GLIBS
14-08-2019
खाद्य सुरक्षा एवं गुणवत्ता व खाद्य पंजीयन अनुज्ञप्ति के संबंध में शिविर 16 अगस्त को 

जांजगीर-चांपा। खाद्य एवं औषधि प्रशासन विभाग के अभिहित अधिकारी ने आज यहां बताया कि खाद्य सुरक्षा एवं गुणवत्ता तथा खाद्य पंजीयन और अनुज्ञप्ति के संबंध में नगर पालिका जांजगीर-नैला क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले समस्त खाद्य कारोबारियों के लिये 16 अगस्त को प्रात: 11 बजे से शाम 5 बजे तक केमिस्ट भवन नैला में शिविर का आयोजन किया जा रहा है। शिविर में खाद्य सुरक्षा एवं गुणवत्ता के संबंध में जानकारी प्रदान करने के साथ-साथ खाद्य विभाग द्वारा खाद्य पंजीयन एवं अनुज्ञप्ति ली जाएगी। उन्होंने होटल, ढाबा, मध्याह्न भोजन, कैंटिन, रेस्टोरेंट, कैटरा, चाय-नाश्ता की दुकान, ठेला, फेरी वाला, किनारा दुकान, पान ठेला, डेयरी फार्म, फल एवं सब्जी विक्रेता, मांस एवं मछली विक्रेता भण्डार ग्रह, खाद्य ट्रांसपोर्टर, खाद्य निर्माता, समस्त अस्थायी व्यवसायी (ठेला वाले) और समस्त संस्थानों में संचालित कैंटिन, मेस तथा अन्य संस्थाओं को पासपोर्ट साइज की एक फोटो एवं आधार कार्ड के साथ उपस्थित होने के लिए आग्रह किया है।

05-08-2019
हाई अलर्ट पर जम्मू-कश्मीर, घाटी के लिए रवाना हुए  राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल

नई दिल्ली। राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल कश्मीर के लिए रवाना हो गए हैं। वह व्यक्तिगत तौर पर वहां पहुंचकर सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लेंगे। उनके वहां पहुंचने से पहले दस हजार सुरक्षा जवानों को और वहां भेजा गया है। जवानों की तत्काल तैनाती के लिए उन्हें हवाई रास्ते से जम्मू-कश्मीर ले जाया गया है।
बता दें कि आर्टिकल 370 हटाए जाने के बाद जम्मू-कश्मीर में हलचल तेज हो गई है। जम्मू-कश्मीर में कड़े इंतजाम किए गए हैं। मौजूदा समय में अर्धसैनिक बलों के करीब एक लाख जवान मोर्चा संभाले हुए हैं। श्रीनगर और जम्मू में धारा 144 लागू हो चुकी है। दोनों शहरों में मोबाइल, इंटरनेट सेवा भी बंद है। यह पहला मौका है जब घाटी में मोबाइल, इंटरनेट सेवाओं के साथ लैंडलाइन सर्विस को भी बंद कर दिया गया है। 

02-08-2019
उन्नाव रेप पीडि़ता का परिवार मध्यप्रदेश में बसे तो सीएम  कमलनाथ देंगे सुरक्षा

