GLIBS
01-07-2020
6 साल के मोदी राज में जनता ने देख लिया भाजपा की कथनी और करनी का फर्क : राजेंद्र साहू

दुर्ग। प्रदेश कांग्रेस कमेटी के महामंत्री राजेंद्र साहू ने केंद्र में सत्तारूढ़ मोदी सरकार के फैसलों और नीतियों पर कड़ा प्रहार किया है। राजेंद्र ने कहा कि करोड़ों जनधन खाताधारकों के खाते में 5 सौ रुपए जमा करने वाली केंद्र सरकार महंगाई बढ़ाकर उनकी जेब से 5 हजार रुपए निकाल रही है। किसानों को 2 हजार रुपए की प्रोत्साहन राशि की किस्त देकर मोदी सरकार उनसे 20 हजार रुपए वसूल रही है। आम जनता से 6 साल से फरेब करेन वाली मोदी सरकार अब महंगाई बढ़ाने का नया फरेब शुरू कर दिया है।राजेंद्र ने कहा कि डीजल-पेट्रोल-रसोई गैस के रेट बेतहाशा बढ़ने और आसमान छूती महंगाई के कारण किसानों, जनधन खाताधारकों सहित आम जनता पर कई गुना आर्थिक बोझ बढ़ा है। लोगों की जेब खाली हो रही है। मोदी सरकार आम जनता, बेरोजगारों, किसानों, मजदूरों और लघु उद्यमियों से जुमलेबाजी कर रही है। वादे पूरे करने में नाकाम रहने के बाद अब रोज महंगाई बढ़ाकर आम जनता का ध्यान इन जुमलों से हटाया जा रहा है।          
राजेंद्र ने कहा कि दो करोड़ लोगों को प्रतिवर्ष रोजगार, किसानों की आय दोगुना करने, पेट्रोल-डीजल-रसोई गैस के दाम कम करने और महंगाई कम करने का वादा कर भाजपा ने सत्ता हासिल की।

ये सभी वादे आज तक पूरे नहीं हुए। वादे पूरा करने में विफल रही मोदी सरकार की कथनी और करनी का फर्क जनता के सामने उजागर हो गया है।राजेंद्र ने कहा कि कोरोना संकट काल में लाखों मजदूरों को मजबूर होकर अपने गांव पैदल जाना पड़ा। किसानों की फसल को अतिवृष्टि, ओला वृष्टि से भारी नुकसान हुआ। लोग बेरोजगार हो गए। सरकार ने 20 लाख करोड़ के पैकेज की घोषणा की जो धरातल से परे है। शायद पैकेज की बड़ी रकम भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ चुकी है। इन मुद्दों से आम जनता का ध्यान हटाने केंद्र सरकार रोज पेट्रोल-डीजल की कीमतें बढ़ा रही है। लगातार महंगाई बढ़ाकर मोदी सरकार मजदूर, किसान सहित आम जनता की जेब को दीमक की तरह खोखला कर रही है।

 

01-06-2020
रसोई गैस सिलेंडर के दामों में वृद्धि से जनता पर पड़ी दोहरी मार : प्रकाशपुंज पांडेय

समाजसेवी और राजनीतिक विश्लेषक प्रकाशपुन्ज पाण्डेय ने देश में रसोई गैस सिलेंडर के दामों में बढ़ोतरी पर रोष प्रकट करते हुए कहा है कि जब पिछले 2 महीने से जनता अपने घरों में बंद हैं, उनके पास आय के साधनों की कमी है, बहुतों की तो आय बंद है, तब ऐसी परिस्थिति में सरकार को महंगाई कम करते हुए कम से कम रोज़मर्रा की ज़रूरतों की चीजों के दामों में कटौती करनी चाहिए। लेकिन इसके विपरीत हर घर की जरूरत रसोई गैस सिलेंडर के दामों में अनलॉक पार्ट १ के पहले दिन ही बढ़ोतरी करना पूरी तरह से जनता के ऊपर दोहरी मार जैसा है।

