GLIBS
26-02-2021
पेट्रोल-डीजल और रसोई गैस के बढ़ते दामों के खिलाफ महिला शिवसेना ने गाड़ी ढकेल कर किया विरोध प्रदर्शन

रायपुर। पेट्रोल-डीजल और रसोई गैस के बढ़ते दामों के खिलाफ महिला शिवसेना ने मोर्चा खोल दिया है। शुक्रवार को मूल्यवृद्धि पर ज़ोरदार विरोध किया गया। महिला शिवसेना रायपुर इकाई ने बढ़ती महंगाई,जिसमें मुख्य रूप से पेट्रोल-डीजल और रसोई गैस के बढ़ते दामों के खिलाफ प्रदर्शन किया। महिला शिवसैनिकों ने फाफाडीह पीली बिल्डिंग से फाफाडीह चौक तक गाड़ियों को हाथ से ढकेल कर और रसोई गैस को हाथ से उठा कर प्रदर्शन किया।
महिला शिवसैनिक ज्योति द्विवेदी ने बताया कि बढ़ती महंगाई ने आम जनता की कमर तोड़ कर रख दी है। एक आम नागरिक जो मजदूरी करता है उसे 200 से 300 रूपए रोजी मिलती है। इसमें उन्हें घर चलाना पड़ता है। ऐसे में अगर रसोई गैस और पेट्रोल के दाम बढ़ते हैं तो उन्हें बहुत सी तकलीफों का सामना करना पड़ता है। आगे उन्होंने कहा कि मैं इस प्रदर्शन के माध्यम से प्रधानमंत्री से कहना चाहती हूँ की कृपया गरीब जनता के बारे में सोचे और इनके बढ़ते दामों पर लगाम लगाते हुए इनको कम करें। प्रदर्शन में नेहा तिवारी, कोमल तिवारी, सोना साहू, अहिल्या यादव, अंबिका यादव, भारती पाल, ममता, एचएन सिंह पालीवाल, समीर पाल, शशांक देशमुख, राहुल सोनवानी, संतोष मार्कंडेय, बल्लू जांगड़े, गिरीश सोनी, आकिब खान, प्रफुल्ल साहू सहित अन्य शिवसैनिक उपस्थित थे।

 

23-02-2021
Video: पेट्रोल-डीजल और रसोई गैस के बढ़ते दामों के विरुद्ध वार्ड कांग्रेस ने दर्ज कराया विरोध

रायपुर। बढ़ती महँगाई के खिलाफ वार्ड कांग्रेस कमेटी ने मंगलवार को विरोध प्रदर्शन किया।  प्रदर्शन में वार्ड के लोगों ने भी अपना समर्थन दिया। संसदीय सचिव विकास उपाध्याय के निर्देशानुसार पेट्रोल-डीजल और रसोई गैस के बढ़ते दामों के खिलाफ शहीद चूड़ामणि नायक वार्ड क्र. 38 में विरोध प्रदर्शन किया गया। वार्ड में गली-गली घूमकर प्रदर्शन किया गया। प्रदर्शन में सांकेतिक रूप से बाइक और गैस को हाथ ठेले में रखकर घुमाया गया और जनता को बढ़ती महंगाई से रूबरू कराया गया। पश्चिम विधानसभा यूथ कांग्रेस से योगेश तिवारी ने बताया कि मोदी सरकार सिर्फ महंगाई बढ़ने का काम कर रही है। इन्हें जनता की तकलीफों से कोई मतलब नहीं है। आम जनता महंगाई के मार से जूझ रही है और मोदी सरकार चुनाव प्रचार में मस्त है। आज पूरे विश्व में पेट्रोल और डीजल के दाम बहुत कम है सिर्फ भारत में इसे चरम पर ले जाया जा रहा है। आज यहां पेट्रोल और डीजल 100 रूपए प्रति लीटर हो गया है। तिवारी ने कहा कि वे इसके लिए राज्यपाल को भी ज्ञापन सौंपेंगे और उन्हें बताएंगे की आम जनता को किन परेशानियों से जूझना पड़ रहा है ताकि ये सन्देश देश के प्रधानमंत्री तक भी पहुँच जाए।  

 

22-02-2021
पेट्रोल-डीजल और रसोई गैस के दामों में वृद्धि के खिलाफ युवा कांग्रेस ने ठेले में बाइक व गैस सिलेंडर रखकर निकाली रैली

 