भोपाल। मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने उन्नाव गैंगरेप पीडि़त केस में सुप्रीम कोर्ट के फैसले का स्वागत किया है। उन्होंने कहा कि कोर्ट का फैसला स्वागत योग्य है। उन्होंने उन्नाव की बेटी के परिवार से अपील की है कि वो मध्यप्रदेश आकर बसे, सरकार उन्हें सुरक्षा देगी। उन्नाव रेप मामले पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने के बाद सीएम कमलनाथ ने ट्वीट कर अपनी बात कही। उन्होंने लिखा कि सुप्रीम कोर्ट का फैसला स्वागत योग्य है। यूपी को असुरक्षित मानकर छोडऩे का निर्णय ले चुकी पीडि़ता की मां और परिवार से मैं अपील करता हूं कि वो सभी मध्यप्रदेश आकर बसने का निर्णय लें। हमारी सरकार आपके पूरे परिवार की रक्षा करेगी। अगले ट्वीट में सीएम कमलनाथ ने कहा कि अगर बच्ची परिवार यहां आता है तो हम उसका बेहतर इलाज कराएंगे। उसकी बेहतर शिक्षा से लेकर सम्पूर्ण दायित्व हम निभाएंगे। परिवार को हम किसी भी प्रकार की दिक्कत नहीं होने देंगे। सीएम ने लिखा-दिल्ली केस ट्रांसफर होने के कारण आपके दिल्ली आने-जाने की भी पूर्ण व्यवस्था करेंगे। हम बेटी का प्रदेश की बच्ची तरह खयाल रखेंगे। बच्ची का हम बेहतर इलाज कराएंगे। उसकी बेहतर शिक्षा से लेकर सम्पूर्ण दायित्व हम निभाएंगे। किसी भी प्रकार की दिक्कत का सामना नहीं होने देंगे। बता दें कि सुप्रीम कोर्ट ने रायबरेली जेल में बंद उन्नाव रेप पीडि़ता के चाचा को दिल्ली की तिहाड़ जेल में शिफ्ट करने का आदेश दिया है। शुक्रवार को इस मामले की सुनवाई करते हुए चीफ जस्टिस रंजन गोगोई की बेंच ने यह आदेश पारित किया। दरअसल पीडि़ता के वकील ने उसके चाचा की जान को खतरा बताते हुए उन्हें तिहाड़ जेल शिफ्ट करने की मांग की थी।

01-08-2019
उन्नाव दुष्कर्म मामला: केस दिल्ली ट्रांसफर, पीड़ित परिवार को सीआरपीएफ की सुरक्षा

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने उन्नाव दुष्कर्म मामले की गुरुवार को सुनवाई की। उच्चतम न्यायालय ने इस मामले से जुड़े सभी पांच केसों को उत्तर प्रदेश से दिल्ली ट्रांसफर करने का ओदश दिया है। सुप्रीम कोर्ट ने सभी मामलों की सुनवाई 45 दिन में पूरा करने का भी आदेश दिया है। सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि इस पूरे मामले की रोजाना सुनवाई होगी। सुप्रीम कोर्ट ने पीड़ित परिवार को सीआरपीएफ सुरक्षा देने का आदेश दिया है। सुप्रीम कोर्ट ने य़ह भी आदेश दिया है कि पीड़िता को 25 लाख रुपये की आर्थिक सहायता दी जाए। सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि पीड़ित परिवार को यह राशि तुरंत मुहैया कराई जाए। अदालत ने कहा कि इस केस में अगर किसी को और कोई शिकायत हो तो उसकी सुनवाई भी सुप्रीम कोर्ट खुद करेगा।
इसके अलावा, सुप्रीम कोर्ट ने सीबीआई को 7 दिन के भीतर दुर्घटना मामले की जांच पूरी करने का निर्देष दिया है। दरअसल कोर्ट ने सीबीआई से पूछा था कि दुर्घटना की जांच में कितना समय लगेगा, इस पर सॉलिसिटर जनरल ने एक महीने का वक्त मांगा, लेकिन सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि सात दिन के भीतर जांच पूरी की जाए।

 

31-07-2019
दंतेवाड़ा पुलिस ने कहा-हेलमेट लगाना सुरक्षा के लिए बहुत ही जरूरी

दंतेवाड़ा।  सड़क दुर्घटनाओं से होने वाली मौतों में कमी लाने दन्तेवाड़ा एसपी डॉ अभिषेक पल्लव के निर्देशन में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सूरज सिंह परिहार एवं अनुविभागीय अधिकारी चन्द्रकांत गर्वना के मार्गदर्शन में दन्तेवाड़ा-बचेली मार्ग पर एवं साप्ताहिक बाजार में आये ग्रामीणों को यातायात नियमों के संबंध में जानकारी दी गई। दोपहिया वाहन चलाते समय हेलमेट अनिवार्य रूप से लगाने की समझाइश के साथ साथ हेलमेट लगाने के फायदे बताए गए। बताया कि हेलमेट आपकी सुरक्षा के लिए बहुत ही जरूरी है । हेलमेट दुर्घटना को रोक नहीं सकती लेकिन आपकी जान जरूर बचा सकती है। हेलमेट नहीं लगाने पर पुलिस 500 रुपए का चालान काट सकती है । ठीक इसी प्रकार चारपहिया वाहनों में शीट बेल्ट नहीं लगाने पर पुलिस 200 रुपए का चालान काट सकती है। लोगों को हेलमेट और सीट बेल्ट लगाने के फायदे एवं नुकसान के संबंध में बताकर समझाइश दी गई। इसके साथ ही दोपहिया वाहनों में तीन सवारी नहीं चलने, यातायात नियमों का पालन करने, वाहन चलाते समय मोबाइल का उपयोग नहीं करने, नशे की हालत में वाहन नहीं चलाने, वाहनों में नम्बर स्पष्ट रूप से लिखाने, बिना लायसेंस वाहन नहीं चलाने, वाहनों में थर्ड पार्टी बीमा कराने, अत्यधिक तेज गति से वाहन नहीं चलाने की समझाइश दी गई एवं यातायात नियमों के संबंध में जागरूक किया गया। इस जागरुकता अभियान  में यातायात शाखा प्रभारी निरीक्षक विन्टन साहू, सउनि केके नागवंशी, आरक्षक  नरेन्द्र रजक,  जितेन्द्र रामटेके एवं  महिला आरक्षक  गीता सिंह उपस्थित थे।