लॉकडाउन के पहले भी महंगाई दर बढ़ी हुई थी। भारतीय अर्थव्यवस्था की विकास दर (जीडीपी), गिरी हुई थी। आरबीआई के गवर्नर ने भी कहा है कि हमारी विकास दर नेगेटिव में आ गई है। ऐसे में महंगाई बढ़ाकर सरकार को क्या हासिल होगा? इससे सरकार की छवि बद से बदतर बनती जाएगी। 

केंद्र और राज्य सरकारों को मिलकर ऐसे विपत्ति के समय राजनीति को दूर रखते हुए देश और देश की जनता के हित में अच्छे और सकारात्मक कदम उठाने की जरूरत है ना कि अहंकार वश राजनीति से प्रेरित होकर एक दूसरे को नीचा दिखाने का काम करना चाहिए, क्योंकि इसका सीधे-सीधे प्रभाव देश पर और देश की जनता पर पड़ता है। 

अगर यही हाल रहा तो जनता सड़क पर उतरने को मजबूर हो जाएगी, आंदोलित हो जाएगी, रोष प्रकट करेगी और देश के हालात बिगड़ जाएंगे। चुनाव के समय तो अपने मताधिकार का प्रयोग करके जनता इन सरकारों को बखूबी जवाब देगी। लेकिन आज भी समय है, देश में जो नफ़रत का बीज बोया जा रहा है उससे ऊपर उठकर देश-हित में अगर सार्थक प्रयास और सकारात्मक कदम सभी राजनीतिक दल, सत्तारूढ़ दल और विपक्ष उठाता है तो यकीनन देश का और जनता का भला होगा इसमें कोई दो राय नहीं है। वरना समय आने पर जनता को सिंहासन के हिलाना बख़ूबी आता है।

02-04-2020
प्रदेश में 66 रुपए सस्ती हुई रसोई गैस

रायपुर। ऑयल मार्केटिंग कंपनियों ने उपभोक्ताओं को एक बड़ी राहत दी है। बिना सब्सिडी वाले गैस सिलेंडर 'घरेलू गैस सिलेंडर' की कीमतों में 66 रुपए कम कर दिया है। राजधानी रायपुर में 14.2 किलो ग्राम वाले बिना सब्सिडी वाले एलपीजी गैस सिलेंडर की कीमत 881 रुपये से घटाकर 815 रुपए हो गई है। इसी प्रकार व्यावसायिक गैस सिलेंडर 1426 रुपये में मिलेगा। वैसे भारत के चारों महानगरों की तुलना में रायपुर में गैस सिलेंडर महंगा  है। बता दें कि दिल्ली में 14.2 किलो ग्राम वाले गैर-सब्सिडी वाले रसोई गैस सिलेंडर की कीमत घटकर 744 रुपए, कोलकाता में 744.50 रुपए, मुंबई में 714.50 रुपए और चेन्नई में 761.50 रुपए है।

01-04-2020
लगातार दूसरे महीने सस्ती हुई रसोई गैस

नई दिल्ली। अंतरराष्ट्रीय बाजार में पेट्रोलियम उत्पादों की कीमतों में जारी गिरावट के बीच देश में रसोई गैस लगातार दूसरे महीने सस्ती हुई है। देश की सबसे बड़ी तेल विपणन कंपनी इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन के अनुसार राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में 14.2 किलोग्राम के बिना सब्सिडी वाले रसोई गैस सिलेंडर की कीमत एक अप्रैल से 61.50 रुपये घटाकर 744 रुपए कर दी गई है। मार्च में इसकी कीमत 805.50 रुपए थी। सब्सिडी वाले घरेलू रसोई गैस सिलेंडर के दाम में इसके अनुरूप कर का हिस्सा कम हो जाएगा। कोलकाता में सब्सिडी वाले सिलेंडर की कीमत 65 रुपये घटकर 744.50 रुपए, मुंबई में 62 रुपए घटकर 714.50 रुपए और चेन्नई में 64.50 रुपए घटकर 761.50 रुपए रह गई है।

