GLIBS
29-04-2020
सांप के काटने से युवक की मौत, पोस्टमार्टम के बाद परिजनों को सौंपा गया शव

कांकेर। शहर के श्यामा नगर जनकपुरी वार्ड के विवेक चौरसिया की सांप के काटने से मौत हो गई। मिली जानकारी के अनुसार मोहल्ले में ही किसी के घर में नाग सांप घुसा था जिसे विवेक चौरसिया द्वारा पकड़ा गया। इसके बाद सांप ने युवक को डस लिया। इसके तुरन्त बाद युवक को अस्पताल ले जाया गया जहाँ इलाज के दौरान युवक की मौत हो गई। पोस्टमार्टम कर शव परिजनों को सौंपा गया।

26-04-2020
महिला की सड़ी-गली लाश मिली, पुलिस शिनाख्त में जुटी

रायपुर। शहर के पुरानी बस्ती थाना क्षेत्र में महिला की सड़ी-गली अवस्था में लाश मिली है। महिला की हत्या करने के बाद शव को अज्ञात आरोपी ने एक कपड़े और बोरे में बांधकर नाले के नीचे फेंक दिया गया था। मामला काठाडीह रोड स्थित टाटाबाड़ी के पास का है। पुरानी बस्ती थाना प्रभारी राजेश सिंह के मुताबिक सुबह साढ़े 10 बजे के समीप काठाडीह रोड स्थित टाटा बाड़ी के पास नाले के नीचे एक महिला की लाश बोरे में बंधी मिली है। बोरे की बकायदा सिलकर ऊपर से दरी ढक दिया गया था। लाश करीब 4 से 5 दिन पुरानी लग रही है और पूरी तरह से सड़ चुकी है। सिंह ने बताया कि महिला की शिनाख्त नहीं हो पाई है। उसकी पहचान करने के लिए आप-पास के इलाके में पूछताछ की जा रही है। फिलहाल शव का पंचमाना कर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है।

23-04-2020
पति ने पत्नी की हत्या कर लाश को खेत में दफनाया, लाश को निकाल कर किया जा रहा है पोस्टमार्टम

गरियाबंद। छुरा विकास खन्ड में गुरुवार को एक सनसनीखेज मामला सामने आय़ा है। यहां पति ने अपनी पत्नी की हत्या कर शव को दफना दिया था। पुलिस को घटना की जानकारी मिलने पर आज मजिस्ट्रेट के सामने शव को निकालने की प्रक्रिया जारी है। आरोपी ने ऐसी घटना को क्यों की फिलहाल पुलिस इसकी जॉँच में जुटी है। मामला छुरा थाना क्षेत्र के कोठीगांव का है। कोठी गांव के रतनलाल यादव ने अपनी पत्नी गणेशिया बाई की हत्या कर शव को गढ्ढा खोदकर दबाया दिया। घटना 20-21 अप्रैल की बताई जा रही है। पुलिस को मुखबिर और ग्रामीणों से जैसे ही मामले की जानकारी मिली तो गुरुवार को छुरा मजिस्ट्रेट की मौजूदगी में आरोपी की निशानदेही पर शव को जमीन से बाहर निकाला। इसके बाद शव का पोस्टमार्टम किया जाएगा। जिससे की मौत के राज खुलकर सामने आएंगा। घटना स्थल पर छुरा मजिस्ट्रेट, एसडीओपी संजय ध्रुव, थाना प्रभारी राजेश जगत घटनास्थल पर ही मौजूद है। आरोपी ने घटना को क्यों अंजाम दिया फिलहाल इसका खुलासा नहीं हो पाया है। वही पुलिस ने पीएम रिपोर्ट के बाद ही कुछ कह पाने की बात कही है। अचानक इस तरह की घटना सामने से आने से इलाके में संशय की स्थिति बनी हुई है।

22-04-2020
कोयला खुदाई करते दो युवकों की मौत, पुलिस ने शव को भेजा पोस्टमार्टम के लिए

