GLIBS
13-11-2020
व्यापारी एकता पैनल ने सुरक्षा का रखा ध्यान,व्यापारियों को बांटे 5 हजार मास्क और दीये

रायपुर। व्यापारी एकता पैनल ने शुक्रवार शाम जयस्तम्भ चौक,रवि भवन, बंजारी रोड, गोलबाजार, मालवीय रोड में 5 हजार मास्क और 5 हजार दीये का वितरण किया। टीम ने दिवाली की शुभकामनाएं व्यापारियों को दी। इस दौरान व्यापारी एकता पैनल के अध्यक्ष श्रीचंद सुंदरानी, चेंबर के अध्यक्ष प्रत्याशी योगेश अग्रवाल, व्यापारी एकता पैनल के प्रवक्ता ललित जैसिंघ, जितेंद्र बरलोटा, विनय बजाज, लालचंद गुलवानी, प्रकाश अग्रवाल,अरविंद जैन, राजेश वासवानी, अमर बंसल, सुदेश मध्यान, जय नानवानी, सतीश बगड़ी, राजकुमार राठी, गौरव मंधानी, मनोज पंजवानी, अमरजीत छाबरा, दिना डोंगरे, मोहन होतवानी, विरेंद्र वालिया, दिव्यम अग्रवाल, विकी टेकवानी,अनूप मसंद, हरी तलरेजा,जेपी शर्मा, अमित अग्रवाल, आयुष मुरारका, जयराम तलरेजा, शाश्वत गुप्ता, रुचिर खेमका और जुगनू भाई सहित अन्य मौजूद थे।

 

11-11-2020
महिलाओं की सुरक्षा और अधिकारों के प्रति सजग हैं भूपेश सरकार, कहा- महिला आयोग की अध्यक्ष डॉ. किरणमयी नायक ने

रायपुर। छत्तीसगढ़ राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष डॉ किरणमयी नायक ने रायपुर जिले के पंजीकृत प्रकरणों की आयोग कार्यालय रायपुर मुख्यालय में सुनवाई की। डॉ. नायक ने कहा कि महिलाओं की सुरक्षा और उनके अधिकारों के प्रति राज्य सरकार सजग है। उन्होंने महिलाओं के लिए अपमान जनक शब्दों का प्रयोग करने, अपमानित करने और बदनाम करने वालों के विरूद्ध कड़ी कार्रवई करने की बात कही। अध्यक्ष डॉ. नायक ने महिला को अपमानित और बदनाम करने, पति की ओर से उधार में दी गई राशि को उनकी पत्नी को वापस दिलाने, पति-पत्नी के बीच झगड़ा, पति से अश्लील वीड़ियों डाउनलोड कर पत्नी को ब्लेकमेल करने आदि से संबंधित प्रकरणों की सुनवाई की और आवश्यक निर्देश दिए।

09-11-2020
गौरी-गौरा विसर्जन के दौरान सुरक्षा के मद्देनजर शांति व कानून व्यवस्था बनाए रखने ली गई बैठक

धमतरी। पुलिस अधीक्षक बीपी राजभानु के निर्देशानुसार सोमवार को अनुविभागीय अधिकारी कार्यालय धमतरी के सभाकक्ष में गौरी-गौरा विसर्जन के दौरान सुरक्षा के मद्देनजर शांति एवं कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए जनप्रतिनिधि के रूप में वार्ड पार्षद, शहर के प्रत्येक वार्डो की गौरी-गौरा समिति के पदाधिकारियों एवं सदस्यों को आमंत्रित कर बैठक आहूत की गई।बैठक में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक मनीषा ठाकुर रावटे ने उपस्थित लोगों को समझाइश देते हुए कहा कि वार्ड के प्रतिनिधि होने के नाते वार्ड पार्षद अपने-अपने वार्ड की गौरी गौरा समिति के पदाधिकारियों की बैठक आहूत कर गौरा गौरी विसर्जन के लिए शांतिपूर्वक आपसी सामंजस्य बनाकर एक दूसरे का सहयोग करें। साथ ही उन्हें नशापान नहीं करने समझाइश देवें। इससे किसी प्रकार की घटना-दुर्घटना ना हो तथा उनसे अपील की गई कि सभी गौरा-गौरी पूजन समितियां अपने गौरा-गौरी विसर्जन का मार्ग, समिति के द्वारा वालंटियर नियुक्त कर आपसी सहयोग और विसर्जन किए जाने का स्थान निर्धारित कर 2 दिवस में अवगत करावे। गौरी-गौरा पूजन समितियां विसर्जन के दौरान अन्य समिति से होड़ नहीं रखने संबंधी हिदायत देते हुए उपस्थित लोगों से गौरी गौरा पूजन से लेकर विसर्जन के दौरान किसी भी प्रकार की समस्या संबंधी सुझाव भी प्राप्त किया गया तथा त्यौहार के दौरान किसी भी प्रकार की समस्या होने पर अवगत कराने समझाइश दिया गया।

