GLIBS
03-08-2020
एनएसयूआई की छात्राओं ने पुलिसकर्मियों को बांधी राखी

भिलाई। रक्षाबंधन पर जिला एनएसयूआई के अध्यक्ष आदित्य सिंह के निर्देश पर तथा जिला महासचिव संदीप साव के नेतृत्व में एनएसयूआई की छात्रा विंग ने भिलाई के छावनी थाना एवं वैशाली नगर थाना में कोरोना काल में लोगों की सुरक्षा में लगे पुलिस के जवानों को राखी बांधी। एनएसयूआई की बहनें ने पुलिस कर्मचारियों को राखी बांधकर मिठाई खिलाकर मुंह मीठा किया। कार्यक्रम में कामना सिन्हा, पुष्पा पटेल, लीली मांझी,रश्मी सिन्हा के साथ पलाश लीमेश,नवदीप सिंह,कृतेश साहू,समीर निम्बालकर,राहुल देशमुख,मेघराज खन्ना,यश सिंह आदि उपस्थित थे।

 

03-08-2020
समस्त की कुशलता के लिए रक्षा बंधन

रायपुर। प्राचीन भारतीय समाज व्यवस्था में ऋषि मुनियों के द्वारा अलग अलग तरीके, ऐसी ऐसी जीवन से संबंधित व्यवस्थाएं दी गई,जिनके कारण एक व्यक्ति दूसरे व्यक्ति से जुड़ा रह सके। कुल वंश के लोग चाहे कोई कहीं भी कितनी ही दूर रहे आपसी बंधन बना रहे और इन संबंधों को किसी न किसी तरह मिठास का घोल मिलता रहे। इससे कुटुम्ब संबंधियों के बीच संबंधों में मधुरता बनी रहे। इस कारण मनीषीजनों ने रक्षाबंधन नामक त्यौहार की व्यवस्था की। उक्त बात रायपुर स्थित श्रीधाम सुमेरू मठ, औघड़नाथ दरबार के पीठाधीश प्रचंडवेग नाथजी ने कही। उन्होंने कहा कि श्रीधाम से सनातन संस्कृति के गूढ़ रहस्यों के उद्घाटन एवं उन्हें सरल रूप में जन सामान्य को प्रेषित करने का कार्य किया जा रहा है।
रक्षाबंधन के संबंध में उन्होंने बताया कि प्रत्येक व्यक्ति समय के अनुसार जीवन चक्र में फंसता चला जाता है और धीरे धीरे अपने कार्य, व्यापार, पत्नी बच्चे, परिवार में सिमटता चला जाता है। मात्र भारतीय समाज ही नहीं अपितु विश्व के लगभग ज्यादातर समाज व्यवस्थाओं में लड़कियां शादी के बाद अपने माता-पिता के घर से विदा होकर अपने ससुराल चली जाती हैं। और कहीं कहीं सुसराल उनका कोसों और मीलों दूर भी हो सकता है। और उस लड़की के भाई भी अपने अपने कार्यों और परिवार की जिम्मेदारियों में व्यस्त हो जाते हैं। ऐसी स्थिति में माता पिता के देहावसान के पश्चात भी भाई और बहन के बीच का रिश्ता सतत् बना रहे व इन रिश्तों में सदैव मिठास व व्यवहार बना रहे तथा लड़की और उसका परिवार कभी भी किसी परेशानी में हो तो उसके भाई अपने माता पिता के कर्तव्यों का निर्वहन करते हुए उसका साथ दे सकें। ताकि वह लड़की कभी भी अपने जन्म घर से स्वयं को पृथक न समझ सके। इसी कारण सनातन संस्कृति के चिंतक मनीषीजन रक्षाबंधन नामक त्यौहार की व्यवस्था किए और इस त्यौहार को रक्षाबंधन नाम प्रदान किया ताकि प्रत्येक भाई को अपनी बहनों के प्रति अपने कर्तव्यों का बोध रहे।


