GLIBS
26-05-2020
दिनभर की बढ़त के बाद लाल निशान पर बंद हुए सेंसेक्‍स और निफ्टी

मुंबई। शेयर बाजार दिनभर की बढ़त गवांकर गिरावट के साथ लाल निशान में बंद हुआ। सोमवार को छुट्टी के बाद पहले कारोबारी दिन मंगलवार को शेयर बाजार मजबूत वैश्विक संकेतों के बीच हरे निशान में खुला था। लेकिन बाजार बंद होने तक यह तेजी बरकरार नहीं रह पाई और दोनों ही प्रमुख इंडेक्स, सेंसेक्स और निफ्टी लाल निशान में बंद हुए।कारोबार के अंत में बॉम्‍बे स्‍टॉक एक्‍सचेंज (बीएसई) का सेंसेक्‍स 63.29 अंक और 0.21 फीसदी की गिरावट के साथ 30,609.30 के स्‍तर पर तथा नेशनल स्‍टॉक एक्सचेंज (एनएसई) का निफ्टी 10.20 अंक और 0.11 फीसदी की गिरावट के साथ 9,029.05 के स्‍तर पर बंद हुआ।बाजार में आज के कारोबार में बैंक, ऑटो और एफएमसीजी शेयरों में सबसे ज्यादा तेजी रही। निफ्टी बैंक इंडेक्स करीब एक फीसदी मजबूत होकर बंद हुआ।उल्‍लेखनीय है कि एक दिन पहले सोमवार को शेयर बाजार ईद के अवसर पर बंद था। कोरोना वायरस की वैक्सीन जल्द मार्केट में आने की खबरों के बीच वैश्विक बाजारों के मूड में सुधार देखा गया।

 

20-05-2020
 नगर पालिका अध्यक्ष के बंद कराने के बाद फिर खुली शराब दुकान

कोरबा। नगर पालिका दीपका अध्यक्ष संतोषी दीवान अपने पक्ष और विपक्षी पार्षदों के साथ देशी विदेशी शराब दुकान को बंद कराने भट्टी पहुँची,जो लगभग 3 घंटे दुकान बंद रही।ठेका के सुपरवाइजर ने बताया कि उन्हें दीपका वृत प्रभारी आबकारी विभाग के द्वारा शराब दुकान खोलने का आदेश हुआ था इसलिए आज वह शराब दुकान को खोले हैं। 3 घंटे दुकाने बंद रहने से मदिरा प्रेमियों में आक्रोश देखा गया। दीपका थाना प्रभारी अविनाश सिंह भी मौके पर पहुंचे। उन्होंने प्रशासनिक आदेश के तहत दुकान खोले जाने हवाला दिया और उन्होंने कहा कि आप फिजिकल विरोध नहीं कर सकते आप कागजी कार्रवाई करें। दुकानों को अगर आपको दूसरी जगह शिफ्ट करना है तो आप पत्र लिखकर कलेक्टर को अवगत कराये। उसके बाद नपा अध्यक्ष संतोषी दीवान ने कहा कि ठीक है हम लोग एक बार फिर स्थान परिवर्तन के लिए पत्र देते हैं।और फिर वहा से सभी जनप्रतिनिधि नगरपालिका ऑफिस आ गए। नपा अध्यक्ष संतोषी दीवान पत्रकारों से चर्चा करते हुए बताया कि सामान्य सभा की बैठक में भी शराब दुकान पाली रोड से हटाकर अन्य दूसरे स्थान भेजने का प्रस्ताव पारित हो चुका है। आज फिर इसकी जगह बदलने के लिए प्रशासन को पत्र लिखकर शराब दुकान यहाँ से हटाए जाने का विरोध किया जाएगा। नगर पालिका अध्यक्ष और पार्षदों के विरोध के कारण लगभग 3 घंटे ठेका दुकानें बंद रही। इसका राजस्व पर प्रभाव पड़ा।

 

19-05-2020
अमेरिका और डब्ल्यूएचओ में तकरार तेज, ट्रंप ने हमेशा के लिए फंडिंग बंद करने की चेतावनी दी