कोरबा। जिले के हसदेव नदी में कोयला खुदाई के दौरान रेत युक्त कोयला गिरने से दो लोगों की मौके पर ही दबकर मौत हो गई है। जबकि वहां खुदाई करने वाले बाकी लोगों ने दो युवक को बचाने की कोशिश की, तब तक दोनों दम तोड़ चुके थे। जानकारी के अनुसार बस्ती निवासी 22 वर्षीय शिवलाल मांझी और 35 वर्षीय लक्ष्मण श्रीवास सुबह हसदेव नदी में कोयला खुदाई करने निकले थे। खुदाई के समय अचानक रेत युक्त कोयला भरभरा कर गिरने से दोनों नीचे दब गए। कुछ देर बाद लोगों की भीड़ एकत्रित हो गई और घटना की सूचना तत्काल पुलिस को दी गई। इसके बाद  घटना स्थल पहुंच कर पुलिस ने लोगों की मदद से कोयले में दबे दोनों के शव बाहर निकाला। पुलिस ने मर्ग कायम कर शव का पंचनामा कर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। हादसे के बाद परिजनों को रो-रोकर बुरा हाल है. लॉकडाउन की वजह से मजदूरों की कमाई का जरिया बंद हो गया था। मजदूरों के लिए काम फिर से शुरु होने पर दोबारा काम चालू है। यही वजह है कि ये दोनों भी कोयला खुदाई करने के लिए गए थे।

 

21-04-2020
मालगाड़ी के चपेट में आने से दो मजदूरों की मौत, दो बाल-बाल बचे, रेलवे ट्रैक के सहारे जा रहे थे घर 

कोरिया। लॉक डाउन के दौरान पेन्ड्रा, गोरखपुर में फंसे मजदूर रेलवे ट्रैक के सहारे अपने घर सूरजपुर जा रहे थे। इसी दौरान मंगलवार की सुबह उदलकछार रेलवे स्टेशन के समीप मालगाड़ी की चपेट में आ गए। इस दुर्घटना में दो मजदूरों की मौत हो गई तथा दो अन्य बाल-बाल बच गए। बताया जा रहा है कि उदलकछार व दर्रीटोला के बीच हसदेव जंगल के समीप पोल क्रमांक 941/17-18 के पास यह घटना हुई है। फिलहाल पुलिस को इस घटना की जानकारी दी गई।मिली जानकारी के अनुसार अनूपपुर-अंबिकापुर रेल्वे ट्रैक पर दो श्रमिकों का शव मिला है, जबकि दो अन्य बाल-बाल बच गए हैं। प्रारंभिक पूछताछ से पता चला है कि ये श्रमिक मरवाही पेंड्रा गौरेला ज़िला के गोरखपुर में काम करते थे और सूरजपुर ज़िले के गेवरा उजगी पहुँचने के लिए पूरी रात पटरियों पर चलते रहे।

लेकिन मंगलवार की सुबह मालगाड़ी की चपेट में आ गए। रायपुर-अंबिकापुर रेल्वे ट्रेक पर उदलकछार से दर्रीटोला के बीच सुबह क़रीब साढ़े आठ बजे मालगाड़ी की चपेट में आने से ट्रैक पर चल रहे दो मजदूर कमलेश्वर राजवाड़े और गुलाब राजवाड़े की मौत हो गई। जबकि साथ ही चल रहे दो अन्य मजदूर बाल बाल बच गए। यह चारों मजदूर पेंड्रा मरवाही गौरेला ज़िला के गोरखपुर स्थित खाद बीज बनाने वाली कंपनी में काम करते थे। जो कि लाकडाउन के दौरान वहां फंस गए थे। सोमवार की शाम खाना खाकर रेल्वे ट्रैक पर रात भर चलते हुए घर की ओर सूरजपुर जा रहे थे। फ़िलहाल सूचना के बाद मौके पर पुलिस पहुंच गई थी। दोनों मृत मजदूरों के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजवा दिया गया है। विवेचना जारी है।