उक्त बैठक में पुलिस एवं प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारियों के द्वारा उपस्थित वार्ड पार्षदों, गौरी-गौरा समिति के पदाधिकारियों एवं सदस्यों से त्यौहार एवं गौरी-गौरा विसर्जन शांतिपूर्वक, सौहाद्रमय वातावरण में मनाए जाने एवं शांति व कानून व्यवस्था बनाए रखने आवश्यक समझाइश दिया गया, साथ ही कोरोना वायरस (कोविड-19) के संक्रमण से बचाव हेतु सोशल व फिजिकल डिस्टेंसिंग बनाए रखते हुए सुरक्षा संबंधी संसाधनों का उपयोग करने हिदायत दिया गया। उपस्थित लोगों से असामाजिक तत्वों, हुड़दंग कर शांतिभंग करने वाले लोगों की जानकारी देकर सहयोग करने की अपील भी की गई । बैठक में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक मनीषा ठाकुर रावटे, उप पुलिस अधीक्षक अरुण जोशी, उप पुलिस अधीक्षक (परि.) रागिनी तिवारी, तहसीलदार धमतरी ज्योति मसियारे, थाना प्रभारी सिटी कोतवाली निरीक्षक नवनीत पाटिल, वार्ड पार्षद, शहर के प्रत्येक वार्डो की गौरी-गौरा समिति के पदाधिकारीगण उपस्थित रहे।

 

06-11-2020
वेदांता-बालको ने बांटे 5000 ग्रामीणों को सुरक्षा कीट,करा रहे ग्रामीण क्षेत्रों में चिकित्सा सुविधा उपलब्ध

कोरबा। वेदांता समूह की कंपनी भारत एल्यूमिनियम कंपनी लिमिटेड (बालको) ने सामुदायिक विकास परियोजना ‘आरोग्य’ के अंतर्गत अपने संयंत्र के आसपास स्थित ग्रामीण क्षेत्रों में स्वास्थ्य और स्वच्छता के प्रति जागरूकता के लिए बड़े पैमाने पर कार्यक्रम आयोजित किए हैं। माह अक्टूबर में लगभग 5000 नागरिकों को सुरक्षा किट के अंतर्गत साबुन, मास्क और सैनिटाइजर वितरित किए गए। नागरिकों को वैश्विक महामारी से सुरक्षा के प्रति अनेक आयामों से परिचित कराया गया। ग्रामीण क्षेत्रों में चिकित्सा सुविधा की उपलब्धता वेदांता-बालको के सामुदायिक विकास कार्यों में सर्वोपरि है। वेदांता-बालको की आरोग्य परियोजना के अंतर्गत दो वेदांता ग्रामीण चिकित्सालय संचालित हैं। इन चिकित्सालयों के संचालन का उद्देश्य ग्रामीणों को झोला छाप नीम-हकीमों से मुक्ति दिलाना है। चलित चिकित्सा शिविर, मौसमी बीमारियों से बचाव और जागरूकता शिविर, मातृ-शिशु स्वास्थ्य जागरूकता अभियान, स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं के साथ समन्वयन, एचआईव्ही एड्स के प्रति जागरूकता आदि अनेक ऐसे कार्यक्रम हैं जिनके माध्यम से ग्रामीणों के स्वास्थ्य का ध्यान रखा जाता है। सुरक्षा किट के वितरण पर ग्रामीणों ने बालको प्रबंधन के आभार जताया है।