नई दिल्ली। कोरोना वायरस महामारी को लेकर अमेरिका और विश्व स्वास्थ्य संगठन में तकरार तेज होती जा रही है। अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप डब्ल्यूएचओ की क्षमता और विश्वसनीयता पर लगातार सवाल खड़ा कर रहे हैं। दरअसल चीन से दुनिया भर में फैले कोरोना को लेकर विश्व स्वास्थ्य संगठन से पिछले कई दिनों से नाराज चल रहे अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने डब्ल्यूएचओ के डायरेक्टर डॉ. टेड्रोस अदनोम गेब्रेयसस को लेटर लिखकर अगले 30 दिनों में ठोस कदम उठाने को कहा है।

कोरोना वायरस संकट के दौर में अमेरिका लगातार विश्व स्वास्थ्य संगठन पर निशाना साध रहा है। कुछ दिनों पहले उन्होंने दी जाने वाली फंडिंग को रोकने की बात कही थी। लेकिन अब उन्होंने डब्ल्यूएचओ के डायरेक्टर जनरल डॉ. टेड्रोस अदनोम गेब्रेयसस को एक पत्र लिखकर साफ तौर पर चेतावनी दी है कि अगर 30 दिन के भीतर डब्ल्यूएचओ अहम ठोस सुधार नहीं करता है तो वह अमेरिका द्वारा डब्ल्यूएचओ को दी जाने वाली फंडिंग को हमेशा के लिए रोक देंगे। फिलहाल अमेरिका ने फंडिंग को अस्थायी रूप से फ्रीज कर रखा है। ट्रंप ने कहा कि वह डब्ल्यूएचओ  में अमेरिका की सदस्यता पर भी पुनर्विचार करेंगे।

ट्विटर पर शेयर किया लेटर :

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने इस खत में लिखा है कि अगर अगले तीस दिनों में विश्व स्वास्थ्य संगठन, अपनी नीति और संगठन में बड़ा बदलाव नहीं करता है तो अमेरिका अपनी फंडिंग को हमेशा के लिए बंद कर देगा। बता दें कि अभी अमेरिका की ओर से फंडिंग को सिर्फ कुछ समय के लिए बंद किया गया है। मालूम हो कि ट्रंप ने वैश्विक महामारी कोरोना वायरस से निपटने में डब्ल्यूएचओ की भूमिका की समीक्षा होने तक अमेरिका की ओर से किए जाने वाले भुगतान पर अस्थाई रूप से रोक लगाई हुई है।

16-05-2020
हितग्रहियों ने कहा, आवास बनाने ठेकेदार को दिया था पैसा,एक साल से काम है बंद

कवर्धा। बोड़ला विकासखण्ड के दूरस्थ आदिवासी अंचल ग्राम केसमर्दा में प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना में फर्जीवाड़े की शिकायत मिली है। प्रति हितग्राही एक-एक लाख भुगतान के पश्चात भी एक वर्ष होने के बाद भी आवास नहीं बन पाया है। हितग्राहियों ने जनपद के अधिकारियों के कहने पर निर्माण कार्य कराने का कार्य एक ठेकेदार को दे दिया एवं दो किश्तों में हितग्राहियों के खाते में आये रकम को ठेकेदार द्वारा एक-एक लाख रुपए प्रति हितग्राही निकलवाकर अपने पास रख लिया गया। हितग्रहियों ने शिकायत करते हुए कहा कि जनपद सीईओ ने स्वयं ठेकेदार को लेकर आया था और आवास निर्माण कराने कहा गया। सीईओ के विश्वास में हमने आवास बनाने पैसे दे दिए।ग्राम पंचायत केसमर्दा पहुंचकर अनियमितता की जांच की गई। सांसद को पंचायत के ग्राम बोदर्रा के बैगा हितग्राहियों ने अपनी शिकायत बताई गई। ग्राम पंचायत केसमर्दा के आश्रित ग्राम बोदई के बैगा आदिवासी बुधराम पिता फगनू, गेलही पिता केजहा, चंदर सिंह वि. देवान, नानबाई पति जेठू, मोहित पिता सूनाराम, गहरू, पनकू, अंधियारो एवं अन्य ने बताया कि शासन द्वारा हमारा प्रधानमंत्री आवास स्वीकृत हुआ है। सांसद के समक्ष इन लोगों ने बताया कि अधिकारी द्वारा कहा गया कि आवास बनाने की जिम्मेदारी ठेकेदार को दे दो, जिस पर एक वर्ष पूर्ण ही हितग्राहियों ने अपने खाते में जमा राशि एक-एक लाख रुपए बैंक से निकालकर राशि ठेकेदार को सौंप दी,जिसके बाद ठेकेदार द्वारा केवल नींव स्तर तक किसी का थोड़ा और वह भी मानक कार्य योजना के विरूद्ध स्तरहीन कार्य करा कार्य बंद कर दिया गया। इससे पिछले एक वर्ष से आवास निर्माण बंद पड़ा हुआ है।
 वर्जन 
हितग्रहियों का आवास निर्माण एक वर्ष से नहीं हुआ है। जनपद सीईओ स्वयं में ठेकेदार को हितग्रहियों को बोलकर काम दिया था। एक साल से काम बंद होने पर ठेकेदार व अधिकारी की शिकायत ग्रामीण कर रहे हैं।
काशीराम उइके, जनपद सदस्य बोड़ला

