GLIBS
23-04-2020
3 लाख कीमत के 24 नग हीरे के साथ तस्कर गिरफ्तार

गरियाबंद। हीरे के मामले में मैनपुर पुलिस सक्रिय हुई है और 24 हीरो के साथ इसे बेचने की फिराक में घूम रहे एक युवक को गिरफ्तार किया है। उक्त युवक मैनपुर का ही रहने वाला है तथा लंबे समय से हीरा व्यवसाय में जुड़ा हुआ था, जिससे व्यापक पूछताछ की जा रही है। बता दें कि 24 नग हीरो के साथ पुलिस ने रमेश कश्यप नामक युवक को पकड़ा है। दरअसल मैनपुर पुलिस को सूचना मिली थी कि एक युवक हीरा बेचने की तलाश में मैनपुर के बाजारों में घूम रहा है।

13-04-2020
एम्बुलेंस में सवारी लाने निकले दो युवक गिरफ़्तार...

धमतरी। कोरोना वायरस वैश्विक महामारी के रूप में फैल रहा है, जिसके संक्रमण के नियंत्रण एवं रोकथाम के लिए पुलिस अधीक्षक बीपी राजभानु के निर्देशानुसार एवं अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक मनीषा ठाकुर रावटे के मार्गदर्शन में लॉकडाउन के दौरान सभी थाना क्षेत्र अंतर्गत सरहदी नाकेबंदी पॉइंट, फिक्स पॉइंट में व्यक्तियों व वाहनों की चेकिंग की जा रही है। इसी दरमियान सूचना मिली कि दो एंबुलेंस धमतरी से राजनांदगांव जाने के लिए निकल रहे हैं जो आर्थिक लाभ के उद्देश्य से अपने एंबुलेंस में मरीज लाने के बहाने अन्यत्र जिले से व्यक्तियों को लाकर शासन व प्रशासन के आदेशों का उल्लंघन कर रहे हैं।

उक्त सूचना पर थाना प्रभारी सिटी कोतवाली भावेश गौतम के नेतृत्व में सिटी कोतवाली पेट्रोलिंग स्टाफ स्टेट बैंक के पास रत्नाबांधा रोड धमतरी में घेराबंदी कर दोनों एंबुलेंस आने पर पकड़कर पूछताछ किया गया, पूछताछ में वाहन चालक द्वारा मरीज लेने राजनांदगांव जाने बताया, लेकिन कड़ाई से पूछताछ करने, मरीज का नाम-पता व दस्तावेज की मांग करने पर दोनों एंबुलेंस के चालकों ने बताया कि राजनांदगांव से कुछ लोगों को लेने जा रहे हैं। जो एंबुलेंस क्रमांक CG 10 FA 4449 का चालक विकास मानिकपुरी एवं एंबुलेंस क्रमांक CG 04 HB 9648 वसीमुद्दीन कुछावा के द्वारा कोरोना वायरस के नियंत्रण एवं रोकथाम के लिए लॉक डाउन के दौरान नियमों का उल्लंघन करते हुए मानव जीवन एवं स्वास्थ्य के प्रति उपेक्षा व संकट कारित करना पाए जाने पर थाना सिटी कोतवाली धमतरी में धारा 188, 34 भादवि पंजीबद्ध कर आरोपी विकास मानिकपुरी पिता स्वर्गीय द्वारिका उम्र 21 वर्ष निवासी बरारी थाना रूद्री जिला धमतरी एवं वसीमुद्दीन कुछावा पिता मोइनुद्दीन उम्र 29 वर्ष निवासी रिसाईपारा धमतरी को विधिवत गिरफ्तार कर माननीय न्यायालय के समक्ष पेश किया गया है।