उन्होंने कहा कि रक्षाबंधन के नाम से ही प्रतीत होता है कि यह त्यौहार रक्षा से संबंधित त्यौहार है। और दुनिया में सदैव के लिए,जो आत्मिक बंधन है वह है प्रेम का अपनत्व का बंधन और दुनिया में रक्षा पाने का सुरक्षित रहने का अधिकार समस्त को है। समस्त को सबसे बड़ी सुरक्षा, जिससे चाहिए वो है कालचक्र जिसे समयचक्र भी कहा जा सकता है। ऐसा नहीं है कि यह त्यौहार मात्र भाई और बहन का ही त्यौहार है, अगर ऐसा होता तो विप्रजन शासकों, क्षत्रियों और वैश्य को क्यों रक्षा सूत्र बांधते? और सामान्य जन क्यों अपने आराध्य को रक्षा सूत्र बांधते क्या वे अपने आराध्य की बहने हैं और क्या विप्रजन शासकों, क्षत्रियों और वैश्य की बहने हैं नहीं, जो भी किसी को रक्षा सूत्र बांधे उनका कर्तव्य है कि पहले उन परमसत्य नाथजी जो समस्त जगत को संरक्षण प्रदान करते हैं, जिस कारण उन्हें जगतपति भी कहा जाता है, को ध्यान कर व उनसे निवेदन प्रार्थना करे कि, हे नाथ जी मैं इन्हें आपके नाम से रक्षा सूत्र बांध रहा/रही हूं कृपा करके मेरी प्रार्थना की लाज रखें व इन्हें हर तरह  के संकट से संरक्षित करें, इनके जीवन को समृद्धि प्रदान कर मंगलमय बनाएं, व इनके समस्त कर्म बंधनों को समाप्त कर भव सागर से इन्हें पार कर मोक्ष को प्रदान करें व जिन्हें रक्षा सूत्र बांधा जाए उनका भी दायित्व है कि वे जिनसे रक्षा सूत्र बंधना रहे हैं उनके प्रति भी नाथ जी से ऐसी ही भावना से प्रार्थना करें, ताकि इस त्यौहार के माध्यम से समस्त का कल्याण हो सके व सभी का उद्धार हो सके तभी इस रक्षा बंधन त्यौहार की सार्थकता होगी।


उन्होंने कहा कि इस तरह यदि समस्त के कल्याण की भावना से यदि हम रक्षाबंधन के त्यौहार को स्वीकार करते हैं तो कोई जरूरी नहीं कि मात्र बहनें ही भाईयों को रक्षा सूत्र बांधेगी, अपितु एक भाई दूसरे भाई को, पिता पुत्र को, पुत्र पिता को, पति पत्नी को पत्नी पति को और कोई भी किसी को भी यहां तक कि किसी जड़ चेतन व अन्य जीव जन्तु तथा पशु पक्षीयों को भी इस कल्याण की भावना से रक्षा सूत्र बांधकर एक बहुत बड़ी आनुष्ठानिक आराधना सरलतापूर्वक खुशी मनाते हुए पूर्ण की जा सकती है और स्वयं के कल्याण व उद्धार का मार्ग प्रशस्त किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि अघोर पंथ के परम गुरु महाऔघड़ेश्वर बाबा श्री औघड़ नाथजी कर भी यही उपदेश है कि तुम किसी के लिए दुआ प्रार्थना करते को, तो यह जरूरी नहीं कि तुम्हारी प्रार्थना स्वीकार हो और किसी का भला हो। किन्तु इससे तुम्हारा भला होना सुनिश्चित है। इसलिए सदैव समस्त के लिए सतत् प्रार्थनाशील होना ही चाहिए।

 

03-08-2020
पालिका अध्यक्ष ने रक्षाबंधन पर महिला पुलिसकर्मियों व आमजनों को किया मास्क वितरण

गरियाबंद। गरियाबंद नगर पालिका अध्यक्ष  गफ्फू मेमन ने अपने साथियों के साथ रक्षाबंधन के पर जिले की महिला पुलिसकर्मियों को रक्षासूत्र के तौर पर मास्क वितरण किया। गफ्फू मेमन ने वायरस का प्रकोप गरियाबंद क्षेत्र में किसी भी स्थिति में ना फैले इसको लेकर एक रक्षासूत्र मास्क की मुहिम शुरू की गई है। इसके तहत पालिका ने सभी बहनों से अपील की गई है कि वे अपने भाइयों की कलाई पर रक्षासूत्र बांधते वक्त मास्क रूपी रक्षासूत्र भी भेंट करें। पुलिसकर्मी बहनें भी अपने भाइयों को रक्षासूत्र बांधते वक्त मास्क रूपी रक्षासूत्र भेंट कर सके। पालिकाध्यक्ष ने बताया कि इसके अलावा उनके द्वारा तिरंगा चौक और बाजार चौक पहुंचकर भी माताओं बहनों को मास्क वितरण किया गया। उन्होंने सभी माताओं बहनों से अपील करते हुए रक्षासूत्र के तौर पर राखी के साथ एक मास्क अनिवार्य रूप से देने की अपील की। उन्होंने एक बुजुर्ग महिला को अपने हाथों से मास्क पहनाया और बुजुर्ग महिला को घर से बाहर निकलने पर हमेशा मास्क लगाने का आग्रह किया। इस दौरान उपाध्यक्ष सुरेंद्र सोनटेके, सभापति आसिफ मेमन, वंशगोपाल सिन्हा, नीतू देवदास, रितिक सिन्हा, विमला साहू और छगन यादव के साथ ही अनेक जागरूक जन एवं महिला पुलिसकर्मी काफी संख्या में उपस्थित थीं।

