GLIBS
27-05-2020
सेहत और सुरक्षा के लिए सैनेटरी पैड्स के लिए तय हैं मानक

रायपुर। मासिक धर्म में जिन सैनिटरी पैड्स का इस्तेमाल स्वच्छता और सुरक्षा के लिए किया जाता है वह पूरी तरह से सुरक्षित हो और उससे महिलाओं की सेहत पर बुरा असर भी न पड़े, इसके लिए सरकार ने मानक तय कर रखे हैं।
इंडियन ब्यूरो ऑफ़ स्टैंडर्ड्स ने सैनेटरी पैड के लिए यह मानक मूलरूप से 1969 में प्रकाशित किया था,जिस से फिर 1980 में संशोधित किया गया। समय-समय पर इसमें बदलाव भी किए जाते रहे हैं।
"सैनिटरी नैपकिन" या "सैनिटरीपैड" मासिक धर्म के दौरान रक्त को सोखने के लिए उपयोग किया जाता है। मासिक स्राव के मद्देनजर तय किए गए मानक के मुताबिक पैड्स एक उचित मोटाई, लंबाई और अवशोषण क्षमता वाले होने चाहिए। यानि सैनिटरी पैड का काम सिर्फ़ ब्लीडिंग को सोखना नहीं स्वच्छता (हाइजिन) के पैरामीटर पर भी खरा उतरना है। अमूमन जब सैनिटरी पैड खरीदते हैं तो ब्रांड वैल्यू पर विश्वास करते हुए पै़ड्स ख़रीद लेते हैं जबकि सैनिटरी पैड की अच्छी गुणवत्ता सुनिश्चित करने के लिए, भारतीय मानक ब्यूरो द्वारा सख्त विनिर्देश तैयार किए गए हैं। आईएस 5405 में मानदंडों और नियमों का विस्तृत विवरण है, जिसका सैनिटरी पैड निर्माताओ कों पालन करना होता है।

सैनिटरी पैड गुणवत्ता के लिए मानक :

-  सैनिटरी पैड बनाने के लिए अब्सॉर्बेंट फ़िल्टर और कवरिंग का सबसे अधिक ख़्याल रखना होता है। कवरिंग के लिए भी अच्छी क्वालिटी के कॉटन का इस्तेमाल होना चाहिए।
- फिल्टर मैटेरियल सेल्युलोज़पल्प, सेल्युलोज़अस्तर, टिशूज़ या कॉटन का होना चाहिए। इसमें गांठ, तेल के धब्बों, धूल और किसी भी चीज़ की मिलावट नहीं होनी चाहिए। यह आईएस 758 के अनुरूप होना चाहिए।
- नैपकिन में कम से कम 60 मिलीलीटर और नैपकिन के वजन से 10 गुना तरल पदार्थ सोखने की क्षमता होना जरूरी है।
- नैपकीनकाकवर (बाहरीपरत) कपास, सिंथेटिक, जालीऔर बिना बुने हुए कपडे का और स्वच्छ होना चाहिए।
- निर्माता के नाम या ट्रेडमार्क के साथ सैनिटरी नैपकिन की संख्या हर पैकेट पर चिह्नित होनी चाहिए।
- सैनिटरी नैपकिन विभिन्न आकृतियों और डिजाइन के हो सकते हैं। नियमित पैड्स 210 एमएम, लार्ज 211 से 240 एमएम, एक्ट्रालार्ज 241 से 280 एमएम और एक्स एक्स एल यानि 281 से अधिक होना चाहिए।
- सैनिटरी पैड की सतह चिकनी, नरम और आरामदायक होनी चाहिए,जिससे त्वचा को इंफेक्शन और जलन न हो। पैड पर चिपकाने वाले पदार्थो को सही जगह चिपकना चाहिए।
- पैड्स डिस्पोजेबल होना चाहिए यानि उन्हें 15 लीटर पानी के कंटेनर में डाल दें तो पैड्स को विघटित होना चाहिए ।
-आईएसओ 17088 : उत्पाद है या नहीं, बायोडिग्रेडेबल, कम्पोस्टेबल या ऑक्सी-डिग्रेडेबल है, इसकी जानकारी सैनिटरी नैपकिन के हर पैकेट पर अंकित किया जाए।
-पैड्स की पैकिंग गत्ते का डिब्बा बोर्ड, पॉलीथीन, पॉलीप्रोपाइलीन, पॉलिएस्टरया अन्य जो पर्याप्त सुरक्षा प्रदान करती हो उसी में होनी चाहिए।