09-04-2020
ग्रामीण युवकों के साथ हुई मारपीट, घटना निंदनीय : बसंत टाटी

बीजापुर। जहां एक ओर लॉक डाउन के कारण शासन-प्रशासन एवं समाज सेवा संगठन से जुड़े हुए कुछ लोग गरीबों के लिए रोजी रोटी की चिंता करते हुए मदद के हाथ बढ़ा रहे हैं। वही दूसरी ओर प्रशासन के ही कुछ जिम्मेदार लोग अपने हाथों में लाठी डंडा लेकर उन गरीबों को बेरहमी से पीट-पीट कर कहर बरसा रहे हैं। ऐसा ही एक मामला वन परिक्षेत्र भोपालपटनम में देखने को मिला। मिली जानकारी के अनुसार ग्राम गोलागुड़ा के चार दलित युवक अपने घरेलू उपयोग के लिए बल्ली लाने जंगल गए हुए थे, लेकिन वहां अचानक पहुंचे वन कर्मियों ने बिना किसी पूछताछ के ही उन चारों युवकों को भोपालपटनम डिपो में लाकर लाठी डंडों से बेदम पीटा है। वन कर्मियों की इस मारपीट से इंला संतोष एवं गुगिल्ला जितेंद्र नामक दो युवक बुरी तरह घायल हो गए। वन कर्मियों द्वारा दलितों के साथ किए गए इस अत्याचार के संज्ञान में आते ही क्षेत्रीय जिला पंचायत सदस्य बसंत राव ताटी ने कहा की संपूर्ण घटनाक्रम की निष्पक्ष जांच कर दोषियों के विरुद्ध कड़ी से कड़ी कार्यवाही की जानी चाहिए।

ताकि क्षेत्र में इस तरह के घटनाओं की पुनरावृति न हो सके। जिला पंचायत सदस्य ताटी का कहना है कि एक ओर कोरोना वायरस के संक्रमण को लेकर पूरा विश्व परेशान है। वहीं दूसरी ओर ऐसे परेशान लोगों को वन विभाग द्वारा मदद करने के बजाय उनके साथ मारपीट करना न्याय संगत नहीं है। हालांकि संबंधित युवकों ने इस मामले की रिपोर्ट पुलिस थाना भोपालपटनम में की है। अब देखना यह होगा की इस जांच में उन पीड़ित दलित युवकों को न्याय मिल पाएगा अथवा नहीं यह विचारणीय प्रश्न है। वंही इस पूरे मामले के संबंध मे बीजापुर वनमण्डलाधिकारी दिनेश साहू का कहना है जो बाते सामने आ रही है वो गलत है। अपनी गलती छुपाने युवकों द्वारा गलत जानकारी दी गई है। सच तो यह है कि सभी युवक जंगल बेशकीमती लकड़ी काटने गए थे। लकड़ी काटने के दौरान कर्मचारियों ने उन्हें पकड़ा है और उनके द्वारा काटी गई लकड़ी को भी जब्त किया। जब्त की गई लकड़ी की कीमत लगभग एक लाख रुपये की है। युवकों के ऊपर कार्यवाही करने की तैयारी की जा रही है।

07-04-2020
पुलिस ने 24 घण्टे में सुलझाई हत्या की गुत्थी, गांव का ही व्यक्ति निकला हत्यारा

राजनांदगांव। छुईखदान थाना क्षेत्र अंतर्गत ग्राम सोनपुरी निवासी एक महिला गांव के खार में अप्रैल की शाम लगभग 4.30 बजे लकड़ी बीनने गई थी। जब वह रात होने तक वापस नहीं आई तो उसके पति उदय यादव व अन्य ग्रामीण उसको ढूंढने निकले जिनमे वह व्यक्ति भी शामिल था जो कि आरोपी निकला। जब खार में महिला का कहीं पता चला तो आरोपी ने कहा कि नहरी खार की ओर देखते हैं। उक्त जगह पर मृतिका का शव मिला। घर के लोगों ने पुलिस को सूचना दी। सूचना पर पहुँची पुलिस ने शव को अपने कब्जे में लिया, तथा अपराध क्रमांक 71/2020 धारा 302 के तहत मामला पंजीबद्ध कर जांच प्रारम्भ कर दी।