 

16-05-2020
सूचना के अधिकार कानून को लेकर हो रही बड़ी लापरवाही, पोस्ट ऑफिस के बंद होने का बहाना बताकर बाबू नहीं ले रहे आवेदन

कवर्धा। जिला पंचायत के बाबुओं की बड़ी लापरवाही सामने आ रही है। सूचना के अधिकार कानून को लेकर लापरवाही बरती जा रही है। जिला पंचायत में डाकघर बन्द होने का हवाला देकर आवेदक से सूचना के अधिकार के आवेदनों को लेने से इनकार किया जा रहा है। जबकि शासकीय कार्यालयों में काम काज चालू है, ऐसे में सूचना के अधिकार का आवेदन को न लेना समझ से परे है। जबकि जिले के सभी शासकीय कार्यालयों में सूचना के अधिकार के तहत आवेदन ले रहे है और जानकारी भी दी जा रही है। केवल जिला पंचायत को छोड़कर, जबकि डाकघर खुला हुआ है और डाक वितरण भी किया जा रहा है, लेकिन जिला पंचायत के आवेदन लेने वाले बाबू डाकघर का बहाना बनाकर सूचना के अधिकार के तहत आवेदन लेने से मना कर रहे हैं। यानी सूचना के अधिकार अधिनियम को दरकिनार किया जा रहा है। इसकी जानकारी जिला पंचायत के अधिकारी को नहीं है, लेकिन बाबू मनमानी करते हुए सूचना के अधिकार का आवेदन जमा करने आए आवेदक को भगा दिया जा रहा है।

15-05-2020
थोक और फुटकर सब्जी बाजार सहित फल दुकानें भी रहेंगी शनिवार,रविवार को रहेगी बंद

भिलाई। उपायुक्त अशोक द्विवेदी ने बताया कि नगर पालिक निगम भिलाई क्षेत्र अंतर्गत शनिवार एवं रविवार को मेडिकल सेवाएं, दूध, डेयरी को छोड़कर समस्त दुकानें बंद रहेगी! उपरोक्त अत्यावश्यक सेवा की दुकानें ही खुलेंगी, शेष दुकानें लॉक डाउन में बंद रहेंगी। इसके अतिरिक्त शनिवार एवं रविवार को दोनों दिन, थोक एवं फुटकर सब्जी बाजार एवं फल आदि की दुकानें भी पूर्णतः बंद रहेंगी।

 

14-05-2020
विजय माल्या ने सरकार से लगाई गुहार, कहा- मेरे खिलाफ मामले बंद कीजिए

नई दिल्‍ली। बैंको के साथ नौ हजार करोड़ रुपये की धोखाधड़ी और धनशोधन मामले में वांछित भगोड़े शराब कारोबारी विजय माल्या ने एक बार फिर सरकार से अपना कर्ज लौटाने की पेशकश स्वीकार करने और मुकदमों को बंद करने की गुहार लगाई है।माल्‍या ने गुरुवार को कोरोना वायरस चुनौती से देश की अर्थव्यवस्था को उबारने के लिए नरेन्द्र मोदी सरकार के 20 लाख करोड़ के पैकेज पर बधाई देते हुए ट्वीट कर एक बार फि‍र सरकार से उस पर बकाया कर्ज के शत प्रतिशत भुगतान की पेशकश स्‍वीकार करने और उसके खिलाफ सभी मामले खत्‍म करने की विनती की है।विजय माल्‍या ने ट्वीट कर कहा,कोविड-19 राहत पैकेज के लिए सरकार को बधाई, सरकार जितना चाहे उतने नए नोट छाप सकती है, किंतु मेरे जैसे छोटे योगदानकर्ता की पेशकश की लगातार अनदेखी की जा रही है,जो सरकारी बैंकों का शत प्रतिशत कर्ज वापस करने को तैयार है।