 

30-07-2019
गायक उदित नारायण को मिली जान से मारने की धमकी, पुलिस ने बढ़ाई सुरक्षा

मुंबई। बॉलीवुड सिंगर उदित नारायण को पिछले एक महीने से एक अनजान शख्स कॉल करके जान से मारने की धमकी दे रहा है, जिसके बाद उदित नारायण ने इसकी शिकायत मुबंई पुलिस में की है। इस मामले में एन्टी एक्सटॉर्शन सेल जांच कर रही है।
पुलिस की शुरूआती जांच में पता चला है कि जिस फोन से कॉल आ रहा है उसका लोकेशन बिहार है और उस फोन का आईएमईआई नंबर उसके वाचमैन के नाम से दर्ज है, जो तकरीबन 3 महीने पहले उस वक्त खो गया था जब वह अपने गांव गया था।
पुलिस को दी शिकायत में उदित नारायण ने कहा है कि, फोन करने वाल शख्स खुद को रवि पुजारी गैंग का आदमी बताता है उनसे पैसों की मांग करता है। साथ ही इनकार करने पर गालियों के साथ-साथ अंजाम भुगतने की भी धमकी देता है।
उदित नारायण का कहना है कि धमकी भरे कॉल तब आते हैं जब वो शूटिंग पर रहते हैं। बता दें कि इस तरह के कॉल उन्हें अब तक तीन बार आ चुके हैं। फिलहाल पुलिस ने इस मामले में जांच शुरू कर दी है।
धमकी देने के बाद उदित नारायण और उनके घर की सुरक्षा भी बढ़ा दी गई है। बताया जा रहा है कि उदित नारायण के घर के बाहर सादे कपड़े में कुछ सुरक्षाकर्मियों को तैनात किया गया है।

27-07-2019
पुलिस महानिदेशक ने जारी किया पुलिस अभिरक्षा में आरोपियों की सुरक्षा के संबंध में दिशा-निर्देश