धमतरी। पेट्रोलियम पदार्थ के दामों में लगातार हो रही वृद्धि को लेकर में शहर के मुख्य मार्गों से बाइक व गैस सिलेंडर को ठेले में रखकर युवा कांग्रेस ने केंद्र सरकार का विरोध करते रैली निकाली। प्रदेश युकां अध्यक्ष पूर्णचंद पाढी निर्देश में तथा कृष्णा मरकाम मार्गदर्शन एवं युकां के विधानसभा अध्यक्ष उदितनारायण साहू के नेतृत्व में पेट्रोल-डीजल के दामों में लगातार वृद्धि के विरोध में ठेले में बाइक एवं गैस को रखकर शहर के मुख्य स्थल मकई चौक में रैली निकालकर विरोध प्रदर्शन किया। इस मौके पर छत्तीसगढ़ युवा कांग्रेस के प्रदेश सचिव व जिला प्रभारी मो. अजहर ने कहा कि लगातार देश में पेट्रोल- डीजल की कीमतें बढ़ रही हैं। एक मई 2019 के बाद अभी तक पेट्रोल की कीमतों में 15.21 रुपए प्रति लीटर और डीजल की कीमतों में 15.33 रुपए प्रति लीटर का इजाफा हो चुका है। एक तरफ चौतरफा महंगाई की मार है तथा दूसरी तरफ डीजल-पेट्रोल-गैस के दामों की भरमार है। देश के कई हिस्सों में पेट्रोल 100 रुपए पार और डीजल 90 रुपए, गैस 800 रुपए से पार हो गया है। बता देें पेट्रोल-डीजल के दामों में लगातार 11वें दिन बढ़ोतरी हुई है। कोको पाढ़ी ने कहा कि मोदी सरकार अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कच्चे तेल की कम कीमतों का लाभ आम आदमी को क्यों नहीं दे रही है? एक तो देश में पेट्रोल-डीजल की कीमतें पड़ोसी देशों के मुकाबले काफी ज्यादा है, वहीं दूसरी तरफ बढ़ी हुई कीमतों ने पेट्रोल-डीजल की तस्करी भी शुरू करवा दी है। उन्होंने कहा कि नेपाल में भारत के मुकाबले सस्ता पेट्रोल-डीजल मिल रहा है। इसकी जिम्मेदार मोदी सरकार है। उन्होंने कहा कि भाजपा का जनविरोधी और देश विरोधी चेहरा सामने आ गया है।

उन्होंने कहा कि देश के लोगों ने पीएम मोदी को अच्छे दिन के वायदे पर चुना था, अब पीएम मोदी लोगों का विश्वास तोड़ चुके हैं। मोदी सरकार के जनविरोधी रवैये के खिलाफ युवा कांग्रेस देशभर में आंदोलन कर रही है और आमजन की आवाज उठा रही है। युवा कांग्रेस के कार्यकर्ता राज्य के प्रत्येक जिला और विधानसभा स्तर पर भाजपा के खिलाफ संघर्ष कर रहे हैं। प्रदेशाध्यक्ष कोको पाढ़ी ने पेट्रोलियम मंत्री से इस्तीफे की मांग की और केंद्र सरकार से यह भी मांग की कि पेट्रोल-डीजल और गैस के दाम तत्काल प्रभाव से कम करें। युवा कांग्रेस के पदाधिकारियों ने गुस्से के साथ केंद्र सरकार के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया। देशभर की अर्थव्यवस्था पेट्रोलियम पदार्थों में हुए मूल्य वृद्धि के कारण जनता की कमर टूट सी गई है, जबकी कच्चे तेल के दामों की कीमत बहुत ही ज्यादा कम है। आज देश में सारे टैक्स लगाकर भी 60 रुपए लीटर पेट्रोल बेचा जाए तो भी रोज अरबों का फायदा सरकार को होगा, लेकिन सरकार ने अंबानी के रिलायंस पेट्रोल पंप को फायदा पहुंचाने इस तरह का हथकंडा अपना रही है। भारत की अर्थव्यवस्था में पेट्रोलियम पदार्थों में वृद्धि के कारण चरमरा गई है। तत्काल मोदी सरकार को इस ओर ध्यान देकर बढ़ी हुई पेट्रोल डीजल की कीमतों को कम किया जाना चाहिए।