मृतिका की कुछ समय पहले ही शादी हुई थी, जिसके चलते कार्यपालिक दंडाधिकारी की उपस्थिति में पंचनामा कराया गया। महिला के सिर में धारदार हथियार से वार तथा गला दबाने के निशान मिले। पुलिस ने वहां गए लोगों से जब पूछताछ की तो रामचंद्र उर्फ मुन्ना यादव ने अपना जुर्म कबूल कर लिया। पुलिस के अनुसार प्राथमिक पूछताछ में मामला अवैध संबंध का लग रहा है। आरोपी को मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी की अदालत में पेश किया गया।

01-04-2020
लॉकडाउन में पुलिस ने रोककर पूछताछ की, तो कहा कि मेरी मर्जी मैं जो करू, अपराध पंजीबद्ध

रायपुर। शहर में लॉकडाउन के दौरान दोपहिया में सड़कों पर घूमना राजातालाब के एक युवक को महंगा पड़ गया। पुलिस ने उसे रोका और पूछताछ की तो कहा मेरी मर्जी, मैं जो करूं, जिसके बाद सिविल लाईन थाना पुलिस ने युवक के खिलाफ अपराध पंजीबद्ध कर लिया है। बता दें कि खाना-खजाना चौक के पास पुलिस टीम ने बेवजह घरों से बाहर निकलकर घूमने वालों को रोककर पूछताछ की। इसी दौरान राजातालाब, नई बस्ती का जाकिर हुसैन राजभवन चौक की तरफ से दोपहिया वाहन से पहुंचा। घर से निकलने की वजह पूछने पर कहा- मेरी मर्जी, मैं जो भी करूं। थाने में पदस्थ उपनिरीक्षक अजय झा की शिकायत पर पुलिस ने मामले में जाकिर हुसैन के खिलाफ धारा 188, 269 का अपराध दर्ज कर लिया गया।

20-03-2020
विदेश यात्रा जरूरी हो तभी आएं पासपोर्ट कार्यालय, कोरोना से बचने की अपील

रायपुर। कोरोना वायरस-19 के खतरे को देखते हुए पासपोर्ट अधिकारी ने आवेदकों से बचाव की अपील की है। पासपोर्ट अधिकारी सीपी यादव ने कहा कि यदि विदेश भ्रमण करना अति आवश्यक हो तभी पासपोर्ट कार्यालय, रायपुर पासपोर्ट सेवा केन्द्र या डाकघर पासपोर्ट सेवा केन्द्रों में उपस्थित हों। यदि किसी आवेदक को बुखार हो तो कृपया पासपोर्ट कार्यालय में अपाइंटमेंट के दिन न जाएं। उन्होंने कहा कि अपाइंटमेंट प्राप्त करने की बाध्यता समाप्त की जा चुकी है इसलिए आवेदक वर्ष में कई बार अपना अपाइंटमेंट प्राप्त कर सकते हैं। उन्होंने पासपोर्ट आवेदकों से अपील की है कि अपना अपाइंटमेंट 7 अप्रैल के बाद का निर्धारित करें। इसके साथ ही 31 मार्च तक पासपोर्ट कार्यालय दीनदयाल उपाध्याय नगर में पूछताछ के लिए ना आएं। आवश्यकता होने पर टोल फ्री नम्बर1800-258-1800 और कार्यालय के पूछताछ नम्बर 0771-2263922 पर सुबह 9.30 से शाम 6 बजे तक कार्यालय दिवस में संपर्क कर सकते हैं। 

06-03-2020
आप के निलंबित पार्षद ताहिर हुसैन को कोर्ट ने भेजा 7 दिनों की हिरासत में

नई दिल्ली। दिल्ली की कड़कड़डुमा कोर्ट ने आप के निलंबित पार्षद ताहिर हुसैन को सात दिनों की पुलिस हिरासत में भेज दिया गया है। कोर्ट ने ताहिर को उत्तर पूर्वी दिल्ली की हाल की हिंसा के दौरान खुफिया ब्यूरो (आईबी) के कर्मचारी अंकित शर्मा की कथित रूप से हत्या करने के मामले में शुक्रवार को सात दिन के लिए पुलिस हिरासत में भेज दिया।