रायपुर। पुलिस महानिदेशक डीएम अवस्थी ने पुलिस अभिरक्षा में होने वाली मृत्यु की घटनाओं की रोकथाम के लिए राज्य के सभी जिला पुलिस अधीक्षकों को निर्देश जारी किया है। पुलिस मुख्यालय द्वारा जारी निर्देशों के अनुसार किसी भी आरोपी को अनावश्यक रात्रि में पुलिस अभिरक्षा में नहीं रखा जाए, दिन में ही संबंधित आरोपी की गिरफ्तारी कर न्यायालय के समक्ष प्रस्तुत किया जाए। गिरफ्तार व्यक्ति का नियमानुसार स्वास्थ्य परीक्षण कराकर उसके शारीरिक और मानसिक स्थिति की जांच करा ली जाए, राज्य के सभी पुलिस थानों के हवालात और शौचालय पूरी तरह सुरक्षित हो और गिरफ्तार व्यक्ति के लिए नियमानुसार निर्धारित समय पर भोजन इत्यादि अनिवार्य रूप से उपलब्ध कराया जाए और इसकी प्रविष्टि थाने के डेली-डायरी में किया जाए। यदि विशेष परिस्थिति में किसी व्यक्ति को रात में लॉकअप में रखा जाता है, तो उसकी सुरक्षा के लिए नामजद अधिकारी-कर्मचारियों को कर्त्तव्यस्थ किया जाए। महिलाओं और बच्चों के गिरफ्तारी के संबंध में मानव अधिकार आयोग द्वारा दिए गए दिशा-निर्देशों का अक्षरशः पालन किया जाए और समय-समय पर पुलिस मुख्यालय द्वारा जारी निर्देशों का भी पालन किया जाए। पुलिस थानों में गिरफ्तार व्यक्तियों के सुरक्षा का दायित्व स्पष्ट रूप से निर्धारित किया जाए, यह दायित्व संबंधित थाना प्रभारी/ ड्यूटी ऑफिसर, प्रधान आरक्षक, मोहर्रिर एवं सुरक्षा में तैनात पुलिस कर्मचारियों का होगा। पुलिस महानिदेशक श्री अवस्थी ने पुलिस अधीक्षकों को प्रतिदिन अपने जिलों के थानों का नियमित रूप से आकस्मिक निरीक्षण करने एवं थाने के अधिकारियों-कर्मचारियों को गिरफ्तार व्यक्ति के सुरक्षा के संबंध में आवश्यक निर्देश और समझाइश देने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने पुलिस अधीक्षकों को थानों के हवालात और शौचालयों इत्यादि की सुरक्षा जांच करने करने के भी निर्देश दिए हैं। श्री अवस्थी ने किसी भी थाना या पुलिस चौकी में पुलिस अभिरक्षा में प्रताड़ना या मृत्यु की घटना नहीं होना सुनिश्चित करने के निर्देश दिए हैं, इसके लिए संबंधित थाना प्रभारी व्यक्तिगत रूप से जिम्मेदार होगा और सतत् पर्यवेक्षण के लिए संबंधित राजपत्रित अधिकारी एवं पुलिस अधीक्षक जिम्मेदार होंगे।

 

16-07-2019
डीजीपी को महानिदेशक एसआईबी और नक्सल ऑपरेशन का अतिरिक्त प्रभार

रायपुर। गृह विभाग द्वारा छत्तीसगढ़ के डीजीपी डीएम अवस्थी को उनके वर्तमान कर्तव्यों के साथ-साथ अस्थायी रूप से आगामी आदेश तक महानिदेशक एसआईबी, नक्सल ऑपरेशन का अतिरिक्त प्रभार सौंपा गया है। 
गृह विभाग द्वारा मंगलवार को जारी आदेश के अनुसार विनय कुमार सिंह महानिदेशक ईओ डब्ल्यू, एसीबी छत्तीसगढ़ को तत्काल प्रभाव से अस्थायी रूप से आगामी आदेश तक महानिदेशक नगर सेना एवं नागरिक सुरक्षा छत्तीसगढ़ के पद पर पदस्थ करते हुए उनको महानिदेशक जेल एवं सुधारात्मक सेवाएं छत्तीसगढ़ का अतिरिक्त प्रभार सौंपा गया है। भारतीय पुलिस सेवा के 1987 बैच के विनय कुमार सिंह द्वारा कार्यभार ग्रहण करने के दिनांक से राज्य शासन भारतीय पुलिस सेवा (वेतन) नियम 2007 के नियम 11 के तहत महानिदेशक नगर सेना एवं नागरिक सुरक्षा छत्तीसगढ़ के असंवर्गीय पद को प्रतिष्ठा एवं जिम्मेदारी में भारतीय पुलिस सेवा के विशेष महानिदेशक के पद के समकक्ष घोषित किया गया है। 

28-06-2019
रैन बसेरा में बारिश व धूप से सुरक्षा के लिए शेड निर्माण महापौर निधि से किया जाएगा