कोविड-19 महामारी की रोकथाम की दिशा में वेदांता-बालको ने जिला प्रशासन के मार्गदर्शन और समन्वयन में कोविड अस्पताल की स्थापना में मदद की। मास्क और पीपीई निर्माण के माध्यम से महिला स्व सहायता समूहों की सदस्यों के लिए आजीविका के अवसर उपलब्ध कराए। जन प्रतिनिधियों के सहयोग से जरूरतमंदों को सूखा राशन और तैयार भोजन उपलब्ध कराए गए। राज्य और जिला प्रशासन ने कोरोना वाइरस के प्रति जागरूकता की दिशा में वेदांता-बालको संचालित कार्यों की खूब प्रशंसा की है। बालको की ओर से शिक्षा, स्वास्थ्य, स्वावलंबन, आधारभूत संरचना विकास, महिला सशक्तिकरण, जैव-निवेश, आजीविका आदि क्षेत्रों में परियोजनाएं क्रियान्वित हैं। परियोजनाओं के दायरे में छत्तीसगढ़ के लगभग 1.50 लाख जरूरतमंद शामिल हैं। 300 स्व सहायता समूहों के माध्यम से लगभग 4000 महिलाओं के स्वावलंबन एवं सशक्तिकरण में मदद मिल रही है। लगभग 500 एकड़ भूमि पर किसान आधुनिक तकनीकों की मदद से खेती कर रहे हैं। वेदांता स्किल्स स्कूल ने छत्तीसगढ़ के लगभग 9000 जरूरतमंद युवाओं को तकनीकी रूप से प्रशिक्षित कर स्वावलंबी बनने में मदद की है।

 

01-11-2020
रिटायर्ड पुलिस अफसर सुशील डेविड को मुख्यमंत्री सुरक्षा में किया गया पदस्थ, आदेश जारी 

रायपुर। राज्य शासन ने सेवानिवृत्त अधिकारी सुशील डेविड को संविदा नियुक्ति पर पदस्थ किया है। सुशील डेविड को अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक के रिक्त पद पर मुख्यमंत्री सुरक्षा में पदस्थ किया गया हैै। इस संबंध में छत्तीसगढ़ शासन गृह (पुलिस) विभाग के अवर सचिव मनोज श्रीवास्तव ने रविवार को आदेश जारी कर दिया है।


 

27-10-2020
मुख्यमंत्री बाल भविष्य सुरक्षा योजना प्रयास आवासीय विद्यालयों के लिए प्रवेश परीक्षा 5  नवंबर को

रायपुर/कोण्डागांव। मुख्यमंत्री बाल भविष्य सुरक्षा योजना प्रयास आवासीय विद्यालयों में 5 नवम्बर को प्रवेश परीक्षा होगी। शैक्षणिक सत्र 2020-21 की कक्षा 9वीं में प्रवेश के लिए चयन परीक्षा का आयोजन 5 नंवबर को (सुबह 10.30 से दोपहर 1.00 बजे तक) पूर्व में निर्धारित परीक्षा केन्द्र क्रमांक-01 शासकीय कन्या उमावि कोण्डागांव, परीक्षा केन्द्र क्रमांक-02 सरस्वती शिशु मंदिर उमावि कोण्डागांव व परीक्षा केन्द्र क्रमांक-03 शासकीय उमावि तहसीलपारा कोण्डागांव पर आयोजित होगी। इस क्रम में कोविड-19 को ध्यान में रखते हुए सभी परीक्षार्थी मास्क लगाकर ही परीक्षा केन्द्र में प्रवेश करेंगे। ज्ञात हो कि पूर्व में यह परीक्षा 14 सितंबर को निर्धारित की गई थी। लेकिन अपरिहार्य कारणों से उक्त परीक्षा की तिथि में संशोधन किया गया। इसके अलावा शेष शर्ते यथावत् रहेंगी।

 

18-10-2020
19 अक्टूबर को स्कूलों में कोरोना वायरस से सुरक्षा पर विशेष वेबीनार

रायपुर। स्कूलों में कोरोना वायरस से सुरक्षा पर विशेष वेबीनार का आयोजन समग्र शिक्षा की ओर से 19 अक्टूबर को शाम 4 बजे किया जा रहा है। वेबीनार में स्कूल शिक्षा से जुड़े सभी अधिकारी, कोविड-19 सुरक्षा से संबंधित जिला, विकासखण्ड और संकुल के नोडल अधिकारी, सभी शिक्षक, पालक और विद्यार्थी जुड़ सकेंगे। समग्र शिक्षा के अधिकारियों ने सभी से अनुरोध किया है कि आयोजित वेबीनार में शिक्षक, विद्यार्थी के साथ-साथ बालक चर्चा कर व्यवहार परिवर्तन की दिशा में लगातार कार्य करेंगे।

 

17-10-2020
रेलवे सिग्नल पर गलत तरीके से पटरी पार करने वालों पर होगी सख्त कार्रवाई