इस तरह पहचानें नैपकीन :

- बाजार से नैपकिन खरीदते समय नैपकिन की सोखने की क्षमता  60 मिलीलीटर से कम लिखी है और प्लास्टिक रहित नहीं लिखा है तो नैपकिन न खरीदे।
- नैपकिन पर 60 मिलीलीटर पानी दो बार में  5-5 मिनट के अंतराल में धीरे-धीरे डालें तथा 10 मिनट के बाद नैपकिन का सूखापन हाथ से देखें। नैपकिन से पानी वापस नहीं निकलता है तो सोखने की क्षमता मानकों के अनुसार है।
- नैपकिन को छूकर उसकी सतह की पहचान करें कि उसकी सतह कितनी मुलायम है। कहीं पॉलिथीन का अगर प्रयोग हुआ है तो नैपकिन से हवा पास नहीं होगी। अतः ऐसा नैपकीन न खरीदें नहीं तो लाल दाने और खुजली जैसी समस्या सूखेपन के बाबजूद हो सकती है ।

21-05-2020
घर बैठे रोजगार पंजीयन का नवीनीकरण अब वाट्सएप्प के माध्यम से

कोरबा। कोरोना वायरस के संक्रमण से सुरक्षा को दृष्टिगत रखते हुए जिला रोजगार एवं स्वरोजगार मार्गदर्शन केन्द्र, कोरबा द्वारा रोजगार सहायता के इच्छुक अभ्यर्थियों का पंजीयन नवीनीकरण का कार्य अब वाट्सएप्प के माध्यम से प्राप्त दस्तावेज के आधार पर किया जायेगा।जिला रोजगार अधिकारी जेपी खाण्डे ने बताया है कि अब युवाओं को लॉक-डाउन की अवधि में कार्यालय आने की आवश्यकता नहीं है।वे रोजगार पंजीयन के नवीनीकरण के लिए वाट्सएप्प नंबर 9109308593 पर अपने रोजगार पंजीयन कार्ड को भेजकर नवीनीकरण करा सकते हैं। इसके एक हफ्ते बाद अभ्यर्थी रोजगार कार्यालय से ओरिजनल रोजगार पंजीयन कार्ड प्राप्त कर सकते हैं। लॉक-डाउन की अवधि में कार्यालय की ओर से युवाओं के लिए यह सुविधा प्रारंभ की गई है। जिन आवेदकों को कैरियर कांउंसिलिंग एवं मार्गदर्शन की जरूरत हो वे जिला रोजगार अधिकारी के वाट्सएप नंबर 9109308593 पर संपर्क कर सकते हैं।

 

 

19-05-2020
स्पेशल ट्रेनों के पहुंचने पर विशेष ध्यान रख रहे रेलवे के नागरिक सुरक्षा स्वयं सेवक

रायपुर। दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे के रायपुर मंडल में गठित नागरिक सुरक्षा स्वयं सेवकों की टीम यात्रियों और ट्रेनों के पहुंचने पर विशेष ध्यान रख रही है। इस कठिन समय में टीम के लोग अपने कार्यों सावधानी पूर्वक कर रहे हैं। कोटेश्वर राव/सिविल डिफेंस इंस्पेक्टर रायपुर के नेतृत्व और कुशल मार्गदशन में पूरी टीम ने रायपुर मंडल के महत्वपूर्ण स्टेशनों जैसे रायपुर, दुर्ग और भाटापारा में प्रवासी मजदूरों के लिए चलाए जा रहे श्रमिक स्पेशल ट्रेनों व राजधानी एक्सप्रेस सहित 15 विभिन्न ट्रेनों से आए यात्रियों में उचित सामाजिक दूरी को तय करना, सैनिटाइजर/हैंडवास व मास्क के उपयोग को तय करवाना और साथ ही साथ अत्यधिक भीड़ को नियंत्रण में रखना जैसे कार्य को संपादित किया जा रहा है। कोरोना वायरस कोविड-19 के विरुध्द रायपुर मंडल दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे के विभिन्न विभागों में पदस्थ रेलवे कर्मचारियों का नागरिक सुरक्षा स्वयं सेवकों के रूप में यह प्रयास महत्वपूर्ण और सराहनीय है।