रायपुर। आज नगर निगम रायपुर के महापौर श्री प्रमोद दुबे के निदेर्षानुसार नगर निगम की महापौर स्वेच्छानुदान जनसंपर्क निधि मद से 2 लाख 50 हजार रू. की लागत से राजधानी के नया बस स्टैण्ड पंडरी में रैन बसेरा में आमजनों को बारिष व धूप से सुरक्षा हेतु शीघ्र नगर निगम जोन 2 का लोककर्म विभाग शेड का निर्माण कराएगा। आज महापौर प्रमोद दुबे के निदेर्षानुसार महापौर निधि के मद से नगर निगम के पंडरी स्थित मिनीमाता नया बस स्टैण्ड परिसर में रैन बसेरा में जनहित में शेड निर्माण का कार्य श्रीफल फोडकर एवं कुदाल चलाकर कार्य का भूमिपूजन करते हुए शहीद हेमूकालाणी वार्ड क्रमांक 35 की पार्षद व जोन 2 अध्यक्ष किरण सारथी ने प्रारंभ किया। इस अवसर पर वार्ड के पूर्व पार्षद दिलीप सारथी, महापौर प्रतिनिधि प्रदीप दुबे, जोन 2 के जोन कार्यपालन अभियंता विनोद देवांगन सहित नगर के गणमान्यजन उपस्थित थे। इस अवसर पर महापौर के निदेर्षानुसार महापौर प्रतिनिधि एवं जोन 2 अध्यक्ष ने महापौर निधि मद से स्वीकृत राषि के अनुरूप तत्काल रैन बसेरा में शेड निर्माण कार्य प्रारंभ कर गुणवत्ता युक्त तरीके से पूर्ण करने के निर्देष जोन 2 कार्यपालन अभियंता देवांगन को दिये। रैन बसेरा में आने वाले बेघर बार लोगो को महापौर निधि से वहां नया शेड बनने से बारिष व धूप से काफी राहत शीघ्र मिल सकेगी।

 

26-06-2019
डॉक्टरों को इतना डर कि अपनी सुरक्षा के लिए बना ली निजी सेना, यह रखा नाम 

पटना। चमकी बुखार से हो रही मौत के कारण चर्चा में आया बिहार का मुजफ्फरपुर शहर इन दिनों एक और कारण से सुर्खियां बटोर रहा है। यहां डॉक्टरों ने अपनी सुरक्षा के लिए विशेष इंतजाम कर रखा है। शहर में निजी क्लीनिक और छोटे अस्पताल चलाने वाले डॉक्टरों ने क्यूआरटी यानी 'क्विक रिएक्शन टीम' की व्यवस्था की है। दरअसल, आए दिन डॉक्टरों के साथ मरीजों के परिजनों द्वारा मारपीट की घटनाओं की खबरें आती रहती हैं। इसको देखते हुए मुजफ्फरपुर में भी डॉक्टर डरे हुए हैं। अब अपने बचाव के लिए उन्होंने अपनी खुद की व्यवस्था कर ली है। शहर के कई डॉक्टरों ने पैसे इकठ्ठे कर क्विक रिस्पॉन्स टीम तैयार की है। इन डॉक्टरों का कहना है कि कई बार ऐसा होता है कि सूचना के बाद पुलिस काफी देर से पहुंचती है, तब तक हालात काफी बिगड़ चुके होते हैं। ऐसी स्थिति में क्विक रिस्पॉन्स टीम उनकी सुरक्षा करेगी। क्यूआरटी में 20 से 25 सुरक्षाकर्मी हैं। ये सुरक्षाकर्मी डॉक्टरों की एक कॉल पर तुरंत रिस्पांस करते हैं। इस टीम में आर्मी के रिटायर जवान होंगे। सिक्योरिटी एजेंसी के ये जवान डॉक्टरों की सुरक्षा करेंगे। इसके लिए इन्हें बाइक भी मुहैया कराई गई है। टीम में शामिल सुरक्षाकर्मी हर वक्त चौकन्ना रहता है। जैसे ही किसी डॉक्टर के पास से खतरे की सूचना आती है तो टीम के सदस्य तुरंत वहां पहुंचते हैं और मरीज के परिजनों को हिंसा करने से रोकते हैं। मुजफ्फरपुर की तर्ज पर ही मोतिहारी और सीतामढ़ी में भी डॉक्टरों ने सुरक्षा का यही कारगर तरीका अपनाया है। बड़े अस्पतालों और निजी कॉलेजों में जहां अपने सुरक्षा गार्ड तैनात हैं तो वहीं छोटे अस्पतालों ने क्यूआरटी हायर कर रखा है।

 