20-04-2020
मुख्यमंत्री सहायता कोष से मृतिका के परिवारजनों को एक लाख रूपए की सहायता

रायपुर। बीजापुर जिले के ग्राम आदेड़ की 12 वर्षीय जमलो मड़कम की मृत्यु हो जाने पर मुख्यमंत्री सहायता कोष से एक लाख रूपए की आर्थिक सहायता उनके परिवारजनों को उपलब्ध करायी जा रही है। बीजापुर जिला प्रशासन से प्राप्त जानकारी के अनुसार जिले के विकासखण्ड बीजापुर के ग्राम आदेड़ से 12 सदस्यीय दल 2 फरवरी को कनहाईगुड़ा तेलंगाना में मिर्ची तोड़ने गए थे। वर्तमान में कोरोना वायरस की महामारी से सुरक्षा के लिए लॉकडाउन होने के कारण सभी 12 सदस्य 15 अप्रैल को कार्यस्थल तेलंगाना से अपने निवास स्थान के लिए पैदल निकले थे। 18 अप्रैल को भण्डारपाल विकासखण्ड उसुर के समीप पहुंचकर सभी लोगों ने भोजन किया। भोजन के उपरांत सबेरे 10 बजे जमलो मड़कम उम्र 12 वर्ष पिता आंदो मड़कम को गले में दर्द, पेट दर्द एवं सांस लेने में परेशानी होने के कारण मृत्यु हो जाने की जानकारी मृतिका के जीजा सुनील माड़वी ने दी।

सूचना के अनुसार मृतिक बालिका रात्रि में स्वस्थ्य थी और भोजन भी किया था। शाम 4 बजे सीएमएचओ एवं डॉ. पी. विजय द्वारा मृतिका के शव को शव वाहन में जिला चिकित्सालय लाया गया और अन्य 11 सदस्यों को दूसरे वाहन से बीजापुर लाकर कोरेंटाइन सेंटर में कोरेंटाइन किया गया। 19 अप्रैल को मृतिका का ब्लड सैंपल की रिपोर्ट मेडिकल कॉलेज जगदलपुर से नेगेटिव आने पर 20 अप्रैल को जिला चिकित्सालय बीजापुर द्वारा थाना कोतवाली बीजापुर को सूचना देते हुए शव का पोस्टमार्टम कराया गया एवं मृतिका के परिवार को शव सुपुर्द कर दिया गया। पोस्टमार्टम उपरांत विसरा प्रीजर्व जांच के लिए रायपुर भेजा गया।

11-04-2020
घर के आंगन मे खेल रहा था बच्चा तेंदुआ पकड़कर ले जा रहा था शोर मचाने पर छोड़कर भागा जंगल के भीतर, मौत

गरियाबंद। जिले से 8 किलोमीटर दूर ग्राम कोचेँगा में शाम 7 बजे के  एक बच्चा घर के आंगन में  खेल रहा था।  तभी तेंदुआ पीछे से आकर बच्चे को उठाकर ले गया। जब ग्रामीणों ने शोर मचाया तब तेंदुआ बच्चे को छोड़कर जंगल की ओर भाग गया। ग्रामीण किसी तरह इस घटना को लेकर वन विभाग को जानकारी दिए और बच्चे को लेकर अस्पताल पहुंचे। जहां इलाज के बाद बच्चे को रायपुर रेफर किया गया लेकिन रायपुर पहुचने के पहले ही बच्चे की मौत हो गई। घटना के बाद वन विभाग के परिक्षेत्र अधिकारी मनोज चंद्राकर मौके पर पहुंचे। बालक की आकस्मिक घटना में मृत्यु होने के कारण 25 हजार रुपए उसके परिजनों को दिया जा रहा है और कल सुबह उसका पोस्टमार्टम कर अंतिम संस्कार किया जाएगा।