01-03-2020
होली से पहले आम जनता को मिला तोहफा, सस्ता हुआ घरेलू उपयोगी सिलेंडर

नई दिल्ली। होली से पहले रसोई गैस उपभोक्ताओं को तोहफा देते हुए सरकार ने घरेलू गैस सिलेंडर के दाम में कमी की है। आज यानी एक मार्च से गैर सब्सिडी वाला रसोई गैस सिलेंडर (14.2 किलोग्राम) 52.50 रुपए सस्ता हो गया है। अभी तक 893.50 रुपए में मिलने वाला घरेलू सिलेंडर मार्च माह में 841 रुपए की मिलेगा। बता दें कि हर माह की पहली तारीख को देश में रसोई गैस सिलेंडर की कीमत में बदलाव होता है। हालांकि फरवरी माह में 12 तारीख को इसमें बदवाल किया गया था। इंडियन ऑयल की वेबसाइट के अनुसार, फरवरी में दिल्ली में 14.2 किलो वाला सिलिंडर 144.50 रुपये महंगा हुआ था। इसका दाम 858.50 रुपये है। वहीं कोलकाता में यह 149 रुपये महंगा हुआ था। वहां गैस सिलेंडर 896.00 रुपये का है। मुंबई में इसका दाम 829.50 रुपये है और वहीं चेन्नई में यह 881 रुपये का है।

सरकार देती है गैस सिलिंडर पर सब्सिडी

मौजूदा समय में सरकार एक वर्ष में प्रत्येक घर के लिए 14.2 किलोग्राम के 12 सिलिंडरों पर सब्सिडी प्रदान करती है। अगर ग्राहक इससे ज्यादा सिलिंडर लेना चाहते है, तो वे उन्हें बाजार मूल्य पर खरीदते हैं। गैस सिलिंडर की कीमत हर महीने बदलती है। इसकी कीमत औसत अंतरराष्ट्रीय बेंचमार्क और विदेशी विनिमय दरों में बदलाव जैसे कारक निर्धारित करते हैं।

20-02-2020
रसोई गैस के बढ़े दाम के विरोध में चूल्हा सिगड़ी लेकर सड़क पर बैठे कांग्रेसी, बड़े आंदोलन की चेतावनी

रायपुर। रसोई गैस के बढ़े दाम के विरोध में गुरुवार दोपहर फायर ब्रिगेड चौक पर राजीव गांधी की प्रतिमा के सामने कांग्रेस ने अनोखा प्रदर्शन किया। सांकेतिक रूप से चूल्हे और सिगड़ी में खाना पकाकर केन्द्र की मोदी सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। कांग्रेसियों ने एलपीजी गैस के दाम में हुई बढ़ोत्तरी को कम करने की मांग की। दाम कम नहीं होने पर कांग्रेस ने बड़े आंदोलन की चेतावनी दी है। प्रदर्शन का नेतृत्व कर रहे अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के सदस्य पंकज मिश्रा ने कहा कि गैस सिलेंडर के मूल्यों में हुई वृद्धि और जनता को हो रही तकलीफ पर सांकेतिक प्रदर्शन किया गया। मोदी सरकार तक यह बात पहुंचाना चाहते हैं कि पहले से बेरोजगारी महंगाई तो थी ही, अब केंद्र सरकार ने गैस सिलेंडर के दाम में 150 रुपए वृद्धि कर जनता को परेशान किया है। मिश्रा ने आगे कहा कि लोगों से अपील है कि गैस सिलेंडर का उपयोग करना छोड़ पूर्व की तरह सिगड़ी और चूहे का उपयोग करें। क्योंकि नरेन्द्र मोदी सरकार एलपीजी के दाम नियंत्रित नहीं कर पा रही है। ऐसे में आम आदमी पर अतिरिक्त बोझ पड़ रहा है। मिश्रा ने उज्ज्वला योजना पर भी हमला किया। उन्होंने कहा कि एक ओर प्रधानमंत्री उज्जवला योजना से गरीब महिलाओं को गैस सिलेंडर देने की बात करते हैं, लेकिन इस तरह से दामों में वृद्धि होगी तो गरीब परिवार के लोग कैसे गैस सिलेंडर का उपयोग कर पाएंगे। केन्द्र सरकार से मांग है कि गैस के दाम जल्द से जल्द कम करे, नहीं तो आगे बड़ा आंदोलन होगा।