कृपया बिना शर्त मुझसे पैसे लीजिए और मेरे खिलाफ सारे मामले बंद कीजिए।"भगोड़े शराब कारोबारी माल्या की विमानन कंपनी किंगफिशर एयरलाइंस भी बंद हो चुकी है। माल्या भारत प्रत्यर्पण के खिलाफ लंदन उच्च न्यायालय में मुकदमा हार चुका है और अब इस आदेश के खिलाफ ब्रिटेन के सुप्रीम कोर्ट में अपील कर रखी है।माल्‍या ने 31 मार्च को भी एक ट्वीट किंगफि‍शर एयरलाइंस के बैंकों से लिए गए कर्ज को शत प्रतिशत लौटाने की अपनी गुहार पर वित्‍त मंत्री निर्मला सीतारमण से कोरोना संकट की चुनौती के समय में विचार की अपील की थी।

11-05-2020
शराब दुकानों को बंद करवाने भाजपा नेताओं को राष्ट्रपति भवन भी जाना था : धनंजय ठाकुर

रायपुर। प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा है कि भाजपा के नेता स्वीकार करें ना करें देश की जनता समझ गई है लॉक डाउन 3.0 के दौरान देशभर में खुले शराब दुकानों के लिए केंद्र की मोदी सरकार जिम्मेदार है। धनंजय ने राजभवन पहुंचे भाजपा के नेताओं से सवाल पूछा है कि कोविड-19 महामारी के दौरान लॉक डाउन में देशभर में क्या दुकान खुलेगी, क्या बंद रहेगी,यह तय करने का अधिकार किसके पास में है? भाजपा नेताओं को ज्ञात होगा लॉक डाउन 1.0 में देशभर में शराब की दुकान मोदी सरकार के निर्देश पर बंद हई थी। ऐसे में मोदी सरकार ने लॉक डाउन 3.0 में देशभर में शराब, गुटखा, तंबाकू बिक्री की छूट क्यों प्रदान की ? पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह सहित भाजपाा नेताओं को लॉक डाउन 3.0 के दौरान मोदी सरकार की ओर से देशभर में खोली गई शराब दुकानों को बंद कराने राजभवन के साथ राष्ट्रपति भवन भी जाना चाहिए।

 

09-05-2020
10 मई से वक्ता मंच के शराब विरोधी आंदोलन का दूसरा चरण, चलाएंगे पोस्टकार्ड अभियान

रायपुर। प्रदेश में शराब ठेके बंद करवाने के लिए वक्ता मंच द्वारा जारी पोस्टकार्ड अभियान अब 10 मई से दूसरे चरण में प्रवेश हो रहा है। प्रदेश के लोगों द्वारा विशेषकर महिलाएं मुख्यमंत्री के नाम पोस्टकार्ड लिखकर शराब का विरोध करेंगी। वक्ता मंच के संयोजक शुभम साहू ने बताया कि प्रथम चरण में हम शराब दुकान खोले जाने का विरोध करते है। शराब विरोधी पोस्टर लगाकर लोगों ने घर की छतों,आंगन व दुकानों के सामने खड़े होकर सेल्फी ली और राज्यपाल को ज्ञापन सौंपा था। लॉक डाउन व धारा 144 लागू होने के कारण कोई प्रभावी आंदोलन न हो पाने की स्थिति में सांकेतिक विरोध जारी है। इस क्रम में पूरे प्रदेश में पोस्टकार्ड अभियान चलाया जायेगा। वक्ता मंच द्वारा जन समुदाय से पोस्टकार्ड लिखने का अनुरोध किया गया है। इसके साथ ही शराब दुकानें खुलने के साथ प्रदेश में बढ़ते अपराधों पर भी गहन चिंता व्यक्त करते हुए मंच ने वायदानुसार पूरे प्रदेश में पूर्ण शराबबंदी की मांग की है।