गुरुवार को पुलिस ने किया था ताहिर हुसैन को गिरफ्तार
ताहिर के वकील मुकेश कालिया ने बताया कि ड्यूटी मजिस्ट्रेट राकेश कुमार ने यह आदेश जारी किया। दिल्ली पुलिस ने उसे कोर्ट में पेश किया था। पुलिस ने कहा कि बड़ी साजिश का पता लगाने के लिए हिरासत में लेकर उससे पूछताछ की जरूरत है। ताहिर को गुरुवार को गिरफ्तार किया था। इससे पहले एक अदालत ने इस मामले में आत्मसमर्पण करने की उसकी अर्जी खारिज कर दी थी।

अपने आप को पीड़ित बता रहा है ताहिर हुसैन
बता दें कि आईबी कर्मी अंकित शर्मा के पिता ने ताहिर के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई थी। एफआईआर होने के बाद से ही ताहिर हुसैन फरार हो गए थे। लेकिन गुरुवार को उन्हें पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। उधर एसआईटी सूत्रों के मुताबिक पूछताछ में ताहिर हुसैन बार-बार अपने आप को पीड़ित बता रहा है। ताहिर का कहना है कि दंगाइयों ने उसके चांद बाग के घर पर 24 फरवरी को हमला कर दिया था। उस दिन उसने तीन बार पुलिस को फोन किया था। पहली कॉल दोपहर 2:52 बजे, दूसरी 3:11 बजे और तीसरी 3:54 बजे की थी। हिंसा के बाद फरार होने से पहले भी ताहिर हुसैन ने ये दावा किया था कि उसने पुलिस के 100 नंबर पर कई बार फोन किया था। उसने कहा था कि पुलिस को निष्पक्ष जांच करनी चाहिए। ताहिर हुसैन ने जांच में पुलिस की पूरी मदद करने की बात कही थी लेकिन वह फरार हो गया था।

 

05-03-2020
लोन दिलाने एवं नौकरी लगाने के नाम पर ठगी, आरोपी जेल दाखिल

कोरबा। कटघोरा थाना अंतर्गत छुरी में लोन के नाम पर ठगी करने का मामला सामने आया था। जानकारी के मुताबिक़ उसने करीब एक दर्जन लोगों को ठगी का शिकार बनाया था। इस तरह उसने लोन दिलाने के नाम पर बतौर कमीशन दो लाख रूपये से ज्यादा ऐंठ लिए थे। कटघोरा थाना प्रभारी रघुनन्दन शर्मा ने पत्रकारवार्ता मेें बताया की छुरी की रहने वाली हेमलता चौहान पति अजय चौहान (26) ने रिपोर्ट दर्ज कराया था की पम्प हाउस कोरबा का रहने वाला पुनाराम चौहान बैंक से लोन दिलाने और नौकरी लगाने का दावा कर रहा है। वह 4 फ़ीसदी रकम बताकर कमीशन भी ले रहा है।

हेमलता चौहान ने 12 हजार रुपया, उषा चौहान ने 8 हजार रूपये, बुंद कुंवर से 8 हजार, प्रभा यादव 6 हजार, शोभा यादव ने 4 हजार, उतरा श्रीवास से 6 हजार, उमा चौहान ने 4 हजार, रविंद्र चौहान से नौकरी के नाम 25 हजार, सरिता बाई 1 लाख रूपये और अंतर्जातीय विवाह की प्रोत्साहन राशि दिलाने के नाम पर 48 हजार रूपये ऐंठ लिए थे। इस तरह कुल 2 लाख 21 हजार रूपये की ठगी की थी। गौरतलब है की पुनाराम चौहान ने इस मामले पर महज तीन माह में अंजाम दिया था लेकिन आज तक न किसी की नौकरी लगी, ना ही ऋण मिला और ना ही प्रोत्साहन राशि मिली। पुलिस ने शिकायत के बाद आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। इस दौरान आरोपी के पास से एक मोबाइल भी जब्त किया है। पूछताछ के बाद उसे न्यायिक रिमांड पर जेल दाखिल करा दिया गया है।