नागरिक सुरक्षा संगठन का मुख्य उद्वेश्य ’जनता के साहस और मनोबल को ऊंचा करना, जीवन रक्षा की भावना और मनोबल जागृत रखना’ आपातकालीन परिस्थिति में सर्व सामान्य जनता की रक्षा करना है। सामन्यतः नागरिक सुरक्षा स्वयं सेवकों की ओर से आपातकालीन स्थिति में रेलवे सुरक्षा बल व चिकित्सा कर्मचारियों का भरपूर सहयोग दिया जा रहा है। नागरिक सुरक्षा स्वयं सेवकों को मंडल रेल प्रबंधक रायपुर में वरि. मंडल संरक्षा अधिकारी रायपुर और मंडल सुरक्षा आयुक्त रायपुर की ओर से ऑन लाइन प्रशिक्षण दिया गया। डयुटी के दौरान स्वयं की सुरक्षा करते हुए अपने कार्य का निर्वहन करने के लिए विभिन्न जानकारियां दी गई।

09-05-2020
जिला पूरी तरह से हुआ लॉक डाउन, सुरक्षा के पुख्ता इंतेजाम

बीजापुर। राज्य सरकार द्वारा पूरे प्रदेश मे मई महीने के शनिवार और रविवार को बंद के फैसले का जिले में असर दिखाई दे रहा है। मई महीने में सप्ताह में दो दिन शनिवार और रविवार पूर्ण रूप से दुकानें बन्द रहेंगी। बन्द की जानकारी शुक्रवार को नगरपालिका अमला द्वारा मुनादी कर नगर में बताया गया और आज उस लॉक डाउन का असर दिख रहा है। लॉक डाउन के दौरान कोतवाली थाना प्रभारी अपनी टीम के साथ नगर के चौक चौराहा में ड्यूटी कर रहे हैं।

 

04-05-2020
कोरोना संक्रमण रोकथाम में स्वास्थ्य कर्मियों की सुरक्षा के लिए नोडल अधिकारी नियुक्त

रायपुर। कोरोना वायरस संक्रमण की रोकथाम में लगे डॉक्टर और स्वास्थ्य कर्मियों पर लगातार हमलों के मामले देशभर से सामने आ रहे हैं। छत्तीसगढ़ में ऐसी कोई घटना ना हो इसे ध्यान में रखते हुए डीजीपी डीएम अवस्थी ने आदेश जारी किया है। इस कार्य मे संलग्न चिकित्सकों, नर्सों और स्वास्थ्य विभाग के अन्य अधिकारी/ कर्मचारियों के सुरक्षा मुद्दों के निवारण के लिये राजेश अग्रवाल भापुसे  को नोडल अधिकारी नियुक्त किया गया है। इसके साथ ही प्रदेश के सभी जिलों में अधिकारियों की सुरक्षा के लिए नोडल अधिकारी नियुक्त किए गए हैं। तारकेशवर पटेल,अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक(ग्रामीण) रायपुर,बलौदाबाजार निवेदिता पॉल अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक बलौदाबाजार, महासमुंद मेघा टेम्भूरकर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक महासमुंद,धमतरी मनीषा ठाकुर रावटे अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक, सुखनंदन राठौर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक गरियाबंद, लखन पटेल अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक दुर्ग, सुरेशा चौबे अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक राजनांदगांव , अनिल सोनी अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक  कबीरधाम, दौलत पोर्ते अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक बालोद , विमल बैस अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक बेमेतरा, संजय ध्रुव अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक बिलासपुर, यू.उदय किरण भापुसे अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक कोरबा, कमलेश्वर चंदेल अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक मुंगेली, मधुलिका  सिंह अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक जांजगीर-चाँपा, अभिषेक वर्मा अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक रायगढ़ , प्रतिमा तिवारी अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक गौरेला-पेंड्रा , ओमप्रकाश चंदेल अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अम्बिकापुर , उनैजा खातुन अंसारी अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक जशपुर, पंकज शुक्ला अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक कोरिया , हरीश राठोड़ अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सूरजपुर, प्रशांत कतलम अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक बलरामपुर, संजय महादेवा अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक बस्तर, कीर्तन राठौर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक कांकेर, जयंत वैष्णव अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक नारायणपुर, अनंत साहू अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक कोंडागांव , राजेन्द्र जायसवाल अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक दंतेवाड़ा, अनिल विश्वकर्मा अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सुकमा, मिर्जा जियारत बेग अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक बीजापुर शामिल हैं।