10-04-2020
क्रिकेट खेलते वक्त हुआ हादसा, कैच लेने के लिए दौड़े एक युवक की मौत

धमतरी। भखारा थाना क्षेत्र के अंतर्गत ग्राम सिलौटी में एक हादसा में एक युवक की मौत हो गई।बताया जा रहा है कि ग्राम सिलौटी में दोपहर को कुछ युवक क्रिकेट खेल रह थे। इसी बीच बल्लेबाज ने जब बॉल को मारा तो उसे कैच लेने के लिए दुष्यंत और एक अन्य खिलाड़ी दौड़े और बॉल की तरफ देखते हुए आपस में टकरा गए। एएसपी मनीषा ठाकुर ने बताया कि दोपहर के समय क्रिकेट खेलते वक्त कैच लेने के लिए दो युवक आपस में टकरा गए,जिससे दुष्यंत विश्वकर्मा  की मौत हो गई। शाम होने की वजह से पोस्टमार्टम नहीं हो पाया,शनिवार को पोस्टमार्टम होगा एएसपी ने बताया कि दुष्यंत विश्वकर्मा पिता थानुराम उम्र 22 वर्ष आइडिया कॉल सेंटर रायपुर में काम करता था। 

31-03-2020
कुएं में डूबने से वृद्ध महिला की मौत

वाड्रफनगर। चौकी क्षेत्र के अंतर्गत ग्राम पंचायत महेवा में बीती रात 55 वर्षीय महिला मनबसिया पति रामगहन घर से लापता थी। आज सुबहपड़ोस में रहने वाले एक बालक ने कुएं में झांक कर देखा तो वृद्ध महिला का शव तैरता हुआ दिखाई दिया। इसके बाद युवक ने परिजनों को बताया। परिजन घटनास्थल पहुंचकर शव को कुएं में तैरता हुआ देखा एवं तत्काल पुलिस चौकी वाड्रफनगर को घटना की सूचना दी। घटना की जानकारी पाते ही चौकी प्रभारी ने प्रधान आरक्षक सहित स्टाफ को घटनास्थल भेजा। घटनास्थल पहुंचकर शव को ग्रामीणों की मदद से बाहर निकलवाया गया एवं पूछताछ की गई। इसमें परिजनों ने बताया कि वृद्ध महिला अपने पति रामधन के साथ रहती थीं। वही वृद्ध महिला बीती रात लाठी के सहारे घर से बाहर निकली थी और देर रात तक नहीं लौटी। सुबह पड़ोस के बालक ने शव कुएं में होने की जानकारी दी। घटना स्थल पर पुलिस द्वारा मर्ग कायम कर शव को पोस्टमार्टम के लिए सिविल अस्पताल वाड्रफनगर भेजा। पोस्टमार्टम उपरांत शव परिजनों को सौंप दिया गया। 

20-03-2020
निर्भया केस : पोस्टमार्टम के बाद परिजनों को अंत्येष्टि के लिए सौंपे गए चारों दोषियों के शव

नई दिल्ली। निर्भया सामूहिक दुष्कर्म एवं हत्याकांड के चारों दोषियों के शव पोस्टमार्टम के बाद अंत्येष्टि के लिए शुक्रवार को उनके परिजनों को सौंप दिए गए। तिहाड़ जेल अधिकारियों ने यह जानकारी दी। दोषियों के शवों का पोस्टमार्टम यहां दीन दयाल उपाध्याय (डीडीयू) अस्पताल में किया गया। दिल्ली में 16 दिसंबर 2012 को एक चलती बस में पैरामेडिकल की 23 वर्षीय एक छात्रा के साथ हुए सामूहिक दुष्कर्म एवं उस पर हमले के चारों दोषियों मुकेश सिंह (32), पवन गुप्ता (25), विनय शर्मा (26) और अक्षय कुमार सिंह (31) को शुक्रवार सुबह साढ़े पांच बजे तिहाड़ जेल में फांसी दी गई।