 

01-03-2020
सलवार-सूट पहनकर प्रेमिका से मिलने जा रहा था प्रेमी, बच्चा चोर समझकर भीड़ ने पीटा

नई दिल्ली। राजस्थान के पाली में एक युवक को ग्रामीणों ने बच्चा चोर समझ कर पीट दिया। चौंकाने वाली बात ये है कि युवक अपनी महिला मित्र से मिलने सलवार-कुर्ता पहन कर गया था। इसी के चलते ग्रामीणों ने उसे बच्चा चोर समझा और उसे पकड़ लिया। बाद में लोगों ने उसकी जमकर पिटाई की। रिपोर्ट के अनुसार, पेशे से टैक्सी चालक युवक अपनी महिला मित्र से मिलने सलवार-सूट पहनकर जा रहा था। इस दौरान स्थानीय लोगों ने उसे बच्चा चोर समझ लिया। इसके बाद इसकी जमकर पिटाई कर दी गई। जानकारी के अनुसार युवक ने पहले अपनी टैक्सी सुनसान इलाके में पार्क की और फिर सलवार सूट पहन कर अपनी महिला मित्र से मिलने चला गया। इस दौरान कुछ महिलाओं की उस पर नजर पड़ी और उन्होंने शोर मचाना शुरू कर दिया। इसके बाद स्‍थानीय लोग वहां पर जुट गए और टैक्सी चालक को पकड़ लिया। पूछताछ करने पर जब वह जवाब नहीं दे सका तो ग्रामीण भड़क गए और उसकी पिटाई शुरू कर दी। बाद में पुलिस को मामले की जानकारी मिली तो मौके पर पहुंच कर युवक को बचाया गया। उल्लेखनीय है कि प्रदेश में बच्चा चोर के नाम पर कई लोगों को मॉब लिंचिंग का का शिकार होना पड़ा है।

 

18-02-2020
लूट और चोरी के आरोपी को पुलिस ने ओडिसा में किया गिरफ्तार 

रामानुजगंज। चोरी, लूट और उठाइगिरी के आरोपी को पुलिस ने धर दबोचा है। रामानुजगंज थाना अंतर्गत पांच अलग-अलग लूट, चोरी एवं उठाईगिरी की वारदात का मुख्य सरगना शंकर प्रधान को ओडिसा से पुलिस ने गिरफ्तार किया है। पुलिस ने शंकर प्रधान के पास से 35 हजार रुपए नकद बरामद किया। वहीं घटना में सहयोगी चचेरे भाई आंउला क्रांति अब तक फरार है। ज्ञात हो कि माह सितंबर 2019 से नगर में एकाएक चोरी उठाई गिरी एवं लूट की घटनाएं बढ़ गईं थीं। सितंबर से लेकर दिसंबर 2019 तक हुई पांच लूट चोरी एवं उठाईगिरी की घटना से नगर में दहशत का माहौल था। लुटेरे को पकडऩा पुलिस के लिए बड़ी चुनौती थी। रामानुजगंज पुलिस द्वारा लगातार घटना की विवेचना की जा रही थी। पुलिस द्वारा अपराधियों को पकडऩे के लिए तकनीक का भी सहारा लिया गया। सीसीटीवी फुटेज भी पुलिस के लिए कारगर साबित हुई। पुलिस ने डम्ब कॉल से प्राप्त अन्य मोबाइल नंबरों के सिम धारकों के एसडीआर से जिला पलामू के ग्राम पकरी थाना तरहसी के निवासी आलोक शर्मा का नंबर होना पाया, जो वर्तमान में चुनार उत्तर प्रदेश में रहकर प्राइवेट काम करता है। जब रामानुजगंज पुलिस ने उससे संपर्क कर एक संदेही के नंबर के बारे में पूछताछ की तो नंबर को बारालोटा डाल्टेनगंज का होना बताया। इस पर बारालोटा जाकर जब एक महिला से संपर्क करने पर तथा सीसीटीवी फुटेज दिखाकर पूछने पर अहम सुराग लगे। महिला ने फोटो की पहचान करते हुए बताया कि यह उस व्यक्ति की फोटो है जो सुनील भगत के किराए के मकान में अगस्त 2019 से जनवरी 2020 तक था। इसके बाद पुलिस को मकान मालिक से आरोपी के पता व मोबाइल नंबर की जानकारी मिली। इस आधार पर पुलिस ने ओडिशा में दबिश देकर आरोपी शंकर प्रधान को गिरफ्तार किया।