 

13-02-2020
रसोई गैस की कीमत में बढ़ोतरी के खिलाफ महिला कांग्रेस ने किया प्रदर्शन, मोदी सरकार से किए सवाल

रायपुर। रसोई गैस की कीमत में बढ़ोतरी के खिलाफ महिला कांग्रेस ने जोरदार प्रदर्शन किया।उनके निशाने पर रहे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी। मोदी सरकार के खिलाफ प्रदर्शन करते हुए महिला कांग्रेस की कार्यकर्ताओं ने जमकर नारेबाजी की। महिलाओं का कहना है कि दिनों दिन केंद्र सरकार रसोई गैस के दाम बढ़ा रही है। सरकार का अब मूल्य वृद्धि पर नियंत्रण नहीं रहा। ऐसे में जनता परेशान होती जा रही है। इस दौरान महिलाओं ने मोदी सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। उन्होंने कहा सरकार ने जनता का बजट खराब कर दिया है। महिला कांग्रेस की उपाध्यक्ष उषा रंजन श्रीवास्तव ने कहा पहले 300 रुपये में गैस सिलेंडर मिलता था,जो आज 936 रुपए हो गया है। उन्होंने कहा एक हिसाब से प्रदूषण को रोकने के लिए चूल्हा को बंद कराया गया और गैस योजना को मोदी ने उज्जवला योजना कहा। उन्होंने सवाल किया कि कहां गया 250 रुपये वाला उज्जवला गैस सिलेंडर? उज्जवला योजना तो फ्लॉप हो गई है। पूरे देश में सिलेंडर का दाम बढ़ते जा रहा है और इसका सीधा असर गृहणी पर पड़ता है। क्योंकि गृहणी अपना एक बजट बनाकर चलती है और उस बजट में हमें 1000 रुपए अगर सिलेंडर के लिए देने होंगे तो हमारा पूरा बजट बिगड़ ही जाएगा। उन्होंने नरेंद्र मोदी से सवाल किया कि कहां गई महिलाओं की सुविधाएं? नरेंद्र मोदी आज सो रहे हैं क्या? उन्होंने चेतावनी दी कि यदि सिलेंडर के दाम काम नहीं हुए तो धरने के स्वरूप बढ़ जाएगा और शहर शहर प्रदर्शन किया जाएगा।

 

13-02-2020
गैस सिलेंडर के बढ़े दाम के विरोध में महिला कांग्रेस का प्रदर्शन आज

रायपुर। रसोई गैस के बढ़े दाम के विरोध में महिला कांग्रेस गुरुवार को सुबह 12 बजे पुराना कांग्रेस भवन गांधी मैदान में प्रदर्शन करेगी। आशा चौहान, अध्यक्ष शहर जिला महिला कांग्रेस ने कहा कि प्रदेश महिला कांग्रेस अध्यक्ष फूलोदेवी नेताम के निर्देशानुसार शहर जिला महिला कांग्रेस केंद्र की मोदी सरकार के खिलाफ विरोध प्रदर्शन करेगी। इस दौरान महिला कांग्रेस रायपुर के प्रदेश पदाधिकारी, शहर ब्लाक व वार्ड के पदाधिकारी उपस्थित रहेंगे। उन्होंने कहा कि रसोई गैस के दाम बढ़ाकर केंद्र सरकार ने एक और कहर महिलाओं पर ढाया है। रसोई गैस हर गृहिणी के लिए महत्वपूर्ण है लेकिन दर प्रतिवर्ष बढ़ा दी जाती है। इस वर्ष भी बिना सब्सिडी वाले गैस के दाम प्रति सिलेंडर पर 150 रुपए की वृद्धि की गई है। आम जनता के बजट पर यह हमला गृहस्थी की नींव पर तकलीफों का प्रहार है। यदि सही समय पर विरोध ना किया गया तो यह महंगाई हर परिवार पर बहुत भारी पड़ेगी।

01-12-2019
एलपीजी के दामों में लगातार चौथे महीने वृद्धि, इतनी बढ़ी कीमत...

