली के वाहन में बेनामी करोड़ों रुपए अवैध रूप से ओडिसा से रायपुर परिवहन किया जा रहा था।

पुलिस ने उक्त रकम बरामद कर जब उसकी गिनती की तो एक करोड़, 12 लाख 99, 200 निकला। इसमें 500, 200 और 2000 के नोट मिले। गिरफ्तार आरोपियों ने पुलिस को यह जानकारी दी है की ओडिसा से रायपुर किसी व्यापारी को देने जा रहे थे, वाहन में सवार दोनों व्यक्तियों को रकम किसे देना है इसकी जानकारी नहीं थी। बहरहाल महासमुन्द पुलिस ने धारा 102 के तहत कार्रवाई मामला आईटी रायपुर को सौंप दिया है।

 

27-05-2020
कछुवा चाल के चलते पिछले एक साल से शिक्षक भर्ती ठप्प, बेरोजगारों में रोष, विधायक से की शिकायत

महासमुन्द। शिक्षक भर्ती 2019 की प्रक्रिया पिछले एक साल से रूकी है। साल भर बीतने के बाद भी कछुवा चाल कि वजह से प्रक्रिया पूरी नहीं हो सकी है। इससे चयनित युवा, बेरोजगार अभ्यर्थियों में शासन के प्रति रोष देखा जा रहा हैं। आला अधिकारियों के ध्यान में लाने के बाद भी आगे की प्रक्रिया नहीं हो रही है। इससे परेशान अभ्यर्थियों ने बुधवार को विधायक निवास पहुंचकर विधायक विनोद चंद्राकर को अपनी व्यथा सुनाई। इस पर विधायक चंद्राकर ने इस मामले को लेकर शासन का ध्यानाकर्षित कराने का आश्वासन दिया है।मुलाकात के दौरान देवेंद्र साहू, बुधराम सोनवानी व भोजराज नंद ने विधायक चंद्राकर को बताया कि नियमित शिक्षक भर्ती 2019 का विज्ञापन विगत वर्ष 9 मार्च 2019 को जारी किया गया था। इसके अंतर्गत व्याख्याता, शिक्षक, सहायक शिक्षक, व्यायाम शिक्षक व सहायक शिक्षक प्रयोगशाला के लिए कुल 14580 पदों पर भर्ती होनी है।

इधर एक साल बीतने के बाद अब तक सिर्फ परीक्षा आयोजित कर परिणाम ही जारी किए गए हैं। चार-छह माह पूर्व सत्यापन कार्य की प्रक्रिया कछुआ चाल से शुरू हुई। आज तक न तो व्याख्याता पदों की अंतिम निराकरण सूची जारी की गई और न ही किसी भी शिक्षक संवर्ग की प्रथम पात्र-अपात्र सूची जारी हुई है। इससे शिक्षक भर्ती के समस्त चयनित युवा बेरोजगार अभ्यर्थी मानसिक रूप से परेशान हो रहे हैं। इस पर विधायक चंद्राकर ने इस मामले को लेकर शासन का ध्यानाकर्षित कराने का आश्वासन दिया है।

18-05-2020
एक दिन में पकड़ाई 75 लीटर महुआ शराब, महिला सहित एक आरोपी गिरफ्तार

महासमुन्द। भीमखोज खल्लारी थाना के नव पदस्थ थाना प्रभारी दीपा केवट ने ताबड़तोड़ कार्रवाई करते हुए एक ही दिन में 75 लीटर महुआ शराब सहित एक महिला और एक पुरूष को गिरफ्तार कर 34 (2) आबकारी एक्ट की कार्रवाई कर जेल भेज दिया है।खल्लारी पुलिस से मिली जानकारी अनुसार भीमखोज के संतोषी नगर में कुछ घरों में हाथ से उतार कर महुआ शराब बनाने की सूचना पुलिस को मिल रही थी। सोमवार को थाना प्रभारी दीपा केवंट को मुखबीर से जानकारी मिली कि संतोषी नगर निवासी देवलाल ध्रुव 25 साल और कोशी बाई पति दुलाल सिंग के घर बडी मात्रा में शराब रखी है। थाना प्रभारी खल्लारी और प्रशिक्षु डीएसपी ने दो टीम बनाकर उक्त आरोपियों के घर दबिश दी। आरोपी देवलाल ध्रुव के बाड़ी में बड़ी-बड़ी 3 प्लास्टिक के 20-20 लीटर वाले डिब्बे में 50 लीटर महुआ शराब व शराब बनाने में उपयोग किये जाने बर्तन बरामद कर आरोपी को गिरफ्तार किया गया। वहीं एक दूसरे मामले में संतोषी नगर भीमखोज निवासी कोशी बाई 45 साल के पास से प्लास्टिक के डब्बे में 25 लीटर महुआ शराब जब्त कर आरोपी महिला को गिरफ्तार किया है। दोनों आरोपियों को आबकारी एक्ट की धारा 34(2) के तहत कार्रवाई कर जेल भेजा गया है।