17-06-2019
गोठान के संवरने से फसलों की होगी सुरक्षा : सीएम भूपेश बघेल 

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आज जांजगीर-चांपा जिले के विकासखण्ड नवागढ़ के ग्राम अमोरा में बनाए गए आदर्श गोठान का भ्रमण कर कोटना, पानी की व्यवस्था, शेड, चारागाह आदि का निरीक्षण किया। उन्होंने गोठान परिसर में पीपल, जामुन, आम के पौधे रोपे। मुख्यमंत्री ने गोठान में लगे पुराने बरगद पेड़ के नीचे गोठान समिति के सदस्य, गांव के जनप्रनिनिधि व ग्रामीणों से गोठान प्रबंधन के संबंध में चर्चा की। बघेल ने कहा कि गांव की समृद्धि की पहचान गायों से है। मवेशियों के होने से ही फसल उत्पादन में वृद्धि संभव है। गोठान में गायों के रहने से खेत में लगी फसल सुरक्षित रहेगी। इसके लिए खेत को घेरने की आवश्यकता नहीं होगी। गोठान में पानी, चारा, छांव आदि की व्यवस्था होने से मवेशी गोठान की ओर आकर्षित होंगे। मुख्यमंत्री ने कहा कि गोठान में चरवाहों की नियुक्ति की जाएगी। जिसके लिए मानदेय की व्यवस्था भी गोठान की आमदनी से होगी। गायों के गोबर से वर्मी कम्पोस्ट खाद तैयार किया जाएगा।  मुख्यमंत्री ने गरूवा, घुरवा, नरवा और बाड़ी के बेहतर प्रबंधन के लिए ग्रामीणों से सुझाव भी लिये और ग्रामीण महिलाओं को स्व-सहायता समिति के माध्यम से कार्य करने के लिए प्रेरित किया। मुख्यमंत्री ने ग्रामीणों को जैविक खाद का महत्व बताया। मुख्यमंत्री ने किसानों से कहा कि फसल अपशिष्ट पैरा को खेत में जलाकर नष्ट न करें। पैरा को गोठान में दान करे। इससे गोठान में चारा की व्यवस्था हो जाएगी। गोठान भ्रमण के दौरान स्कूल शिक्षा और जिले के प्रभारी मंत्री डॉ प्रेमसाय सिंह टेकाम, चन्द्रपुर विधायक रामकुमार यादव, नवागढ़ जनपद के अध्यक्ष पुष्पेन्द्र प्रताप सिंह, ग्राम पंचायत सरपंच एव गोठान समिति के अध्यक्ष रामकृष्ण कश्यप, कलेक्टर जनक प्रसाद पाठक, पूर्व विधायक मोती लाल देवांगन, चुन्नीलाल साहू, जिला पंचायत के पूर्व सदस्य दिनेश शर्मा  सहित ग्रामीण बड़ी संख्या में उपस्थित थे। 

 

15-06-2019
जेट प्लस श्रेणी की सुरक्षा के बावजूद एयरपोर्ट पर ली गई पूर्व मुख्यमंत्री की तलाशी

 

नई दिल्ली। आंध्रप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और तेलुगु देशम पार्टी प्रमुख एन. चंद्रबाबू नायडू को विजयवाड़ा में गन्नवरम एयरपोर्ट पर तलाशी से गुजरना पड़ा। नायडू को विमान तक वीआईपी सुविधा से भी वंचित कर दिया गया और उन्हें आम यात्रियों के साथ बस में यात्रा करनी पड़ी।
नायडू को जेड प्लस श्रेणी की सुरक्षा (23 सशस्त्र सुरक्षाकर्मियों और एस्कॉर्ट वाहनों द्वारा 24 घंटे की सुरक्षा के साथ) दी गई थी।
इस घटना पर टीडीपी ने तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की है। पार्टी ने भाजपा और वाईएसआर कांग्रेस पार्टी (वाईएसआरसीपी) पर बदले की राजनीति का आरोप लगाया है।
टीडीपी नेता और राज्य के पूर्व गृहमंत्री चिन्ना राजप्पा ने कहा कि अधिकारियों का रवैया न केवल अपमानजनक था बल्कि उन्होंने नायडू की सुरक्षा पर भी समझौता किया क्योंकि उन्हें जेड प्लस श्रेणी की सुरक्षा प्राप्त है।
उन्होंने कहा कि नायडू को कभी भी इस स्थिति का सामना नहीं करना पड़ा, हालांकि वह कई वर्षों से विपक्ष में थे। उन्होंने केंद्र और राज्य सरकारों से नायडू को उचित सुरक्षा सुनिश्चित करने की मांग की।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804