रैली में योगेश लाल, विशाल शर्मा, विक्रांत शर्मा, पीयूष पांडेय, गुरुगोपाल गोस्वामी, गौतम वाधवानी ,संघजोत सिंह, कुणाल गायकवाड़, साहिल अहमद, राजू साहू, तनवीर कुरैशी, तोषण साहू, माहिम शुक्ला, राकेश मौर्या, भागी निषाद, राहुल बख्तानी, तनवीर कुरैशी, कुलेश्वर देवांगन, पुष्पेंद्र साहू, टोगेेश साहू, टोमेश साहू, शुभम साहू, सर्वेश बाफना, ऋषभ ठाकुर, पंकज साहू, श्रीकांत तिवारी, तरुण रॉय, मुकेश अग्रवाल, सुनील बंदे, बंटी सोनी, पराष्मणि साहू, इंदल यादव, नमन बंजारे, विजेंद्र रामटेके, चुनेकेश्वर प्रसाद नागेंद्र, तेजप्रताप नागेंद्र, गोकुल साहू, अनिल कुर्रे, गेंदलाल साहू, अजय सिन्हा, उमेश साहू, शुभम साहू, शानू यादव, धनेंद्र मरकाम, छमेंद्र यादव, नीलू साहू, वैभव साहू, टिकेंद्र सिन्हा, पंकज साहू, दीपक विश्वकर्मा, टोमेश सिन्हा, मुकेश अग्रवाल, चूड़ामणि पटेल, कुणाल साहू, राहुल साहू, भुनेश्वर पटेल, गेवेंद्र साहू, धनेंद्र साहू, मनीष सिन्हा, किरण साहू, प्रवीण साहू, सुरेंद मरकाम, गिरधर नेताम, धनराज साहू, पुष्पेंद्र साहू, डेकेश्वर साहू, सितेंद्र साहू, नीलकंठ साहू, साकेत सिन्हा सहित भारी संख्या में युकांई मौजूद रहे।

18-02-2021
पेट्रोल-डीजल और रसोई गैस के बढ़ते दामों के खिलाफ शिवसेना ने पेट्रोलियम मंत्री का पुतला फूंका

 

अंतागढ़/रायपुर। पेट्रोल-डीजल और रसोई गैस के बढ़ते दामों के खिलाफ शिवसेना ने पेट्रोलियम मंत्री का पुतला फूंक आक्रोश व्यक्त किया। शिवसेना ने कहा कि पूरे देश की जनता त्राहि-त्राहि कर रही है खासकर महिलाएं जिनको रसोई घर संभालना पड़ता है। वह महंगाई और रसोई गैस के बढ़ते दामों से त्रस्त है। शिवसेना अंतागढ़ इकाई ने बाजार चौक अंतागढ में प्रदर्शन कर पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान का पुतला दहन कर सरकार से तत्काल पेट्रोल-डीजल और रसोई गैस की मूल्य वृद्धि वापस लेने की मांग की है। प्रदर्शन में प्रमुख रूप से चंद्रमौली मिश्रा, कुलवत कौमार्य, रामनारायण उसेंडी, अनीश नरेटी, राजकुमार कोमरा, राजेंद्र यादव, रमेश गोटा, रामनाथ उईके, मनोज नेताम,विनोद नरेटी, बृजकिशोर यादव और अन्य शिवसेना कार्यकर्ता उपस्थित थे।

 

18-02-2021
एनएसयूआई ने पेट्रोल, डीजल और रसोई गैस के बढ़ते दामों के लिए केंद्र सरकार के खिलाफ किया प्रदर्शन