12-05-2020
बैंक प्रबंधन की गलती से जनधन का खाता बदल गया रोजगार गारंटी खाता में, जनधन योजना की राशि लेने भटक रहे हैं हितग्राही

महासमुन्द। भारत सरकार की जनधन योजना में अभी भी जिले के हजारों हितग्राही लाभ से वंचित है और अपने खाते में 5 सौ रुपए की राशि की जानकारी लेने के लिए बैंकों के चक्कर काट रहे है। सरकार की इस योजना में कुछ हितग्राहियों को दो-दो बार लाभ मिल चुका है वहीं कुछ हितग्राहियों के खाते में अब तक राशि नहीं पहुंची है। बैंक प्रबंधन भी यह जनकारी देने में अपने आप को अक्षम बता रहा है कि उनके खाते में राशि कब तक पहुंचेगी। गौरतलब है कि पंजाबी पारा वार्ड नम्बर 13 की रुबीना खान पति सिकन्दर खान ने महासमुन्द के पंजाब नेशनल बैंक में 9 बैलेंस पर दिसम्बर 14 में अपना खाता खुलवाया था। उन्होंने खाते खुलवाया तब उन्हें यह जानकारी मिली थी कि वह जो खाता खुलवाया है वह भारत सरकार की योजना जनधन के तहत खोला गया है। सारे दस्तावेज सहित उनका खाता खोल दिया गया। लॉक डाउन के बाद हितग्राही को यह जानकारी मिली की उनके जनधन खाते में शासन ने 5 सौ रुपए डाल दिए है। राशि की जानकारी समाचार पत्रों और सोशल मीडीया के माध्यम से उन्हें हुआ और वह अपनी 5 सौ रुपए की राशि निकालने पंजाब नेशनल बैंक पहुंचे तो उन्हें बैंक से जानकारी मिली की उनका खाता जनधन योजना में नहीं खोला गया है।

उनका खाता जनधन योजना के अलावा खुलने वाला खाता रोजगार गारंटी योजना में खाता खोल दिया गया है। रूबीना खान ने बैंक कर्मचारियों से पूछा की उनका खाता तो जनधन योजना के तहत खोला गया था अब वह रोजगार गारंटी योजना में कैसे चला गया। रूबीना शहरी क्षेत्र में निवास करती है और रोजगार गारंटी योजना में शहरी क्षेत्र के लोगों का खाता नहीं खोला जाता है चुंकि शहरी क्षेत्र में रोजगार गांरटी कोई काम नहीं चलता है। वहीं रोजगार गारंटी में खाता खुलवाने वालों के पास रोजगार गारंटी जाब कार्ड होता है, लेकिन बैंक ने बिना किसी प्रकार की खाताधारक के जानकारी के रोजगार गारंटी में खाता खोल दिया गया है। पंजाब नेशनल बैंक के कर्मचारी ने रूबीना खान से कहा कि आप आवेदन कर दीजिए आपका खाता जनधन योजना में परिवर्तित कर दिया जाएगा, लेकिन खाते में शासन द्वारा दी जानी वाली राशि आएगी यह वह नहीं बता सकते हैं।    रूबीना खान का कहना है कि बैंक की लापरवाही की वजह से वह शासन द्वारा दी जा रही राहत राशि से वंचित हो रही है। जब मैंने रोजगार गारंटी योजना में खाता खोला ही नहीं था तो बैंक ने बिना मेरी जानकारी के इस तरह की लापरवाही कैसे कर दी है।

रूबीना का कहना है कि मुझे मिलने वाली राहत राशि नहीं मिलने के लिए आखिर कौन जिम्मेदार है। हमारे जैसे गरीबों की अब कौन सुनेगा। सुत्रों से जानकारी अनुसार शहर के भीतर ऐसे हजारों की तादात में हितग्राही है जिन्हें जनधन योजना के तहत 5 सौ रुपए प्रतिमाह लॉक डाउन में मिलना है लेकिन बैंक प्रबंधन की लापरवाही से अभी तक हितग्राहियों के खाते में रकम नहीं आई है। पंजाब नेशनल बैंक के प्रबंधक विनय कुमार ने जानकारी देते हुए बताया है कि जनधन खाता 2014 में शुरू हुआ था उस वक्त सभी से नियमत: बैंकों ने खाता खुलवाया था और सारी जानकारी हेडआफिस को दे दिया गया था। अब किस खाते में राशि आएगी किस खाते में नहीं आएगी यह कुछ कहा नहीं जा सकता है। पंजाब नेशनल बैंक के जिले के सभी ब्रांचों में अभी तक 31043 हितग्राहियों को राशि आ चुकी है, जिसमें किसी किसी हितग्राही को दो बार राशि आ चुकी है। रूबीना खान का खाता भी जनधन योजना में भेजा जा रहा है।

 

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804