 

04-05-2020
जैन समाज ने मुख्यमंत्री सहायता कोष में दिए 11 लाख,रोजाना 3 हजार थाली भोजन का दान

रायपुर। कोरोना महामारी के संक्रमण से सुरक्षा के लिए समाज के हर वर्ग की ओर से लगातार सहयोग किया जा रहा है। इसी क्रम में जैन समाज ने मुख्यमंत्री सहायता कोष में 11 लाख रूपए, जरूरतमंदों के लिए दादाबाड़ी से प्रतिदिन 3 हजार थाली भोजन और नौजवानों की ओर से रक्तदान सहित कई धर्मार्थ कार्य समाज ने संकट के इस समय में किए हैं। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने इस योगदान के लिए समाज के प्रति आभार व्यक्त किया है।

02-05-2020
अंतर्राष्ट्रीय प्रेस स्वतंत्रता दिवस : भूपेश बघेल ने कहा - छत्तीसगढ़ सरकार पत्रकारों की स्वतंत्रता के लिए संकल्पित

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने अंतर्राष्ट्रीय प्रेस स्वतंत्रता दिवस 3 मई के अवसर पर शुभकामनाएं दी है। भूपेश बघेल ने कहा कि पूरी दुनिया में पत्रकारिता के सम्मान और स्वतंत्रता के साथ सुरक्षा की सुनिश्चितता के उद्देश्य से विश्व प्रेस स्वतंत्रता दिवस मनाया जाता है। मीडिया लोकतंत्र का चौथा और सशक्त स्तंभ माना जाता है। भारतीय संविधान में भी प्रेस की स्वतंत्रता को अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता के रूप में मूल अधिकारों के अंतर्गत शामिल किया गया है। सीएम बघेल ने कहा कि भारत जैसे विकासशील देश में मीडिया संस्थानों का महत्व अधिक होने के साथ ही उनके लिए चुनौतियां भी अधिक है। छत्तीसगढ़ पहला ऐसा राज्य है जहां पत्रकारों को सुरक्षा देने के लिए कानून बनाने की पहल की है। छत्तीसगढ़ संचार प्रतिनिधि कल्याण सहायता नियम-2019 बनाकर प्रदेश में मीडिया प्रतिनिधियों की सहायता के लिए कई कल्याणकारी नियम लागू किए गए हैं। छत्तीसगढ़ सरकार पत्रकारों की सुरक्षा और स्वतंत्रता के लिए संकल्पित है।भूपेश बघेल ने कहा कि प्रिंट, इलेक्ट्रॉनिक और सोशल मीडिया का दायित्व बहुत अधिक हो जाता है, जब पूरा विश्व कोरोना महामारी जैसे संकट से उबरने की कोशिश में लगा हो। उन्होंने सभी पत्रकारों को इस आपदा की घड़ी में हिम्मत और जवाबदारी से कर्तव्य निर्वहन के लिए बधाई दी है।

 