रायपुर। ट्रेन की तेज रफ्तार की चपेट से राहगीरों को बचाने रेलवे सुरक्षा बलों ने कार्यविधि सख्त कर दी है। इसके अंतर्गत रेलवे सिग्नल पर गलत तरीके से पटरी पार करने वाले बाइक सवार, साइकिल सवार, पैदल राहगीरों को समझाइस दी गई। इससे राहगीर रेलवे यातायात के नियमों का पालन करते हुए रेल फाटक पार कर खुद को जान-माल की नुकसान से बचा सके। रेल पटरी पार करने के नियामों की समझाइस व जागरूकता के बाद भी अगर कोई बंद फाटक से आड़े-तिरछे होकर बाइक व पैदल पटरी पार करता है तो उन लापरवाह व्यक्ति के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। इसके लिए रेलवे फाटकों पर आरपीएफ के जवान नियमित मॉनिटरिंग करेंगे। 
इसी कड़ी में रायपुर मंडल में 5 दिवसीय समपार फाटक सुरक्षा विशेष जागरूकता अभियान चलाया जा रहा है। रायपुर रेल मंडल के विविध रेलवे फाटकों पर रेलवे सुरक्षा बल के जवानों ने सड़क यातायात करने वालों को फाटक बंद होने कि स्थिति में लापरवाही पूर्वक पटरी पार नहीं करने की समझाइस दी गई।

रेलवे सुरक्षा बल ने राहगीरों से कहा कि अगर कोई व्यक्ति बंद रेलवे समपार फाटक को पार करने, खोलने, तोड़ने एवं बिना गेटकीपर वाले फाटकों को लापरवाही पूर्वक पार करेगा तो ऐसे व्यक्तियों के खिलाफ रेल अधिनियम के तहत जुर्माने से लेकर गिरफ्तारी की कार्रवाई की जाएगी।  रायपुर रेल मंडल के अधिकारियों ने बताया कि पिछले एक साल में मंडल क्षेत्र के रेलवे फाटकों को लापरवाही पूर्वक पार करने वाले 45 लोगों को गिरफ्तार किया है। रेलवे सुरक्षा बलों की टीम ने रेल अधिनियम के तहत संबंधित व्यक्तियों के खिलाफ यह कार्रवाई की गई है। इस प्रकार की घटनाओं से ट्रेन एवं रेल यात्रियों की सुरक्षा व संरक्षा प्रभावित होती है। यह रेल दुर्घटना की प्रमुख वजह बनती है। ऐसे में रेलवे फाटकों पर दुर्घटनाओं को कम करने कठोर कदम उठाए जा रहे हैं।

13-10-2020
महिला की सुरक्षा सिर्फ कागजों के पन्नों तक,एक ही दिन में ड्यूटी कर रही दो महिला से हुई मारपीट

धमतरी। जिले में गुंडाराज हावी हो चुका है,एक ही दिन में दो अलग-अलग मामलों में महिलाओं के साथ मारपीट की घटना सामने आई है। कुछ घंटों पहले ही यातायात में पदस्थ महिला आरक्षक के साथ मारपीट का मामला शांत नहीं हुआ ही कि एक और महिला सब इंजीनियर पर लकड़ी के बत्ते से हमला कर उसके साथ मारपीट की गई है। बताया गया कि मंगलवार को दोपहर 3 बजे यह घटना अर्जुनी थाना क्षेत्र अंतर्गत ग्राम आमदी में हुई। ग्रामीण मुरारी ढीमर अपने घर के पास अतिक्रमण कर रहा था, जिसकी शिकायत के बाद नगर पंचायत की ओर से उसे नोटिस भी भेज दी गई थी। उसके बाद भी वह अतिक्रमण कर ही रहा था। इसकी रोकथाम के लिये नगर पंचायत में पदस्थ एक महिला सब इंजीनियर मौके पर पहुंचकर उसे अतिक्रमण करने से मना कर रही थी। इतने में तैश में आकर आरोपी मुरारी ढीमर ने उस पर लकड़ी के बत्ते से हमला कर दिया, हमले से वह घायल हुई है। इस सम्बंध में अर्जुनी थाना प्रभारी उमेन्द्र टण्डन ने बताया कि आरोपी पर धारा 186, 353, 294, 323 506 के तहत अपराध दर्ज कर आगे कार्यवाही की जा रही है। 

 

09-10-2020
फसलों की सुरक्षा करने दल गठित, कलेक्टर ने नियमित कृषि प्रक्षेत्रों का निरीक्षण करने दिए निर्देश