रायपुर। राजधानी में एनएसयूआई ने पेट्रोल डीजल और रसोई गैस के बढ़ते दामों को लेकर एक दिवसीय प्रदर्शन किया। एनएसयूआई ने शास्त्री चौक पेट्रोल पंप में प्रदर्शन किया। एनएसयूआई ने मांग की है कि आज पूरे देश में पेट्रोल की दरें 100 रूपए हो गई है उसको देखते हुए आज आम इंसान इस मंदी के मार में बहुत ही ज्यादा परेशान हैं। आज एक मध्यमवर्गीय परिवार पेट्रोल की और डीजल की कीमतें बढ़ने से उनके घर खर्चों में बहुत ज्यादा फर्क आ रहा है। इस प्रदर्शन में शहर कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष गिरीश दुबे एनएसयूआई के पदाधिकारियों का साथ देने पहुंचे थे और पूरे प्रदर्शन में सभी कार्यकर्ताओं ने मोदी सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। मीडिया के माध्यम से केंद्र में बैठी मोदी सरकार को पेट्रोल, डीजल के दाम को कम करने का आग्रह किया। एनएसयूआई के प्रदेश सचिव हेमंत पाल ने आरोप लगाते हुए कहा कि पिछले कुछ समय से पेट्रोल डीजल एवं रसोई गैस के दाम लगातार बढ़ रहे हैं। इससे लोगों के घर खर्च में और जो बाहर छात्र पढ़ रहे हैं उनको कॉलेज और स्कूल आने जाने में बहुत परेशानियां हो रही है। इस लेकर हमने छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में अपने सैकड़ों कार्यकर्ताओं के साथ एक दिवसीय धरना प्रदर्शन किया। पाल ने कहा कि जो मोदी सरकार सत्ता में आने से पहले पेट्रोल-डीजल को आधा करने की बात करती थी, आज उसी सरकार में पेट्रोल डीजल की कीमतों ने इतिहास रच दिया है। पहली बार पेट्रोल और डीजल 100 रूपए पहुंच चुका है। इसका हम पुरजोर विरोध करते हैं। यदि आने वाले समय में इसी प्रकार दाम बढ़ते रहे तो आम जीवन अस्त-व्यस्त हो जाएगा और लोगों को इस महंगाई की मार से जूझना मुश्किल हो जाएगा।

 

16-02-2021
Video: पेट्रोल,डीजल और रसोई गैस की मूल्यवृद्धि के विरोध में शिवसैनिकों ने किया पुतला दहन

जांजगीर चाम्पा। पेट्रोल, डीजल व रसोई गैस की मूल्य वृद्धि के विरोध में शिवसैनिकों ने मंगलवार को कचहरी चौक जांजगीर में पुतला दहन किया। शिवसेना जिला कार्यालय जांजगीर से शवयात्रा निकाली गई,जो बीटीआई चौक होते हुए पुराना हास्पिटल, कचहरी चौक पर समाप्त हुई। यहां शिवसैनिकों ने पुतला दहन किया। पेट्रोल,डीजल व रसोई गैस की मूल्य वृद्धि को वापस लेने प्रधानमंत्री व राष्ट्रपति के नाम कलेक्टर को ज्ञापन सौंपा।

 

01-07-2020
6 साल के मोदी राज में जनता ने देख लिया भाजपा की कथनी और करनी का फर्क : राजेंद्र साहू

दुर्ग। प्रदेश कांग्रेस कमेटी के महामंत्री राजेंद्र साहू ने केंद्र में सत्तारूढ़ मोदी सरकार के फैसलों और नीतियों पर कड़ा प्रहार किया है। राजेंद्र ने कहा कि करोड़ों जनधन खाताधारकों के खाते में 5 सौ रुपए जमा करने वाली केंद्र सरकार महंगाई बढ़ाकर उनकी जेब से 5 हजार रुपए निकाल रही है। किसानों को 2 हजार रुपए की प्रोत्साहन राशि की किस्त देकर मोदी सरकार उनसे 20 हजार रुपए वसूल रही है। आम जनता से 6 साल से फरेब करेन वाली मोदी सरकार अब महंगाई बढ़ाने का नया फरेब शुरू कर दिया है।राजेंद्र ने कहा कि डीजल-पेट्रोल-रसोई गैस के रेट बेतहाशा बढ़ने और आसमान छूती महंगाई के कारण किसानों, जनधन खाताधारकों सहित आम जनता पर कई गुना आर्थिक बोझ बढ़ा है। लोगों की जेब खाली हो रही है। मोदी सरकार आम जनता, बेरोजगारों, किसानों, मजदूरों और लघु उद्यमियों से जुमलेबाजी कर रही है। वादे पूरे करने में नाकाम रहने के बाद अब रोज महंगाई बढ़ाकर आम जनता का ध्यान इन जुमलों से हटाया जा रहा है।          
राजेंद्र ने कहा कि दो करोड़ लोगों को प्रतिवर्ष रोजगार, किसानों की आय दोगुना करने, पेट्रोल-डीजल-रसोई गैस के दाम कम करने और महंगाई कम करने का वादा कर भाजपा ने सत्ता हासिल की।