जेल अधिकारियों ने बताया कि शवों को आधे घंटे तक फंदे से लटका कर रखा गया, जो जेल नियमावली के मुताबिक फांसी पर चढ़ाने के बाद एक अनिवार्य प्रक्रिया है। तिहाड़ जेल के महानिदेशक संदीप गोयल ने कहा कि शवों की डॉक्टरों द्वारा जांच किए जाने और और चारों को मृत घोषित किए जाने के बाद, उन्हें पोस्टमार्टम के लिए डीडीयू अस्पताल भेजा गया। बाद में उनके शव उनके परिजनों को सौंप दिए गए। जेल के एक वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक अक्षय का शव बिहार के औरंगाबाद स्थित उसके गांव ले जाया जाएगा। उन्होंने बताया कि मुकेश के परिजन उसका शव राजस्थान ले जाएंगे। विनय और पवन के शवों को दक्षिण दिल्ली स्थित रविदास कैम्प में मौजूद उनके घर ले जाया जाएगा। इससे पहले, उनके परिजन पोस्टमार्टम को लेकर आवश्यक कागजी कार्यवाही के डीडीयू अस्पताल पहुंचे थे। अस्पताल और खासतौर पर मुर्दाघर में सुरक्षा के व्यापक इंतजाम किए गए थे। यह पहला मौका है जब दक्षिण एशिया की सबसे बड़ी जेल में चार दोषियों को फांसी दी गई। इस जेल में करीब 16,000 कैदी रखे गए हैं।

 

20-03-2020
निर्भया केस : दोषियों ने तिहाड़ जेल में कमाया एक लाख 37 हजार रुपए, जानिए किसको मिलेंगे ये पैसे

नई दिल्ली।  निर्भया दुष्कर्म और मर्डर मामले में चारों गुनहगारों अक्षय कुमार, पवन गुप्ता, विनय शर्मा और मुकेश कुमार को दिल्ली के तिहाड़ जेल फांसी पर लटका दिया गया है। वहीं चारों शवों को पोस्टमार्टम के लिए दीन दयाल उपाध्याय हॉस्पिटल भेज दिया गया है। पोस्टमार्टम होने के बाद शवों को परिवारवालों को अंतिम संस्कार करने के लिए सौंप दिया जाएगा।
वहीं फांसी के तख्ते पर लटकने से पहले चारों दोषी कई साल तक जेल में बंद रहे। इस दौरान दोषियों ने जेल में काम कर करके 1 लाख 37 हजार कमाए थे। तिहाड़ जेल प्रशासन का कहना है कि दोषियों की ओर से जेल में कमाए गए पैसे को उनके परिवारवालों को दिया जाएगा। इसमें मुकेश ने कोई काम नहीं किया था, जबकि अक्षय ने 69 हजार रुपए पवन ने 29 हजार रुपए और विनय ने 39 हजार रुपए कमाए थे। इन पैसों को उनके परिवारवालों को दिया जाएगा। इसके साथ ही चारों दोषियों के कपड़ों और सामान को भी परिवारवालों को सौंपा जाएगा। जेल अधिकारी ने बताया कि अगर दोषियों के परिवार वाले उनके शव की मांग करते हैं तो उन्हें सौंप दिया जाएगा, नहीं तो उनका अंतिम संस्कार करवाना हमारी जिम्मेदारी है।

 

\

20-03-2020
Breaking : निर्भया के चारों गुनहगारों को तिहाड़ जेल में दी गई फांसी

रायपुर। निर्भया के चारों गुनहगारों को आखिरकार तिहाड़ जेल में फांसी दे दी गई है। ठीक साढ़े 5 बजे तय समय पर चारों दोषियों को फांसी दी गई। निर्भया को सात साल, तीन महीने बाद इंसाफ मिला है। हाई कोर्ट और सुप्रीम कोर्ट में याचिका खारिज होने के बाद  तय दिन और समय पर ही फांसी दी गई। तिहाड़ जेल के बाहर बड़ी संख्या में लोग मौजूद हैं। सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम है। चारों दोषियों विनय, अक्षय, मुकेश और पवन को एक साथ फांसी के फंदे पर लटकाया गया। इनके शवों को पोस्टमार्टम के लिए ले जाया जाएगा।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804