03-08-2020
रायपुर कलेक्टर, एसएसपी, सीईओ ने बालिका गृह और नारी निकेतन में मनाया रक्षाबंधन,उपहार में दिए स्मार्ट फोन

रायपुर। कलेक्टर डॉ.एस.भारतीदासन,वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अजय कुमार यादव और जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी डॉ.गौरव कुमार सिंह ने खम्हारडीह स्थित शासकीय बालिका गृह की अनाथ बच्चियों और नारी निकेतन की महिलाओं से राखी बंधवाकर रक्षाबंधन मनाया। इस  दौरान कनफेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स की ओर से प्राप्त 40 स्मार्ट फोन बालिका गृह की सभी बालिकाओं को उपहार में दिया। कोरोना संक्रमण के इस दौर में ऑनलाइन पढ़ाई के लिए स्मार्ट फोन प्रदान किए गए हैं। इसके अतिरिक्त जिला प्रशासन की ओर से सभी बच्चियों को एक थ्री-लेयर मास्क,फेस शील्ड, सैनिटाइजर और बिहान समूह सेरीखेड़ी की महिलाओं की ओर से साबुन उपहार स्वरूप प्रदान किया गया। बता दें कि बालिका गृह की बालिकाओं की ओर से निर्मित राखी का विक्रय स्टाल लगाकर किया गया था। इससे बालिकाओं को लगभग 50 हजार रुपए की आय हुई है।

इसी तरह नारी निकेतन की 32 बेसहारा महिलाओं की ओर से भी राखी बांधी गई। जिला प्रशासन की ओर से  उपहार में सभी महिलाओं को एक साड़ी,सैनिटाइजर,फेस शील्ड और मास्क प्रदान किया गया। जिला प्रशासन की पहल पर सभी थानों को भी राखियां भेजी गई। नगर निगम रायपुर के सहायक आयुक्त पुलक भट्टाचार्य की ओर से नगर निगम के सभी 10 जोन के कर्मचारियों के लिए राखियां प्राप्त की गई। जिला प्रशासन की इस अनोखी पहल की सभी ने प्रशंसा की। बालिकाओं ने स्मार्टफोन के लिए कलेक्टर,वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक और जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी को धन्यवाद दिया। इस दौरान महिला एवं बाल विकास विभाग की ओर से  संचालित उक्त दोनों संस्थाओं के अधिकारी और कर्मचारी उपस्थित थे।

 

03-08-2020
अंतिम सोमवार को शिवालयों में रहा सन्नाटा, सादगी पूर्ण तरीके से मनाया गया रक्षाबंधन

अंबिकापुर। सावन के पावन महीने के अंतिम सोमवार को शिव मंदिरों के पट बंद होने कारण शिव भक्तों को अफसोस के साथ मंदिर परिसर के बाहरी मुख्य द्वार पर ही भगवान शंकर का मनन ध्यान करते हुए पूजा अनुष्ठान करना पड़ा। लखनपुर में प्राचीन स्वयंभू शिव मंदिर में सुबह जिन भक्तों ने प्रवेश पाया,उन्होंने जलाभिषेक,दुग्ध अभिषेक के साथ भगवान शंकर के पूजा अनुष्ठान करने का अवसर प्राप्त किया। शेष निर्धारित समय उपरांत मंदिर पट बंद कर दिए  जाने कारण शिवभक्तों ने मंदिर परिसर के बाहर मुख्य द्वार पर ही पूजा आराधना की। महेशपुर देवगढ़ धाम में भी लॉकडाउन का असर देखा गया। भाई-बहन के अटूट रिश्ते का पावन पर्व रक्षाबंधन घरों में ही सादगी पूर्ण तरीके से मनाया गया। बहनों ने भाइयों की कलाई पर रक्षा सूत्र बांधकर उनकी सलामती के लिए ईश्वर से प्रार्थना की। दूर प्रदेश ससुराल में रहने वाली बहनों ने अपने भाइयों के लिए डाक द्वारा राखी भेज कर राखी बांधने की रस्म को अदा की। कोरोना संक्रमण खौफ के कारण जहां मंदिर के दरवाजे बंद रहे वहीं सादगी ढंग से रक्षाबंधन का पर्व लोगों ने मनाया।