08-05-2020
कांग्रेस ने कहा भाजपा के नेता केन्द्र को पत्र लिखकर करें शराब दुकान बंद करने की मांग

रायपुर। भाजपा नेताओं के छत्तीसगढ़ में शराबबंदी की मांग पर कांग्रेस ने पलटवार किया है। पीसीसी प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने भाजपा नेताओं पर निशाना साधा है। धनंजय ने कहा कि केंद्रीय मंत्री रेणुका सिंह, सरोज पांडेय, राम विचार नेताम, सुनील सोनी सहित भाजपा के 9 सांसद मोदी सरकार को पत्र लिखें और देशभर में शराब, गुटखा, तम्बाकू की बिक्री की अनुमति वापस लेने मांग करें। उन्होंने कहा कि केन्द्र को ऐसा पत्र लिखने पर सभी को कुर्सी जाने का खतरा लगा तो नहीं रहा?
धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा कि मोदी सरकार ने लॉक डाउन 3.0 के दौरान देशभर में शराब, पान, गुटखा बेचने की अनुमति प्रदान कर कोरोना महामारी रोकने खींची गई लक्ष्मण रेखा को तोड़ने का काम किया है। भाजपा शासित राज्यों में लॉक डाउन के दौरान खुली शराब दुकानों में भारी भीड़ और बेतहाशा शराब की बिक्री की सूचना समाचार पत्रों के माध्यम से मिल रही है। इसके साथ ही धनंजय सिंह ठाकुर ने छत्तीसगढ़ सरकार का पक्ष रखते हुए कहा कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की सरकार ने स्पष्ट कर दिया है शराबबंदी नोटबंदी की तरह नहीं होगी पुख्ता और मजबूत नीति के साथ राज्य में शराबबंदी होगी।

 

 

08-05-2020
राज्यपाल को ज्ञापन सौंपकर रविशंकर विश्वविद्यालय को बंद करने की मांग, पढें खबर...

रायपुर। छत्तीसगढ़ छात्र संगठन ने राज्यपाल अनुसुईया उइके को ज्ञापन सौंपकर कन्टेनमेंट जोन पं रविशंकर शुक्ल विश्वविद्यालय को तत्काल प्रभाव से बंद करने की मांग की है। प्रदेश अध्यक्ष प्रदीप साहू ने कहा कि पंडित रविशंकर शुक्ल विश्वविद्यालय आमानाका से लगे कुकुरबेड़ा में एक पॉजिटिव मिला है। इससे क्षेत्र की जनता के साथ ही पंडित रविशंकर शुक्ल विश्वविद्यालय के कर्मचारी भी दहशत में हैं। क्योंकि विश्विद्यालय के बाउंड्रीवाल से ही घनी आबादी वाला झुग्गी बाहुल्य क्षेत्र है। विश्विद्यालय के 90 प्रतिशत सफाई कर्मचारी, सुरक्षा गार्ड और अधिकतर कर्मचारी कुकुरबेडा में निवास करते हैं। शायद विश्वविद्यालय प्रशासन इसको हल्के में ले रहा है। प्रदीप साहू ने कहा कि कुकुरबेड़ा में कोरोना पॉजिटिव मिलने के बाद जिला दंडाधिकारी रायपुर ने कुकुरबेड़ा, आमानाका और पंडित रविशंकर शुक्ल विश्विद्यालय के मुख्य द्वार को कंटेन्मेंट जोन घोषित कर दिया है। इस क्षेत्र के सभी संस्थानों को तत्काल प्रभाव से बंद करने का आदेश जारी दिया कर गया है। प्रदीप ने कहा कि परंतु विश्वविद्यालय प्रशासन के द्वारा गम्भीरता पूर्वक पालन नहीं किया जा रहा है। प्रदीप साहू ने राज्यपाल ने निवेदन किया कि रविशंकर विश्विद्यालय को भी कारण बताओ नोटिस जारी करते हुए विश्विद्यालय के अधिकारियों, कर्मचारियों के हित में आगामी आदेश तक  इसे तत्काल प्रभाव से  बंद किए जाने की कृपा करें।

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804