ये सभी वादे आज तक पूरे नहीं हुए। वादे पूरा करने में विफल रही मोदी सरकार की कथनी और करनी का फर्क जनता के सामने उजागर हो गया है।राजेंद्र ने कहा कि कोरोना संकट काल में लाखों मजदूरों को मजबूर होकर अपने गांव पैदल जाना पड़ा। किसानों की फसल को अतिवृष्टि, ओला वृष्टि से भारी नुकसान हुआ। लोग बेरोजगार हो गए। सरकार ने 20 लाख करोड़ के पैकेज की घोषणा की जो धरातल से परे है। शायद पैकेज की बड़ी रकम भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ चुकी है। इन मुद्दों से आम जनता का ध्यान हटाने केंद्र सरकार रोज पेट्रोल-डीजल की कीमतें बढ़ा रही है। लगातार महंगाई बढ़ाकर मोदी सरकार मजदूर, किसान सहित आम जनता की जेब को दीमक की तरह खोखला कर रही है।

 

01-06-2020
रसोई गैस सिलेंडर के दामों में वृद्धि से जनता पर पड़ी दोहरी मार : प्रकाशपुंज पांडेय

समाजसेवी और राजनीतिक विश्लेषक प्रकाशपुन्ज पाण्डेय ने देश में रसोई गैस सिलेंडर के दामों में बढ़ोतरी पर रोष प्रकट करते हुए कहा है कि जब पिछले 2 महीने से जनता अपने घरों में बंद हैं, उनके पास आय के साधनों की कमी है, बहुतों की तो आय बंद है, तब ऐसी परिस्थिति में सरकार को महंगाई कम करते हुए कम से कम रोज़मर्रा की ज़रूरतों की चीजों के दामों में कटौती करनी चाहिए। लेकिन इसके विपरीत हर घर की जरूरत रसोई गैस सिलेंडर के दामों में अनलॉक पार्ट १ के पहले दिन ही बढ़ोतरी करना पूरी तरह से जनता के ऊपर दोहरी मार जैसा है।

लॉकडाउन के पहले भी महंगाई दर बढ़ी हुई थी। भारतीय अर्थव्यवस्था की विकास दर (जीडीपी), गिरी हुई थी। आरबीआई के गवर्नर ने भी कहा है कि हमारी विकास दर नेगेटिव में आ गई है। ऐसे में महंगाई बढ़ाकर सरकार को क्या हासिल होगा? इससे सरकार की छवि बद से बदतर बनती जाएगी। 

केंद्र और राज्य सरकारों को मिलकर ऐसे विपत्ति के समय राजनीति को दूर रखते हुए देश और देश की जनता के हित में अच्छे और सकारात्मक कदम उठाने की जरूरत है ना कि अहंकार वश राजनीति से प्रेरित होकर एक दूसरे को नीचा दिखाने का काम करना चाहिए, क्योंकि इसका सीधे-सीधे प्रभाव देश पर और देश की जनता पर पड़ता है। 

अगर यही हाल रहा तो जनता सड़क पर उतरने को मजबूर हो जाएगी, आंदोलित हो जाएगी, रोष प्रकट करेगी और देश के हालात बिगड़ जाएंगे। चुनाव के समय तो अपने मताधिकार का प्रयोग करके जनता इन सरकारों को बखूबी जवाब देगी। लेकिन आज भी समय है, देश में जो नफ़रत का बीज बोया जा रहा है उससे ऊपर उठकर देश-हित में अगर सार्थक प्रयास और सकारात्मक कदम सभी राजनीतिक दल, सत्तारूढ़ दल और विपक्ष उठाता है तो यकीनन देश का और जनता का भला होगा इसमें कोई दो राय नहीं है। वरना समय आने पर जनता को सिंहासन के हिलाना बख़ूबी आता है।

02-04-2020
प्रदेश में 66 रुपए सस्ती हुई रसोई गैस

रायपुर। ऑयल मार्केटिंग कंपनियों ने उपभोक्ताओं को एक बड़ी राहत दी है। बिना सब्सिडी वाले गैस सिलेंडर 'घरेलू गैस सिलेंडर' की कीमतों में 66 रुपए कम कर दिया है। राजधानी रायपुर में 14.2 किलो ग्राम वाले बिना सब्सिडी वाले एलपीजी गैस सिलेंडर की कीमत 881 रुपये से घटाकर 815 रुपए हो गई है। इसी प्रकार व्यावसायिक गैस सिलेंडर 1426 रुपये में मिलेगा। वैसे भारत के चारों महानगरों की तुलना में रायपुर में गैस सिलेंडर महंगा  है। बता दें कि दिल्ली में 14.2 किलो ग्राम वाले गैर-सब्सिडी वाले रसोई गैस सिलेंडर की कीमत घटकर 744 रुपए, कोलकाता में 744.50 रुपए, मुंबई में 714.50 रुपए और चेन्नई में 761.50 रुपए है।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804