 

14-02-2020
फरार चल रहे दो इनामी नक्सली गिरफ्तार, कई संगीन मामलों में थे शामिल

कोंडागांव। संवेदनशील  एरिया में सर्चिंग के लिए निकले पुलिस जवानों को कामयाबी हाथ लगी है। सर्चिंग के दौरान जवानों ने लम्बे समय से फरार चल रहे दो इनामी नक्सलियों को गिरफ्तार किया। पकडे गए नक्सली मनीराम कोर्राम और रायधार कश्यप आमदई एलजीएस के सदस्य है। इन पर शासन से एक—एक लाख रुपये का इनाम घोषित था। पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक़ इन दोनों नक्सलियों की पुलिस को काफी समय से तलाश थी। मुखबीर से सूचना मिलने पर जिला पुलिस बल और मर्दापाल से डीआरजी के जवान बेचा,तुमड़ीवाल के जंगलों में लगातर दो दिन से सर्चिंग कर रहे थे। सर्चिंग के दौरान कोट्मेटा के जंगल में छिपे दोनों नक्सलियों को जवानो ने गिरफ्तार किया। दोनों नक्सलियों पर मर्दापाल थाने में एक दर्जन से अधिक संगीन अपराध के मामले दर्ज है। इसमें चुनाव के दौरान मतपेटी लूटना, मुखबिरी के शक में ग्रामीणों की हत्या के अलावा गाँव में लूटपाट करने जैसे मामले है। मनीराम कोर्राम पिछले दस साल नक्सली संगठन से जुड़ा था तो वही रायधार कश्यप जनमिलिशिया सदस्य के रूप में नक्सलियों के साथ काम कर रहा था। दोनों नक्सलियों की गिरफ्तारी ग्रामीणों ने राहत की साँस ली है। पुलिस अधिकारियो को उम्मीद है की पकड़े नक्सलियों से पूछताछ से नक्सली संगठन की गतिविधियों की कई अहम् जानकारी मिल सकती है। 

 

11-02-2020
Breaking :  महिला शिक्षाकर्मी चला रही थी सेक्स रैकेट, पुलिस ने किया गिरफ्तार

कोरबा। बालको थाना अंतर्गत एक बस्ती में निवासरत एक महिला शिक्षाकर्मी द्वारा देह व्यापार का गोरखधंधा संचालित किया जा रहा था। मुखबिर से सूचना मिलने पर पुलिस के आला अधिकारियों की उपस्थिति में बालको पुलिस ने बीती देर रात मकान में दबिश दी। यहां महिला को जिस्मफरोशी का धंधा करते हुए रंगे हाथों गिरफ्तार किया है। पकड़े गई महिला से पुलिस द्वारा कड़ाई से पूछताछ की जा रही है। बताया जाता है कि जल्द ही पुलिस इस मामले का खुलासा भी कर सकती है। सूत्रों के मुताबिक बालको पुलिस को मुखबिर से सूचना मिली की बस्ती में निवासरत एक महिला शिक्षाकर्मी के घर में नए नए लोगों का आना जाना है और महिला अवैध कार्यो में लिप्त है। सूचना मिलते ही बालको पुलिस में महिला के घर छापेमारी करते हुए कुछ संदिग्ध लोगों को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने मामले का खुलासा प्रेसवार्ता में करने की बात कही है।

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804