नई दिल्ली। रसोई गैस के दामों में लगातार चौथे महीने बढ़ोत्तरी की गई है। घरेलू रसोई गैस सिलेंडर के दाम 13.50 रुपए प्रति सिलेंडर बढ़ गए हैं। 1 दिसंबर 2019 से बढ़ी हुई कीमतें लागू हो गई हैं। राजधानी दिल्ली में नॉन सब्सिडी वाले घरेलू रसोई गैस सिलेंडर की कीमतों में 13.50 रुपए की बढ़ोतरी की गई है। इस बढ़ोतरी के बाद यहां सिलेंडर की कीमत 695.00 रुपए हो गई है। इससे पहले नवंबर में यह 681.50 रुपए में मिल रहा था। कोलकाता में रसोई गैस सिलेंडर 19.50 रुपए की बढ़ोतरी के बाद 725.50 रुपए का हो गया है। मुंबई में सिलेंडर 14 रुपए महंगा हुआ है और इसकी नई कीमत 665 रुपए हो गई है। चेन्नई में यह 18 रुपए बढ़कर 714 रुपए का हो गया है।

गैस वितरण कंपनियों ने कॉमर्शियल में इस्तेमाल होने वाले 19 किलोग्राम सिलेंडर की कीमत में भी इजाफा किया है। राजधानी दिल्ली में 19 किलो वाले गैस सिलेंडर की कीमत में 7 रुपए 50 पैसे की बढ़ोतरी हुई है और यह बढ़कर 1211.50 रुपए का हो गया है। कोलकाता में 19 किलोग्राम सिलेंडर की कीमत 17.50 रुपए बढ़कर 1275.50 रुपए हो गई है। मुंबई में 19 किलो वाला सिलेंडर 9 रुपए महंगा हुआ है और इसकी नई कीमत 1160.50 रुपए हो गई है। चेन्नई में 19 किलो वाला सिलेंडर 14 रुपए महंगा हुआ है और अब यहां नई कीमत 1333 रुपए हो गई है। गौरतलब है कि गैस वितरण कंपनियों प्रत्येक माह की 1 तारीख को कीमतों की समीक्षा करती हैं, इसके बाद ही इनमें बदलाव किया जाता है। नवंबर में भी देश के प्रमुख महानगरों में बिना-सब्सिडी वाला गैस सिलिंडर करीब 76.5 रुपए महंगा हुआ था।

28-11-2019
गोरखपुर के कांग्रेसियों ने प्याज-लहसुन को दी इस तरह श्रद्धांजलि  

गोरखपुर। सब्जियों के बढ़े हुए दामों ने जनता को बेहाल कर रखा है। सब्जियों में जायका लाने वाले प्याज के रेट एक बार फिर से आसमान छू रहे हैं। गोरखपुर में प्याज की कीमत 100 रुपये के ऊपर पहुंच चुकी है। गुरुवार को जिला कांग्रेस कमेटी के पूर्व महासचिव अनवर हुसैन के नेतृत्व में कांग्रेस कार्यकर्ताओंं ने प्याज और लहसुन को श्रद्धांजलि दी। कांग्रेस नेता अनवर हुसैन ने कहा है कि पेट्रोल-डीजल, रसोई गैस के बाद अब प्याज और लहसुन के दाम आसमान छू रहे हैं। उन्होंने दावा करते हुए कहा कि गोरखपुर में प्याज 120 रुपये प्रति किलो और लहसुन 250 रुपये प्रति किलो बिक रहा है। अनवर हुसैन कहते हैं कि महिलाओं को किचन के बिगड़े बजट का सामना करना पड़ रहा है।