रायपुर। कलेक्टर डॉ.एस.भारतीदासन के निर्देश पर फसल की सुरक्षा और देखभाल के लिए कृषि वैज्ञानिक व अधिकारियों का संयुक्त दल गठित किया गया है। कलेक्टर ने दल को नियमित रूप से कृषि प्रक्षेत्रों का निरीक्षण करने के निर्देश दिए हैं। उप संचालक कृषि ने कहा कि जिला स्तरीय पेस्ट सर्विलेंस दल ने विकासखंड-आरंग और अभनपुर के ग्राम गोढ़ी, बड़गांव, चन्दखुरी, मुनगी,बहनाकाड़ी, कुरुद, सुन्दरकेरा, छांटा, नवागांव आदि ग्रामों के कृषकों के प्रक्षेत्रों का निरीक्षण किया गया। धान में वर्तमान में मुख्य रुप से तनाछेदक, भुरामाहो, पैनिकल माईट आदि कीटों का प्रकोप देखा गया है। इसी प्रकार धान फसल में बैक्टीरियल लिफ ब्लाईट, ब्लास्ट, शीथ ब्लाईट, फॉल्स स्मट आदि बीमारियों का प्रकोप देखा गया है। फसल निरीक्षण के बाद कृषि वैज्ञानिक ने कहा कि शीघ्र बोने वाली किस्में लगभग कटाई के लिए तैयार है। अत: अभी रासायनिक दवाओं के उपयोग से बेहतर परिणाम नहीं आएंगे। परन्तु देर से पकने वाली किस्में गभोट और बाली निकलने की अवस्था में है। अत: रासायनिक कीटनाशी दवाओं के उपयोग से किसान कीटव्याधियों से होने वाले नुकसान से बच सकते हैं।



उप संचालक कृषि के नेतृत्व में कृषि आदानों की गुणवत्ता तय करने के लिए जिले में टीम गठित कर बीज, उर्वरक और कीटनाशक निर्माता और विक्रेता परिसरों का निरीक्षण कर नमूना, गुणवत्ता परीक्षण के लिए शासन की ओर से अधिसूचित गुण नियत्रंण प्रयोगशाला प्रेषित किया जा रहा है। ताकि कृषकों को गुणवत्तायुक्त आदान सामग्री प्राप्त हो सके। किसान खेतों में कीटव्याधि के प्रकोप होने पर कृषि अधिकारियों के अनुशंसा अनुसार ही रासायनिक दवाईयों का उपयोग करें। गलत कीटनाशकों के प्रयोग से कीटों में प्रतिरोधक क्षमता में वृद्धि हो जाती है। रासायनिक कीटनाशकों का सही समय, सही दवा और सही विधि का उपयोग करें। कीट बीमारी आदि के संबंध में समसामयिक सलाह के लिए जिला स्तर पर स्थापित नियंत्रण कक्ष दूरभाष नंबर 0771-2435746 पर संपर्क किया जा सकता है।


धान में भूरामाहो कीट के नियंत्रण के लिए :
पाईमेट्राजिन 50 प्रतिशत 300 ग्राम प्रति हेक्टेयर या थायमेथाक्जम 75 प्रतिशत 400 ग्राम प्रति हेक्टेयर या डायनोटेफ्यूरॉन 20 प्रतिशत 200 ग्राम प्रति हेक्टेयर। धान के तनाछेदक कीट नियंत्रण के लिए हाईड्रोक्लोराईड 50 प्रतिशत को 1 किलोग्राम प्रति हेक्टेयर या लेम्डासाईहेलाथिन 5 प्रतिशत 250 मिली. प्रति हेक्टेयर या क्लोरेन्ट्रानिलीप्रोल 18.50 प्रतिशत को 150 मिली. प्रति हेक्टेयर। पेनिकल माईट के नियंत्रण के लिए डाईकोफॉल 18.50 प्रतिशत को 600 मिली. प्रति हेक्टेयर या स्पायरोमेसीफेन 122.90 प्रतिशत को 150 मिली. प्रति हेक्टेयर या इथियॉन 50 प्रतिशत को 500 मि.ली. प्रति हेक्टेयर उपयोग की अनुशंसा की गई।
 
ब्लास्ट व शीथ ब्लाईट के नियंत्रण के लिए :
कार्बेन्डाजिम 25 प्रतिशत + मेन्कोजेब 50 प्रतिशत को 500 ग्राम प्रति हेक्टेयर या ट्राईसॉयक्लाजोल 45 प्रतिशत + हेक्जाकोनाजोल 10 प्रतिशत को 500 ग्राम प्रति हेक्टेयर या प्रोफिकोनाजोल10.70 प्रतिशत + ट्राईसॉयक्लाजोल 34.2 प्रतिशत को 625 मि.ली. प्रति हेक्टेयर उपयोग के लिए सुझाव दिया गया। इसके अतिरिक्त चारों विकासखंडों के मैदानी अधिकारी-कर्मचारियों ने कीटव्याधि पर सतत निगरानी के लिए निर्देश दिए हैं।

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804