 

03-08-2020
लता मंगेशकर ने प्रधानमंत्री को भेजी राखी,मोदी ने कहा-आपका संदेश प्रेरणा और ऊर्जा देने वाला

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने भाई-बहन के पावन रिश्ते के प्रतीक रक्षाबंधन पर स्वरकोकिला लता मंगेशकर के भावपूर्ण संदेश को असीम प्रेरणा और ऊर्जा देने वाला बताते हुए ईश्वर से उनके स्वस्थ और दीर्घायु होने की कामना की है। स्वरकोकिला ने रक्षाबंधन के मौके पर सोमवार को मोदी को भेजे संदेश में कहा, “ नमस्कार आदरणीय प्रधानमंत्री नरेंद्र भाई. आपके लिए मेरी ये राखी।”नरेंद्र मोदी ने इसके प्रत्युत्तर में ट्वीट कर लिखा,“लता दीदी, रक्षा बंधन के इस शुभ अवसर पर आपका यह भावपूर्ण संदेश असीम प्रेरणा और ऊर्जा देने वाला है। करोड़ों माताओं-बहनों के आशीर्वाद से हमारा देश नित नई ऊंचाइयों को छुएगा, नई-नई सफलताएं प्राप्त करेगा। आप स्वस्थ रहें और दीर्घायु हों, ईश्वर से मेरी यही प्रार्थना है।”

03-08-2020
पार्षद ने सफाई कर्मियों के साथ मनाया रक्षाबंधन

दुर्ग। दुर्ग नगर निगम के पार्षद मदन जैन ने रक्षाबंधन पर निगम के सफाई कर्मियों को फल और मिठाई वितरण किया। इस दौरान सफाईकर्मीयों को उनके कार्यों के लिए सम्मानित किया गया। मदन जैन ने कहा कि इनके कार्यों से ही हम साफ सुथरे वातावरण में रह पाते हैं और ऐसे लोगों का सम्मान करना अच्छी बात है। इस अवसर पर वार्ड के अन्य नागरिक भी उपस्थित थे।

02-08-2020
कोरोना वॉरियर्स और मरीजों तक पहुंचेगा रक्षासूत्र, कुकीज और संदेश भी होंगे साथ

रायपुर। रक्षाबंधन के इस पावन पर्व पर परोपकार फाउंडेशन सभी कोरोना वॉरियर्स के लिए रक्षासूत्र और कुकीज शहरवासियों की तरफ भेंटकर सम्मानित करेगा। इसी तरह कैट की ओर से इलाज के लिए अस्पतालों में भर्ती मरीजों तक रक्षासूत्र और कुकीज भेजकर शीघ्र स्वास्थ्य लाभ का संदेश भेजा जा रहा है। कलेक्टर डॉ.एस भारतीदासन, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अजय यादव और नगर निगम कमिश्नर सौरभ कुमार के मार्गदर्शन में जिला प्रशासन की ओर से इसके लिए  व्यवस्था की जा रही है। जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी डॉ.गौरव कुमार सिंह ने कहा कि रक्षाबंधन के पावन पर्व पर जिला प्रशासन के मार्गदर्शन में कैट और परोपकार फाउंडेशन सभी कोरोना वारियर्स,पुलिस, स्वास्थ्य की टीम और नगर निगम अमले और मरीजों को राखी भेजकर शुभकामना संदेश देगा। मरीजों को शीघ्र स्वास्थ्य लाभ की शुभकामनाएं कंफेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स प्रेषित कर रहा है। परोपकार फाउंडेशन कोरोना वॉरियर्स को राखी के साथ मंगलकामनाएं भेजकर उनके योगदान की सराहना करेगा। मरीजों को राखी भेजने में  स्वास्थ्य सुरक्षा के सभी तय मापदंडों का भी पूर्ण पालन किया जा रहा है।

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804