कांग्रेस कमेटी के पूर्व महासचिव ने कहा कि प्याज खरीदते वक्त लोगों के आखों में आसूं आ जाते हैं, पर आज दाम सुनकर ही लोगों के होश फाख्ता हो जा रहा है। मिडिल क्लास के लोग प्याज खाना तो छोड़ अब उसे दुकानों पर देखकर ही संतुष्ट हो जा रहे हैं। आम आदमी की हालत तो और भी खराब है, दुकान पर जाकर सिर्फ  दाम पूछ कर ही आगे बढ़ जा रहा है, सलाद से दूर हुई प्याज अब सब्जी से भी बहुत दूर हो गयी है। क्योंकि स्वाद के चक्कर में मिडिल क्लास के लोग अपना बजट बहुत नहीं बिगाड़ सकते। मिडिल क्लास को अपने सीमित बजट में ही खर्चा चलाना होता है।  

01-11-2019
लगातार तीसरे महीने बढ़े रसोई गैस के दाम, जाने अब कितने में मिलेगा सिलेंडर

नई दिल्ली। एक नवंबर से रसोई गैस सिलेंडर की कीमत में बढ़ोतरी हो गई है। लगातार तीसरे महीने रसोई गैस के दाम में इजाफा हुआ है, जिससे आम आदमी की जेब पर भारी असर पड़ेगा। देश के प्रमुख महानगरों में बिना-सब्सिडी वाला गैस सिलिंडर करीब 76.5 रुपये महंगा हुआ है।

गैस सिलेंडर के लिए चुकाने होंगे इतने पैसे

शुक्रवार से दिल्ली में 14.2 किलो के बिना सब्सिडी वाले सिलेंडर के लिए आपको 681.50 रुपये चुकाने पड़ेंगे। कोलकाता में इसका दाम 706 रुपये है। वहीं मुंबई और चेन्नई में 14.2 किलो के बिना सब्सिडी वाले सिलेंडर का दाम क्रमश: 651 और 696 रुपये है। वहीं, 19 किलोग्राम सिलेंडर की कीमत दिल्ली में 1204 रुपये हो गई है। कोलकाता में 1258 रुपये, मुंबई में 1151.50 रुपये और चेन्नई में इसका दाम 1319 रुपये हो गया है।

अक्टूबर में भी बढ़े थे गैस सिलेंडर के दाम

पिछले माह अक्टूबर में भी रसोई गैस सिलेंडर की कीमत में बढ़ोतरी हुई थी। तब देश के प्रमुख महानगरों में बिना-सब्सिडी वाला गैस सिलेंडर करीब 15 रुपये महंगा हुआ था।

पिछले माह इतना था दाम

अक्टूबर से दिल्ली में 14.2 किलो के बिना सब्सिडी वाले सिलेंडर के लिए आपको 605 रुपये चुकाने पड़ते थे। कोलकाता में इसका दाम 630 रुपये था। वहीं मुंबई और चेन्नई में 14.2 किलो के बिना सब्सिडी वाले सिलेंडर का दाम क्रमश: 574.50 और 620 रुपये था। 19 किलोग्राम सिलेंडर की कीमत दिल्ली में 1085 रुपये थी। कोलकाता में 1139.50 रुपये, मुंबई में 1032.50 रुपये और चेन्नई में इसका दाम 1199 रुपये था।

सितंबर में भी बढ़े थे गैस सिलेंडर के दाम

सितंबर में दिल्ली में 14.2 किलो का बिना सब्सिडी वाला सिलेंडर 590 रुपये का था। कोलकाता में इसका दाम 616.50 रुपये था। वहीं मुंबई और चेन्नई में 14.2 किलो के बिना सब्सिडी वाले सिलेंडर का दाम क्रमश: 562 और 606.50 रुपये था। वहीं, 19 किलोग्राम सिलेंडर की कीमत दिल्ली में 1054.50 रुपये थी। कोलकाता में पिछले महीने यह 1114.50 रुपये, मुंबई में 1008.50 रुपये और चेन्नई में 1174.50 रुपये था। 

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804