02-05-2020
महापौर की अगुवाई में मार्केट क्षेत्र को किया गया सैनिटाइज

राजनांदगांव। कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए प्रदेश में एतिहात बरती जा रही है। इसके लिए नगर निगम लोगों की सुरक्षा के लिए प्रभावी कदम उठा रहा है। इसी कड़ी में शनिवार को राजनांदगांव नगर निगम ने बाजार क्षेत्र में सैनिटाइजर का छिड़काव किया। महापौर हेमा देशमुख की अगुवाई में नगर निगम अमले ने दो सैनिटाइजर टैंकर और एक फॉगिंग मशीन के साथ मुख्य बाजार में छिड़काव किया। इसमें जयस्तभ चौक से सिनेमा लाइन, कामठी लाइन, गुड़ाखू लाइन होते हुए जूनी हटरी से महावीर चौक तक सैनिटाइजर का छिड़काव किया गया। इसके पूर्व भी शहर में सैनिटाइजर का छिड़काव किया जा चुका है। मार्केट क्षेत्रों में लोगों के बढ़ती भीड़ को देखते हुए सैनिटाइजेशन के कार्य को दोहराया गया है। आज सैनिटाइजर के अभियान में निगम के स्वास्थ अधिकारी, निरीक्षक व अन्य सफाई कर्मचारी उपस्थित थे।

25-04-2020
पुलिस ने किया फ्लैग मार्च,कोरोना वायरस से बचाव और सुरक्षा संबंधी दी जानकारी

कोण्डागांव। कोविड-19 के प्रकोप से बचाव के लिए लोगों को जागरुक करने के मद्देनजर कोण्डागांव पुलिस ने मुख्यालय में फ्लैग मार्च किया। इस मौके पर पुलिस ने लोगों को कोरोना वायरस से बचाव सुरक्षा संबंधी मास्क पहनने, घर में रहने की समझाइश देते हुए चौक-चौराहों में रूक कर कोरोना वायरस से बचाव एवं सुरक्षा संबंधी जानकारी दी। इसके अलावा पवित्र रमजान माह के प्रारंभ के चलते भाईचारा और शांतिपूर्वक मनाने की अपील भी की गई। इसके साथ ही पुलिस प्रशासन ने सहयोग के लिए कोरोना महामारीे के दौरान डयूटी कर रहे चिकित्सा विभाग, सफाई कर्मचारी, स्थानीय प्रशासन समस्त विभाग, जिले के पत्रकार,सेवा संस्थाए श्रमिकों, किसानों, दुकानदारों, जनप्रतिनिधियों एवं सामाजिक कार्यकर्ताओं, आवश्यक सेवा पहुंचानें वाले वाहन चालकों का धन्यवाद भी ज्ञापित किया।इस मौके पर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अनंत कुमार साहू, उप पुलिस अधीक्षक मुख्यालय कोण्डागांव अंजलि गुप्ता, अनुविभागीय अधिकारी पुलिस कपिल चन्द्रा, दीपक मिश्रा, यातायात डीएसपी निकिता मिश्रा तिवारी, रक्षित निरीक्षक रमेश चन्द्रा, थाना प्रभारी नरेन्द्र पुजारी, यातायात प्रभारी रवि पाण्डेय सहित अन्य पुलिस स्टाफ एवं राजस्व विभाग से तहसीलदार यूके मानकर मौजूद थे।

24-04-2020
सुरक्षा में तैनात सिपाही पर भी पत्थरबाजी होने लगी राजधानी में

रायपुर। सुरक्षा में तैनात सिपाही पर पत्थर से कुछ असामाजिक तत्वों ने हमला कर दिया, जिसके कारण सिपाही के माथे में चोट आई है। मिली जानकारी के अनुसार एडीजीपी पवन देव के न्यू शांतिनगर स्थित सरकारी बंगले में तैनात एक सिपाही पर देर शाम अज्ञात असामाजिक तत्वों ने पत्थर से हमला कर दिया। हमले में सिपाही के माथे पर चोट आई है। शिकायत पर सिविल लाइन पुलिस ने अपराध कायम कर लिया है। हालांकि पत्थर बरसाने के पीछे का कारण अभी तक पता नहीं चल पाया है।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804