GLIBS
30-03-2020
मकान मालिक द्वारा किराया मांगकर परेशान करने पर संबंधित अनुविभागीय दण्डाधिकारी को सूचित किया जाए

धमतरी। नोवल कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम पर सतत् निगरानी रखने के लिए कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी रजत बंसल द्वारा दण्ड प्रक्रिया संहिता 1973 की धारा 144 के अधीन आदेश दिए गए हैं। इसी कड़ी में जिले में कई दैनिक मजदूरों ने उनके मकान मालिक द्वारा लगातार मकान किराया मांगे जाने और नहीं देने पर मकान खाली करने के लिए परेशान किए जाने संबंधी परेशानियों से अवगत कराया हैं। इसे ध्यान में रख कलेक्टर ने भाड़ा नियंत्रण अधिनियम में दिए गए शक्तियों का प्रयोग करते हुए निर्देशित किया है कि कोई भी मकान मालिक आगामी आदेश तक किराया नहीं मांगे और ना ही किराएदार को परेशान करें तथा किसी भी स्थिति में मकान खाली करने की धमकी दे अथवा दबाव नहीं डाले। उन्होंने कहा कि मकान मालिक द्वारा किराया मांगकर परेशान करने पर संबंधित अनुविभागीय दण्डाधिकारी को सूचित किया जाए। साफ तौर पर कहा गया है कि आदेश का उल्लंघन करने अथवा पालन नहीं करने पर मकान मालिक के ऊपर भाड़ा नियंत्रण अधिनियम के तहत जुर्माना अधिरोपित किया जा सकता है। बताया गया है कि इसके तहत दण्ड की राशि दस हजार रूपए तक हो सकती है। इस आदेश का कड़ाई से पालन करने के निर्देश दिए गए हैं।

18-09-2018
Housing Allowance: एक संकुल में पदस्थ पति-पत्नी में से किसी एक को ही मिलेगा आवास भत्ता

रायपुर। एक ही संकुल में पदस्थ शिक्षाकर्मी पति-पत्नी में से अब किसी एक को ही मकान किराया भत्ता दिया जाएगा। इस विषय में अभनपुर ब्लॉक के विकास खंड शिक्षा अधिकारी ने आदेश जारी करते हुए सभी प्राचार्य और संकुल समन्वयक को निर्देशित किया है कि आपके विकासखंड में ऐसे कर्मचारी पति-पत्नी जो  एक ही विकासखंड में कार्यरत है तथा दोनों को मकान किराया भत्ता अलग-अलग मिल रहा है उनमें से किसी एक को ही मकान किराया भत्ता की पात्रता है अतः ऐसे शिक्षकों की जानकारी उपलब्ध कराई जाए ताकि उनमें से किसी एक कर्मचारी का मकान किराया भत्ता रोका जा सके।

दरअसल शिक्षाकर्मियों के संविलियन के बाद हर विकासखंड में सैकड़ों की संख्या में कर्मचारियों की गिनती बढ़ गई है, इसके साथ ही उन्हें मिलने वाले लाभ के विषय में भी अब धीरे धीरे स्थिति स्पष्ट होते जा रही हैं। पहले गतिरोधभत्ता को लेकर संशय की स्थिति थी और उसके बाद मकान भत्ता को लेकर, लेकिन अब स्थिति पूरी तरह से क्लियर हो गई है कि संविलियन प्राप्त शिक्षाकर्मियों को गतिरोध भत्ता की पात्रता है और उसी प्रकार यदि पति पत्नी दोनोंएक ही विकासखंड में कार्यरत हैं तो उनमें से किसी एक को ही मकान किराया भत्ता दिया जाएगा और इसी स्थिति को स्पष्ट करते हुए अब अभनपुर विकासखंड के विकास खंड शिक्षा अधिकारी ने यह आदेश जारी किया है।

 

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804